युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

05 जुलाई 2011

धधकती आग में कूदकर बचाई जान


डबवाली (लहू की लौ) मण्डी किलियांवाली के अजीत नगर में अपनी किराएदारनी को आग की लपटों से बचाने के लिए मकान मालकिन संकट मोचन बनकर आई। उसने अपनी जान पर खेलकर आग की लपटों के बीच बेहोश पड़ी किराएदारनी को बाहर निकाला।
सोमवार सुबह 7 बजे थे। अजीत नगर के सुभाष उर्फ शुभकरण के मकान के एक कमरे में अचानक आग लग उठी। आंगन में खेल रहे बच्चों पंकज (12), राजन (10) तथा पिंकी (14) ने कमरे में लगी आग को देखकर शोर मचा दिया। शोर सुनकर बच्चों की माता परमेश्वरी देवी (40) कमरे के पास आई। उसने देखा कि रविवार को उनके मकान में किराए पर रहने के लिए आई अमरजीत कौर (50) बेहोशी की हालत में पड़ी है। जबकि कुंकिंग गैस सिलेण्डर के पास आग की लपटे निकल रही हैं। उसने साहस बटोरा और कमरे के भीतर घुसी। बेहोश अमरजीत कौर को उठाकर आंगन में ले आई।
परमेश्वरी देवी ने बताया कि वह एकदम किराएदार के कमरे में गई और उसने बेहोश अमरजीत को पहले बाहर निकाला। फिर घर की मेन स्विच ऑफ कर दी, ताकि आग बिजली के उपकरणों को न पकड़ ले। उसने इसी दौरान कमरे का बाहरी दरवाजा भी खोला और एक लोहे की रॉड लेकर कुकिंग गैस सिलेण्डर को रॉड की सहायता से गली में निकालकर पटक दिया और गैस सिलेण्डर को लगी आग बुझ गई। इसी दौरान सूचना पाकर फायर ब्रिगेड भी पहुंच गई। फायर ब्रिगेड ने कमरे के भीतर सामान को लगी आग पर नियंत्रण स्थापित किया।
बेहोशी टूटने के बाद किराएदारनी अमरजीत कौर ने बताया कि उसने अपने कुकिंग गैस चूल्हे पर चाय बनाने के लिए नया सिलेण्डर लगाया था। दियासिलाई जलाते ही गैस सिलेण्डर को आग लग गई। आग को देखकर वह कमरे के भीतर ही गिरकर अपनी सुधबुध खो बैठी। उसके अनुसार परमेश्वरी देवी ने उसे आग की लपटों में गिरने के बावजूद बाहर निकालकर जो उसकी सहायता की है, वह उसके लिए भगवान की शुक्रगुजार है तथा परमेश्वरी देवी की ऋणी है। उसके अनुसार काश! प्रत्येक किराएदार को ऐसे ही मकान मालिक मिलें।

आग से सब राख


डबवाली (लहू की लौ) मण्डी किलियांवाली के अजीत नगर में कुकिंग गैस सिलेण्डर बदलते समय आग लगने से कमरे में पड़ा लाखों रूपए का सामान जलकर राख हो गया। मौका पर पहुंची मार्किट कमेटी डबवाली के दमकल केंद्र की गाड़ी ने एक घंटा के प्रयासों से आग पर काबू पाया।
कल ही आए थे यहां
गाड़ी चालक धन्ना राम का परिवार जिला बठिंडा के गांव जस्सी बागवाली से रविवार को ही मण्डी किलियांवाली के अजीतनगर में रह रहे पेट्रोल पंप कर्मचारी शुभकरण उर्फ सुभाष के मकान में किराए पर रहने के लिए आया था। रविवार को ही धन्ना राम तथा उसके बेटे हरविंद्र (19) तथा जसविंद्र (17) काम पर गए हुए थे। कमरे में धन्ना राम की पत्नी अमरजीत कौर (50) अकेली थी। इस बीच कुकिंग गैस सिलेण्डर खत्म हो गया। सोमवार सुबह करीब 7 बजे उसने नया गैस सिलेण्डर लगाकर चाय बनाने के लिए जैसे ही स्विच ऑन किया तो सिलेण्डर को आग लग गई।
आग ने कमरे में पड़े सामान को अपने आगोश में ले लिया। कुछ ही मिनटों में टीवी, फ्रिज, बैड तथा कमरें में पड़ा सारा सामान जलकर राख हो गया। सूचना पाकर मौका पर पहुंची मार्किट कमेटी डबवाली की फायर ब्रिगेड ने आग पर काबू पाया।

कोल्ड ड्रिंक मिला दूध पीने से पांच बेहोश


डबवाली (लहू की लौ) कोल्ड ड्रिंक मिला दूध पीने से एक ही परिवार के 5 सदस्य बेहोश हो गये। जिन्हें उपचार के लिए डबवाली के सामान्य अस्पताल में दाखिल करवाया गया।
डबवाली के टेलर मास्टर जावेद खान ने बताया कि वह वार्ड नं. 14 की गली गंगा वाली में स्थित अपने ससुर इन्द्र सिंह के घर रविवार रात को अपनी पत्नी उर्मिला के पास आया हुआ था। रात को करीब 9.30 बजे उसकी सास सावित्री देवी (45) ने सभी के लिए दूध में कोक मिला कर पेय तैयार करके स्वयं पीया और अपने बेटे ईशान (22), सुनील (12), रवि (18) तथा पुत्री ज्योति (15) के साथ उसे भी पिलाया। लेकिन सुबह 6 बजे जब वह उठा तो उसने देखा कि उसके अतिरिक्त उपरोक्त पांचों बेहोशी की हालत में हैं, उल्टियां कर रहें हैं, बोल कुछ नहीं रहे। उसने इसकी जानकारी गली वासियों को दी और गली वासियों के सहयोग से जन सहारा सेवा संस्था की एम्बुलैंस से सरकारी अस्पताल में इलाज के लिए पहुंचाया।
डॉक्टर ने प्राथमिक चिकित्सा के बाद दोपहर को उन्हें छुट्टी दे दी। डॉ. सरवन बांसल ने बताया कि दूध में कोक मिलाकर पीने से संभव है कि उपरोक्त को फूड प्वाईजन हुआ होगा। उन्हें उपचार देकर छुट्टी दे दी गई।

84 बोतल शराब पकड़ी


डबवाली (लहू की लौ) क्षेत्र में अवैध शराब की बिक्री खुलेआम हो रही है। माईनरों के किनारे सूने पड़े घरों की आड़ में इस धंधे को चलाया जा रहा है। रविवार शाम को चौटाला पुलिस ने इसी प्रकार के एक धंधे पर छापा मारा। धंधा चला रहा व्यक्ति फरार हो गया। लेकिन मौका से पुलिस को 84 बोतल शराब बरामद हुई। पुलिस ने फरार हुए आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज करके उसकी तालाश शुरू कर दी है।
चौटाला पुलिस चौकी इंचार्ज जीत सिंह ने बताया कि पुलिस को मुखबरी मिली थी कि गांव गिदडख़ेड़ा रकबा में चौटाला माईनर पर स्थित सूने पड़े एक घर के सामने एक व्यक्ति धड़ल्ले से अवैध शराब की बिक्री कर रहा है। मुखबर की सूचना पाते ही एएसआई महेंद्र कुमार ने अपनी टीम के साथ मौका पर छापा मारा। पुलिस को देखते ही आरोपी खेतों में भाग खड़ा हुआ। मौका से पुलिस को सात पेटी यानि 84 बोतल ठेका देसी शराब बरामद हुई। उन्होंने बताया कि फरार हुए आरोपी की पहचान जीत राम पुत्र भागीरथ निवासी आसाखेड़ा के रूप में हुई है। आरोपी के विरूद्ध मामला दर्ज करके उसकी तालाश शुरू कर दी गई है।

विवादों के घेरे में डबवाली सीआईए तोड़ी


डबवाली (लहू की लौ) काफी समय से विवादों में घिरी डबवाली सीआईए को हटा दिया गया है। सीआईए डबवाली के प्रभारी एसआई हवा सिंह का तबादला सिटी थाना सिरसा में कर दिया गया है। जबकि अन्य स्टाफ को पुलिस लाईन सिरसा में भेजा गया है।
उल्लेखनीय है कि सीआईए डबवाली काफी लम्बे समय से चर्चा में चल रही है। इन दिनों गांव जोतांवाली में सीआईए की एक रेड काफी चर्चा का विषय बनी हुई थी। बताते हैं कि इस रेड की वजह से सीआईए की काफी किरकरी हुई। उसी दिन से जिला पुलिस के उच्च अधिकारी सीआईए पर टेढ़ी नजर बनाए हुए थे। रविवार को इसे हटाने के आदेश दे दिए गए।
एसपी सिरसा सतिंद्र गुप्ता ने सीआईए डबवाली तोडऩे की पुष्टि करते हुए बताया कि किसी आरोप की वजह से नहीं बल्कि सीआईए डबवाली को रूटीन में तोड़ा गया है। इसके प्रभारी एसआई हवा सिंह को सिटी थाना सिरसा तथा अन्य स्टॉफ को पुलिस लाईन सिरसा में लगाया गया है। एसपी के अनुसार स्टाफ को शीघ्र जिला के अन्य थानों में लगा दिया जाएगा।

गुप्तांग काटकर बना दिया हिजड़ा!


नकली हिजड़ा बनकर उगाही करने का सनसनीखेज आरोप, आरोपी ने कहा पहले लड़का था अब बना दिया हिजड़ा
डबवाली (लहू की लौ) शहर के एक युवक पर नकली हिजड़ा बनकर गांवों से बधाईयों के नाम पर उगाही इक्ट्ठी करने की शिकायत सिटी पुलिस के पास आई है। आरोपी का कहना है कि वह पहले लड़का था और उसे जबर्दस्ती हिजड़ा बनाकर इस कारोबार में उतारा गया है।
डबवाली की कबीर बस्ती निवासी मधु महंत ने थाना शहर पुलिस में एक शिकायत देकर घग्गड़ (पंजाब) हाल वार्ड नं. 17 निवासी राजा राम के बेटे प्रीति (20) पर आरोप लगाया कि प्रीति पिछले दो माह से हिजड़े के वेश में शेरगढ़, सकताखेड़ा, अबूबशहर, मटदादू, मौजगढ़ आदि गांवों में जाकर बधाईयां उगाह रहा है। जबकि वह लड़का है। मधु महंत ने बताया कि कुछ दिन पहले वे उपरोक्त गांवों में बधाई मांगने के लिए गई थी। लेकिन वहां के लोगों ने बताया कि उनका ही एक ग्रुप गांव से बधाईयां ले गया है। अब वे यहां क्या करने आए हैं?
इधर प्रीति ने बताया कि दस साल पूर्व मधु महंत उसे घर से ले गई थी। करीब पांच साल तक उसने उसे काम सीखाया। लालच देकर उसका गुप्तांग काट दिया  और उसे हिजड़ा बना दिया गया। पांच साल तक वह मधु महंत के लिए उसके सहयोगी डूना तथा सरवी के साथ गांव मौजगढ़, लम्बी, अबूबशहर, सकताखेड़ा, शेरगढ़, आसाखेड़ा, भारूखेड़ा, रामपुरा बिश्नोईयां, झुट्टीखेड़ा में काम करता आ रहा है। उन्हें बधाईयों के रूप में जो भी राशि मिलती वह इसे मधु महंत के सुपुर्द कर देते थे। लेकिन पिछले कुछ माह से मधु महंत उसे अनावश्यक रूप से मारने पीटने लगा। जिस पर उसने उससे किनारा कर लिया। अपने स्तर पर गांवों में जाकर बधाईयां मांगने लगा।
थाना शहर में रविवार को इस मामले को सुलझाने के लिए एक पंचायत हुई। जिसमें भोला महंत, वार्ड नं. 10 के पार्षद टेकचंद छाबड़ा, वार्ड नं. 17 की पार्षद गीता चौहान आदि शामिल हुए। इस मौके पर प्रीति तथा उसके पिता राजा राम को भी बुलाया गया। प्रीति ने अपना पक्ष प्रस्तुत किया। लेकिन पंचायत के सहयोग से दोनों पक्षों ने समझौता कर लिया।
वार्ड नं. 17 की पार्षद गीता चौहान ने बताया कि प्रीति उनके वार्ड के हर्ष नगर में रह रहा है। वह पिछले काफी सालों से उसे हिजड़े के वेश में देखती आ रही है। इसी वेश में वह गांवों में बधाईयां मांगने भी अक्सर जाता है। पार्षद ने कहा कि प्रीति अब लड़का है या हिजड़ा इसके संबंध में वह कुछ नहीं कह सकती।
मामले के जांच अधिकारी सिटी पुलिस के एएसआई गोपाल राम ने बताया कि उनके पास मधु महंत की शिकायत आई थी। लेकिन पंचायत द्वारा समझौता करवा देने और मधु महंत द्वारा अपनी शिकायत वापिस लेने पर इस मामले को फाईल कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि राजा राम ने पुलिस को दिए ब्यान में कहा कि प्रीति उसका बेटा था। अब वह हिजड़ा है या नहीं इसकी जांच तो डॉक्टर ही कर सकता है।