युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

14 नवंबर 2010

चलती कार में बच्चा जन्मा

डबवाली (लहू की लौ) लाखों दर्शकों के दिलों पर राज करने वाली हिन्दी मूवी 'थ्री इडियट्सÓ  में अमीर खान के 'ऑल इज वेलÓ का जादू लोगों के सिर चढ़कर बोला था। एकबारगी फिर शनिवार अल सुबह करीब दो बजे डबवाली के सरकारी अस्पताल में 'ऑल इज वेलÓ की गूंज सुनाई दी। चूंकि एक महिला ने नन्हीं जान को कार में जन्म दिया था। जन्म के समय बच्चा रोया नहीं था। लेकिन जब उसकी पीठ को सहलाया गया तो बच्चे की किलकारी गूंज उठी।
साथ लगते पंजाब के गांव किलियांवाली के किसान नछत्तर सिंह के खेत में नरमा चुगने के लिए राजस्थान की तहसील विजयनगर के गांव गोमांवाली से आए दिहाड़ी मजदूर सतनाम (35) की पत्नी मनप्रीत कौर (32) को शनिवार सुबह करीब दो बजे प्रसव पीड़ा हुई। वह जमींदार की मदद से अपनी पत्नी को कार से डबवाली के सरकारी अस्पताल ला रहा था। डबवाली की नई अनाज मण्डी के पास कार में ही मनप्रीत ने एक बेटे को जन्म दिया। लेकिन बच्चे की किलकारी नहीं गूंजी। जिस पर सतनाम के होश उड़ गए। डबवाली के सरकारी अस्पताल में पहुंचकर सतनाम ने नन्हीं जान को अपने हाथों में लिया और उसकी पीठ थपथपाई, तो डबवाली का सरकारी अस्पताल किलकारियों से गूंज उठा। ऐसा होता देख अस्पताल में मौजूद लोगों से 'ऑल इज वेलÓ बोले बिना रहा नहीं गया।
सतनाम (35) निवासी गोमांवाली हाल किलियांवाली ने इस संवाददाता से बातचीत करते हुए कहा कि शनिवार सुबह करीब दो बजे उसकी पत्नी मनप्रीत को प्रसव पीड़ा हुई थी। अस्पताल लेजाते समय कार में मनप्रीत ने चांद से बेटे को जन्म दिया। जन्म लेने के बाद उसका बेटा रोया नहीं। जिससे वह चिंता में पड़ गया था।  उसकी सांसें थम गईं। लेकिन जब उसने बच्चे की पीठ थपथपाई तो वह रोने लगा। बच्चे के रोने से उसके प्राण वापिस लौट आए। सतनाम के अनुसार यह उसका पांचवां बच्चा है। उसके तीन बेटियां पूजा (8), अंजू (6) पवनदीप कौर (4) और एक बेटा ब्रह्मदेव (2) हैं।
इस संदर्भ में डॉ. अमरदीप जस्सी से बातचीत की गई तो उन्होंने भी 'ऑल इज वेलÓ कहा। उन्होंने कहा कि नॉर्मल डिलीवरी हुई है। जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं।

विद्यालयों में रही बाल दिवस की धूम

डबवाली (लहू की लौ) केअरवेल इंटरनेशनल स्कूल ख्योवाली (लम्बी) में बाल दिवस के अवसर पर भव्य समारोह का आयोजन किया गया। बच्चों के अंतर्मन को निखारने के लिए बच्चों की वर्कशॉप का आयोजन किया गया। जिसमें बच्चों को दीयों, मोमबत्तियों, छोटी-छोटी मटकियों को सजाने संवारने के लिए रंगी चमकीले पाऊडर, फैन्सी टैपस, विभिन्न रंगों व फूलों की निराली छटा प्रदान करना सिखाया गया। नन्हें हाथों ने बु्रशों से इन्द्रधनुष को स्कूल प्रांगण में उतार दिया।
वर्कशॉप का संचालन परमवीर कौर ने सुमन व कर्मजीत कौर के सहयोग से किया। बाद में बच्चों ने सामाजिक जागरूकता लाने हेतू विश्व शांति मार्च निकाला। मार्च के दौरान बच्चे भ्रूण हत्या बंद करो, पानी और ऊर्जा की बचत करो, परमाणु युद्ध नहीं, महकता बचपन चहकता समाज, चहकता स्कूल, अच्छी शिक्षा अच्छा भविष्य लिखे बैनर उठाए हुए थे। इस अवसर पर विद्यालय के प्रिंसीपल जगजीत सिंह, डॉ. गुरमेल सिंह भी उपस्थित थे।
क्राईस्ट मिशन सीनियर सैकेण्डरी स्कूल में बाल दिवस को खेल दिवस के रूप में मनाया गया। विद्यालय के प्रधानाचार्या पीवी बरेटो ने जवाहर लाल नेहरू के जीवन पर प्रकाश डाला। मंच का संचालन प्राध्यापिका हर्ष मैहता ने किया।
नवप्रगति सीनियर सैकेण्डरी स्कूल में बाल दिवस के अवसर पर दो दिवसीय खेलों का आयोजन किया गया। खेलों का उद्घाटन प्रथम कक्षा के छात्र जोवनप्रीत तथा 9वीं की वंदना ने मशाल प्रज्जवलित करके किया। इस मौके पर विद्यालय प्रबंधक समिति की ओर से नर्सरी से पिंकी व दीक्षा, केजी से खुशमीन व अमनप्रीत कौर, कक्षा प्रथम से जोवनप्रीत सिंह, रिशिका ग्रोवर, सिमरनजीत कौर को एक्टिव, इंटेलिजेंट एण्ड स्मार्ट घोषित कर उन्हें पुष्पमाला पहनाई गई। इसी प्रकार कक्षा 8वीं से वंदना, रजनी, अंजना, अमनदीप, सिमरनजीत, कमलप्रीत व कश्मा चित्रा मैरिटोरियस छात्राओं को इस अवसर पर सम्मानित किया गया। इस मौके पर रिया सेठी (11वीं), जाक्शी, प्रेरणा व प्रीत भगरिया ने जवाहर लाल नेहरू के जीवन पर प्रकाश डाला। विद्यालय निदेशक वेद भारती, प्राचार्या चन्द्रकान्ता ने जवाहर लाल नेहरू के जीवन पर प्रकाश डाला। नेहरू ग्रुप ऑफ इंस्टीच्यूट में बाल दिवस के उपलक्ष्य में चल रहे खेल व सांस्कृतिक कार्यक्रमों की श्रृंख्ला की आगामी कड़ी में नेहरू कॉन्वेंट स्कूल, गांव अलीकां के प्रांगण में 510 विद्यार्थियों ने भाग लिया। कार्यक्रम का शुभारंभ प्राचार्य हरिप्रकाश शर्मा, विजयंत शर्मा ने नेहरू कॉन्वेंट स्कूल, गांव अलीकां के प्रांगण में झण्डा फहराकर किया। इस मौके पर बच्चों ने हरियाणवी नृत्य, राजस्थानी नृत्य, डांडिया नृत्य प्रस्तुत किया। खेल प्रतियोगिता के लिए विद्यालय के छात्रों को चार वर्गों में बांटा गया। प्रथम वर्ग की साधारण दौड़ में तरनजीत यूकेजी प्रथम, द्वितीय वर्ग की शू दौड़ में द्वितीय कक्षा का मनहरप्रीत प्रथम, चम्मच दौड़ में दूसरी का अभिषेक प्रथम, तृतीय वर्ग में एक टांग दौड़ में चौथी का अनमोलदीप, साधारण दौड़ में चौथी का रमन, सुई दौड़ में 6वीं का नवदीप प्रथम, चतुर्थ वर्ग की तीन टांग दौड़ में पांचवी का कुलविन्द्र, साधारण दौड़ में 6वीं का गगनदीप, सैक दौड़ में चौथी का रणजीत प्रथम रहा। नेहरू सीनियर सैकेण्डरी स्कूल में 9वीं से 12वीं तक की छात्राओं की रस्सी कूद प्रतियोगिता में दीपिका प्रथम, साधारण दौड़ में 9वीं की ज्योति व राजवीर प्रथम, संगीतमय कुर्सी प्रतियोगिता में 11वीं की रचना, क्रिकेट प्रतियोगिता में इलेक्ट्रिशियन की टीम, लम्बी कूद में विनोद कुमार प्रथम रहे। विजेता बच्चों को विद्यालय प्रधानाचार्य हरिप्रकाश शर्मा, विजयंत शर्मा, सुषमा शर्मा, सोना शर्मा ने विजयी छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया। इस अवसर पर जीवन सिंगला, जसविंद्र मंकू, किरण सिंगला, राज सिंगला, जसवीर बराड़, मानविन्द्र सिंह उपस्थित थे।
सतलुज पब्लिक स्कूल में बाल दिवस मनाया गया। यह जानकारी देते हुए विद्यालय के प्रिंसीपल राम नरेश शर्मा ने बताया कि संगीत प्रतियोगिता में 9वीं का नीलकंठ (ब्यास हाऊस), भाषण प्रतियोगिता में 7वीं का अमित (झेलम हाऊस), नृत्य प्रतियोगिता में नीलकंठ (ब्यास हाऊस), चित्रकला में 9वीं का बलतेज (झेलम हाऊस), मेहंदी प्रतियोगिता में 8वीं की मनीषा (झेलम हाऊस), प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में 9वीं के दीपिका, रोहित, मनोज, गगनदीप (रावी हाऊस) ने प्रथम स्थान पाया। इस अवसर पर स्कूल प्रबंधक सत्यप्रकाश यादव भी उपस्थित थे।
बाल वाटिका मॉडल स्कूल किलियांवाली में खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। यह जानकारी देते हुए विद्यालय की प्रिंसीपल वंदना मैहता ने दी।
अरोड़वंश आदर्श उच्च विद्यालय में  एलकेजी से पांचवी कक्षा तक के बच्चों की खेल प्रतियोगिताएं आयोजित करके बाल दिवस   मनाया गया। यह जानकारी देते हुए विद्यालय की मुख्य अध्यापिका विजय मोंगा ने बताया कि प्रतियोगिता के एलकेजी में गणेश प्रथम, मोहित द्वितीय, रैक्सट तृतीय, यूकेजीमें राहूल, गगन, रिशभ प्रथम, नेहा, रजत द्वितीय और अर्शदीप तृतीय रहे। जबकि पहली कक्षा से स्नेह, अनमोल प्रथम, जय प्रकाश द्वितीय, अणु तृतीय, दूसरी कक्षा से रोशन प्रथम, विशाल द्वितीय और अमन व दिनेश तृतीय, तीसरी कक्षा से रवि प्रथम, आरती द्वितीय और महक तथा नमन तृतीय रहे। इसी प्रकार चौथी कक्षा से अर्शदीप प्रथम, बलजिन्द्र द्वितीय, नवनी तृतीय, पांचवी कक्षा से मुकेश, सोनू प्रथम, स्नेहा,कुशी द्वितीय, सागर, जुगनू तृतीय रहे। इस मौके पर प्रस्तुत गुजराती लोक नृत्य गरवा श्रेष्ठ रहा। निर्णायक  की भूमिका निर्मल ग्रोवर और ऊषा काठपाल ने निभाई। जबकि मंच का संचालन अध्यापिका राजिन्द्र कौर तथा प्रतियोगिता का कार्यभार सुशील कुमार ने संभाला।
अनुपम मिडिल स्कूल में बाल दिवस पर नर्सर से दसवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों ने खेल व सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लिया। यह जानकारी देते हुए विद्यालय की प्रधानाचार्या शिमला सिंगला ने बताया कि प्रथम वर्ग की जलेबी दौड़ में नर्सरी का प्रिल प्रथम, अनुज द्वितीय, एलकेजी में मेंढक दौड़ में राहुल प्रथम, आकाश द्वितीय रहे।
द्वितीय वर्ग से प्रथम कक्षा 100 मीटर दौड़ में शिवानी प्रथम, अरूण द्वितीय, दूसरी और तीसरी कक्षा गुब्बारा दौड़ में प्रियंका,दीक्षा,मनप्रीत, अमन, सपना प्रथम रहें। चौथी कक्षा आलू दौड़ में वरूण प्रथम, सोनिया द्वितीय, शोभा ने तीसरा स्थान पाया। जबकि खो-खो में अशोका टीम प्रथम रही। वैडमिन्टन और खो खो में शिवाजी  टीम की हर्षदीप ने प्रथम स्थान पाया। इस मौके पर प्रबंधक समिति के अध्यक्ष देवराज सिंगला ने बच्चों को खेलों में महत्व की जानकारी दी।
राजाराम कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में प्राईमरी और मिडल दो वर्गों में बाल कविता प्रतियोगिताएं आयोजित करके बाल दिवस मनाया। यह जानकारी देते हुए विद्यालय की प्रिंसीपल निर्मल गर्ग ने बताया कि प्राइमरी वर्ग में हरबीर प्रथम, सिमरन द्वितीय और रीचा तृतीय रही। जबकि मिडल वर्ग में अंकुश प्रथम, कुदरत द्वितीय और प्रदीप तृतीय रहा। उन्होने यह भी बताया कि इस मौके पर उर्जा संरक्षण पर निबंध लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें विद्यालय के 21 विद्यार्थियों ने भाग लिया।
बिज्जूवाली से हेेमराज बिरट : राजकीय प्राथमिक पाठशाला अहमदपुर दारेवाला में बालदिवस धूम-धाम से मनाया गया। मुख्यशिक्षक प्रभुदयाल ने बच्चों को संम्बोधित करते हुए कहा बालदिवस पं. जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिवस पर मनाया जाता हैं। इस अवसर बोलते हुए उन्होंने कहा कि बच्चों को पढ़ाई के साथ-साथ नैतिकता पर भी ध्यान देना चाहिए बच्चों अपने घर में मां-बाप, भाई-बहन व अतिथियों का सम्मान करना चाहिए। इस अवसर पर बच्चों ने खेलकूद प्रतियोगिता का भी आयोजन किया जिसमें बोरी दौड़ में प्रथम स्थान रवि कक्षा पंाचवी, द्वितीय संदीप कक्षा पांचवी व तृतीय अश्वनी कक्षा चौथी ने, चम्मच दौड में प्रथम स्थान गुरदीप कक्षा चौथी, द्वितीय रवि कक्षा चौथी, तृतीय रिन्कू कक्षा तीसरी ने, मोमबती दौड़ प्रथम सुखविन्दर कक्षा तीसरी, द्वितीय रविन्द्र कक्षा पांचवी, तृतीय मुकेश कक्षा चौथी ने व एक टांग दौड़ में प्रथम स्थान रवि कक्षा पांचवी, द्वितीय स्थान महावीर कक्षा चौथी, तृतीय स्थान विक्रम कक्षा चौथी ने प्राप्त किया। अन्त में स्कूल स्टाफ की एक प्रतियोगिता हुई जिसमें एक टब पानी में गुब्बारे फुलाकर पानी में डाल दिए गए व बिना हाथ लगाए गुब्बारों को टब में से निकालना था जिसमें 16 गुब्बारे निकाल कर प्रथम स्थान नरेश कुमार जे.बी.टी. व सतपाल सिंह जे.बी.टी. ने प्राप्त किया। इस अवसर पर विजेताओं को सम्मानित किया गया। इस मौके पर तीन साल से नि:शुल्क स्कूल में सेवा कर रहें जीवन दास तनेजा, सतपाल जे.बी.टी., आंगनवाड़ी कार्यकर्ता हरमन्दर कौर व हैल्पर सुमन रानी सहित अनेक ग्रामीण उपस्थित थे।
स्वामी विवेकानंद वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय गोरीवाला में बाल दिवस के पर विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया। विद्यार्थियों ने इस मौके पर सांस्कृतिक कार्यक्रम व फैंसी ड्रैस का आयोजन किया। विद्यालय के प्राचार्य बनवारी लाल डोडा ने विद्यार्थियों को पं. जवाहर लाल नेहरू के जीवन के बारे में बताया कि जवाहर लाल नेहरू 1947 में भारत के प्रथम प्रधानमंत्री थे, नेहरू बच्चों से बहुत प्यार करते थे। इसलिए उनके जन्म दिवस 14 नवम्बर को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता हैं। विजेता प्रतिभागियों को समांनित किया गया। इस मौके पर उपप्रचार्य मनोज कुमार सुथार, विनोद शर्मा, रामजी लाल, प्रशांत बैरड़ व अनिल कुमार नंदन सहित समस्त स्कूल स्टाफ व अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे।

सुबह का मजाक शाम को सच हुआ

डबवाली (लहू की लौ) गांव चौटाला के एमएलए मोहल्ले में रहने वाली मजदूर दम्पति की हादसे में मौत के बाद शनिवार को माहौल गमगीन रहा। शोक स्वरूप किसी भी घर में चूल्हा नहीं जला। दु:ख की इस घड़ी में मजदूर साथी दम्पति के पारिवारिक सदस्यों को ढांढस बंधाते दिखे।
गांव चौटाला के मनरेगा मजदूर मंगतू राम (50) तथा उसकी पत्नी सुक्खी देवी (48) की शुक्रवार शाम को मृत्यु हो गई थी। दोनों काम करने के बाद घर लौट रहे थे। संगरिया की ओर जा रही एक पिकअप गाड़ी ने उनमें टक्कर मार दी। दम्पति ने मौका पर ही दम तोड़ दिया था। शनिवार को पुलिस ने शवों का डबवाली के सरकारी अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाने के बाद उन्हें उसके वारिसों को सौंप दिया। गांव चौटाला के रामबाग में दोनों का अंतिम संस्कार किया गया। इस मौके पर गांव के प्रत्येक व्यक्ति की आंख नम थी।
मंगतू राम (50), सुक्खी देवी (48) अन्य 123 मनरेगा मजदूरों के साथ पिछले तीन दिनों से चौटाला माईनर टेल की सफाई में लगे हुए थे। शुक्रवार दोपहर को चाय के समय अपने साथी मजदूरों के साथ हंसी-मजाक कर रहे थे। मनरेगा मजदूर पाना देवी (55), मंजू (35), सुमन (27) ने आंसू बहाते हुए बताया कि चाय के समय उनमें खूब मजाक चल रहा था। बातों ही बातों में सुक्खी उनसे कह रही थी कि वह अपने पति मंगतू राम के साथ आती-जाती है। घर में कोई चीज की कमी है या फिर मजदूरी करने जाना है, तो वे साथ-साथ जाते हैं। दोनों एक साथ जीएं हैं और एक साथ मरेंगे। इन लफ्जों को सुक्खी ने कई दफा दोहराया। लेकिन उन्हें क्या मालूम था कि जो वह सुबह कह रही है, सूरज ढलते-ढलते वह सत्य हो जाएगा।
मनरेगा के सहायक रामप्रताप ने बताया कि उसकी देखरेख में चौटाला माईनर की टेल पर माईनर की सफाई का कार्य चल रहा है। पिछले तीन दिनों से 125 मनरेगा मजदूर इस कार्य में लगे हुए थे। यह कार्य दस दिन तक चलना है। लेकिन इस हृदयविदारक घटना ने मजदूरों के हौंसले पस्त कर दिए। मनरेगा मजदूर शोक स्वरूप दो दिन तक कार्य नहीं करेंगे।
गांव के सरपंच आत्मा राम ने बताया कि मनरेगा मजदूर मंगतू राम-सुक्खी देवी का व्यवहार बड़ा शालीन था। व्यवहार की वजह से वे लोग दूसरे का दिल जीत लेते थे। मंगतू के तीन बेटे इन्द्राज उर्फ राजू (32), भजन लाल (30), लक्ष्मण (28) हैं। वे तीनों विवाहित हैं। जोकि मजदूरी करके अपना तथा अपने परिवार का पेट पालते हैं।