युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

13 अप्रैल 2010

31 किलोग्राम चूरा पोस्त सहित दबोचा

डबवाली (लहू की लौ) सीआईए डबवाली ने एक व्यक्ति को 31 किलोग्राम चूरा पोस्त के साथ गिरफ्तार किया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार रविवार को सीआईए प्रभारी एसआई हवा सिंह ने एसआई बचन सिंह, एएसआई हरदयाल सिंह, एचसी रमेश कुमार तथा सिपाही कुलवन्त सिंह के साथ मसीतां-सांवतखेड़ा मार्ग पर नाका लगाया हुआ था। पुलिस टीम को मसीतां की ओर से एक सफेद रंग की कार आती हुई दिखाई दी। कार चालक ने पुलिस को देख कार की गति धीमी कर ली और वापिस मोडऩे लगा। संदेह होने पर पुलिस ने कार को रोक लिया। तालाशी लेने पर कार से एक प्लास्टिक का कट्टा बरामद हुआ। जिसमें 31 किलोग्राम चूरा पोस्त थी।
एसआई हवा सिंह ने बताया कि पकड़े गये आरोपी ने अपनी पहचान हरीश कुमार पुत्र वीरभान निवासी सालमखेड़ा के रूप में करवाई। पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि पकड़ी गई चूरा पोस्त को वह गांव सालमखेड़ा लेजा रहा था। आरोपी ने स्वीकारा कि उसने यह चूरापोस्त संदीप नामक व्यक्ति से खरीदी है, जिसके खिलाफ भी पुलिस ने अभियोग दर्ज करके मामला करके आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।

डबवाली गैस सर्विस की कार्यप्रणाली के चलते उपभोक्ताओं में रोष

इण्डेन के अधिकारी मेरी मुट्ठी में, उसका कुछ नहीं बिगड़ सकता-सभ्रवाल
डबवाली (लहू की लौ) कुकिंग गैस सिलेण्डर की मांग को लेकर सोमवार सुबह गैस उपभोक्ता इण्डेन गैस की नगर में स्थित शाखा डबवाली गैस सर्विस कार्यालय के समक्ष इक्ट्ठे हुए। उपभोक्ताओं ने सिलेण्डर न मिलने पर रोष प्रकट किया।
इण्डेन गैस उपभोक्ता देवराज (कॉपी नं. 4695), सुरेन्द्र कुमार (कॉपी नं. 0432), भगवान दास (कॉपी नं. 1973), प्रवीण कुमार, राजेन्द्र कुमार, राजकुमार, राम सिंह ने बताया कि वे पिछले एक सप्ताह से कुकिंग गैस सिलेण्डर के लिए एजेन्सी कार्यालय के चक्कर लगा रहे हैं। आज सुबह उन्होंने कार्यालय में फोन करके सप्लाई आने सम्बन्धी पूछा। कार्यालय में बैठे कर्मचारी ने उन्हें आज सप्लाई आने की बात कही। जिस पर वे सिलेण्डर लेने के लिए एजेन्सी में आ गये। लेकिन एजेन्सी पर आज गैस सप्लाई नहीं है हस्तलिखित कागज चस्पा हुआ था। उपभोक्ताओं ने आरोप लगाया कि सप्लाई न दिये जाने का कागज चस्पा होने के बावजूद भी एजेन्सी द्वारा कार में भरकर सिलेण्डर कहीं भेजे जा रहे थे। उपभोक्ताओं के अनुसार उन्होंने एजेन्सी कर्मचारियों से इस सम्बन्ध में बात करनी चाहिए तो कर्मचारियों ने कोई संतोषजक उत्तर नहीं दिया। बाद में चस्पा किये गये कागज को भी वहां से हटा दिया गया। इस मौके पर उपरोक्त उपभोक्ताओं ने मांग की कि प्रशासन गैस की आपूर्ति अपनी देखरेख में करवाये, ताकि उपभोक्ता को समय पर सिलेण्डर मिल सके।
इस बारे में जब इण्डेन की डबवाली गैस सर्विस के मालिक श्यामसुन्दर सभ्रवाल से बातचीत की गई तो उन्होंने बौखलाहट भरे शब्दों में कहा कि लोग तो कभी संतुष्ट हो ही नहीं सकते। जब भी उनके समक्ष प्रैस वाले जाते हैं, तो उपभोक्ता जोश में आकर नारेबाजी करने लगते हैं। प्रैस को चाहिए कि वह लोगों की नहीं, उनकी बात को लिखे। पत्रकार द्वारा यह पूछने पर कि अखबार में तो उनकी टिप्पणी भी प्रकाशित की जाती है, तब वे बोले कि पत्रकार को भी अपनी टिप्पणी लिखनी चाहिए। लोग कुछ भी करें, कम्पनी के अधिकारी उसकी मुट्ठी में हैं। उसका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता।
उधर उपमण्डलाधीश डॉ. मुनीश नागपाल से बातचीत हुई तो उन्होंने कहा कि गेहूं का सीजन होने के कारण खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के अधिकारी खरीद में व्यस्त हैं। फिर भी वे गैस की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए प्रयासरत हैँ। उन्होंने खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के अधिकारियों को निर्देश दे दिये हैं।। उपभोक्ताओं को कुकिंग गैस सिलेण्डर लेने में कोई दिक्कत नहीं आएगी।

बादल के घर में बिजली कर्मचारियों का प्रदर्शन

डबवाली (लहू की लौ) पंजाब राज्य बिजली बोर्ड टेक्नीकल सर्विस यूनियन कार्यकर्ताओं ने निजीकरण के खिलाफ मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के पैतृक गांव बादल में बोर्ड के एक्सीयन कार्यालय पर जोरदार प्रदर्शन करके और धरना देकर रोष प्रकट किया।
टेक्नीकल सर्विसज यूनियन बादल मंडल के प्रधान सुन्दर पाल ने बताया कि पंजाब सरकार ने बिजली एक्ट बना कर बिजली बोर्ड को तीन भागों में फैसला लिया है। जो कि कर्मचारी और लोग विरोधी है। उन्होंने कहा कि बिजली कर्मचारियों ने संकल्प लिया है कि वह प्रत्येक कुर्बानी देकर भी बोर्ड की रक्षा करेंगे। उन्होंने कहा कि निजीकरण के विरोध में 15-16 अप्रैल की दो दिवसीय हड़ताल के दौरान कामकाज ठप्प कर और दफ्तर बन्द रख कर सरकार को यह संदेश दिया जायेगा कि बोर्ड को किसी भी हालत में टूटने नहीं दिया जायेगा।
इस मौके पर मंडल नेताओं में सतपाल, सुखदर्शन सिंह, सुखदेव सिंह, हरदेव सिंह, जंगीर सिंह ने भी धरना पर बैठे कर्मचारियों को सम्बोधित किया। इस मौके पर उपमंडल नेता प्रकाश चन्द, भजन सिंह, जगवीर सिंह और अजायब सिंह, निरपाल सिंह, जगतार सिंह ने आरोप लगाया कि पंजाब सरकार द्वारा हर रोज भयभीत करने वाले ब्यान दागे जा रहे हैं और नेताओं का नक्शा बिगाड़ कर पेश किया जा रहा है। लेकिन बिजली कर्मचारी ट्रेड यूनियन के असूलों की पालना करते हुए हड़ताल के सफल बनाने के लिए सक्रिय हो गये हैं। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार जब्र जुल्म के द्वारा बोर्ड तोड़ती है तो बिजली कर्मचारियों को हड़ताल को आगे बढ़ाने के लिए तैयार रहना चाहिए।
धरनास्थल पर पहुंचे नायब तहसीलदार लम्बी लखविन्द्र सिंह गिल की मार्फत पंजाब सरकार के पास मांग पत्र भेजा गया। इस मौके पर मंच का संचालन मंडल सचिव सतपाल कर रहे थे। तीन घंटे चले धरने के बाद बिजली कर्मचारियों ने पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए बिजली मंडल कार्यालय से लेकर 132 केवी ग्रिड तक रोष प्रदर्शन किया।