युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

08 नवंबर 2010

हेडमास्टर सस्पेंड, टीचर डेपूटेशन पर

डबवाली (लहू की लौ) उपमण्डल डबवाली के गांव लम्बी में स्थित सरकारी मिडिल स्कूल के छात्रा छेड़छाड़ प्रकरण में आरोपी मुख्य अध्यापक को शिक्षा विभाग हरियाणा ने निलंबित करने के आदेश दिए हैं। जबकि एक अन्य अध्यापक को डेपूटेशन पर वहां से बाहर भेज दिया गया है।
गांव लम्बी के सरकारी माध्यमिक विद्यालय में 8वीं की छात्रा मनजीत कौर पुत्री डूंगर सिंह से छेड़छाड़ करने के आरोपी विद्यालय के मुख्याध्यापक मामराज को निलंबित करने और विद्यालय को स्टाफ के तबादले को लेकर ग्रामीण 29 अक्तूबर से ही स्कूल को ताला जड़े हुए थे। इस प्रकरण को लेकर आज ग्रामीण गांव के सरपंच ओमप्रकाश, पंच पाल सिंह, रामप्रताप, देवीलाल, बलदेव सिंह, डूंगर सिंह, रतन सिंह, रामकिशन, गोपीराम के नेतृत्व में धरना पर बैठे हुए थे। इसकी सूचना पाकर मंगलवार को मौका पर डीईओ आशा किरण, डिप्टी डीईओ यज्ञदत्त पहुंचे। उन्होंने पीडि़त लड़की, ग्रामीणों तथा अध्यापकों के ब्यान कलमबद्ध किए।
डीईओ आशा किरण ने जांच के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि इस मामले की जांच खण्ड शिक्षा अधिकारी डबवाली मंजू जैसवाल ने की थी और उस जांच रिपोर्ट के आधार पर ही हरियाणा शिक्षा निदेशालय चण्डीगढ़ ने आरोपी मुख्याध्यापक मामराज को निलंबित कर दिया है। उन्होंने बताया कि इसी जांच को आगे बढ़ाते हुए आज उन्होंने जांच की तो जांच के दौरान लड़की को सौंपे गए प्रेम पत्र की लिखावट आरोपी मुख्याध्यापक की लिखावट से मेल खाती हुई लग रही है। फिर भी जांच विशेषज्ञ से करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि ग्रामीणों की मांग पर विज्ञान अध्यापक भिन्द्र सिंह को डेपूटेशन पर लम्बी से बाहर भेज दिया गया है। ग्रामीणों को संतुष्ट करवाने का प्रयास करते हुए डीईओ ने ग्रामीणों को बताया कि मामराज के खिलाफ सख्त कार्रवाई कार्रवाई करते हुए 29 अक्तूबर से लेकर आज तक का उसका वेतन रोक दिया गया है और आगे भी विभागीय कार्रवाई जारी रहेगी। डीईओ के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने नरम होते हुए मंगलवार को स्कूल पर लगे ताले को खोल दिया। इस मौके पर पंचायत की शिकायत पर डीईओ ने स्कूल में कार्यरत कुक पर भी कार्रवाई करने का आश्वासन दिलाया।

आईआरबी जवान ने ट्रक चालक को जड़ा थप्पड़

डबवाली (लहू की लौ) डबवाली नगर के साथ लगते जिला बठिंडा के डूमवाली बैरियर में आईआरबी के एक कांस्टेबल की तरफ से ट्रक ड्राईवर को थप्पड़ जडऩे से विवाद खड़ा हो गया। इसके बाद लाईन में खड़े ड्राईवरों ने जमकर हंगामा बरपाया। सड़क पर चार घंटे जाम लगाकर रोष जताया। जिससे लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। एनएच 64 पर तीन किलोमीटर लम्बी वाहनों की कतार लग गई।
जानकारी अनुसार कोटगुरू निवासी ट्रक ड्राईवर सुखदीप सिंह (28) पुत्र बन्ता सिंह अपने ट्रक पर दिल्ली से अनाज लोड़ करके जगराओं (पंजाब) के लिए चला था। सोमवार रात करीब सवा आठ बजे वह डबवाली-बठिंडा रोड़ पर स्थित डूमवाली बैरियर पर पहुंचा। फार्म जमा करवाने के लिए लाईन में लगा हुआ था। वहां पर एक कार चालक की कार बैरियर की दीवार से टकरा गई। इस पर लाईन में लगे सुखदीप ने उस पर कमेंट कर दिया। आरबीआई के कंस्टेबल जसपाल सिंह ने ट्रक ड्राईवर सुखदीप सिंह के थप्पड़ जड़ दिया। सुखदीप कुछ कह पाता जसपाल सिंह व उसके साथी हवलदार संजीव कुमार ने उसकी डंडों से पिटाई कर दी। सुखदीप की जेब में पड़े 32 हजार रूपए व मोबाइल फोन भी मौका पर गिर गया। इस घटना को देख रहे लाईन में लगे अन्य ट्रक ड्राईवर सुखदीप के समर्थन में उतर आए। उन्होंने आरबीआई कर्मी की इस कार्रवाई के खिलाफ सड़क पर धरना लगाकर चक्का जाम कर दिया। जिससे डबवाली-बठिंडा के दोनों तरफ करीब 4 घण्टे तक जाम लगा रहा। मामला गंभीर होता देख बठिंडा थाना सदर पुलिस के प्रभारी एसआई परमजीत सिंह डोड, थाना रामा मंडी के प्रभारी एसआई हरबन्स सिंह पुलिस बल के साथ मौका पर पहुंच गये। बुलाया गया। पुलिस की तरफ से आरोपी कर्मचारी पर कार्रवाई के आश्वासन पर धरना उठाया गया। बैरियर पर तैनात आईआरबी के कांस्टेबल जसपाल सिंह ने बताया कि ईटीओ आरएन शर्मा अपनी मारूति गाड़ी को बैक कर रहे थे और गाड़ी दीवार के साथ लगने पर ट्रक ड्राईवर ने उन पर अश्लील कमेंट कसा। उसे समझाने पर ट्रक ड्राईवर हाथापाई पर उतर आया और उसकी वर्दी फाड़ दी। उसे छुड़ाने के लिए आये मौका पर तैनात इंस्पेक्टर रणधीर सिंह तथा आईआरबी के हवलदार संजीव कुमार को भला-बुरा कहा। मौका पर पहुंचे थाना सदर बठिंडा के प्रभारी एसआई परमजीत सिंह डोड ने बताया कि दोनों पक्षों को समझा-बुझा कर समझौता करवा दिया गया है।

सरपंचों और पंचों को परोसा निम्न स्तर का भोजन, बीडीपीओ को घेरा

डबवाली (लहू की लौ) निम्न स्तर का खाना परोसने को लेकर खण्ड विकास एवं पंचायत कार्यालय में प्रशिक्षण के लिए आये पंच-सरपंचों ने बीडीपीओ को खूब खरी-खोटी सुनाई और उनकी बात सुने बिना भाग रहे बीडीपीओ को घेर लिया।
मंगलवार को बीडीपीओ कार्यालय में पंच-सरपंचों का दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम हरियाणा ग्रामीण विकास संस्थान नीलोखेड़ी के तत्वावधान में आयोजित किया गया था। इस दौरान पंचायत विभाग द्वारा जारी मीनू के अनुसार प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल हुए पंच-सरपंचों को खाना दिया जाना था। बीडीपीओ कार्यालय द्वारा दिया खाना मीनू अनुसार न होने और निम्न स्तर का होने का आरोप लगाते हुए दोपहर खाने के दौरान पंच-सरपंच भड़क उठे और उन्होंने खाना खाने से इंकार कर दिया।
इस प्रशिक्षण शिविर में चौटाला, आसाखेड़ा, भारूखेड़ा, अबूबशहर गांवों के पंच सरंपच हिस्सा ले रहे थे। गांव चौटाला के सरपंच आत्मा राम, पंच रणवीर सिंह, श्रीराम, रामचन्द्र, ओमप्रकाश, रामप्रताप, रामकुमार, शान्ति देवी, सन्तरो देवी, चन्दो, आसाखेड़ा से सरपंच रामकुमार, पंच प्रभु राम, भारूखेड़ा से सरपंच मनोज कुमार, पंच महिन्द्र, बंसीलाल, अबूबशहर से सरपंच अमानती देवी, पंच इन्द्रपाल, राजेन्द्र ङ्क्षसह, वीरपाल ने बताया कि दोपहर को जो भोजन उन्हें बीडीपीओ कार्यालय द्वारा परोसा गया उसमें गाजर-मटर की सब्जी, 4 चपाती के साथ-साथ स्वीडिश के नाम पर दो लड्डू और आचार के नाम पर तली हुई मिर्च, सलाद में 4-4 फाड़ी मूली और खीरा थे। परोसी गई चपाती सूखी, तली हुई मिर्च में कीट चल रहे थे।  दो कप चाय की बजाय एक कप चाय दिया गया। उन्होंने इस प्रकार का खाना परोसे जाने का विरोध किया और बीडीपीओ राम सिंह से जब शिकायत की तो वह कार्यालय छोड़ कर भागने की कोशिश करने लगे तो उन्हें घेर लिया और उनसे जवाब मांगा।
मौका पर बीडीपीओ राम सिंह ने बताया कि भोजन के संबंध में उसकी कोई जिम्मेवारी न थी। बल्कि इसकी जिम्मेवारी सीपीओ रामप्रकाश को सौंपी गई थी। उन्होंने इस बात को स्वीकार किया कि भोजन में कमी थी। लेकिन बुधवार के भोजन के लिए वह चाहें तो कमेटी गठित कर लें।
सीपीओ रामप्रकाश ने बताया कि उसे केवल यह बताया गया था कि भोजन पर केवल 45 रूपये खर्च होने हैं। उसी अनुसार उसने भोजन की व्यवस्था की। उन्होंने कहा कि परीक्षाणार्थियों को भोजन के साथ-साथ दो कप चाय, बिस्कुट और लड्डू दिये गये हैं। उसने कहा कि उन्होंने भोजन व्यवस्था में पूरा ध्यान रखा है लेकिन फिर भी कोई न कोई रह सकती है। मौका पर उपस्थित प्रशिक्षण कार्यक्रम के समन्वयक मेनपाल सिहाग ने बताया कि सरकार की ओर से प्रति प्रशिक्षणार्थी 75 रूपये प्रतिदिन के हिसाब से पंचायत विभाग को दिये जाते हैं। भोजन की व्यवस्था करवाने की जिम्मेवारी बीडीपीओ कार्यालय की है। मीनू के अनुसार भोजन में पहले दिन सफेद चने, चपाती, मिक्स सब्जी, चावल, रायता, सलाद, स्वीटडिश, दो बार चाय व बिस्कुट शामिल हैं।

जीजा-साला दो दिन के रिमांड पर

डबवाली। शराब ठेका के करिंदे के हत्यारोपी जीजा-साला को पुलिस ने रविवार को अदालत में पेश किया। अदालत ने दोनों आरोपियों को दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेजने के आदेश दिए। उल्लेखनीय है कि 30 सितंबर को अज्ञात व्यक्तियों ने शेरगढ शराब ठेका ब्रांच के सेल्जमेन कृष्ण पुत्र राममूर्ति निवासी धारनिया जिला फतेहाबाद की सिर में ईंटे मार कर हत्या कर दी थी। थाना शहर पुलिस डबवाली ने मृतक के पिता राममूर्ति के ब्यान पर 1 अक्तूबर 2010 को भादंसं की धारा 302,379 के तहत अभियोग दर्ज कर घटना की जांच शुरू की। थाना शहर प्रभारी इंस्पेक्टर बलवंत सिंह जस्सू ने बताया कि पुलिस को मुखबरी मिली थी कि 30 सितंबर की रात को शेरगढ़ रकबा में देसी शराब ठेका के करिंदे कृष्ण कुमार पुत्र राममूर्ति निवासी धारणियां की हत्या करने वाले डबवाली क्षेत्र में घूम रहे हैं। मुखबरी के आधार पर पुलिस ने दो युवकों को हिरासत में ले लिया और पूछताछ के दौरान हिरासत में लिए गए युवकों ने इस बात को स्वीकार किया कि उन्होंने करिंदा की सिर में ईंट मारकर हत्या की है। हत्या आरोपियों ने अपनी पहचान स्वराज उर्फ सागा (19) पुत्र नछत्तर सिंह निवासी बडिंगखेड़ा और बलकरण सिंह उर्फ बग्गी (25) पुत्र जगराज सिंह उर्फ गोलू निवासी गांव मलवाला थाना रामां मण्डी के रूप में करवाई। थाना प्रभारी के अनुसार स्वराज उर्फ सागा ने स्वीकार किया कि उसने कृष्ण की ईंट मारकर हत्या की थी। इससे पूर्व उन्होंने ठेका से एक पौवा शराब खरीदी थी और इसे पीने के बाद शराब की ओर मांग की। लेकिन करिंदे ने यह कहकर शराब देने से इंकार कर दिया कि उसे नींद आ रही है। वह सुबह आएं। इसी तैश में आकर उन्होंने सोये हुए करिंदा की हत्या कर दी तथा उसकी जेब में रखी ठेका की चाबी निकालकर ठेका का ताला खोलकर गल्ले में पड़ी नकदी चुरा ली और फरार हो गए। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार करके गहन-पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस को संदेह है कि इन हत्यारों से इस संबंध में और भी सुराग मिल सकता है। पुलिस ने यह भी बताया कि बलकरण सिंह स्वराज का बहनोई है। दोनों आरोपियों को डबवाली पुलिस ने रविवार को अदालत के सम्मुख पेश किया। अदालत ने दोनों आरोपियों को दो दिन के रिमांड पर भेजने के आदेश दिए।

सरकार के खिलाफ मूवमेंट शुरू करेगी इनेलो

डबवाली (लहू की लौ) इनेलो के प्रधान महासचिव तथा हल्का डबवाली से विधायक अजय सिंह चौटाला ने कहा कि हरियाणा सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ पार्टी शीघ्र ही एक राज्य स्तरीय मूवमेंट शुरू करने जा रही है। वे रविवार को नई अनाज मण्डी स्थित इनेलो कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार हर तरफ से असफल साबित हुई है। रैलियों द्वारा इनेलो सरकार को बार-बार चेता चुकी है। लेकिन सरकार ने जन हितैषी नीतियों की ओर कोई ध्यान नहीं दिया। अब इनेलो शीघ्र ही एक आंदोलन चलाकर लोगों को सरकार के खिलाफ जागरूक करेगी। एक सवाल के जवाब में अजय चौटाला ने कहा कि पंजाब में बादल परिवार के बीच में इन दिनों चल रहा मामला पारिवारिक मामला है। इनेलो प्रयासरत है कि पारिवारिक मामला राजनीतिक रंगत न लें। इसलिए वे मध्यस्ता करके मनप्रीत सिंह बादल और प्रकाश सिंह बादल के बीच में जो दूरियां पैदा हुई हैँ, उन्हें समाप्त करवाने का प्रयास कर रही है।
उन्होंने केन्द्र सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि केन्द्र सरकार अमेरिकन राष्ट्रपति बराक ओबामा के स्वागत तथा कॉमनवेल्थ गेम्स पर हजारों करोड़ रूपए खर्च कर सकती है। लेकिन देश के गरीब और भूखे बच्चों के लिए एक पाई भी खर्च नहीं कर रही। उनके अनुसार कॉमनवेल्थ गेम्स में हुए भ्रष्टाचार में कांग्रेस के चार मुख्यमंत्रियों पर अंगुलियां उठ रही हैं। इस अवसर पर राधेराम गोदारा, मनिन्द्र पाल सिंह मीनू, विनोद अरोड़ा, एडवोकेट कुलदीप सिधू, टेकचन्द छाबड़ा, ओम बाबा, प्रहलाद राय, दर्शन मोंगा, गुरजीत सिंह, सुखजिन्द्र सिंह जापानी, गुरचरण नम्बरदार, शैलेन्द्र जौड़ा आदि उपस्थित थे।