युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

28 फ़रवरी 2010

फकीरचन्द हत्या प्रकरण में डेरा प्रमुख पर मामला दर्ज

डबवाली (लहू की लौ) डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत सिंह और विवादों का चोली-दामन का साथ रहा है। यही कारण है कि सीबीआई जांच डेरा प्रमुख का पीछा नहीं छोड़ रही। डेरा प्रमुख लगातार किसी न किसी मामले में सीबीआई जांच के शिकंजे में फंसते चले जा रहे हैं। डेरा के ही पूर्व प्रबंधक फकीरचंद मामले में सीबीआई चण्डीगढ़ ने प्राथमिक जांच के बाद डेरा प्रमुख गुरमीत सिंह सहित चार अन्य लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। सीबीआई की प्राथमिक जांच के बाद फकीरचंद गुमशुदगी मामले की गुत्थी सुलझती नजर आ रही है।
गौरतलब है कि डेरा सच्चा सौदा के पूर्व प्रबंधक फकीरचंद करीब डेढ़ दशक पूर्व एकाएक लापता हो गया था। काफी पड़ताल करने के बाद भी उसका कोई सुराग नहीं लगा। यहां तक कि उसके जानकारों को भी पता नहीं चला कि एकाएक फकीरचंद कहां गायब हो गया। न ही तो फकीरचंद जीवित मिला और न ही उसकी लाश ही बरामद हुई। फकीरचंद की गुमशुदगी को लेकर हालांकि डेरा के भीतर और बाहर कई तरह की चर्चाएं रहीं। लेकिन चर्चाओं से आगे कभी बात नहीं बढ़ी। इस मामले में डेरा के पूर्व साधू रामकुमार बिश्नोई ने जांच की मांग को लेकर कई दरवाजों पर दस्तक दी। हरियाणा पुलिस ने रामकुमार बिश्नोई को इस प्रक्रिया में कोई सहयोग नहीं दिया। परेशान रामकुमार ने पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया। उच्च न्यायालय ने सीबीआई को आदेश दिए कि फकीरचंद की गुमशुदगी के मामले में भी डेरा की जांच करे। उच्च न्यायालय के आदेशानुसार सीबीआई ने प्रारंभिक कार्रवाई करते हुए छानबीन शुरू की। इसी सिलसिले में सीबीआई की उच्चस्तरीय टीम कई बार सिरसा आई थी। टीम ने डेरा से संबंधित कई लोगों से पूछताछ की थी। विगत दिनों सीबीआई ने उक्त मामले में प्रारंभिक जांच के बाद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत सिंह, रेशम सिंह, सुखदेव दीवाना, बलदेव मिठड़ी व गोबिंद सिंह के खिलाफ हत्या, षड्यंत्र रचने और साक्ष्यों को मिटाने का मामला दर्ज किया है। इससे पहले भी डेरा प्रमुख पत्रकार छत्रपति हत्याकांड, रणजीत मर्डर केस और साध्वी यौन शोषण प्रकरण में अदालत की कार्रवाई का सामना कर रहे हैं।

डेरा प्रेमी भड़के, बसें फूंकी

डबवाली (लहू की लौ) षनिवार षाम को डेरा प्रमुख पर डेरा सच्चा सौदा के पूर्व प्रबन्धक फकीर चन्द की हत्या के प्रकरण में सीबीआई द्वारा केस दर्ज करवाये जाने पर सच्चा सौदा के श्रद्धालु भड़क उठे और उन्होंने हरियाणा में जगह-जगह सवारियों को उतारकर हरियाणा रोड़वेज की बसों को आग के हवाले कर दिया।
बनवाला से संवाददाता जसवन्त जाखड़ के अनुसार गांव नुहियांवाली में रत्ताखेड़ा रोड़ पर राजपुरा माईनर के पास षनिवार षाम को सिरसा से संगरिया जा रही हरियाणा रोड़वेज की बस को करीब ३५ मोटरसाईकिल सवार और मुंह ढांपे लोगों ने रोक लिया। बस में सवार लोगों को नीचे उतार लिया और बस पर जमकर पहले लाठियां बरसाई। फिर उस पर मिट्टी का तेल उड़ेल कर आग के हवाले कर दिया। बस के चालक अषोक कुमार ने इसकी सूचना औढ़ां थाना के प्रभारी हीरा सिंह को दी। सूचना पाकर मौका पर पुलिस पहुंची। लेकिन तब तक आरोपी बस को आग के हवाले करके फरार हो चुके थे।
इस संदर्भ में जब औढां थाना प्रभारी हीरा सिंह से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि गांव वालों ने उन्हें बताया है कि यह वारदात करने वाले प्रेमी थे और मोटरसाईकिलों पर सवार होकर आये थे। आग लगाने के बाद ये लोग वहां से फरार हो गये।
इधर रोड़ी से प्राप्त समाचार अनुसार एक जीप और एक मोटरसाईकिल पर सवार होकर आये हथियारबंद व्यक्तियों ने गांव अलीकां और कुरंगावाली में हरियाणा रोड़वेज की बसों को रूकवाकर और सवारियों को उतरवाकर अपने साथ बोतले में भरकर लाये पेट्रोल को बसों पर डालकर आग के हवाले कर दिया।
सिरसा से मिली सूचना अनुसार बेगू रोड़ और कंगनपुर में भी बसों को रोककर आग के हवाले कर दिया गया। पता चला है कि पुलिस ने पांच युवकों को इस आगजनी के आरोप में हिरासत में लिया है। हिरासत में लिये गये युवक सिरसा के प्रीत सागर क्षेत्र के बताये जा रहे हैं और डेरा के श्रद्धालु भी बताये जा रहे हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार हिरासत में लिये गये युवकों की पहचान कुलवन्त, टिपू, भिन्द्र, सतनाम और करिन्द्र के रूप में हुई है।
फत्तेहाबाद में भी कई बसों को आग लगाये जाने की सूचना प्राप्त हुई है। यह भी पता चला है कि गांव मुन्नांवाली में भी एक बस को रोककर आग लगाने का प्रयास किया गया। लेकिन ग्रामीणों के मौका पर पहुंच जाने पर आग लगाने का प्रयास करने वाले फरार हो गये। प्राप्त जानकारी अनुसार जिला सिरसा की बाहर जाने वाली सभी बसें रद्द कर दी गई और साथ में यह आदेष दिये गये हैं कि बसों को थाना में खड़ा कर दिया जाये।

27 फ़रवरी 2010

सफाई अव्यवस्था के खिलाफ वार्ड वासी उतरे सड़क पर

सफाई व्यवस्था को बिगाडऩे में रमेश बागड़ी दोषी-अध्यक्षा
डबवाली (लहू की लौ) नगर की बिगड़ी सफाई व्यवस्था को लेकर लोग सड़कों पर निकलने को मजबूर हो चुके हैं। जगह-जगह लगे कूड़े के ढेर और इन ढ़ेरों से आ रही बदबू लोगों को नगरपालिका के खिलाफ लामबन्द कर रही है। शुक्रवार को वार्ड नं. 12 के निवासी कांग्रेस समर्थित वार्ड पार्षद रमेश बागड़ी के नेतृत्व में अचानक कलोनी रोड़ पर धरने पर बैठ गये और राज्य सरकार, नगरपालिका और डबवाली प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की।
पार्षद रमेश बागड़ी, वार्ड वासी राजकुमार मैहता, अनिल कुमार, बंसी लाल, तारा चन्द, रवि, सुशील, राजन धमीजा, ओमप्रकाश, गोपाल शर्मा, बाला चक्की वाला, गगनदीप आदि ने बताया कि पिछले एक सप्ताह से उनके वार्ड में सफाई कर्मचारियों के दर्शन नहीं हुए हैं और उनका वार्ड कूड़ा का डिपू बनकर रह गया है। अब तो हालात यह हैं कि इस कूड़े से बदबू भी आने लगी है। जिसके चलते वार्ड में रहना ही मुश्किल हो रहा है। पार्षद रमेश बागड़ी के अनुसार वार्ड की इस समस्या को वे कई बार नगरपालिका की बैठकों में उठा चुके हैं। लेकिन इसका समाधान नहीं निकल पाया है। उन्होंने मांग की कि नगरपालिका और प्रशासन के पदों पर बैठे लोगों को इस्तीफा दे देना चाहिए। चूंकि वे वार्ड की समस्याओं का समाधान करने में असमर्थ रहे हैं।
इस मौके पर वार्ड वासियों ने पार्षद के नेतृत्व में हरियाणा सरकार, नगरपालिका और प्रशासन के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की तथा यह भी धमकी दी कि अगर वार्ड की सफाई व्यवस्था न सुधरी तो वे लोग पालिका के समक्ष आमरण अनशन पर बैठ सकते हैं।
इस संदर्भ में नगरपालिका अध्यक्षा सिम्पा जैन से बातचीत की गई तो उन्होंने दो टूक शब्दों में कहा कि नगर की सफाई व्यवस्था को बिगाडऩे में रमेश बागड़ी का सबसे बड़ा हाथ है। इसके और इसके समर्थक पार्षदों की मांग पर ही सफाई ठेका कैंसल करना पड़ा। उन्होंने यह भी कहा कि जो पार्षद अपने वार्ड वासियों की समस्याओं का समाधान नहीं कर सकता, उसे इस्तीफा दे देना चाहिए। उन्होंने यह भी बताया कि पालिका के पास फिलहाल 85 सफाई कर्मचारी है। सीनेटरी इंस्पेक्टर ने इन सफाई कर्मचारियों की डियूटी भी वार्ड वाईस लगाई लेकिन कर्मचारियों की नेतागिरी के चलते सफाई कर्मचारियों ने शहर की मुख्य सड़कों की सफाई नहीं की। बल्कि कहा कि इसे ठेके पर दिया जाये।

आम लोगों पर बजट ने बढ़ायामहंगाई का बोझ

डबवाली (लहू की लौ) वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने आज मौजूदा सरकार का दूसरा बजट पेश किया। जैसी की उम्मीद थी हुआ भी वैसा ही। आर्थिक सर्वेक्षण में वित्त मंत्री ने महंगाई की बात कही थी। उसे आम बजट में कर दिखाया। पहले से ही महंगाई से त्रस्त जनता पर महंगाई का और बोझ डाल दिया गया। वित्त मंत्री ने साल 2010-11 के बजट में पैट्रोल-डीजल में एक्साइज डयूटी बढ़ाने की घोषणा कर दी। आज प्रणव मुखर्जी ने कहा कि मंदी के असर से देश काफी हद तक उबर चुका है और विकास दर को बढ़ाना हमारी पहली कोशिश है। उन्होंने कहा कि खराब मौसम की वजह से फसलों पर काफी असर बढ़ा है। लेकिन फिर भी अर्थव्यवस्था में तेजी आई है।
पैट्रोल-डीजल के दाम बढ़े : बजट में पैट्रोलियम उत्पादों के दाम बढ़ाने की बात कही गई। पैट्रोल और डीजल के दामों में क्रमश: 2.67 रुपये, 2.58 रुपये का इजाफा किया गया। जो शुक्रवार को आधी रात से लागू हो जाएंगे। बड़ी गाडिय़ों पर टैक्स बढ़ाया गया है। खाने वाले तम्बाकू, सिगार और सिगरेट के दाम बढ़ाए गए हैं। सीमेंट के दाम बढ़ाने की भी बात कही गई है। सोने पर इम्पोर्ट डयूटी बढ़ाई गई है जिससे सोना और चांदी भी महंगे होंगे।
मोबाइल फोन सस्ते : सभी तक मोबाइल फोन की सेवा पहुंचाने के लिए मोबाइल फोन सस्ता किया गया है। माइक्रोवेव ओवन और वॉटर फिल्टर भी सस्ता होगा। किसानों को राहत देते हुए खेती के उपकरणों को सस्ता किया गया है। एलईडी लाईट और सोलर रिक्शा सस्ता किया गया है। बजट में मैडिकल उपकरणों पर कर छूट जारी रखने की बात कही गई है।
1.6 से 5 लाख तक 10 फीसदी टैक्स : आयकर छूट सीमा में इस बार कोई इजाफा नहीं किया गया है। 1.6 लाख सालाना आय वाले लोगों को किसी प्रकार का आयकर नहीं देना होगा। 1.6 लाख से 5 लाख तक आय पर 10 फीसदी आयकर देना होगा। वहीं 5 से 8 लाख आय पर 20 फीसदी तथा 8 लाख रुपये से अधिक सालाना आय पर 30 फीसदी टैक्स देना होगा। मैट को 15 फीसदी से बढ़ाकर 18 फीसदी किया गया है। एसयूवी और एमयूवी पर भी टैक्स बढ़ेगा। सर्विस टैक्स 10 फीसदी ही रहेगा। इसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है।
खाद पर किसानों को सब्सिडी : मुखर्जी ने कहा कि कृषि के लिए किसानों को खाद पर सीधे सब्सिडी मिलेगी और 5 फीसदी की दर से लोन दिया जाएगा। कृषि के लिए कर्ज लेने पर 2 फीसदी सब्सिडी मिलेगी। साथ ही समय पर लोन चुकाने पर 2 फीसदी की छूट मिलेगी। कृषि में सुधार के लिए हरित क्रांति को पूरे देश में लागू किया जाएगा। पूर्व में हरित क्रांति के लिए 300 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि नए निजी बैंकों को मंजूरी मिलेगी और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक मजबूत किए जाएंगे। सरकारी बैंकों को 16500 करोड़ का पैकेज दिया जाएगा। देश के हर जिले में स्वास्थ्य सर्वे किया जाएगा।
होम लोन पर छूट जारी रहेगी : प्रणव दा ने कहा कि होम लोन पर सब्सिडी जारी रहेगी। 20 लाख रुपये तक का लोन लेने पर 1 फीसदी रियायत दी जाएगी। इंदिरा आवास के लिए 10 हजार करोड़ रुपये और राजीव आवास योजना के लिए 1270 करोड़ रुपये देने की घोषणा की गई है। भारत निर्माण के लिए 48 हजार करोड़ रुपये दिए जाएंगे। शहरी क्षेत्र विकास के लिए 5400 करोड़ रुपये तथा ग्रामीण विकास के लिए 66 हजार करोड़ रुपये देने का ऐलान किया। बुंदेलखंड के लिए 1200 करोड़ रुपये देने की बात कही।
हर रोज 20 किलोमीटर हाइवे बनाएंगे : वित्त मंत्री ने कहा देश में प्रतिदिन 20 किलोमीटर हाइवे का निर्माण किया जाएगा। दिल्ली, मुम्बई मतें औद्योगिक गलियारा बनाया जाएगा और गोवा के तटों पर हरियाली पर खर्च किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोयला रेगुलेटरी अथॉरटी का गठन किया जाएगा। बजट में बिजली सेक्टर के लिए 5130 करोड़ रुपये और सेलर एनर्जी को 1000 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। गंगा की सफाई के लिए 500 करोड़ रुपये देने की भी घोषणा की गई।
एफडीआई को आसान बनाना होगा : प्रणब ने कहा कि सभी सेक्टरों में जल्द ही सुधार देखने को मिलेगा। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य 9 फीसदी विकास दर रखने का है। उन्होंने कहा कि हम 10 फीसदी विकास की दर हासिल कर सकते हैं। हमें महंगाई दर कम करने के सभी उपाय करने होंगे। उन्होंने कहा कि एफडीआई को और आसान बनाना होगा और आसान टैक्स सिस्टम लागू करवाएंगे। नरेगा के लिए 40 हजार करोड़ रुपये देने के साथ ही सभी नरेगा मजदूरों का सेहत बीमा किया जाएगा।

शिरोमणि अकाली दल की मान्यता पर सवाल

नई दिल्ली। माल्टा बोर्ड ट्रैजिडी मिशन के चेयरमैन बलवंत सिंह खेड़ा की याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग और शिरोमणि अकाली दल [बादल] समेत सात को नोटिस जारी कर दिया है। याचिकाकर्ता ने हाईकोर्ट को बताया कि अकाली दल ने जनप्रतिनिधित्व कानून 1989 में हुए संशोधन के तहत चुनाव आयोग में दिए हलफनामे का खुलेआम उल्लंघन किया है। उसका कहना था कि चुनाव आयोग को अकाली दल का पंजीकरण रद करके राजनीतिक पार्टी के तौर पर उसकी मान्यता खत्म करने के निर्देश दिए जाएं। कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश मदन बी लोकूर और न्यायमूर्ति मुक्ता गुप्ता की बेंच ने सुनवाई के लिए 14 अप्रैल की तारीख तय की है।
होशियारपुर के बीएस खेड़ा के अधिवक्ता प्रशांत भूषण और इंदिरा उन्नीनायर ने कहा है कि शिअद [बादल] की ओर से 14 अगस्त, 1989 को चुनाव आयोग में जो हलफनामा जमा किया गया है, वह भ्रामक है। शिअद के तत्कालीन सचिव मंजीत सिंह कलकत्ता ने हलफनामे में दस्तखत के साथ खुद हाथ से लिखा है कि, 'हमारा पुराना संविधान ही लागू है। हम अपनी पार्टी के संविधान को अभी जमा नहीं कर रहे हैं।'
याचिकाकर्ता का कहना है कि शिअद ने दो संविधान बनाए हैं। एक में अपनी पार्टी को धर्म निरपेक्ष बताते हुए हलफनामा दिया है, जबकि दूसरे में पार्टी में 18 वर्ष से ऊपर के सिर्फ 'सिंह' और 'सिंहनी' को ही बतौर सदस्य शामिल करने की बात कही है। यानी पार्टी में सिर्फ सिख ही होंगे।
जनप्रतिनिधित्व कानून 1989 में हुए संशोधन के मुताबिक राजनीतिक पार्टी धर्म निरपेक्ष होनी चाहिए। संशोधन के बाद हर राजनीतिक पार्टी को एक हलफनामा देना था कि वह संविधान के सभी सिद्धांतों को मानेंगे और उसका अनुपालन सुनिश्चित करेंगे। इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट कांग्रेस से जुड़े एक फैसले में कह चुका है कि अगर किसी पार्टी ने हलफनामे में जालसाजी की है तो भी उसकी मान्यता चुनाव आयोग द्वारा रद की जा सकती है।
अधिवक्ताओं ने हाईकोर्ट से कहा है कि 14 अगस्त 1989 को दिए हलफनामे में शिअद की ओर से कहा गया है कि उनके बहुत से सदस्य दिल्ली स्थित सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी से भी हैं। बताया गया कि शिअद [बादल] और शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी [एसजीपीसी] में अंतर क्या है। पार्टी मंदिर में मीटिंग करती है।
इस संबंध में तीन साल पहले भी याचिकाकर्ता ने चुनाव आयोग से गुहार लगाते हुए कहा था कि यह पार्टी सांप्रदायिक है, लेकिन आयोग ने ध्यान नहीं दिया। हाईकोर्ट ने चुनाव आयोग, शिअद, पंजाब चुनाव आयोग, शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी, गुरुद्वारा चुनाव आयोग चंडीगढ़, दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी, दिल्ली स्थित गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय को नोटिस भेजा है।

26 फ़रवरी 2010

कांग्रेसी ठेकेदारों में झड़प, दो घायल

डबवाली (लहू की लौ) नगरपालिका में वीरवार को गलियों के टैण्डर भरने आये कांग्रेसी नेता आपस में टकरा गये और उनमें खूब जूतम-पेजार हुई। दोनों पक्षों के दो जनें घायल हो गये।

प्राप्त जानकारी अनुसार आज डबवाली नगरपालिका में गलियों का टैण्डर भरे जाने थे और टैण्डर भरने के बाद पालिका से बाहर निकलकर गेट पर ही कांग्रेस नेता आपस में टकरा गये। घायल गोपाल मित्तल ने आरोप लगाया कि कुछ लोग टैण्डर के दौरान पूल करने की कोशिश कर रहे थे और उसे भी पूल में शामिल होने के लिए कहा गया था, लेकिन उसने यह शर्त रखी थी कि सभी को 9-9 लाख रूपये का काम आता है और उसे भी उसके हिस्से का काम दिया जाये। लेकिन बात नहीं बन पाई और उसने 6 लाख के टैण्डर भर दिये। वह टैण्डर डालकर वापिस आ रहा था और जैसे ही पालिका के गेट पर पहुंचा तो इन्द्र जैन ने अपने बेटे मुनीष जैन और 8-9 अन्य लड़कों को उसे पीटने का इशारा किया और वह लोग उस पर टूट पड़े और बुरी तरह से उसे पीटा। उसकी जेब में 5500 रूपये की नकदी थी, वह भी पिटाई करने वालों ने निकाल ली। झगड़े का कारण बताते हुए गोपाल मित्तल ने कहा कि उसने इन्द्र जैन के खिलाफ शिकायतें की हुई हैं और पुलिस प्रशासन को भी कई माह पूर्व लिखकर दिया हुआ है कि उसे इन्द्र जैन और उसके बेटे से जान का खतरा है।
मित्तल ने यह भी आरोप लगाया कि मौका पर पुलिस भी थी, लेकिन वह तमाशबीन बनकर उसकी पिटाई होते हुए देखती रही।
अस्पताल में ही दाखिल इन्द्र जैन के बेटे मुनीष जैन ने कहा कि वह टैण्डर भरकर जैसे ही पालिका के गेट पर आया तो गोपाल मित्तल ने उस पर व्यंग्य कसा और हाथापाई पर उतर आया। जैन के अनुसार गोपाल के साथ दो-तीन अन्य भी थे। उसने यह भी आरोप लगाया कि आरोपी उसके गले में डाली हुई साढ़े तीन तोले सोने की चैन भी ले गये। उसने आरोप लगाया कि उस पर कोई तेजधार हथियार से हमला किया गया।
पता चला है कि दोनों घायल कांग्रेसी नेताओं को सिरसा रैफर कर दिया गया है।

24 फ़रवरी 2010

पांच लाख की अवैध शराब ले जाते ट्रक पकड़ा गया

हनुमानगढ़। चंडीगढ़ से लगभग पांच लाख रूपये मूल्य की अवैध शराब तस्करी करके जोधपुर ले जा रहे एक ट्रक के चालक एवं परिचालक को आज दोपहर हनुमानगढ़ में गिरफ्तार कर लिया गया। ट्रक में सस्ते अंग्रेजी ब्रांड- रोमियो एवं बैस्टो शराब की 903 पेटियां ईंटों की नीचे छिपाई हुई थी। ट्रक पर फर्जी नंबर की प्लेटें लगी हुई थीं।
हनुमानगढ़ टाउन के थानाप्रभारी संजय बोथरा ने बताया कि टिब्बी मार्ग पर गुरूसर चौराहे के पास आज दोपहर एक बजे संदेह हो जाने पर ट्रक (आरजे 10 जीए 1423) को रोककर चैक किया गया। ट्रक के डाले में ईंटें भरी हुई थीं। कुछ ईंटों का हटाया गया तो नीचे शराब की पेटियां दिखाई दीं। तब चालक मजीद पुत्र गफ्फार खां निवासी भिखोडाई (जैसलमेर) और मोहन पुत्र विजयसिंह राजपूत निवासी बालेसर (जोधपुर) को गिरफ्तार कर लिया गया। तलाशी लेने पर ट्रक के कैबिन में से एक आरसी मिली, जिससे ट्रक के वास्तविक नंबर- आरजे 19 जीए 0423 का पता चला। ट्रक का मालिक जोधपुर का निवासी है। उन्होंने बताया कि पूछताछ में चालक-परिचालक ने जानकारी दी कि वे शराब को चंडीगढ़ से जोधपुर ले जा रहे थे। शराब की बोतलों पर सेल फॉर ऑनली चंडीगढ़ लिखा हुआ है। बरामद शराब का मूल्य लगभग 5 लाख रूपये आंका गया है। उन्होंने बताया कि शराब भेजने और प्राप्त करने वालों के बारे में चालक-परिचालक से पूछताछ की जा रही है।

पीलीबंगा अश्लील सीडी का प्रकरण दर्ज

पीलीबंगा। पीलीबंगा अश्लील सीडी का पुलिस ने आज एक फोटो स्टूडियो के पार्टनर युवक के विरूद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया, जो कथित रूप से फरार है। यह प्रकरण अश्लील सीडी में कैद हुई युवती के मामा द्वारा दी गई रिपोर्ट के आधार पर दर्ज किया गया है, जिसमें स्टूडियो के पार्टनर विनोद बिश्नोई को नामजद किया गया है।
रावतसर के डीएसपी पवन मीणा ने बताया कि यह स्टूडियो पुलिस के दिवंगत सब इंस्पेक्टर के पुत्र का है, जिसे विनोद बिश्नोई को उसने ठेके पर दे रखा था। इसी स्टूडियो में गुप्त रूप से कैमरा लगाकर विनोद बिश्नोई ने युवती के साथ अश्लील हरकतें करने की मूवी बना ली। युवती के मामा ने आरोप लगाया है कि विनोद इस मूवी को सार्वजनिक करने की धमकी देकर ब्लैकमेल कर रहा था। पुलिस के अनुसार यह मामला धारा 384 और आईटी एक्ट की धारा 6 के तहत दर्ज किया गया है। श्री मीणा ने बताया कि विनोद बिश्नोई को जल्दी ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
पीलीबंगा में यह अश्लील सीडी सार्वजनिक हो जाने से हड़कंप मचा हुआ है। हड़कंप मचते ही विनोद बिश्नोई स्टूडियो बंद करके गायब हो गया। इस सीडी की जानकारी मिलने पर हनुमानगढ़ के पुलिस अधीक्षक मोहनलाल निठारवाल ने जांच के निर्देश दिये। जानकारी के अनुसार पीलीबंगा पुलिस ने सीडी में नजर आ रही युवती की शीघ्र ही पहचान कर ली और रात को ही पीलीबंगा के निकट उसके गांव में पूछताछ करने के लिए पहुंच गए। सूत्रों के अनुसार यह युवती मूल रूप से पंजाब की निवासी है और पिछले कुछ समय अपने मामा के पास रहकर पढ़ाई कर रही है।
पुलिस सूत्रों के मुताबिक इस युवती का विनोद बिश्नोई के साथ पिछले अढ़ाई-तीन वर्षों से प्रेम संबंध चले आ रहे हैं। दोनों अविवाहित हैं। जांच में पता चला कि विनोद ने युवती को धोखा देकर अश्लील फिल्म बनाई। स्टूडियो के जिस कक्ष में फिल्म बनाई गई, उसमे कैमरा लगे होने की जानकारी युवती को नहीं थी। उसे तो अभी तक नहीं पता था। सीडी सार्वजनिक होने पर युवती और उसके परिजन सदमे में हैं। सूत्रों के अनुसार युवती विनोद के साथ विवाह करना चाहती थी, लेकिन विनोद गैर जाति का होने के कारण युवती के परिजन राजी नहीं हुए। युवती के परिजनों पर दबाव बनाने की नियत से विनोद ने अश्लील फिल्म बनाई, लेकिन उसने भी इसे सार्वजनिक नहीं किया। सूत्रों के मुताबिक लगभग डेढ़ वर्ष पहले बनाई इस अश्लील फिल्म को विनोद ने अपने मोबाइल में डाउनलोड किया हुआ था। कुछ समय पहले मोबाइल फोन खराब हो गया, जिसे ठीक करवाने के लिए वह एक मैकेनिक के पास ले गया। संदेह है कि इस मैकेनिक ने मोबाइल ठीक करने के बाद उसकी मैमोरी में फीड अश्लील फिल्म को अपने कम्प्यूटर में डाउनलोड कर लिया। सात मिनट 41 सैकेंड की इस मूवी के अंतिम क्षणों में एक ओर युवती कक्ष में आती है और वह विनोद बिश्नोई के साथ बातचीत करती है। सूत्रों के अनुसार यह दोनों युवतियां सहेलियां हैं। दूसरी युवती की शादी छह महीने पहले हरियाणा में हुई है। सार्वजनिक होने के बाद इस अश्लील फिल्म की सीडी, क्लिपिंग खुलकर बाजार में आ गई है। धड़ल्ले से इस मूवी को सीडी में डालकर बेचा जा रहा है और मोबाइल फोनों में डाउनलोड की जा रही है। ई-मेल भी जमकर हो रहे हैं।

अपराधियों की नाक में दम कर देंगे-पुलिस अधीक्षक

डबवाली (लहू की लौ) पुलिस अधीक्षक सतिन्द्र कुमार गुप्ता ने सिरसा जिले में नशाखोरों व नशीले पदार्थों की तस्करी के खिलाफ व्यापक अभियान चलाने का ऐलान किया है। वे देविवि सिरसा के सामुदायिक रेडियो स्टेशन पर हैलो सिरसा कार्यक्रम में केंद्र निदेशक वीरेंद्र सिंह चौहान के साथ सिरसा नगर व आसपास के ग्रामीण अंचल के लोगों से रूबरू हुए। दस दिन पूर्व जिला पुलिस की कमान संभालने वाले गुप्ता ने अपनी प्राथमितकताएं गिनवाते हुए जहां जिले में अपराधों पर अंकुश लगाने में कोई कोर-कसर न छोडऩे की बात कही, वहीं उन्होंने कहा कि यातायात को व्यवस्थित करने के लिए सिरसा शहर के प्रमुख बाजारों में अतिक्रमण विरोधी मुहिम चलाई जाएगी। बकौल सतिंद्र कुमार गुप्ता इस अभियान के निशाने पर निस्संदेह जहां -तहां रेहडिय़ां लगाकर यातायात को बाधित करने वाले भी होंगे।
श्रोताओं द्वारा उठाए गए सवालों पर टिप्पणी करते हुए पुलिस अधीक्षक ने कहा कि नगर के स्कूलों व महिला कालेजों के बाहर आवारागर्दी करने वाले युवकों के साथ कड़ाई से पेश आएंगे। उन्होंने कहा कि ऐसे युवक अब पुलिसिया छित्तर परेड़ से बच नहीं पाएंगे। उन्होंने आश्वासन दिया कि संवेदशनशील क्षेत्रों में पुलिस की मौजूदगी व गश्त में तत्काल इजाफा किया जाएगा। जब एक श्रोता ने वी. कामराज द्वारा पुलिस कप्तान के रूप में जिले में सटोरियों को दंडित करने का सुझाव दिया तो पुलिस प्रमुख ने कहा कि जिले में सट्टे के कारोबार में लगे लोगों को सबक सिखाने का काम उन्होंने आते ही प्रारंभ कर दिया था। गुप्ता ने कहा कि इस काम में वे बड़ी से बड़ी मछली पर हाथ डालने में कतई संकोच नहीं करेंगे।
पत्रकारिता विभाग के अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह चौहान द्वारा पूछे गए एक सवाल में गुडग़ांव में यातायात व अपराध मामलों में के डीसीपी रहे गुप्ता ने कहा कि सिरसा में भी इन दोनों पक्षों में उन्होंने कार्यभार संभालते ही काम काम प्रारंभ कर दिया है। उन्होंने इस क्रम में उदघोषित अपराधियों व बेल जंपरों को नाथने के अपने संकल्प का भी हवाला दिया। उन्होंने कहा कि यातायात नियंत्रित करने के कार्य को अधिक सुचारू बनाने के लिए निरीक्षक कृष्णा यादव को यातायात प्रभारी बनाया गया है। अब तक सहायक निरीक्षक स्तर के अधिकारी यातायात प्रमुख का कार्यभार संभाले हुए थे। उन्होंने कहा कि यातायात ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों को जिले के लोग आने वाले समय में अधिक चुस्ती के साथ अपना कार्य करते हुए पाएंगे। नवनियुक्त पुलिस अधीक्षक ने कहा कि उन्होंने थानों की कार्यप्रणाली को दुरूस्त करने के निर्देश जारी कर दिए हैं और पुलिस और आम जन के बीच बेहतर तालमेल के साथ वे अपराधियों की नाक में दम कर देंगे। गुप्ता ने कहा कि वे पुलिस के दैनंदिन कार्य में जागरूक नागरिकों की यथासंभव मदद लेने के पक्षधर हैं।

सदमा या साजिश, मौत

औढ़ां (जितेन्द्र गर्ग) अदालत में पेशी के बाद घर लौटते समय खाई शेरगढ़ निवासी एक व्यक्ति की मौत हो गई। उसकी मौत किसी साजिश के तहत हुई अथवा सदमे के कारण जान गई, यह राज बना हुआ है। मृतक की पत्नी ने औढ़ां थाने के एक एएसआई सहित पांच लोगों पर हत्या का आरोप लगाया है। फिलहाल पुलिस ने इस शिकायत पर पांचों के खिलाफ धारा 302, 34 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत के कारण स्पष्ट हो पाएंगे। पुलिस को दी शिकायत में खाई शेरगढ़ निवासी शारदा देवी ने बताया कि उसका पति भीम सेन डबवाली स्थित अदालत में कल पेशी पर गया था, वापिस लौटते समय उसकी मौत हो गई।
शारदा देवी ने आरोप लगाया कि उसके पति की मौत साधरण नहीं है बल्कि एक साजिश के तहत एक मौत के घाट उतारा गया है। शारदा देवी ने बताया कि उसके ससुर पुनराम की कुछ समय पहले मृत्यु हो चुकी है। उसके पति के चाचा श्योपत राम व उसके लड़कों श्रवण, प्रकाश व रामचन्द्र ने मिलकर उनकी जमीन हड़प ली। अब जमीन के एक टुकड़े को कब्जाने के लिए उक्त लोग उसके पति को परेशान कर रहे थे। थाने ंमें समझौते के प्रयास सिरे न चढऩे पर पुलिस ने दोनों पक्षों का धारा 107, 51 के तहत चालान काट दिया। इसी के तहत श्योपत का लड़का श्रवण डबवाली अदालत में पेशी भुगत चुका था।
शारदा देवी ने बताया कि बीते दिवस उसका पति भीम सेन अदालत में पेशी के लिए डबवाली गया था। वापिसी में उसकी हालत बिगड़ गई और उसने दम तोड़ दिया। शारदा देवी ने श्योपत, उसके तीनों लड़कों के इलावा औढ़ां थाने के एएसआई ओमप्रकाश पर अपने पति की हत्या का आरोप लगाते हुए कहा कि उक्त लोगों ने एक साजिश रचकर उसके पति को बुरी तरह पीटा जिससे उसकी मौत हुई। पुलिस ने शारदा देवी के बयान पर उक्त पांचों लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
इस संबंध में थाना प्रभारी हीरा सिंह से पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद जांच करके दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

नवविवाहिता की दहेज के लिए हत्या

संगरिया। डेढ़ वर्ष पूर्व विवाहित एक युवती की उसके ससुराल में दहेज के लिए हत्या कर दी गई। इस युवती के शव का आज मैडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाये जाने के साथ उसके ससुरालवालों के विरूद्ध दहेज हत्या का मामला दर्ज किया गया है।
संगरिया पुलिस ने बताया कि मोरजंड सिखान गांव के मिलखासिंह कुम्हार सिख की भतीजी परमजीतकौर का विवाह डेढ़ वर्ष पूर्व ढाबां गांव के चरणजीतसिंह के साथ हुआ था। बीती रात परमजीतकौर की संदिग्ध परिस्थितियों में मृत्यु हो गई। आज सुबह मिलखासिंह ने रिपोर्ट देते हुए बताया कि चरणजीतसिंह, उसके पिता हरबंससिंह, मां गौरा, ननद मनजीतकौर और पम्मी पीहर से और दहेज लाने के लिए परमजीतकौर को तंग-परेशान करते थे। इन सब ने मिलकर परमजीतकौर को जहर देकर मार दिया। संगरिया के डीएसपी रामकिशन सोनगरा ने बताया कि धारा 304-बी में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

अधेड़ किसान की पत्थर मारकर नृशंस हत्या

संगरिया। नजदीक के गांव से रोजाना दूध लेकर अपनी ढाणी आ रहे एक अधेड़ किसान की रास्ते में किसी अज्ञात व्यक्ति ने पत्थर से सिर कुचलकर नृशंस हत्या कर दी। गांव और ढाणी में बमुश्किल एक किलोमीटर का भी फासला नहीं हैं। इस रास्ते में एक खेत में आज सुबह मृतक किसान मानसिंह जाखड़ (40) की लाश मिली। कुछ दूरी पर उसका दूध का बर्तन पड़ा था। अज्ञात हत्यारे के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी है।

संगरिया पुलिस के अनुसार ग्राम पंचायत दीनगढ़ के सरपंच प्रवीण कुमार को आज खेत मालिक जगदीश बेनीवाल के एक परिवार के सदस्य ने लाश खेत में पड़े होने की जानकारी दी। तब मौके पर पुलिस अधिकारी पहुंचे। अवर पुलिस अधीक्षक यादराम फासल, संगरिया के डीएसपी रामकिशन सोनगरा और संगरिया थाना के सब इंस्पेक्टर गोपालसिंह ने जांच-पड़ताल करने के बाद मृतक मानसिंह के चाचा गिरधारीलाल जाखड़ की रिपोर्ट के आधार पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने बताया कि मानसिंह रोजाना अपनी ढाणी चक 4 एएमपी से सुबह नजदीकी गांव दीनगढ़ आया करता था और शाम को दूध लेकर वापिस अपनी ढाणी जाता था। सोमवार रात करीब 8 बजे वह दीनगढ़ से ढाणी के लिए रवाना हुआ, लेकिन घर नहीं पहुंचा। रात को उसकी पत्नी व भाई उसके मोबाइल पर कॉल करते रहे, लेकिन वह स्विच ऑफ था। पुलिस के मुताबिक मानसिंह के पास डबल सिमकार्ड वाला मोबाइल था। इसमें एक सिम कार्ड बंद था, जबकि दूसरा चालू था। घरवालों ने दूसरे नंबर पर कॉल नहीं की। यह मोबाइल आज उसके पहने कपड़ों में मिल गया। घटनास्थल के समीप खून लगा हुआ पत्थर भी मिला है। इस पत्थर से मानसिंह के सिर में वार किया गया। उसके चेहरे व सिर का एक हिस्सा बुरी तरह कुचल दिया गया। पुलिस के अनुसार मानसिंह के चार पुत्रियां हैं, जिनमें दो विवाहित हैं। उसका छोटा भाई अविवाहित है। अवर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि हत्या के कारणों और हत्यारे का पता लगाने के लिए गहन जांच शुरू कर दी गई है। मृतक की किसी के साथ रंजिश-दुश्मनी होने की जानकारी सामने नहीं आई है। यह हत्या लूटपाट की नियत से भी की गई नहीं लगती। उन्होंने बताया कि मानसिंह और उसके भाई के पास लगभग 20 बीघा कृषि भूमि है। हत्यारे का पता लगाने के लिए मुखबिरों को सक्रिय किया गया है।

मुंबई हमले में आतंकियों से लोहा लेने वाले एक नायक सहित 27 सैन्य अधिकारियों-जवानों को आज मैडल प्रदान किये जाएंगे

श्रीगंगानगर। श्रीगंगानगर मिलट्री स्टेशन (साधूवाली) में कल बुधवार को एक भव्य आयोजन में 26/11 के मुंबई हमले में आतंकियों से लोहा लेने वाले एक सैन्य जवान सहित कुल 27 अधिकारियों-जवानों को उनकी वीरता, अदम्य साहस और जांबाजी के लिए मैडल प्रदान किये जाएंगे। इस आयोजन के लिए दक्षिण-पश्चिम कमान के लेफ्टिनेंट जनरल सीकेएस साबू आज श्रीगंगानगर मिलट्री स्टेशन पहुंच गए। सैन्य अधिकारियों ने उनकी अगवानी की।
मैडल प्रेजेंटेशन सैरामनी की आज सुबह फुल ड्रेस रिहर्सल की गई। इसके कुछ देर बाद ही हैलीकॉप्टर से लेफ्टिनेंट जनरल साबू मिलट्री स्टेशन में पहुंचे। उच्च सैन्य अधिकारियों ने उनका स्वागत किया। शाम को सेना के जवानों ने साहस और कौशल का प्रदर्शन किया। सैन्य जवानों ने पैराशूट से लैंडिंग की, मोटरसाइकिलों पर करतब दिखाये। बड़ी संख्या में जवान और अधिकारी उपस्थित थे। लगभग एक घंटे के इस शो को लेफ्टिनेंट जनरल साबू ने बड़ी दिलचस्पी से देखा। उन्होंने शो में भाग लेने वाले जवानों की सराहना की।
कल बुधवार को प्रात: आयोजित सैरामनी में एक शहीद जवान सहित 23 अधिकारियों व जवानों को वीरता सेना मैडल प्रदान किये जाएंगे। चार अधिकारियों को अति विशिष्ट मैडल दिये जाएंगे। जिन जवानों और अधिकारियों को यह मैडल प्रदान किये जाने हैं, उनमें 26/11 के मुंबई आतंकी हमले के दौरान होटल ताज पर हमला करने वाले आतंकवादियों को मार गिराने के लिए भेजे गए एक्शन ग्रुप में शामिल हवलदार के. मुरूगन मुख्य रूप से शामिल है। हवलदार मुरूगन ने ताज होटल के एक हिस्से में अपने दल के साथ आतंकवादियों से लोहा लेते हुए एक आतंकवादी को मार गिराया, जबकि हैंड ग्रेनेड से तीन-चार आतंकवादियों को घायल कर दिया। इस हिस्से से आतंकवादियों को मारने-खदेड़ देने से एक्शन ग्रुप को आगे बढऩे का मार्ग प्रशस्त हो गया।
इसके अलावा हवलदार साहबसिंह को मरणोपरांत वीरता सेना मैडल प्रदान किया जा रहा है, जो उनकी धर्मपत्नी वीरनारी-ज्ञानवती ग्रहण करेंगी। हवलदार साहबसिंह असम में आतंकवादियों से मुकाबला करते हुए वीरगति को प्राप्त हुए थे। मेजर कंवल थापा, मेजर पुर्नप्रीतसिंह, मेजर राजेंद्रसिंह सैनी, मेजर अभिजीत बनर्जी, कप्तान मनीष सोबती, कप्तान अमोद गोयल, सूबेदार जवाबसिंह, हवलदार चंद्रपालसिंह, हवलदार समुंद्रसिंह आदि को भी वीरता सेना मैडल प्रदान किये जाएंगे। इस सैरामनी में सेना के जिन अधिकारियों और जवानों को यह मैडल दिये जाने हैं, उनमें से ज्यादातर ने जम्मू-कश्मीर, असम और मणीपुर जैसे हिंसाग्रस्त-आतंकवाद प्रभावित इलाकों में आतंकवादियों का मुकाबला करते हुए उन्हें मार गिराने अथवा खदेड़ देने में अपने रणकौशल, अदम्य साहस और मानसिक संतुलन का गजब प्रदर्शन किया है। इस आयोजन के लिए मिलट्री स्टेशन में बड़े पैमाने पर तैयारियां की गई हैं। आसपास के अन्य मिलट्री स्टेशनों के अधिकारी भी इस आयोजन में शामिल होंगे।

23 फ़रवरी 2010

डेरा प्रमुख पर जूता फेंका

सिरसा। साध्वियों के यौन शोषण और कई हत्याकांडों में मुख्य आरोपी डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत सिंह पर रविवार को मजलिस के दौरान एक व्यक्ति ने जूता फेंक दिया। मजलिस के दौरान इस अप्रत्याशित घटना से हंगामा मच गया।
श्रद्धालुओं के साथ-साथ सुरक्षाकर्मियों ने राम सिंह नामक इस व्यक्ति को धरदबोचा। राम सिंह की बुरी तरह पिटाई की गई। जूते वाली घटना को छिपाने के लिए राम सिंह पर किसी नछत्तर सिंह को धमकाने और हाथापाई करने का मामला दर्ज करवाया गया है। फिलहाल राम सिंह पुलिस की हिरासत में है।
हुआ यूं कि जेजे कॉलोनी निवासी राम सिंह मासिक सत्संग के दौरान डेरा सच्चा सौदा गया था। यहां डेरा प्रमुख गुरमीत सिंह मजलिस में प्रवचन कर रहे थे। सहिष्णुता, सद्भावना, सदाचारिता का पाठ पढ़ा रहे गुरमीत सिंह पर एकाएक राम सिंह ने अपना जूता निकाल कर फैंका।
राम सिंह की इस हरकत से पूरे परिसर में हंगामा मच गया। श्रद्धालु राम सिंह की ओर दौड़े। जैड सुरक्षा घेरे में रहने वाले डेरा प्रमुख भी इस घटना से स्तब्ध रह गए। मजलिस बीच में ही रोकनी पड़ी और डेरा प्रमुख के प्रवचनों का कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया। जूता फैंकने वाले राम सिंह को सुरक्षा कर्मियों ने काबू किया और पुलिस के हवाले कर दिया।
पुलिस प्रवक्ता के अनुसार पुलिस ने डेरा के सेवादार नछत्तर सिंह के ब्यान पर रामसिंह के खिलाफ धारा 323/506 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया है। नछत्तर सिंह ने अपने ब्यान में कहा है कि वह सेवा पर था और उसने राम सिंह को मंच की ओर जाने से रोका और कहा कि पिताजी आने वाले हैं। लेकिन उसने कहा कि वह उसे रोकने वाला कौन है और वह मारपीट पर उतर आया और उसे जान से मारने की धमकी देने लगा।
राम सिंह ने क्यों खोया आपा!
सिरसा। कहते हैं दिल की पीड़ा पहले जुबान पर आती है। अगर जुबान से बयां किया गया दर्द दूर न किया जा सके तो फिर पीडि़त क्या करेगा। इस असमंजस की स्थिति ने ही राम सिंह को वह करने पर मजबूर कर दिया जो संभवत: सामान्य आदमी कर ही न सके। गुरमीत सिंह पर जूता फैंकने वाले राम सिंह का दुखड़ा सभी ने सुना, लेकिन दर्द कोई नहीं दूर कर सका।
राम सिंह मामूली मजदूरी कार्य करके अपनी गुजर-बसर करता है। उसने डेरा सच्चा सौदा से संबंधित एक फैक्ट्री में कार्य किया था। लेकिन उसकी मजदूरी डेरा के प्रबंधक हड़प गए। करीब एक लाख रुपये की मजदूरी बनी थी। लेकिन डेरा में उच्च पदस्थ व सेवानिवृत एक्सियन गुप्ता ने राम सिंह को उसकी मेहनत का हक अदा नहीं किया। राम सिंह ने पिछली मजलिस के दौरान डेरा प्रमुख गुरमीत सिंह को बाकायदा लिखकर दिया था कि उसकी मजदूरी दिलवाई जाए। सबको सत्य वचन और सरल व्यवहार का संदेश देने वाले गुरमीत सिंह ने राम सिंह को कोई स्पष्ट बात नहीं कही। टरकाऊ जवाब दिया।
डेरा के सर्वेसर्वा से मिलने पर भी राम सिंह को निराशा हाथ लगी। उसका आपा खो गया। आर्थिक तंगी से जूझ रहा राम सिंह यहां-वहां भटका, लेकिन डेरा की दहशत और गरीब का हक हड़प कर जाने की ताकत के आगे उसकी एक नहीं चली। राम सिंह इस बार मजलिस में आया, लेकिन उस पर गुस्सा सवार था। आर्थिक तंगी से परेशान राम सिंह को कुछ नहीं सूझ रहा था। गुस्साए राम सिंह ने आगा-पीछा सोचे बिना डेरा प्रमुख पर जूता दे मारा और अपना रोष जताया। राम सिंह के इस कृत्य ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। सीबीआई जांच का सामना कर रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख जूता प्रकरण से अब एक नए विवाद में फंस गए हैं।

विदेश सचिव वार्ता में उठे सिर कलम का मामला

चंडीगढ़/अमृतसर - मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने पाकिस्तान में तालिबान द्वारा दो सिखों के सिर कलम करने को मानवता के खिलाफ नफरत करार देते हुए केंद्र सरकार से इस मामले को भारत-पाक सचिव वार्ता में प्राथमिकता के आधार पर उठाने का आग्रह किया है। पेशावर में घटित इस घटना की चौतरफा निंदा की जा रही है।

मुख्यमंत्री बादल ने सोमवार को यहां जारी एक बयान में प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह से जोरदार आग्रह किया कि वह तालिबान के चंगुल से बंधक बनाए सिखों को सुरक्षित छुड़ाने के लिए सीधे दखल दें। वह विदेशों में रह रहे सिखों की सुरक्षा को विश्वसनीय बनाने के लिए हरसंभव कदम उठाएं।
उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने अमृतसर में आस्था फाउंडेशन का उद्घाटन करने से पहले पत्रकारों से बातचीत में इस घटना को अमानवीय कृत्य करार दिया और केंद्र सरकार से मामले में तुरंत दखल देने की मांग की। प्रधानमंत्री व विदेश मंत्री इसके संबंध में पाकिस्तान सरकार के साथ तालमेल कर सख्त संदेश दें। उन्होंने कहा कि इस घिनौने हत्याकांड के विरुद्ध राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एकमत होना होगा, ताकि पाकिस्तान में बसे सिखों के जानमाल की रक्षा सुनिश्चित की जा सके।
उन्होंने कहा कि केंद्रीय गृहमंत्री पी. चिदंबरम ने अभी तक काली सूची में शामिल पंजाब के लोगों के बारे में कोई सूचना राज्य सरकार को नहीं दी है। सरकार ने इसके संबंध में केंद्रीय गृह मंत्रालय को कई दफा लिखा है।
शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष जत्थेदार अवतार सिंह मक्कड़ ने केंद्र सरकार से मांग की कि पेशावर के सिखों की वर्तमान दशा जानने के लिए एसजीपीसी का एक शिष्टमंडल पाक भेजने की आज्ञा दी जाए। प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में मांग की गई कि भारत-पाक के बीच सचिव स्तर की वार्ता में वहां रह रहे अल्पसंख्यकों की सुरक्षा का मुद्दा गंभीरता से उठाया जाए। एसजीपीसी वहां अल्पसंख्यक समुदाय पर हो रहे जुल्म का मुद्दा संयुक्त राष्ट्र संघ में भी उठाएगी।
श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह ने केंद्र सरकार से इस मसले को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उठाने की वकालत करते हुए कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि दुनिया के किसी भी हिस्से में अल्पसंख्यकों के साथ ऐसा बुरा सलूक न हो। अकाल तख्त साहिब के पूर्व जत्थेदार ज्ञानी जोगिंदर सिंह वेदांती ने मांग की कि पाक सरकार सिखों की सुरक्षा करे।
प्रदेश के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री लक्ष्मी कांता चावला ने दुखी परिवारों से हार्दिक सहानूभुति प्रकट करते हुए अफसोस जताया कि केंद्र सरकार एक माह से फिरौती एवं धर्म परिवर्तन के नाम पर अगवाह किए गए सिखों को सुरक्षित बचाने के लिए पाक से तालमेल नहीं बना सकी। नतीजा दुनिया के सामने है।

महिला को सरेआम चौक में पीट-पीटकर घायल किया

श्रीगंगानगर। आपराधिक प्रवृत्ति के एक युवक ने चौक में सरेआम एक महिला को पीट-पीटकर घायल कर दिया। उसके पहने हुए सोने के गहने और पर्स में साढ़े तीन हजार रूपये निकाल लिये। यह महिला रोती-चिल्लाती रही, लेकिन कोई उसे बचाने नहीं आया। मारपीट करने वाला युवक वहां मौजूद लोगों को धमकाता रहा कि अगर कोई बीच में आया तो वह उसका भी यही हश्र करेगा।
जिला अस्पताल में उपचाराधीन महिला सुमन (31) पत्नी भंवरलाल नायक निवासी गली नं. 2 भांभू कॉलोनी ने देर रात को कोतवाली पुलिस को दिये बयान में बताया कि मोनू उर्फ कपिल तलवार नामक यह युवक पहले उसके साथ बलवीरसिंह के मकान में किराये पर रहता था। मोनू ने जब किराया नहीं दिया तो उसे मकान मालिक ने बाहर निकाल दिया। इसी कारण मोनू उससे रंजिश रखने लगा। रविवार सायं 6.30 बजे वह बुखार होने के कारण दवा लेने के लिए मैडिकल स्टोर पर जा रही थी। मालूराम भांभू पोलोटेक्निक कॉलेज के पास अचानक मोनू तलवार पीछे से आया और उसे बालों से पकड़कर नीचे पटक दिया। उसे लकड़ी की फट्टी से पटने लगा। काफी लोग जमा हो गए, लेकिन मोनू ने उन्हें धमका दिया कि अगर बीच में आया तो उनकी हालत भी ऐसी ही कर देगा। मारपीट कर मोनू ने उसके पहने हुए सोने के टॉप्स और अंगूठी निकाल ली। पर्स भी छीनकर ले गया, जिसमें साढ़े तीन हजार रूपये थे। बाद में उसे लोगों ने अस्पताल में भर्ती करवाया। पुलिस ने बताया कि यह मामला धारा 341, 323, 382 में दर्ज किया गया है। मोनू तलवार पर कई आपराधिक मामले चल रहे हैं।


विदेश भेजने के नाम पर अढ़ाई लाख की ठगी
श्रीगंगानगर। मलेशिया में वर्क वीजा दिलाने का झांसा देकर फरीदकोट के दो व्यक्तियों पर लगभग अढ़ाई लाख रूपये की धोखाधड़ी करने के आरोप में मुकदमा दर्ज करवाया गया है। जिले की घड़साना पुलिस ने बताया कि चक 23 एएस के गुरमीतसिंह पुत्र जरनैलसिंह जटसिख द्वारा दायर किए गए इस्तगासा के आधार पर धारा 420, 467, 471 व 120-बी के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है। इस्तगासा में गुरमीतसिंह ने बताया कि उसके ससुर ने ही दो एजेंटों-रिंकूसिंह पुत्र गुरमेलसिंह जटसिख और कालासिंह निवासी गांव पक्का (फरीदकोट) से लगभग डेढ़ वर्ष पहले परिचय करवाया। इन लोगों ने उसे मलेशिया भेजने और वर्क वीजा से अच्छा काम दिलाने का वायदा किया। इन पर विश्वास करके उसने 15 जुलाई 08 को अपने गांव में इन दोनों को सवा लाख रूपये दे दिये। इसके 15 दिन बाद उसे वीजा दिया गया, जिससे वह एक अगस्त 08 को मलेशिया चला गया। वहां जाने पर जब उसके मलेशियाई अधिकारियों ने कागजात चैक किये तो उसे पता चला कि एक माह का टूरिस्ट वीजा देकर उसे मलेशिया भेजा गया है। वह मलेशिया की एक फैक्ट्री में काम करने लगा। वीजा समाप्त होने पर उसे अनेक परेशानियां झेलनी पड़ी। बाद में वह थाईलैंड होते हुए 9 मार्च 09 को कोलकाता पहुंचा और वहां से एक महीने बाद वह अपने घर आया। इस चक्कर में उसके कुल मिलाकर दो लाख 40 हजार रूपये खर्च हो गए। रिंकू और कालासिंह ने यह रकम देने से इंकार कर दिया। पुलिस ने बताया कि मामले की जांच शुरू कर दी गई है।



एक घंटे में दो मोटरसाइकिल चोरी
श्रीगंगानगर। लाख यत्न के बाद भी सिटी पुलिस शहर में दुपहिया वाहनों की चोरियों को रोक पाने में बुरी तरह नाकाम साबित हो रही है। पुलिस अधीक्षक उमेशचंद्र दत्ता द्वारा नगर पुलिस अधिकारियों को एक बैठक में सख्त हिदायतें दी गईं, लेकिन फिर भी दुपहिया वाहन चोरी हो रहे हैं। आज दोपहर एक घंटे के भीतर अलग-अलग स्थानों से दो मोटरसाइकिल चोरी हो गए। पुलिस के अनुसार जवाहरनगर में गगनपथ पर लालगढिय़ा हॉस्पीटल के सामने से आज दोपहर नीले-काले रंग का पैशन मोटरसाइकिल (आरजे 13-6796) चोरी हो गया। लगभग अढ़ाई बजे इस मोटरसाइकिल चोरी होने की सूचना मिली। इस मोटरसाइकिल को पकडऩे के लिए पुलिस की नाकाबंदी चल ही रही थी कि सवा तीन बजे रेलवे स्टेशन परिसर से होण्डा शाईन मोटरसाइकिल (आरजे 19 एसए 1913) चोरी हो गया। सुरजीतसिंह कॉलोनी के गुरूनानक चौक में एक मैडिकल स्टोर के संचालक गोपाल ने अपने कर्मचारी को कोई सामान देकर इस मोटरसाइकिल पर रेलवे स्टेशन भेजा था। यह कर्मचारी स्टेशन के अंदर जाकर सामान देकर दस मिनट में बाहर आया तो मोटरसाइकिल गायब हो चुका था। नाकाबंदी के बावजूद इन मोटरसाइकिलों का कुछ पता नहीं चला। देर शाम तक नाकाबंदी जारी थी। उल्लेखनीय है कि एक सप्ताह पहले मंगलवार-बुधवार को शहर में तीन मोटरसाइकिल चोरी हो गए। इनमें से बाद में एक लावारिस पड़ा मिल गया था। दो मोटरसाइकिलों का अभी भी कुछ पता नहीं चला। इसके विपरीत गत 9 फरवरी को ही लालगढिय़ा हॉस्पीटल के पास से ही एक मोटरसाइकिल चोरी हो गया था। एक पखवाड़े के भीतर पांच मोटरसाइकिल चोरी हुए हैं, जिनमें एक बरामद हुआ है। बाकी चार चोरी हुए मोटरसाइकिलों में से सिर्फ एक ही मुकदमा दर्ज पुलिस ने किया।

युवक को गोली मारकर हत्या करने का प्रयास

श्रीगंगानगर। स्थानीय पदमपुर मार्ग स्थित कुंज विहार कॉलोनी में लगभग आधी रात को चार जनों ने एक युवक को मारपीट करने के बाद गोली मार दी, जो उसके पेट में लगी। यह युवक लगभग 3 घंटे बेहोश पड़े रहने के बाद होश में आया और रक्तरंजित अवस्था में घर पहुंचा। तब घरवालों को इस घटना का पता चला और उसे तुरंत अस्पताल में भर्ती करवाया गया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार आज तड़के 3.30 बजे कुंज विहार कॉलोनी निवासी प्रवीण सोनी ने पुलिस को सूचना दी कि उसके भाई प्रिंस (22) पुत्र रामलुभाया सोनी को किसी ने गोली मार दी है। लगभग इसी समय आपातकाल सेवा 108 की एंबुलैंस ने प्रिंस को सरकारी अस्पताल पहुंचाया। आज सुबह होश में आने पर प्रिंस के बयान के आधार पर पुरानी आबादी पुलिस ने नरेश, गिरधारीलाल यादव व दो अन्य व्यक्तियों के विरूद्ध धारा 307 व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया। प्रिंस ने पुलिस को बताया कि वह रात्रि लगभग 11 बजे पदमपुर रोड पर ए-माईनर नहर के समीप बाबा पूनमदास की कुटिया से वापिस घर आ रहा था। रास्ते में पार्क के पास मिले चार जनों ने मारपीट की व उनमें से एक ने उसे गोली मार दी। वह बेहोश हो गया और वहीं गिर गया। लगभग तीन घंटे बाद होश में आने पर वह लडख़ड़ाते हुए घर पहुंचा।
पुलिस के अनुसार इस घटना में प्रिंस ने नरेश को तो पहचाना है, लेकिन गिरधारी यादव के बारे में उसका सिर्फ अनुमान ही है। मारपीट करने वालों में से एक ने अपना मुंह कपड़े से ढका हुआ था। इसके गिरधारी यादव होने का संदेह प्रिंस ने व्यक्त किया है। पुलिस के मुताबिक प्रिंस सोनी की बहन ने चार-पांच वर्ष पहले गिरधारी यादव के साथ प्रेम विवाह किया था। बाद में उसका तलाक हो गया। गिरधारी यादव और प्रिंस जब जीजा-साला थे, तब बाबा पूनमदास की कुटिया में इक_े आते-जाते और बैठते थे, लेकिन तलाक हो जाने के बाद इनमें दूरियां बढ़ गईं और रंजिश उत्पन्न हो गई। बीती रात की घटना को इसी रंजिश का परिणाम माना जा रहा है।
डीएसपी (शहर) हरीराम गहलोत और पुरानी आबादी थानाप्रभारी धीरेंद्रसिंह ने आज सुबह घटनास्थल का निरीक्षण किया, प्रिंस सोनी के परिवार वालों तथा आसपास के लोगों से पूछताछ की। श्री गहलोत ने कहा कि अभियुक्तों को पकडऩे के लिए छापे मारे जा रहे हैं। गिरधारी यादव मॉडल टाउन में वृदाश्रम रोड और नरेश जवाहरनगर में एसएसबी रोड के निवासी हैं। पुलिस ने बताया कि नरेश पर सदर थाना में मारपीट के कई मामले चल रहे हैं। वह आपराधिक प्रवृत्ति का है।

अश्लील फिल्म सार्वजनिक होने से पीलीबंगा में हड़कंप मचा

हनुमानगढ़। सात मिनट से अधिक समय की बनी हुई एक अश्लील फिल्म के सार्वजनिक हो जाने से हनुमानगढ़ जिले के पीलीबंगा कस्बे में हड़कंप मच गया है। यह फिल्म करीब एक-डेढ़ महीने से गुपचुप तरीके से आगे की आगे लोगों तक पहुंच रही थी, लेकिन अब इसकी सीडी खुलकर मार्केट में आ जाने से पुलिस महकमा सक्रिय हो गया। हनुमानगढ़ के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यादराम फासल ने पीलीबंगा थाना पुलिस को इस मामले की जांच करने के निर्देश दिये हैं और इसके लिए जिम्मेवार व्यक्तियों को पकडऩे के लिए कहा है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार 7 मिनट 21 सैकेंड की यह ब्ल्यू फिल्म एक फोटो स्टूडियो में मोबाइल कैमरे से बनाई हुई है। इसमें एक युवक को युवती के साथ सहवास करते हुए कैमरे में कैद किया गया है। सहवास करने वाले युवक की शक्ल एक-दो क्षण के लिए साफ दिखाई देती है, जिसके बारे में दावा किया जा रहा है कि यह युवक पीलीबंगा का ही है। उसके साथ जो युवती दिखाई देती है, वह पीलीबंगा के आसपास के गांव की होने की संभावना व्यक्त की जा रही है। इस ब्ल्यू फिल्म में अंतिम क्षणों में एक ओर महिला आती है तथा फिर तीनों में कुछ क्षण के लिए बातचीत होती है। देखने से साफ पता चलता है कि यह फिल्म एक फोटो स्टूडियो के कक्ष में बनाई गई है। फिल्म देखने वालों का दावा है कि यह स्टूडियो पीलीबंगा में तहबाजारी के आसपास का है।
पीलीबंगा के कुछ व्यक्तियों ने फोन पर बताया कि यह ब्ल्यू फिल्म एक-डेढ़ महीना पहले सामने आई। तब से इसकी क्लिपिंग मोबाइल फोनों और इसकी सीडी गुपचुप तरीके से बिक रही थी। क्लिपिंग 100 से 200 रूपये में बेची जा रही है। सूत्र बताते हैं कि मोबाइल फोन के कैमरे से बनाई गई यह ब्ल्यू फिल्म तब बाहर आई, जब जिस कम्प्यूटर की हार्डडिस्क में इसे स्टोर किया हुआ था, उसके खराब हो जाने पर ठीक करवाने के लिए मैकेनिक के पास ले जाया गया। संभावना व्यक्त की जा रही है कि इसी दौरान इस फिल्म की सीडी बना ली गई, जो बाद में गुपचुप तरीके से बिकने लगी और अब सार्वजनिक हो गई। पीलीबंगा में पिछले दो दिनों में यह क्लिपिंग एक मोबाइल से दूसरे मोबाइल पर रेवडियों की तरह एमएमएस के जरिये भेजी जा रही हैं।
इस बारे में संपर्क करने पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यादराम फासल ने कहा कि अभी तक किसी ने पुलिस को शिकायत नहीं की है, लेकिन मामला गंभीर होने के कारण वे इसकी जांच करवायेंगे। इसके लिए रावतसर के डीएसपी पवन मीणा को कार्यवाही करने के निर्देश दिये जा रहे हैं। उधर, पीलीबंगा के कार्यवाहक थानाप्रभारी मोहनलाल ने कहा कि यह मामला उनके सामने आज ही आया है, वे पता लगा रहे हैं कि इसमें कितनी वास्तविकता है। अगर कोई इसमें दोषी पाया गया तथा उसके विरूद्ध रिपोर्ट आई तो सख्त कार्यवाही की जाएगी।

ठेकेदारों-किसानों में भिडंत एवं फायरिंग, एक घायल

श्रीगंगानगर। हनुमानगढ़ जिले में हरियाणा के साथ लगते भादरा-भिरानी क्षेत्र की प्रमुख नहरों में पानी चोरी रोकने के लिए जल संसाधन विभाग द्वारा सख्ती किये जाने के साथ ही अराजकता की स्थिति उत्पन्न हो गई है। हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। बीती रात नहरी तंत्र की सुरक्षा के ठेकेदार के कारिंदों की कथित रूप से पानी चोरी की नियत से भिरानी हैड पर आये कुछ किसानों के साथ भिडंत हो गई। गोलियां चलने से एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे हिसार रैफर किया गया है। आज स्थिति काफी देर तक तनावपूर्ण बनी रही। भिरानी थाने में प्रशासन-पुलिस की मध्यस्थता में सिंचाई विभाग के अधिकारियों की जन प्रतिनिधियों के साथ वार्ता हुई। इसमें ठेकेदार का ठेका तुरंत निरस्त करने, सिंचाई विभाग में ठेके की प्रथा को बंद करने के लिए राज्य सरकार से आग्रह करने और गई रात की घटना के लिए जिम्मेवार लोगों को शीघ्र गिरफ्तार करने के आश्वासन पर ग्रामीण शंात हुए।
इस क्षेत्र की नहरों में पिछले कई दिनों से पानी की कमी बनी हुई है। जितना पानी आ रहा है, उसमें ज्यादा प्राथमिकता पीने के पानी को दी जा रही है। दूसरी तरफ खेतों में फसलें पकाव की स्थिति में है और उन्हें पकाने के लिए पानी की ज्यादा जरूरत है। मांग और आपूर्ति में अंतर होने तथा नहरों की टेलों पर पानी नहीं पहुंचने से कुछ ही दिनों में इस क्षेत्र में स्थिति बिगडऩे लगी, जो अब चरम पर पहुंच गई है। दो दिन से जल संसाधन विभाग के अधिकारी खुद तथा नहरी तंत्र में वाच एंड वार्ड के ठेकेदारों ने पानी की चोरी रोकने के लिए काफी सख्ती बरत रहे हैं। इससे किसान छटपटाने लगे हैं। बीती रात भिरानी हैड पर सिद्धमुख नहर के वाच एवं वार्ड ठेकेदार भागीरथ के इंचार्ज रणजीत माली के पुत्र विनोद की वहां चोरी की नियत से आये हुए कुछ किसानों के साथ भिडंत हो गई। विनोद के साथ पिकअप जीप एवं कार में कई जने थे। झगड़े के दौरान गोली चल गई, जिससे सुरेंद्र जाट नामक एक किसान बुरी तरह घायल हो गया। सुरेंद्र के भतीजे सुनील व एक अन्य किसान सुभाष के भी चोटें लगीं।
टकराव की जानकारी मिलने पर पुलिस तुरंत मौके पर पहुंच गई। घायल सुरेंद्र को प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने हिसार रैफर कर दिया गया। देर रात को पुलिस ने सुरेंद्र के भतीजे सुनील पुत्र रामकुमार जाट की रिपोर्ट के आधार पर विनोद पुत्र रणजीत माली, बबलू गढ़वाल जाट निवासी बांडाहेडी (हरियाणा) और 15-20 अन्य व्यक्तियों के खिलाफ हत्या के प्रयास के आरोप में धारा 307, 147, 148, 149 और आम्र्स एक्ट की धारा 27 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया।
आज सुबह जनप्रतिनिधियों को इस घटना का पता चला तो उनमें रोष फैल गया। काफी संख्या में ग्रामीण-किसान भिरानी थाने पर जमा हो गए, हनुमानगढ़ से अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यादराम फासल, भादरा के एसडीएम नरेंद्र कुलहरी, नोहर के डीएसपी नैविल क्लार्क, थानाप्रभारी इंद्रकुमार, जल संसाधन विभाग के अधिशाषी अभियंता सुभाष माथुर ने ग्रामीणों-किसानों की ओर से आये जनप्रतिनिधियों-पूर्व विधायक संजीव बेनीवाल, सरपंच शिशपाल वर्मा, पूर्व सरपंच विशालसिंह पूनिया, पंचायत समिति प्रधान कांता पूनिया के पति प्रेम पूनिया, पूर्व सरपंच शेरसिंह आदि के साथ बातचीत की। जनप्रतिनिधियों ने वाच एंड वार्ड के ठेकेदारों व उनके कारिंदों की कार्यशैली पर आक्रोश व्यक्त किया। लगभग दो घंटे चली इस बातचीत में दोनों पक्षों में सहमति हो गई कि जल संसाधन विभाग बीती रात की घटना में लिप्त वाच एंड वार्ड के ठेकेदार का ठेका अतिशीघ्र निरस्त करेगा। साथ ही राज्य सरकार को सिंचाई विभाग में नहरी तंत्र की सुरक्षा का जिम्मा निजी लोगों के हाथों पर सौंपने के लिए अपनाई गई ठेका प्रथा को समाप्त करने के लिए प्रशासन पत्र लिखेगा। गई रात की घटना में नामजद व अन्य अभियुक्तों की शीघ्र गिरफ्तारी की जाएगी। इस सहमति के बाद लोगों में आक्रोश कुछ कम हुआ। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री फासल ने बताया कि अभियुक्तों की गिरफ्तारी के प्रयास शुरू कर दिये गए हैं।
उल्लेखनीय है कि बीते दो दिनों में प्रशासनिक अधिकारियों व जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने पुलिस की मदद से अभियान चलाकर भिरानी-भादरा थाना क्षेत्र की नहरों में पानी चोरी करने वाले किसानों पर व्यापक छापामारी की है। इस दौरान लगभग 40 डीजल ईंजन, दो ट्रैक्टर और बड़ी संख्या में पाइपें जब्त की गई हैं। कार्यवाही का विरोध करने पर सात किसानों को शांति व्यवस्था भंग करने के आरोप में गिरफ्तार भी किया गया है।

22 फ़रवरी 2010

नीरज सचदेवा मिस्टर एनपीएस, रेखा शर्मा मिस एनपीएस चुने गये

डबवाली (लहू की लौ) नव प्रगति सीनियर सैकेण्डरी स्कूल में रविवार को जश्न-ए-रूख्सत के बैनर तले 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों का विदाई समारोह धूमधाम से सम्पन्न हुआ। इस मौके पर मुख्यातिथि के रूप में वेदप्रकाश भारती डायरेक्ट एनपीएस स्टार महक कल्चरल विंग ने शिरकत की।
समारोह के दौरान मॉडलिंग प्रतियोगिता भी करवाई गई। जिसमें नीरज सचदेवा पुत्र रमेश सचदेवा ज्योतिषी मिस्टर एनपीएस, रेखा शर्मा पुत्री रामपाल शर्मा मिस एनपीएस चुने गये। पूरे वर्ष की कारगुजारी के आधार पर एनपीएस मोस्टर ओबिडंट मोहित बांसल, बेस्ट सोशल वर्कर संजीव सांवतखेड़ा, इंटेलीजेंट नरेश , बेस्ट व्बॉय कुलदीप सिंह, बेस्ट गर्ल कुलदीप कौर, बेस्ट डांसर गगनदीप कौर, सिम्पलसिटी अवार्ड सारिस मैहता, बेस्ट स्पीकर अमनदीप, थ्रू आउट मेरिटोरियस वनिता बांसल घोषित किया गया। निर्णायक मण्डल की भूमिका पंजाबी प्रवक्ता बलजिन्द्र कौर, एचओडी प्राईमरी विभाग की संतवन्त कौर ने अदा की। जबकि मंच का संचालन अर्थशास्त्र प्रवक्ता नवजीत कौर ने किया।
कार्यक्रम के अन्त में अपने सम्बोधन में प्राचार्या चन्द्रकान्ता ने कहा कि शॉर्टकट रास्तों से मुकाम नहीं मिलता। सफलता प्राप्ति के लिए जी जान से मेहनत और लग्न की आवश्यकता होती है।

आज का विद्यार्थी शिक्षा से भटका-श्याम बिहारी

डबवाली (लहू की लौ) हिन्दू शिक्षा समिति हरियाणा के प्रांतीय अध्यक्ष डॉ. श्याम बिहारी गर्ग ने कहा कि समिति द्वारा संचालित विद्यालयों में अंकों की बात के साथ-साथ ज्ञान सिखाने का कार्य किया जा रहा है।

वे रविवार को हिन्दू शिक्षा समिति द्वारा संचालित शहीद अशोक वढ़ेरा सरस्वती विद्या मंदिर के 20वें वार्षिक उत्सव एवं पारितोषिक वितरण समारोह के अवसर पर उपस्थित लोगों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विद्यालयों में अंक लेने पर अधिक जोर दिये जाने और ज्ञान के अभाव के चलते आज का विद्यार्थी शिक्षा से भटक कर अपने ही सहपाठियों की हत्या पर उतर आया है। इस प्रकार की देश में करीब 15 घटनाएं घटित हो चुकी हैं। उन्होंने उपस्थित अभिभावकों से कहा कि वे बच्चों में ऐसे संस्कार पैदा करें जिससे बच्चा अपने हित के साथ-साथ अपने माता-पिता, समाज और देश के बारे में सोचे। उनके अनुसार बच्चा केवल नौकरी प्राप्त करने के लिए डिग्री प्राप्त करता है और डिग्री व नौकरी पाने के बाद अपने माता-पिता व समाज और देश को ही भूल जाता है।
इस मौके पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ. एमएल बागला ने कहा कि बच्चों को पढ़ाई के साथ-साथ खेल और सामाजिक गतिविधियों में भी बढ़ चढ़ कर भाग लेना चाहिए। कार्यक्रम के दौरान विद्यालय के प्रिंसीपल रणवीर सिंह नरवाल ने विद्यालय की वार्षिक रिपोर्ट पढ़ी और विद्यालय प्रबंधक समिति के अध्यक्ष ओमप्रकाश धमीजा ने आये हुए मेहमानों का धन्यवाद किया। मंच का संचालन मंजू ने किया। जबकि उत्सव के दौरान नन्हें-मुन्ने बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम, मार्च पास्ट, डम्बल, लेजियम, योग और पीटी द्वारा अपनी प्रतिभा प्रदर्शित करके उपस्थित लोगों को अपना कायल बना लिया। इस मौके पर जिला प्रचारक आरएसएस सिरसा के विजय कुमार, आरएसएस डबवाली के चीफ संतोष कुमार दुआ, शहीद अशोक वढ़ेरा सरस्वती विद्या मंदिर प्रबंधक समिति के प्रबंधक अमृतपाल, कोषाध्यक्ष कुलदीप बांसल, सदस्य राकेश भसीन, विजय वढ़ेरा, बिशना मल जैन सरस्वती विद्या मंदिर कालांवाली के प्रबंधक दर्शन सिंगला, प्राचार्य सुनील चलाना, प्रबंधक समिति लूना राम सरस्वती विद्या मंदिर गंगा के सदस्य अनूप कुमार गोरीवाला, रिटायर्ड पीएनबी अधिकारी राजकुमार गर्ग, प्रेम सिंह सेठी, सतीश जग्गा, बलदेव सिंह मांगेआना, बीएस कूका आदि उपस्थित थे।
कार्यक्रम के दौरान विद्यालय के मेधावी विद्यार्थियों को मुख्य अतिथि एवं अध्यक्ष द्वारा पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया।

पत्नी और उसके प्रेमी को गोली से उड़ाया

डबवाली (लहू की लौ) बठिण्डा जिले के गांव गहरी बुट्टर में शनिवार देर शाम एक पति ने पत्नी व उसके आशिक की गोली मारकर हत्या कर दी। गोली मारने के लिए उसने बीवी के आशिक की राइफल का ही इस्तेमाल किया।
मिली जानकारी के अनुसार गहरी बुट्टर निवासी सुखजीत कौर उर्फ वीरपाल कौर पत्नी केवल सिंह उर्फ (मनजीत) का गांव के ही नछत्तर सिंह पुत्र झंडा सिंह नामक एक व्यक्ति के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। इस बात की भनक केवल सिंह उर्फ मनजीत को लग चुकी थी। उसने कई बार अपनी बीवी को समझाने की कोशिश की लेकिन वह नहीं मानी। शनिवार को मनजीत सिंह अपनी पत्नी को कहीं बाहर जाने का बहाना बनाकर निकल गया। शाम लगभग छह बजे के बाद जैसे ही केवल सिंह (मनजीत ) घर पहुंचा, तो उसने देखा कि अंदर उसकी पत्नी का आशिक नछत्तर सिंह अपनी राइफल लेकर बैठा था। नछत्तर सिंह को घर में बैठा देख केवल सिंह तैश में आ गया। दोनों में झगड़ा शुरू हो गया। वे झगड़ते हुए घर के बाहर तक आ गए। केवल सिंह ने नछत्तर सिंह से राइफल छीनकर गोली से उसके सिर को उड़ा दिया। इसके बाद पास खड़ी पत्नी सुखजीत कौर को भी गोली मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया, बीवी को तुरंत बठिंडा के सिविल अस्पताल लाया गया। जहां कुछ समय बाद उसने दम तोड़ दिया।
उधर, पुलिस सूत्रों के अनुसार करीब छह साल पहले विवाह के बाद से ही सुखजीत कौर के अवैध संबंधों के चलते उसका पति केवल सिंह के साथ विवाद होने लगा था। कई बार इनके बीच झगड़ा हुआ तथा पंचायती समझौते के माध्यम से भी मामला शांत करवाने की कोशिश की गई लेकिन फिर भी मसला हल न हुआ। सूत्रों की मानें तो सुखजीत कौर के अवैध संबंधों के चलते पहले भी उसके ससुराल पक्ष की तरफ से उसकी पिटाई की गई थी। पुलिस ने आरोपी केवल सिंह के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। आरोपी मौके से फरार होने में सफल रहा।

पाठशाला और भगवान के घर में चोरी, काबू

बनवाला (जसवन्त जाखड़) गांव बनवाला की प्राथमिक पाठशाला और राम मन्दिर में एक ही रात में चोरी को अंजाम देने वाले व्यक्ति को पंचायत के सहयोग से पुलिस ने चोरी हुए सामान सहित काबू कर लिया।

प्राप्त जानकारी अनुसार गांव बनवाला की प्राथमिक पाठशाला के अध्यापक इन्द्र सैन ने रविवार को देखा कि पाठशाला के स्टोर का ताला टूटा हुआ है और उसमें पड़ा कुकिंग गैस सिलेण्डर, गैस चूल्हा, मोटर पम्प और सिल्वर की बाल्टी आदि गायब है। उसने इसकी सूचना गांव की पंचायत को दी।
दूसरी ओर गांव में स्थित बाबा रामदेव मन्दिर के पुजारी ज्योति राम ने सुबह मन्दिर खोलते समय देखा कि मन्दिर में लगा एम्पलीफायर डैक, सिल्वर का टॉप तथा 175 रूपये की नकदी गायब है और मन्दिर के प्रमुख दरवाजे का ताला टूटा हुआ है। उसने इसकी जानकारी श्रद्धालुओं को दी।
एक ही रात में दो स्थानों पर हुई चोरी की सूचना जैसे ही गांव के सरपंच सतवीर सिंह और पूर्व सरपंच गिरधारी लाल को मिली तो उन्होंने संदेह के आधार पर गांव के ही जगदीश पुत्र दयाला के घर पर दबिश दी। उस समय जगदीश घर पर था और सोया हुआ था।
बताते हैं कि जगदीश को साथ लेकर ग्रामीणों ने जब उसके घर की तालाशी ली तो घर में पड़ा मन्दिर का एम्पलीफायर डैक और सिल्वर का टॉप मिल गया। इससे गांव वासियों को पक्का यकीन हो गया कि दूसरी चोरी भी जगदीश ने ही की होगी। चोरियों की सूचना पाकर मौका पर औढ़ां पुलिस भी पहुंच गई। पुलिस ने जगदीश से पूछताछ की तो जगदीश तोते की तरह सबकुछ उगल गया। उसने बताया कि प्राथमिक पाठशाला के स्टोर से भी चोरी उसी ने ही की है और जो सामान चुराया है, वह शमशान घाट के पीछे स्थित विनोद कुमार पुत्र लाल चन्द के खेत में छुपाया हुआ है।
पुलिस जगदीश की निशानदेही पर शमशान घाट के पीछे स्थित खेत में पहुंची और मौका से पुलिस ने ग्रामीणों की उपस्थिति में स्कूल से चुराया गया गैस सिलेण्डर, गैस चूल्हा, मोटर पम्प और बाल्टी बरामद कर लिये। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 457/380 आईपीसी के तहत केस दर्ज कर लिया है।

आतंकवाद को हवा देने में अकाली दल की महत्वपूर्ण भूमिका-बिट्टू

डबवाली (लहू की लौ) पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअन्त सिंह के पौत्र एवं आनन्दपुर साहिब से सांसद रवनीत सिंह बिट्टू ने कहा कि पंजाब के आतंकवादियों ने कश्मीर के आतंकवादियों से हाथ मिला लिया है और ये आतंकवादी अब पंजाब में फिर से दहशत फैलाकर पंजाब को बर्बाद करने की योजनाएं बना रहे हैं। हलवारा, पटियाला और जीरकपुर में हाल ही में मिले भारी विस्फोटकों से इस बात की पुष्टि भी हो जाती है।
वे शनिवार को अपने लम्बी हल्का के दौरे के दौरान गांव खुड्डियां में पूर्व सरपंच रिछपाल सिंह के घर पर इस संवाददाता से विशेष बातचीत कर रहे थे। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि पंजाब में आतंकवाद को हवा देने में अकाली दल की भी महत्वपूर्ण भूमिका है। उनके अनुसार सिमरनजीत सिंह मान सरेआम खालिस्तान की वकालत करता हुआ घूम रहा है और अकाली सरकार तथा मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल उस पर नकेल डालने में असफल साबित हो रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि यदि वर्तमान अकाली सरकार ने आतंकवादी तत्वों पर समय रहते नकेल न कसी तो पंजाब में फिर से 1984 जैसे हालात पैदा हो सकते हैं।
इस मौके पर उन्होंने केन्द्रीय गृह मंत्री पी. चिदम्बरम के इस ब्यान पर सहमति व्यक्त की कि जिन सिक्ख युवकों के नाम काली सूचि में हैं, उन्हें समाज की मुख्यधारा में लाने के लिए आम माफी दी जानी चाहिए। उन्होंने इस बात को स्वीकार किया कि 80 के दशक में सरकार किसी भी पार्टी की रही हो लेकिन पंजाबी नौजवानों पर उस समय राजनीतिक दबाव के चलते झूठे केस बनाये गये थे। अब समय आ गया है कि इन झूठे केसों को वापिस लेकर इन युवाओं का फिर से पुनर्वास किया जाये।
सांसद ने एक सवाल के जवाब में कहा कि इस समय पंजाब आतंकवाद के साथ-साथ नशों की गिरफ्त में है और नशे के कारोबार में लगे लोग ही आतंकवाद को बढ़ावा दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार को चाहिए कि वह नशे के कारोबारियों पर शिकंजा कसे।
इससे पूर्व वे गांव खुड्डियां में ही दिहाड़ीदार मजदूर बिट्टू पुत्र रोशा सिंह के घर गये और चाय पी। इस सम्बन्ध में उन्होंने कहा कि वे राहुल गांधी से प्रेरणा लेकर आम आदमी तक जा रहे हैं और वे चाहते हैं जिस प्रकार उन्हें प्रेरणा मिली है। इसी प्रकार की प्रेरणा आम कार्यकर्ता भी ले।

बादल के गढ़ में कांग्रेस ने रखी आम आदमी का सिपाही की नींव

डबवाली (लहू की लौ) पंजाब युवा कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष एवं आनन्दपुर साहिब से एमपी रवनीत सिंह बिट्टू ने कहा कि राहुल गांधी की नीति आम लोगों को कांग्रेस के साथ जोड़कर आम लोगों की समस्या को सुनने और उनका समाधान करने की है। इसी के तहत आम आदमी का सिपाही प्रत्येक शहर और गांव में बनाया जा रहा है।
वे शनिवार को गांव लम्बी के बाबा मान सिंह स्टेडियम में आयोजित जनसभा के साथ-साथ हल्का लम्बी के विभिन्न गांवों में अपने तूफानी दौरे के दौरान आयोजित कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठकों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से कहा कि वे आम आदमी के सिपाही को अपना आशीर्वाद दें। यही सिपाही पंजाब में अकालीदल की जन विरोधी नीतियों और अफसरशाही की काली करतूतों की पोल जनता के समक्ष खोलेगा।
उन्होंने इस मौके पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं से कहा कि वे जनता में जायें और लोगों को बतायें कि अकाली सरकार जिस आटे को 4 रूपये प्रति किलो के हिसाब से बीपीएल परिवारों को दे रही है, उस आटे को केन्द्र सरकार राज्य सरकार को दो रूपये प्रति किलो के हिसाब से मुहैया करवा रही है। उन्होंने यह भी कहा कि कितना बड़ा दुर्भाग्य है कि देश का अन्नदाता कहलाने वाले पंजाब की सरकार आटे में भी दलाली कर रही है।
उन्होंने यह भी कहा कि केन्द्र सरकार पंजाब सरकार को भारी वित्तीय सहायता भेज रही है, लेकिन इसे या तो अधिकारी निगल जाते हैं या फिर अकाली अपने चेहतों पर खर्च करते हैं। उन्होंने कहा कि बादल परिवार करोड़ों-अरबों रूपये लगाकर अपने महल और होटल खड़े कर रहा है, जबकि आम आदमी कर्जदार बनता जा रहा है। उनके अनुसार इस समय पंजाब पर 67 हजार करोड़ रूपये का कर्ज है और पंजाब सरकार को 17 करोड़ रूपये प्रतिदिन के हिसाब से ब्याज अदा करना पड़ रहा है। इस प्रकार से इस समय राज्य का प्रत्येक व्यक्ति लाखों रूपये का कर्जदार है। इसके लिए मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल की जनविरोधी नीतियां जिम्मेवार हैं।
इस अवसर पर उन्होंने विभिन्न गांवों में पांच-पांच आम आदमी के सिपाही की नियुक्ति की घोषणा की और इन सिपाहियों को सिरोपे देकर सम्मानित किया। इस मौके पर उनके साथ महेन्द्र इन्द्र सिंह बादल, नरेन्द्र सिंह कोनी जिला प्रधान यूथ कांग्रेस, रमन बख्शी, राजेश अत्री, लखवीर लक्खा, रणधीर सिंह धीरा, गुरमीत सिंह खुड्डियां, गुरबाज सिंह बनवाला, गुरसेवक सिंह लम्बी, जगविन्द्र सिंह काला, बलराज सिंह लम्बी, गुरविन्द्र सिंह लम्बी, हरचरण सोथा, रघुवीर सिंह पूर्व विधायक गिदड़बाहा, संदीप जाखड़ फिरोजपुर, गोगी चहल मुक्तसर आदि चल रहे थे।

प्रदेश भर में सम्पूर्ण स्वच्छता अभियान की शुरूआत कालूआना से होगी-उपायुक्त

डबवाली (लहू की लौ) राज्य सरकार द्वारा जिला के ग्रामीण क्षेत्र के लिए चलाई जाने वाली सभी योजनाओं की शुरुआत प्रदेश भर में संपूर्ण स्वच्छता अभियान में प्रथम रहे गांव कालुआना से की जाएगी।

यह बात सिरसा के उपायुक्त युद्धवीर सिंह ख्यालिया ने शनिवार को गांव कालुआना में ग्रामोथान दिवस के अवसर पर आयोजित सम्मान समारोह में बोलते हुए कही। उन्होंने आज इस समारोह में कालुआना गांव को हरियाणा भर में और जिला भर में प्रथम आने पर 25 लाख रुपए की राशि का चैक ग्राम पंचायत को प्रदान किया। इसके साथ-साथ संपूर्ण स्वच्छता अभियान में निर्मल ग्राम पुरस्कार योजना के तहत खण्ड स्तर पर प्रथम रहने वाले सात गांव की पंचायतों को भी दो-दो लाख रुपए की राशि के चैक प्रदान किए। खंड स्तर पर प्रथम रहने वाले औढ़ा खंड में रोहिड़ावाली गांव को, रानियां खंड में फिरोजाबाद को, नाथूसरी चौपटा में जसानियां को, ऐलनाबाद बाद में धोलपालिया को, सिरसा खंड में हांड़ी खेड़ा को, बड़ागुढा में शेखुपुरिया को तथा डबवाली खंड में चौटाला गांव को चुना गया है।
उन्होंने कहा कि गांव के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में छात्रों के लिए सभी सुविधाओं से सुसज्जित एक बड़े हॉल का निर्माण करवाया जाएगा जिसमें साईंस म्यूजियम भी स्थापित होगा। इस म्यूजियम में विज्ञान से जुड़े नवीनतम उपकरण रखे जाएंगे जो साईंस पढऩे वाले बच्चों के लिए प्रयोगशाला का भी काम देंगे।
उपायुक्त ने कहा कि गांव के सभी राजकीय वरिष्ठ प्राथमिक विद्यालय व प्राईमरी स्कूलों में आवश्यकता अनुरुप कमरों का निर्माण करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि महिलाओं को आर्थिक रुप से सशक्त बनाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा विभिन्न योजनाएं शुरु की जाएंगी। इसके साथ-साथ गांव के सभी सरकारी स्कूलों में आवश्यकता अनुसार लड़कियों/लड़कों के लिए ओर अधिक शौचालयों का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गांव में चल रहे सभी आंगनवाड़ी केंद्रों के लिए भवनों का निर्माण करवाया जाएगा। उन्होंने ग्रामवासियों को आश्वस्त किया कि गांव में खेती योग्य भूमि को सिंचाई की व्यवस्था से वंचित नहीं रहने दिया जाएगा। इसके लिए गांव की जमीन में पाईप लाईन बिछाई जाएगी। इसके साथ-साथ गांव के युवाओं/युवतियों के लिए स्टेडियम निर्माण के साथ-साथ दो जिमों का निर्माण भी किया जाएगा। एक जिम पुरुषों के लिए और एक महिलाओं के लिए होगा। पूरे गांव में सोलर सिस्टम स्थापित किया जाएगा। इसके साथ-साथ साक्षर महिला समूह के लिए फर्नीचर आदि की समुचित व्यवस्था होगी जिसमें बड़ी मेज के साथ-साथ 40 कुर्सियां उपलब्ध करवाई जाएंगी ताकि गांव की साक्षर महिलाएं एक जगह बैठकर गांव के विकास से संबंधित बिंदुओं पर चर्चा कर सके। उन्होंने कहा कि गांव में इन सारी योजनाओं का क्रियान्वयन इंटरग्रेटिड वाटर शैड मैनेजमेंट योजना और पिछड़ा क्षेत्र अनुदान निधि योजना के तहत किया जाएगा।
उन्होंने मौके पर ही अधिकारियों को निर्देश दिए कि अगले सप्ताह में सभी विकास कार्यों के लिए ग्रांट रिलीज कर दी जाए। उन्होंने गांव के सरपंच जगदेव सहारण से अपील की कि वे इन सभी कार्यों का अस्टीमेट तैयार करवाकर आगामी तीन दिन के अंदर-अंदर जिला प्रशासन को दे ताकि सभी विकास कार्यों पर शीघ्र कार्य शुरु किया जा सके। उन्होंने आश्वासन दिया कि उपरोक्त सभी योजनाओं पर आगामी 31 मार्च से पहले कार्य शुरु कर दिया जाएगा। इससे पूर्व जिला उपायुक्त ने पिछड़ा क्षेत्र अनुदान निधि योजना के तहत खरीदी गई बस को ग्राम पंचायत को दिया और बस को हरी झंडी देकर रवाना भी किया। इस मौके पर उपायुक्त ने रक्तदाता समिति, ग्राम शिक्षा समिति के सदस्यों, स्कूली अध्यापकों, गौशाला समिति के सदस्यों, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं, हैल्परों, राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना के सभी सदस्यों और सभी स्कूली बच्चों को सम्मानित किया। उपायुक्त ने समारोह में फंडामैंटल इंग्लिश अन इजी वे नामक किताब का विमोचन किया। यह किताब प्रो. शुभम तंवर द्वारा लिखी गई है। उन्होंने इस किताब को बच्चों के लिए अंग्रेजी भाषा सीखने में सहायक बताया। इस मौके पर उपमण्डलाधीश मुनीश नागपाल, जिला के अतिरिक्त उपायुक्त डा. जे.गणेशन उपस्थित थे।

20 फ़रवरी 2010

जिला मुख्यालयों पर खुलेंगे प्रशिक्षण इंस्टीच्यूट-बादल

डबवाली (लहू की लौ) पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कहा कि पंजाब सरकार जल्दी ही ब्लाक स्तर पर अति आधुनिक प्रतिभा विकास केन्द्र खोलकर बेरोजगारों और कम पढ़े-लिखे युवकों को लाभदायक रोजगार प्राप्त करने के लिए शिक्षित करेगी। वे शुक्रवार को गांव माहूआना में करीब 18 करोड़ रूपये की लागत से तैयार हुए स्टेट इंस्टीच्यूट ऑफ ऑटोमोटिव और ड्राईविंग स्किल के उद्घाटन के बाद उपस्थित जन समूह को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जिला मुख्यालयों पर प्राईवेट सुरक्षा प्रशिक्षण इंस्टीच्यूट स्थापित करने की घोषणा भी की और कहा कि ये इंस्टीच्यूट होशियारपुर के जहान खेलों में सिक्योरिटी ट्रेनिंग इंस्टीच्यूट की तर्ज पर खोल जाएंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि केन्द्र सरकार ने मानव संस्थानों को विकसित करने से पूरी तरह से लापरवाही की हुई है। जब इस क्षेत्र को प्राथमिकता दी जानी चाहिए थी। उन्होंने कहा कि बेरोजगारी और गरीबी का आपसी सम्बन्ध है और इससे प्रभावी ढंग से निपटने के लिए केन्द्र को राज्य सरकार से सलाह मश्विरे द्वारा बहु पक्षीय रणनीति तैयार करनी चाहिए। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने गांव माहूआना के मैरिट में आये पांच बच्चों को इस संस्था में मुफ्त प्रशिक्षण देने की घोषणा की।

पंजाब ने देश को दिखाई ऊर्जा उत्पादन की नई राह

डबवाली (लहू की लौ) गांव चन्नू में केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री डॉ. फारूक अब्दुल्ला ने कृषि कचरे से बिजली पैदा करने वाले14.5 मेगावाट बिजलीघर को देश को समर्पित किया। जिस पर 80 करोड़ रूपये की लागत आई है। यह प्लांट 400 मेगावाट बिजली उत्पादन करने वाले 29 बायोमास प्लांटों में तीसरा प्लांट है।
डॉ. फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि पंजाब ने नवीन ऊर्जा के क्षेत्र में प्राप्त की जा रही उपलब्धियों से उत्साहित होकर उनके मंत्रालय ने पंजाब के लिए 21 और ऐसे बिजलीघरों की स्वीकृति देने के साथ-साथ सौर ऊर्जा और छोटी पन तथा हवाई ऊर्जा प्रोजैक्टों को भी स्वीकृति दे दी है। उन्होंने कहा कि उनका मंत्रालय एक योजना के तहत पंजाब के किसानों को सौर और हवा ऊर्जा वाले टयूब्बैल मुहैया करवाने जा रहा है। जिसके लिए किसानों को मामूली लागत देनी होगी। उनके अनुसार यदि यह योजना सफल रही तो इससे सरकार द्वारा राज्य के किसानों को दी जा रही 3500 करोड़ रूपये की सबसिडी बचाई जा सकेगी।
इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि आगामी 18 महीनों में पंजाब भर में 29 ऐसे बिजलीघर ऊर्जा उत्पादन करना शुरू कर देंगे। उन्होंने कहा कि इस प्रकार का प्लांट अपने 30 किलोमीटर के घेरे में आने वाले किसानों से प्रतिवर्ष 30-40 करोड़ रूपये कीमत की कृषि कचरा खरीदेगा। उन्होंने कहा कि इन ऊर्जा घरों से चलने वाले कृषि उद्योग को 900 करोड़ रूपये का लाभ होगा।

19 फ़रवरी 2010

विदाई पार्टी में हंगामा

डबवाली (लहू की लौ) बाल मन्दिर सीनियर सैकेण्डरी स्कूल, किलियांवाली में बुधवार को विदाई पार्टी के दौरान जमकर हंगामा हुआ। विद्यालय के प्रिंसीपल ने जब हंगामा कर रहे विद्यार्थियों को रोकने का प्रयास किया तो विद्यार्थी उनसे भी उलझ गये।
प्राप्त जानकारी अनुसार विद्यालय में आज 11वीं के विद्यार्थियों द्वारा 12वीं के विद्यार्थियों को विदाई पार्टी दी जानी थी। इसी के अन्तर्गत विद्यार्थियों ने गाने-बजाने का प्रोग्राम रखा था। इसी दौरान कुछ विद्यार्थी अतिउत्साहित हो उठे। शोर होने के कारण विद्यालय की अन्य कक्षाएं प्रभावित होने लगी। जिस पर विद्यालय के प्रिंसीपल एस.एम. देवगुण ने विदाई पार्टी में शामिल विद्यार्थियों को शोर न करने की सलाह दी। इस पर विद्यार्थी तैश में आ गये और प्रिंसीपल को नियंत्रण स्थापित करने के लिए इन विद्यार्थियों को स्कूल से बाहर जाने के लिए कहना पड़ा।
कक्षा 11वीं के छात्र रजत, गौरव, परमजीत, मनीष, कर्ण, अमित, मनप्रीत, अभिमन्यु, साहिल आदि ने बताया कि उन्होंने प्रिंसीपल की अनुमति से प्रति छात्र लगभग 300 रूपये इक्ट्ठे किये थे, ताकि 12वीं के छात्रों को वे अच्छी विदाई पार्टी और गिफ्ट दे सकें। उनके अनुसार उनके पास करीब 45 हजार रूपये एकत्रित हुआ था। उन्होंने प्रिंसीपल से गाने-बजाने की भी अनुमति ले ली थी। आज 12वीं के विद्यार्थियों को वे विदाई पार्टी दे रहे थे और डीजे पर नाच-गा रहे थे। कुछ समय बाद प्रिंसीपल उनके पास आये और उन्हें कहने लगे कि वे ये शोर शराबा बन्द कर दें और अपने घरों में चले जायें।
इधर 12वीं कक्षा के छात्र मनरीत, तरूण, कर्ण, अमित, ईशान, हिमांशु, लोकेश, निखिल, करण गोयल, अमन, अक्षय, विनय आदि ने कहा कि विदाई पार्टी के दौरान गाना-बजाना चल रहा था कि अचानक प्रिंसीपल उनके पास आये और उन्हें कहने लगे कि अन्य कक्षाएं प्रभावित हो रही हैं। इसलिए अब वे नाच-गाना बन्द कर दें। उन्होंने कहा कि जब भी विदाई पार्टी होती है तो हमेशा स्कूल में अन्य विद्यार्थियों को छुट्टी रहती है, इस बार अन्य विद्यार्थियों को छुट्टी न होने से उपरोक्त मामला खड़ा हुआ। विद्यार्थियों ने आरोप लगाया कि 11वीं के विद्यार्थियों ने जो उन्हें उपहार दिये थे, उन्हें प्रिंसीपल ने छीनकर उनके मुंह पर मारे और धक्के देकर स्कूल से निकाल दिया।
इस संदर्भ में प्रिंसीपल एस.एम. देवगुण से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि बच्चों को आशीर्वाद देने के लिए सुबह हवन यज्ञ का आयोजन किया गया था और विद्यार्थियों के उत्साह को देखते हुए उन्हें दो घण्टे के लिए पार्टी करने की अनुमति भी दे दी गई थी। उनके अनुसार बच्चों ने दोपहर का प्रीति भोज कर लिया था और इसके बाद कुछ विद्यार्थी नाच रही लड़कियों में जा मिले। जिस पर उन्होंने एतराज किया। इससे छात्र उत्तेजित हो उठे। जिस पर उन्हें नियंत्रण करने के लिए निर्धारित समय से अधिक समय तक चल रही पार्टी पर रोक लगा दी। उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने किसी भी बच्चे के मुंह पर दिये गये गिफ्ट छीनकर नहीं मारे। बल्कि कुछ छात्र स्वयं ही आक्रोशित होकर 11वीं के विद्यार्थियों द्वारा दिये गये गिफ्ट तोडऩे लगे। विद्यालय में अनुशासन स्थापित करने के लिए उन्हें विद्यार्थियों को बाहर जाने के लिए कहना पड़ा।

जयपुर वन-डे पर आतंकी हमले का खतरा

- खुफिया एजेंसियों ने घड़साना में डेरा जमाया

- चार संदिग्ध व्यक्तियों से गहन पूछताछ
- घड़साना में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था
श्रीगंगानगर। देश की लगभग सभी प्रमुख खुफिया एजेंसियों के अधिकारियों व उनके अमले ने श्रीगंगानगर जिले में भारत-पाक सीमा पर स्थित घड़साना कस्बे में आज डेरा जमा दिया। इस कस्बे के एक युवक ने मोबाइल के जरिये एफएम रेडियो पर दो व्यक्तियों की बातचीत सुनी है, जिसमें भारत-दक्षिण अफ्रीका की क्रिकेट टीमों में 21 फरवरी को जयपुर के एसएमएस स्टेडियम में खेले जाने वाले वन-डे मैच के दौरान विस्फोट किये जाने के संकेत दिये गए हैं। इस युवक की सूचना पर केंद्र सरकार और राज्य सरकार की खुफिया एजेंसियां सक्रिय हो गईं। आज शाम दिल्ली से घड़साना पहुंची आधा दर्जन विशेषज्ञों की टीम ने एफएम की फ्रीक्वेंसी को पकडऩे के लिए उपकरण लगा दिये। इस मामले की जांच में सेना भी शामिल है। सेना के एक हैलीकॉप्टर ने आज घड़साना में चार-पांच बार निची उड़ान भरते हुए इस क्षेत्र में एफएम की फ्रीक्वेंसी को जांचने का काम किया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार घड़साना के एक युवक गगनदीप द्वारा आतंकियों की बातचीत को सुने जाने की जानकारी पुलिस को दिये जाने के बाद इस क्षेत्र से चार संदिग्ध व्यक्तियों को अलग-अलग स्थानों से पकड़ा गया है। इनमें से दो व्यक्ति आज तड़के घड़साना के निकट के एक चक से पकड़े गए, जिन्हें किसी अज्ञात स्थान पर ले जाकर पूछताछ की जा रही है। इससे पहले एक अन्य चक से दो व्यक्तियों को पकड़ा गया था। गगनदीप को लगभग 48 घंटे की पूछताछ के बाद आज उसे छोड़ दिया गया, लेकिन उसे हिदायत दी गई है कि बुलाये जाने पर उसे पूछताछ के लिए हाजिर होना होगा।

इस संवेदनशील मामले पर स्थानीय पुलिस के अधिकारी पूर्णत: गोपनीयता बरत रहे हैं। जांच पूरी तरह खुफिया एजेंसियों के हवाले है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि जब तक जांच का कोई निष्कर्ष नहीं निकलता, तब तक कोई बात यकीन से कहना उचित नहीं होगा। मीडिया से बातचीत करने में पुलिस अधिकारी कतरा रहे हैं और खुफिया एजेंसियों के अधिकारियों का कहना है कि वे अभी कुछ बताने की स्थिति में नहीं है।

दिल्ली से एक केंद्रीय खुफिया एजेंसी के आधा दर्जन अधिकारियों-विशेषज्ञों की एक टीम आज शाम करीब 5 बजे घड़साना पहुंची। यह टीम अपने साथ अनेक प्रकार के उपकरण लेकर आई है, जिसे थाना भवन में स्थापित किया गया है। सूत्रों के अनुसार इन उपकरणों के जरिये इस क्षेत्र में एफएम रेडियो की फ्रीक्वेंसी को जांचने का काम किया जाएगा। सूत्र बताते हैं कि लगभग 24 घंटे घड़साना क्षेत्र के आसमान में चल रहे हवाई संदेशों-प्रसारणों पर निगरानी रखी जाएगी। इस टीम के आने के बाद घड़साना में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। कस्बे में आने-जाने के मार्गों पर वाहनों की चैकिंग की जा रही है, विशेषकर जयपुर और दिल्ली जाने वाली बसों के यात्रियों के सामान को चैक किया जा रहा है। धर्मशालाओं, होटलों व अन्य धर्मस्थलों में ठहरे यात्रियों की चैकिंग की जा रही है। सूत्रों के अनुसार जयपुर से स्पेशल ऑप्रेशन गु्रप (एसओजी) और मुंबई से आतंकवादी विरोधी दस्ते (एटीएस) के भी घड़साना क्षेत्र में जांच के लिए आने की प्रबल संभावना है। जयपुर और दिल्ली से उच्चाधिकारियों ने स्थानीय प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों के साथ संपर्क बनाया हुआ है। उन्हें हर छोटी से छोटी बात की जानकारी लगातार दी जा रही है।

कोड वर्ड में हुई बातचीत

विश्वसनीय सूत्रों के अनुसार मंगलवार सुबह 10 बजे गगनदीप घड़साना में जब अपनी मोबाइल फोन रिपेयरिंग की दुकान पर एक मोबाइल फोन को ठीक करते समय उसकी एफएम फ्रीक्वेंसी को सैट कर रहा था, तब उसने दो जनों को आपस में बात करते सुना। इनमें एक व्यक्ति पंजाबी लहजे में बोल रहा था। बातचीत के दौरान कई शब्द कोड वर्ड में बोले गए। सूत्रों के अनुसार खुफिया एजेंसियां इस मामले को इसलिए बेहद गंभीरता से ले रही हैं, क्योंकि गगनदीप ने जिस बातचीत को सुना और उसमें जिन कोड वर्डों का इस्तेमाल हुआ, वे कोड वर्ड खुफिया एजेंसियों के पहले से जाने-पहचाने हैं। शुरू में जब यह मामला पुलिस और खुफिया एजेंसियों के पास आया, तब उन्हें गगनदीप की बातों पर विश्वास नहीं हुआ, लेकिन जब गगनदीप ने सुनी हुई पूरी बातचीत के एक-एक शब्द के बारे में बताया तो यह मामला गंभीर हो गया।

भरोसेमंद सूत्रों के मुताबिक बातचीत करने वाले कोड वर्ड में अपने किसी रूट के बारे में चर्चा कर रहे थे। यह रूट जीएसएन (घड़साना), बीकेआर (बीकानेर) और जेपीआर (जयपुर) बोला गया। यही नहीं इस बातचीत में दो-तीन बार 'जीटीÓ का जिक्र भी आया। जीटी से खुफिया एजेंसियों का तात्पर्य जयपुर के सबसे व्यस्तम शॉपिंग मॉल गोपाल टॉवर से है। कुछ इस तरह के कयास इस बातचीत से निकाले गए हैं कि आतंकवादी 21 फरवरी को जयपुर वन-डे के दिन अथवा उससे पहले किसी वाहन से रेडियेटर में विस्फोटक पदार्थ लगाकर कोई विस्फोट कर सकते हैं। सूत्र बताते हैं कि बातचीत में आरडीएक्स का भी जिक्र आया।

... तो रिकॉर्ड हो जाती बातचीत

घड़साना में यदि मंगलवार को सुबह विद्युत आपूर्ति बहाल होती तो शायद खुफिया एजेंसियों को ज्यादा कसरत नहीं करनी पड़ती। सूत्रों के अनुसार जिस समय गगनदीप ने एफएम फ्रीक्वेंसी पर दो जनों की बातचीत को सुना, वह उसी समय ही इस बातचीत की गंभीरता को समझ गया था। वह बातचीत को रिकॉर्ड करना चाहता था, लेकिन दुर्भाग्य से उस समय विद्युत आपूर्ति बंद थी, लेकिन उसने बातचीत के एक-एक शब्द को गौर से सुना। खुफिया एजेंसियों को इसलिए गगनदीप की बातों पर विश्वास करने में कुछ वक्त लगा। हालांकि अभी भी कुछ सूत्र यह कहने से परहेज कर रहे हैं कि गगनदीप की बातें पूर्णत: सत्य हैं। इसमें कुछ हेर-फेर अथवा असत्य तथ्य भी हो सकते हैं। पूरा एक दिन तो पुलिस व प्रशासन के अधिकारी गगनदीप की बातों पर विश्वास किया जाये या नहीं, इस पर माथा-पच्ची करते रहे। अभी भी पुलिस अधिकारी तब तक कुछ यकीन के साथ कहने को तैयार नहीं है, जब तक खुफिया एजेंसियों का कोई निष्कर्ष नहीं निकल आता।

जयपुर में सुरक्षा बढ़ाई

श्रीगंगानगर जिले में भारत-पाक सीमा पर स्थित घड़साना कस्बे में एफएम के जरिये सुनी गई इस बातचीत के बाद जयपुर में सुरक्षा व्यवस्था बेहद चाक-चौबद कर दी गई है। एसएमएस स्टेडियम को सुरक्षा घेरे में ले लिया गया है। इस स्टेडियम तक आने-जाने के सभी मार्गों पर तथा स्टेडियम के अंदर व बाहर सीसीटीवी कैमरों का जाल बिछा दिया गया है। सूत्रों के अनुसार जयपुर में पुलिस और प्रशासन के उच्चाधिकारियों ने एक उच्च स्तरीय बैठक कर सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की है। राज्य सरकार घड़साना में सुनी गई बातचीत को किसी भी तरह से हलके तौर पर लेने के मूड में नहीं है। राज्य सरकार ने इस बाबत केंद्र सरकार से भी संपर्क कायम किया है। इसी के चलते इस मामले की जांच में एटीएस मुंबई को शामिल किये जाने की संभावना है, जबकि सेना के एक हैलीकॉप्टर द्वारा आज घड़साना में बार-बार चक्कर लगाये जाने से कयास लगाये जा रहे हैं कि सेना भी इस क्षेत्र में सीमा पार के क्षेत्र से इस ओर आ रही एफएम की फ्रीक्वेंसी की जांच कर रही है।

श्रीगंगानगर में नहीं है एफएम

सामरिक महत्व और अति संवेदनशील सीमा क्षेत्र होने के कारण श्रीगंगानगर जिले में एफएम रेडियो की इजाजत नहीं है। इसके विपरीत बीकानेर जिले में एक-दो एफएम रेडियो चल रहे हैं, जबकि साथ लगते पंजाब में एफएम रेडियो के कई स्टेशन हैं। रात्रि 9-10 बजे के बाद किसी ऊंचाई वाले स्थान पर यदि मोबाइल फोन अथवा एफएम रेडियो को चलाया जाये तो कभी-कभार बीकानेर व पंजाब के रेडियो स्टेशनों की आवाजें सुनाई दे जाती हैं। श्रीगंगानगर जिले में एफएम रेडियो की अनुमति अभी तक किसी को नहीं मिली है। बताया जाता है कि केंद्रीय गृह मंत्रालय इसकी इजाजत देने को उचित नहीं मानता। एफएम के लिए कई लोगों ने प्रयास किये, लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिलती। पिछले महीने श्रीगंगानगर शहर के लोग तब हैरान रह गए, जब उनके मोबाइल फोनों मेें एफएम रेडियो स्टेशन लगने लगा। दो-तीन स्टेशन कैच हो रहे थे, लेकिन तीन-चार दिन बाद यह सब कुछ बंद हो गया। बताया जाता है कि इस क्षेत्र में एफएम रेडियो के लिए कथित रूप से परीक्षण किया गया था। बावजूद इसके अब घड़साना में एफएम कैसे सुनाई दिया, इसे जानने के साथ-साथ पुन: ऐसी किसी बातचीत को सुनने-पकडऩे के लिए खुफिया एजेंसियों ने अपने पूरे साजो-सामान के साथ वहां डेरा डाला है।

16 फ़रवरी 2010

आय से अधिक सम्पत्ति के मामले में अभय चौटाला को सीबीआई अदालत के सम्मन जारी

नई दिल्ली (लहू की लौ) दिल्ली की एक अदालत ने आय से अधिक संपत्ति के एक मामले में पेश न होने पर ऐलनाबाद के विधायक अभय सिंह चौटाला के खिलाफ आज जमानती वारंट जारी किया। विशेष सीबीआई न्यायाधीश पीएस तेजी ने इंडियन नेशनल लोकदल के विधायक चौटाला को 22 फरवरी को अदालत में पेश होने का निर्देश दिया। अदालत ने चौटाला के खिलाफ यह कदम तब उठाया जब सीबीआई अभियोजक एके दत्त ने अदालत से कहा कि उनके प्रयासों के बावजूद नेता के खिलाफ जारी सम्मन का पालन नहीं हो सका।
अदालत ने सीबीआई द्वारा दायर आरोप पत्र के बाद अभय चैटाला, उनके भाई अजय चौटाला और अन्य के खिलाफ दो फरवरी को सम्मन जारी किए थे। इस बीच अदालत में पेश होने वाले हरियाणा के विधायक अजय चौटाला और सह अभियुक्त चेतराम, अेमप्रकाश, अभिमन्यु सिंह, राजेंद्र कुमार और नेतराम को अंतरिम जमानत प्रदान कर दी गई। अदालत ने अगली कार्यवाही के लिए मामला 22 फरवरी तक के लिए स्थगित कर दिया। सीबीआई ने 24 दिसंबर को हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के दोनों बेटों अभय और अजय के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया था।
अजय के खिलाफ जारी आरोप पत्र में सीबीआई ने दावा किया है कि उनके पास 27.74 करोड़ रुपए की संपत्ति है जो 1993 से 2006 तक उनकी आय 8.17 करोड़ रुपए से अधिक है। अभय चैटाला के खिलाफ आरोप पत्र में दावा किया गया है कि आयकर विभाग के रिकार्ड के अनुसार उनके पास 2000 से 2005 के दौरान उनकी आय 22.89 करोड़ रुपए से अधिक संपत्ति थी। सीबीआई ने प्राथमिकी में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला का नाम भी अभियुक्त के रूप में लिया था लेकिन आवश्यक स्वीकृति के अभाव में आरोप पत्र दायर नहीं कर सकी। जांच एजेंसी ने अप्रैल 2006 में मामला दर्ज किया था और चौटाला परिवार के दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, और चंडीगढ़ में स्थित 24 परिसरों पर छापे मारे थे। इस दौरान 13 लाख रुपए जब्त किए गए और 1.34 करोड़ रुपए वाले पांच बैंक खाते फ्रीज किए गए। सीबीआई ने चौटाला और उनके परिवार से संबंधित चल-अचल संपत्ति का ब्यौरा प्राथमिकी में दर्ज किया जो जुलाई 1999 से मार्च 2005 में अर्जित की गई थी। प्राथमिकी के अनुसार चौटाला और उनके परिवार के सदस्यों के गुडग़ांव, हरियाणा, दिल्ली के करोल बाग, हिमाचल प्रदेश के मनाली, उत्तराखंड के नैनीताल और चंडीगढ़ की पाश जगहों पर प्लाट हैं। इसके अतिरिक्त करोल बाग में एक होटल और एक रेस्तरां, एक शापिंग माल, कृषि भूमि के छह प्लाट, छह फार्म हाउस और 50 करोड़ रुपए मूल्य की नकदी तथा आभूषण है।

डबवाली से गांव नुहियांवाली गई ऑर्केस्ट्रा डांसर से बलात्कार

औढ़ां (जितेन्द्र गर्ग) खण्ड के गांव नुहियांवाली के खेतों में आर्केस्ट्रा के बहाने लाई गई लड़की के साथ छेड़छाड़ व बलात्कार करने का मामला प्रकाश में आया है। औढ़ां पुलिस ने रिंकू उर्फ रानी देवी निवासी नजदीक पंजाब पैलेस डबवाली की शिकायत पर सात युवकों के खिलाफ धारा 342, 366, 376, 511, 354 व 34 आइपीसी के तहत मामला दर्ज कर लिया है।
रानी देवी ने अपने बयान में बताया कि वो आर्केस्ट्रा का काम करती है और कल शाम जीवन राम गोरीवाला व सीरा सिंह मिस्त्री जण्डवाला उसे आर्केस्ट्रा करने हेतु डबवाली से 2 हजार रुपए में करके लाए। नुहियांवाली पहुंचकर जब वे उसे खेतों की ओर ले जाने लगे तो उसके एतराज जताने पर उन्होंने कहा कि कार्यक्रम एक ढाणी में रखा गया है तथा उसे एक नलकूप पर ले गए जहां उनके अन्य 5 साथी जंडवाला निवासी सीरा सिंह व हरविंद्र सिंह एवं नुहियांवाली निवासी सुभाषचंद, राजीव कुमार व संदीप कुमार पहले से मौजूद थे। वहां पहुंचकर उन्होंने उसे उन पांचों के हवाले कर दिया तथा सभी की सहमति से हरविंद्र सिंह ने उसके साथ कुकर्म किया। स्वयं को असहाय पाकर उसने बहाना किया कि उसे शौच जाना है और नग्न अवस्था में अपने ऊपर चादर ओढ़कर वो सरसों के खेत में चली गई तथा आंख बचाकर वहां से भाग निकली। गांव नुहियांवाली में पहुंचकर उसने एक घर का दरवाजा खटखटाया और घर वालों ने उसकी दशा को देखते हुए उसे पहनने को कपड़े दिए तथा सरपंच रामकुमार नेहरा व ओढ़ां पुलिस को सूचित कर दिया।
सूचना मिलते ही ओढ़ां थाना प्रभारी हीरा सिंह मौके पर पहुंचे और रानी देवी को ओढ़ां थाना में लाकर पूछताछ की। हीरा सिंह ने बताया कि लड़की को मेडिकल हेतु सिरसा भेज दिया है और उन सातों के घरों पर छापा मारा गया है लेकिन वे घर पर नहीं मिले। उन्होंने कहा कि सातों आरोपी युवकों को शीघ्र ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

भड़के मनरेगा मजदूर

डबवाली (लहू की लौ) गांव मसीतां में मनरेगा के तहत काम कर रहे 780 मजदूरों ने आज अपनी मांगों को लेकर बीडीपीओ कार्यालय पर प्रदर्शन किया और धरना दिया। इस प्रदर्शन का नेतृत्व किसान सभा हल्का डबवाली के प्रधान मनदीप सिंह तथा खेत मजदूर सभा के सन्त राम कर रहे थे।
मनरेगा मजदूर नरेश कुमार, कर्म सिंह, गुरलाल, सुखपाल सिंह, दर्शन सिंह, गुरमेल कौर, बलजीत कौर, चरणजीत कौर, नसीब कौर आदि ने आरोप लगाया कि गांव मसीतां में एक सप्ताह पूर्व जंगल क्लीयरेंस और गडडे खोदने का काम शुरू हुआ था और इस दौरान पंचायत की ओर से 780 मजदूरों को रखा गया था। लेकिन जब मनरेगा के तहत मजदूरी देने का समय आया तो उन्हें दिहाड़ी के अनुसार पेगार नहीं दी गई। जिन्होंने चार दिन काम किया था, उन्हें दो दिन का और जिन्होंने दो दिन काम किया था उन्हें एक दिन का, जिन्होंने एक दिन काम किया था उन्हें मनरेगा के तहत कुछ भी नहीं दिया गया। बल्कि चार दिन काम चलाने के बाद काम को पंचायत ने वहीं रोक दिया।
इन मजदूरों के अनुसार उनसे जितने दिन काम करवाया गया है, उतने दिन की दिहाड़ी दी जाये और साथ में बन्द पड़े काम को फिर से चलाकर उन्हें रोजगार दिया जाये। इन मजदूरों ने हरियाणा सरकार, बीडीपीओ के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की।
मौका पर उपस्थित बीडीपीओ राम सिंह से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि पंचायत सचिव बनवारी लाल तथा जेई हंसराज द्वारा उनके समक्ष जो रिपोर्ट प्रस्तुत की गई है, उसमें माप के बाद 396 गड्डे खोदे दिखाये गये हैं, वे भी 780 मजदूरों द्वारा। बीडीपीओ ने आगे बताया कि सम्बन्धित मजदूर दिहाड़ी के अनुसार राशि मांग रहे हैं, लेकिन उनको राशि मनरेगा के नियमानुसार दी जा रही है। उनके अनुसार 1 लाख 77 हजार रूपये की राशि पंचायत के खाता में जमा करवाई जा चुकी है। उन्होंने इस बात को स्वीकार किया कि तीन दिन से काम बन्द है। उन्होंने मजदूरों को आश्वासन दिया कि वे विभाग के जेई परमिन्द्र सिंह से किये गये काम की पेमाईश करवाकर जितनी राशि बनेगी, वे अदा करवा देंगे।

पत्नी की मौत के बाद पति ने जहर घटका

डबवाली (लहू की लौ) तीन दिन पूर्व घरेलू कलह के चलते चूहे मार दवा घटकने वाली महिला की डबवाली के सिविल अस्पताल में मौत हो गई और इस मौत की खबर सुनकर उसके पति ने भी जहरीला पदार्थ निगल लिया।
प्राप्त जानकारी अनुसार मण्डी किलियांवाली निवासी पूनम पत्नी नीटू ने घरेलू कलह के चलते शनिवार को चूहे मारने वाली दवा खा ली थी। इसकी जानकारी मिलते ही नीटू ने उसे एक प्राईवेट अस्पताल में दाखिल करवा दिया। लेकिन उसकी हालत बिगड़ती देखकर पूनम के मामा ने प्राईवेट अस्पताल से उसे डबवाली के सिविल अस्पताल पहुंचाकर सोमवार को इलाज के लिए दाखिल करवा दिया। लेकिन दवा के प्रभाव को सहन न करते हुए आज सुबह ही पूनम ने दम तोड़ दिया।
जैसे ही पूनम के पति नीटू को पता चला कि पूनम ने दम तोड़ दिया है, तो उसने भी जहरीला पदार्थ निगल लिया और उसे गंभीर हालत में एक प्राईवेट अस्पताल में इलाज के लिए लेजाया गया। पंजाब पुलिस ने पूनम के शव को अपने कब्जे में ले लिया। समाचार लिखे जाने तक पूनम के माता-पिता अस्पताल नहीं पहुंचे थे।

अनेक रेलगाडिय़ां रद्द होंगी, कईयों के मार्ग बदलेंगे

डबवाली (लहू की लौ) भटिंडा जंक्शन पर नई सिग्नल प्रणाली स्थापित किये जाने का कार्य अंतिम चरण में पहुंच गया है। इस प्रणाली को स्थापित किये जाने के दौरान इस जंक्शन से आने-जाने वाली 13 रेलगाडिय़ों को एक पखवाड़े के लिए रद्द किया जाएगा, जबकि 23 रेलगाडिय़ों के मार्ग परिवर्तित कर दिये जाएंगे। इस कार्य से श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ और बीकानेर से भटिंडा होकर आने-जाने वाली अनेक रेलगाडिय़ां प्रभावित होंगी।
रेलवे सूत्रों के अनुसार भटिंडा रेलवे स्टेशन पर रूट रिले इंटरलोकिंग (आरआरआई) सिग्नल प्रणाली को स्थापित किये जाने के साथ कई और सुधारात्मक कार्य अन्तिम चरण में पहुंच गए हैं। आरआरआई सिस्टम लग जाने से भटिंडा स्टेशन से चलने वाली गाडिय़ों की लेट-लतीफी पर अंकुश लगेगा, लेकिन इस सिस्टम को लगाने के लिए कई दिन कार्य चलेगा। इसलिए रेलवे अथोरिटी ने रेलगाडिय़ों को रद्द करने और उनके मार्ग परिवर्तित करने का निर्णय लिया है।
रेलवे सूत्रों के अनुसार भठिंडा स्टेशन पर आरआरआई के अलावा पुराने सिग्नल कैबिन की जगह नये कैबिन बनाये जायेंगे। रेलवे यार्ड की हालत सुधारी जाएगी। इसके साथ अन्य सेवाओं के आवश्यक रखरखाव के कार्य भी होंगे। सूत्रों ने बताया कि जिन 13 रेलगाडिय़ों को रद्द किया जा रहा है, उनमें एक बीडी धूरी-भठिंडा, एक एसएचबी भठिंडा-श्रीगंगानगर, चार एसएचबी श्रीगंगानगर-भठिंडा, दो एसएचबी श्रीगंगानगर-भठिंडा, तीन एसएचबी भठिंडा-श्रीगंगानगर, 345 जींद-फिरोजपुर, 346 फिरोजपुर-जींद, 341 दिल्ली-फिरोजपुर, 342 फिरोजपुर-दिल्ली, 343 जींद-हिसार, 344 हिसार-जींद, एक आरबी भठिंडा-रेवाड़ी और दो आरबी रेवाड़ी-भठिंडा शामिल हैं।
इसके अलावा जिन रेलगाडिय़ों के मार्ग परिवर्तित किये जा रहे हैं। उनमें 5609/56010 गुवहाटी-लालगढ़ (बीकानेर) एक्सप्रेस मुख्य रूप से शामिल हैं। 8 से 20 मार्च के दौरान यह एक्सप्रेस भठिंडा रेलवे स्टेशन के बजाय भठिंडा के समीप करतारसिंहवाला हाल्ट स्टेशन से होकर आया-जाया करेगी। रेलवे अर्थोटी ने इसके लिए भठिंडा प्रशासन से करतारसिंहवाला स्टेशन पर यात्रियों को लाने-ले जाने के लिए परिवहन की विशेष व्यवस्था करने का आग्रह किया है। इसी तरह 4887/4888 बाड़मेर-हरिद्वार/कालका एक्सप्रेस भी करतारसिंहवाला स्टेशन पर रूककर आया-जाया करेगी।
रेलवे सूत्रों के अनुसार अन्य प्रभावित होने वाली 19 रेलगाडिय़ों में- 4731-4732 दिल्ली-भठिंडा एक्सप्रेस शामिल हैं, जोकि उक्त अवधि के दौरान भठिंडा की बजाय धूरी से दिल्ली तक आया-जाया करेगी। इसी तरह 4 यूबी भठिंडा-अंबाला ट्रेन अंबाला-धूरी तक चलेगी। 4519/4520 किसान एक्सप्रेस दिल्ली-भठिंडा की बजाय दिल्ली-सिरसा तक चलेगी। 9225-9226 भठिंडा-जम्मूतवी एक्सप्रेस जम्मू-फिरोजपुर तक, 1 एफकेबी, 2 एफकेबी, 3 एफकेबी और 4 एफकेबी भठिंडा-फाजिल्का सवारी रेलगाडिय़ां फाजिल्का-कोटकपूरा तक चलेंगी। इसी तरह 2 एफबी/3 एफबी भठिंडा-फिरोजपुर का आवागमन फिरोजपुर-कोटकपूरा तक रहेगा। 1 बीएसबी/2 बीएसबी सूरतगढ़-भठिंडा रेलगाड़ी सूरतगढ़ से हनुमानगढ़ तक ही चला करेगी। 338/337 लालगढ़ (बीकानेर)-अबोहर पैसेंजर ट्रेन को हनुमानगढ़ तक ही आया-जाया करेगी। 339/340 अबोहर-बीकानेर-जोधपुर सवारी रेलगाड़ी हनुमानगढ़ से ही जोधपुर के बीच चला करेगी।

चौटाला मेरा अपना गांव-मुन्ना भाई

डबवाली (लहू की लौ) ....बेशक मैंने चौटाला गांव की ऐतिहासिक धरा पर जन्म न लिया हो, पर मैं भी चौटाला परिवार का सदस्य हूं। चौटाला गांव मेरा अपना गांव हैं और यहां के लोग ताऊ- चाचा व भाई-बहनें हैं। गांव में पहुंचने पर जो प्यार, स्नेह व आर्शीवाद मिला है, उसे मैं जीवन भर नहीं भूला पाउंगा। ये भावुक शब्द सीने जगत के सुप्रसिद्ध अभिनेता संजय दत्त उर्फ मुन्ना भाई ने कहे। वे रविवार को यहां ऐलनाबाद हलके की जनता के धन्यवादी दौरे के बाद सांय इनेलो महासचिव अजय सिंह चौटाला व विधायक अभय सिंह चौटाला के पैतृक गांव चौटाला में बोल रहे थे। गांव में पहुंचने पर मुन्ना भाई का चौटाला वासियों ने अपने ही अदंाज में भव्य स्वागत किया।
ज्यों ही आज दोपहर फिल्म अभिनेता संजयदत्त के गांव में आने की खबर पहुंची, त्यों ही गांव में उत्सव सा माहौल हो गया और लोग का जोश व उत्साह सातवें आसमान पर था। सांझ तक गांववासी संजयदत्त के गर्मजोशी से स्वागत की तैयारियों मेें लगे रहे। यहां बताते चलें कि सीने अभिनेता संजयदत्त का चौटाला गांव में आने का कार्यक्रम पूर्व निर्धारित नहीं था परन्तु संजय दत्त ने आज दोपहर स्वयं ने पूर्व उपप्रधानमंत्री व किसानों के मसीहा रहे स्वर्गीय देवीलाल के गांव चौटाला में आने की इच्छा व्यक्त की थी।
अजय सिंह चौटाला व अभय सिंह चौटाला के साथ सीने अभिनेता संजयदत्त गांव में करीब सायं साढ़े छह बजे पहुंचे परन्त गांव वासी चार बजे से ही मुन्ना भाई के स्वागत में गलियों में कतारबद्ध थेे। गांव की मेहमानवाजी देखकर संजय दत्त से रहा नहीं गया और उन्होंने कहा कि मैं यहां मेहमान नहीं हूं बल्कि मैं भी आपका भाई और बेटा हूं और चौटाला परिवार का सदस्य होने के नाते, चौटाला मेरा अपना गांव है। मैं चौधरी देवीलाल की इस पावन भूमि को शत्-शत् नमन क रता हूं।
उन्होंने ठेठ हरियाणावीं अंदाज में राम-राम कह कर गांववासियों का अभिवादन स्वीकर किया। फिल्म अभिनेता ने कांग्रेसियों पर कटाक्ष करते कहा कि इस उपचुनाव में अभय सिंह चौटाला की जीत के बाद बहुरूपिये दिखार्ई नहीं दे रहे हैं।
इससे पहले विधायक अजय सिंह चौटाला व अभय सिंह चौटाला ने गांव में पहुंचने पर संजयदत्त का अभिनंदन किया। अजय सिंह चौटाला व अभय सिंह चौटाला ने कहा कि यह हमारा सौभाग्य है कि भाई संजय दत्त चौटाला गांव में आए हैं। इस अवसर पर विधायक कृष्ण कंबोज, अभय सिंह चौटाला के सुपुत्र अर्जुन चौटाला, राजेश गोदारा, मीनू बराड़, प्रदीप सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

आजकल स्कूल, स्कूल कम रिसोर्ट अधिक बन गये हैं--जगजीत सिंह

आजकल स्कूल, स्कूल कम और रिसोर्ट अधिक बन गये हैं। रिसोर्ट महज क्षणिक खुशी देने या समय बिताने का साधन होते हैं, ना कि शिक्षा देकर जीवन बनाने या जीवन लक्ष्य निर्धारित करने के। मैं विद्यालय, स्कूल के आधुनिकीकरण के पक्ष में तो हूं लेकिन राग विलास के स्त्रोत बनाने के विरोध में। हम जिन स्कूलों, कॉलेजों में पढ़कर आये, वहां का फर्नीचर, मैदान, पुस्तकालय आदि वहीं छोड़कर आये। बस वहां से ज्ञान और डिग्रीयां ही हमारे साथ आई। यही विद्यार्थियों की निजी पूंजी होती है। स्कूलों को आधुनिक बनाते समय बच्चों के मनोविज्ञान व कार्यक्षमता का भी ध्यान रखना चाहिए।
बच्चों के आयुवर्ग के अनुसार कार्य लेना होता है, ताकि वे तनाव मुक्त भी रहें और स्तरीय शिक्षा भी प्राप्त करते रहें। आजकल बच्चों को स्कूल,स्कूल कम लगते हैं, जेल ज्यादा। वे अध्यापकों को अपना मार्गदर्शक न मानकर विरोधी समझते हैं। मैं पिछले तेरह सालों से शिक्षा के क्षेत्र में हूं। मैने भारत के अलग-अलग आधुनिक व पिछड़े हुए भागों में पढ़ाया है। मुझे अनुभव हुआ कि विद्यार्थियों को हम अध्यापक के समान या कभी कभार अधिक महत्व देते हैं। जोकि अनुचित सिद्ध होता है। बाल बुद्धि अभी मैच्चौर नहीं हुई होती तो उनके अनुसार स्कूलों के कार्य करने की शैली/ढंग तरीके बदलने के कुपरिणाम सामने आते रहे हैं, और यदि हम आधुनिकता के आवरण में उनकी अपरिपक्व इच्छाओं को पूरा करने के लिए लचीलापन लाते गये तो निश्चित रूप से एक दिन शिक्षा संज्ञाहीन व परिणाम हीन हो जायेगी।
शिक्षा कभी मंहगी नहीं होती और न ही शिक्षक मंहगे होते हैं। लेकिन कुछ प्रबंधक सहुलियतों के नाम तले स्कूलों को रिसार्टस की भांति हाई रेटिड या हाई गेडिड बना लेते हैं। स्कूलों से लाभ कमाना कतई अनुचित नहीं है। लेकिन मां बाप का शोषण करना अमानवीय है। अपने स्कूलों को समृद्ध बनाने के लिए सुविधा के अनुसार वार्षिक खर्चो में बढ़ौतरी करना बुरा नहीं होता। परन्तु 100 रूपये की सुविधा देकर 2000 रूपये की वसूली तो अंडरवल्र्ड की फिरौती जैसी लगती है। मेरे नजरिये में सारी भाषायें सम्मानीय हैं, अंग्रेजी भाषा चूंकि अन्तर्राष्ट्रीय बन गई है तो इसका प्रभाव व महत्व बढ़ गया है। लेकिन क्या मैथ, साईंस, सोशल साईंस विषय महत्वहीन हो गये हैं? नहीं। जैसे सभी अंग पूरे हों, तभी शरीर सही कार्य करता है, उसी प्रकार सभी विषय एक जैसे ही महत्वपूर्ण हैं और उनका पूरा अध्ययन करना ही संपूर्ण शिक्षा है।
बच्चों के संपूर्ण विकास के लिए अंग्रेजी भी उतनी सहायक, जितनी मातृ भाषायें।
विद्यार्थियों पर अपनी अत्याधिक अपेक्षायें लादकर हम उन्हें गधे बनाने पर तुले हुए हैँ। क्या ऐसा नहीं है? हम सभी जानते हैं कि बाप ने न मारा तीर, बेटा तीरदाज। जो हम न बन सके, अपने बच्चों को जबरन वही बनाना चाहते हैं, भले उसमें वो स्टेमिना और इच्छा शक्ति न हो।
नहीं, पूर्ण शिक्षा तो सर्वप्रथम स्वस्थ मानव बनाती है और स्वस्थ मानव ही सफल डाक्टर, पत्रकार, इंजीनियर, दुकानदार, वकील, सामाजिक कार्यकर्ता, संपादक बनता है। स्वस्थ व संतुलित माहौल में पढ़े, बढ़े बच्चे ही समाज को संवारत, संभालते है।
मैं इसी तरह का तनाव रहित वातावरण दे रहा हूं, अपने स्कूल केअर वैल इन्टरनैशनल में हम बच्चों को कम्पीटिशन तो दे रहे हैं लेकिन पहली पोजीशन वाले बच्चे से नहीं, बल्कि अपनी पोजीशन से। सैल्फ कम्पीटिशन के सुधारवादी स्वस्थ कम्पीटिशन की सोच से।
साल के शुरू में बच्चे की अपनी परफारमेंस क्या थी। और साल भर उसने सीखने में क्या ग्रोथ की। यही ढंग है, तनावरहित शिक्षा वातावरण का।
गुलाब का फूल कभी नहीं कहता कि उसे गेंदा, चमेली होना है, खरगोश कभी नहीं कहता कि उसे हाथी होना है। फिर मनुष्य क्यों किसी और जैसा होने में अपने बच्चों की मौलिक प्रतिभा को मार रहा है। मैं अपने सभी विद्यार्थियों को अपने जैसा बने रहकर तनाव रहित स्वस्थ शैक्षिक माहौल दे रहा हूं। आओ।़ इस सृजनशीलता में अपने बच्चों को हमारे साथ स्वस्थ वातावरण में पढऩे बढऩे का अवसर दें।
-जगजीत सिंह
प्रिंसीपल/चेयरमैन
केअरवैल इंटरनैशनल स्कूल
मलोट रोड़, ख्योवाली।

13 फ़रवरी 2010

सड़क हादसे में एनआरआई सहित दो की मौत

डबवाली (लहू की लौ) गांव बिज्जूवाली के पास एक कार और ट्रेक्टर की टक्कर हो जाने से कार में सवार पांच लोगों में से एनआरआई युवक सहित दो की मौत हो गई। घायलों को इलाज के लिए डबवाली के सिविल अस्पताल में ले जाया गया।
प्राप्त जानकारी अनुसार सन्त नगर निवासी सुखदेव सिंह का परिवार शुक्रवार सुबह डबवाली में एक शोक समारोह में भाग लेने के लिए आया था और दोपहर बाद वापिस सन्त नगर लौट रहा था कि गांव बिज्जूवाली के पास एक ट्रेक्टर ने कार में टक्कर मारी और कार को बुरी तरह से क्षतिग्रस्त करके ट्रेक्टर चालक मौका से फरार हो गया।
संयोग से ऐलनाबाद से डबवाली आ रहे डबवाली निवासी मलूक सिंह तथा सुरेश कड़वासरा ने देखा कि एक कार दुर्घटनाग्रस्त हुए पड़ी है और लोग उसे देख कर जा रहे हैं। लेकिन मानवता का परिचय देते हुए इन लोगों ने घायलों को उठाया और अपनी जिप्सी में डाल कर डबवाली ले आये। डबवाली आकर छिन्दा नामक युवक को मृत घोषित कर दिया गया। बताया जाता है कि छिन्दा हाल ही में इंग्लैंड से अपने गांव सन्तनगर आया था और बैसाखी के बाद उसने वापिस लौटना था। मृतक की बहन बलवीर कौर, मनजीत कौर का इलाज शुरू कर दिया गया।
मलूक सिंह ने बताया कि वहां पर एक अन्य महिला मृत पड़ी थी जिसकी पहचान मृतक छिन्दा उर्फ लाल सिंह की एक अन्य बहन भोली के रूप में हुई है। जबकि इस दुर्घटना में भोली का पति सुखदेव सिंह बाल-बाल बच गया।

वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह आयोजित

औढ़ां (जितेन्द्र गर्ग) दशमेश सीनियर सेंकडरी स्कूल चोरमार में वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह का आयोजन किया गया। दशमेश एजूकेशन सोसाइटी के प्रधान बाबा कर्म सिंह की अध्यक्षता में आयोजित इस समारोह में मुख्यातिथि के रूप में अतिरिक्त उपायुक्त जे गणेशन एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में पूर्व खंड शिक्षा अधिकारी राम सिंह चहल व सरपंच जितेंद्र सिंह उपस्थित हुए। इस अवसर पर मुख्यातिथि ने अपने संबोधन में ग्रामीण आंचल में शिक्षा के प्रसार पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि अन्य ग्रामीण क्षेत्रों में भी आधुनिक शिक्षा पद्धति के विकास की आवश्यकता है ताकि ग्रामीणा प्रतिभाओं को खुलकर प्रकाश में आने का मौका मिल सके। उन्होंने बाबा कर्म सिंह को बधाई देते हुए कहा कि धार्मिक आयोजनों के साथ साथ शिक्षा के क्षेत्र में उनका योगदान सराहनीय है।

इस अवसर पर विद्यार्थियों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम के तहत गीत, संगीत, नृत्य, भंगड़ा, गिद्दा व समूहगान प्रस्तुत करके सभी का मन मोह लिया। तर्कशील सोसाइटी के मास्टर सुरेंपाल सिंह व मास्टर अजायब सिंह ने जादू के अनेक ट्रिक दिखाकर अंधविश्वासों को त्यागने की अपील की। स्कूल के प्राचार्य हरदेव सिंह ने स्कूल की वार्षिक रिपोर्ट पढकर सुनाई और सचिव डाक्टर बलबीर सिंह व प्रबंधक तेजा सिंह ने अतिथियों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर कक्षा पहली से बारहवीं तक के प्रथम व द्वितीय आने वाले विद्यार्थियों को प्रमाणपत्र व पुरस्कार देकर सम्मानित किया। इस मौके पर ओढ़ां के सरपंच दर्शन सिंह मलकाना, प्राध्यापक सुखमंद्र सिंह, प्राथमिक पाठशाला की मुख्याध्यापिका मनजीत कौर, गुलाब सिंह, रवींद्र सिंह, बीरपाल सिंह व मास्टर शमशेर सिंह सहित अनेक गणमान्य नागरिक, अभिभावक व स्टाफ सदस्य उपस्थित थे।

वैष्णों माता मन्दिर में शिवलिंग की स्थापना

डबवाली (लहू की लौ) यहां के श्री वैष्णों माता मन्दिर में महाशिवरात्रि के पावन अवसर पर भगवान शिव के अद्वितीय स्वरूप श्री शिवलिंग की प्राण प्रतिष्ठा विधि विधान के अनुसार वीरवार को सम्पन्न हुई। इसके बाद हवन यज्ञ हुआ और अटूट भण्डारा बरता।
यह जानकारी देते हुए मन्दिर प्रबन्धक कमेटी के प्रधान डिम्पल सिंगला ने बताया कि पं. केशव शास्त्री के सानिध्य में हवन यज्ञ में मन्दिर प्रबन्धक कमेटी के सदस्य और डबवाली नगर के गणमान्य व्यक्तिों ने आहुति डालकर भगवान शिव का आशीर्वाद प्राप्त किया। इस अवसर पर राजकुमार सिंगला घोटू, तरसेम जिन्दल, डॉ. जीडी जिन्दल, ओंकार मल गोयल, हेमराज जिन्दल, तेलू राम बांसल, जवाहर लाल जग्गा, राजू सेठी, प्रीतम बांसल, गंगा बिशन गोयल एडवोकेट, रामलाल बागड़ी, रतन लाल, प्रशोत्तम जिन्दल, रमेश जिन्दल, नरेश जिन्दल, बबलू जिन्दल, ज्ञान चन्द, देसराज बाबा, रामसहाय शर्मा आदि उपस्थित थे।
जय श्री सिद्वेश्वरी महाकाली माता मन्दिर, जस्सी बागवाली में भी लालजी शास्त्री के सानिध्य में शिव परिवार की मूर्ति की स्थापना बड़ी धूमधाम से की गई।

पेट्रोल व डीजल का भंडारण करते रंगे हाथों पकड़ा

डबवाली (लहू की लौ) सीआईए सिरसा पुलिस ने गांव बड़ागुढ़ा क्षेत्र से तीन लोगों को अवैध रूप से पेट्रोल व डीजल का भंडारण करते रंगे हाथों पकड़ा है। ये लोग गांव में मिनी पैट्रोल पम्प चला रहे थे। काबू किए गए तीनों आरोपियों के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत अभियोग दर्ज किया है। सीआईए सिरसा पुलिस को गुप्ता सूचना मिली कि बड़ागुढ़ा क्षेत्र में रघुआना निवासी अशोक, कुलदीप व बड़ागुढ़ा का अर्जुन गांव में लोगों को अवैध रूप से डीजल व पैट्रोल बेचता है। गांववासियों को पैट्रोल व डीजल लेने के लिए शहर की ओर रूख न करना पड़े, इसके लिए तीनों ने भारी मात्रा में तेल का स्टॉक जमा कर रखा है। सूचना मिलते ही सीआईए स्टाफ के कर्मचारी हरकत में आ गए। एक टीम गठित कर बताए गए स्थान पर छापा मार गया। इस छापे में अर्जुन को 439 लीटर डीजल, 25 लीटर पैट्रोल के साथ पकड़ा गया जबकि अशोक के कब्जे से 20 लीटर पैट्रोल व कुलदीप के कब्जे से 60 लीटर डीजल व 40 लीटर पैट्रोल बरामद हुआ। तीनों आरोपियों को मौके पर ही गिरफ्तार कर लिया गया।
60 लीटर मिलावटी डीजल सहित एक काबू
औढ़ां (जितेन्द्र गर्ग) ओढ़ां पुलिस ने 60 लीटर मिलावटी डीजल सहित एक व्यक्ति को गिरफ्तार करके अदालत में पेश कर दिया है। यह जानकारी देते हुए थाना प्रभारी हीरा सिंह ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर उन्होंने खाद्य आपूर्ति विभाग के इंस्पैक्टर नरेंद्र सरदाना के साथ जीटी रोड़ पन्नीवाला मोटा के नजदीक एक ढाबे में छापा मारा और वहां पर एक ड्रम में रखा मिलावटी डीजल बरामद किया और डीजल सहित सुरेंद्र सिंह पुत्र धर्मबीर निवासी रोहिडांवाली को गिरफ्तार करके हेराफेरी एवं आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया।

मुख्यमंत्री जाएंगे जनता चौपाल

डबवाली (लहू की लौ) हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डïा 15 मार्च के बाद ''जनता चौपालÓÓ और ''कार्यकर्ता मिलनÓÓ नामक अनूठे जनसम्पर्क कार्यक्रम शुरू करने जा रहे हैं।
यह जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार प्रो. विरेन्द्र ने बताया कि इन कार्यक्रमों के पीछे मुख्यमंत्री की यह सोच है कि कांग्रेस पार्टी की आम आदमी की भलाई की नीतियों पर चलते हुए प्रदेश के विकास में और अधिक तेजी लाना, स्वच्छ एवं पारदर्शी प्रशासन प्रदान करना, लोगों की समस्याओं के तत्काल समाधान तंत्र को और अधिक मजबूत बनाना तथा कांग्रेस कार्यकर्ताओं की विकास प्रक्रिया में अधिक से अधिक भागीदारी सुनिश्चित करना है। उन्होंने कहा कि जनता चौपाल के माध्यम से जन शिकायतों का निवारण करने और लोगों को न्याय प्रदान करने की गौरवशाली परम्परा वैदिक काल से चली आ रही है। उन्होंने कहा कि चौपाल प्रजातंत्र का प्रतीक है। प्रो० विरेन्द्र ने बताया कि इसी परम्परा पर चलते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री जनता चौपाल कार्यक्रम के प्रथम चरण में जिला मुख्यालयों पर विश्राम गृह में लोगों की शिकायतें सुनेंगे तथा जिला अधिकारियों के साथ बैठक भी करेंगे। यह चौपाल जिला मुख्यालय पर सामान्यत: शनिवार और रविवार को आयोजित की जाएगी। जनता चौपाल में सम्बद्घ जिले की जनसम्पर्क एवं कष्टï निवारण समिति के प्रभारी मंत्री तथा जिले के सभी विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहेंगे। लोगों की शिकायतों का मौके पर ही समाधान किया जाएगा। किस जिले में किस दिन जनता चौपाल आयोजित होगी, इस सम्बन्ध में पूर्व सूचना दी जाएगी। प्रो० विरेन्द्र ने बताया कि मुख्यमंत्री पार्टी कार्यकर्ताओं को अपनी असली ताकत मानते हैं क्योंकि वे सरकार और जनता के बीच सेतु का कार्य करते हैं। उन्होंने बताया कि कार्यकर्ता मिलन कार्यक्रम में सम्बन्धित जिले के पार्टी के कार्यकर्ताओं से मुख्यमंत्री रू-ब-रू होंगे। उनसे हर पहलू पर विचार-विमर्श करेंगे। विकास एवं जनकल्याण की योजनाओं के सम्बन्ध में फीडबैक लेंगे, कार्यकर्ताओं से सुझाव लेंगे और उनकी यदि कोई शिकायत है तो उसे भी दूर करेंगे। कार्यकर्ता मिलन कार्यक्रम सम्बन्धित जिले के कांग्रेस कमेटी कार्यालय में आयोजित किया जाएगा।

12 फ़रवरी 2010

नगरपालिका बैठक में हंगामा

डबवाली (लहू की लौ) नगरपालिका की दो माह के बाद वीरवार को सम्पन्न हुई मासिक बैठक में जमकर हंगामा हुआ। 465.89 लाख रूपये के खर्चे तथा 468.50 लाख रूपये की आय का बजट पारित किया गया।
नगरपालिका की इस मासिक बैठक की अध्यक्षता पालिका अध्यक्षा सिम्पा जैन ने की। बैठक में 19 में से 18 पार्षद हाजिर हुए। बैठक की कार्यवाही की सूचना देते हुए पालिका सचिव कृष्ण नागपाल ने बताया कि बैठक में 27 नक्शे प्रस्तुत हुए, जो पास कर दिये गये।
बैठक में निर्णय लिया गया कि अवैध कलोनियों को नियमित करने के लिए नक्शे बनाने हेतू सरकार ने हरसक कम्पनी को ठेका दिया था। लेकिन उसने नक्शे बनाकर आज तक प्रस्तुत नहीं किये, जिस पर नगरपालिका ने प्राईवेट आर्टिटेक्ट से नक्शे बनवाकर इन कलोनियों को नियमित करने का केस सरकार के पास भेजने का निर्णय लिया है।
बैठक में कमर्शियल भवनों का हाऊस टैक्स के लिये नये सिरे से सर्वे करने का निर्णय लिया गया और अस्थाई तथा स्थाई अवैध कब्जे हटवाने के लिए पुलिस मदद के लिए उपमण्डलाधीश को लिखना भी तय किया गया। इस मौके पर फायर विक्टम केस में नगरपालिका द्वारा वकील की राशि 51 हजार 454 रूपये पारित की गई। शिव चौक के पास बनी पालिका चुंगी को नीलामी करके किराये पर देने का निर्णय लिया गया।
बैठक में पटवार एसोसिएशन द्वारा तहसीलदार की मार्फत विक्रमादित्य अस्पताल वाली गली में नगरपालिका की पड़ी जमीन पर पटवानखाना बनाने के लिए किये गये आवेदन को हाऊस ने नामंजूर कर दिया।
बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि 5 हजार रूपये से अधिक जिनकी ओर हाऊस टैक्स बनता है, उन्हें 7 दिन का नोटिस दिया जाये। अगर वह राशि अदा नहीं की जाती तो आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में केस दायर किया जाये। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि सफाई के लिए वार्ड कमेटियां गठित की जायें, जो अपने वार्डों में सफाई के सम्बन्ध में पालिका को रिपोर्ट देंगी।
इस बैठक में हाऊस ने एक मत से सफाई ठेका रद्द करने का प्रस्ताव भी पारित किया। सफाई को लेकर पार्षद बैठक में काफी समय तक हंगामा करते रहे और उसके बाद ही यह प्रस्ताव पारित हो सका। इस मौके पर यह भी निर्णय लिया गया कि आवश्यक भुगतान को छोड़कर नगरपालिका अन्य अदायगी कर्मचारियों को वेतन देने के बाद ही करेगी। जेई और भवन निरीक्षक के खाली पड़े पद को भरने के लिए सरकार को एक प्रस्ताव भेजा गया। बिश्नोई समाज द्वारा रामबाग में समाज के शरीर छोड़ गये लोगो के शवों को दफनाने के लिए मांगी गई जगह के आवेदन पर एक प्रस्ताव पारित करके इस पर विचार के लिए रामबाग प्रबंधक कमेटी को यह प्रस्ताव भेज दिया गया।
बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए पार्षद जगदीप सूर्या, विनोद बांसल, गुरजीत सिंह, टेक चन्द छाबड़ा ने बताया कि स्ट्रीट लाईट खरीदने के लिए बिना हाऊस की मंजूरी के 2 लाख रूपये की राशि का डाला गया प्रस्ताव मालूम होने पर रद्द कर दिया गया। इस मौके पर पार्षदों ने सवाल किया कि यह प्रस्ताव किसी की अनुमति से रजिस्टर में डाला गया है तो इस का जवाब न तो सचिव और न ही प्रधान दे सके। इस मामले को लेकर पार्षदों ने खूब हंगामा किया और साथ में कहा कि भविष्य में कोई भी प्रस्ताव हाऊस की अनुमति के बिना रजिस्टर में दर्ज न किया जाये और इसे तुरन्त रद्द किया जाये।
पार्षदों ने यह भी आरोप लगाया कि स्ट्रीट लाईट निम्न स्तर की लगाई गई है और लगाते ही खराब हो गई हैं। यह स्ट्रीट लाईट अभी गारंटी में है और इसे तुरन्त बदलवाने के आदेश दिये जायें। श्री राम पार्क में अनियमिततायें होने का मामला भी जोर शोर से उठा। इस मौके पर पार्षदों ने कहा कि ठेके पर करवाये गये विकास कार्यो के बिल हाऊस में पास होने चाहिए। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि विभागीय स्तर पर करवाये गये कार्य में भी मिट्टी भर्ती, गली सीसी बनाने आदि में जो अनियमिततायें हुई हैँ उनकी सतर्कता विभाग से जांच करवाई जाये।
बैठक के दौरान सफाई कर्मचारियों ने भी पालिका के खिलाफ नारेबाजी की और आरोप लगाया कि उन्हें तीन माह का वेतन आज तक नहीं दिया गया। काफी देर तक कर्मचारी नारे बाजी करते रहे और उन्हें सचिव नगरपालिका ने 15 दिन के भीतर दो माह का वेतन देने का विश्वास दिलाया और तब वे शांत हुए।

पिस्तौल के बल पर नकदी व मोबाइल छीना

औढ़ां (जितेन्द्र गर्ग) गांव टप्पी व पिपली के मध्य कुछ लुटेरे पिस्तौल के बल पर एक व्यक्ति से नकदी व मोबाइल छीनकर फरार हो गए। ओढ़ां पुलिस ने अज्ञात लुटेरों के खिलाफ लूटखसूट व शस्त्र अधिनियम के तहत मामला दर्ज करके उनकी तलाश शुरू कर दी है।

गांव टप्पी निवासी अमनदीप कुमार उर्फ दीपा पुत्र तरसेम लाल जो कि गांव जगमालवाली में मोबाइल की दुकान करता है गत रात्रि जब मोटरसाइकिल पर अपने गांव आ रहा था तो उसने देखा कि गांव टप्पी व पिपली के मध्य ईंट भ_े के पास एक मारूति जैन कार खड़ी थी और उसके पास खड़े एक व्यक्ति ने हाथ देकर उसे रोक लिया। इतने में ही कार से तीन व्यक्ति और उतर आए तथा एक कार में ही बैठा रहा।
उन्होंने पिस्तौल दिखाकर अमनदीप से कहा कि जो कुछ है दे दो। अमनदीप ने डर के मारे 8 हजार रुपए की नकदी व नोकिया का मोबाइल उनके हवाले कर दिया जिसे लेकर वे फरार हो गए। ओढ़ां पुलिस ने अमनदीप के बयान पर अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ डकैती व शस्त्र अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है। इस संबंध में थाना प्रभारी हीरा सिंह ने बताया कि अमनदीप के बताए गए हुलिए के अनुसार लुटेरों के स्कैच तैयार किए जा रहे हैं जिनके आधार पर उन्हें शीघ्र ही काबू कर लिया जाएगा।

परम्परागत खेती को छोड़कर बागवानी व सब्जियां लगाऐं किसान-सैनी

गोरीवाला (सुथार) राष्ट्रीय बागवानी मिशन एवं उद्यान विभाग ब्लाक डबवाली द्वारा उपमण्डल के गांव गोरीवाला के प्रगतिशील किसान राजेंद्र कुमार सहारण पुत्र जगदीश चन्द्र सहारण (झुट्टीखेड़ा वाले) के खेत में फिल्ड-डे के तहत एक किसान गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस किसान गोष्ठी में सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली एवं सब्जी उत्पादन व बागवानी के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई।
इस मौके पर मुख्यातिथी उद्यान विभाग हरियाणा के डारेक्टर अर्जुन सिंह सैनी, जिला उद्यान अधिकारी डा. आत्मप्रकाश, डा. बैनिवाल ने मुख्य रूप से भाग लिया। मुख्यातिथी डायरेक्टर अर्जुन सिंह सैनी ने किसानों को सम्बोधित करते हुऐ कहा की हरियाणा एक ऐसा प्रदेश है जहां देश में बागवानी के लिए किसानों को सबसे ज्यादा 90 प्रतिशत सब्सिडी दी जाती है व किसान अपनी पसंद का टैंक खुद विभाग की निगरानी में बनवाता है। उन्होंने कहा की किसानों को आ रही सिंचाई पानी की कमी को देखते हुऐ ड्रिप सिस्टम लगाकर परम्परागत खेती को छोड़कर बागवानी व सब्जियां लगाकर अच्छी आमदनी की जा सकती है। उन्होंने कहा की मांगेआना के प्लांट में इजराइल की तर्ज पर किन्नू की अच्छी किस्में लगाई गई है।
उन्होंने कहा की इजराइल में 82 प्रतिशत बागवानी की खेती की जाती है वहां सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली बहुत अच्छी है तथा वे लोग खुद फलों का निर्यात करतें हैं। वहां के पानी में साल्ट बहुत ज्यादा है जिसे आरऔ द्वारा ठीक करके ड्रिप द्वारा सिंचाई की जाती है। उन्होंने किसानों से परम्परागत खेती को छोड़कर ड्रिप द्वारा सिंचाई करके बागवानी व सब्जियां लगाने की अपील की। जिला उद्यान अधिकारी डा. आत्मप्रकाश ने अपने सम्बोधन में कहा की कोई भी किसान अपने खेत में ड्रिप सिस्टम लगवाना चाहता है वह खण्ड या जिला कार्यलय में आकर अपनी फाईल तैयार करवाकर सब्सिडी स्कीम का फायदा उठा सकता है व कोल्ड स्टोर खोलने पर भी विभाग 40 प्रतिशत सब्सिड़ी देता है। इस मौके पर कृषि विभाग के माहिर डा. बैनिवाल ने अपने सम्बोधन में कहा की मनुष्य को स्वस्थ रहने के लिऐ फल खाने चाहिऐ जबकि पहले सिर्फ बीमार आदमी को ही फल दिऐ जाते थे। आज जमाना बदल रहा है किसानों को भी आधुनिक खेती करनी चाहिए तथा बागवानी के साथ सब्जियां व सीड़ तैयार करके अच्छी कमाई करनी चाहिए। इस किसान गोष्ठी में क्षैत्र के लगभग 500 प्रगतिशील किसानों ने भाग लिया। इस अवसर पर उद्यान विभाग हरियाणा के डारेक्टर अर्जुन सिंह सैनी, जिला उद्यान अधिकारी डा. आत्मप्रकाश, डा. बैनिवाल, उद्यान विभाग ब्लाक डबवाली के डा. रघुवीर सिंह झोरड़ ने किसानों से अपने विचार सांझे किऐ व किसान राजेंद्र कुमार सहारण की बागवानी एवं सब्जियों की खेती को देखा तथा उनके कार्य की प्रशंसा की। किसान गोष्ठी के सफल आयोजन पर प्रगतिशील किसान शमशेर सिंह मटदादू, संजय गप्ुता, महावीर सहारण, बलवंत शर्मा, राजेंद्र सहारण, मोहन लाल शर्मा ने विभाग के उच्चाधिकारियों का आभार जताया।