युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

26 फ़रवरी 2010

कांग्रेसी ठेकेदारों में झड़प, दो घायल

डबवाली (लहू की लौ) नगरपालिका में वीरवार को गलियों के टैण्डर भरने आये कांग्रेसी नेता आपस में टकरा गये और उनमें खूब जूतम-पेजार हुई। दोनों पक्षों के दो जनें घायल हो गये।

प्राप्त जानकारी अनुसार आज डबवाली नगरपालिका में गलियों का टैण्डर भरे जाने थे और टैण्डर भरने के बाद पालिका से बाहर निकलकर गेट पर ही कांग्रेस नेता आपस में टकरा गये। घायल गोपाल मित्तल ने आरोप लगाया कि कुछ लोग टैण्डर के दौरान पूल करने की कोशिश कर रहे थे और उसे भी पूल में शामिल होने के लिए कहा गया था, लेकिन उसने यह शर्त रखी थी कि सभी को 9-9 लाख रूपये का काम आता है और उसे भी उसके हिस्से का काम दिया जाये। लेकिन बात नहीं बन पाई और उसने 6 लाख के टैण्डर भर दिये। वह टैण्डर डालकर वापिस आ रहा था और जैसे ही पालिका के गेट पर पहुंचा तो इन्द्र जैन ने अपने बेटे मुनीष जैन और 8-9 अन्य लड़कों को उसे पीटने का इशारा किया और वह लोग उस पर टूट पड़े और बुरी तरह से उसे पीटा। उसकी जेब में 5500 रूपये की नकदी थी, वह भी पिटाई करने वालों ने निकाल ली। झगड़े का कारण बताते हुए गोपाल मित्तल ने कहा कि उसने इन्द्र जैन के खिलाफ शिकायतें की हुई हैं और पुलिस प्रशासन को भी कई माह पूर्व लिखकर दिया हुआ है कि उसे इन्द्र जैन और उसके बेटे से जान का खतरा है।
मित्तल ने यह भी आरोप लगाया कि मौका पर पुलिस भी थी, लेकिन वह तमाशबीन बनकर उसकी पिटाई होते हुए देखती रही।
अस्पताल में ही दाखिल इन्द्र जैन के बेटे मुनीष जैन ने कहा कि वह टैण्डर भरकर जैसे ही पालिका के गेट पर आया तो गोपाल मित्तल ने उस पर व्यंग्य कसा और हाथापाई पर उतर आया। जैन के अनुसार गोपाल के साथ दो-तीन अन्य भी थे। उसने यह भी आरोप लगाया कि आरोपी उसके गले में डाली हुई साढ़े तीन तोले सोने की चैन भी ले गये। उसने आरोप लगाया कि उस पर कोई तेजधार हथियार से हमला किया गया।
पता चला है कि दोनों घायल कांग्रेसी नेताओं को सिरसा रैफर कर दिया गया है।