युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

30 सितंबर 2009

बस-ट्रक भिड़न्त : 9 मरे, 28 घायल





हनुमानगढ़ (लहू की लौ) जिले के रावतसर के समीप मेगा हाइवे पर बुधवार सुबह एक भीषण सड़क दुर्घटना में 9 जनों की मौत हो गई तथा 28 जने घायल हो गए। जयपुर से श्रीगंगानगर आ रही जैन ट्रैवल्स की बस (आरजे 23 पीए 0511) में विपरीत दिशा से आ रहे ट्रक (पीबी 05 एम 9967) ने जोरदार टक्कर मार दी। इस भीषण भिड़त में दोनों वाहनों के चालकों समेत 9 जनों की घटनास्थल पर ही मृत्यु हो गई। मृतकों में एक महिला व एक सवा का बच्चा भी शामिल था। इस सीधी भिड़ंत में 28 जने चोटिल हो गये। इनमें में से 10 जनों की हालात चिंताजनक होने के कारण उन्हें अन्यत्र रैफ र कर दिया गया। अपुष्ट जानकारी के अनुसार इनमें से एक जने की उपचार के दौरान मृत्यु हो जाने से मरने वालों की संख्या दस तक पहुंच गई है। मृतकों में एक दंपत्ति तथा पिता-पुत्र शामिल हैं। घायलों में श्रीगंगानगर में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक बीपी चंदेल भी शामिल हैं। श्री चंदेल और दो अन्य घायलों सीता पुत्री हनुमान निवासी वार्ड नं. 13, पुरानी आबादी व कमला पुत्री बिरदाराम निवासी साधूवाली छावनी को श्रीगंगानगर के एक प्राइवेट तथा सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। दर्दनाक हादसे की सूचना मिलते ही जिला कलेक्टर डा. रवि कुमार सुरपुर व पुलिस अधीक्षक मोहनसिंह स्वास्थ्य केन्द्र में पहुंचे। पुलिस अधीक्षक मोहनसिंह निठारवाल ने बताया कि जयपुर से श्रीगंगानगर जा रही जैन ट्रैवल्स की वीडियोकोच आज सुबह राज्य राजमार्ग संख्या 7 पर धन्नासर के पास बीएसएफ का सामान लेकर जा रहे ट्रक से जा टकराई। इस भीषण भिडंत में बस के एक तरफ का हिस्सा पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त हो गया और ट्रक का कैबिन उसमें फंस गय। इत्तला पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों के साथ मिलकर के्रन से दोनों वाहनों को अलग किया और गैस कटर से बस को कई जगह से काटकार उसमें फंसे लोगों को बाहर निकाला और जो भी वाहन मिला उससे रावतसर के सरकारी अस्पताल पहुंचाया। चिकित्सकों ने एक महिला सहित 9 लोगों को मृत घोषित कर दिया। आठ मृतकों की शिनाख्त हो गई है। पुलिस अधीक्षक और जिला कलक्टर ने दुर्घटनास्थल का भी निरीक्षण किया। स्थानीय कस्बावासी घायलों की मदद के लिए स्वास्थ्य केन्द्र में उमड़ आये। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुभाष राजपूत मेडीकल टीम लेकर रावतसर स्वास्थ्य केन्द्र में लगभग 9 बजे पहुंचे। स्वास्थ्य केन्द्र में पूर्व विधायक धर्मेन्द्र मोची, कस्बे के रमेश स्वामी, उमेश वकील, सुनील धारीवाल, बिश्रसिंह शेखावत, पूर्व पार्षद पृथ्वी देहडू सहित आदि लोगों ने पहुंच घायलों की सार-संभाल की। एसडीएम सुखबीर सिंह चौधरी रावतसर के थानाधिकारी दिनेश राजौरा और पल्लू के थानाधिकारी अरूण चौधरी इत्तला मिलते ही दल-बल सहित घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने नजदीक के चक 29 डीडब्ल्यूडी के ग्रामीणों की मदद से घायलों को तथा मृतकों के शवों को रावतसर के सरकारी अस्पताल में पहुंचाया। चक 29 डीडब्ल्यूडी के ग्रामीणों के अनुसार दुर्घटनास्थल पर मंगलवार रात्रि पशु चारा तूड़ी भरी एक ट्रेक्टर -ट्राली पलट गई थी। ट्राली तिरपाल लगाकर ऊपर तक भरी हुई थी। माना जा रहा है कि ट्राली के बीड के कारण ट्रक चालक ट्राली को ऑवर टेक करते समय सामने की तरफ आ रही है बस को नहीं देख पाया। तेज गति से चल रहे दोनों वाहन आमने-सामने भिड़ गये। दुर्घटना इतनी भयंकर थी कि दोनों वाहनों के आगे के हिस्से के परखचे उड़ गये। बस के ड्राइवर साईड वाला पूरा हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। भिड़ंत का धमाका सुनकर चक 29 के कई ग्रामीण घटनास्थल की तरफ भागे तथा आनन-फ ानन में अपने गांव से 9 टैम्पो मंगवाकर घायलों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भिजवाया। आपातकाल सेवा 108 एम्बूलैंस सेवा देरी से घटनास्थल पर पहुंची। मेगा हाइवे की एम्बूलैंस सेवा लगभग 7 बजे पहुंची। दुर्घटना सुबह 4.45 बजे हुई। भिड़ंत की भीषणता का आलम यह था कि बस पलटी खा गई तथा उसे क्रेन से सीधा किया गया तो उसके नीचे दबकर मरे दो यात्रियों के शव मिले। ट्रक चालक के शव के चिथड़े उड़ गये। उसके शव को एक चादर में इक_ा कर मोर्चरी कक्ष पहुंचाया गया। मृतकों की पहचान: घटनास्थल पर मरे 9 जनों में से आठ जनों की शिनाख्त हो चुकी है। इनमें ट्रक चालक विक्की (25) पुत्र वरयाम सिंह निवासी फतेहाबाद (हरियाणा), बस चालक हरलाल पुत्र रामलाल जाट निवासी सबलपुरा (सीकर), नानूराम रेगर (45) पुत्र सूरजाराम निवासी श्रीगंगानगर, सुजान सिंह (35) पुत्र प्रतापसिंह निवासी अटरस (आगरा), अवतार सिंह (28) व उसका पुत्र राजू (डेढ़ वर्ष) निवासी पुरानी आबादी श्रीगंगानगर, रामसिंह पुत्र ज्ञानसिंह राजपूत निवासी व उसकी पत्नी सरोज कंवर, निवासी मिरेन (सीकर) मृतकों में शामिल है। पुलिस ने बताया कि सुजानसिंह व एक अज्ञात शख्स के शव को छोड़कर बाकी सभी शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिये गए हैं। मृतक अवतारसिंह की पत्नी रमनदीपकौर इस हादसे में गंभीर घायल हो गई, जिसे हनुमानगढ़ टाउन के सिविल अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद बीकानेर के लिए रैफर कर दिया गया। यह हुए घायल: पुलिस के अनुसार दोनों वाहनों की भिड़त में अजय (30) पुत्र चरणसिंह निवासी नांगल (पंजाब), सबीर (22) पुत्र इसमाइल खां निवासी विद्याधर नगर (जयपुर), पतासी देवी (45) पत्नी नानूराम रेगर निवासी गंगानगर, सीता जाजोडिय़ा (22) पुत्री हनुमान सिंह रेगर निवासी अजमेर रोड़ जयुपर, सुभाष (42) पुत्र हरीराम अग्रवाल निवासी मानसरोवर (जयपुर), नरेश अरोड़ा (39) पुत्र रामचन्द्र श्रीगंगानगर, विजय सिन्धी (37) पुत्र शोभाराम निवासी 365 हैड (रावला), देवीलाल (18) पुत्र बलराम नायक निवासी बोदीवाला जिला फि रोजपुर (पंजाब), नंदसिंह (57) पुत्र प्रतापसिंह निवासी देई (जिला बूंदी), बलवीर सिंह (27) पुत्र नंदसिंह राजपूत देई (जिला बूंदी), रिछपाल (30) पुत्र हरदमसिंह निवासी सादुलशहर, विमल जीत (40) पत्नी मनमोहन सिंह निवासी केसरसिंहपुर, बलविन्द्र सिंह (48) पुत्र अनोप सिंह निवासी धून्दा,जिला तरनतारन (पंजाब), पूनम कंवर (27) पत्नी देवेन्द्र सिंह राजपूत निवासी पूरानी आबादी श्रीगंगानगर, रमनदीप (22) पत्नी अवतार सिंह पुरानी आबादी श्रीगंगानगर, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक बुद्धिप्रकाश (39) पुत्र बद्रीलाल चन्देल निवासी आवां तहसील देवली, अशोक (23) पुत्र ओमप्रकाश खटीक निवासी वजीरपुरा (नई दिल्ली),सुरेन्द्र (25) पुत्र रावताराम नायक निवासी बोदीवाला (फाजिल्का, पंजाब), सुरेन्द्र शर्मा (38) पुत्र प्रकाश नारायण निवासी चांदपोल (जयपुर),कमला कुमारी (18) पुत्री विरधाराम निवासी लालोट (जिला नागौर), गोरी (23) पत्नी नवीन गुप्ता निवासी सिरसा,दीपचंद (25)पुत्र मूलचंद निवासी लक्ष्मणगढ़,नीरज ब्राह्मण (23) पुत्र बाबूलाल सैंथल (जिला दौसा),चंदन चावला (23) निवासी श्रीगंगानगर, मदनलाल (20) पुत्र भूपराम नायक निवासी बोदीवाला (फाजिल्का, पंजाब), गौरव पुत्र गुरविन्द्र सिंह निवासी गुलाबे वाला, मनोज कुमार (30) पुत्र ठाकरमल स्वामी निवासी माड़ोदा (सीकर) व सर्वजीत पुत्र लोकसिंह निवासी जिन्दल कॉलोनी श्रीगंगानगर घायलों में शामिल है। मुकदमा दर्ज: दुर्घटनाग्रस्त बस के कंडक्टर सीकर निवासी मनोज कुमार पुत्र सांगरमल स्वामी ने पुलिस थाना में ट्रक चालक के खिलाफ लापरवाही से वाहन चलाये जाने का मुकदमा करवाया है।