युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

30 मार्च 2010

विद्यार्थी को रोल नम्बर न देने पर प्रिंसीपल तलब

डबवाली (लहू की लौ) सिविल जज कनिष्ठ मंडल (जूनियर डिविजन) डबवाली अमरजीत सिंह की अदालत ने राजकीय महाविद्यालय मंडी डबवाली के बीए फाईनल के एक विद्यार्थी को वार्षिक परीक्षा में बैठने के लिए रोल नम्बर देने से इंकार करने पर 30 मार्च को अपनी अदालत में तलब किया है।
प्राप्त जानकारी अनुसार राजकीय महाविद्यालय डबवाली के बीए फाईनल के विद्यार्थी आशीष सरदाना पुत्र नानक चन्द सरदाना ने सोमवार को अदालत में एक सिविल शूट दायर करके गुहार लगाई कि वह बीए फाईनल का विद्यार्थी है, वार्षिक परीक्षा में बैठने के लिए कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय ने उसका रोल नम्बर जारी कर दिया है। उसकी वार्षिक परीक्षा 2010 से शुरू होने जा रही है। राजकीय महाविद्यालय के प्रिंसीपल ने उसे यह कहकर रोल नम्बर देने से इंकार कर दिया कि वह एक पेपर से फेल है, उस द्वारा वार्षिक परीक्षा में बैठने पर कॉलेज का परीक्षा परिणाम खराब हो सकता है।
प्रार्थी ने अदालत से गुहार लगाई कि यह उसकी फाईनल परीक्षा है और उसका भविष्य दांव पर है। परीक्षा से वंचित होने पर उसे भारी नुक्सान हो सकता है। उसे रोल नम्बर दिलाया जाये। अदालत ने विद्यार्थी की गुहार सुनने के बाद अपना पक्ष रखने के लिए महाविद्यालय के पिं्रंसीपल को सम्मन भेज कर 30 मार्च को अदालत में प्रस्तुत होने के आदेश दिये हैं।

हादसों में 12 घायल

डबवाली (लहू की लौ) पंजाब तथा उपमण्डल डबवाली क्षेत्र में हुए सड़क हादसों में 12 जनें घायल हो गये। घायलों में दो महिलाएं तथा दो बच्चे भी शामिल हैं। जिन्हें उपचार के लिए डबवाली के सामान्य अस्पताल में लाया गया।
पंजाब क्षेत्र के निकटवर्ती गांव पथराला के पास सोमवार सुबह करीब 4 बजे एक जेन कार अनियंत्रित होकर पेड़ से जा टकराई। कार में सवार सात जनें घायल हो गये। बताते हैं राजस्थान के जिला गंगानगर के गांव बींज बेला निवासी विक्की राकेश कुमार, उसकी पत्नी रिया तथा बेटा पीयूष, हनुमानगढ़ जंक्शन निवासी वतनभूषण, उसकी पत्नी प्रेरणा तथा बेटी गुडिया माता मनसा देवी के दर्शन करके वापिस घर लौट रहे थे। कार को विक्की चला रहा था। गांव पथराला के पास सामने से आ रहे एक वाहन की तेज लाईट पडऩे के कारण अनियंत्रित हुई कार सड़क किनारे लगे पेड़ से टकराकर पलट गई। घायल कार सवारों को डबवाली जन-सहारा सेवा संस्था के अध्यक्ष आर.के.नीना तथा कार्यकर्ता कुलवन्त, बबलू ने सामान्य अस्पताल में पहुंचाया। हादसे में कार बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई।
उधर उपमण्डल डबवाली के गांव गोरीवाला के पास रविवार देर रात को डबवाली से जीवननगर जा रही एक कार आगे जा रही ट्रेक्टर-ट्राली के अचानक ब्रेक लगा देने से ट्राली में जा भिड़ी। परिणामस्वरूप कार में सवार करनैल सिंह निवासी बठिण्डा, गुरदेव सिंह, बलजिन्द्र सिंह, इकबाल सिंह निवासी कोटली जिला सिरसा, जगसीर निवासी खुईयांमलकाना जिला सिरसा घायल हो गये। कार को खुईयांमलकाना निवासी जगसीर सिंह चला रहा था।

एसडीएम द्वारा कार्य अधूरा छोडऩे पर जाम लगाया

औढ़ां (जितेन्द्र गर्ग) सोमवार की दोपहर उपमंडल अधिकारी डा. मुनीष नागपाल द्वारा खंड कार्यालय ओढ़ां में नए वोट बनाने का कार्य अधूरा छोड़कर अचानक डबवाली चले जाने के कारण उपस्थित लोगों में रोष फैल गया और उन्होंने एसडीएम और प्रशासन के विरूद्ध नारेबाजी करते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग नंबर 10 पर आकर जाम लगा दिया जिसका नेतृत्व देसू मलकाना के पूर्व सरपंच जगतार सिंह कर रहे थे।
जाम के कारण आने जाने वाले वाहनों की लंबी लाइन लग गई तथा कुछ गांववासी भी उनके समर्थन में आ गए तथा सड़क के बीचोंबीच बैठ गए। इसकी सूचना मिलते ही थाना प्रभारी ओढ़ां हीरा सिंह तुरंत दल बल सहित मौके पर पहुंचे। इस दौरान देसू मलकाना के पूर्व सरपंच जगतार सिंह, जलालआना के प्रीतम सिंह, सेवा सिंह, ख्योवाली के रामनाथ गोदारा, दलीप सिंह, अटलवीर सिंह और गांव केवल के मनजीत सिंह आदि ने पत्रकारों को बताया कि नए वोट बनाने हेतु आवेदनपत्रों की जांच का कार्य सुचारू ढंग से न होने के कारण 20 गांवों के लोगों को भारी परेशानी हो रही है। खंड कार्यालय में न तो ग्रामीणों के बैठने की पर्याप्त व्यवस्था है और न ही पीने के पानी का कोई प्रबंध है। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों को बेवजह परेशान किया जा रहा है।
इस संबंध में एसडीएम मुनीश नागपाल से बात किए जाने पर उन्होंने बताया कि एडीसी सिरसा पंकज चौधरी का डबवाली में एक उद्घाटन कार्यक्रम था जिस कारण कुछ समय के लिए उन्हें उनके साथ जाना पड़ा। लोगों को परेशान करने की उनकी कोई मंशा नहीं थी।

मनरेगा मजदूर भड़के

डबवाली (लहू की लौ) मनरेगा में धांधली और काम न दिये जाने का आरोप लगाते हुए गांव अबूबशहर के सैंकड़ों मजदूरों ने सोमवार को बीडीपीओ डबवाली के कार्यालय के समक्ष जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में महिला मजदूर भी शामिल थीं। खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी से आश्वासन मिलने के बाद उग्र मनरेगा मजदूर शांत हुए।
मनरेगा मजदूर सुन्दर लाल, रमेश, सतपाल, जगवन्त, काला सिंह, जग्गा सिंह, रघुवीर, मिट्ठू, बलवीर, प्रीतो देवी, रूकमणि, रणजीत कौर, जीतो देवी, पारो आदि ने बताया कि मनरेगा योजना शुरू होने से आज तक उन्हें केवल तीन माह ही काम मिला है। मनरेगा मजदूरों ने सहायक पर खाली रजिस्टर पर अंगूठे लगावाये जाने का भी आरोप लगाया। मनरेगा मजदूरों ने हरियाणा सरकार तथा बीडीपीओ के खिलाफ जोरदार नारेबाजी कर अपने गुस्से का इजहार किया। सहायक को हटाये जाने की मांग की।
आरोपों सम्बन्धी जब खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी डबवाली राम सिंह से पूछा गया तो उन्होंने उपरोक्त आरोपों को निराधार करार दिया। राम सिंह के अनुसार वे करीब एक वर्ष से डबवाली में बतौर बीडीपीओ कार्यरत हैं। इस अवधि के दौरान मनरेगा मजदूरों ने 5 जोहड़ों की सफाई की। जिस पर 3 लाख 78 हजार रूपये खर्च हुए। योजना के तहत तेजाखेड़ा माईनर की सफाई के लिए तीन दिन पूर्व ही 2 लाख 21 हजार रूपये जारी किये गये हैं। वाटर टैंकों की सफाई के लिए 2 लाख 50 हजार रूपये का अस्टीमेट तैयार किया गया है। जिस पर कार्य शीघ्र शुरू कर दिया जाएगा। मनरेगा मजदूरों की मांग के अनुसार जल्द ही ग्राम सभा की बैठक आमंत्रित की जाएगी। जिसमें सहायक को हटाने सम्बन्धी फैसला लिया जाएगा। मनरेगा का रिकॉर्ड ऑनलाईन है, जो कभी भी किसी भी व्यक्ति द्वारा चैक किया जा सकता है।

शरारती तत्व ने तोड़ा उद्घाटन पत्थर

डबवाली (लहू की लौ) यहां की रामनगर कलोनी में हाल ही मेें कायाकल्प करके नये सिरे से विकसित किये गये लवकुश पार्क के उद्घाटन के संबंध में रविवार शाम को लगाये गये पत्थर को उद्घाटन के पूर्व ही किसी शरारती ने तोड़ डाला। प्रशासन ने इस मामले की जांच के आदेश देकर शरारती के खिलाफ कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये हैं।
प्राप्त जानकारी अनुसार एडीसी पंकज चौधरी ने डबवाली की रामनगर कलोनी में हाल ही में 9 लाख रूपये की लागत से तैयार करवाये गये लवकुश और राम पार्क का 29 मार्च को उद्घाटन करना था। इस संबंध में दोनों ही पार्कों में  उद्घाटन पत्थर लगाये थे। लेकिन लवकुश पार्क में रविवार शाम को लगाये गये उद्घाटन पत्थर को किसी शरारती ने रात को तोड़ दिया। इसकी जानकारी जैसे ही प्रशासनिक अधिकारियों को मिली तो उनमें हड़कम्प मच गया। आनन फानन में सोमवार सुबह नगरपालिका अध्यक्षा सिम्पा जैन, एमई रमेश कम्बोज, टैक्स सुपरीडैन्ट रामनिवास मौका पर पहुंचे और उन्होंने टूटे हुए पत्थर को मिस्त्री से फिर से जुड़वाने का प्रयास किया। लेकिन सफलता नहीं मिली तो नये पत्थर के ऊपर कंप्यूटर से स्टीकर निकलवा कर उद्घाटन की रस्म पूरी की गई।
इस सन्दर्भ में नगरपालिका अध्यक्षा सिम्पा जैन से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि रात को 11 बजे इस शरारतपूर्ण कार्यवाही की जानकारी मिल गई थी। अधिकारियों को इस संबंध में अवगत करवा दिया गया। उन्होंने इस कार्यवाही को दुर्भावनापूर्ण बताते हुए कहा कि यह वार्ड नं. 11 में पार्क आता है। इस वार्ड में लवकुश पार्क को बने 36 वर्ष हो चुके हैं और इस दौरान कई पार्षद आये हैं लेकिन किसी ने भी पार्क की सुध नहीं ली। अब जबकि कांग्रेस की सरकार ने इन पार्कों की सुध ली तो कुछ शरारतियों को यह बर्दाश्त नहीं हुआ। उद्घाटन के समय एडीसी पंकज चौधरी से इस संवाददाता ने उद्घाटन पत्थर को तोडऩे वाले शरारतियों पर कार्यवाही के संबंध में पूछा तो उन्होंने हंस कर यह कहते हुए इस प्रश्न के उत्तर को टाल दिया कि अब पत्थर जुड़ चुका है।
वहीं पर मौजूद उपमंडलाधीश डॉ. मुनीष नागपाल ने इस प्रश्न के उत्तर में कहा कि वह मामले की जांच करवायेंगे और जो भी दोषी पाया जायेगा उसके खिलाफ कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।
एमई रमेेश कम्बोज ने बताया कि लवकुश और राम पार्क में 5-5 प्रकार के झूले बच्चों के लिए लगाये गये हैं। जिन पर करीब 9 लाख रूपये खर्च आया है। जबकि 5 लाख रूपये और पार्क के बीच सीमेंट कंकरीट प्रीकास्ट टाईल व घास लगाने, लवकुश पार्क में शौचालय बनाने आदि पर खर्च किया जाना है यह राशि भी एडीसी कार्यालय से नगरपालिका के पास पहुंच चुकी है।

एडीसी ने किया पार्कों का उद्घाटन

डबवाली (लहू की लौ) एडीसी पंकज चौधरी ने डबवाली की रामनगर कलोनी में 9 लाख रूपये की लागत से लवकुश तथा राम पार्क का सोमवार को कायाकल्प करते हुए इसे जनता को समर्पित कर दिया।
इस मौके पर पंकज चौधरी ने उपस्थित लोगों से कहा कि इन पार्कों के रखरखाव और संभाल की जिम्मेवारी पार्कों के पास रहने वाले लोगों की है। प्रशासन ने तो पार्कों का कायाकल्प करके इन्हें उन्हें सौंप दिया है।
इस मौके पर वार्ड नं. 11 के पार्षद लवली मेहता तथा वार्ड नं. 12 के रमेश बागड़ी ने  एडीसी को पार्क संबंधी समस्याओं से अवगत करवाते हुए कहा कि पार्क  में पानी के लिए मोटर नहीं है और न  ही बिजली की व्यवस्था है। न ही माली व चौकीदार है। उन्होंने यह भी कहा कि पार्क की चारदीवारी को ऊंचा करवा कर जाली लगवाई जाये। एडीसी ने पार्क में समर्सिबल पम्प लगवाने, माली की व्यवस्था करवाये जाने को तुरन्त सहमति देते हुए दीवार को ऊंचा करने, फब्बारा लगवाये जाने और बैठने के लिए बैंच बनाये जाने जैसे कार्यों का बजट बना कर भेजने के लिए कहा।
इस मौके पर उपमंडलाधीश डॉ. मुनीष नागपाल, पालिका अध्यक्षा सिम्पा जैन, उपाध्यक्ष हरनेक सिंह, पार्षद गीता चौहान, ओमप्रकाश बागड़ी, मधु बागड़ी, सुरजीत चावला, पूर्व पार्षद काली मिढ़़ा, बख्तावर मल दर्दी, राजेन्द्र जैन, रमेश बागड़ी, सन्नी बतरा, राकेश बब्बर उपस्थित थे।