युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

29 नवंबर 2010

गुंडों का निशाना बना व्यापारी

किडनैप करके 1 लाख 10 हजार रूपए की राशि लूटी, लूट के बाद नहर में फेंकने का प्रयास
डबवाली (लहू की लौ) एक गाड़ी पर सवार होकर आए चार गुंडों ने चौटाला रोड़ से एक व्यापारी को उसकी गाड़ी सहित किडनैप कर लिया। गांव अबूबशहर के पास 1 लाख 10 हजार रूपए लूटने के बाद व्यापारी को नहर में फेंकने की कोशिश की। घटना शनिवार रात करीब 12 बजे की बताई जाती है।
डबवाली के वार्ड नं. 11 के निवासी कृष्ण अंगी (38) पुत्र दीवान चन्द अंगी अपने सहायक गुरजंट सिंह (30) पुत्र बनवारी लाल निवासी वाटर वक्र्स एरिया, मण्डी किलियांवाली (पंजाब) के साथ शनिवार सुबह करीब 11 बजे अपनी गाड़ी पर साबुन की 450 पेटी लादकर राजस्थान के पीलीबंगा तथा सूरतगढ़ गया था। वहां इन साबुन की पेटियों को व्यापारियों को बेचकर एक लाख तीन हजार रूपए की राशि लेकर हनुमानगढ़ आ गया। हनुमानगढ़ से उसने मूंगफली भरी और रात को करीब 10.30 बजे डबवाली के लिए रवाना हो गया।
व्यापारी कृष्ण अंगी ने बताया कि वह हनुमानगढ़ से डबवाली के लिए अपने कर्मचारी गुरजंट उर्फ जंटा के साथ रवाना हो गया। उनकी गाड़ी ने जैसे ही संगरिया बैरियर को क्रॉस किया तो वहां पर पहले से खड़ी टाटा सूमो उनके पीछे हो ली। उसने समझा कि टैक्स बैरियर की गाड़ी होगी। लेकिन कुछ समय बाद उसे ज्ञात हुआ कि गाड़ी में सवार लोग संदिग्ध हैं। उसने अपनी गाड़ी को चौटाला में पुलिस चौकी की ओर मोड़ लिया। लेकिन चौकी के दरवाजें बंद होने के कारण वह गाड़ी को डबवाली की ओर ले आया।
कृष्ण के अनुसार उसकी गाड़ी जैसे ही डबवाली में चौटाला रोड़ पर स्थित अग्निकांड स्थल के नजदीक बदमाशों ने टाटा सूमो उनकी गाड़ी के आगे लगा ली और एक बदमाश ने उसके साथ बैठे गुरजंट को नीचे फेंक दिया। गुरजंट मौका से भाग खड़ा हुआ। बदमाशों ने उस पर पत्थर भी बरसाए। इतने में एक बदमाश ने उसकी गाड़ी के शीशे पर हॉकी दे मारी और उससे मारपीट शुरू कर दी। उसे अद्र्धबेहोशी की अवस्था में बदमाशों ने अपनी गाड़ी में डाल लिया और उसकी गाड़ी को भी एक बदमाश ने थाम कर साथ ले लिया।
बदमाश उसे अबूबशहर में नहर के किनारे ले गए। वहां पर बदमाशों ने उससे एक लाख तीन हजार रूपए की नकदी और जेब में पड़ी करीब सात हजार रूपए की नकदी भी निकाल ली। इसके बाद बदमाशों ने उसे नहर में फेंकने की योजना बनाई। इस योजना को लेकर बदमाशों में आपस में विचार नहीं मिले। इतने में मौका पाकर वह उनकी गाड़ी से कूद गया। इसी दौरान वहां पर एक ट्रेक्टर-ट्राली आ गई। जिसे देखकर बदमाश भाग खड़े हुए। वह अपनी गाड़ी में सवार होकर वापिस डबवाली पहुंचा। कृष्ण के अनुसार बदमाश की संख्या चार थी जोकि मुंह पर रूमाल लिए हुए थे। वे हिन्दी में बातचीत कर रहे थे। एक-दूसरे को भईया कहकर पुकार रहे थे।
कृष्ण अंगी ने बताया कि वह पिछले करीब आठ सालों से कमीशन पर राजस्थान और पंजाब में सामान लाने और लेजाने का काम कर रहा है। राजस्थान में वह पंजाब की बनी साबुन और राजस्थान से मूंगफली, दालें आदि लाकर पंजाब में सप्लाई करता आ रहा है। करीब पंद्रह दिन पूर्व उसका हनुमानगढ़ टाऊन में एक व्यापारी के साथ साबुन की चार पेटियों को लेकर मनमुटाव हो गया था। व्यापारी ने उसे देख लेने की धमकी दी थी और कई बार उसका पीछा भी किया। उसने एक बार उसकी गाड़ी को भी टैक्स अधिकारियों को पकड़वा दिया था। उसे संदेह है कि इसके पीछे भी उसी का हाथ होगा। उसके अनुसार बदमाश नकदी के साथ उसका मोबाइल भी छीन ले गए।
थाना शहर प्रभारी इंस्पेक्टर बलवंत जस्सू ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी हे।

कार पलटी, मियां-बीबी घायल

डबवाली (लहू की लौ) घायल पिता का पता लेने के लिए दिल्ली से अबोहर जा रहे नेटवर्क इंजीनियर अपनी पत्नी सहित अनियंत्रित हुई कार के रविवार सुबह करीब 7 बजे पलट जाने से घायल हो गये।
घायल अमित सक्सेना (26) ने बताया कि उसे पता चला कि उसका 60 वर्षीय पिता अरूण सक्सेना अबोहर शनिवार को एक दुर्घटना में घायल हो गया है। इस पर वह अपनी पत्नी रूपाली सक्सेना (25) के साथ शनिवार रात को लगभग 11 बजे दिल्ली से अबोहर के लिए अपनी जिन्न कार में रवाना हुआ। वह टाटा कम्युनिकेशन में नेटवर्क इंजीनियर के पद पर कार्यरत है।
घायल के अनुसार उनकी कार जैसे ही डबवाली के नजदीक गांव सांवतखेड़ा के पास पहुंची तो अचानक उसे नींद की झपकी आ जाने से कार अनियंत्रित होकर खेतों में जाकर पलट गई। जिससे उसे तथा उसकी पत्नी को चोटें आयीं। घायलों को डबवाली जन सहारा सेवा संस्था की एम्बुलैंस के चालक कुलवन्त सिंह ने डबवाली के सिविल अस्पताल में उपचार के लिए पहुंचाया। प्राथमिक उपचार के बाद दम्पत्ति अस्पताल से छुट्टी लेकर अबोहर के लिए रवाना हो गये।

चोरों की गतिविधियां जारी, दो दुकानों के ताले चटकाए

डबवाली (लहू की लौ)  मलोट रोड़ पर स्थित देवीलाल स्मारक के सामने की मार्किट से शनिवार रात को अज्ञात चोरों ने दो दुकानों में चोरी को अंजाम दिया और स्मारक से भी टूटी चुरा ले गये।
ग्रोवर मेडीकल स्टोर के मालिक रूपिन्द्र ्र्रग्रोवर पुत्र डॉ. अमरजीत ग्रोवर ने बताया कि वह रविवार सुबह सैर के लिए मलोट रोड़ पर जा रहा था उसने देखा कि उसकी दुकान का शैटर उठा हुआ है। उसका माथा ठनका और वह जैसे ही दुकान के पास गया तो देखा कि दुकान के ताले टूटे हुए हैं और शैटर खुला पड़ा है। दुकान के भीतर काऊंटर में पड़ी 1500 रूपये की नकदी गायब है।
इसी दुकान के साथ स्थित बैल्डिंग वर्कशाप के मालिक देसराज ने बताया कि अज्ञात व्यक्ति इसी रात को उसके बाहर पड़े लॉक किये बैल्डिंग सैट का हैंडल चुरा ले गये। जिसकी कीमत करीब 300 रूपये है। जबकि अज्ञात चोर देवीलाल स्मारक में लगी पानी की टूटी भी अज्ञात व्यक्ति चुरा ले गये।

शिविर में 36 यूनिट रक्त एकत्रित

डबवाली। वरच्युस क्लब इण्डिया रजि., डबवाली द्वारा नव प्रगति सीनियर सैकेण्डरी स्कूल के प्रांगण में क्लब के उपप्रधान मंगत राय बंसल ठेकेदार के स्व. पिताश्री कौर चंद बंसल की प्रथम पुण्यतिथि पर हरियाणा रेडक्रॉस सोसायटी के सोजन्य से रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया।
शिविर का उद्घाटन क्लब के मुख्य सलाहकार आत्मा अरोड़ा ने किया। इस अवसर पर मंगत राय बंसल के परिवार के सदस्यों, मां जगदम्बा वैल्फेयर क्लब के प्रधान रविंदर छाबड़ा, बाबा टहल दास स्पोर्ट्स क्लब के उपप्रधान मलकीत सिंह मीका, वरच्युस परिवार के सदस्यों ने रक्तदान करके स्व. कौर चंद बंसल को 36 यूनिट रक्तदान करके श्रद्धांजलि दी।
इस मौके पर नरेश बंसल ने 16 वी बार, उनकी धर्मपत्नी सुमन बंसल ने 13वीं बार रक्तदान करके रक्तदान के अभियान को नया आयाम दिया।
इस अवसर पर मार्किट कमेटी के पूर्व चेयरमैन मलकीत सिंह गंगा, डॉ. श्रवण कुमार के अतिरिक्त जिला कार्यक्रम अधिकारी अश्विनी शर्मा, डॉ. करनैल सिंह, डॉ. अश्विनी बत्तरा, प्रिंसिपल चंद्रकांता भारती, निर्देशक वेद भारती, प्रबंधक समिति के सदस्य परमजीत कोचर, जितेंद्र शर्मा, तरसेम गर्ग, वेद कालड़ा, राजेश हाकू, एडवोकेट जितेंद्र खैरा, सुमित भारती, ज्ञानी ज्ञान सिंह व संस्थापक केशव शर्मा, युवा रक्तदान सोसाइटी के संस्थापक सुरिंद्र सिंगला, शिविर के प्रोजेक्ट चेयरमैन डॉ. मथरा दास चलाना उपस्थित थे। जबकि मंच का संचालन संजीव शाद ने किया।

डरा धमका कर राज करने वालों का समय खत्म-केवी सिंह

डबवाली (लहू की लौ) मुख्यमंत्री चौधरी भूपिन्द्र सिंह हुड्डा ने हरियाणा के विकास में कोई कौर कसर नहीं छोड़ी है तथा कांग्रेस पार्टी ने कार्यकत्र्ताओं तथा आम जनता को पूरा मान-सम्मान दिया है।
यह बात शनिवार रात को मुख्यमंत्री हरियाणा के पूर्व विशेष कार्यकारी अधिकारी डा. के.वी. सिंह ने आज वार्ड 16 में मास्टर जगदीश के घर में कायकत्र्ताओं को सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि यह चौधरी भूपिन्द्र सिंह हुड्डा व कांग्रेस पार्टी की जन हितेषी नीतियों का ही नतीजा है कि हरियाणा में विकास की हवा चल रही है तथा समाज के हर वर्ग को इन नीतियों का फायदा पहुंच रहा है। अब डरा-धमका कर वोट लेने वाले लोगों को जनता ने सबक सिखाना शुरु कर दिया है तथा लोग जात-पात से ऊपर उठकर विकास व शान्ति को तवज्जो देने लगे हैं। हम सभी को जागरुक होना होगा जिससे भ्रष्टाचार पर अंकुश लगे और काम करने वाले लोग ही आगे आ सके।
डा. सिंह ने कहा कि एक मजबूत टीम हर वार्ड में बनानी होगी ताकि हम जनता में इनेलो पार्टी द्वारा बनाये गये डर के माहौल को खत्म कर सके और हरियाणा सरकार द्वारा चलाई जा रही जनहितेषी नीतियों का प्रचार प्रचार किया जा सके। उन्होंने कहा कि इनेलो पार्टी के राज में लोग डर के हालात में जीते थे जबकि कांगे्रस के राज में ऐसे हालात नहीं है। चौधरी भूपिन्द्र सिंह हुड्डा की जनहितेषी नीतियों जैसे गरीब बच्चों को निशुल्क शिक्षा के साथ वजीफा व कापी, किताबें, वर्दी व दोपहर का खाना देना और बुढ़ापा पैंशन में वृद्धि, गरीबों का निशुल्क इलाज, 100-100 गज के प्लाट, निशुल्क 200 लीटर की पानी की टंकी व निशुल्क कनेक्शन भी दिए गये। मुख्यमंत्री की दूरगामी सोच के कारण ही आज बिजली की समस्या पर काफी हद तक काबू पा लिया है।
उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार ने नई खेल नीति लागू की जिससे कॉमनवैल्थ खेलों में सबसे ज्यादा पदक देश के लिए हरियाणा के खिलाडिय़ों ने जीते हैं और अभी चीन में चल रहे एशियाई खेलों में भी हरियाणा के खिलाडिय़ों ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है।
इस अवसर पर बलदेव राज शर्मा, केशव शर्मा, शहरी प्रधान पवन गर्ग, विनोद बांसल, सुरेन्द्र सिंह ठेकेदार, संदीप चौधरी, अमरजीत सिंह हवलदार, मास्टर जगदीश शर्मा, मलकीत सिंह मिस्त्री, गुरदयाल मिस्त्री, बलवीर मिस्त्री, सुनील जिन्दल, रविन्द्र बिन्दू, जगजीत सिंह, जसविन्द्र सिंह, मलकीत शर्मा, कमलजीत, शहरी युवा प्रधान अमन भारद्वाज, जितेन्द्र कुमार आदि कांग्रेस कार्यकत्र्ता उपस्थित थे।

बैठक में मृत्यु भोज का किया विरोध

डबवाली (लहू की लौ) मेघवाल महासभा की एक बैठक रविवार को बाबा रामदेव मंदिर धर्मशाला में हुई। जिसकी अध्यक्षता हल्का मलोट के पूर्व एमएलए नत्थू राम ने की।
बैठक को मेघवाल सभा श्री गंगानगर के अध्यक्ष अभय सिंह, पूर्व अध्यक्ष कांशी राम चौहान, मेघवाल महासभा हरियाणा के धन्ना दास ऋषि, लीलू राम मेघवाल सदस्य अखिल भारतीय मेघवाल महासभा, बुध राम जिला परिषद सदस्य, मास्टर किशन चन्द्र गंगा, आत्मा राम सुढा चौटाला, चानन सिंह ब्लाक अध्यक्ष औढ़ां, राजेन्द्र राठी ब्लाक अध्यक्ष डबवाली, इन्द्राज सिंह मेघवाल, बलकौर सिंह, राजा राम आदि ने संबोधित किया। वक्ताओं ने अपने संबोधन में मेघवाल समाज के सदस्यों को संगठित होने का आह्वान किया। समाज में फैली कन्या भ्रूण हत्या, दहेज प्रथा, नशा खोरी तथा मृत्यु भोज जैसी बुराई को खत्म करने की शपथ दिलाई।
कौन हैं मेघवाल
इन्द्राज सिंह मेघवाल ने मेघवालों के संदर्भ में बताया कि मेघवालों के वंशज मेघ ऋषि हैं। जिन्होंने सर्वप्रथम कपड़ा तैयार किया। कुछ समय पूर्व इन्हें चमार (चमड़ा प्रयोग करने वाले) कहकर पुकारा जाता था। लेकिन मेघवालों का कार्य चमड़े का न होकर कपड़ा बनाना है। माननीय सुप्रीम कोर्ट ने भी चमार को अपमानित शब्द की संज्ञा दी है। इस प्रकार अब उनके जाति प्रमाण पत्रों में चमार की अपेक्षा मेघवाल शब्द का प्रयोग होने लगा है। मेघवाल अनुसूचित जाति से संबंध रखते हैं। पूरे भारत में इनकी संख्या तकरीबन 10 करोड़ है। जिनमें से करीब 15 लाख मेघवाल हरियाणा राज्य में रहते हैं।