युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

16 अप्रैल 2012

काम बंद, बवाल शुरू


सकताखेड़ा और लोहगढ़ के ग्रामीणों ने रोका संगरिया मार्ग, तीन घंटे तक ठप रही आवाजाही
डबवाली (लहू की लौ) डबवाली-संगरिया रोड़ का निर्माण कार्य ठप कर देने से नाराज गांव सकताखेड़ा तथा लोहगढ़ के ग्रामीणों ने शनिवार को मार्ग जाम कर दिया। रोड़ पर वाहनों की लम्बी कतारें लग गई। मौका पर पहुंचे उपमण्डलाधीश तथा पीडब्ल्यूडी बीएण्डआर के अधिकारियों से काम शुरू होने का आश्वासन मिलने के बाद ग्रामीण शांत हुए। तीन घंटे बाद वाहनों की आवाजाही शुरू हुई।
गांवों में हुई मुनादी
संगरिया मार्ग का निर्माण कार्य रोके जाने के विरोध में आज सुबह गांव सकताखेड़ा तथा लोहगढ़ के धार्मिक स्थलों में मुनादी हुई। ग्रामीणों को गांव सकताखेड़ा के नजदीक संगरिया मार्ग पर इक्ट्ठे होने के लिए कहा गया। बाईक, ट्रेक्टर-ट्रालियों, कारों में सवार होकर सैंकडों ग्रामीण सुबह 10.00 बजे डबवाली-संगरिया मार्ग पर पहुंचे। वाहनों को आड़ा-तिरछा लगाकर मार्ग जाम लगा दिया। मार्ग रोकने के लिए गिरे हुए पेड़ को घसीटकर सड़क के बीचों-बीच लगा दिया।
ग्रामीणों ने बगैर शोर-शराबा और बिना नारेबाजी किए जाम लगाए रखा। आधे घंटे बाद सदर थाना के एसआई बचन सिंह, एसआई राजेंद्र सिंह, एएसआई भूप सिंह पर आधारित पुलिस पार्टी मौका पर पहुंची। पुलिस पार्टी ने ग्रामीणों को समझाने-बुझाने का प्रयास किया। लेकिन जाम लगाए ग्रामीणों ने पुलिस से सवाल किया कि सड़क का निर्माण पुन: कब शुरू होगा?, सड़क कितने दिनों में बनकर तैयार हो जाएगी? जवाब देने में असमर्थ पुलिस पीछे हट गई।
दोपहर करीब 12 बजे नायब तहसीलदार अनिल कुमार मौका पर पहुंचे। ग्रामीणों ने पुन: उक्त दोनों सवाल उन पर दाग दिए। नायब तहसीलदार भी सवालों का जवाब न दे पाए। उन्होंने उपरोक्त सवालों को उपमण्डलाधीश सुभाष श्योराण के समक्ष रख दिया।
दोपहर बाद करीब 1 बजे उपमण्डलाधीश सुभाष श्योराण, पीडब्ल्यूडी बीएण्डआर के एक्सीयन एमएस सांगवान, डीएसपी पूर्ण चन्द पंवार मौका पर पहुंचे। एक्सीयन एमएस सांगवान ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि अगले 20 दिनों में संगरिया निर्माण का कार्य पुन: शुरू हो जाएगा। वाहन गुजरते समय धूल न उड़े, इसके लिए निरंतर पानी गिराया जाएगा। अधिकारियों से आश्वासन मिलने पर ग्रामीणों ने तीन घंटे बाद जाम हटाया।
फसलें हो रही हैं खराब
ग्रामीण जगरूप सिंह, बलकरण सिंह, गुरप्रीत सिंह कुलार, लखविंद्र सिंह लक्खा, बेअंत सिंह, सुखबीर सिंह, मेवा सिंह, मन्दर सिंह, जंटा सिंह, बलौर सिंह, सुनील कुमार, अजय बिश्नोई, विक्रमजीत के अनुसार संगरिया रोड़ का निर्माण कार्य रूकने से उन्हें परेशानी आ रही है। धूल की वजह से सड़क किनारे पड़ती उनकी फसलें बर्बाद हो गई हैं। किन्नू के बागों को सर्वाधिक नुक्सान पहुंचा है। बिछाया गया पत्थर उछलकर उन्हें घायल कर रहा है। 20 दिन के भीतर अगर सड़क का निर्माण पुन: शुरू न हुआ तो मार्ग दोबारा जाम कर दिया जाएगा।
पैसे न देने पर रोका काम
पीडब्ल्यूडी बीएण्डआर के एक्सीयन एमएस सांगवान के अनुसार ठेकेदार को फाईनैंस क्राईसिज आ गया था। उसे मार्च माह में भुगतान नहीं हो पाया था। चूंकि बजट अप्रैल में आता है। पैसे न मिलने के कारण ठेकेदार ने काम बंद कर दिया था। बजट आ गया है। भुगतान करवाकर ठेकेदार से काम शुरू करवाया जाएगा।

मिड्डूखेड़ा के बाद लौहारा में लाखों के जेवरात चोरी


डबवाली (लहू की लौ) गांव मिड्डूखेड़ा के बाद चोरों का अगला निशाना गांव लौहारा बना। शनिवार रात को चोरों ने एक किसान के घर में घुसकर लाखों रूपए कीमत के जेवरात चोरी कर लिए। किलियांवाली पुलिस ने किसान के ब्यान पर मामला दर्ज करके आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है।
गांव लौहारा निवासी निर्भय सिंह पुत्र जोगिन्द्र सिंह ने किलियांवाली पुलिस का बताया कि वह शनिवार रात को घर के बरामदे में सोया हुआ था। अज्ञात चोर दीवार फांदकर उसके घर में घुसे और बरामदे के पास के कमरें में पड़े ट्रंक को उठाया। घर के छोटे गेट से बाहर निकल गए। ट्रंक में दो तोले का एक कड़ा, दो तोले की दो चूडियां, दो तोले की चार अंगूठियां, दो तोले की चैन और दो तोले के दो जोड़ी कांटे थे।
किलियांवाली पुलिस चौकी प्रभारी एएसआई मोहन लाल ने बताया कि पुलिस ने किसान निर्भय सिंह के ब्यान पर मामला दर्ज कर लिया है। जांच के दौरान पुलिस को घर से कुछ दूरी पर चोरी हुआ ट्रक पड़ा मिला। जिसमें से जेवरात गायब हैं।
उल्लेखनीय है कि गत दिवस गांव मिड्डूखेड़ा में भी एक किसान के घर से अज्ञात चोर जेवरात, बंदूक, नकदी तथा जीवित कारतूस चुरा ले गए थे।

मृतक की पहचान को 96 घंटे


डबवाली (लहू की लौ) गांव देसूजोधा मार्ग पर दुर्घटना में मारे गए बाईक सवार युवक की पहचान चार दिन यानि 96 घंटे बाद हुई। रविवार को शहर थाना पुलिस ने शिनाख्त के बाद शव का पोस्टमार्टम करवाने के बाद उसे उसके वारिसों को सौंप दिया।
मामले की जांच कर रहे शहर थाना के एएसआई सतबीर सिंह ने बताया कि गत बुधवार की रात करीब 11.30 बजे गांव देसूजोधा के प्रगट सिंह ने पुलिस को सूचना दी थी कि जोगेवाला से देसूजोधा मार्ग पर एक हीरो होंडा डिलक्स बाईक वृक्ष से टकराया हुआ है। सूचना पाकर पुलिस मौका पर पहुंचे थी। बाईक के पास एक युवक का शव पड़ा था। शव को पोस्टमार्टम के लिए डबवाली के सरकारी अस्पताल में लाया गया।
तालाशी लेने पर युवक के पास से ड्राईविंग लाईसेंस मिला है। जिस पर कुलदीप सिंह पुत्र महेंद्र सिंह निवासी ओल्ड आबादी, वार्ड नं. 28, श्रीगंगागनर (राज.) लिखा हुआ था। युवक के वारिसों की तालाश के लिए श्रीगंगानगर के ओल्ड आबादी थाना से भी संपर्क साधा था। पुलिस ने प्रगट सिंह निवासी देसूजोधा के ब्यान पर दफा 174 सीआरपीसी के तहत कार्रवाई अमल में लाई थी। एएसआई के अनुसार रविवार को श्रीगंगानगर निवासी हरमीत सिंह शहर थाना में पहुंचा। सरकारी अस्पताल के शवगृह में पड़े शव की पहचान उसने अपने छोटे भाई कुलदीप सिंह के रूप में की। हरमीत के अनुसार उसका पिता महेंद्र सिंह बठिंडा के एक गांव में रहता है। कुलदीप उनसे मिलकर वापिस गंगानगर लौट रहा था। एएसआई के अनुसार पोस्टमार्टम के बाद शव को उसके वारिसों के सुपुर्द कर दिया गया।

पहले दिन 21 हजार 610 को पिलाई पोलियो ड्रॉप्स



डबवाली (लहू की लौ) तीन दिवसीय पोलियो रोधी अभियान की शुरूआत रविवार को हुई। अभियान के पहले दिन स्वास्थ्य विभाग ने अपने निर्धारित लक्ष्य में से करीब 70 प्रतिशत बच्चों को पोलियो ड्रॉप्स पिलाइ्र।
सामान्य अस्पताल के एसएमओ डॉ. एमके भादू ने बताया कि  पोलियो रोधी अभियान के दौरान ब्लाक डबवाली में 0 से पांच आयु वर्ष तक के 31 हजार 149 बच्चों को पोलियो रोधी ड्राप्स पिलाई जाएगी। इसके लिए ब्लाक में 105 बूथ बनाए गए हैं जिन पर करीब 450 से भी अधिक कर्मचारियों को तैनात किया गया है। इसके साथ-साथ 8 मोबाइल टीम के साथ-साथ 5 ट्रांजिट केंद्र बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि 16 और 17 अपै्रल को टीमों द्वारा घर-घर जाकर पल्स पोलियो की ड्राप्स पिलाई जाएगी। इस बार विभाग द्वारा हाई रिस्क क्षेत्रों में विशेष ध्यान दिया जा रहा है। साथ में क्रॉस चैंकिंग की जा रही है।
 उन्होंने बताया कि सभी बूथों पर चार कर्मचारियों को तैनात किया गया और सभी बूथों पर पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन पहुंचाने के लिए गाड़ी आदि का प्रबंध भी किया गया है। उन्होंने कहा कि बस अड्डो, रेलवे स्टेशनों पर भी बूथ बनाए गए हैं। उन्होंने सभी बस कंडक्टरों व ड्राईवरों से कहा है कि वे बूथों पर बस अवश्य रोके ताकि बस में बैठे पांच वर्ष तक के बच्चों को पोलियो ड्राप्स पिलाई जा सके।
डॉ. भादू के अनुसार विभाग शहर डबवाली में सिंगीकाट मोहल्ला, कबीर नगर के साथ-साथ क्षेत्र में आने वाले 30 ईंट-भट्ठों को रिस्की क्षेत्र मानता है। भादू के अनुसार अभियान के पहले दिन विभाग 21 हजार 610 बच्चों को पोलियो ड्रॉप्स पिलाने में कामयाब रहा है। आगामी दो दिनों में स्वास्थ्य विभाग डोर-टू-डोर जाकर अभियान को आगे बढ़ाएगा।