युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

20 नवंबर 2009

ठेकेदार पहुंचा बाबा की दरगाह पर

डबवाली(लहू की लौ) हरियाणा कॉटन फैक्टरी में इन दिनों बार-बार रहस्यमय ढंग से आग लगने का कारण चर्चा का विषय बना हुआ है।
फैक्टरी में काम करने वाले एक व्यक्ति ने बताया कि इस फैक्टरी के पीछे बाबा की समाध बनी हुई है। उसके अनुसार मान्यता है कि जो भी कोई व्यक्ति इस फैक्टरी को चलाता है उसे इस बाबा को नियाज़ देनी पड़ती है। यदि नियाज़ नहीं दी जाती तो फैक्टरी में नुक्सान की संभावना रहती है।
इस व्यक्ति के अनुसार दो माह पूर्व यह फैक्टरी सीसीआई के पास थी और सीसीआई के अधिकारी बाबा की समाध पर नियाज़ करते थे जिसके चलते कभी भी फैक्टरी में बड़ा नुक्सान नहीं हुआ था। लेकिन वर्तमान ठेकेदार बाबा की सेवा करने में आनाकानी करता था। शायद यहीं कारण है कि पिछले 5 दिनों में करीब पांच बार आग लग चुकी है और दो बार तो बड़ी आग।
जब उससे इस संवाददाता ने पूछा कि वह अपने तर्क कैसे सही ठहराता है तो उसका कहना था कि आज सुबह 5 बजे जब सार्जन बन्द थी तो आग सार्जन के पास रूई को अचानक आग लग गई और इसके कुछ समय बाद फैक्टरी के पीछे पड़ी रूई को आग लग गई। जिस पर पल्लेदारों ने नियंत्रण पा लिया था और आज शाम को भी अचानक आग लगी है। इसी व्यक्ति ने मौका दिखाते हुए बताया कि आखिर आज ठेेकेदार बाबा की दरगाह पर हाजिर हो ही गया।

ठेकेदार पहुंचा बाबा की दरगाह पर

डबवाली(लहू की लौ) हरियाणा कॉटन फैक्टरी में इन दिनों बार-बार रहस्यमय ढंग से आग लगने का कारण चर्चा का विषय बना हुआ है।
फैक्टरी में काम करने वाले एक व्यक्ति ने बताया कि इस फैक्टरी के पीछे बाबा की समाध बनी हुई है। उसके अनुसार मान्यता है कि जो भी कोई व्यक्ति इस फैक्टरी को चलाता है उसे इस बाबा को नियाज़ देनी पड़ती है। यदि नियाज़ नहीं दी जाती तो फैक्टरी में नुक्सान की संभावना रहती है।
इस व्यक्ति के अनुसार दो माह पूर्व यह फैक्टरी सीसीआई के पास थी और सीसीआई के अधिकारी बाबा की समाध पर नियाज़ करते थे जिसके चलते कभी भी फैक्टरी में बड़ा नुक्सान नहीं हुआ था। लेकिन वर्तमान ठेकेदार बाबा की सेवा करने में आनाकानी करता था। शायद यहीं कारण है कि पिछले 5 दिनों में करीब पांच बार आग लग चुकी है और दो बार तो बड़ी आग।
जब उससे इस संवाददाता ने पूछा कि वह अपने तर्क कैसे सही ठहराता है तो उसका कहना था कि आज सुबह 5 बजे जब सार्जन बन्द थी तो आग सार्जन के पास रूई को अचानक आग लग गई और इसके कुछ समय बाद फैक्टरी के पीछे पड़ी रूई को आग लग गई। जिस पर पल्लेदारों ने नियंत्रण पा लिया था और आज शाम को भी अचानक आग लगी है। इसी व्यक्ति ने मौका दिखाते हुए बताया कि आखिर आज ठेेकेदार बाबा की दरगाह पर हाजिर हो ही गया।

कॉटन फैक्ट्री में आग से 40 लाख का नुक्सान, महिलाएं बाल-बाल बची

डबवाली (लहू की लौ) यहां की हरियाणा कॉटन फैक्टरी के दो बैरगों में वीरवार शाम अचानक आग लग गई और वहां काम कर रही 9 मजदूर महिलाएं बाल-बाल बच गईं। जबकि उनकी चप्पलें और कोटियां इस आग में जल गईं।
फैक्टरी के ठेकेदार दीपक गोयल ने बताया कि बाद दोपहर दो बजे अचानक फैक्टरी बैरगों में आग लग गई। इसकी सूचना फायर ब्रिगेड को दी गई और मौका पर पहुंच कर फायर ब्रिगेड ने करीब तीन घंटे के कड़े संघर्ष के बाद आग पर काबू पाया। गोयल के अनुसार इस आग से सारजन के पास पड़ी 300 गांठ रूई प्रभावित हुई है। जिसकी कीमत 40 लाख रूपये है।
इधर फायर बिग्रेड नगरपालिका के लीडिंग फायरमैन श्याम सुन्दर और मार्किट कमेटी के लीडिंग फायरमैन आत्मा राम ने बताया कि उन्हें लगभग 3.55 पर आग की सूचना मिली और तुरन्त उनकी गाडिय़ां मौका पर पहुंची और एक घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया।
फैक्टरी में बतौर मजदूर काम करने वाली कृष्णा देवी, भागवन्ती, शान्ति, कमला देवी, केसर, लाजो, संतोष, नानकी और मंजू देवी ने बताया कि वह बैरग में बैठी रूई चुग रह थी कि अचानक उन्हें आग ने घेर लिया। वह कूद कर बाहर निकल गईं। लेकिन इस दौरान उनकी चप्पलें और कोटियां वहीं रह गईं जो आग की भेंट चढ़ गईं।
इस घटना की सूचना पाकर मौका पर डीएसपी बलवीर सिंह, थाना शहर प्रभारी वीरेन्द्र सिंह अपने दल-बल के साथ पहुंंचे और घटना का निरीक्षण किया। ज्ञातव्य रहे इन पांच दिनों में इस फैक्टरी में आग लगने की यह दूसरी घटना है।

होमगार्ड जवानों ने लगाया रिश्वतखोर को बचाने के लिए उच्च अधिकारियों पर दबाव डालने का आरोप


डबवाली (लहू की लौ) हल्का डबवाली के होमगार्ड जवान यहां के खेल परिसर में वीरवार को इक्ट्ठे हुए और उन्होंने आरोप लगाया कि रिश्वत के आरोप में सिरसा में सतर्कता ब्यूरो के हाथों पकड़े गये होमगार्ड इंचार्ज को बचाने के लिए होमगार्ड के उच्च अधिकारी प्रयासरत हैं तथा उन पर दबाव डाल रहे हैं।
वीरवार को सुबह होते ही डबवाली के खेल परिसर में होमगार्ड में कार्यरत जवान इक्ट्ठे होने शुरू हो गये। लगभग 40 होमगार्ड जवानों ने इस मौके पर अपनी यूनियन का गठन करने की घोषणा की और सर्वसम्मति से जवान विनोद कुमार बिश्नोई को अपना प्रधान मनोनित कर दिया। चुनाव के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए विनोद कुमार बिश्नोई ने बताया कि सतर्कता विभाग द्वारा सिरसा में पकड़ा गया उनका इंचार्ज राजेश कुमार उनसे उनके वेतन में से मनमर्जी से पैसे काटता था। बिश्नोई के अनुसार वह उन्हें काम के बदले 4500 रूपये का चैक देता और चैक भुगतान के समय बैंक के आगे खड़ा हो जाता, जो भी होमगार्ड जवान चैक कैश करवाकर बैंक से निकलता, उससे 1500 से 2000 रूपये प्रति होमगार्ड जवान वसूलता।
अगर वे इस सम्बन्ध में शिकायत करते तो उन्हें अपने रोजगार से हाथ धोना पड़ता और तीन-तीन माह तक उन्हें डयूटी पर तैनात नहीं करता था। अब जब वे पैसे लेता हुआ पकड़ा गया और उसे निलम्बित कर दिया गया, तो उन पर उनका कम्पनी कमांडर गंगाजल बिश्नोई वेतन देते समय यह लिखवाकर ले रहा है कि कोई कुछ नहीं लेता था। उन पर अनावश्यक दबाव डालकर राजेश प्रकरण को रफा-दफा करने का प्रयास किया जा रहा है।
उन्होंने इस मौके पर इस संवाददाता को यह भी बताया कि वह अब राज्य स्तर पर यूनियन का गठन करेंगे और रेगुलर किये जाने की मांग करेंगे। इस मौके पर होमगार्ड जवानों में से मंगत सिधू, हरपाल, राजू, जसवन्त, जग्गा राम, राजेश, साहिल, लालचन्द, जसपाल, विक्की, सुखमन्दर, गुरतेज, पवन कुमार, बलवन्त, मोहन लाल, राजेश कुमार आदि उपस्थित थे। इस अवसर पर होमगार्ड जवानों ने अपनी मांगों के समर्थन में नारेबाजी भी की।

बोली न होने पर किसानों ने लगाया जाम

रानियां (लहू की लौ) धान की बोली सुचारू रूप से न होने से नाराज क्षेत्र के अनेक गांव के लोगों ने आज सुबह करीब साढ़े 11 बजे रानियां-सिरसा स्टेट हाईवे पर जाम लगा दिया। ग्रामीणों ने प्रशासन के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की।
इस मौके पर ढाणी सतनाम सिंह, नानू आना, गोबिंदपुरा, अभोली, नगराना आदि गांवों के ग्रामीणों कश्मीर सिंह, छिंद्रपाल, गुरबक्श सिंह, भागमल, रमेश चंद्र, माझीराम आदि ने आरोप लगाया कि अधिकारी बोली पर धान नहीं खरीदते बल्कि बाद में बिना बोली के ही धान बेचने पर दबाव बनाते हैं। उन्होंने बिना बोली के बिकवाली बंद करवाए जाने की मांग की। जाम की सूचना मिलने पर मार्केट कमेटी के सचिव मदन लाल सिहाग व एएसआई गुलजारी मौके पर पहुंचे और प्रदर्शनकारियों को आश्वस्त किया कि बोली सुचारू रूप से करवाई जाएगी। इस आश्वासन ग्रामीणों ने एक घंटे से लगाया गया जाम खोल दिया।

बोली न होने पर किसानों ने लगाया जाम

रानियां (लहू की लौ) धान की बोली सुचारू रूप से न होने से नाराज क्षेत्र के अनेक गांव के लोगों ने आज सुबह करीब साढ़े 11 बजे रानियां-सिरसा स्टेट हाईवे पर जाम लगा दिया। ग्रामीणों ने प्रशासन के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की।
इस मौके पर ढाणी सतनाम सिंह, नानू आना, गोबिंदपुरा, अभोली, नगराना आदि गांवों के ग्रामीणों कश्मीर सिंह, छिंद्रपाल, गुरबक्श सिंह, भागमल, रमेश चंद्र, माझीराम आदि ने आरोप लगाया कि अधिकारी बोली पर धान नहीं खरीदते बल्कि बाद में बिना बोली के ही धान बेचने पर दबाव बनाते हैं। उन्होंने बिना बोली के बिकवाली बंद करवाए जाने की मांग की। जाम की सूचना मिलने पर मार्केट कमेटी के सचिव मदन लाल सिहाग व एएसआई गुलजारी मौके पर पहुंचे और प्रदर्शनकारियों को आश्वस्त किया कि बोली सुचारू रूप से करवाई जाएगी। इस आश्वासन ग्रामीणों ने एक घंटे से लगाया गया जाम खोल दिया।

नवोदय विद्यालय में युवा संसद का आयोजन


औढ़ां (जितेन्द्र गर्ग) जवाहर नवोदय विद्यालय ओढ़ां में विद्यार्थियों ने युवा संसद का आयोजन किया जिसमें मुख्यातिथि के रूप में डबवाली के भूतपूर्व विधायक डॅा. सीताराम मुख्यातिथि के रूप में उपस्थित हुए और अध्यक्षता रानियां के विधायक कृष्ण कंबोज ने की। विद्यालय की ओर से दोनों अतिथियों को पुष्प गुच्छ भेंट करके सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्यातिथि डॉ. सीताराम ने मां सरस्वती के समक्ष दीप जलाकर किया और छात्राओं ने सरस्वती वंदना व स्वागतगीत प्रस्तुत करके किया। इस अवसर पर मुख्यातिथि ने अपने संबोधन में कहा कि बच्चों के बहुमुखी विकास के लिए इस प्रकार के कार्यक्रम जरूरी हैं। उन्होंने कार्यक्रम में आमंत्रित करने के लिए विद्यालय का आभार व्यक्त करते हुए विद्यार्थियों को पुरस्कार स्वरूप 2100 रुपए प्रदान किए और रानिया के विधायक कृष्ण कंबोज ने 11000 हजार रुपए प्रदान करने की घोषणा की। अतिथियों का अभिनंदन करते हुए विद्यालय के प्राचार्य डॉ. आरपी शर्मा ने युवा संसद के आयोजन का उद्देश्य बताते हुए कहा कि आज हमारे देश की राजनीति को योग्य, ईमानदार, देशभक्त तथा दूरदृष्टि वाले नेताओं की आवश्यकता है जिसके लिए देश के सभी विद्यालयों में युवा संसद के आयोजन का प्रावधान किया गया है। ऐसा करने से बच्चे विद्यार्थी जीवन से राजनीति में आने को प्रेरित होंगे और देश को सुयोग्य, चरित्रवान तथा दूरदृष्टि वाले राजनेता मिल सकें।
युवा संसद के आरंभ में शपथ ग्रहण, विदेशी प्रतिनिधि मंडल का स्वागत, एक सांसद की मृत्यु पर शोक तथा प्रधानमंत्री द्वारा नवनियुक्त मंत्रियों का सदन से परिचय करवाया गया। इसके बाद प्रश्नकाल में विपक्षी सांसद अनुराधा व अन्य सांसदों द्वारा समसामयिक विषयों पर प्रश्न पूछे गए जिनके उत्तर संबंधित मंत्रियों ने प्रभावपूर्ण ढंग से दिए। शून्यकाल में वीरपाल सिंह ने वित्तमंत्री, अमित ने विदेशमंत्री से प्रश्र पूछे जिसका मंत्रियों ने सटीक उत्तर दिए। हुनरप्रीत कौर ने स्वाइन फ्लू के बारे में ध्यानाकर्षण जिसके जवाब में स्वास्थ्य मंत्री रविकुमार ने सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों के बारे में इतने प्रभावपूर्ण ढंग से जवाब दिए कि रविकुमार इस कार्यक्रम में प्रथम स्थान मिला। विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव विपक्षी सांसद वीरपाल ने रखा जिस पर जांच का आश्वासन देते हुए महासचिव को विशेषाधिकार हनन समिति को शिकायत भेजने के निर्देश दिए। युवा संसद की अंतिम कड़ी के रूप में विधेयक प्रस्ताव रखा गया जिसमें महिला व बाल विकास मंत्री प्रियंका ने सभी विधायिकाओं में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत सीटों के आरक्षण का प्रावधान करने की मांग की जिसे युवा संसद ने बहुमत से पारित किया। इस प्रकार युवा संसद के माध्यम से बच्चों को संसदीय प्रक्रिया से अवगत करवाने, बच्चों में नेतृत्व के गुण पैदा करने, जनसाधारण के मामलों में अपनी राय बनाने के लिए प्रोत्साहित करने तथा सहनशीलता के साथ सुनने की प्रतिभा का विकास करने का सफल प्रयास किया गया। इस प्रस्तुति हेतु बच्चों को सज्जन कुमार, राजीव शर्मा, हरिओम, वासूदेव व राधेश्याम ने तैयार किया। मंच का संचालन कक्षा नौ की कुमारी प्रतिभा अग्रवाल ने किया। वरिष्ठ शिक्षिका वनिता देवी ने सभी को धन्यवाद दिया। रावमा विद्यालय के प्राचार्य सुभाष फुटेला ने दोनों विधायकों के साथ तीसरे जज के रूप में मूल्यांकन का कार्य किया। जिसमें स्वास्थ्य मंत्री के रूप में रविकुमार को प्रथम, अध्यक्ष के रूप में ममता को द्वितीय व विपक्षी सांसद के रूप में हुनरप्रीत एवं प्रधानमंत्री के रूप में विक्रम बाना को तृतीय स्थान पर रखा गया। अंत में प्राचार्य ने दोनों विधायकों को स्मृृतिचिन्ह देकर सम्मानित किया और राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम सम्पन्न होने की घोषणा की गई। इस अवसर पर भरत सिंह ओढ़ां, एमएचडी कालेज की प्राचार्या शमीम शर्मा, अनेक गणमान्य लोग, समस्त स्टाफ व विद्यार्थी उपस्थित थे।

अल्ट्रासांऊड मशीन का कम्प्यूटर सील

सिरसा (लहू की लौ) जिला प्रशासन ने सरकुलर रोड स्थित गर्ग डायग्रोस्टिक सैंटर की अल्ट्रासांऊड मशीन के कंप्यूटर को सील कर दिया है। प्रशासन द्वारा कंप्यूटर में फीड रिकार्ड को खंगाला जा रहा है। प्रशासन द्वारा कंप्यूटर सील करने की यह कार्रवाई पंजाब के मानसा जिला प्रशासन के आग्रह पर अमल में लाई गई है। दरअसल मानसा जिला प्रशासन को सिरसा के गांव सूरतिया में विवाहित एक युवती का गर्ग अल्ट्रासाउंड से गर्भपात करवाए जाने की सूचना प्राप्त हुई थी। इस सूचना पर फौरी कार्रवाई करते हुए मानसा के उपायुक्त कुमार राहुल ने सिरसा के उपायुक्त युद्धवीर सिंह ख्यालिया को मामले की जांच करने का निवेदन किया। इसी के तहत उपायुक्त ने एसडीएम एसके सेतिया को जांच अधिकारी नियुक्त कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए। बीते दिवस एसडीएम स्वास्थ्य विभाग के कुछ अधिकारियों के साथ गर्ग डायग्रोस्टिक सेंटर पहुंचे और अल्ट्रासाउंड मशीन के कंप्यूटर को सील कर दिया। एसडीएम ने कहा कि कंप्यूटर में फीड पिछले 1 वर्ष के डाटे को खंगाला जा रहा है। अभी जांच में एक-दो दिन लगेंगे, उसके बाद ही कुछ कहा जा सकता है। एसडीएम ने कहा कि जांच पूरी होते ही रिपोर्ट उपायुक्त के समक्ष प्रस्तुत कर दी जाएगी और उसके बाद उपायुक्त ही आगे की कार्रवाई करेंगे।

किसान के घर से लाखों का सामान चोरी

डबवाली (लहू की लौ) रात को गांव जोतांवाली में अज्ञात चोरों ने एक किसान के घर में घुसकर लाखों रूपये के जेवरात और नकदी चुरा ली और फरार हो गये। पुलिस सूत्रों के अनुसार गांव जोतांवाली के किसान सतपाल पुत्र बृजलाल ने थाना सदर पुलिस में एक शिकायत देकर आरोप लगाया है कि रात को उनके घर में घुसकर अज्ञात चोरों ने घर की अलमारी का कुंडा तोड़कर अलमारी में पड़ी 20,000 रूपये की नकदी, 15-16 तोले सोना के जेवरात जिसमें 4 तोले की 4 चूडिय़ां, 5 तोले की माला, 2 तोले का कंगन, डेढ़-डेढ़ तोले सोने की 3 अंगूठियां, डेढ़ तोले सोना का बोरला और 6 तोले चांदी के जेवरात चुरा ले गये। चोरी हुए सामान की कीमत करीब 3 लाख रूपये बताई जाती है।
शिकायतकर्ता का अनुमान है कि चोर दीवार फांदकर आये होंगे। सूचना पाकर पुलिस मौका पर पहुंची और मौका का निरीक्षण किया। पुलिस ने अज्ञात चोरों के खिलाफ मामला दर्ज करके तफ्तीश शुरू कर दी है।
यहां विशेषकर उल्लेखनीय है कि गांवों में इन दिनों चोर गिरोह सक्रिय है। जो बड़े जमींदारों के घरों में चोरियों को अंजाम दे रहा है।
मोटरसाईकिल चोरी
डबवाली (लहू की लौ) यहां के श्री बालाजी स्टील वक्र्स के मालिक मनोज कुमार उर्फ मौजी पुत्र धर्मपाल का मोटरसाईकिल गत रात को अज्ञात युवक चुरा ले गया। मनोज कुमार के अनुसार वह दुकान से रात को कुएं वाली गली में स्थित अपने घर वापिस लौटा और उसने अपना मोटरसाईकिल घर के बाहर खड़ा कर दिया तथा मन्दिर जाने के लिए हाथ-मुंह धोने के लिए घर में चला गया और जब बाहर निकला तो देखा कि मोटरसाईकिल गायब है।
शिकायतकर्ता के अनुसार मोटरसाईकिल को चुराकर लेजाते हुए उसने एक युवक को देखा और इसकी जानकारी अपने भाई अशोक कुमार को दी। उन्होंने युवक का पीछा भी किया लेकिन युवक फरार होने में सफल हो गया।
पाठशाला से हजारों का सामान चोरी
डबवाली (लहू की लौ) यहां के कलोनी रोड़ पर स्थित राजकीय माध्यमिक पाठशाला नं. 3 में अज्ञात चोर हजारों रूपये का सामान चुरा ले गये।
यह जानकारी देते हुए विद्यालय के मुख्यशिक्षक राजेन्द्र देसूजोधा ने बताया कि विद्यालय के प्राईमरी सैक्शन में बने स्टोर रूम का ताला टूटे होने और सामान बिखरा होने की सूचना कलोनी रोड़ के एक व्यक्ति ने उन्हें दी। जिस पर वे मौका पर पहुंचे और उन्होंने पाया कि स्टोर में रखा काफी सामान गायब है। जिसमें दो हजार रूपये कीमत का एक सिलेण्डर, 300 रूपये का टेप रिकॉर्डर और 20 हजार रूपये कीमत का साऊंड सिस्टम शामिल है। समझा जाता है कि चोर स्कूल में निर्माणाधीन कमरों के लिए तोड़ी गई दीवार के रास्ते से स्टोर में घुसे होंगे।
इसकी सूचना पुलिस को दी चुकी है। मौका पर एसआई रामनिवास पहुंचे और उन्हें मौका का निरीक्षण किया।

किसान के घर से लाखों का सामान चोरी

डबवाली (लहू की लौ) रात को गांव जोतांवाली में अज्ञात चोरों ने एक किसान के घर में घुसकर लाखों रूपये के जेवरात और नकदी चुरा ली और फरार हो गये। पुलिस सूत्रों के अनुसार गांव जोतांवाली के किसान सतपाल पुत्र बृजलाल ने थाना सदर पुलिस में एक शिकायत देकर आरोप लगाया है कि रात को उनके घर में घुसकर अज्ञात चोरों ने घर की अलमारी का कुंडा तोड़कर अलमारी में पड़ी 20,000 रूपये की नकदी, 15-16 तोले सोना के जेवरात जिसमें 4 तोले की 4 चूडिय़ां, 5 तोले की माला, 2 तोले का कंगन, डेढ़-डेढ़ तोले सोने की 3 अंगूठियां, डेढ़ तोले सोना का बोरला और 6 तोले चांदी के जेवरात चुरा ले गये। चोरी हुए सामान की कीमत करीब 3 लाख रूपये बताई जाती है।
शिकायतकर्ता का अनुमान है कि चोर दीवार फांदकर आये होंगे। सूचना पाकर पुलिस मौका पर पहुंची और मौका का निरीक्षण किया। पुलिस ने अज्ञात चोरों के खिलाफ मामला दर्ज करके तफ्तीश शुरू कर दी है।
यहां विशेषकर उल्लेखनीय है कि गांवों में इन दिनों चोर गिरोह सक्रिय है। जो बड़े जमींदारों के घरों में चोरियों को अंजाम दे रहा है।
मोटरसाईकिल चोरी
डबवाली (लहू की लौ) यहां के श्री बालाजी स्टील वक्र्स के मालिक मनोज कुमार उर्फ मौजी पुत्र धर्मपाल का मोटरसाईकिल गत रात को अज्ञात युवक चुरा ले गया। मनोज कुमार के अनुसार वह दुकान से रात को कुएं वाली गली में स्थित अपने घर वापिस लौटा और उसने अपना मोटरसाईकिल घर के बाहर खड़ा कर दिया तथा मन्दिर जाने के लिए हाथ-मुंह धोने के लिए घर में चला गया और जब बाहर निकला तो देखा कि मोटरसाईकिल गायब है।
शिकायतकर्ता के अनुसार मोटरसाईकिल को चुराकर लेजाते हुए उसने एक युवक को देखा और इसकी जानकारी अपने भाई अशोक कुमार को दी। उन्होंने युवक का पीछा भी किया लेकिन युवक फरार होने में सफल हो गया।
पाठशाला से हजारों का सामान चोरी
डबवाली (लहू की लौ) यहां के कलोनी रोड़ पर स्थित राजकीय माध्यमिक पाठशाला नं. 3 में अज्ञात चोर हजारों रूपये का सामान चुरा ले गये।
यह जानकारी देते हुए विद्यालय के मुख्यशिक्षक राजेन्द्र देसूजोधा ने बताया कि विद्यालय के प्राईमरी सैक्शन में बने स्टोर रूम का ताला टूटे होने और सामान बिखरा होने की सूचना कलोनी रोड़ के एक व्यक्ति ने उन्हें दी। जिस पर वे मौका पर पहुंचे और उन्होंने पाया कि स्टोर में रखा काफी सामान गायब है। जिसमें दो हजार रूपये कीमत का एक सिलेण्डर, 300 रूपये का टेप रिकॉर्डर और 20 हजार रूपये कीमत का साऊंड सिस्टम शामिल है। समझा जाता है कि चोर स्कूल में निर्माणाधीन कमरों के लिए तोड़ी गई दीवार के रास्ते से स्टोर में घुसे होंगे।
इसकी सूचना पुलिस को दी चुकी है। मौका पर एसआई रामनिवास पहुंचे और उन्हें मौका का निरीक्षण किया।