युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

26 जुलाई 2011

जोनल गेम्स में बवाल


डबवाली (लहू की लौ) खालसा स्कूल में जोनल गेम्स के आखिरी दिन रविवार को अण्डर-19 के एक क्रिकेट मुकाबले को लेकर बवाल खड़ा हो गया। मैच का स्थल अखाड़े में तबदील हो गया। खेल प्रभारी ने एक टीम को हारा घोषित करके मैदान से बाहर कर दिया। जिस पर हारी घोषित टीम के सदस्यों ने विरोध करते हुए जांच की मांग की।
जोनल गेम्स के अण्डर-19 का क्रिकेट मुकाबला क्राईस्ट मिशन स्कूल तथा नेहरू सीनियर सैकेण्डरी स्कूल की टीम के बीच था। इस मुकाबले में नेहरू स्कूल पहले बल्लेबाजी करने उतरा। निर्धारित आठ ओवरों में 44 रन बनाए। पहली पारी समाप्त हुई थी कि नेहरू स्कूल की क्रिकेट टीम के इंचार्ज रविंद्र मांडी ने विरोधी टीम के एक खिलाड़ी को ओवरऐज करार देते हुए इसकी शिकायत गेम्स के सचिव प्रिंसीपल गुरतेज सिंह को कर दी। जबकि यह खिलाड़ी प्लेईंग इलेवन से बाहर था। शिकायत के आधार पर कार्रवाई करते हुए विद्यार्थियों द्वारा सौंपे गए दस्तावेज चैक किए गए। जिसमें क्राईस्ट मिशन स्कूल की टीम का खिलाड़ी जगताव सिंह ओवरऐज मिला। सचिव गुरतेज सिंह तथा खेल प्रभारी राजन कुमार ने रविंद्र मांडी की शिकायत पर करीब एक घंटा बाद निर्णय सुनाते हुए क्राईस्ट मिशन स्कूल की टीम को हारा करार दे दिया। जिससे हारी घोषित की गई टीम के खिलाफी बिफर गए। उन्होंने गेम्स आयोजकों पर पैसे लेकर हारा घोषित करने का आरोप जड़ दिया। जिससे मामला तूल पकड़ गया। क्राईस्ट मिशन स्कूल की क्रिकेट टीम के कैप्टन पंकज कुमार, खिलाड़ी अमन सिंह, रजत, चरणजीत, गुरदीप, पिं्रस सोनी, सोनू, मानविंद्र, ओमप्रकाश, पंकज गोयल ने बताया कि मैच के आरंभ से ही नेहरू स्कूल की टीम के खिलाड़ी फाइनल में जाने की बात कह रहे थे। जोकि सच हुई। उनके अनुसार जिस खिलाड़ी जगताव सिंह की आयु पर विवाद छिड़ा और उन्हें हराया गया, वह रविवार को हुए उपरोक्त मैच में खेल ही नहीं रहा था। जबकि शनिवार को पिपली के साथ हुए मैच में वह खेला था। उस समय किसी ने कोई ऑब्जेक्शन नहीं लगाई। इन खिलाडिय़ों ने का कहना है कि मैच शुरू होने से पूर्व खेल रहे खिलाडिय़ों के दस्तावेज चैक किए जाते हैं। इस मैच में भी ठीक वैसा ही हुआ। लेकिन सेमीफाइनल मैच की एक पारी खत्म होने के बावजूद स्टेडियम से बाहर बैठे खिलाड़ी पर ऑब्जेक्शन लगाकर उन्हें हरा दिया जाना कहां तक उचित है। खिलाडिय़ों ने अपनी हार के पीछे घूसखोरी का आरोप लगाया।
इस संबंध में नेहरू क्रिकेट टीम के इंचार्ज रविंद्र मांडी ने बताया कि जब उन्होंने दस्तावेज की जांच की तो जगताव सिंह उन्हें ओवरऐज मिला। जिसका उन्होंने गेम्स सचिव तथा प्रभारी के समक्ष एतराज किया। अधिकारियों ने नियमानुसार कार्रवाई करते हुए उनकी टीम को विजेता घोषित कर दिया। अपनी टीम की पारी समाप्त होने के बाद एतराज करने की बात को वे टाल गए।
गेम्स प्रभारी राजन कुमार ने क्राईस्ट मिशन स्कूल के खिलाडिय़ों द्वारा लगाए गए आरोप को निराधार बताया। उन्होंने बताया कि उनके पास नेहरू क्रिकेट टीम के इंचार्ज रविंद्र मांडी की शिकायत आई थी। दस्तावेज की जांच करने पर क्राईस्ट मिशन स्कूल की टीम का एक खिलाड़ी निर्धारित आयु से बड़ा पाया गया। अनियमितता मिलने पर खेल सचिव ने कार्रवाई करते हुए नेहरू स्कूल की टीम को विजयी घोषित कर दिया।

गिदडख़ेड़ा में झगड़ा, दो घायल


डबवाली। गांव गिदडख़ेड़ा में शनिवार रात को हुए एक झगड़े में दोनों धड़ों के दो लोग घायल हो गए। जिन्हें उपचार के लिए डबवाली के सरकारी अस्पताल में लाया गया। चौटाला पुलिस चौकी मामले की जांच कर रही है। अस्पताल में उपचाराधीन 40 वर्षीय चानन सिंह निवासी गांव गिदडख़ेड़ा ने बताया कि शनिवार रात को वह गांव में स्थित काला सिंह की करियाणा की दुकान के आगे से निकल रहा था। दुकान पर काफी शोर-शराबा देखकर वह वहीं रूक गया। महिलाओं से इसका कारण पूछने लगा। दुकान मालिक काला ने उपरोक्त शोर-शराबे का आरोप उसकी पत्नी कुलदीप कौर पर लगा दिया। जब उसने एतराज किया तो काला सिंह ने अपने भाई मंदर सिंह तथा पिता पप्पी सिंह को मौका पर बुला लिया और गाली-गलौज करने लगा। उसके एतरज करने पर पप्पी सिंह ने उसके सिर पर दो किलो का वाट मार दिया।
इधर घायल 18 वर्षीय काला उर्फ बलजिंद्र निवासी गांव गिदडख़ेड़ा ने बताया कि चानन सिंह उसके पास उधारी में सामान लेने आया था। लेकिन उसने उधारी देने से इंकार कर दिया। काला के अनुसार चानन सिंह की पत्नी कुलदीप कौर उसके भाई मंदर सिंह पर गांव की अन्य महिलाओं के साथ शारीरिक संबंध होने का आरोप लगाती है। इस बात का उलाहना भी उसने उसे दिया। जिससे शराब के नशे में धुत्त चानन सिंह गुस्सा गया और गाली-गलौज पर उतर आया। जब उसने एतराज किया तो उसके सिर पर आधा किलो का वाट दे मारा। चौटाला पुलिस चौकी के प्रभारी एसआई जीत सिंह ने बताया कि एमएलआर उनके पास आई है। चौकी के एएसआई महेंद्र सिंह मामले की जांच कर रहे हैं। घायलों के ब्यानों के बाद आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

भाविप के राष्ट्रीय अध्यक्ष पहुंचे डबवाली, सदस्यों की बैठक ली


डबवाली (लहू की लौ) भारत विकास परिषद डबवाली की शानदार गतिविधियों को देखते हुए  परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरपी शर्मा मुम्बई रविवार को एसके दुुआ के निवास स्थान पर पहुंचे और वहां पर उन्होंने परिषद के सदस्यों की बैठक ली।
यह जानकारी देते हुए शाखा सचिव कृष्ण कुमार वधवा ने बताया कि इस मौके पर परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ हरियाणा क्षेत्रीय चेयरमैन सीपी आहूजा फतेहाबाद भी थे। परिषद की स्थानीय शाखा ने उन्हें स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया और परिषद की स्थानीय गतिविधियों से अवगत करवाया।
इससे पूर्व शनिवार रात को अग्रवाल धर्मशाला में परिषद की ओर से परिवार मिलन समारोह तथा सदस्य शपथ ग्रहण का आयोजन किया गया। जिसकी शुरूआत शाखा अध्यक्ष सतपाल जग्गा ने दीप प्रज्जवलित करके  और सभी सदस्यों ने वंदे मातरम् गाकर की। आये हुए मेहमानों का शाखा सचिव कृष्ण वधवा ने स्वागत किया और परिषद की वार्षिक रिपोर्ट पढ़ी। सुनील जिन्दल ने सभी शाखा सदस्यों व्यक्तिगत परिचय करवाया। शाखा अध्यक्ष सतपाल जग्गा ने संस्कार सूत्र पर विशेष ध्यान देने के लिए बाध्य किया। सदन में रामायाण, महाभारत, मद्भागवत गीता पर प्रश्नोत्तरी का आयोजन वेद भारती के नेतृत्व में किया गया। विजेता सदस्यों को ज्ञान वर्धक साहित्य पुरस्कार में दिया गया। इस मौके पर प्रियंका वधवा ने कन्या भ्रूण हत्या पर कटाक्ष करती हुए कविता बेटी की पुकार प्रस्तुत की। इस अवसर पर अतिथि के रूप में डॉ. हरचन्द तथा महेश बांसल उपस्थित हुए। समारोह का समापन राष्ट्रीय गान के साथ किया गया।

लोक अदालत में निपटाए 28 मामले

डबवाली। पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के आदेश पर उपमण्डलीय विधिक सेवा समिति के चेयरमैन तथा उपमण्डल न्यायिक दण्डाधिकारी  डॉ. अतुल मडिय़ा की अध्यक्षता में रविवार को गांव लम्बी में ग्रामीण लोक अदालत का आयोजन किया गया। जिसमें 29 केस प्रस्तुत किये गये। जिनमें से 28 केसों का मौका पर निपटारा हो गया। इस मौके पर 15 इंतकाल प्रस्तुत हुए जिनका निपटारा कर दिया गया। इस मौके पर डॉ. अतुल मडिय़ा ने उपस्थित ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए लोक अदालत के महत्व की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि भ्रूण हत्या सामाजिक अपराध के साथ-साथ कानूनी अपराध भी है। जिसमें अपराधी को सजा का प्रावधान है। उन्होंने नशे की रोकथाम पर बल देते हुए कहा कि गांव में यदि कोई नशा बेचता है तो इसकी जानकारी पुलिस को दें। उन्होंने पानी के बचाव की भी अपील की। इस मौके पर बार एसोसिएशन के अध्यक्ष जतिन्द्र दंदीवाल, जेसी गुप्ता एडवोकेट ने भी अपने विचार रखे। मंच का संचालन वाईके शर्मा एडवोकेट ने किया। इस अवसर पर एडवोकेटस कुलदीप सिंह सिधू, बलजीत सिंह उपाध्यक्ष, धर्मवीर कुलडिय़ा सचिव, राधेश्याम, अशोक बिश्नोई, विनोद बिश्नोई उपस्थित थे।

कालांवाली का रहा दबदबा


डबवाली (लहू की लौ) खालसा सीनियर सैकेण्डरी स्कूल के मैदान में आयोजित तीन दिवसीय जोनल टूर्नामेंट रविवार को संपन्न हो गए।
यह जानकारी देते हुए विद्यालय के पीटीआई तथा खेल प्रभारी राजन कुमार ने बताया कि एथलीट अण्डर-14 की 100 मी. में साहिल कुमार हस्सू प्रथम, अण्डर-17 में पंकज कुमार कालांवाली, अण्डर-19 में गुरप्रीत सिंह चोरमार प्रथम रहे। जबकि 800 मी. अण्डर-17 में लखविंद्र सिंह कालांवाली, अण्डर-19 में सिकंदर सिंह कालांवाली, 600 मी. के अण्डर-14 में जसवंत सिंह चोरमार, 4 गुणा 400 मी. अण्डर-19 में कालांवाली प्रथम रहे। जबकि शॉटपुट अण्डर-19 में चरणजीत चोरमार, अण्डर-17 में दपिंद्र सिंह सेंट जोसफ डबवाली, अण्डर-14 में हरदीप सिंह पिपली, बाधा दौड़ 110 मी. अण्डर-19 में प्रदीप कुमार डबवाली, अण्डर-17 में लवप्रीत सिंह खालसा स्कूल, अण्डर-14 में अजय गिल खालसा स्कूल, 5000 मी. दौड़ के अण्डर-19 में पलविंद्र चोरमार, 3000 मी. अण्डर-17 में सुखमंदर लोहगढ़, 400 मी. अण्डर-19 में बलदेव सिंह, अण्डर-17 में लखविंद्र कुमार, अण्डर-14 में लखवीर सिंह मिठड़ी प्रथम रहे। जबकि ऊंची कूद अण्डर-19 में प्रदीप मण्डी डबवाली, अण्डर-17 में सुशील कुमार रिसालियाखेड़ा, लम्बी कूद अण्डर-14 में साहिल असीर, ट्रिपल जम्प अण्डर-19 में हरमिंद्र कालांवाली, अण्डर-17 में राकेश एनपीएस डबवाली, लोंग जम्प अण्डर-19 में जगमीत कालांवाली, अण्डर-17 में रमेश सांवतखेड़ा, 200 मी. अण्डर-14 में लखवीर मिठड़ी, अण्डर-17 में पंकज कुमार कालांवाली, अण्डर-19 में सन्नी गर्ग कालांवाली, 1500 मी. अण्डर-17 सिद्धार्थ कालांवाली, अण्डर-19 में कुलदीप सिंह कालांवाली, रिले 100 गुणा 4 में कालांवाली, अण्डर-17,19 में कालांवाली, डिस्कस थ्रो अण्डर-14 में कमलवीर कालांवाली, अण्डर-17 में रामप्रताप, अण्डर-14 हरदीप सिंह मिठड़ी, जेवलिन थ्रो अण्डर-19 जगमीत सिंह कालांवाली प्रथम रहे। हैंडबाल अण्डर-14 में खालसा स्कूल डबवाली, अण्डर-17 में खालसा स्कूल, अण्डर-19 में मण्डी डबवाली, बॉस्केटबाल अण्डर-14 में खालसा स्कूल कालांवाली, अण्डर-17 में कालांवाली, अण्डर-19 में मण्डी डबवाली, फुटबाल अण्डर-14 में सेंट जोसफ स्कूल, अण्डर-19 में चौटाला, कबड्डी अण्डर-14 में चोरमार, अण्डर-17 में देसूमलकाना, अण्डर-19 में कालांवाली, खो-खो के अण्डर-14 में कालूआना, अण्डर-17 में कालांवाली, अण्डर-19 में कालांवाली ने प्रथम स्थान पाया।