युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

31 जुलाई 2011

किलोमीटर लम्बी टेलीफोन केबल काटी


बीएसएनएल तथा पंजाब जनस्वास्थ्य विभाग में तनाव, मामला उच्च अधिकारियों के पाले में
डबवाली (लहू की लौ) केंद्र सरकार का बीएसएनएल तथा पंजाब सरकार का जनस्वास्थ्य विभाग सीवरेज पाईप डालते समय बीएसएनएल की तारें कटने पर आमने-सामने आ गए हैं। दोनों टकराव के मूड में हैं। बीएसएनएल के अधिकारियों ने पंजाब पुलिस पर सुनवाई न करने का आरोप लगाते हुए उच्च अधिकारियों को अवगत कराया है। इधर पंजाब पुलिस ने जांच करने का दावा करते हुए मामले में पंजाब जनस्वास्थ्य विभाग तथा संबंधित ठेकेदार को क्लीन चिट दे दी है।
जनस्वास्थ्य विभाग पंजाब गांव किलियांवाली से भाटी कलोनी तक एक किलोमीटर एरिया में सीवरेज डाल रहा है। इस कार्य का ठेका विभाग ने सर्वजीत सिंह सैनी नामक व्यक्ति को दिया हुआ है। बीएसएनएल डबवाली के कनिष्ठ अभियंता पवन अग्रवाल ने किलियांवाली पुलिस को दी शिकायत में कहा है कि गांव किलियांवाली के करीब 30 लैंडलाईन फोन एक्सचैंज से जुड़े हुए हैं। इसके लिए विभाग ने 50 पेयर की केबल लगभग एक किलोमीटर क्षेत्र में डाली हुई थी। लेकिन जनस्वास्थ्य विभाग के ठेकेदार के करिंदों ने लापरवाही बरतते हुए जेसीबी मशीन के जरिए केबल को काट दिया। जिससे गांव के सभी फोन डैड हैं।
बीएसएनएल उपमण्डल डबवाली के एसडीई मनमोहन शर्मा ने बताया कि 21 जून को दी शिकायत पर किलियांवाली पुलिस ने कोई गौर नहीं किया। जिसके चलते उन्होंने इसी हफ्ते एसएसपी श्री मुक्तसर साहिब को एक शिकायत भेजकर उपरोक्त मामले से अवगत करवाया। लेकिन पत्र के बदले किलियांवाली पुलिस ने उन्हें साफ तौर पर कह दिया है कि टेलीफोन की तारें जमीन में डली होने संबंधी ठेकेदार के कर्मचारियों को कोई जानकारी नहीं थी, जिसके कारण मशीन से तारें कट गई। इसमें ठेकेदार ने जानबूझकर ऐसा नहीं किया। एसडीई के अनुसार एक किलोमीटर तक जेसीबी तारें काटती रही, लेकिन किसी को मालूम नहीं हुआ कि तारें कट रही हैं, ऐसा कैसे हो सकता है? इससे बीएसएनएल को करीब डेढ़ लाख रूपए का नुक्सान हुआ है। उन्होंने उपरोक्त कार्रवाई की जानकारी अपने उच्च अधिकारियों को दी है।
इस संबंध में ठेकेदार सर्वजीत सिंह सैनी ने बताया कि कार्य आरंभ करते समय बीएसएनएल के अधिकारियों को अवगत करवाया गया था। लेकिन कोई कर्मचारी या अधिकारी मौका पर नहीं पहुंचा। दूसरा टेलीफोन की तार को सही तरीके से नहीं डाला गया। तार आड़ी-तिरछी डली हुई है। जिसके कारण जमीन में तार डली होने का पता नहीं चलता। इसमें उसके कर्मचारियों का कोई दोष नहीं है।
जनस्वास्थ्य विभाग पंजाब के एसडीई सुखदर्शन सिंह ने बताया कि गांव किलियांवाली से भाटी कलोनी तक करीब एक किलोमीटर लम्बी सीवरेज लाईन डाली जा रही है। टेलीफोन की केबल जिग-जेग (आड़ी-तिरछी) डली हुई थी। जिसके कारण निर्माण के दौरान जेसीबी से कुछ कट गई। लेकिन यह कार्य जानबूझकर नहीं किया गया।
किलियांवाली पुलिस चौकी के प्रभारी एएसआई जीत सिंह ने बताया कि बीएसएनएल डबवाली के जेई पवन अग्रवाल की शिकायत उनके पास आई थी। पुलिस ने मौका का निरीक्षण करने के बाद पाया कि ठेकेदार फर्म तथा पंजाब जनस्वास्थ्य विभाग ने जानबूझकर तार नहीं काटी है।
उधर बीएसएनएल डबवाली के अधिकारी इस मामले को काफी गंभीर मान रहे हैं। ठेकेदार पर पंजाब पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई न किए जाने के कारण उन्होंने पुलिस, ठेकेदार तथा पंजाब जनस्वास्थ्य विभाग की शिकायत अपने उच्च अधिकारियों से की है।

डबवाली कोर्ट में महिला बेहोश


डबवाली (लहू की लौ) अदालत में पेशी भुगतने के लिए आई महिला बहस के दौरान बेहोश होकर गिर गई। जिसे सूचना पाकर पहुंचे चिकित्सकों ने अदालत में उसे प्राथमिक उपचार देकर अस्पताल पहुंचाया। महिला को करीब दो घंटे बाद होश आया।
कालांवाली निवासी बलवीर सिंह ने बताया कि उसकी दो बेटियां वीरपाल कौर तथा राज रानी हैं। दोनों ही विवाहिता हैं। उसकी 32 वर्षीय बेटी राज रानी की शादी 25 फरवरी 2008 को पंजाब के तलबंडी साबो के गुरबख्श सिंह के बेटे राजिंद्र सिंह के साथ हुई थी। बेटा न होने की वजह से उसकी जायदाद उनकी बेटियों के हिस्से में आती है। शादी के कुछ समय बाद ही राजिंद्र उसका घर जवाईं बनकर जायदाद हड़पने के सपने पालने लगा। अपने घिनौने सपने को पूरा करने के लिए वह अपने अनय पारिवारिक सदस्यों के साथ उसकी बेटी को मानसिक तथा शारीरिक रूप से प्रताडि़त करने लगा।
इस मामले को लेकर वे पुलिस में भी गए। लेकिन वहां उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई। आखिर उन्होंने अगस्त 2009 को डबवाली अदालत का दरवाजा खटखटाकर राजिंद्र सिंह से 10 हजार रूपए प्रति माह के हिसाब से गुजारा-भत्ता दिलाए जाने की मांग की। शनिवार को मामले की तारीख थी। राजिंद्र भी अदालत में आया हुआ था। बलवीर सिंह के अनुसार उपमण्डल न्यायिक दण्डाधिकारी डॉ. अतुल मडिया की अदालत में बहस चल रही थी। बहस के दौरान तनाव में आकर उसकी बेटी सुबह करीब 10 बजे बेहोश हो गई।
अदालत में महिला के बेहोश हो जाने की सूचना पाकर राजकीय अस्पताल के कार्यकारी एसएमओ डॉ. एमके भादू तथा डॉ. सुखवंत सिंह मौका पर पहुंचे। उन्होंने महिला को प्राथमिक उपचार दिया। बेहोशी की हालत में महिला को तत्काल अस्पताल में लाया गया। वहां दो घंटे बाद महिला को होश आया।
होश में आने के बाद गांव दादू के राजकीय स्कूल में जेबीटी टीचर राज रानी ने बताया कि न्यायिक दण्डाधिकारी के सामने राजिंद्र बार-बार उसे अपने साथ लेजाने की बात कह रहा था। जिससे वह तनाव में आ गई और गिरकर बेहोश हो गई। वह राजिंद्र के साथ नहीं जाना चाहती। टीचर के अनुसार राजिंद्र कई बार गांव दादू में उसका रास्ता रोककर उसे धमकी दे चुका है। उसने अपने साथ हुए जुल्मों के बारे में जज साहेब को बता दिया है। जज साहेब ने उसे पुलिस सुरक्षा देने का भरोसा दिलाया है।
चिकित्सक एमके भादू ने बताया कि महिला अत्याधिक तनाव तथा गर्मी की वजह से बेहोश हुई। महिला को कुछ दिन इलाज लेने की सलाह दी गई है।

शिवरात्रि के अवसर पर जागरण

बनवाला (जसवंत जाखड़) रामगढ़ में स्थित श्रीशिव मंदिर में शिवरात्रि के अवसर पर मंदिर के संचालक बाबा कृष्णनाथ की देखरेख में जागरण आयोजित किया गया। जागरण में ऐलनाबाद मनीराम एण्ड पार्टी ने श्रीगणेश वंदना आओ जी गजानंद मेह थाहने पुकारां, डमडम डमरू बाजे, भोला शंकर कांवडिय़ों के साथ मस्ती में नाचें और भोले भंडारी तेरी लीला न्यारी आदि भजन गाए। इस अवसर पर 24 घंटे का श्रीरामायण का अखंडपाठ भी रखा गया था जिसका भोग डाला गया। इसके उपरांत शनिवार की सुबह हवन यज्ञ आयोजित किया गया और फिर भंडारे में हलवे का प्रसाद वितरित किया गया जिसमें ग्यारह सौ से ज्यादा लोगों ने भंडारे में भाग लिया। इस अवसर पर महाराजा रणजीत सिंह युवा क्लब एवं युवा क्लब रामपुरा विश्रोईया के सदस्यों ने सेवा कार्य में भाग लिया। सेवादारों में सुशील कुमार, भीमसैन, कृष्ण कुमार, रमेश, विनोद, भाल सिंह, मालाराम, मास्टर फूल सिंह, रामप्रताप, पवन कुमार, बसीलाल और गोपीराम उपस्थित थे।

कार्यशाला में बालक के विकास पर हुई चर्चा


डबवाली (लहू की लौ) शहीद अशोक वढेरा सरस्वती विद्या मंदिर में आयोजित आचार्य प्रशिक्षण वर्ग के प्रशिक्षण शिविर का उद्घाटन हिन्दू शिक्षा समिति हरियाणा कार्यकारिणी सदस्य मदन लाल और प्राचार्य रणवीर सिंह ने मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्जवलित करके किया।
इस कार्यशाला में बालकों के सर्वांगीण विकास व शिक्षा में आने वाली कठिनाइयों को दूर करने का संकल्प लिया। प्रशिक्षण शिविर में मुख्य विषय बालक के विकास में आचार्य व अभिभावक का दायित्व, हमारा बालक संस्कारित कैसे बने, बच्चे के शारीरिक व मानसिक विकास के लिए योग ही सबसे अच्छा उपाय है। इस मौके पर प्राचार्य रणवीर सिंह ने कहा कि आज बालक, पालक व संचालक सबके एक साथ होने पर ही बालक का विकास किया जा सकता है। इस कार्यशाला में बिशनामल जैन सरस्वती विद्या मंदिर कालांवाली, लूना राम सरस्वती विद्या मंदिर गंगा के सभी आचार्यों ने भी भाग लिया। विद्यालय प्रबंधक समिति के प्रबंधक अमृतपाल ने कहा कि बच्चों के साथ प्रेमपूर्वक व्यवहार किया जाना चाहिए।

बलात्कार का आरोपी रिमांड पर


डबवाली (लहू की लौ) गांव चकरूलदू सिंह वाला में एक विवाहिता से बलात्कार करने के आरोपी व्यक्ति को संगत पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर शनिवार को बठिंडा अदालत में पेश करके एक दिन का पुलिस रिमांड ले लिया।
थाना संगत प्रभारी एसआई अमृतपाल सिंह ने बताया कि गांव चक्करूलदू सिंह वाला की राजेन्द्र कौर पत्नी गुरप्रीत सिंह ने शिकायत करके कहा था कि वह 27 जुलाई को घर पर अकेली थी, उसका पति माता के दर्शनों के लिए गया हुआ था जबकि उसका ससुर दिहाड़ी पर गया हुआ था। इसी दौरान उनके ही गांव का मलकीत सिंह उसके घर में घुसा और उसके साथ दुष्कर्म किया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 376/452 आईपीसी के तहत केस दर्ज करके महिला का स्वैब लेकर जांच के प्रयोगशाला में भेज दिया है।

आश्वासन के बाद उखाड़े तंबू


कालांवाली (संजीव सिंगला) गांव कुरंगावाली में पिछले दो दिनों से चौबीस घंटे बिजली आपूर्ति को लेकर बिजली घर पर ग्रामीणों द्वारा लगाया गया ताला आज खोल दिया गया। ग्रामीणों से बातचीत करने के लिए दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम मण्डल डबवाली के अभियंता वीके रंजन, एचवीपीएनएल के एक्सीयन रूपेश खैरा, आरके जैन प्रोजेक्ट मैनेजर, वीके चौधरी एसडीओ कंस्ट्रक्शन, एमआर सचदेवा एक्सीयन कंस्ट्रक्शन, आरके कंबोज एक्सीयन सिविल, डीआर वर्मा एसडीओ कंस्ट्रक्शन मौका पर पहुंचे।
अधिकारियों ने गांव के सरपंच जसपाल सिंह से बातचीत की। ग्रामीणों की समस्या के समाधान के लिए दो एकड़ जमीन की मांग की, ताकि वहां पर 33केवी सबस्टेशन बनाकर चौबीस घंटे गांव को बिजली दी जा सके। पंचायत ने मौका पर ही प्रस्ताव पारित करके दो एकड़ जमीन निगम को देने की घोषणा की। अधिकारियों ने तुरंत एसई (ऑप्रेशन) आरके जैन सिरसा से बातचीत करके ग्रामीणों को आश्वासन दिलाया कि उनके गांव में सबस्टेशन बनते ही चौबीस घंटे बिजली की आपूर्ति शुरू कर दी जाएगी।