युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

13 नवंबर 2009

सफाई और स्ट्रीट लाईट व्यवस्था को लेकर फिर गरजे पार्षद

डबवाली (लहू की लौ) स्थानीय नगरपालिका की मासिक बैठक वीरवार को पालिका अध्यक्षा सिम्पा जैन की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। जिसमें कई महत्वपूर्ण फैसले लिये गये।
यह जानकारी देते हुए पालिका सचिव कृष्ण नागपाल ने बताया कि बैठक में 40 लाख रूपये की स्टेट फाईनेंस ग्रांट और डेढ़ करोड़ रूपये की लोकल एरिया डेवल्पमेंट स्कीम के तहत प्राप्त हुई राशि को तकनीकी आधार पर मंजूरी मिलने के बाद नगर की विभिन्न गलियों के विकास पर खर्च करने का प्रस्ताव पारित किया गया।
उनके अनुसार बैठक में गांव डबवाली के सरपंच हरचरण सिंह के अनुरोध पर गांव की हड्डा रोड़ी को सांझे तौर पर प्रयोग करने के लिए हड्डा रोड़ी के चारों ओर नगरपालिका द्वारा चारदीवारी करना स्वीकार करते हुए इस पर खर्च होने वाली तीन लाख रूपये की राशि के संबंध में प्रस्ताव पारित करके उपायुक्त के पास भेजा गया। इसके अतिरिक्त चेतक रोड़ और जीटी रोड़ पर लगी स्ट्रीट लाईट के लिए एक सीढ़ी खरीदने हेतू प्रस्ताव पारित किया गया।
नगरपालिका द्वारा गुरूद्वारा, डॉ. अग्निहोत्री तथा प्रवीन कुमार को मोल दी गई भूमि की रजिस्टरी करवाने के लिए तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया। जिसमें पार्षद विनोद बांसल, गुरजीत सिंह तथा एमई रमेश कम्बोज को मनोनित किया गया।
उन्होंने आगे बताया कि कमर्शियल हाऊस टैक्स के लिए नये बने कमर्शियल यूनिटों का सर्वे करवा कर उनसे गृहकर वसूले जाने का प्रस्ताव पारित किया गया।
जानकार सूत्रों के अनुसार नगरपालिका की यह मासिक बैठक भी हंगामेदार रही। जिसमें पार्षदों ने सफाई और स्ट्रीट लाईट व्यवस्था को लेकर खूब शोर-शराबा किया। पार्षद गुरजीत सिंह ने नगर की सफाई व्यवस्था पर चिन्ता प्रकट करते हुए सफाई ठेका तुरन्त रद्द किये जाने और तीनों सफाई दरोगा को निलम्बित किया जाये। इस पर सभी पार्षदों सत्ता और विपक्ष ने समर्थन दिया। लेकिन इसके बावजूद भी पता चला है कि नगरपालिका अध्यक्षा ने आरोपियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की। बैठक में 17 पार्षद हाजिर थे। इस मौके पर टेक चन्द छाबड़ा, गुरजीत सिंह, विनोद बांसल, रमेश बागड़ी और जगदीप सूर्या ने आरोप लगाया कि नगरपालिका के सफाई कर्मचारी सुबह वार्डोँ की गलियों की सफाई के लिए वार्ड अनुसार पार्षदों को सौंपे गये चार सफाई कर्मचारी तो गलियों में आते हैं लेकिन शाम को उनको बगार का कह कर गलियों में नहीं भेजा जाता। इन पार्षदों के अनुसार वास्तविकता यह है कि यह सफाई कर्मचारी नगरपालिका का काम न करके रोड़ सफाई ठेकेदार का काम करते हैं। जिससे गलियों की सफाई व्यवस्था प्रभावित होती है और इसके लिए संबंधित पार्षदों को वार्डवासियों की खरी-खोटी सुननी पड़ती है। बैठक में इसकी जानकारी लेने के लिए सफाई दरोगों को तलब किया गया। वह पार्षदों को इस संबंध में कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दे पाये। इससे भी पार्षदों में रोष बैठक के दौरान छाया रहा। इस मौके पर सफाई ठेकेदार को भी तलब किया गया।

तिजोरी व रिकार्ड ले उड़े चोर

औढ़ां (जितेन्द्र गर्ग) बुधवार की रात्रि प्राथमिक सहकारी समिति ओढ़ां से चोर करीब सवा लाख रुपए सहित तिजोरी व रिकार्ड लेकर फरार हो गए। सुबह इसका पता चलते ही विभाग के महाप्रबंधक राममूर्ति, सीआईए स्टाफ सिरसा व डबवाली, डीएसपी डबवाली बलबीर सिंह, इंस्पैक्टर किशोरी लाल, थाना प्रभारी हीरा सिंह, एएसआई सुभाषचंद्र, रण सिंह व अन्य पुलिस अधिकारी, फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट व डॉग सक्वायड टीम मौके पर पहुंचे तथा वहां से पैरों के निशान व अन्य सबूत अपने कब्जे में लिए। ओढ़ां पुलिस ने सहकारी समिति के प्रबंधक बलबीर सिंह श्योराण की शिकायत पर अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ चोरी का मामला दर्ज करके छानबीन शुरू कर दी है।
प्राथमिक सहकारी समिति के प्रबंधक बलबीर सिंह ने अपनी शिकायत में बताया कि आज सुबह जब सेवादार मेजर सिंह सफाई करने आया तो उसने देखा कि कार्यालय का ताला खुला हुआ है और रिकार्ड प्रांगण में बिखरा पड़ा है। सेवा दार ने मुझे सूचना दी तो मैने अपने अधिकारियों को मौके पर बुला लिया तथा कार्यालय पहुंचे तो देखा कि कार्यालय से रिकार्ड व साथ लगते कमरे में रखी तिजोरी चोरी कर लिए गए हैं। तिजोरी में करीब सवा लाख रुपए नकद थे जो कि खाद की बिक्री व बसूली से प्राप्त हुए थे। उन्होंने तुरंत कार्यालय के प्रांगण में नजर दौड़ाई तो एक वृक्ष के पास कुछ जरूरी रजिस्टर पाए गए तथा उसके साथ एक बैलगाड़ी के टायरों के निशान भी मिले जिससे लगता है कि चोर तिजोरी को बैलगाड़ी में लादकर ले गए हैं।
बताया जाता है कि चोरों की संख्या 4-5 हो सकती है क्योंकि उन्होंने सहकारी समिति के साथ वाली गली में से नानू राम नामक किसान की घर के बाहर खड़ी बैलगाड़ी को सहकारी समिति लेकर आए और दो किवंटल से ज्यादा वजनी तिजोरी को उठाकर उसमें रखा तथा बैल की जगह गाड़ी को स्वयं खींचकर ले गए। बैलगाड़ी आज सुबह जवाहर नवोदय रोड पर स्थित एक मोहल्ले में मिल गई है जबकि तिजोरी का अभी कोई पता नहीं चला है। सूत्रों के अनुसार गायब हुए रिकार्ड में गांव जलालआना व चोरमार का रिकार्ड गायब हुआ है।
लोगों में चर्चा है कि यह चोरी कुछ माह पूर्व हुए लाखों रुपए के घोटाले के रिकार्ड को खुर्द बुर्द करने के उद्देश्य से की गई है ताकि अधिकारियों का ध्यान चोरों की ओर हो जाए। बताया जाता है कि 11 नवंबर को सहायक रजिस्ट्रार कार्यालय डबवाली से प्राप्त पत्र के अनुसार आगामी 18 नवंबर को घोटाले के रिकार्ड की जांच होनी है जिससे घोटाले की और परतें खुलने की उम्मीद है। हो सकता है कि अपराधियों ने उस रिकार्ड को गायब करने की नीयत से ही चोरी की हो लेकिन बैंक प्रबंधक ने वो रिकार्ड तिजोरी की बजाय किसी और स्थान पर रख दिया था जो कि सुरक्षित है।
इस संबंध में थाना प्रभारी ओढ़ां हीरा सिंह से बात किए जाने पर उन्होंने बताया कि पुलिस की दो टीमें बनाकर छानबीन शुरू कर दी है और शीघ्र ही दोषियों को पकड़ लिया जाएगा।

प्रदेश में स्थापित किया जा रहा है स्टेट डाटा सैण्टर

डबवाली (लहू की लौ) हरियाणा के लिए 50.68 करोड़ रुपये की लागत से एक 'स्टेट डाटा सैण्टरÓ स्थापित किया जा रहा है। कुल लागत में से 13.50 करोड़ रुपये की लागत सूचना प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार द्वारा वहन की जाएगी और शेष राशि योजना आयोग के नैशनल ई-गवर्नैंस प्लान के प्रावधानों के लिए अतिरिक्त केन्द्रीय सहायता के माध्यम से प्राप्त होगी।
हरियाणा राज्य इलेक्ट्रोनिक्स विकास निगम लि० (हारट्रोन) के एक प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि स्टेट डाटा सैन्टर मार्च, 2010 के अन्त तक स्थापित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में स्मार्ट कार्ड आधारित जन वितरण प्रणाली क्रियान्वित करने की इच्छुक है। इस परियोजना के लिए भारत सरकार द्वारा 153 करोड़ रुपये के परिव्यय का एक प्रस्ताव पहले ही स्वीकृत किया जा चुका है। इस परियोजना के अन्तर्गत जन वितरण प्रणाली के तहत जारी किये जाने वाले कागज के राशन कार्डों के स्थान पर स्मार्ट कार्ड जारी किये जाएंगे। राज्य के लगभग 52 लाख पात्र परिवारों को उनकी श्रेणी के अनुसार स्मार्ट राशन कार्ड जारी किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि हारट्रोन को इस परियोजना के लिए नोडल एजेन्सी पदनामित किया गया है।
उन्होंने कहा कि हारट्रोन की सार्वजनिक निजी सहभागिता मॉडल के अन्तर्गत 1159 ग्रामीण सामान्य सेवा केन्द्रों और 104 शहरी सामान्य सेवा केन्द्रों, जिन्हें ई-दिशा एकल सेवा केन्द्र कहा जाता है, की स्थापना के लिए राज्य में सामान्य सेवा केन्द्र योजना क्रियान्वित और संचालित करने हेतु राज्य पदनामित एजेन्सी के रूप में पहचान की गई है। लगभग सभी सामान्य सेवा केन्द्रों को निर्धारित समय अवधि में चालू किया गया है।

कांग्रेस ने प्रदेश की राजनीति में काला अध्याय लिखा-अजय चौटाला

डबवाली (लहू की लौ) इनेलो के प्रधान महासचिव व विधायक अजय सिंह चौटाला ने कहा कि अजय सिंह चौटाला ने कहा कि कांग्रेस ने जिस तरह से प्रदेश की सत्ता में कब्जा किया है, यह किसी से छिपा नहीं है। उन्होंने कहा कि नैतिकता की दुहाई देने वाली कांग्रेस ने प्रदेश में विधायकों की जोड़-तोड़ व खरीद फरोख्त कर प्रदेश की राजनीति में एक काला अध्याय लिख दिया है।
वे डबवाली हलके के धन्यवादी दौरे के दौरान गांव कालुआना में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता ने कांग्रेस को 50 सीटों पर हरा कर बहुमत से दूर रखने का जनादेश दिया है पर कांगेेस ने जनभावनाओं को दरकिनार किया और औछे हथकंडे अपनाए।
विधायक अजय चौटाला ने कहा कि क्षेत्र के विकास के लिए आपका सहयोग अपेक्षित है। इसलिए आप अपना रचनात्मक सहयोग दें। उन्होंने जिले के अधिकारियों से भी जनता की समस्याएं दूर करने व जनता का सहयोग करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि यदि कोई अधिकारी उन्हें बेवजह से परेशान करता है तो वे इसकी सूचना तुरंत दें। अजय सिंह चौटाला ने कहा कि क्षेत्र के लोग अपनी समस्या या मांग डबवाली में पार्टी कार्यालय तक पहुंचा दें, इनका समाधान करना मेरा काम है। आज अजय सिंह ने गांव मोडी, मुन्नावाली, बिज्जूवाली, अहमदपुर दारेवाला, चक फरीदुपर, गोदिकां, कालुुआना, गंगा, अबूबशहर, तेजाखेड़ा, ढाणी सिक्खां, आसाखेड़ा, जंडवाला बिश्रोईयां, चौटाला व भारूखेड़ा गांवों का दौरा किया और उन्हें विजयी बनाने के लिए आभार जताया।
दौरे में उनके साथ पूर्व विधायक डा. सीताराम, सरदार जगरूप सिंह, हलका प्रधान नरेंद्र बराड़ धर्मवीर नैन,संदीप गंगा, सहित पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे।