युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

20 जनवरी 2011

बिट्टू ने टप्पी लूट मामले का राज भी उगला

डबवाली। जिला पुलिस ने 5 जनवरी को ओढां थाना क्षेत्र के गांव टप्पी में हुई डकैती की घटना की गुत्थी को सुलझा लिया है। पुलिस ने आरोपियों के शरणदाता नवदीप उर्फ बिट्टू पुत्र जसवंत ङ्क्षसह निवासी बवानिया थाना गिदडबाहा पंजाब को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी को डबवाली अदालत में पेश कर पुछताछ हेतु दो दिन के रिमांड पर लिया है।
यह जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक सिरसा सतेंद्र कुमार गुप्ता ने बताया कि सीआईए डबवाली पुलिस ने 16 जनवरी को आरोपी नवदीप को पंजाब के कोटकपूरा क्षेत्र में हुई डकैती के मामले में छीनी गई कार के साथ बठिंडा चौक से काबू किया था तथा उसे अदालत में पेश करके एक दिन के रिमांड पर लिया था। उन्होने बताया कि आरोपी से पुलिस पुछताछ के दौरान एक सफारी गाड़ी भी बरामद हुई है, जिसकी तसदीक की जा रही है। उन्होने बताया कि आरोपी ने पूछताछ के दौरान बताया कि 5 जनवरी को टप्पी क्षेत्र में हुई डकैती के मामले में उसकी स्विफ्ट गाडी का वारदात में प्रयोग किया गया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आरोपी ने पुछताछ के दौरान यह बताया कि डकैती से पहले और बाद में आरोपी उसके पास ठहरे थे। उन्होने बताया कि इस घटना में बठिंडा निवासी जतिन की आईटेन कार की लूट हुई थी। आरोपी बरना और स्विफ्ट गाडिय़ों में सवार थे तथा पिस्तौल की नोक पर गाड़ी छिनकर ले गए थे। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी को दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है तथा रिमांड अवधि के दौरान आरोपियों के पते, ठिकानो के बारे में जानकारी हासिल की जाएगी।

सरकारी सीमेंट खुर्दबुर्द करता गिरफ्तार

डबवाली। ऐलनाबाद क्षेत्र के गांव कर्मशाना में निर्माणाधीन माईनर में प्रयुक्त होने वाली सरकारी सीमेंट खुर्दबुर्द करने मामले में डिडेक्टिव स्टाफ  पुलिस ने जांच करते हुए 180 कट्टे सीमेंट, ट्रेक्टर ट्राली को कब्जे में लेकर एक आरोपी नंदकिशोर पुत्र सोहनलाल निवासी पुरानी हाउङ्क्षसग बोर्ड कालोनी सिरसा को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि दूसरे आरोपी ठेकेदार कृष्ण कुमार सहू निवासी कर्मशाना को शीघ्र ही गिरफ्तार किया जाएगा।
जानकारी देते हुए डिडेक्टिव स्टाफ के उपनिरीक्षक जगदीश चंद्र ने बताया कि उन्हे मुखबरी मिली कि ऐलनाबाद के कर्मशाना क्षेत्र में बन रहे माईनर के लिए प्रयुक्त होने वाली सीमेंट को डीलर जगदंबे ट्रेडर्स, नई अनाजमंडी स्थित दुकान न. 13 के संचालक नंदकिशोर व ठेकेदार कृष्ण सहू की मिलीभगत से खुर्दबुर्द किया जा रहा है। उक्त सीमेंट को शमशाबाद पट्टी में ले जाया जा रहा है।
इस सूचना के आधार पर पुलिस ने शमशाबाद पट्टी में दबिश देकर टै्रक्टर ट्राली में लदे सीमेंट के 150 कट्टे बरामद कर लिए तथा आरोपी डीलर नंदकिशोर को भी काबू कर लिया। उपनिरीक्षक ने बताया कि आरोपी की निशानदेही पर गोदाम में रखे 30 और समेंट कट्टे भी पुलिस ने बरामद कर लिए है।
उन्होने बताया कि पुलिस पूछताछ में यह भी जानकारी मिली है कि ठेकेदार 180 रूपए प्रति गट्टे के हिसाब से उसे बेचता था जबकि डीलर उसे आगे आम जनता को 220 रूपए में बेचता था। उन्होने बताया कि इस मामले में आरोपियों के खिलाफ 420, 406, 34 के तहत अधिनियम दर्ज किया गया है।

बिना ढके मिट्टी से भरी ट्राली चलाई, तो खैर नहीं

डबवाली (लहू की लौ) शहर में मिट्टी ढोने का कार्य करने वाले बिना ढके टै्रक्टर-ट्रालियां चलाने वालों की अब खैर नहीं है, क्योंकि कोई भी मिट्टी से भरी टै्रक्टर-ट्राली यदि शहर में चलती पाई गई तो उन ट्रैक्टर-ट्रालियों को जब्त कर चालकों व मालिकों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी।
इस संबंध में उपायुक्त सीजी रजिनीकांथन ने संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए है कि वे सुनिश्चित करें कि पूरे जिले में कोई भी मिट्टी आदि से भरी टै्रक्टर-ट्राली बिना ढके न चल पाए। प्राय: देखने में आया है कि इस प्रकार के टै्रक्टर-ट्रालियोंंं चालक ज्यादा स्पीड से अपना वाहन चलाते है जिससे सड़कों पर मिट्टी गिरने के साथ-साथ उड़ती भी रहती है, जो सड़क पर चलने वाले आम व्यक्तियों के लिए कठिनाई का कारण बनती है। उन्होंने बताया कि इन टै्रक्टर-ट्रालियों से उडऩे वाली मिट्टी हवा में फैलती है जो विभिन्न बीमारियों का कारण भी बनती है। एक तो इससे पर्यावरण में वायु प्रदूषण होता है, दूसरी ओर विभिन्न प्रकार की बीमारियां फैलने का भी खतरा बना रहता है। उन्होंने सभी टै्रक्टर-ट्राली के चालकों और मालिकों से अपील की है कि वे अपने मिट्टी से भरे वाहनों को तिरपाल आदि से ढक कर ही एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाए। इसके साथ-साथ जिला के विभिन्न स्थानों पर अवैध रुप से चल रहे पिटर रेहड़ों पर भी रोक लगाने के लिए यातायात विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए है। यदि कोई भी पीटर रेहड़ा जिला की किसी भी सड़क पर चलता पाया गया तो उसे भी जब्त कर पिटर रेहड़ा मालिक के खिलाफ कार्यवाही  की जाएगी।
उपायुक्त ने कहा कि टै्रक्टर-ट्राली चालक जो मिट्टी या भूसा ढोने आदि का कार्य करते है वे अपने टै्रक्टर-ट्रालियों पर रिफलैक्टर आदि अवश्य लगवाए जिससे पीछे व आगे से क्रॉस करने वाले वाहनों को सुविधा होती है। यदि कोई वाहन चालक ऐसा नहीं करता है तो उसके खिलाफ भी कार्यवाही की जाएगी और वाहन का चालान किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि जिला में पडऩे वाले शहरों, कस्बों और नैशनल हाईवे, स्टेट हाईवे तथा अन्य मार्गो पर यातायात व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा। राष्ट्रीय राजमार्ग पर पडऩे वाले गांवों में सड़क सुरक्षा के लिए ठोस कदम उठाए जाएंगे। इन सभी गांव में जेबरा क्रॉसिंग, कैट आई तथा विभिन्न प्रकार के चेतावनी संबंधी बोर्ड लगाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग के दोनों किनारों पर पडऩे वाले बर्म आदि को ठीक करवाया जाएगा तथा विभिन्न मार्गों पर सड़क सुरक्षा से संबंधित विभिन्न इशारों को दर्शाते हुए बोर्ड भी लगाए जाएंगे।

कार लुटेरों ने लूटा था पेट्रोल पंप

ऐलनाबाद। ऐलनाबाद पुलिस ने कार लूट मामले में एक और आरोपी को काबू कर लिया है। इस मामले में पुलिस ने पकड़े गए दोनो आरोपियों से पूछताछ कर जिला में एक अन्य पेंट्रोल पंप पर हुई लूट की गुत्थी को भी सुलझाने में सफलता हासिल कर ली है। पुलिस ने पकड़े गए दूसरे आरोपी से एक पिस्तौल व 1 जिंदा कारतूस भी बरामद किया है।
जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक सतेंद्र कुमार गुप्ता ने बताया कि बीती 16 जनवरी को ऐलनाबाद कस्बे में हुई कार लूट मामले में बीते दिवस पुलिस ने एक और आरोपी दवेंद्र सिंह उर्फ बिंदू पुत्र लखबिंद्र सिंह निवासी वार्ड न. 5 ऐलनाबाद को काबू कर लिया है। आरोपी से एक पिस्तौल व एक जिंदा कारतूस भी बरामद किया गया है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस मामले में पुलिस एक आरोपी अमरबहादुर सिंह निवासी भावदीन को पहले ही काबू किया हुआ है। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने अपने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर डिंग थाना क्षेत्र के गांव मोरीवाला स्थित बाबा रामदेव पेट्रो केयर सेंटर से बीती 6 दिसम्बर की रात्रि को लूट की वारदात को अंजाम देना स्वीकारा। इस घटना में आरोपियों ने पेंट्रोल पंप के सेल्जमैन वेदप्रकाश निवासी सुल्तानपुरिया से पिस्तौल की नोक पर करीब 80 हजार रूपए की राशि लूट ली थी। आरोपियों ने अपने दो अन्य साथियों के नाम सोमदीप उर्फ सोनू व कुलदीप निवासी ढाणी द्योतड़ बतलाए है। पुलिस दोनो आरोपियों के छिपने के संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है।

बेवफाई ने ली मनप्रीत की जान

डबवाली (लहू की लौ) गांव लखुआना के पास अद्र्धनग्न अवस्था में माईनर से करीब एक माह पूर्व मिले युवती के शव की पहचान पटियाला की खालसा कलोनी निवासी मनप्रीत कौर पुत्री निर्मल सिंह महंत के रूप में हुई है।
23 दिसंबर 2010 को थाना सदर पुलिस को गांव लखुआना के पास गांव गोबिंदगढ़ के नजदीक डबवाली माईनर से एक युवती का शव मिला था। युवती ने कीमती बूट और कपड़े पहने हुए थे। लेकिन उसका छाती का भाग नंगा था। ब्रा गले में लटकी हुई थी। इस मामले की जांच थाना सदर के एसआई सीता राम के पास थी। पुलिस ने लड़की की पहचान ढूंढने के लिए हिसार और बठिंडा तक खाक छानी थी। लेकिन पुलिस को इसकी कोई जानकारी नहीं मिली। पुलिस ने हरियाणा और पंजाब के सभी कंट्रोल रूमों में इस शव की सूचना दी थी और साथ में फोटो भी भेजे थे।
फोटो के आधार पर सूचना पाकर पटियाला की खालसा कलोनी के निवासी शमेशर कौर, रूपिंद्र कौर, अच्छर सिंह आदि मंगलवार को थाना सदर डबवाली पहुंचे। उन्होंने लड़की के पहने कपड़ो, बूट और फोटो के आधार पर उसकी पहचान मनप्रीत कौर के रूप में की। पुलिस को शमशेर कौर ने बताया कि यह उसकी बेटी है। जो पटियाला के जगदेव सिंह संधू बीएड कॉलेज में बतौर बीएड छात्रा पढ़ती थी। उसने यह भी बताया कि उसकी बेटी का एक लड़के के साथ लव चलता था।
इस संबंध में मनप्रीत कौर के भाई अच्छर सिंह की शिकायत पर थाना सिविल लाईन पटियाला में उसकी बेटी को मरने के लिए मजबूर करने के आरोप में दफा 306 आईपीसी के तहत एक केस भी दर्ज करवाया गया था। जोकि मनप्रीत कौर के मोबाइल पर अंतिम कॉल के संदेह पर दर्ज करवाया गया था। अच्छर सिंह ने अपनी शिकायत में पटियाला पुलिस को बताया था कि उसकी बहन मनप्रीत कौर का अमलोह (फतेहगढ़ साहिब) निवासी पलविंद्र सिंह के बेटे गुरविंद्र सिंह के साथ लव चल रहा था। लेकिन मनप्रीत को जब पता चला कि गुरविंद्र शादीशुदा है और गुरविंद्र ने उसका यौन शोषण करने के बाद उससे शादी करवाने से इंकार कर दिया, तो उसने आत्महत्या कर ली।
पटियाला पुलिस के अनुसार गुरविंद्र सिंह एलआईसी एजेंट है और उसे अच्छर सिंह की शिकायत पर मनप्रीत कौर को मरने के लिए मजबूर करने के आरोप में गिरफ्तार किया जा चुका है। इस समय वह जेल में है।
एसआई सीता राम ने उपरोक्त पुष्टि करते हुए बताया कि फोटो और बूट के आधार पर उक्त शव की पहचान पटियाला की शमशेर कौर ने अपनी पुत्री मनप्रीत कौर के रूप में की।