युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

08 सितंबर 2009

अब भी नई वोट के लिए कर सकते हैं आवेदन

अम्बाला (लहू की लौ) हरियाणा विधानसभा, 2009 के आम चुनाव के लिए नई वोट बनावाने के लिये कोई भी व्यक्ति नियम 22 के अन्तर्गत आवेदन कर सकता है। यह जानकारी अम्बाला के जिला निर्वाचन अधिकारी समीर पाल सरो ने आज अम्बाला शहर में एक पत्रकार सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए दी। उन्होंने मीडिया कर्मियों से चुनावों को शान्ति पूर्वक, निष्पक्ष एवं स्वतंत्र करवाने में सहयोग देने की अपील की है। उन्होने कहा कि मीडियाकर्मी सूचनाओं के सम्बन्ध में अपने को अपडेट करके समाचार प्रकाशित करें ताकि जनता को सही जानकारी मिल पाए।
एक सवाल के जबाव में उन्होंने कहा कि चुनाव प्रक्रिया के दौरान आदर्श चुनाव आचार संहिता का पूरी तरह से पालन किया जायेगा और किसी को भी इसकी उल्लघना की इजाजत नही दी जायेगी। उन्होने बताया कि चुनाव प्रचार के दौरान रात्रि 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउडस्पीकर व प्रचार पर पूर्ण पाबंदी रहेगी तथा जिला में निर्धारित किये गये स्थानो पर ही रैली करने व प्रचार सामग्री चस्पा करने की स्वीकृति दी जायेगी।
उन्होने बताया कि धारा 144 के तहत विशेष आदेश जारी कर जिला में किसी भी प्रकार के घातक हथियार लेकर चलने पर पाबंदी लगा दी गई है तथा जिला के सभी लाईसैंसी हथियार धारको को निर्देश दिये गये हैं कि वे सम्बन्धित थानो में अपने लाइसैंसी हथियार, गोलियां व कारतूस जमा करवा दें ताकि विधानसभा चुनाव शान्ति पूर्वक ढंग से सम्पन्न करवाये जा सकें।
ि श्री सरो ने बताया कि नग्गल विधानसभा क्षेत्र का अस्तित्व समाप्त होने के बाद अब जिला में 4 विधानसभा क्षेत्र हैं जिसमें अम्बाला शहर, अम्बाला छावनी, नारायणगढ तथा मुलाना (आरक्षित) शामिल हैं। उन्होने बताया कि मतदान के दौरान चुनावी डयूटी में लगे कर्मचारी इस बार पोस्टल बैल्ट के तहत अपने मत का प्रयोग कर पायेगें। उन्होने कहा कि पार्टी का उम्मीदवार अपना नामांकन पत्र दाखिल करते समय 4 व्यक्तियों तथा 3 गाडियों के साथ नामांकन भरने ले जा सकता है। उन्होने कहा कि संवेदनशील व अतिसंवेदनशील बूथों पर प्रशासन की विशेष नजर रहेगी और इन पर सुरक्षा की दृष्टि से पुख्ता इंतजाम किये जायेगें। उन्होने कहा कि मतदान केन्द्रों पर विकलांग व्यक्तियों को मतदान करने में किसी प्रकार की दिक्कत न आये इसके लिये सभी मतदान केन्द्रों पर रैम्प भी बनाये जायेगें तथा पेयजल, बिजली आदि की समुचित व्यवस्था भी की जायेगी।
उन्होंने बताया कि विधानसभा चुनावों को शान्तिपूर्ण एवं निष्पक्ष ढंग से करवाने के लिये उपायुक्त कार्यालय में एक कन्ट्रोल रूम की व्यवस्था की जायेगी तथा सैक्टर मैजिस्ट्रेट व सुपरवाईजर की भी अलग से डयूटियां लगाई जायेगीं। उन्होने कहा कि एक कम्यूनीकेशन प्लान भी तैयार किया जा रहा है ताकि मतदान के दौरान पल-पल की सूचना जिला मुख्यालय पर उपलब्ध हो सके।

पटवारी रिश्वत लेते गिरफ्तार

रोहतक (लहू की लौ) हरियाणा राज्य चौक सी ब्यूरो ने रोहतक जिले के हलका पटवारी दरबारा सिंह को खेड़ी महम के सुनील से 4000 रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा है।
ब्यूरो के एक प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि अभियुक्त के विरूद्घ भ्रष्टïाचार उन्मूलन अधिनियम, 1988 की धारा 7 के तहत ब्यूरो के रोहतक स्थित पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है। मामले में आगे की जांच जारी है।

प्रत्याशी का चुनाव एजेण्ट बनने पर सरकारी कर्मचारी को खानी पड़ेगी जेल की हवा

डबवाली (लहू की लौ) हरियाणा सरकार ने अपने कर्मचारियों को स्पष्टï किया है कि यदि कोई सरकारी कर्मचारी विधानसभा चुनावों के दौरान किसी प्रत्याशी के चुनाव एजेण्ट या मतदान एजेण्ट या गणना एजेण्ट के रूप में कार्य करता है, तो उसे कारावास, जिसकी अवधि तीन मास तक बढ़ाई जा सकती है, जुर्माना या दोनों सजा दी जा सकती हैं।
हरियाणा के मुख्य सचिव ने सभी विभागाध्यक्षों को सम्बोधित एक पत्र के माध्यम से उनका ध्यान राज्य के विधानसभा चुनावों के सम्बन्ध में सरकारी कर्मचारियों के आचरण की ओर आकर्षित किया है। उनका ध्यान विशेष रूप से जन प्रतिनिधि अधिनियम, 1951 की धारा 134 ए के प्रावधानों की ओर आकर्षित किया गया है, जिसमें चुनाव एजेण्ट , मतदान एजेण्ट या मतगणना ऐजण्ट के रूप में कार्य करने पर सरकारी कर्मचारी को दी जाने वाली सजा का उल्लेख है।
पत्र में आगे कहा गया है कि इन दिशा निर्देशों के किसी भी प्रकार के उल्लंघन को सरकार द्वारा गंभीर अनुशासनहीनता माना जाएगा। सरकारी कर्मचारियों को परामर्श दिया गया है कि संदेह की स्थिति में वे अपने वरिष्ठï अधिकारियों से परामर्श करने में हिचकिचाहट न करें। विधि प्रावधान जन प्रतिनिधि अधिनियम, 1951 की धारा 129 एवं 134 तथा सरकारी कर्मचारी (आचरण) नियम, 1966 के नियम 5 में विद्यमान हैं।
सरकारी कर्मचारियों को चुनावों के दौरान निष्पक्षता का रवैया अपनाना जरूरी है। वास्तव में, उन्हें निष्पक्ष रहना ही नहीं बल्कि निष्पक्ष दिखना भी चाहिए। उन्हें ऐसा इसलिए करना चाहिए ताकि उनकी निष्पक्षता के सम्बन्ध में जनसाधारण में विश्वास उत्पन्न हो सके, जिसका तात्पर्य है कि लोगों को ऐसा कोई भी संदेह नहीं होना चाहिए कि वे किसी पार्टी या प्रत्याशी के पक्ष में हैं। उदाहरण के तौर पर उन्हें किसी भी चुनाव अभियान या प्रचार में भाग नहीं लेना चाहिए और इस बात पर भी विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए कि किसी समूह या व्यक्ति की सहायता के लिए उनका नाम, पद या प्राधिकरण का उपयोग किसी अन्य के विरूद्घ न किया जाए।
किसी सार्वजनिक स्थल पर चुनाव बैठकें आयोजित करने के मामले में ऐसी बैठकें आयोजित करने की अनुमति प्रदान करने में राजनीतिक पार्टियों के बीच कोई भेदभाव नहीं किया जाना चहिए। यदि एक से अधिक पार्टियां एक ही स्थान पर, एक ही दिन और एक ही समय बैठकें आयोजित करने के लिए आवेदन करती हैं, तो पहले आवेदन करने वाली पार्टी को अधिमान दिया जाना चाहिए।
चुनाव के सम्बन्ध में निर्वाचन अधिकारी, सहायक निर्वाचन अधिकारी, पीठासीन अधिकारी एवं मतदान अधिकारी के रूप में अपना दायित्व निभाने वाले किसी भी व्यक्ति को अपना वोट डालनेे के अलावा प्रत्याशी के चुनाव से सम्बन्धित कोई भी अन्य कार्य करने की अनुमति नहीं होगी। न ही ऐसा कोई व्यक्ति या पुलिस बल का कोई सदस्य किसी व्यक्ति को चुनाव में मतदान करने के लिए मनाने या किसी व्यक्ति को मतदान न करने देने या किसी व्यक्ति के मतदान को किसी भी रूप में प्रभावित करने का प्रयास करेगा।
इन प्रावधानों का उल्लंघन दण्डनीय है, जिसके तहत छ: मास तक का कारावास या जुर्माना या दोनों सज़ा दी जा सकती हंै। दोबारा यदि कोई व्यक्ति बिना किसी उचित कारण के अपनी कार्रवाई या चुनावों के सम्बन्ध में अपने कार्यालय दायित्व का उल्लंघन करने के लिए दोषी है, तो उसे 500 रुपये तक के जुर्माने की सजा दी जा सकती है। सरकारी कर्मचारी (आचरण) नियम, 1966 के नियम 5 के खण्ड (4) के अनुसार कोई भी सरकारी कर्मचारी किसी विधानमण्डल या स्थानीय प्राधिकरण के चुनाव में प्रचार या किसी भी रूप से हस्तक्षेप या अपने प्रभाव का उपयोग नहीं कर सकता या उसमें भाग नहीं ले सकता।
सरकारी कर्मचारी सभी ऐसे चुनावों में मतदान करने के लिए पात्र है, लेकिन जहां वह ऐसा करता है, वहां किसके पक्ष में मतदान करेगा या मतदान किया है, का कोई संकेत नहीं देगा।
केवल इस कारण से कि सरकारी कर्मचारी ने लागू नियम के तहत या द्वारा उसे दिए गए दायित्व को निभाते हुए चुनाव करवाने में अपनी मदद की है, को उस द्वारा उप-नियम के प्रावधानों का उल्लंघन किया जाना नहीं माना जाएगा।

किसानों को नई हिदायतें

हिसार (लहू की लौ) चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय, हिसार के कृषि वैज्ञानिकों ने किसानों के लिए रबी फसलों की बिजाई के आगामी मौसम के मध्य नजऱ अति महत्वपूर्ण हिदायतें जारी की हैं ताकि कृषि कार्यों में उपयोग करके किसान सूखे के कारण खरीफ फसलों से हुए कम उत्पादन की भरपाई कर सकें।
विश्वविद्यालय के एक प्रवक्ता ने आज यह जानकारी देते हुए बताया कि आमतौर पर उन्नत बीजों व मंहगी रासायनिक खादों व दवाओं के प्रयोग के बावजूद किसान भरपूर पैदावार प्राप्त नहीं कर पाते। इसका मुख्य कारण उन्होंने कृषि मृदा की घटती हुई ताकत बताया है। उन्होंने कहा है कि जमीन की ताकत बढ़ाने, उचित नमी बनाए रखने तथा मृदा संरक्षण के लिए इसमें कार्बनिक (जीवांश) व अकार्बनिक पोषक तत्वों का संतुलन बहुत जरूरी है। परंतु अधिकांश किसान रासायनिक खादों व जहरीली कीटनाशक दवाओं का बिना वैज्ञानिक मार्गदर्शन के अंधाधुंध प्रयोग करते हैं, जिसके कारण कृषि भूमि में जीवाणुओं की भारी कमी हुई है, जो उर्वरा शक्ति खत्म होने का मुख्य कारण है।
विश्वविद्यालय के मौलिक विज्ञान एवं मानविकी महाविद्यालय मेंं स्थापित उक्त विभाग ने अलग-अलग फसलों के लिए उपयुक्त सूक्ष्म जीवाणुओं की खोज की है। इन जीवाणुओं से फसल की उत्पादन वृद्धि में काफी सफलता मिलती है। सूक्ष्मजीव विज्ञान विभाग में भारी मात्रा में जीवाणु खाद तैयार की जाती है जिसे किसान विश्वविद्यालय के राजगढ़ रोड स्थित किसान सेवा केन्द्र से भी प्राप्त कर सकते हैं।
उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय में आगामी सप्ताह आयोजित किए जाने वाले फार्म दर्शन मेले में भी जीवाणु खाद बिक्री के लिए उपलब्ध करवाई जाएगी। इसके अलावा, एक एकड़ में 10 रूपए का एजोटीका एवं 10 रूपए का फास्फोटीका लगाकर किसान उचित लाभ उठा सकते हैं। यह टीके वातावरण से नत्रजन एकत्रित करके पौधों को देते हैं जिससे जीवाणु पौधे के फुटाव में मदद मिलती है तथा फफूंदी एवं दूसरी बीमारियों से लडऩे की क्षमता बढ़ती है।
उन्होंने अनाज की फसलों, फलों, फूलों व सब्जियों के लिए एजोटाबैक्टर का टीका तथा दलहनी फसलों के लिए राइजोबियम का टीका तैयार किया है। उन्होंने बताया कि राइजोटीका बरसीम, मटर व चने की फसल पर प्रयोग किया जा सकता है। उन्होंने किसानों से तोरिया व सरसों की बिजाई एजोटाबैक्टर व फास्फोटीका से बीज उपचार करने को कहा है। बीज उपचार से किसानों को यूरिया व सिंगल सुपर फास्फेट का प्रयोग बहुत कम करना पड़ेगा और ऊपर से 5 से 10 प्रतिशत तक फसल उत्पादन में वृद्धि प्राप्त की जा सकेगी। इसके प्रयोग बारे उन्होंने खास जानकारी दी है कि अन्न की फसलों में 10 किलो बीज तक 50 मि.मी. जीवाणु खाद काफी है जबकि सरसों में प्रति एकड़ 50 मिली लीटर दोनों तरह के जीवाणु का प्रयोग जरूरी है।

किसानों को नई हिदायतें

हिसार (लहू की लौ) चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय, हिसार के कृषि वैज्ञानिकों ने किसानों के लिए रबी फसलों की बिजाई के आगामी मौसम के मध्य नजऱ अति महत्वपूर्ण हिदायतें जारी की हैं ताकि कृषि कार्यों में उपयोग करके किसान सूखे के कारण खरीफ फसलों से हुए कम उत्पादन की भरपाई कर सकें।
विश्वविद्यालय के एक प्रवक्ता ने आज यह जानकारी देते हुए बताया कि आमतौर पर उन्नत बीजों व मंहगी रासायनिक खादों व दवाओं के प्रयोग के बावजूद किसान भरपूर पैदावार प्राप्त नहीं कर पाते। इसका मुख्य कारण उन्होंने कृषि मृदा की घटती हुई ताकत बताया है। उन्होंने कहा है कि जमीन की ताकत बढ़ाने, उचित नमी बनाए रखने तथा मृदा संरक्षण के लिए इसमें कार्बनिक (जीवांश) व अकार्बनिक पोषक तत्वों का संतुलन बहुत जरूरी है। परंतु अधिकांश किसान रासायनिक खादों व जहरीली कीटनाशक दवाओं का बिना वैज्ञानिक मार्गदर्शन के अंधाधुंध प्रयोग करते हैं, जिसके कारण कृषि भूमि में जीवाणुओं की भारी कमी हुई है, जो उर्वरा शक्ति खत्म होने का मुख्य कारण है।
विश्वविद्यालय के मौलिक विज्ञान एवं मानविकी महाविद्यालय मेंं स्थापित उक्त विभाग ने अलग-अलग फसलों के लिए उपयुक्त सूक्ष्म जीवाणुओं की खोज की है। इन जीवाणुओं से फसल की उत्पादन वृद्धि में काफी सफलता मिलती है। सूक्ष्मजीव विज्ञान विभाग में भारी मात्रा में जीवाणु खाद तैयार की जाती है जिसे किसान विश्वविद्यालय के राजगढ़ रोड स्थित किसान सेवा केन्द्र से भी प्राप्त कर सकते हैं।
उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय में आगामी सप्ताह आयोजित किए जाने वाले फार्म दर्शन मेले में भी जीवाणु खाद बिक्री के लिए उपलब्ध करवाई जाएगी। इसके अलावा, एक एकड़ में 10 रूपए का एजोटीका एवं 10 रूपए का फास्फोटीका लगाकर किसान उचित लाभ उठा सकते हैं। यह टीके वातावरण से नत्रजन एकत्रित करके पौधों को देते हैं जिससे जीवाणु पौधे के फुटाव में मदद मिलती है तथा फफूंदी एवं दूसरी बीमारियों से लडऩे की क्षमता बढ़ती है।
उन्होंने अनाज की फसलों, फलों, फूलों व सब्जियों के लिए एजोटाबैक्टर का टीका तथा दलहनी फसलों के लिए राइजोबियम का टीका तैयार किया है। उन्होंने बताया कि राइजोटीका बरसीम, मटर व चने की फसल पर प्रयोग किया जा सकता है। उन्होंने किसानों से तोरिया व सरसों की बिजाई एजोटाबैक्टर व फास्फोटीका से बीज उपचार करने को कहा है। बीज उपचार से किसानों को यूरिया व सिंगल सुपर फास्फेट का प्रयोग बहुत कम करना पड़ेगा और ऊपर से 5 से 10 प्रतिशत तक फसल उत्पादन में वृद्धि प्राप्त की जा सकेगी। इसके प्रयोग बारे उन्होंने खास जानकारी दी है कि अन्न की फसलों में 10 किलो बीज तक 50 मि.मी. जीवाणु खाद काफी है जबकि सरसों में प्रति एकड़ 50 मिली लीटर दोनों तरह के जीवाणु का प्रयोग जरूरी है।

हवाई जहाज उपयोग में कोई छूट नहीं-चुनाव आयोग

डबवाली (लहू की लौ) भारत के चुनाव आयोग ने निर्णय लिया है कि चुनाव प्रक्रिया के दौरान हवाई जहाज़ के उपयोग सम्बन्धी वर्तमान निर्देश ही बने रहेंगे तथा इस मामले में किसी भी कारण से कोई छूट नहीं दी जाएगी।
हरियाणा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री सज्जन सिंह ने यह जानकारी देते हुए बताया कि मुख्यमंत्री, मंत्रियों सहित अन्य राजनीतिक कार्यकत्र्ताओं के लिए सरकारी और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के अधीन हवाई जहाज़ के उपयोग पर पूर्ण प्रतिबंध होगा। इस सम्बन्ध में केवल प्रधानमंत्री के लिए ही छूट है।
उन्होंने कहा कि कुछ मुख्यमंत्रियों से विभिन्न कारणों, जिनमें उनकी सुरक्षा शामिल है, के लिए इन प्रतिबंधों में छूट देने हेतु आग्रह प्राप्त हुए हैं। आयोग ने गहराई से मामले की समीक्षा की और इस सम्बन्ध में उपयुक्त क्षेत्रों से और अधिक जानकारी प्राप्त की। सभी प्रासंगिक तथ्यों पर विचार करने उपरान्त आयोग ने निर्णय लिया है कि वर्तमान निर्देश ही बने रहेंगे तथा इनमें कोई छूट नहीं होगी।
श्री सज्जन सिंह ने कहा कि बहरहाल, आयोग के वर्तमान प्रतिबंधों के अन्तर्गत मुख्यमंत्री सहित राजनीतिक कार्यकत्र्ताओं द्वारा निजी हवाई जहाज़ों के उपयोग पर प्रतिबंध नहीं है। ऐसे राजनीतिक कार्यकत्र्ता, यदि आवश्यकता है तो, निजी हवाई जहाज़ किराये पर ले सकते हैं और अपने राजनीतिक अभियान तथा अन्य चुनाव सम्बन्धी गतिविधियों के लिए इसका उपयोग कर सकते हैं। ऐसे हवाई जहाज़ों के उपयोग के खर्च की अदायगी सम्बन्धित राजनीतिक पार्टियों द्वारा की जाएगी तथा इसका उल्लेख उनके खातों में सही ढंग से किया जाएगा।

लड़की बरामद, आरोपी फरार

डबवाली (लहू की लौ) लम्बी पुलिस ने छापामारी करके छह सितम्बर से गांव घुमियारा से लापता हुई लड़की को गांव लम्बी से बरामद कर लिया है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार घुमियारा निवासी मनजीत कौर पत्नी सुखदेव सिंह की शिकायत पर उसकी नाबालिग लड़की सर्वजीत कौर को इसी गांव के लखविन्द्र सिंह के साथ विवाह का झांसा देकर गांव के बस अड्डा से अपहरण करके ले जाने के आरोप में गांव के चार जनों बलौर सिंह पुत्र जसवीर सिंह, कुलवन्त सिंह पुत्र गुरदेव सिंह, लखविन्द्र सिंह पुत्र सुरजीत सिंह, बिन्द्र सिंह पुत्र सुरजीत सिंह के खिलाफ धारा 363, 366ए आईपीसी के तहत केस दर्ज करके उनकी तालाश शुरू कर दी थी।
सूत्रों ने आगे बताया कि पुलिस ने संदिग्ध स्थानों पर छापामारी करके लड़की को गांव लम्बी से बरामद कर लिया है और लड़की ने पुलिस को दिये ब्यान में कहा है कि पिछले 4-5 वर्ष से उसका लखविन्द्र से लव चल रहा था और मोबाइल पर अक्सर उनकी बातें भी होती रहती थीं। इसकी जानकारी जब उसकी माता मनजीत कौर को पता चला तो उसे उसके ननकाना गांव संघराना थाना बरीवाला में भेज दिया था। लेकिन 8 दिन पूर्व वह लखविन्द्र के साथ शादी करवाने के लिए भाग गई थी।
किलियांवाली चौकी प्रभारी एएसआई जसबीर सिंह ने उपरोक्त केस की पुष्टि करते हुए बताया कि बरामद लड़की के ब्यान दर्ज करके उसे उसके अभिभावकों को सौंप दिया है। जबकि आरोपी अभी फरार हैं, पुलिस छापामारी जारी है।

युवक का शव मिला

सिरसा (लहू की लौ) डबवाली रोड स्थित सूरज सिनेमा के निकट आज एक युवक का शव बरामद हुआ। सूचना मिलने पर शहर थाना पुलिस ने फोरेंसिक लैब की टीम घटना स्थल पर पहुंची। शव का पंचनामा कर सामान्य अस्पताल में पहुंचाया। मिली जानकारी के अनुसार आज प्रात: राहगीरों ने सूरज सिनेमा के निकट एक युवक का खून से लथपथ शव पड़े देखा।
मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। मौके पर पुलिस व फोरेंसिक लैब की टीम डा. अजमेर सिंह की अगुवाई में पहुंची। प्रथमदृष्टया पुलिस मामले को हत्या मान रही है। जांच के दौरान युवक की पहचान ट्रक चालक पप्पू सिंह निवासी तारतां के रूप में हुई। उधर, लोगों का कहना है कि पप्पू संभवत: किसी वाहन की चपेट में आया होगा, जिससे उसकी मौत हो गई।

धोखाधड़ी में पिता-पुत्रों के खिलाफ मामला दर्ज

सिरसा (लहू की लौ) धोखाधड़ी से जमीन खरीद-फरोख्त के मामले में पुलिस ने पिता-पुत्रों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। अभियोग दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।
मिली जानकारी के अनुसार गालेवाला (पंजाब) निवासी गुरसेवक सिंह पुत्र जगदेव सिंह गांव सिंहपुरा में अजैब सिंह पुत्र मुंशी सिंह से कुछ एकड़ जमीन खरीदी थी। गुरसेवक सिंह ने अजायब सिंह को बाकायदा चार लाख रुपये जमीन की अग्रिम राशि अदा की थी। अजैब सिंह ने यही जमीन किसी अन्य व्यक्ति को बेच दी। मामला पुलिस तक जा पहुंचा, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। आखिरकार पीडि़त गुरसेवक सिंह ने डबवाली न्यायालय की शरण ली। दायर याचिका में गुरसेवक सिंह ने कहा कि अजायब सिंह ने अपने पुत्रों बग्गा सिंह, जग्गा सिंह व छग्गा सिंह से मिलकर जमीन अन्य व्यक्ति को बेच दी। जब इस बाबत अजायब सिंह से बात की गई तो उन्होंने जान से मारने की धमकी दी। आरोपी चार लाख रुपये की अग्रिम राशि भी हड़प गए। आरोप है कि पुलिस ने उक्त लोगों के विरूद्ध कोई कार्रवाई नहीं की। आज न्यायलय ने ओढां थाना पुलिस को उक्त चारो पिता-पुत्रों के खिलाफ धोखाधड़ी, ठग्गी व जान से मारने की धमकी देने के आरोप में अभियोग दर्ज करने के आदेश दिए।

पुरातत्व विभाग की टीम को लोगों ने खदेड़ा

सिरसा (लहू की लौ) थेड़ मोहल्ला की पीर बस्ती पर लोगों से मकान खाली कराने के लए पहुंची पुरातत्व विभाग की टीम को लोगों ने खदेड़ दिया। बाद में मौके पर विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं ने रोटियां सेंकने का प्रयास किया। बस्ती के लोगों ने कांगे्रस के विरूद्ध जमकर नारेबाजी की। सभी नेताओं ने आश्वासन दिया है कि गरीबों को किसी भी सूरत में उजडऩे नहीं दिया जाएगा।
गौरतलब हो कि पुरातत्व विभाग ने थेड मोहल्ला की पीर बस्ती के लोगों को मकान खाली करने के नोटिस जारी किए हुए है और इस विभाग के अधिकारी कई बार बस्ती खाली कराने का प्रयास कर चुके हैं। मंगलवार की प्रात. पुरातत्व विभाग के कुछ अधिकारी मौके पर पहुंचे और मकान खाली करने के लिए कहा। इस पर बस्ती के लोगों ने विरोध करते हुए नारेबाजी शुरू कर दी, स्वयं को घिरा देखकर अधिकारी मौके से चले गए। इसके बाद में कांगे्रस नेता राहुल सेतिया मौके पर पहुंचे और लोगों को आश्वासन दिया कि उन्हें उजडऩे नहीं दिया जाएगा। उनके जाते ही बस्ती के लोगों ने कांगे्रस के विरूद्ध नारेबाजी शुरू कर दी। प्रदर्शनकारी महिलाओंं चमेली, रानी, नीकू, सीतादेवी, कमला, शीला, विमला, कृष्णा, पाला, जगर सिंह, देवेंद्र सिंह, धर्मपाल आदि ने बताया कि कांगे्रस सरकार उन्हें उजाडऩे पर तुली हुई है और बार-बार टीम को भेजकर उन्हें भयभीत कर रही है।
प्रदर्शनकारियों का कहना है कि वे पिछले तीन चार दशकों से बस्ती में रह रहे हैं और उनके राशन कार्ड बने हुए है, घरों में बिजली के कनेक्शन लिए हुए है और सरकार ने गलियां बनाई हुई है और नलकूप भी है। उन्होंने कहा कि वे जान दे सकते हैं लेकिन बसती को खाली नहीं करेंगे। मौके पर पहुंचे कांगे्रस के जिला प्रधान होशियारी लाल शर्मा ने कहा कि बस्ती के लोगों को किसी भी सूरत में उजडऩे नहीं दिया जाएगा और चुनाव के बाद उन्हें भूमि का मालिकाना हक दिलाने का प्रयास किया जाएगा। इनेलो के उम्मीदवार व जिला प्रधान पदम जैन ने कहा कि कांगे्रस गरीबों को उजाडऩे का कार्य कर रही है लेकिन ऐसा किसी भी सूरत में नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि इनेलो गरीबों के साथ है और उनके हितों की रक्षा के लिए कोई भी कुरबानी देने के लिए तैयार है। भाजपा के नगराध्यक्ष रोहताश जांगडा ने कहा कि कांगे्रस वोट की राजनीति के तहत मकान खााली कराने के नाम पर लोगों को भयभीत कर रही है उनहोंने कहा कि कांगे्रस की साजिश को कामयाम नहंीं होने दिया जाएगा।

कौन उठवाये मृत पशुओं को!

डबवाली (लहू की लौ) यहां की कबीर बस्ती के निवासी चुन्नी लाल, हनुमान, हेतराम, हरचन्द राम, मोहन राज, पतराम, लक्ष्मण बगैरा ने उपमण्डलाधीश को लिखे एक पत्र में कहा है कि वह अपने मृत पशुओं को कहां ले जायें। जबकि उन्हें डबवाली में कहीं भी जगह उपलब्ध नहीं करवाई जा रही।
शिकायतकर्ताओं के अनुसार कबीर बस्ती में उनकी एक गाय और एक बछड़ी रात को मर गई और उन्होंने इन पशुओं को दबाने के लिए नगरपालिका से गुहार लगाई। लेकिन पालिका ने न तो स्थान दिया और साथ में मृतक पशुओं को उठवाने से इंकार कर दिया। मृतक पशुओं के ठेकेदार ने भी पशु उठाने से इंकार कर दिया।

डेढ़ लाख उड़ाये

डबवाली (लहू की लौ) यहां की अनाज मण्डी में खड़े एक मोटरसाईकिल से तीन अज्ञात व्यक्ति डेढ़ लाख रूपये की नकदी निकालकर मोटरसाईकिल पर फरार हो गये।
यह जानकारी देते हुए पीडि़त केवल ऑपरेटर तथा गौ भक्त सुरेश बिश्नोई ने बताया कि वह करीब 2 बजे बैंक से डेढ़ लाख रूपये की राशि निकालकर लाया था। जोकि उसने अपने आढ़तिया को देनी थी। लेकिन वह मार्ग में अनाज मण्डी में दुकान नं. 136 पर रूक गया और मोटरसाईकिल को उसने दुकान के सामने लॉक लगाकर खड़ा कर दिया।
बिश्नोई के अनुसार करीब 10 मिनट बाद उसके साथी मदन लाल ने अचानक शोर मचा दिया और शोर सुनकर जब वह दुकान से बाहर आया तो उसे बताया कि मोटरसाईकिल की डिग्गी में रखी राशि तीन लोग उड़ा ले गये हैं। वे लोग मोटरसाईकिल पर थे। बिश्नोई ने बताया कि उसने इसकी सूचना पुलिस को दे दी है। थाना शहर पुलिस के अनुसार सुरेश की शिकायत पर मामले को गंभीरता से लेते हुए तफ्तीश शुरू कर दी गई है।

करंट लगने से युवक घायल

डबवाली (लहू की लौ) गांव जण्डवाला बिश्नोईयां में रविवार दोपहर को करंट लगने से बिजली का काम कर रहा युवक घायल हो गया। जिसे तुरन्त इलाज के लिए संगरिया अस्पताल में लेजाया गया। लेकिन वहां से उसे डबवाली भेज दिया गया।
घायल अंग्रेज कुमार पुत्र रामकुमार निवासी जण्डवाला बिश्नोईयां ने बताया कि वह गांव में बिजली ठेकेदार के पास काम करता है और उसने बिजली का डिप्लोमा भी किया हुआ है। वह रविवार दोपहर को ठेकेदार के कहने पर 11केवी लाईन के ट्रांस्फार्मर का जेम्पर काट रहा था कि अचानक बिजली का करंट लगा और वह धड़ाम से नीचे गिर गया। उसके सिर, बाजू, टांग आदि पर गंभीर चोटें आई हैं।

झगड़े में युवक घायल

डबवाली (लहू की लौ) रविवार रात को एक महिला और उसके तीन पुत्रों ने एक युवक की धुनाई कर दी और उसे बुरी तरह से चोटें मारी। जिसे घायल अवस्था में अस्पताल लाया गया।
रमेश पुत्र नन्द लाल निवासी कचहरी के सामने, डबवाली ने बताया कि दर्शना नामक महिला पिछले दो वर्षो से उसके साथ रह रही है। वह अपना घर छोड़कर उसके साथ वाटर वक्र्स क्षेत्र में किराये के मकान में रह रहा है और हलवाई का काम करता है। उसके अनुसार रात को उसने शराब पी रखी थी और नशे में उसके साथ रह रही दर्शना के उसने थप्पड़ रसीद कर दिया। जिस पर मौका पर दर्शना और उसके तीन बेटों ने उसे बुरी तरह पीटा तथा चोटें मारी।

डॉक्टर के घर से चोरों ने चुराये हजारों रूपये

डबवाली (लहू की लौ) यहां के फ्रेण्डस कलोनी में चोरों ने दो घरों की दीवार फांदकर घरों में घुसकर हजारों रूपये की नकदी और सामान चुरा लिया और आराम से फरार हो गये।
संगत मण्डी में कृषि अधिकारी सुशील बांसल ने बताया कि उसके डबवाली स्थित फ्रेण्डस कलोनी में कोठी नं. 136 में रात को अज्ञात चोर दीवार फांदकर घुसे और चोरों ने ड्राईंग रूम के दरवाजे के ऊपर बने रोशनदान का शीशा उतारा, लेकिन वहां ग्रिल लगे होने के कारण चोर वारदात करने में नाकाम रहे। लेकिन जाते समय नलके की एक पाईप उठा ले गये। जिसे चोरों ने कोठी के पीछे स्थित चुन्नी लाल मनचन्दा की कोठी के पास फेंक दिया।
चोरों ने फ्रेण्डस कलोनी में ही मुख्य रोड़ पर स्थित डॉ. हरचन्द की कोठी में घुसकर चोरी को अंजाम दिया। डॉ. हरचन्द के अनुसार चोर छत के ऊपर से होकर कोठी के भीतर घुसे और सबसे पहले चोरों ने घर के मुख्य कमरें की चाबी चुराई। इसके बाद चोर घर की बेसमेंट में गये और वहां पर सोये उसके बेटे और घर में आये रिश्तेदार के 6 मोबाइल, उनका अपना हैंडी कैमरा और 10 हजार रूपये की नकदी चुरा ले गये। चुराये गये हैंडी कैमरा और 6 मोबाइल फोन की कीमत 40,000 रूपये आंकी जा रही है।
इसकी सूचना पाकर मौका पर एएसआई कैलाश चन्द्र पहुंचे और उन्होंने निरीक्षण के बाद मामला दर्ज करके चोरों की तालाश शुरू कर दी।

घर के बैड पर जा चढ़े उत्पाती सांड, बाबा-पोता घायल

डबवाली (लहू की लौ) स्थानीय नगर में अवारा सांडों का उत्पात दिन-प्रतिदिन बढ़ रहा है। लोगों के बार-बार अनुरोध के बावजूद भी न तो प्रशासन और न ही गौशाला इस ओर ध्यान दे रहे हैं।
रविवार की रात को लगभग 10 बजे वार्ड नं. 1 के उत्तम नगर में राजू कढ़ाई वाला के मकान में घुस कर दो सांड और एक गाय उसके 11 वर्षीय बच्चे हन्नी को बुरी तरह घायल कर दिया तथा उसके पिता हरमेल सिंह को चोटें पहुंचाईं।
राजू के अनुसार रात को उनके घर का पिछला दरवाजा खुला था और इसी दौरान दो सांड और और एक गाय उनके घर में प्रवेश कर गये और कमरे में पड़े बैड पर जा चढ़े। इस बैड पर उसका बेटा हन्नी सोया हुआ था। जबकि उसका पिता पास ही पड़ी चारपाई पर सोया हुआ था। पिछले तीन दिनों से सांडों का उपद्रव लगातार जारी है। तीन दिन पूर्व सांडों ने कलोनी रोड़ पर सुबह खूब उत्पात मचाया और एक दुकान का शैटर तोड़ दिया। इसी प्रकार सब्जी मंडी के पास भी सांडों ने उपद्रव मचा कर करीब आधा घंटा तक इस सड़क का मार्ग जाम कर दिया। जबकि दुकानदारों ने अपनी दुकानों के शैटर बन्द करके अपने आपको बचाया।