युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

11 फ़रवरी 2010

पंचायत चुनावों के लिए माहौल गर्माया

औढ़ां (जितेन्द्र गर्ग) विधानसभा चुनावों के बाद गांवों में ग्राम पंचायत चुनावों को लेकर माहौल गरमाया हुआ है और सरपंच पद हेतु एक एक गांव में कई-कई उम्मीदवार ताल ठोक रहे हैं। लेकिन अनुसूचित जाति व महिलाओं के लिए आरक्षित सीटों को लेकर अभी तक असमंजस की स्थिति बनी हुई है। इसे लेकर आगामी 18 फरवरी को खंड कार्यालय ओढ़ां 37 ग्राम पंचायतों व 17 पंचायत समिति सदस्यों के लिए आरक्षित की जाने वाली सीटों को ड्रा निकाला जाएगा।
यह जानकारी देते हुए खंड कार्यालय के पटवारी सतपाल ने बताया कि 18 फरवरी को एसडीएम डबवाली मनीष नागपाल की अध्यक्षता में खंड कार्यालय में ड्रा निकाले जाएंगे। उन्होंने बताया कि खंड ओढ़ां के 37 गांवों में से सरपंचों की 8 सीटें अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित होंगी जिनमें से 3 महिला सरपंच होंगी। बाकी बची 29 सामान्य वर्ग की सीटों में से 9 सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित होंगी जबकि बची 20 सीटों पर पुरुष व महिला दोनों चुनाव लड़ सकते हैं। उन्होंने आगे बताया कि खंड ओढ़ां के कुल 374 पंचों में से 163 सीट अनुसूचित जाति के लिए होंगी जिनमें से 49 सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित होंगी। बाकी बची 211 सामान्य वर्ग की सीटों में से 33 महिलाओं के लिए आरक्षित होंगी। उन्होंने आगे बताया कि इसी प्रकार पंचायत समिति सदस्यों की 17 सीटों में से 7 सीटें अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित होंगी जिनमें से 2 महिलाएं होंगी। बाकी बची सामान्य वर्ग की 11 सीटों में से 4 महिलाएं होंगी।

प्रदर्शनों के नाम रहा बुधवार

मांगों को लेकर खेत मजदूर सड़कों पर
डबवाली (लहू की लौ) हरियाणा खेत मजदूर यूनियन के बैनर तले मनरेगा मजदूरों ने बुधवार को हरियाणा सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया तथा अपनी मांगों के समर्थन में उपमण्डलाधीश को ज्ञापन सौंपा। कामरेड गणपत राम, मनरेगा मजदूर सुन्दर लाल अबूबशहर, सुखदेव सिंह, बसन्त लाल, सतपाल, वीरां देवी, छिन्द्र कौर, बूटा सिंह के नेतृत्व में मजदूर यहां के बाबा रामदेव मन्दिर के पास एकत्रित हुए और प्रदर्शन करते हुए उपमण्डलाधीश कार्यालय तक पहुंचे। यहां पर अपनी मांगों के समर्थन में उपमण्डलाधीश मुनीष नागपाल को एक ज्ञापन भी सौंपा।
ज्ञापन में खेत मजदूरों ने योजना के तहत मिलने वाले कार्य को 200 दिन किये जाने, 200 रूपये प्रतिदिन के हिसाब से दिहाड़ी दिये जाने, जरूरी वस्तुओं के मूल्य कम किये जाने, सरकारी अस्पतालों में खेत मजदूरों का इलाज पूर्णतय मुफ्त किये जाने, बेरोजगार लड़के-लड़कियों को 3000 हजार रूपये प्रति माह बेरोजगारी भत्ता दिये जाने की मांग की।

होमगार्ड जवानों का जोरदार प्रदर्शन
डबवाली (लहू की लौ) होमगार्ड जवानों की यूनियन ने खेल परिसर में स्थित अपने कार्यालय पर अपनी मांगों को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया और आरोप लगाया कि होमगार्ड जवानों से भेदभाव करके पुराने और अनुभवी जवानों की छुट्टी की जा रही है।
होमगार्ड यूनियन के प्रधान विनोद कुमार, मंगत सिंह, हरपाल, शम्भू, इन्द्राज, महावीर, विक्रम, सोहन लाल, राधेश्याम, गुरसेवक, कुलविन्द्र, राजू, गोविन्द राम, सुखमन्दर, हरबन्स लाल आदि ने बताया कि पुराने तथा अनुभवी होमगार्ड जवानों की छुट्टी करके उनके स्थान पर नये, अनुभवहीन तथा सिफारशी जवानों की भर्ती की जा रही है। इसके लिए उन्होंने कम्पनी के जिला कमाण्डर ओमप्रकाश कुंडू तथा प्लाटून कमाण्डर गंगाजल बिश्नोई को उत्तरदायी ठहराया। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि होमगार्ड जवानों से पैसा ऐंठने वाले राजेश कुमार के खिलाफ गवाहों को एक-एक करके हटाया जा रहा है। ताकि उन पर गवाही मुकरने के लिए दबाव डाला जाये। यूनियन नेताओं के अनुसार इस नीति के तहत तरसेम कुमार और भारत भूषण को कम्पनी से हटा दिया गया है। इस मौके पर होमगार्ड जवानों ने नारेबाजी की और चेतावनी दी कि अगर कम्पनी से निकाले गये जवानों को वापिस नहीं लिया गया और सिफारशी भर्ती बन्द न की गई तो होमगार्ड जवान हड़ताल करने को मजबूर होंगे।

गली वासियों में फूटा रोष
डबवाली (लहू की लौ) यहां के बठिण्डा रोड़ पर स्थित वार्ड नं. 16 व 19 की सांझी गली, गली नं. 2 के लोगों ने बुधवार को जनस्वास्थ्य विभाग और नगरपालिका के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया। गली वासी राज सिंह मान, जरनैल सिंह, सुखमन्दर सिंह, दलेर सिंह, जग्गा सिंह आदि ने बताया कि काफी समय से उनकी गली का सीवरेज चॉक है। इसकी शिकायत जनस्वास्थ्य विभाग को करने पर विभाग के कर्मचारी आते हैं और थोड़ा-बहुत काम निपटाकर चलते बनते हैं। जिससे समस्या का स्थाई समाधान नहीं हो पा रहा।
उन्होंने आगे बताया कि उनकी गली कच्ची है। इस संदर्भ में वे लोग नगरपालिका अध्यक्षा से मिले थे। तो अध्यक्षा ने कहा था कि इसका टैण्डर हो चुका है और गली जल्द ही पक्की बन जाएगी। लेकिन इस बात को 6 माह बीत चुके हैं और समस्या ज्यों-की-त्यों है। इसलिए आज उन्हें दोनों विभागों के खिलाफ नारेबाजी करने को मजबूर होना पड़ा। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर समस्या का स्थाई हल न किया गया तो वे नगरपालिका और जनस्वास्थ्य विभाग का घेराव करेंगे। उनके अनुसार उनकी गली गन्दे पानी से आज भी भरी हुई है।
इस सम्बन्ध में जब जनस्वास्थ्य विभाग के जेई सतपाल रोज से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि उक्त गली के निवासियों ने विभाग के कार्यालय में कोई शिकायत नहीं की। अब जबकि उन्हें शिकायत मिली है तो वे समस्या का जल्द समाधान करवा देंगे।

पंजाब सरकार के खिलाफ टीएसयू कर्मचारी हड़ताल पर

डबवाली (लहू की लौ) पंजाब सरकार द्वारा राज्य बिजली बोर्ड को प्राईवेट हाथों में 15 फरवरी को सौंपे जाने के विरोध में बोर्ड के कर्मचारियों ने बुधवार को औजार छोड़ हड़ताल रखी। यह जानकारी देते हुए टीएसयू के सबडिविजन अध्यक्ष सुखदर्शन सिंह, सांझा फोर्म के प्रधान जंगीर सिंह ने संयुक्त रूप से बताया कि अगर सरकार ने अपने इस फैसले को वापिस नहीं लिया तो कर्मचारी अनिश्चित काल के लिए हड़ताल पर चले जाएंगे। उन्होंने यह भी बताया कि आज हड़ताल के साथ-साथ टीएसयू और सांझा फोर्म ने गेट रैलियां करके भी सरकार को अपनी भावनाओं से अवगत करवा दिया है। इस अवसर पर सुखदेव सिंह सचिव, जगदीश राय, खजाना राम, हरदेव सिंह, मोहन सिंह, जगवीर सिंह, निरपाल सिंह आदि उपस्थित थे।