युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

30 अक्तूबर 2009

...नहीं तो केवी सिंह 20,000 से हारते-प्रताप

डबवाली (लहू की लौ) पूर्व विधायक प्रताप सिंह चौटाला ने कहा कि उसके बेटे रवि चौटाला के डबवाली विधानसभा सीट से आजाद लडऩे से कांग्रेस को ही लाभ हुआ है। चूंकि इससे इनेलो बूथ कैपचरिंग और जाली मतदान नहीं कर पाई। उनके अनुसार अगर रवि चौटाला चुनाव मैदान में न होता तो केवी सिंह 20,000 से भी अधिक मतों के अन्तर से हारता। उन्होंने यह भी कहा कि जो लोग डबवाली विधानसभा से कांग्रेस की टिकट के इच्छुक थे, उन्हें डॉ. केवी सिंह ने मतदान के कुछ दिन पूर्व पार्टी से निष्कासित करवाकर उचित कार्य नहीं किया। इससे निष्कासित नेताओं के समर्थक गुस्से में आ गये और उन्होंने भी केवी सिंह को हरवाने में अपनी अहम भूमिका निभाई।
उन्होंने यह भी कहा कि अगर मजबूत और पार्टी के सभी वर्गों को मान्य व्यक्ति कांग्रेस की सीट पर चुनाव मैदान में उतारा जाता तो वह अवश्य जीतता।

पशुधन केन्द्र का रिहायशी मकान जर्जर

बनवाला (जसवंत जाखड़) गांव चक्कां में पशुधन केंद्र में रिहायशी मकानों की हालत जर्जर होकर रह गई है। कुछ माह पूर्व तक यह पशुधन केंद्र बंद रहता था लेकिन आजकल चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी राजेंद्र कुमार ने डयूटी ज्वाईन कर रखी है और अमनजीत वीएलडीए के पास इसका चार्ज है जो कि चार गांवों चक्का, कुस्सर, घोड़ावाली, गिंदड़ व महमदपुरा का कार्य संभाल रहे हैं।
चतुर्थ श्रेणी कर्मी राजेंद्र ने बताया कि इस भवन में बने रिहायशी मकान में दो कमरे, एक बरामदा, एक स्नानगृह और एक रसोई बने हुए हैं जिनकी छतें तथा फर्श ही हालत जर्जर हो चुकी है और दीवारों से पलस्तर उखड़ गया है। इसकी छतें इतनी जर्जर हो चुकी हैं कि कभी भी गिर सकती हैं और कोई भी हादसा हो सकता है। उसने बताया कि रिहायशी मकान की हालत जर्जर होने के कारण उन्हें डिस्पेंसरी व दफ्तर में ही रहना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि इन मकानों की जर्जर हालत को देखते हुए वो अपने परिवार को भी यहां नहीं ला सकता और उसे अकेले ही रहना पड़ रहा है।
इस विषय में वीएलडीए अमनदीप से बात किए जाने पर उन्होंने बताया कि इन मकानों की जर्जर हालत को देखते हुए एस्टीमेट बनाकर भेज रखा है और ग्रांट आते ही इनकी रिपेयर करवा दी जाएगी।

महिला ने दम तोड़ा

डबवाली : गत दिवस चाय बनाते समय आग से झुलसी सपना पत्नी नरेश कामरा ने आज वीरवार को एक प्राईवेट अस्पताल में दम तोड़ दिया। जिसके शव को सिविल अस्पताल में लाया गया और गोल बाजार पुलिस चौकी ने उसके पार्थिव शरीर का पोस्टमार्टम करवाने के बाद उसके शव को उसके वारिसों को सौप दिया। सपना हनुमानगढ़ की लड़की थी और करीब 6-7 वर्ष पूर्व ही उसकी शादी डबवाली में वार्ड नं. 3 निवासी मथुरा दास के बेटे नरेश उर्फ बिट्टू के साथ हुई थी। वह चाय बनाते समय 11 अक्तूबर को जल गई थी और उसे गंभीर हालत में एक प्राईवेट अस्पताल में दाखिल करवाया गया था।

साईकिल चालक की मौत

डबवाली (लहू की लौ) गांव अलीकां के बस स्टैड पर एक मोटरसाईकिल की टक्कर से साईकिल चालक की मौका पर ही मौत हो गई। जिसकी पहचान घोना पुत्र भूरा सिंह के रूप में हुई है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार वीरवार सुबह घोना सिंह गांव अलीकां में बलजीत सिंह नम्बरदार निवासी गांव डबवाली के खेत में पानी लगाकर वापिस अपने गांव डबवाली लौट रहा था कि जैसे ही अलीका के बस अड्डे के नजदीक पहुंचा तो एक मोटर साईकिल ने उसके साईकिल में टक्कर मारी दी और उसकी नीचे गिर जाने से मौका पर ही मौत हो गई।
पुलिस ने भूरा सिंह की शिकायत पर अज्ञात मोटरसाईकिल चालक के खिलाफ मामला दर्ज करके पोस्टमार्टम के बाद घोना का शव उसके वारिसों को सौंप दिया।

पेट्रोल पम्प लूट का प्रयास

सिरसा (लहू की लौ) गाड़ी में पैट्रोल भरने से इंकार करने पर तीन युवकों ने कल झोरडऩाली गांव स्थित एक पैट्रोल पंप पर खूब बवाल काटा। कारिंदे से मारपीट तो की ही, कार्यालय में तोडफ़ोड़ की और रुपयों के गल्ले को बाहर फेंक दिया। बाद में मौके पर लोगों को इक_ा होते देख हुड़दंगी मौके से भाग खड़े हुए। पुलिस ने पैट्रोलपंप के कारिंदे की शिकायत पर मामला दर्ज कर आरोपियों की धरपकड़ के प्रयास शुरू कर दिए हैं।
 मिली जानकारी के अनुसार गांव झोरडऩाली में राधेश्याम पेट्रोकेयर है। रात्रि करीब 10 बजे बोलेरो गाड़ी पर तीन युवक पैट्रोल पम्प पर पहुंचे। उक्त लोगों ने पैट्रो पम्प के कारिंदे सतपाल पुत्र भीमाराम निवासी गुनाडा (राज.) को गाड़ी में डीजल डालने के लिए कहा। कारिंदे ने पम्प पर बिजली न होने की बात कही। इस बात से बोलेरो चालक तैश में आ गया और सतपाल से मारपीट करने लगा। उक्त तीनों युवकों ने पम्प पर तोडफ़ोड़ की और कैबिन में रख गल्ले को बाहर फैंक दिया। सतपाल के शोर मचाने पर गांव के लोग एकत्रित होने शुरु हो गए। लोगों का हुजूम इक्ट्ठा होते देख तीनों युवक गाड़ी में सवार हो फरार हो गए। सदर थाना पुलिस ने सतपाल की शिकायत पर अज्ञात लोगों के खिलाफ भादस. की धारा 393, 396 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।

चोर तिजोरी उठा ले गये

सिरसा (लहू की लौ) डबवाली रोड स्थित एक राइस मिल से कल रात चोर तिजोरी उठाकर ले गए। मिल संचालक के अनुसार तिजोरी में लगभग पांच लाख रुपए की नकदी और कुछ अन्य सामान था। बाद में पुलिस ने छानबीन करते हुए तिजोरी नटार क्षेत्र से बरामद की लेकिन उसमें से रकम गायब बताई गई है।
 मिली जानकारी के अनुसार डबवाली रोड स्थित औद्योगिक क्षेत्र में सरिया राइस मिल है। गत रात्रि अज्ञात लोग मिल में जा घुसे। उस वक्त मिल में चौकीदार के अलावा कोई नहीं था। उक्त लोगों ने वहां चौकीदार को बंधक बनाया और उसे नशीली दवा सुंघा दी। दवा के प्रभाव से चौकीदार बेसुध हो गया। काफी समय बाद चौकीदार को होश आया। उसने मिल के कार्यालय से तिजोरी को नदारद पाया और तुरंत सूचना मिल संचालक सतनारायण सरिया को दी। संचालक ने चोरी बाबत शहर थाना पुलिस को जानकारी दी। सूचना मिलने पर शहर थाना प्रभारी, फॅारेंसिक टीम तथा डॉग स्क्वायर्ड टीम ने मौका मुआयना किया। पुलिस सूत्रों के अनुसार चोरों ने तिजोरी तोडऩे का प्रयास किया लेकिन नाकाम रहने पर वे उसे उठाकर अपने साथ ही ले गए। पुलिस ने छानबीन करते हुए तिजोरी नटार क्षेत्र से बरामद की। मिल संचालक सतनारायण के अनुसार तिजोरी में पांच लाख रुपए की नकदी थी जबकि बरामद हुई तिजोरी खाली थी। पुलिस का कहना है मामले की जांच जारी है। शीघ्र ही आरोपियों को गिरफ्त में ले लिया जाएगा।

पटवारी रिश्वत लेते रंगे हाथों काबू

सिरसा (लहू की लौ) रानियां तहसील में आज विजिलेंस की टीम ने एक पटवारी को रिश्वत लेते रंगे हाथों काबू किया। आरोपी को काबू कर न्यायालय में पेश किया गया। पटवारी के कब्जे से पुलिस ने रिश्वत में ली गई आठ हजार रुपए की राशि बरामद की है।
 मिली जानकारी के अनुसार रानियां के अंतर्गत गांव संतनगर निवासी हरविंद्र सिंह ने जमीन की गिरदावरी करवानी थी। इस बाबत उसने अपने हल्के के पटवारी भले राम से संपर्क किया। पटवारी भले राम ने किसान हरविंद्र से गिरदावरी की एवज में 15 हजार रुपए की मांग की। आखिरकार हरविंद्र और पटवारी के बीच आठ हजार रुपए में सौदा फिट हुआ। बात तय कर हरविंद्र ने उसे रकम की अदायगी के लिए आज का दिन तय किया। इस दौरान उसने विजिलेंस में पटवारी के खिलाफ शिकायत कर दी। आज विजिलेंस टीम ने हरविंद्र को विशेष पाउडर लगे नोट देकर पटवारी भलेराम के पास भेजा। उसके साथ ही विजिलेंस की टीम राजस्व अधिकारी रामसिंह के नेतृत्व में
तहसील पहुंची।
टीम में रामसिंह के अलावा उपनिरीक्षक जिले सिंह, सहायक उपनिरीक्षक ईश्वर सिंह व सहायक उपनिरीक्षक कृष्णलाल शामिल थे। ज्यों ही हरविंद्र ने पटवारी को एक हजार रुपए के आठ नोट थमाए, विजिलेंस टीम ने छापा मार दिया। मौके से ही पटवारी भले राम को रिश्वत में मिली आठ हजार रुपए की राशि सहित धर-दबोचा गया। पटवारी के हाथ धुलवाए गए तो रंग निकला। टीम ने भले राम को हिरासत में ले लिया। आज उसे न्यायालय में पेश किया जाएगा।