युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

06 जनवरी 2011

मेडिकोज पर छापा

डबवाली (लहू की लौ) क्षेत्र में मेडिकल शॉप की आड़ में चल रही नशे की दुकानों पर स्वास्थ्य सेवाओं के ड्रग विभाग की छापामारी डबवाली में लगातार जारी है। बावजूद इसके इलाके में नशा का धंधा बेखौफ जारी है।
बुधवार को ड्रग इंस्पेक्टर रजनीश धानीवाल ने सरप्राईज विजिट करके मेडिकल स्टोर संचालकों को अचम्भे में डाल दिया। धानीवाल नशे की आपूर्ति के लिए प्रयुक्त होने वाले चोर मार्गों को तलाशते हुए पीरखाना के सामने स्थित मोंगा मेडिकोज पर पहुंचे। मौका पर उपस्थित दुकान मालिक नितिन मोंगा की उपस्थिति में दुकान का रिकॉर्ड खंगाला और दवाईयों की जांच की।
ड्रग इंस्पेक्टर रजनीश धानीवाल ने बताया कि मोंगा मेडिकोज से नशे में प्रयुक्त होने वाली दवाईयां मिली हैं। जिनमें 14 बोतले रेकोडेक्स, ब्रो जेकोडेक्स, 2200 टेबलेट मोमोलिट, 26 टेबलेट केरीसोल, 13 टेबलेट अल्प्राजोलम, 100 टेबलेट लोमोटिल, छह बोतल ब्रो जेकोडेक्स शामिल हैं। उन्होंने बताया कि रेकोडेक्स और ब्रो जेकोडेक्स शैड्यल एच की दवाईयां हैं। बिना डॉक्टर की पर्ची के इन्हें बेचा नहीं जा सकता। जबकि अन्य उपरोक्त दवाईयां मेडिकल नशे में प्रयोग की जाती हैं।
उनके अनुसार रेकोडेक्स और ब्रो जेकोडेक्स जैसे कफ सिरप बाजार में नकली भी बिक रहे हैं। इसको ध्यान में रखते हुए मेडिकोज से लिए गए इनके नमूने जांच के लिए चण्डीगढ़ लैब में भेजे जाएंगे। उन्होंने बताया कि मोंगा मेडिकोज पर फार्मासिस्ट भी उपलब्ध नहीं था। न ही दुकान मालिक खरीद और बेच का रिकॉर्ड दिखा सका। उन्होंने बताया कि इससे पूर्व इस दुकान का अनियमितताओं के चलते लाईसेंस सस्पेंड किया गया था। लेकिन अब दोबारा फिर उपरोक्त अनियमितताएं पाए जाने पर लाईसेंस कैंसल की सिफारिश वे उच्च अधिकारियों से करेंगे।
ड्रग इंस्पेक्टर ने इस बात को स्वीकार किया कि लगातार छापामारी के बावजूद भी डबवाली में मेडिकल नशे की बिक्री जारी है। उनके अनुसार उन्हें मुखबरी मिली है कि राजस्थान का कोई व्यक्ति डबवाली में बड़े पैमाने पर मेडिकल नशे की होम डिलीवरी दे रहा है। उसको पकडऩे के लिए ड्रग विभाग पुलिस के सहयोग से सक्रिय है। उनके अनुसार डबवाली क्षेत्र में छापामारी का क्रम एक माह तक लगातार जारी रहेगा।

सर्दी से मौत

डबवाली (लहू की लौ) सर्दी के कारण गांव मसीतां के वृद्ध आश्रम में रहने वाले 35 वर्षीय व्यक्ति की मंगलवार शाम को मौत हो गई। जिसका बुधवार को पोस्टमार्टम डबवाली के सामान्य अस्पताल से करवा कर शव को वारिसों को सौंप दिया।
गांव मसीतां निवासी पूर्ण सिंह पुत्र दलीप सिंह ने बताया कि उसका साला सुरजीत सिंह (35) पुत्र जंगीर सिंह निवासी मणियांवाली (राजस्थान) पिछले 4-5 वर्षों से वृद्ध आश्रम मसीतां में अकेला रह रहा था और लक्कड़ मिस्त्री का काम करता था।  लेकिन पिछले कुछ समय से उसकी तबीयत ठीक नहीं थी और उसने दो दिन से कुछ खाया भी नहीं। अधिक सर्दी के कारण उसकी मंगलवार को मौत हो गई।
थाना शहर पुलिस के एएसआई सूबे सिंह यादव ने पूर्ण सिंह के ब्यान पर 174सीआरपीसी के तहत कार्यवाही करते हुए बुधवार को शव का पोस्टमार्टम डबवाली अस्पताल से करवाने के बाद शव को वारिसों को सौंप दिया।
सामान्य अस्पताल के डॉ. श्रवण बांसल ने बताया कि व्यक्ति की मौत ठंड से हुई है। लेकिन और जानकारी के लिए विसरा लेकर जांच के लिए प्रयोगशाला मधुबन में भेजा गया है।