युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

13 दिसंबर 2010

'राहुल चॉकलेट ब्बॉय, सोनिया पोप के इशारे पर काम करने वाली महिलाÓ

डबवाली (लहू की लौ) अग्रवाल धर्मशाला में आयोजित विराट धर्म सभा में राम जन्म भूमि, भगवा आतंकवाद और कश्मीर मुद्दे को लेकर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ, बजरंग दल और विश्व हिन्दू परिषद का मुख्य निशाना कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्षा सोनिया गांधी और कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी रहे।
राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की शाखा संस्कार भारती हरियाणा के महामंत्री अजय सिहंल ने राम जन्म भूमि मुद्दे के फैसले में देरी के लिए कांग्रेस को जिम्मेवार ठहराते हुए कहा कि सिमी और सत्ता का घालमेल है। वोटों की राजनीति के लिए मुस्लिम संतुष्टिकरण की नीति पर चलते हुए कांग्रेस ने पहले शंकाराचार्य जयेन्द्र सरस्वती को दीपावली की रात को बंदी बनाया और अब कैथल के इन्द्रेश को आतंकवादी कहकर फंसाया जा रहा है। जबकि सच्चाई यह है कि इन्द्रेश ने राष्ट्रवादी मुस्लमानों को संगठित करने का काम करके हिन्दुओं और मुस्लमानों के बीच खाई को भरने का प्रयास किया, और यह सरकार को गवारा नहीं हुआ, जिसके चलते फूट डालो और राज करो की नीति अपनाने वाली कांग्रेस सरकार ने देश भक्त इंद्रेश को आतंकवादी घोषित कर दिया।
उन्होंने कहा कि बांगलादेश से भारत में घुसे करीब ढ़ाई करोड़ मुस्लिम घुसपैठियों को सरकारी सुविधाएं देते हुए उन्हें पीले कार्ड और नागरिकता तक प्रदान की। जबकि कश्मीर और पाकिस्तान से विस्थापित होकर आए हिन्दुओं को आज तक किसी प्रकार की सुविधा नहीं दी गई।
बजरंग दल के प्रांतीय संयोजक सुरेश वत्स ने कहा कि कांग्रेस नेता देश को आजाद करवाने वाले स्वतंत्रता सेनानियों को भूल गए हैं, अब उनके सामने अगर कोई आदर्श है, तो राहुल गांधी जो एक चॉकलेट ब्बॉय है। कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्षा सोनिया गांधी है, जोकि पॉप के इशारे पर काम चलने वाली महिला है। उन्होंने कहा कि जिस पार्टी के संस्कार ही ऐसे होंगे उस पार्टी से देश हित की आशा की जा सकती है। उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस के लिए संसद पर हमला करने वाला अफजल गुरू और मुम्बई को दहलाने वाला कसाब देशभक्त हैं, जबकि देश के लिए कुर्बानी देने वाले भगत सिंह, चन्द्रशेखर आजाद और बटुकेश्वर दत्त जैसे देशभक्त उनके लिए प्रेरणा के स्त्रोत नहीं है।
राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रांतीय संघ चालक मेजर करतार सिंह ने कश्मीर मुद्दे को लेकर सत्तारूढ़ कांग्रेस को अपना निशाना बनाते हुए कहा कि कांग्रेस 1947 वाली गलती फिर दोहराते हुए कश्मीर को अलगाववादियों के हाथों सौंपने पर विचार कर रही है। जो देश हित में नहीं है। पूरे देश में देश विरोधी शक्तियों को नंगा करने के लिए तथा हिन्दू समाज में चेतना जागृत करने के उद्देश्य से हनुमत शक्ति जागरण मंच द्वारा देश के 8000 केन्द्रों पर 26 दिसंबर तक धर्म सभाएं की जा रही हैं।
इस मौके पर सरस्वती विद्या मंदिर स्कूल डबवाली की छात्राओं ने राष्ट्र भक्ति से ओतप्रोत गीत ए मेरा वतन मुझको जान से प्यारा, तुम भी कहो कहते रहो ये देश है हमारा.. प्रस्तुत किया। इससे पूर्व हवन यज्ञ भी किया।
इस अवसर पर पतराम रिसालियाखेड़ा, एसके दुआ, राजेन्द्र गुप्ता एडवोकेट, कृष्ण सेतिया, शामलाल जिन्दल, अमृतपाल, सतीश अग्रवाल, राजकुमार, सुदर्शन मित्तल, हरमेश, नारायण दास मैहता, अशोक सिंगला, प्यारे लाल गोयल, पवन गोयल, अशोक जिन्दल, हंसराज गोयल, रामकिशन मैहता, नरेश गर्ग, सुशील गर्ग, सुदेश आर्य, कुलदीप बांसल आदि उपस्थित थे।