युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

29 जुलाई 2011

जेल में बना ट्रांस्फार्मर चोर गैंग


डबवाली (लहू की लौ) छोटे-छोटे अपराधों में जेल जाने वाले बहुत कम लोग सुधरते हैं। जेलों में ही इन ये लोग बंद शातिर अपराधियों से अपराध का क ख ग सीखते हैं। बाहर आने के बाद एशो आराम की जिन्दगी जीने के लिए अपने उस्तादों के साथ मिलकर बड़ी वारदातों को अंजाम देते हैं।
यह खुलासा पुलिस के समक्ष ट्रांस्फार्मर चोरी में पकड़े गए सिरसा के थेहड़ मोहल्ला निवासी पम्मा उर्फ पम्मी ने पूछताछ के दौरान किया है। थाना सदर पुलिस ने पम्मा को हाल ही में डबवाली क्षेत्र में ट्रांस्फार्मर चोरी की घटनाओं में काबू किया था। दो दिन का पुलिस रिमांड लेकर पम्मा से जब पूछताछ की तो उसने अपने अपराधी बनने का नुस्खा पुलिस के समक्ष खोल दिया। जिसे सुनकर पुलिस भी हैरत में पड़ गई। पम्मा ने पुलिस को बताया कि वह एक निजी स्कूल की बस चलाया करता था। करीब पांच साल पूर्व उससे एक सड़क दुर्घटना हो गई। जिसमें एक व्यक्ति की मौत हुई। इसी मामले में उसे सिरसा जेल में जाना पड़ा। वहां उसकी मुलाकात ट्रांस्फार्मर चोरी में पहले से बंद बेअंत सिंह निवासी भाटी कालोनी, किलियांवाली, नोनिहाल सिंह सकताखेड़ा, जसकरण उर्फ जानी खुड्डियां गुलाब सिंहवाला से हुई। इन लोगों ने उसे बताया कि किस प्रकार वे दिनों में ही अमीर बनकर अपनी किस्मत का दरवाजा खोल सकता है। संयोग से जेल में ही जसकरण उर्फ जानी की मां उसकी घरवाली की मौसी निकल गई। जिससे जेल से बाहर आने के बाद उनका एक-दूसरे के घर में आना-जाना शुरू हो गया। इन लोगों ने जेल से बाहर आने के बाद जल्द अमीर बनने के लिए अपना गिरोह तैयार किया।
पम्मा के अनुसार उन्होंने चारों ने मिलकर जिला बठिंडा, श्री मुक्तसर साहिब तथा हरियाणा के जिला सिरसा में ट्रांस्फार्मर चोरी की घटनाओं को अंजाम देना शुरू कर दिया। पांच माह तक ये लोग इक्ट्ठे रहे। आपस में बांटकर खूब चोरी की मलाई खाई। मलाई के बंटवारे को लेकर ही उनकी गैंग में दरार पड़ गई। इससे पूर्व वह गैंग में शामिल बिजली मैकेनिक जानी से ट्रांस्फार्मर चोरी का काम सीख चुका था। आपस में बिगडऩे के बाद उसने गैंग से किनारा कर लिया और अपनी पत्नी कर्मजीत कौर को साथ लेकर ट्रांस्फार्मर चोरी करना शुरू कर दिया। पम्मा ने बताया कि वह अपनी पत्नी के साथ एक वर्ष से ट्रांस्फार्मर चोरी को अंजाम देता आ रहा है। अब तक वे दोनों पति-पत्नी जिला सिरसा में कई वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। जिसमें केवल थाना सदर डबवाली के अंतर्गत आने वाले 13 ट्रांस्फार्मरों को चुरा चुके हैं। पुलिस के समक्ष पम्मा ने स्वीकार किया कि वह 10 तथा 16 केवी के ट्रांस्फार्मर के चार नट खोल देता और उसे गिरा देता। बाकी का काम उसकी पत्नी करती। यदि मार्ग में उन्हें कोई मिल जाता तो वे स्वयं को पोस्ती बताकर निकल जाते।
थाना सदर प्रभारी एसआई रतन सिंह ने बताया कि दो दिन के पुलिस रिमांड के दौरान आरोपी पम्मा से 13 ट्रांस्फार्मरों से चुराए गई 22 किलो कॉपर वायर बरामद हुई है। उसकी पत्नी कर्मजीत कौर की तालाश जारी है। गुरूवार को पम्मा को डबवाली की अदालत में पेश किया गया। चौटाला पुलिस की याचिका पर अदालत ने आरोपी को एक दिन के पुलिस रिमांड पर चौटाला पुलिस को सौंप दिया।

मुश्किल में फंसे डबवाली के बीडीपीओ


डबवाली (लहू की लौ) गांव मसीतां के स्टेडियम निर्माण में हुए घपले के मामले में फंसे बीडीपीओ डबवाली की मुश्किलें कम नहीं हुई है। बल्कि बढ़ती जा रही हैं। ग्राम पंचायत ने जांच रिपोर्टों के बाद अब इस मामले को पुलिस के सुपुर्द उठाते हुए बीडीपीओ के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।
एसपी सिरसा को दी शिकायत में ग्राम पंचायत मसीतां के सरपंच शिवराज सिंह ने कहा है कि गांव में स्टेडियम के निर्माण के लिए सरकार ने 20 लाख से अधिक की अनुदान राशि स्वीकार की थी। जिससे स्टेडियम में हाल कमरा बनाया जाना था। सरकार ने पहली किश्त के रूप में इस अनुदान राशि मे ंसे 10 लाख 32 हजार रूपए की राशि बीडीपीओ डबवाली रामसिंह को भेजी थी। जिसमें से बीडीपीओ ने 3 लाख 74 हजार 333 रूपए निकालकर इस राशि से घटिया स्तर की जोडिय़ां खरीदी। इसकी जांच की मांग को लेकर उन्होंने उपायुक्त सिरसा को एक शिकायत दी थी।
उपायुक्त ने शिकायत की जांच करवाने का अधिकार उपमण्डलाधीश डबवाली डॉ. मुनीश नागपाल को देते हुए उसकी शिकायत को उपमण्डलाधीश के पास भेज दिया था। उपमण्डलाधीश के अनुरोध पर एसडीओ पंचायती राज ने जांच की। जिसमें 99703 रूपए निर्माण सामग्री पर बाजार मूल्य से अधिक खर्च पाए गए। इसी जांच रिपोर्ट को उपमण्डलाधीश डबवाली ने अपने पत्र क्रमांक 481, दिनांक 26.4.2011 को उपायुक्त सिरसा को भेज दिया।
सरपंच के अनुसार इसके बाद दूसरी बार उपायुक्त सिरसा ने एक्सीयन पीडब्ल्यूडी डिविजन नं. 1, सिरसा से इसकी जांच करवाई। एक्सीयन पीडब्ल्यूडी बीएण्डआर ने अपनी जांच रिपोर्ट में एक लाख एक हजार 247 रूपए की राशि का गबन पाया। एक्सीयन ने अपनी जांच रिपोर्ट को पत्र क्रमांक 2178, दिनांक 27 जून 2011 को उपायुक्त सिरसा को सौंप दिया।
सरपंच ने एसपी से पंचायत की ओर से अनुरोध किया है कि उपायुक्त सिरसा को दो अधिकारियों द्वारा भेजी गई जांच रिपोर्ट के बावजूद भी रामसिंह बीडीपीओ के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई है। हालांकि बीडीपीओ ने अपने पद का दुरूपयोग करते हुए पंचायत की राशि को निकाला तथा उसमें भी अनियमितता की। पंचायत ने एसपी से अनुरोध किया है कि बीडीपीओ के खिलाफ केस दर्ज करके गांव को न्याय दिलाया जाए तथा सरकार की राशि का दुरूपयोग करने वाले को अवश्यक सजा दिलाई जाए।
एसपी सतिंद्र गुप्ता ने उपरोक्त शिकायत मिलने की पुष्टि करते हुए बताया कि मामले की जांच के लिए ग्राम पंचायत मसीतां की शिकायत को थाना शहर डबवाली को भेजा गया है।

बिजली मांगने आए ग्रामीणों पर सरकारी संपत्ति के नुक्सान व सरकारी कार्य में बाधा डालने का मामला दर्ज


डबवाली (लहू की लौ) दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के गांव आसाखेड़ा में स्थित बिजलीघर में घुसकर बिजली कर्मचारियों से मारपीट करने, सरकार काम में बाधा डालने, तोडफ़ोड़ करने तथा जान से मारने की धमकी देने के आरोप में पुलिस ने पांच जनों को नामजद करते हुए करीब 20 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।
बुधवार को उपमण्डल के गांव लोहगढ़, राजपुरा, जोतांवाली, अबूबशहर, सुकेराखेड़ा तथा चौटाला की सिक्खावाली ढाणी के ग्रामीण शैड्यूल अनुसार बिजली की आपूर्ति किए जाने की मांग को लेकर गांव आसाखेड़ा स्थित दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के 132केवी सबस्टेशन पर सैंकड़ों की संख्या में पहुंचे। ग्रामीणों का शैड्यूल अनुसार बिजली की आपूर्ति को लेकर सबस्टेशन पर तैनात कर्मचारियों और एसडीओ के साथ विवाद हो गया था। जिसके चलते गुस्से में आए ग्रामीणों ने कुछ कर्मचारियों की पिटाई कर दी और उन्हें एसडीओ सहित कार्यालय से बाहर निकालकर बिजलीघर को ताला जड़ दिया था।
पुलिस को दी शिकायत में आसाखेड़ा बिजली सबस्टेशन पर तैनात जीसीओ शशि मोहन ने कहा कि वह 27 जुलाई 2011 को सुबह 10.45 पर डयूटी दे रहा था। इसी समय गांव राजपुरा के आत्मा राम, मिल्खी राम, मनोहर लाल, बिट्टू, राजीव व अन्य दस-पंद्रह लोग सबस्टेशन के अंदर घुसे। उन लोगों ने अंदर घुसते ही चिल्लाना शुरू कर दिया कि लाईट बंद करो, सबस्टेशन से बाहर निकल जाओ। शिकायतकर्ता के अनुसार जैसे ही वह अपनी सीट से उठा तो इन लोगों ने उसके साथ मारपीट की और गाली-गलौच किया। सबस्टेशन की चाबी व ताला उससे छीन लिया, लाईट बंद कर दी और ताला जड़ दिया। इसके बाद उससे धक्का मुक्की करके सबस्टेशन से बाहर निकाल दिया। इन लोगों ने बिजली दफ्तर को भी ताला जड़ दिया और कर्मचारियों को बाहर निकालकर उनसे गाली-गलौज किया।
पुलिस को एएफएम राधेश्याम ने भी अपने ब्यान दर्ज करवाते हुए कहा कि जैसे ही उसने शोर सुना, उसी समय वह वहां आ गया। वहां पर एक लड़के ने उसका कालर पकड़ा और उससे गाली-गलौज किया। कर्मचारी सत्यवान और सुरेश कुमार ने बीच-बचाव करके उसे उन लोगों से मुक्त करवाया। इसके बाद वे लोग सभी कर्मचारियों और उपमण्डल अधिकारी को बाहर रोड़ पर ले गए और धूप में उन्हें यह कहते हुए बैठा दिया कि जब तक उनकी समस्या का समाधान नहीं होता तब तक वे यहीं बैठे रहें। एएसए कमलदीप ने भी पुलिस में अपने ब्यान दर्ज करवाकर न्याय की गुहार लगाई है।
चौटाला पुलिस चौकी प्रभारी जीत सिंह कुंडू ने बताया कि शशि मोहन व अन्य कर्मचारियों के उपरोक्त ब्यानों के आधार पर गांव राजपुरा के आत्मा राम, मिल्खी राम, मनोहर लाल, बिट्टू, राजीव व अन्य दस-पंद्रह लोगों के खिलाफ दफा 332/353/186/427/147/149/506 आईपीसी के तहत मामला दर्ज करके आरोपियों की तालाश शुरू कर दी गई है।

स्वतंत्रता दिवस की तैयारियां शुरू


डबवाली (लहू की लौ) तहसील सत्र पर भी डबवाली के खेल स्टेडियम में हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी स्वतंत्रता दिवस बड़ी धूमधाम व हर्षाेल्लास के साथ मनाया जाएगा। स्वतंत्रता दिवस समारोह में प्रस्तुत किए जाने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम की बड़े उमंग व उत्साह के साथ तैयारियां शुरू की जा रही है। इसी उपलक्ष्य में गुरूवार को उपमंडलाधीश डॉ. मुनीश नागपाल के कार्यालय में एक बैठक का आयोजन किया गया जिसमें उप पुलिस अधीक्षक, तहसीलदार, स्कूलों के प्राध्यापक व सांस्कृतिक गतिविधियों से जुड़े अध्यापक व विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।बैठक में उपमंडलाधीश डा. मुनीश नागपाल ने स्वतंत्रता दिवस समारोह की तैयारियों के लिए सभी संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि समारोह में पुलिस दलों, एनसीसी तथा स्काऊटस की टुकडिय़ों द्वारा शानदार मार्च पास्ट की सलामी दी जाएगी। स्कूली बच्चों द्वारा पीटी शो का प्रर्दशन किया जाएगा। इन सभी कार्यक्रमों को बेहतर ढंग से करने के लिए 5, 10 व 12 अगस्त को खेल परिसर में रिहर्सल का आयोजन किया जाएगा।
उन्होंने यह भी बताया कि विभिन्न स्कूली बच्चों द्वारा सास्ंकृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे। इन सांस्कृतिक कार्यक्रम में समूह गान, हरियाणावी, समूह नृत्य तथा विभिन्न प्रदेशों की संस्कृति दर्शाने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम शामिल किए जाएंगे। सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लेने वाली टीमों का चयन समिति द्वारा किया जाएगा। सांस्कृतिक टीमों का चयन करने से पूर्व विभिन्न स्कूलों की टीमों का प्रदर्शन देखा जाएगा। बेहतरीन व शानदार प्रस्तुति देने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम की टीमों का चयन किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि स्वतंत्रता दिवस समारोह के उपलक्ष्य में शहर को स्वच्छ एवं सुंदर बनाया जाएगा तथा विभिन्न चौकों और मार्गों को सजाया जाएगा।  स्वतंत्रता दिवस समारोह से पूर्व शहर की सफाई व्यवस्था को दुरूस्त किया जाएगा। स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर विभिन्न सरकारी विभागों में कार्यरत उत्कृष्ट कार्य करने वाले कर्मचारियों व अधिकारियों को सम्मानित भी किया जाएगा।