युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

30 सितंबर 2009

बस-ट्रक भिड़न्त : 9 मरे, 28 घायल





हनुमानगढ़ (लहू की लौ) जिले के रावतसर के समीप मेगा हाइवे पर बुधवार सुबह एक भीषण सड़क दुर्घटना में 9 जनों की मौत हो गई तथा 28 जने घायल हो गए। जयपुर से श्रीगंगानगर आ रही जैन ट्रैवल्स की बस (आरजे 23 पीए 0511) में विपरीत दिशा से आ रहे ट्रक (पीबी 05 एम 9967) ने जोरदार टक्कर मार दी। इस भीषण भिड़त में दोनों वाहनों के चालकों समेत 9 जनों की घटनास्थल पर ही मृत्यु हो गई। मृतकों में एक महिला व एक सवा का बच्चा भी शामिल था। इस सीधी भिड़ंत में 28 जने चोटिल हो गये। इनमें में से 10 जनों की हालात चिंताजनक होने के कारण उन्हें अन्यत्र रैफ र कर दिया गया। अपुष्ट जानकारी के अनुसार इनमें से एक जने की उपचार के दौरान मृत्यु हो जाने से मरने वालों की संख्या दस तक पहुंच गई है। मृतकों में एक दंपत्ति तथा पिता-पुत्र शामिल हैं। घायलों में श्रीगंगानगर में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक बीपी चंदेल भी शामिल हैं। श्री चंदेल और दो अन्य घायलों सीता पुत्री हनुमान निवासी वार्ड नं. 13, पुरानी आबादी व कमला पुत्री बिरदाराम निवासी साधूवाली छावनी को श्रीगंगानगर के एक प्राइवेट तथा सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। दर्दनाक हादसे की सूचना मिलते ही जिला कलेक्टर डा. रवि कुमार सुरपुर व पुलिस अधीक्षक मोहनसिंह स्वास्थ्य केन्द्र में पहुंचे। पुलिस अधीक्षक मोहनसिंह निठारवाल ने बताया कि जयपुर से श्रीगंगानगर जा रही जैन ट्रैवल्स की वीडियोकोच आज सुबह राज्य राजमार्ग संख्या 7 पर धन्नासर के पास बीएसएफ का सामान लेकर जा रहे ट्रक से जा टकराई। इस भीषण भिडंत में बस के एक तरफ का हिस्सा पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त हो गया और ट्रक का कैबिन उसमें फंस गय। इत्तला पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों के साथ मिलकर के्रन से दोनों वाहनों को अलग किया और गैस कटर से बस को कई जगह से काटकार उसमें फंसे लोगों को बाहर निकाला और जो भी वाहन मिला उससे रावतसर के सरकारी अस्पताल पहुंचाया। चिकित्सकों ने एक महिला सहित 9 लोगों को मृत घोषित कर दिया। आठ मृतकों की शिनाख्त हो गई है। पुलिस अधीक्षक और जिला कलक्टर ने दुर्घटनास्थल का भी निरीक्षण किया। स्थानीय कस्बावासी घायलों की मदद के लिए स्वास्थ्य केन्द्र में उमड़ आये। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुभाष राजपूत मेडीकल टीम लेकर रावतसर स्वास्थ्य केन्द्र में लगभग 9 बजे पहुंचे। स्वास्थ्य केन्द्र में पूर्व विधायक धर्मेन्द्र मोची, कस्बे के रमेश स्वामी, उमेश वकील, सुनील धारीवाल, बिश्रसिंह शेखावत, पूर्व पार्षद पृथ्वी देहडू सहित आदि लोगों ने पहुंच घायलों की सार-संभाल की। एसडीएम सुखबीर सिंह चौधरी रावतसर के थानाधिकारी दिनेश राजौरा और पल्लू के थानाधिकारी अरूण चौधरी इत्तला मिलते ही दल-बल सहित घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने नजदीक के चक 29 डीडब्ल्यूडी के ग्रामीणों की मदद से घायलों को तथा मृतकों के शवों को रावतसर के सरकारी अस्पताल में पहुंचाया। चक 29 डीडब्ल्यूडी के ग्रामीणों के अनुसार दुर्घटनास्थल पर मंगलवार रात्रि पशु चारा तूड़ी भरी एक ट्रेक्टर -ट्राली पलट गई थी। ट्राली तिरपाल लगाकर ऊपर तक भरी हुई थी। माना जा रहा है कि ट्राली के बीड के कारण ट्रक चालक ट्राली को ऑवर टेक करते समय सामने की तरफ आ रही है बस को नहीं देख पाया। तेज गति से चल रहे दोनों वाहन आमने-सामने भिड़ गये। दुर्घटना इतनी भयंकर थी कि दोनों वाहनों के आगे के हिस्से के परखचे उड़ गये। बस के ड्राइवर साईड वाला पूरा हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। भिड़ंत का धमाका सुनकर चक 29 के कई ग्रामीण घटनास्थल की तरफ भागे तथा आनन-फ ानन में अपने गांव से 9 टैम्पो मंगवाकर घायलों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भिजवाया। आपातकाल सेवा 108 एम्बूलैंस सेवा देरी से घटनास्थल पर पहुंची। मेगा हाइवे की एम्बूलैंस सेवा लगभग 7 बजे पहुंची। दुर्घटना सुबह 4.45 बजे हुई। भिड़ंत की भीषणता का आलम यह था कि बस पलटी खा गई तथा उसे क्रेन से सीधा किया गया तो उसके नीचे दबकर मरे दो यात्रियों के शव मिले। ट्रक चालक के शव के चिथड़े उड़ गये। उसके शव को एक चादर में इक_ा कर मोर्चरी कक्ष पहुंचाया गया। मृतकों की पहचान: घटनास्थल पर मरे 9 जनों में से आठ जनों की शिनाख्त हो चुकी है। इनमें ट्रक चालक विक्की (25) पुत्र वरयाम सिंह निवासी फतेहाबाद (हरियाणा), बस चालक हरलाल पुत्र रामलाल जाट निवासी सबलपुरा (सीकर), नानूराम रेगर (45) पुत्र सूरजाराम निवासी श्रीगंगानगर, सुजान सिंह (35) पुत्र प्रतापसिंह निवासी अटरस (आगरा), अवतार सिंह (28) व उसका पुत्र राजू (डेढ़ वर्ष) निवासी पुरानी आबादी श्रीगंगानगर, रामसिंह पुत्र ज्ञानसिंह राजपूत निवासी व उसकी पत्नी सरोज कंवर, निवासी मिरेन (सीकर) मृतकों में शामिल है। पुलिस ने बताया कि सुजानसिंह व एक अज्ञात शख्स के शव को छोड़कर बाकी सभी शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिये गए हैं। मृतक अवतारसिंह की पत्नी रमनदीपकौर इस हादसे में गंभीर घायल हो गई, जिसे हनुमानगढ़ टाउन के सिविल अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद बीकानेर के लिए रैफर कर दिया गया। यह हुए घायल: पुलिस के अनुसार दोनों वाहनों की भिड़त में अजय (30) पुत्र चरणसिंह निवासी नांगल (पंजाब), सबीर (22) पुत्र इसमाइल खां निवासी विद्याधर नगर (जयपुर), पतासी देवी (45) पत्नी नानूराम रेगर निवासी गंगानगर, सीता जाजोडिय़ा (22) पुत्री हनुमान सिंह रेगर निवासी अजमेर रोड़ जयुपर, सुभाष (42) पुत्र हरीराम अग्रवाल निवासी मानसरोवर (जयपुर), नरेश अरोड़ा (39) पुत्र रामचन्द्र श्रीगंगानगर, विजय सिन्धी (37) पुत्र शोभाराम निवासी 365 हैड (रावला), देवीलाल (18) पुत्र बलराम नायक निवासी बोदीवाला जिला फि रोजपुर (पंजाब), नंदसिंह (57) पुत्र प्रतापसिंह निवासी देई (जिला बूंदी), बलवीर सिंह (27) पुत्र नंदसिंह राजपूत देई (जिला बूंदी), रिछपाल (30) पुत्र हरदमसिंह निवासी सादुलशहर, विमल जीत (40) पत्नी मनमोहन सिंह निवासी केसरसिंहपुर, बलविन्द्र सिंह (48) पुत्र अनोप सिंह निवासी धून्दा,जिला तरनतारन (पंजाब), पूनम कंवर (27) पत्नी देवेन्द्र सिंह राजपूत निवासी पूरानी आबादी श्रीगंगानगर, रमनदीप (22) पत्नी अवतार सिंह पुरानी आबादी श्रीगंगानगर, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक बुद्धिप्रकाश (39) पुत्र बद्रीलाल चन्देल निवासी आवां तहसील देवली, अशोक (23) पुत्र ओमप्रकाश खटीक निवासी वजीरपुरा (नई दिल्ली),सुरेन्द्र (25) पुत्र रावताराम नायक निवासी बोदीवाला (फाजिल्का, पंजाब), सुरेन्द्र शर्मा (38) पुत्र प्रकाश नारायण निवासी चांदपोल (जयपुर),कमला कुमारी (18) पुत्री विरधाराम निवासी लालोट (जिला नागौर), गोरी (23) पत्नी नवीन गुप्ता निवासी सिरसा,दीपचंद (25)पुत्र मूलचंद निवासी लक्ष्मणगढ़,नीरज ब्राह्मण (23) पुत्र बाबूलाल सैंथल (जिला दौसा),चंदन चावला (23) निवासी श्रीगंगानगर, मदनलाल (20) पुत्र भूपराम नायक निवासी बोदीवाला (फाजिल्का, पंजाब), गौरव पुत्र गुरविन्द्र सिंह निवासी गुलाबे वाला, मनोज कुमार (30) पुत्र ठाकरमल स्वामी निवासी माड़ोदा (सीकर) व सर्वजीत पुत्र लोकसिंह निवासी जिन्दल कॉलोनी श्रीगंगानगर घायलों में शामिल है। मुकदमा दर्ज: दुर्घटनाग्रस्त बस के कंडक्टर सीकर निवासी मनोज कुमार पुत्र सांगरमल स्वामी ने पुलिस थाना में ट्रक चालक के खिलाफ लापरवाही से वाहन चलाये जाने का मुकदमा करवाया है।

29 सितंबर 2009

बाबा रामदेव ने योग को बना दिया है परचून की दुकान-कर्मवीर

डबवाली (लहू की लौ) पतंजलि योग फाउंडेशन, लोनावाल महाराष्ट्र तथा महर्षि पंतजलि अंतर्राष्ट्रीय योग विद्यापीठ के संस्थापक, योग प्रचार में बाबा रामदेव के सबसे पुराने साथी स्वामी कर्मवीर ने कहा कि परचून की दुकान चलाना संयासियों का काम नहीं है। योग को योग के हिसाब से ही चलाया जाना चाहिए अन्यथा लोगों का योग और सन्यासियों से विश्वास उठ जाएगा। वे सोमवार को हिसार से फाजिल्कां जाते समय कुछ समय के लिए पत्रकारों से डबवाली में बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि रामदेव योग के मिशन को लेकर चले थे और यह मिशन बहुत अच्छा था। जिससे लोगों को लाभ भी हुआ। लेकिन अब बाबा रामदेव अपने उद्देश्य से भटक गये हैं। उन्होंने तो बिस्कुट और आटा तक बेचना शुरू करके योग को परचून की दुकान बना दी है और इस व्यापार में सरकारी नियमों की भी धज्जियां उडाई जा रही हैं, जोकि राष्ट्र के हित में नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि उद्देश्य से भटकते हुए बाबा रामदेव ने पैप्सी और कोका कोला के खिलाफ भी बोलना बन्द कर दिया है। उन्होंने कहा कि एक साधु-सन्यासी को सुरक्षा के लिए इतने कमांडों की जरूरत नहीं होती और उन्होंने सलाह दी कि बाबा रामदेव को स्वामी दयानन्द की तरह निर्भय होकर घूमना चाहिए और सत्य भाषण निर्भय होकर करते रहना चाहिए। बल्कि बाबा रामदेव को प्रयोग करो और फेंक दो की नीति नहीं करनी चाहिए और झूठे भाषण से बचना चाहिए। उन्होंने बीमारियों का कारण बढ़ते हुए प्रदूषण को बताया और कहा कि सरकार और लोगों को मिलकर प्रदूषण के खिलाफ अभियान चलाना चाहिए। जो उद्योग प्रदूषण फैलाते हैं, उन पर नियंत्रण स्थापित करना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि योग केवल रोग ही नहीं भगाता बल्कि जीवन में संयम पैदा करके जनसंख्या नियंत्रण में कारगर साबित हो सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय योग और संस्कृति अपनाने से नैतिकता जीवन में आती है और इसका अनुसरण करने से भ्रष्टाचार से स्वयं ही मुक्ति मिल सकती है।

अपनी सरकार बना लो, बाकी काम मेरे जिम्मे छोड़ दो-अजय चौटाला

डबवाली (लहू की लौ) एक बार आप राजनैतिक ताकत देकर अपनी सरकार बना लो, बाकी काम मेरे जिम्मे छोड़ दो, कोई कोर कसर नहीं रहने दूंगा। आपके हक में जो भी होगा, वही कानून बना कर नीचे लिख दिया जाएगा....ओमप्रकाश चौटाला। उक्त शब्द डबवाली से इनेलो प्रत्याशी अजय सिंह चौटाला ने कहे। वे आज डबवाली हलके के गांवों में जनसभाओं को संबोधित कर रहे थे। गांवों में पंहुचने पर अजय सिंह चौटाला का जोरदार स्वागत किया और अपना समर्थन व्यक्त किया। पार्टी महासचिव ने आज मु़ख्यमंत्री के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि इनेलो कहने में नहीं काम करने में विश्वास करती है। प्रदेश का राजनीतिक इतिहास इस बात का गवाह है कि इनेलो ने जो बात कही है, उसे पूरा करके दिखया है। उन्होंने कहा कि चौधरी देवीलाल ने 1987 में कर्ज माफ करने व वृद्धों को पेंशन देने का वायदा किया था तो कांग्रेसी नेताओं ने इसे वोट लेने का स्टंट बताते हुए कहा था ऐसे कानून तो बन ही सकता पर चौधरी देवीलाल ने सत्ता संभालते ही कर्ज माफी व वृद्धावस्था पेंशन योजना लागू कर कांग्रेसियों की बोलती बंद कर दी थी। आज ऐसी योजनाओं का अनुसरण पूरे देश में किया जा रहा है। अब भी हम वायदा करते हैं जो कहा है सरकार आने पर उसे पहली कलम से पूरा करके दिखाएंगे। उन्होंने कहा कि इस बार भी पार्टी को बहुमत मिलने के बाद हम विधानसभा में कानून बनाने के लिए जाएंगे न कि भेड़ चराने। जो कहा है उसे करके दिखाएंगे। उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर पलटवार करते हुए कहा कि घोषणाएं करने में मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा का विश्वास है, इनेलो का नहीं। इनेलो को जनहित योजनाएं लागू करने में विश्वास रखती है। इनेलो प्रत्याशी अजय चौटाला ने कहा कि यदि आप चाहते हैं कि हर वर्ग का एक लाख रूपये तक का कर्ज माफ हो,सभी वृद्धों को समान रूप से 1200 रूपये पेंशन व तीन हजार रूपये बेरोजगारी भत्ता मिले। हर घर में निशुल्क गैस कनेक् शन चूल्हे समेत व हर घर में स्वच्छ पेयजल हर घर में पहुंचे और हर गरीब व पिछड़े वर्ग के बीपीएल कार्ड बनें और स्कूल के बाद उनकी बेटियां स्कूटी पर मोपेड जाएं तो, 13 अक्टूबर को सभी एक झंडे के नीचे आज कर चश्मे का बटन दबा देना। सारी समस्याओं का समाधान हो जाएगा। आज अजय सिंह चौटाला ने गांव किंगरे, मिलकपुरा, ओंढो, चोरमार, सालमखेड़ा, नूईयांवाली, घूंघावाली आदि गांवों का दौरा किया। दौरे में उनके साथ निवर्तमान विधायक डा. सीताराम, राधेराम गोदारा, सरदार जगरूप सिंह, बलराम जाखड़, महेंद्र डूडी, भरत सिंह ओंढा, सुखमिंदर सिंह, सीतादेवी सहित अन्य इनेलो नेता उपस्थित थे।

इनेलो की सरकार आने पर डबवाली में बनाएंगे पोलटेक्निकल कॉलेज-मीनू

डबवाली (लहू की लौ) चौ. देवीलाल विद्यापीठ के वाईस चेयरमैन मनिन्द्र पाल सिंह मीनू फताकेरा ने कहा कि डबवाली में पोलटेक्निक कॉलेज की जरूरत है ताकि इस क्षेत्र के बच्चे रोजगारोन्मुखी शिक्षा प्राप्त करके स्वयं के कार्य चला सकें। वे इनेलो द्वारा वार्ड नं. 3, 4 और 5 के युवाओं की डॉ. गिरधारी लाल गर्ग के क्लीनिक पर आयोजित एक सांझी बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अजय सिंह चौटाला को मतदान करने का मतलब मुख्यमंत्री को मत देना है। चौटाला के विधायक बनने और इनेलो की सरकार बनने पर वह डबवाली में पोलटेक्निक कॉलेज खोले जाने की उनकी मांग को प्राथमिक आधार पर पूरा करवायेंगे। उन्होंने युवाओं को आश्वस्त करते हुए क हा कि इनेलो की सरकार में प्रत्येक युवा को फ्री शिक्षा दी जायेगी। इस मौके पर इनेलो नेता रणवीर सिंह राणा ने कहा कि छात्रों की सुविधा के लिए विशेष आर्थिक जोन बना जायेगा। जिसमें छात्रों को शिक्षा से लेकर रोजगार तक की सुविधा मिलेगी। उन्होंने कहा कि गौ धन की रक्षा के लिए तत्कालीन चौटाला सरकार ने 15 रूपये प्रति गौ धन के हिसाब से गौशालाओं को देने की घोषणा की थी और इसे अदालत ने भी मंजूरी दे दी थी लेकिन हुड्डा सरकार ने यह कह कर इसे देने से इंकार कर दिया कि सरकार इतना आर्थिक बोझ सहन नहीं कर सकती। इस मौके पर मार्किट कमेटी बठिंडा के चेयरमैन गुरतेग सिंह गीकू, पूर्व विधायक डॉ. सीता राम, बिल्लू जुनेजा, बलदेव भीटीवाला, सुभाष गुप्ता गोरीवाला, सुरेन्द्र बर्तन, प्रिंस जुनेजा, ऋषि गुप्ता, मल्ली ग्रोवर, आकाशदीप, मि_ू, दीपक ग्रोवर, लवली धमीजा, विक्की सिंगला, विनोद नारंग, राकेश बांसल, काका मोंगा उपस्थित थे।

हुड्डा के राज में पैसे दो काम करवाओ-अभय

सिरसा : वरिष्ठ इनेलो नेता खेल रतन चौधरी अभय सिंह चौटाला ने गांव बगूवाली में सरपंच बुधसिंह के निवास पर एक प्रैस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस के साढ़े चार साल के शासनकाल से प्रदेश की जनता कांग्रेस सरकार से परेशान है। न बिजली, न पानी, न कानून व्यवस्था यदि कोई अपनी शिकायत लेकर थाने में जाते है तो थानेदार भी पैसे मांगते है कि पैसे दो और अपना काम करवाओ। गांव बग्गूवाली निवासी मिट्ठू सिंह पुत्र बोगा सिंह को कोर्ट ने रास्ता दे रखा है इस बात को लेकर जब मिट्ठू सिंह थाने में गए तो थानेदार ने कहा कि आप पैसे लाओ तो आपको रास्ता मिलेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश का मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा दावा करते नहीं थकते कि हरियाणा के अंदर भयमुक्त भ्रष्टाचार मुक्त सरकार है इससे बड़ा उदाहरण क्या है इसकी पोल खोलते हुए उन्होंने कोर्ट के आदेश पत्रकारों को दिखाया। लोग 13 अक्तूबर का बेस्रबी से इंतजार कर रहे हैं। इस भ्रष्ट सरकार से पीछा छुड़ाया जाए। चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि लोगों की इच्छा तो यह है कि नतीजा दिवाली से पहले आए ताकि जीत की खुशी का जश्र दिवाली से पहले ही बनाया जाए। आज महंगाई की मार से आम आदमी दुखी है जबकि केंद्रीय कृषिमंत्री कहता है कि चावल और महंगे होंगे, कभी कहता है कि चीनी महंगी होगी। आज किसान का इतना बुरा हाल है कि उसे फसल के लागत के भाव भी नहीं मिलते। उन्होंने कहा कि आज गेहूं का भाव सरकारी तौर पर 1080 रूपए है जबकि खर्चों 1150 रूपए आता है और विदेशों से सरकार 2200 रूपए क्ंिवटल के भाव से गेहंू आयात करती है। कांगे्रस की हमेशा यह नीति रही है कि लालच लोभ देकर वोट हासिल करना सत्ता में आने के बाद वो बड़े घरानों के साथ पांच वर्ष तक जेबें भरने का काम करती है। एक प्रश्र के उत्तर में चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि यदि कांग्रेस सारी इक_ी हो जाए तब भी इनेलो अपने बलबूते पर सरकार बनाएगी। एक अन्य प्रश्र के उत्तर में उन्होंने कहा कि इनेलो फतेहबाद व सिरसा की सभी सीटों पर काबिज होगी और प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाएगी। इस अवसर पर कालांवाली से अकालीदल बादल प्रत्याशी चरणजीत सिंह, विनोद कम्बोज, हरदयाल सिंह गदराना, जिला पार्षद सदस्य बुद्ध सिंह, सुभाष कम्बोज, भोला सिंह सरपंच, कुलवंत सिंह पूर्व सरपंच उपस्थित थे।

मतदान अधिकारियों को ईवीएम का प्रशिक्षण दिया जाएगा: ख्यालिया

डबवाली (लहू की लौ) विधानसभा चुनाव के मद्देनजर नियुक्त किए नोडल व मतदान अधिकारियों को ईवीएम का प्रशिक्षण दिया जाएगा। जिला सिरसा के अंतर्गत आने वाले पांच विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव संबंधित अधिकारियों को प्रशिक्षण देने के लिए विभिन्न स्थानों पर रिहर्सल कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। जिला निर्वाचन अधिकारी युद्धवीर सिंह ख्यालिया ने बताया कि सभी अधिकारियों को पांच अक्तूबर को चौ.दलबीर सिंह इंडोर स्टेडियम सिरसा में पायलट रिहर्सल करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि द्वितीय रिहर्सल 9 अक्तूबर अलग-अलग स्थानों पर करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि रानियां विधानसभा क्षेत्र के अधिकारियों की रिहर्सल सुबह 10 बजे ओर ऐलनाबाद विधानसभा क्षेत्र के अधिकारियों की रिहर्सल दोपहर 2 बजे चौ.दलबीर सिंह इंडोर स्टेडियम सिरसा में करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि 9 अक्तूबर को सिरसा व कालांवाली विधानसभा क्षेत्र के अधिकारियों की रिहर्सल सीएमके गल्र्ज कालेज के आडिटोरियम हाल में सुबह 10 बजे और दोपहर 2 बजे करवाई जाएगी और डबवाली विधानसभा क्षेत्र के अधिकारियेां की रिहर्सल महाराणा प्रताप महिला कालेज डबवाली में सुबह 10 बजे करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि ईवीएम से संबंधित अंतिम रिहर्सल 12 अक्तूबर को प्रात: 9 बजे अलग-अलग स्थानों पर करवाई जाएगी। कालांवाली विधानसभा क्षेत्र के अधिकारियों की रिहर्सल पंचायत भवन सिरसा डबवाली विधानसभा क्षेत्र के अधिकारियों की रिहर्सल महाराणा प्रताप महिला कालेज में, रानियां विधानसभा क्षेत्र के अधिकारियों की अंतिम रिहर्सल राजकीय बहुतकनीकी कालेज (लड़के) सिरसा, सिरसा विधानसभा क्षेत्र के अधिकारियों की रिहर्सल सीएमके गल्र्ज कालेज आडिटोरियम हाल और ऐलनाबाद विधानसभा क्षेत्र के अधिकारियों की रिहर्सल उपमंडल अधिकारी ऐलनाबाद के कार्यालय में करवाई जाएगी।

बुर्जुग दे रहे हैं दिग्विजय को विजय भव का आशीर्वाद

डबवाली (लहू की लौ) विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं वैसे-वैसे लोगों में जागरूकता भी बढ़ती जा रही है और चुनावों के प्रति दिलचस्पी भी। हल्का डबवाली से इनेलो के प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़ रहे अजय सिंह चौटाला के बेटे दिग्विजय सिंह अपने पिता के लिए दिन-रात एक करके डबवाली नगर में डोर-टू-डोर जा रहे हैं। उनके स्वभाव से केवल पार्टी के कार्यकर्ता ही नहीं बल्कि आम मतदाता भी अभिभूत है। वे जब भी किसी मतदाता के पास मत देने का अनुरोध करने के लिए जाते हैं तो हमउम्र को हाथ जोड़कर मतदान की अपील करते हैं और जब किसी बुजुर्ग के सामने जाते हैं तो सीधे ही उसके पांवों को पकड़ लेते हैं और विजयीभव का आशीर्वाद देने के बाद जैसे ही बुजुर्ग उसके गले में हार डालने का प्रयास करते हैं तो उसे अपनी मधुर भाषा में सिर्फ इतना ही कहते हैं कि आपने आशीर्वाद दे दिया यही हमारे लिए हार और धन है। दिग्विजय के इस स्वभाव का डबवाली के उन लोगों पर गहरा असर दिखाई देने लगा है जिनमें कल तक चौटाला परिवार के प्रति कई प्रकार की भ्रांतिया फैलाकर उन्हें दिग्भ्रमित कर दिया गया था। दिग्विजय के चुनाव प्रचार से लोग इनेलो प्रत्याशी अजय सिंह चौटाला की ओर आकर्षित होने लगे हैं। वैसे भी आम मतदाता अजय के स्वभाव से पहले से ही परिचित हैं और वे इस हल्के में उन्हें अच्छे प्रत्याशी के रूप में मानकर चल रहे हैं।

27 सितंबर 2009

432 उम्मीदवारों के नामांकन रद्द

डबवाली (लहू की लौ) हरियाणा विधानसभा-2009 के लिए 13 अक्तूबर को हो रहे आम चुनावों के लिए प्राप्त 1865 नामांकन पत्रों में से आज जांच पड़ताल के दौरान 432 उम्मीदवारों के नामांकन रदद किये गये। इस प्रकार, कुल 1433 उम्मीदवार चुनावी मैदान में रह गये। नामांकन पर वापिस लेने की अंतिम तिथि 29 सितम्बर है। हरियाणा निर्वाचन आयोग के एक प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि इनमें मेवात जिले की पुन्हाना विधानसभा क्षेत्र से सर्वाधिक 30 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं, जबकि खरखौदा (आरक्षित) विधानसभा क्षेत्र से सबसे कम 7 उम्मीदवार शेष रह गये हैं। उन्होंने बताया कि भिवानी विधानसभा क्षेत्र से 25, फतेहाबाद से 21, बवानीखेड़ा (आरक्षित) से 22, लोहारू से 25, पानीपत (ग्रामीण) से 22, दादरी से 22, नारनौल 23, नांगल चौधरी से 27 व बादली से 25, नलवा से 23 व सिरसा से 22, सफीदों से 20, पुण्डरी से 23, रादौर से 23, इन्द्री से 19, असन्ध से 22, रानियां से 13, बरवाला से 22, हिसार से 21 व बाढड़ा से 20, महम से 21, कलानौर (आरक्षित) से 14, नीलोखेड़ी (आरक्षित) से 18, घरौंडा से 19, हांसी से 22, तोशाम से 21, अटेली से 20, सोहना से 20 तथा हथीन से 19, बादशाहपुर से 17, फरीदाबाद एनआईटी से 18, थानेसर से 16, लाडवा से 18 व बहादुरगढ़ से 15, जींद से 17, बेरी से 18, कोसली से 18, पटौदी (आरक्षित) से 19, ऐलनाबाद से 10, बरोदा से 18, पंचकूला से 15, यमुनानगर से 17, गुडग़ांव से 17, नुंह से 17, नारनौंद से 11 व बडख़ल से 16, नारायणगढ़ से 15, रेवाड़ी से 17, समालखा से 13, गोहाना से 14, गन्नौर से 13 व पृथला से 15, कैथल से 15, रोहतक से 13, महेन्द्रगढ़ से 14, होडल (आरक्षित) से 14, टोहाना से 14, रतिया(आरक्षित) से 14, झज्जर(आरक्षित) से 13, बल्लबगढ़ से 14 तथा फरीदाबाद से 13, शाहबाद(आरक्षित) से 13, पिहोवा से 11, गुहला(आरक्षित) से 11, कलायत 14, पानीपत शहर 13, फिरोजपुर झिरका 12, उकलाना(आरक्षित) से 9 तथा पलवल से 14, कालका से 13, सढौरा(आरक्षित) से 12, करनाल से 13, राई से 11 तथा उचाना कलां से 15, अम्बाला शहर से 11, जुलाना से 14, नरवाना(आरक्षित) से 9, कालांवाली(आरक्षित) से 8, आदमपुर से 11, जगाधरी से 8, बावल(आरक्षित) से 10, मुलाना (आरक्षित) से 11, इसराना(आरक्षित) से 9, सोनीपत से 10, डबवाली से 8 तथा तिगांव से 10, गढ़ी सांपला किलोई से 10 तथा अम्बाला छावनी से 7 उम्मीदवारों के नामांकन शेष रह गये हैं।

26 सितंबर 2009

डेरामुखी हुए अदालत में पेश

सिरसा (लहू की लौ) गुमनाम पत्र, रणजीत सिंह और पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्या कांड मामले में शनिवार को डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह सिरसा अदालत में पेश हुए और वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से सीबीआई की अंबाला स्थित अदालत में उपस्थिति दर्ज करवाई। छह घंटे तक चली सुनवाई में डेरा प्रमुख शामिल रहे। डेरा प्रमुख पेशी को लेकर शनिवार को अदालत परिसर पूरी तरह से छावनी में तबदील कर दिया गया। चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात किए गए और वाहनों को रोकने के लिए नाके लगाए गए। डेरा सच्चा सौदा के सेवादार भी सुरक्षा की कमान संभाले हुए थे। वाहनों की सघन जांच की जा रही थी। डेरा प्रमुख शनिवार की प्रात: साढे दस बजे अदालत में हाजिर हुए। वीडियो कांफेसिंग के माध्यम से उन्होंने अंबाला स्थित सीबीआई की अदालत में उपस्थिति दर्ज करवाई। बताया गया है कि शनिवार को गुमनाम पत्र, रणजीत सिंह और पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड के मामले में सुनवाई की गई। गुमनाम पत्र और रणजीत सिंह हत्याकांड मामले की सुनवाई के लिए अदालत ने अब छह अक्तूबर और छत्रपति हत्याकांड मामले में 24 अक्तूबर की तिथि निर्धारित की है। डेरा प्रमुख करीब साढे चार बजे अदालत से बाहर आए। डेरा प्रमुख के दर्शनों के लिए श्रद्धालु सड़क के दोनों ओर खड़े हुए थे।

शराफत को इनेलो कमजोरी न समझे-केवी


डबवाली (लहू की लौ) कांग्रेस के हल्का डबवाली से प्रत्याशी डॉ. केवी सिंह ने कहा कि यदि डबवाली हल्का के लोग इनेलो का आतंक समाप्त करना चाहते हैं तो वे कांग्रेस को चुने। वे शुक्रवार को यहां की पुरानी अनाज मण्डी में नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद भारी संख्या में उपस्थित अपने समर्थकों, कांग्रेस कार्यकर्ताओं और आम लोगों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वे शराफत की राजनीति करते आ रहे हैं और शराफत की राजनीति ही करना चाहते हैं। लेकिन विपक्ष इसे कमजोरी न समझे। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में जनता की अदालत सबसे बड़ी अदालत है और चुनाव के समय जनता जो फैसला करती है, वह फैसला ही सर्वमान्य होता है। वह जनता से जनता की सेवा के लिए राज की कलम की मांग करता है, अगर जनता उसे यह कलम सौंपती है तो वह लोगों के विश्वास को किसी भी प्रकार से डगमगाने नहीं देगा। इस मौके पर उन्होंने जनता के समक्ष संकल्प लिया कि वे उन द्वारा दी गई कलम का प्रयोग जनहित में ही करेंगे। डॉ. केवी सिंह अपने राजनीतिक जीवन में शायद पहली बार पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला और उनके बेटों के खिलाफ मंच से गरजे हैं। उन्होंने अपनी सिंह गरजना में कहा कि इनेलो के राज-काज में डबवाली क्षेत्र की जनता में इन लोगों ने केवल आतंक फैलाने का काम किया है। यहीं नहीं बल्कि हरिजनों की जमीनों को हथिया कर वहां पर अपने फार्म हाऊस बनाये हैं। अगर किसी ने इसकी जानकारी लेनी है या इसे अपनी आंखों से देखना है तो वह हल्का डबवाली के गांव लम्बी, मटदादू, मौजगढ़, अबूबशहर के हरिजनों से मिलें। उन्होंने यह भी कहा कि जो लोग आज से साढ़े 6 वर्ष तक जनता में आतंक फैलाते थे, अब जनता के मिले उसे आपार सहयोग को देखकर उस (डॉ. केवी सिंह) से ही भय खाने लगे हैं। उन्होंने लोगों से कहा कि वे अपने घरों पर कांग्रेस का झण्डा लगा दें और उनके बीच में पनपा इनेलो का आतंक स्वयं ही खत्म हो जाएगा। इस अवसर पर कांग्रेसी नेताओं में से ओमप्रकाश हिटलर, संजय हिटलर, संदीप चौधरी, अमित सिहाग, रणजीत सिंह मान, रणजीत सिंह एडवोकेट, गुररतन पाल सिंह किंगरा, कर्मचन्द शर्मा, रामजी लाल, विनोद बांसल, जगसीर मिठड़ी, रविन्द्र बिन्दू, सिम्पा जैन, आर.के. वर्मा, पवन गर्ग, बख्तावर मल दर्दी, इन्द्रजीत सिंह एडवोकेट, जसवन्त बराड़, डॉ. सुरेन्द्र पाल जस्सी, सुखमन्दर सिंह सरपंच शेरगढ़, राकेश वाल्मीकि, गोपाल मित्तल, उषा दहिया, केशव शर्मा, प्रकाश सिंह भाटी पूर्व विधायक बल्लुआना, प्रकाश सिंह बांसल गंगा, राजेन्द्र गर्ग, प्रशान्त गर्ग, दीपक गर्ग बाबा, राकेश गर्ग धुनिका, सुन्दर कण्डा, पवन रैगर, सूरज खटीक आदि उपस्थित थे। इस मौके पर मंच का संचालन चित्रगुप्त छाबड़ा ने किया।

कांग्रेस प्रत्याशी डॉ. केवी सिंह ने भरा नामांकन


डबवाली (लहू की लौ) हरियाणा विधानसभा के हल्का डबवाली से कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में डॉ. केवी सिंह ने अपना नामांकन पत्र दाखिल करते हुए अपने शपथ-पत्र में स्वयं को 25 लाख 44 हजार 83 रूपये की चल और 25 लाख रूपये की अचल सम्पत्ति का स्वामी दर्शाया है। अपने शपथ-पत्र में उन्होंने एमबीबीएस तक शिक्षित बताते हुए लिखा है कि उस पर कोई भी कोई भी केस दर्ज नहीं है और उसके पास एक लाख रूपये नकद, 9 लाख 79 हजार 83 रूपये बैंक में जमा है और उसके पास एक किलो चांदी तथा 150 ग्राम सोने के जेवरात हैं। जबकि उसकी पत्नी चावली देवी के पास 40 हजार रूपये नकद, 54 हजार रूपये बैंक में हैं, तीन किलो चांदी तथा 1 किलो सोने के जेवरात हैं। उसके अपने नाम कोई भी कृषि योग्य भूमि नहीं है। जबकि उसकी पत्नी 48 लाख रूपये की कृषि भूमि की मालिक है। इसके अतिरिक्त उसकी पत्नी के पास सिरसा में एक भवन भी है, जिसकी कीमत लगभग 2 लाख 70 हजार रूपये है। उसके नाम पर केवल सिरसा में एक घरेलू अपार्टमेंट है, जिसकी कीमत 25 लाख रूपये है। लेकिन अगर संयुक्त परिवार की बात की जाये तो डॉ. केवी सिंह करोड़पति हैं।

बच्चों को सीखाये प्राकृतिक आपदा से लडऩे के गुर

डबवाली (लहू की लौ) एनडीआरएफ (भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल) के जवानों द्वारा आपदा से लडऩे के लिए डबवाली क्षेत्र में पिछले एक सप्ताह से जन जागरण अभियान चला रखा है, जोकि 30 सितम्बर तक डबवाली के विभिन्न क्षेत्रों में चलेगा। इस प्रशिक्षण अभियान का नेतृत्व 27वीं वाहीनी भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल के निरीक्षक प्रशान्त कुमार कर रहे हैं। उनकी टीम ने शुक्रवार को गांव चौटाला के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में स्कूली बच्चों और स्थानीय लोगों को प्राकृतिक व मानवीय आपदाओं से निपटने के लिए प्रशिक्षण दिया और साथ में प्रदर्शन करके भी दिखाया। उपनिरीक्षक राकेश कुमार ने प्रशिक्षण के दौरान बताया कि यदि बाढ़ जैसी स्थिति आ जाती है तो पेट पर टयूब, कैनी या पांच-छह रबड़ की बोतल बांध लेने से बचाव किया जा सकता है। उन्होंने यह भी बताया कि बाढ़ के दौरान संक्रामक बीमारियां फैलने का भय बना रहता है। उससे बचाव किया जाना चाहिए। उन्होंने मौका पर ही इनफलेटबल वोट को तैयार करने का प्रदर्शन किया। निरीक्षक प्रशान्त कुमार ने बताया कि इस अभियान का उद्देश्य लोगों को आपदा के प्रति जागरूक करना और साथ में आपदा प्रबन्धन की जानकारी देना भी है। अन्त में आपदा सम्बन्धी कुछ बुकलेट स्कूली बच्चों और स्थानीय लोगों को वितरित की।

रिसालियाखेड़ा में निकली भव्य कलश यात्रा

बनवाला (जसवन्त जाखड़) गांव रिसालियाखेड़ा में श्रीमद्भागवत कथा सप्ताह के दौरान शुक्रवार को कलश यात्रा का आयोजन किया गया। रिसालियाखेड़ा में जलघर के निकट नवनिर्मित श्री विश्वकर्मा मंदिर में आयोजित कलश यात्रा में गांव की 51 महिलाओं व कन्याओं अपने सिर पर कलश धारण करके तथा हरियाणा गौशाला संघ के उपाध्यक्ष पतराम बरड़वा ने श्रीमद्भगवदगीता को अपने सिर पर धारण करके कलश यात्रा में भाग लिया। पतराम बरड़वा की अगुवानी में यह कलशयात्रा श्री विश्वकर्मा मंदिर से चलकर श्रीगौशाला में स्थित श्रीकृष्णजी मंदिर पहुंची तथा श्रीकृष्णजी मंदिर में पूजा अर्चना के उपरांत कलशयात्रा गांव की विभिन्न गलियों से होते हुए वापिस श्री विश्वकर्मा मंदिर पहुंचकर सम्पन्न हुई। कलश यात्रा में शामिल महिलाओं में विजय रानी, रजनी देवी, मंजू बाला गुड्डी रानी, मोनिका रानी, सीता देवी, मितूल रानी, सुलोचना देवी, ललिता रानी, ममता रानी, सुनीता देवी व राममूर्ति देवी सहित अन्य महिलाएं शामिल हुई। कलशयात्रा के उपरांत कथा वाचन के दौरान स्वामी सेवक राम शास्त्री ने आज श्रीकृष्णजी के जन्म से लेकर नंदबाबा के यहां उनके पालन पोषण तथा श्रीकृष्णजी द्वारा वृंदावन में की गई लीलाओं तक का वर्णन भक्तजनों को कह सुनाया। उन्होंने कहा कि सुख दुख आते जाते रहते हैं लेकिन माया के खेल निराले हैं परंतु माया के खेल से भी परे परमात्मा के मेल को माना गया है। उन्होंने कहा कि काम, क्रोध, लोभ, द्वेष, हिंसा, मतसर, अभिमान व ममत्व आदि दोष बड़े ही प्रबल हैं अत: इन सबका समूल नाश करने का प्रयत्न करो। उन्होंने कहा कि सत्संग व साधना के प्रभाव में कभी कभी मनुष्य अपने में इन दोषों का अभाव दिखाते हुए अपने धन, यौवन, रूप, पद, सम्मान, शक्ति, विद्या, बागीमता आदि पर इतराता है लेकिन इससे कुछ नहीं होता क्योंकि ये सब मौत का विकराल मुख देखते ही नष्ट हो जाएंगे। इस अवसर पर बड़ी संख्या में महिला पुरुष व बच्चे उपस्थित थे।

मोबाइल चोरों की तलाश शुरू

औढ़ां (जितेन्द्र गर्ग) औढ़ां पुलिस ने गांव राजपुरा निवासी भूरा राम पुत्र नानू राम की शिकायत पर बनवाला निवासी दो व्यक्तियों के खिलाफ मोबाइल चोरी करने का मुकदमा दर्ज करके छानबीन शुरू कर दी है। भूरा राम ने अपने बयान में बताया कि वो अपने घर में बैठा था कि दो व्यक्ति एक मोटरसाइकिल पर आए और कहने लगे कि हमने सालासर हनुमान जी का भंडारा लगाना है इसलिए श्रद्धानुसार दान देने की कृपा करें। इस पर भूरा राम अपने हाथ में पकड़ा मोबाइल वहीं चारपाई पर रखकर अपने घर में चले गए और श्रद्धानुसार नकद राशी लाकर उन्हें दे दी और वे व्यक्ति उन्हें दान राशी की रसीद देकर चले गए। कुछ देर बाद जब भूरा राम देखा कि उसका मोबाइल फोन गायब है तो उसे यकीन हो गया कि मोबाइल फोन उनके घर दान लेने आए युवक कृष्ण जाखड़ पुत्र हेतराम व हरीराम पुत्र आदराम दोनों निवासी बनवाला ले गए हैं और उन्होंने औढ़ां थाना में रिपोर्ट दर्ज करवा दी। ओढ़ां पुलिस ने शिकायत दर्ज करके आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

ताऊ के जन्म दिवस पर चौटाला ने किया कांग्रेस को उखाड़ फेंकने का आह्वान


डबवाली : इनेलो ने चौधरी देवीलाल के जन्मदिवस पर किसानों, कमेरे व गरीब वर्ग के लोगों को अनेक प्रकार की सुविधाएं प्रदान करने व सभी वर्गों को साथ लेकर चलने का संकल्प लेते हुए प्रदेशवासियों से कांग्रेस को उखाड़ फेंकने का आह्वान किया। जींद के ऐतिहासिक हुडा मैदान में रिकार्डतोड़ रैली के माध्यम से अपनी जमीनी ताकत का एहसास कराते हुए इनेलो प्रमुख चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने कहा कि रैली में उमड़ा जनसैलाब इस बात का सबूत है कि आने वाली 13 तारीख को प्रदेश की जनता कांग्रेस को सत्ता से बाहर कर इनेलो को फिर से प्रदेश की बागडोर सौंपने का मन बना चुकी है। जननायक चौधरी देवीलाल के 96 वें जन्मदिवस पर पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, बिहार के केबिनेट मंत्री व पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर के बेटे रामलाल ठाकुर, पूर्व राज्यपाल सुल्तान ङ्क्षसह, पूर्व केंद्रीय मंत्री संघप्रिय गौतम सहित अनेक प्रमुख नेताओं ने रैली में भाग लिया और स्वर्गीय जननायक को श्रद्धासुमन अर्पित किए। रैली में ठाठे मारते जनसैलाब से उत्साहित चौटाला ने कांग्रेस पर तीखे प्रहार करते हुए कहा कि कांग्रेस की गलत नीतियों के कारण आज प्रदेश पूरी तरह से बर्बादी के कागार पहुंच गया है। उन्होंने कहा कि मंहगाई आसमान छू रही है, भ्रष्टाचार चरम पर है, अपराध दौगुने हो गए हैं और आए दिन लोगों से फिरौतियां वसूली जा रही हैं। उन्होंने कहा कि आज मेहनतरत लोगों की हालत बेहद दयनीय हो गई है और किसान को उसकी फसल के पूरे दाम भी नहीं मिल रहे हैं। तालियों की गडग़ड़ाहट के बीच इनेलो प्रमुख ने कहा कि आज किसान को गेंहू की लागत 1250 रूपये प्रति क्विंटल आती है जबकि उसे लागत भाव भी नहीं मिल रहा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में इनेलो की सरकार बनने पर हम चौधरी देवीलाल के नक्शेकदम पर चलने का संकल्प लेते हुए केंद्र को मजबूर कर देंगे कि किसानों को गेहूं के दाम 1400 रूपये प्रति क्विंटल की दर से मिले। उन्होंने कहा कि खाने वाले आदमी को गेहूं 700 रूपये प्रति क्विंटल दिया जाएगा और गरीब, बेबस व असहाय लोगों को हर महीने 25 किलोग्राम अनाज मुफ्त उपलब्ध करवाया जाएगा। चौटाला जिंदाबाद, इनेलो जिंदाबाद के गगनभेदी नारों के बीच इनेलो प्रमुख ने लोगों से जात-पात, धर्म-मजहब की दीवारें तोड़ कर इनेलो के झंडे तले एकत्रित होने और कांग्रेस को उखाड़ बाहर करने का आह्वान करते हुए कहा कि चौधरी देवीलाल ने किसानों व कमेरे वर्ग के कर्जे माफ करके उन्हें राहत पहुंचाई थी और अब प्रदेश में इनेलो की सरकार बनने पर किसान, मजदूर, गरीब दुकानदार व व्यापारी वर्ग के एक लाख रूपये तक के कर्जे माफ किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि चौधरी देवीलाल ने बुढ़ापा सम्मान पेंशन शुरू की थी और इनेलो सरकार ने इसमें लगातार दो बार बढ़ोतरी की। उन्होंने कहा कि इस बार प्रदेश में चौधरी देवीलाल की नीतियों पर चलने वाली सरकार बनने पर बुढ़ापा पेंशन में न सिर्फ हरसाल 100 रूपये बढ़ोतरी की जाएगी बल्कि इनेलो सरकार की दौरान ही इसे 1200 रूपये महीना तक पहुंचा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि इनेलो सरकार बनने पर शिक्षक पात्रता परीक्षा समाप्त करने के साथ ही छात्र संघों के चुनाव करवाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इनेलो सरकार बनने पर प्रदेश में पूरी बिजली उपलब्ध करवाई जाएगी और अनुसूचित जाति का बैकलॉग समाप्त करने के साथ ही छात्राओं को 12वीं के बाद कालेज जाने के लिए स्कूटी उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि हर 12 वीं पास युवक सरकारी या गैर सरकारी नौकरी अथवा तीन हजार रूपये महीना बेरोजगारी भत्ता देने के साथ ही समाज के सभी वर्गों को पूरी सुख सुविधाएं देने के अलावा प्रदेश में फिर से विकास कार्यों को गति दी जाएगी। इनेलो प्रमुख ने कहा कि एक बाए ऐनक के सामने वाला बटन दबा देना, कांग्रेस के कुशासन से छुटकारा मिल जाएगा और इनेलो सरकार बनते हुए आपकी चार पीढ़ी का जुगाड़ कर दूंगा। पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने चौधरी देवीलाल को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए स्वर्गीरू जननायक को किसानों, कमेरों व गरीबों का रहबर बताया। उन्होंने कहा कि आज की रैली में उमड़े जनसैलाब से दो बातें साफ हो जाती हैं कि लोगों के मन में चौधरी देवीलाल के प्रति बेहद श्रद्धा होने के साथ साथ आने वाली सरकार इनेलो की बनने जा रही है और ओमप्रकाश चौटाला प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री होंगे। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी अगामी विधानसभा चुनाव में इनेलो प्रत्याशियों की पूरी जी जान से मदद करेगी ताकि जनविरोधी कांग्रेस सरकार को चलता किया जा सके। उन्होंने कहा कि दुनिया में चंद नेता ऐसे हुए हैं जिन्हें लोगों से बहुत प्यार मिला है और जिन्होंने अपना पूरा जीवन लोगों की सेवा में लगाया है। उन्होंने कहा कि ऐसे नेताओं में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति इब्राहिम लिंकन, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, जयप्रकाश नारायण और नेल्सन मंडेला की गिनती होती है। उन्होंने कहा कि चौधरी देवीलाल भी उसी श्रेणी के नेता थे जिन्हें पूरे देश में बेहद आदर व सत्कार मिला। उन्होंने देवीलाल द्वारा देश को आजाद करवाने के लिए किए गए संघर्ष और इमरजेंसी के दौरान जेल में बिताए गए समय का उल्लेख करते हुए कहा कि देवीलाल ने प्रधानमंत्री पद को भी ठोकर मार दी थी। उन्होंने देश की खराब हालत के लिए कांग्रेस को जिम्मेवार ठहराते हुए कहा कि किसानों को कर्जे ने जकड़ लिया है और गरीब आदमी को दो वक्त की रोटी भी नहीं मिलती। उन्होंने लोगों से कहा कि जिस प्रकार चौधरी देवीलाल को 90 में से 85 सीटें देकर उनकी सरकार बनायी थी, ठीक उसी प्रकार इनेलो की सरकार बना देना, आपकी सभी समस्याओं का हल अपने आप हो जाएगा। उन्होंने रैली में उमड़े जनसैलाब पर कहा कि इतनी बड़ी रैली उन्होंने अपने पूरे जीवन में कभी नहीं देखी। रैली को पूर्व राज्यपाल सुल्तान सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री संघप्रिय गौतम, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कपूरी ठाकुर के बेटे व नितीश मंत्रीमंडल के वरिष्ठ मंत्री रामनाथ ठाकुर,इनेलो प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा, सांसद तिरलोचन सिंह सहित अनेक प्रमुख नेताओं ने संबोधित किया और कांग्रेस को उखाड़ फेंकने का आह्वान किया। मंच संचालन इनेलो के प्रधान महासचिव व राज्यसभा सांसद अजय सिंह चौटाला ने किया। रैली में उमड़े जनसैलाब की चमक इनेलो नेताओं के चेहरे से साफ पढ़ी जा रही थी और रिकार्डतोड़ रैली ने इनेलो समर्थकों में नए जोश और उत्साह संचार कर दिया है और रैली आगामी विधानसभा चुनाव के लिए अहम् संदेश दे गई है। रैली में पूर्व विधायक अभय सिंह चौटाला, पूर्व क्रिकेटर योगराज, पूर्व सांसद तारासिंह, पूर्व कृषि मंत्री जसविंद्र सिंह संधू, पूर्व मंत्री सुभाष गोयल के अलावा पार्टी के अनेक प्रमुख नेता व सभी विधानसभा क्षेत्रों से इनेलो प्रत्याशी भी जनसभा में मौजूद थे। बलवान सिंह ने चौधरी देवीलाल की प्रतिमा भेंट कर चौधरी ओमप्रकाश चौटाला को सम्मानित किया और वंदना वाजपेयी ने चौधरी देवीलाल को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए गीत प्रस्तुत किया। रैली स्थल के अलावा कई गुना ज्यादा भीड़ रैली स्थल से बाहर मौजूद थी और रैली स्थल के चारों ओर पांच-पांच किलोमीटर तक सिर्फ रैली में आने वाले वाहनों की लाइनें लगी हुई थी।

25 सितंबर 2009

8वीं पास ने भी भरा नामांकन

रविन्द्र सिंह के पास 1 लाख 80 हजार के हथियार
डबवाली (लहू की लौ) डबवाली विधानसभा हल्का से वीरवार को नामांकन पत्र दाखिल करने वाले रविन्द्र सिंह उर्फ रवि चौटाला पुत्र प्रताप सिंह पर इन दिनों उनके शपथ पत्र के अनुसार दो केस पेंडिंग हैं। जिनमें एक एफआईआर धारा 147/149/323/506 आईपीसी के तहत ऐलनाबाद में और एक केस धारा 323/332/148/149/186आईपीसी के तहत थाना शहर डबवाली में दर्ज है। इसके अतिरिक्त उसके पास 40 हजार रूपये की नकदी है। जबकि उसकी पत्नी सुनैना के पास 20 हजार रूपये नकद हैं। इसके अतिरिक्त बैंक इत्यादि में 1 लाख 27 हजार 574 रूपये जमा हैं। जबकि उसकी पत्नी के बाद 5 लाख 53 हजार 938 रूपये जमा हैं और मोटर वाहन शून्य दिखाया हुआ है। जबकि जेवरात में 5 तोले सोना उसके स्वयं के पास है। उसकी पत्नी सुनैना के पास 50 तोले सोना और 20 तोले चांदी हैं। इस प्रकार से उसके पास कुल चल सम्पत्ति 17 लाख 72 हजार 512 रूपये है और अचल सम्पत्ति 2 करोड़ 21 लाख 77 हजार रूपये है। लेकिन भारतीय स्टेट बैंक डबवाली का 6 लाख 50 हजार रूपये का कर्ज है। मजेदार बात तो यह है कि रविन्द्र सिंह उर्फ रवि चौटाला 8वीं पास है और उसके पास 1 लाख 80 हजार रूपये कीमत के हथियार हैं। जिनमें 12 बोर गन, एक पिस्टल, एक राईफल 315 बोर शामिल है। भाजपा प्रत्याशी रेणू शर्मा 10वीं पास है और उसके पास नकद राशि 1 लाख रूपये है। जबकि बैंक में 20 हजार 393 रूपये हैं। इसके अतिरिक्त 576 ग्राम सोना है। इस प्रकार से कुल चल सम्पत्ति 9 लाख 20 हजार 393 रूपये की दिखाई गई है। उसके पति भीमसैन के पास 35 हजार रूपये की एफडी है और कालांवाली में एक बूथ है। हजकां प्रत्याशी कुलदीप सिंह पुत्र बाल मुकन्द सिंह बीए, एलएलबी हैं और उसके पास शपथपत्र के अनुसार 2 लाख 86 हजार 700 रूपये की नकदी है और वित्तीय संस्थाओं तथा बैंक में 3 लाख 93 हजार 505 रूपये जमा हैं और टाटा सफारी गाड़ी है। जिसकी कीमत 5 लाख 50 हजार रूपये है। इसके अतिरिक्त 125 ग्राम सोना है। कुल चल सम्पत्ति 35 लाख 45 हजार 516 रूपये है और अचल सम्पत्ति 1 करोड़ 48 लाख 70 हजार रूपये की है। इसके अतिरिक्त 10 लाख 89 हजार 494 रूपये का कर्ज है। कुलदीप भांभू की पत्नी इन्दू के पास 2 लाख 41 हजार 900 रूपये की नकदी, 3 लाख 93 हजार 411 रूपये बैंक में जमा हैं। जबकि 800 ग्राम सोना और 8 किलो चांदी है। बसपा प्रत्याशी प्रीत महेन्द्र सिंह पर डबवाली की अदालत में चोरी के आरोप में 379 आईपीसी के तहत केस चल रहा है और इसके पास 80 हजार रूपये चल सम्पत्ति और 60 हजार रूपये की अचल सम्पत्ति है।

मांगेआना में किसान के घर से हजारों रूपये की चोरी

डबवाली (लहू की लौ) गांव मांगेआना में रात को अज्ञात चोर एक किसान के घर से हजारो रूपये की नकदी और सोने के जेवरात चुरा ले गये। थाना सदर में दर्ज करवाई शिकायत में पीडि़त जगजीत सिंह पुत्र मुख्तयार सिंह ने पुलिस को बताया कि उसके घर की मुरम्मत का काम चल रहा था और पुराने घर में समान पड़ा था। इसी समान में एक ट्रंक भी पड़ा था जिस पर ताला लगा था और इसमें मुरम्मत के लिए रखी 60,000 रूपये की नकदी थी और तीन तोले सोना व कपड़े आदि। बुधवार की रात को अज्ञात चोर उसके मकान में घुसे और ट्रंक को उठाकर मकान के पीछे स्थित खेतों में ले गये वहां चोरों ने ताला तोड़ कर उक्त सामान चुरा लिया तथा अन्य समान व ट्रंक खेत में फेंक कर फरार हो गये।

रेलवे स्टेशन पर सवारी की चैन खींचता काबू

डबवाली (लहू की लौ) यहां के रेलवे स्टेशन पर चैन छीनने की घटना को अंजाम देेते हुए चैन स्नेचर गिरोह के एक सदस्य के पकड़े जाने से एक बड़ी वारदात होने से टल गई। प्राप्त जानकारी अनुसार यहां के पब्लिक क्लब के पीछे स्थित हरी चन्द हलवाई की विवाहिता बेटी सुमन रानी वीरवार को डबवाली के रेलवे स्टेशन पर सूरतगढ़-बठिंडा रेलगाड़ी पर अपने सुसराल मानसा जाने के लिए सवार हो रही थी कि अचानक एक महिला, दो लड़कियां और एक लड़के ने उसका रास्ता रोक लिया और धक्का-मुक्की करने लगे। इसी दौरान उसे महसूस हुआ कि किसी ने उसके गले में डाली सोने की चैन उतार ली है। जब उसने अपने गले की ओर देखा तो चैन गायब थी। इस घटना को जीआरपी का सिपाही देेख रहा था। उसने झपक कर चैन छीनने वाले लड़के को दबोच लिया जबकि लड़के के अन्य साथी फरार हो गये। पूछताछ के दौरान लड़के ने अपना नाम पौंसी निवासी अलवर (राज.) बताया। इसके बाद जीआरपी और आरपीएफ सक्रिय हो गये और उन्होंने प्लेटफार्म पर जमा बेटिकटे लोगों को खदेड़ा। माना जा रहा है कि अगर समय रहते कार्यवाही न की होती तो चैन स्नेचर गिरोह किसी बड़ी घटना को अंजाम दे सकता था।

24 सितंबर 2009

खिलने से पहले मुरझाया कमल

डबवाली (लहू की लौ) यहां के अन्नपूर्णा रिसोर्ट में बुधवार को भाजपा द्वारा आयोजित पत्रकार सम्मेलन के दौरान भाजपा की फूट खुलकर सामने आई। अधिकांश पुराने कार्यकर्ता सम्मेलन से नदारद रहे। डबवाली विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी रेणू शर्मा ने बुधवार को पत्रकार सम्मेलन बुलाया था और इस मौके पर उन्हें पत्रकारों के तीखे सवालों का सामना करना पड़ा और जवाब देने में कठिनाई ही नहीं आई, बल्कि कुछ का तो जवाब ही नहीं दे पाई। पत्रकारों ने जब पूछा कि पंजाब में शिरोमणि अकाली दल के साथ भाजपा सत्ता में भागीदार है और वहीं अकालीदल हरियाणा में इनेलो का साथ दे रहा है, ऐसे हालतों में भाजपा की भूमिका क्या होगी तो उनका जवाब था कि उसे तो मालूम ही नहीं कि शिरोमणि अकाली दल और इनेलो के बीच कोई समझौता हुआ है। भाजपा की भूमिका के बारे में मौन साध गई। कांग्रेस की कमियां निकालने पर जब उनसे पूछा गया कि क्या आपकी पार्टी ने कोई ऐसा प्रोजेक्ट तैयार किया है जो कांग्रेस की कमियों को दूर करके हरियाणा को नई दिशा दे सकें तो इस पर उन्होंने कहा कि शीघ्र ही इस पर पार्टी घोषणा करेगी। उनसे यह पूछने पर कि प्रदेश स्तरीय नेता जो डबवाली में हैं लेकिन उनकी इस पत्रकार वार्ता में नहीं आये, तो भाजपा प्रत्याशी रेणू शर्मा ने पहले तो यह कहा कि उन्हें बुलाया ही नहीं गया और शीघ्र ही अपनी गलती को सुधारते हुए कहा कि बुलाया तो गया था लेकिन वे आये नहीं।

मैं आपकी अपेक्षाओं पर खरा उतरूंगा-अजय चौटाला

डबवाली (लहू की लौ) यह मेरा सौभाग्य है कि आपकी दी हुई वोट की ताकत से मुझे अपने लोगों के बीच रह कर आपकी सेवा करने का मौका मिलेगा। मैं आपको विश्वास दिलवाता हूं कि आपकी अपेक्षाओं पर खरा उतरूंगा और आपकी भावनाओं के अनुरूप कार्य करूंगा। यह बात डबवाली हलके से इनेलो प्रत्याशी अजय सिंह चौटाला ने कही। वे मंगलवार देर शाम को डबवाली हलके के गांव आसाखेड़ा में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे। गांवों में पहुंचने पर अजय सिंह चौटाला का भव्य स्वागत किया और महिलाओं ने मंगलगीत गाए। अजय सिंह चौटाला के डबवाली हलके से प्रत्याशी घोषित होने के बाद क्षेत्र के लोगों का जोश देखने लायक था। गांव चौटाला, आसाखेड़ा, भारूखेड़ा, तेजाखेड़ा़, कालुआना, गोरीवाला आदि गांवों में उमड़ी भीड़ यह साबित करने के लिए काफी थी। इससे पहले गांव अजय सिंह चौटाला ने गांव तेजाखेड़ा में पूर्व उपप्रधानमंत्री स्वर्गीय चौधरी देवीलाल की जन्मस्थली पर गए और उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धाजंलि दी। अजय सिंह चौटाला की मौजूदगी में गांव भारूखेड़ा में संदीप कुमार झींझा, अमर सिंह गुर्जर, बलराज सरपंच, दर्शन सिंह जगमालवाली के 15 परिवारों सहित सेंकड़ों लोगों ने कांग्रेस छोड़कर इनेलो में शामिल होने की घोषणा की। इनेलो प्रत्याशी अजय सिंह चौटाला ने कहा कि यहां के लोगों की तकलीफें मेरी अपनी समस्या हैं और इन्हें प्राथमिकता के आधार पर हल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मुझे आप किसी भी वक्त एक आवाज दे देना, आपको हर घड़ी आगे खड़ा मिलंूगा। उन्होंने कहा कि इनेलो के सत्ता में आने पर क्षेत्र में विकास कार्यो की कमी नहीं रहने दी जाएगी और यह प्रदेश का अग्रणी क्षेत्र होगा। उन्होंने कहा कि इनेलो का एकमात्र मकसद प्रदेश को नंबर वन बनाना, किसान, गरीब व पिछड़े वर्गों को हर सुविधा देना और व्यापारी वर्ग की उन्नति के लिए कार्य करना है। दौरे के दौरान उनके साथ इनेलो के वरिष्ठ नेता राधेराम गोदारा, निवर्तमान विधायक डा. सीताराम, डा. गिरधारी लाल, नरेंद्र बराड़,, महेंद्र डूडी, युवा प्रधान धर्मवीर नैन, रणवीर राणा, जगरूप सिंह, टेकचंद छाबड़ा, संदीप सिंह सन्नी गंगा, सर्वजीत सिंह मसीतां, सीता देवी सहित अन्य नेता उपस्थित थे।

रेणू बोली, डबवाली का चहुंमुखी विकास करवाऊंगी


डबवाली (लहू की लौ) डबवाली विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी रेणू शर्मा ने बुधवार को अन्नपूर्णा रिसोर्ट में पत्रकार सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि विधायक बनने के बाद उनकी प्राथमिकता डबवाली में एन.एच. 10 पर ओवरब्रिज और शहर के अन्दर से गुजरने वाली रेलवे लाईन पर अण्डर ब्रिज का निर्माण, डबवाली और औढ़ां में जनसंख्या के आधार पर गैस एजेंसियां, डबवाली में टेक्निकल और स्नात्तकोतर महाविद्यालय, औढ़ां में राजकीय महाविद्यालय, डबवाली विधानसभा क्षेत्र को एग्रीकल्चर रिवाईवल एरिया घोषित कर इलाके के खेतों में समुचित पानी और नलकूपों के लिए बिजली की व्यवस्था करवाना और कृषि आधारित उद्योगों को विशेष रियायतें देकर प्रोत्साहित करना होगी। ताकि किसानों को उनकी उपज का पूरा दाम मिल सकें। इस मौके पर उन्होंने दावा किया कि वे विधायक बनने पर औढ़ां को उपतहसील का दर्जा दिलवाने में भी प्रयत्न करेंगी। इस मौके पर उन्होंने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जनता से किया एक भी वायदा कांग्रेस सरकार ने पूरा नहीं किया। पूरी बिजली और पानी का नारा देने वाली कांग्रेस हर मोर्चे पर विफल रही। राज्य में कानून व्यवस्था का जनाजा निकल गया है। प्रदेश में चोरी, लूटपाट, डकैती, हत्या, भय, भ्रष्टाचार का बोलबाला हो गया है और नकारा सरकार के चलते अपराधी दिन-ब-दिन हावी होते जा रहे हैं। इस अवसर पर भाजपा डबवाली के प्रभारी सतीश जग्गा, महामंत्री बलदेव सिंह मांगेआना, कृष्ण कीनिया, डॉ. भीमसैन शर्मा, दाता राम बसौड़, विनोद सिहाग चौटाला, कौर चन्द मोगा, मनु शर्मा, रितेश शर्मा आदि उपस्थित थे।

23 सितंबर 2009

बांदीपोरा मुठभेड खत्म, मेजर व जवान शहीद, दो आतंकी ढेर

श्रीनगर, 23 सितंबर। जम्मू कश्मीर के बांदीपोरा में सेना और आतंकियों के बीच पिछले 24 घंटों से चल रही मुठभेड खत्म हो गई है। इस मुठभेड में सेना के एक मेजर व एक जवान शहीद हो गए हैं, वहीं सेना ने दो आतंकियों को मार गिराया। अघिकारियों ने बताया कि श्रीनगर से 30 किलोमीटर दूर बोनीयारी सुंबई गांव में मेजर जे एस सूरी व नायक रैंक का एक जवान इस मुठभेड में शहीद हुए हैं। सूचना के आघार पर सेना ने कल शाम को एक घर पर घावा बोला था। इसी घर में ये आतंकी छिपे हुए थे।

अजय करोड़पति, फिर भी कर्जदार

अंक 4 को अजमाने में जुटे छोटे चौटाला
डबवाली (लहू की लौ) डबवाली विधानसभा क्षेत्र में मंगलवार से चुनाव लडऩे के इच्छुक आजाद और पार्टियों के प्रत्याशियों के नामांकन पत्र दाखिल करने के साथ ही राजनीतिक हलचल तेज हो गई है और सुस्त चला आ रहा चुनावी मैदान अचानक गर्माने लगा है। हल्का विधानसभा चुनाव के लिए इनेलो प्रत्याशी के रूप में अजय सिंह चौटाला ने अपना नामांकन पत्र सुबह 11.11 पर चुनाव अधिकारी तथा उपमण्डलाधीश सुभाष चन्द्र गाबा के समक्ष प्रस्तुत किया। हालांकि इनेलो ने नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए 24 सितम्बर की तिथि घोषित की थी। बताया जाता है कि किसी ज्योतिषी के कहने पर इस तिथि को बदल कर अब 22 सितम्बर को नामांकन दाखिल किया गया। जिसके समय और तिथि का अंक जोड़ चार बनता है। केवल यहीं नहीं बल्कि जिस दिन चुनाव होने हैं उस दिन भी 13 अक्तूबर का जोड़ चार बनता है और जिस दिन 22 अक्तूबर को वोटों के परिणाम आने हैं उनका भी जोड़ चार ही बनता है। अजय सिंह चौटाला ने अपने नामांकन पत्र के साथ जो शपथ पत्र दाखिल किया है उसमें दी गई जानकारी में कहा गया है उस पर सीबीआई की अदालत में धारा 120बी, 420, 467, 468, 471 आईपीसी और 13 (1), 13 (2) पीसी के तहत केस विचारधीन है। इसके अतिरिक्त नकदी के मामले में अजय सिंह के पास 3 लाख 25 हजार और उसकी पत्नी नैना सिंह के पास 7 लाख 75 हजार तथा संयुक्त परिवार में 6 लाख 55 हजार रूपये नकद हैं। जबकि उसके खुद के 37 लाख 35 हजार 148 रूपये 60 पैसे तथा उसकी पत्नी के 7 लाख 60 हजार 185 रूपये 54 रूपये और संयुक्त परिवार के 17 लाख 49 हजार 128 रूपये 46 पैसे बैंकों और कम्पनियों में जमा हैं। जबकि बॉण्डस, विभूतियां और शेयर आदि में 90 हजार रूपये और उनकी पत्नी के 6 लाख 30 हजार रूपये लगे हुए हैं। अजय सिंह के पास व्हीकलों में से एम-क्लॉस मरसीडेस बेंज मॉडल-08, महिन्द्रा जीप मिल्ट्री डिसपोजल मॉडल-1998, फार्म ट्रेक्टर मॉडल-2001 जेन कार मॉडल-2001 के अतिरिक्त, पांच किलोग्राम चांदी, 400 ग्राम सोने के जेवरात इत्यादि के साथ कुल चल सम्पत्ति 2 करोड़ 74 लाख 3 हजार 545 रूपये 16 पैसे बनती है। जबकि उसकी पत्नी के पास चल सम्पत्ति 1 करोड़ 36 लाख 8 हजार 651 रूपये 34 पैसे और संयुक्त परिवार में 2 करोड़ 78 हजार 137 रूपये 45 पैसे चल सम्पत्ति है। अचल सम्पत्ति में जिसमें नॉन एग्रीकल्चर लैंड, व्यवसायिक और रिहायशी भवन, घर और अपार्टमेंटस आदि मिलाकर 851 लाख 69 हजार रूपये की सम्पत्ति बनती है। जोकि फरीदाबाद, जिला सिरसा, गुडग़ांव आदि में हैं। इसी प्रकार उनकी पत्नी के पास 670 लाख रूपये की अचल सम्पत्ति है। संयुक्त परिवार में उनके पास 938 लाख 16 हजार की अचल सम्पत्ति है। जबकि अजय सिंह पर भारतीय स्टेट बैंक, सिरसा का 41 लाख 95 हजार 149 रूपये का ऋण है। अजय सिंह चौटाला के पास कुल चल और अचल सम्पत्ति 20 करोड़ 63 लाख 88 हजार 545 रूपये की बनती है। अजय सिंह चौटाला ने शिक्षा में एलएलबी कर रखी है और राज्य सभा के सदस्य भी हैं। इधर आजाद प्रत्याशी के रूप में नामांकन पत्र दाखिल करने वाले जगदेव सिंह मटदादू ने अपने ब्यौरे में स्वयं को एक करोड़ 98 लाख 60 हजार तथा 25 लाख 60 हजार की अचल और चल सम्पत्ति का मालिक बताया है और उस पर 50 हजार रूपये का कर्ज है।

तेल कैंटर अल्टो से टकराया, दो की मौत

डबवाली (लहू की लौ) गांव आसाखेड़ा के पास एक तेल कैंटर और कार की टक्कर हो जाने से कार में सवार दो जनों की मौका पर ही मौत हो गई जबकि एक घायल हो गया। जिसे गंभीर हालत में डबवाली के सरकारी अस्पताल लाया गया। स्वतन्त्र कुमार पुत्र विनोद कुमार निवासी संगरिया ने पुलिस को दिये ब्यान में बताया कि उसका चाचा वेदप्रकाश मित्तल और उसकी चाची ज्ञान देवी पत्नी वेदप्रकाश मित्तल एलटो कार पर बठिंडा से एक शादी समारोह में भाग लेकर वापिस संगरिया आ रहे थे और उनकी कार जैसे ही गांव आसाखेड़ा के पास पहुंची तो संगरिया साईड तेजगति से आ रहे तेल टैंकर ने कार में टक्कर मार दी। इस दुर्घटना में उसकी चाची ज्ञान देवी मित्तल और कार चालक भोला राम की मौका पर मौत हो गई। जबकि उसके चाचा को गंभीर हालत में डबवाली के सिविल अस्पताल में पहुंचाया। पुलिस ने स्वतन्त्र कुमार के ब्यान पर तेल टैंकर चालक के खिलाफ लापरवाही से टैंकर चला कर दो जनों को मारने के आरोप में केस दर्ज कर लिया है और तेल टैंकर चालक की पहचान टैंकर से मिले कागजों के आधार पर गुरजन्ट सिंह पुत्र राम सिंह राजस्थान के रूप में हुई है।

डबवाली क्षेत्र मेरा अपना घर-अजय चौटाला


डबवाली (लहू की लौ) इनेलो प्रत्याशी अजय सिंह चौटाला ने मंगलवार को नामांकन भरने के बाद डबवाली मंडी में गांधी चौक पर एक जनसभा का आयोजन किया गया। जनसभा को संबोधित करते हुए अजय सिंह चौटाला ने कहा कि डबवाली क्षेत्र मेरा अपना घर है। मैं आपका भाई, बच्चा और आपका अपना हूं। इस पावन धरा की मिट्टी में ही मैं पल-बढ़ कर बड़ा हुआ हैं और यहां के लोगों के संभल, प्यार, सहयोग व आर्शीवाद से मैं उनकी सेवा करने के योग्य हो पाया हंूंं। उन्होंने कहा कि यहां की जनता ने चौधरी देवीलाल को राजनीतिक ताकत देकर उन्हें देश के किसानों, कामगारों, गरीबों व पिछड़ों की आवाज बुलन्द करने और उनके अधिकारों की लड़ाई लडऩे के योग्य बनाया था। आज मैं अपने दादा स्वर्गीय देवीलाल के बताए रास्ते पर चला और कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा। उन्होंने कहा कि यह मेरा सौभग्य है कि मुझे अपने गृह क्षेत्र से चुनाव लड़ कर उनकी सेवा करने का मौका मिल रहा है। अजय सिंह चौटाला ने कहा कि इस बार मुझे विधानसभा में भेजकर सेवा करने का मौका दें। मैं सेवक बन कर आपके बीच रहूंगा और आपको कभी निराश नहीं करूंगा। अजय सिंह चौटाला ने डबवाली की जनता से आह्वान किया है यह उनका अपना चुनाव है और हर व्यक्ति अपने आप को अजय सिंह चौटाला समझ कर चुनाव मैदान में कूद जाएं और 13 अक्टूबर को कांग्रेस के कुशासन को जड़ से उखाड़ फेंकने का संकल्प लें।

विधायक बना तो लडूंगा पंजाबी हितों के लिए-मटदादू

डबवाली (लहू की लौ) हरियाणा अकाली दल के समर्थन के साथ आजाद प्रत्याशी के रूप में मंगलवार को डबवाली विधानसभा हल्का से नामांकन पत्र दाखिल करने वालों में जगदेव सिंह मटदादू भी शामिल हैं। मटदादू ने नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि उसका उद्देश्य विधायक बनकर पंजाबियों की मांगों को सरकार के समक्ष रखना और उनके लिए लडऩा है। उन्होंने कहा कि वे विधायक बनकर पंजाबी को दूसरी भाषा बनाने, एचएसजीपीसी का निर्माण करने, भाखड़ा नहर की सफाई करवाने, डबवाली विधानसभा क्षेत्र के लिए बिजली का प्रोजेक्ट लगवाएंगे। उन्होंने हरियाणा गुरूद्वारा प्रबन्धक कमेटी के निर्माण में विलम्ब के लिए कांग्रेस सरकार को कोसा और कहा कि कांग्रेस पांच सालों तक हरियाणा के सिक्खों को गुमराह करती रही और लारों में रखकर उनके वोट बटौरती रही है। अब समय आ गया है कि हल्का डबवाली के लोग पंजाबियों के प्रतिनिधि के रूप में उसे विधानसभा में भेजें और अलग गुरूद्वारा प्रबन्धक कमेटी के लिए किये जा रहे संघर्ष में मदद करें।

कांग्रेस ने डबवाली को बनाया पाकिस्तान-अजय चौटाला


डबवाली (लहू की लौ) कार्यकर्ताओं के अनुरोध और पार्टी के आदेश पर बतौर पार्टी सिपाही आदेशों का पालन करते हुए मुझे विधानसभा हल्का डबवाली से नामांकन पत्र दाखिल करते हुए सकून महसूस हो रहा है। डबवाली उनका अपना घर है। यह शब्द विधानसभा हल्का डबवाली से इनेलो के प्रत्याशी अजय सिंह चौटाला ने नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहे। उन्होंने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि हरियाणा में डबवाली के होते हुए भी राज्य सरकार ने इसे पाकिस्तान बना रखा था। डबवाली के लोगों को न तो रोजगार मिला और न ही विकास। हालांकि कांग्रेस की हुड्डा सरकार सम्मान विकास और सभी को रोजगार के दावे करती रही। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि कांग्रेस सरकार में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर रहा। यहीं नहीं बल्कि अपराध भी बढ़े हैं।

22 सितंबर 2009

माओवादियों व माकपा समर्थकों में जमकर गोलीबारी


कोलकाता, 22 सितंबर। पश्चिम बंगाल के इनायतपुर कस्बे में माओवादी और माक्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी समर्थकों के बीच जमकर गोलीबारी हुई। दोनों तरफ से करीब पांच राउंड गोलियां चलाई गई। इसमें 10-15 लोगों को हताहत होने और कई के घायल होने की खबर है, मगर मृतकों के बारे में औपचारिक पुष्टि नहीं हुई है। सोमवार शाम शुरू हुई गोलीबारी मंगलवार सुबह भारी तादाद में पुलिस के वहां पहुंचने के बाद माओवादी पीचे हट गए हैं और गोलीबारी थम गई है। माओवादियों ने सोमवार सायं पश्चिमी मिदनापुर के इनायतपुर गांव में माकपा के एक पार्टी कार्यालय को यह आरोप लगाते हुए घेर लिया था कि कार्याल के अंदर उसके कार्यकर्ताओं के पास हथियार हैं। उन्होंने धमकी दी थी कि अगर रात में अपने हथियार नहीं सौंपे, तो वे कार्यालय को उडा देंगे। उस समय कार्यालय में माकपा के करीब अस्सी हथियारबंद कार्याकर्ता थे। माओवादियों ने अपनी धमकी का असर नहीं देख गोलीबारी शुरू कर दी, जवाब में कार्यालय के भीतर मौजूदा माकपा कार्यकर्ताओं ने गोलीबारी की। माना जा रहा है कि माकपा कार्यकर्ताओं की जवाबी गोलीबारी के कारण ही माओवादी कार्यालय के पास नहीं फटक सके और कोई धमाका करने में विफल रहे। कोलकाता में माकपा कार्यकर्ता अनौपचारिक तौर पर कह रहे हैं कि दोनों तरफ के लोग मारे गए हैं, मगर वे भी कोई पुष्ट जानकारी नहीं दे पाए हैं। दूसरी माओवादी नेता किशनजी ने दावा किया है कि उनका कोई कार्यकर्ता हताहत नहीं हुआ है। इस मुठभेड की खास बात यह है कि माकपा समर्थकों ने इस बार माओवादियों का जमकर उन्हीं की तर्ज जवाब दिया है।
जून में लालगढ इलाके में माओवादियों के खिलाफ पुलिस अभियान की शुरूआत के बाद भी राज्य की सत्ताधारी पार्टी माकपा के कम से कम 35 समर्थक माओवादियों का निशाना बन चुके हैं। माकपा कार्यकर्ताओं का कहना है कि उन्हें पुलिस बल पर भरोसा नहीं है और वे अपनी रक्षा की जिम्मेदारी अपने कंधों पर उठा रहे हैं।
दूसरी ओर माओवादी नेता किशनजी बताया कि इनायतपुर के माकपा कार्यालय में बडी संख्या में हथियार हैं और वे इसका इस्तेमाल माओवादियों को समर्थन दे रहे ग्रामीणों के खिलाफ करने वाले हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि माकपा कार्यकर्ता स्थानीय महिलाओं को परेशान करते हैं इसीलिए हजारों ग्रामीणों ने हमारे छापामारों की अगुआई में माकपा कार्यालय को घेर लिया। अभी भी हमारे लोग वहां मौजूद हैं मगर जनता के अनुरोध पर हम पीछे हट गए हैं।

कश्मीर : आतंकियों से मुठभेड में जवान शहीद

श्रीनगर, 22 सितंबर। जम्मू एवं कश्मीर के बारामूला जिले में आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच जारी गोलीबारी में एक जवान शहीद हो गया, जबकि एक आतंकवादी मारा गया। सेना की 21वीं कोर के प्रवक्ता कर्नल उमा माहेश्वर ने बताया कि बारामूला के तंगमूला जंगलों में आतंकवादियों के छुपे होने का सुराग मिलने पर राष्ट्रीय राइफल्स के जवानों ने जंगल में खोजबीन शुरू की। उन्होंने बताया कि जब आतंकवादियों से समर्पण के लिए कहा गया तो उन्होंने गोलीबारी शुरू कर दी। इस गोलीबारी में एक जवान शहीद हो गया और एक घायल हो गया। सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई एक आतंकवादी भी मारा गया। उन्होंने बताया कि आतंकवादियों के खिलाफ अभियान अभी जारी है।

स्वाइन फ्लू की देशी दवा को नहीं मिल रही मंजूरी

नई दिल्ली, 22 सितंबर। वनस्पतियों से दवाइयां बनाने वली भारत की एक कम्पनी ने स्वाइन फ्लू की वनस्पतीय औषधि बनाने का दावा किया है, जिसे उसने इस संक्रामक बीमारी की परम्परागत दवाई टेमीफ्लू से अधिक कारगर बताया है। उसका कहना है कि इसका व्यावसायिक स्तर पर उत्पादन करने पर यह यह 20 से 30 फीसदी सस्ती पडेगी। पुणे स्थित इंडस बायोटेक के कार्यकारी निदेशक राजन आर. श्रीनिवासन ने बताया कि भारतीय बाजार में इस उपलब्ध कराने के संबंध में भारतीय औषदि नियंत्रक के पास प्रस्ताव दिया गया है। उन्होंने बताया कि पहले इस दवा को एचआीवी वायरस के लिए तैयार किया गया था, मगर परीक्षणों से इ दवाई को स्वाइन फ्लू के लिए भी कारगर पाया गया है। इस औषधि के प्रयोगशाला परीक्षण हो चुके हैं और अमरीका के फैडरल ड्रग्स एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) से इसे इन्वेस्टीगेशनल न्यू ड्रग्स (आईएनडी) के रूप में अनुमति मिल चुकी है। आईएनडी किसी नई दवा को मंजूरी दिलाने की दिशा में पहला कदम है। इसके बाद मानव पर इसके परीक्षण किए जाते हैं। श्रीनिवासन ने बताया कि कम्पनी पहले ही एचआईवी के मामले में एफडीए से अनुमति प्राप्त कर चुकी है, पूर्व नैदानिक परीक्षण एक समान ही रहेंगे, चाहे वह एचआईवी के लिए हो या एच1एन1 के लिए।
श्रीनिवासन ने बताया कि बायोटेक ने भारतीय औषधि नियंत्रक के पाास भारत में इस दवा के मानव पर परीक्षण के लिए अनुमति की अर्जी दाखिल की है। हालांकि भारतीय औषदि नियंत्रक बॉटेनिकल श्रेणी की दवाओं का समर्थन करता है पर फिर भी इस दवा को एनसीई के वर्ग में रखवा होगा जबकि एनसीई तथा बॉटेनिकल दवाओं की प्रकृति भिन्न है।

सीबीआई टीम फिर सिरसा पहुंची

सिरसा (लहू की लौ) डेरा सच्चा सौदा के पूर्व प्रबंधक फकीरचंद की गुमशुदगी के मामले में जुटी सीबीआई की टीम आज फिर सिरसा पहुंची। इंस्पेक्टर राजेश तिवारी के नेतृत्व में चार सदस्यीय टीम ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय में रिकार्ड खंगाला। ज्ञातव्य हो कि डेरा सच्चा सौदा के पूर्व प्रबंधक फकीरचंद 1990 में डेरा से एकाएक लापता हो गया था। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत सिंह के चालक गोबिंद सिंह ने फकीर चंद की हत्या किए जाने का खुलासा किया था। इसके उपरांत गांव गंगा निवासी एवं डेरा के पूर्व साधु रामकुमार बिश्रोई ने फकीरचंद की गुमशुदगी के मामले को लेकर सीबीआई जांच करवाने के लिए न्यायालय की शरण ली थी। पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय ने मामला सीबीआई के सुपुर्द कर दिया। कुछ दिन पूर्व सीबीआई के डीएसपी सतीश डागर के नेतूत्व में पहुंची टीम ने इस मामले में अनेक तथ्य जुटाए थे। आज फिर इंस्पेक्टर राजेश तिवारी के नेतृत्व में टीम सिरसा पहुंची।

करंट लगने से करिंदे की मौत

ऐलनाबाद (लहू की लौ) एक फैक्टरी में कार्यरत कारिंदे की करंट लगने से मौत हो गई। पुलिस ने शव सामान्य अस्पताल पहुंचाया। अंत: परीक्षण के बाद शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया। मिली जानकारी के अनुसार जिला गया (बिहार) के अंतर्गत गांव गड़ीझाम निवासी राजेश यादव पुत्र ब्रह्मदेव यादव विगत काफी समय से सेतिया फैक्टरी में कार्यरत था। आज प्रात: कार्य करते समय उसे करंट लग गया। करंट की चपेट में आने से राजेश की मौके पर ही मौत हो गई। फैक्टरी में कार्यरत अन्य लोगों ने मामले की जानकारी पुलिस को दी।

101 उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र दाखिल किये

डबवाली (लहू की लौ) हरियाणा विधानसभा-2009 के लिए 13 अक्तूबर को हो रहे आम चुनावों के लिए नामांकन पत्र भरने आज पांचवें दिन 101 उम्मीदवारों ने अपने-अपने नामांकन पत्र दाखिल किये। इस प्रकार, अब तक कुल 130 उम्मीदवारों द्वारा नामांकन पत्र भरे जा चुके हैं, जिनमें 110 पुरूष एवं 20 महिला उम्मीदवार शामिल हैं। जिन प्रमुख उम्मीदवारों द्वारा आज नामांकन पत्र दाखिल किये गये, उनमें तोशाम विधानसभा क्षेत्र से इंडियन नेशनल कांग्रेस की ओर से श्रीमती किरण चौधरी तथा डबवाली विधानसभा क्षेत्र से इंडियन नेशनल लोकदल के अजय सिंह चौटाला शामिल हैं। इसी प्रकार, पंचकूला जिला की कालका विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से इंडियन जस्टिस पार्टी के मनोज कुमार तथा पंचकूला विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा के ज्ञान चंद गुप्ता तथा उनकी पत्नी श्रीमती बिमला ने नामांकन पत्र भरा। जिला अंबाला से नारायणगढ़ विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से हजकां (बीएल) के भूम सिंह राणा, हरियाणा लोकतंत्र पार्टी के राम कुमार तथा निर्दलीय मूलक राज ने, अंबाला छावनी से जरनैल सिंह तथा अमरीक सिंह ने निर्दलीय, अंबाला शहर से रजनीश कुमार तथा श्रीमती ऋतु ने भी निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में नामांकन पत्र भरें। यमुनानगर जिला के जगाधरी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से निर्दलीय उम्मीदवार जय चंद चौहान तथा रादौर से श्याम सिंह राणा ने भाजपा के उम्मीदवार के रूप में अपना नामांकन दाखिल किया। कुरुक्षेत्र जिला की लाडवा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से इनेलो के शेर सिंह बड़शामी, पेहवा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से इनेलो के जसविंदर सिंह एवं रघबीर चंद ने लोक जनशक्ति की ओर से अपना नामांकन पत्र भरा। कैथल जिला के गुहला (आरक्षित) विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से इनेलो की ओर से फूल सिंह तथा श्रीमती कमलेश ने, कैथल विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से निर्दलीय उम्मीदवार शमशेर सिंह तथा पुंडरी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से इनेलो के सज्जन सिंह ने अपने-अपने नामांकन पत्र दाखिल किये। करनाल जिला की नीलोखेड़ी (आरक्षित) विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से एकता शक्ति के जय सिंह तथा संजय कुमार, निर्दलीय रणबीर सिंह, सुश्री सलोचना एवं राजेन्द्र कुमार ने, इंद्री विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से हजकां (बीएल) के राकेश कुमार, करनाल विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से निर्दलीय आनंद प्रकाश शर्मा तथा असंध विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माक्र्सवादी) की ओर से बलजीत सिंह ने तथा जय भगवान से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में नामांकन पत्र भरें। पानीपत जिला की पानीपत ग्रामीण विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से इनेलो की ओर से ओम प्रकाश, पानीपत शहर से राष्टï्रीय गरीब दल की ओर से धर्मपाल, इसराना (आरक्षित) भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माक्र्सवादी) की ओर से कृष्ण कुमार ने तथा समालखा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से हजकां (बीएल) की ओर से धर्म सिंह छौकर ने नामांकन पत्र दाखिल किये। इसी प्रकार, सोनीपत जिला की विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों से जिन उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र भरे, उनमें राई विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से सुशील कुमार ने निर्दलीय, खरखौदा (आरक्षित) विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से राजू ने निर्दलीय तथा बरौदा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से हरियाणा जन रक्षक दल की ओर से सतबीर सिंह चहल तथा सत्यवान नरवाल शामिल हैं। जींद जिला की जुलाना विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से इनेलो की ओर से परमिंदर सिंह ढुल एवं लोक जनशक्ति के मुकेश जोगी ने नामांकन भरे। फतेहाबाद जिला की टोहाना विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से इनेलो की ओर से निशांत सिंह, समस्त भारतीय पार्टी की ओर से बजरंग ने, फतेहाबाद विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से समस्त भारतीय पार्टी की ओर से नरिंदर कुमार तथा सुरेन्द्र सिंह ने तथा रतिया (आरक्षित) से समस्य भारतीय पार्टी के रोशन लाल तथा भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मॉक्र्सवादी) के श्री पीरा राम ने अपने-अपने नामांकन दाखिल किये। सिरसा जिला की डबवाली विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से इनेलो के अजय सिंह चौटाला और हरियाणा शिअद के जगदेव सिंह ने, रानिया विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मॉक्र्सवादी) की ओर से स्वर्ण सिंह तथा जसवंत सिंह ने, सिरसा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मॉक्र्सवादी) की ओर से श्रीमती बलबीर कौर ने तथा ऐलनाबाद से इंडियन नेशनल कांग्रेस की ओर से सुश्री कमलेश ने अपने-अपने नामांकन पत्र भरें। इसी प्रकार, हिसार जिला की हांसी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से हजकां (बीएल) के विनोद भ्याना एवं श्रीमती सुनीता ने, बरवाला विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से हजकां (बीएल) की ओर से सुभाष ने तथा हिसार विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से सुश्री रचना कपूर ने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में अपना नामांकन पत्र भरा। भिवानी जिला के लोहारू तथा दादरी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों से क्रमश: रतन लाल व सत्यपाल ने निर्दलीय, तोशाम विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से इंडियन नेशनल कांग्रेस की ओर से श्रीमती किरण चौधरी ने, हजकां (बीएल) की ओर से कंवल सिंह तथा निर्दलीय सत्य नारायण ने और बुवानीखेड़ा (आरक्षित) विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से नरेन्द्र सिंह एवं करन सिंह ने निर्दलीय उम्मीदवारों के रूप में अपने-अपने नामांकन पत्र दाखिल किये। रोहतक जिला के गढ़ी-सांपला किलोई विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से इनेलो की ओर से सतीश कुमार एवं प्रदीप ने, समस्त भारतीय पार्टी की ओर से धर्मवीर ने, रोहतक विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से निर्दलीय जिले सिंह तथा कलांनौर (आरक्षित) विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से इनेलो की ओर से नागा राम एवं कमला देवी ने, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मॉक्र्सवादी) की ओर से विजेन्द्र सिंह और निर्दलीय पृथी ने अपने नामांकन पत्र भरें। झज्जर जिला की विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों से इनेलो पार्टी की ओर से जिन उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र दाखिल किये, उनमें बहादुरगढ़ से कपूर सिंह और नफे सिंह राठी, बादली से राजिंदर अहेरी, झज्जर (आरक्षित) से श्रीमती कांता तथा सुश्री नीरज तथा बेरी से ओम प्रकाश बेरी शामिल हैं। इसके अलावा, बेरी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से चत्तर सिंह ने भी निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। महेन्द्रगढ़ जिला के अटेली विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से इनेलो के अजीत सिंह एवं हजकां (बीएल) के रोशन लाल ने, महेन्द्रगढ़ विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से निर्दलीय संजय कुमार एवं रमेश कुमारी ने, नारनौल विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से हजकां (बीएल) के प्रीति ने तथा निर्दलीय उमाकांत तथा जितेन्द्र ने और नांगल चौधरी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से हजकां (बीएल) के मूला राम एवं निर्दलीय सुश्री मंजू ने अपने-अपने नामांकन पत्र दाखिल किये, जबकि रेवाड़ी जिला के रेवाड़ी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा के रणधीर सिंह तथा निर्दलीय अजय एवं सतीश ने अपने-अपने नामांकन पत्र भरे। इसी प्रकार, गुडग़ांव जिला के पटौदी (आरक्षित) विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से इनेलो के गंगाराम और निर्दलीय बस्ती राम ने, बादशाहपुर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से इनेलो के गोपीचंद तथा निर्दलीय राकेश भारद्वाज ने, गुडग़ांव विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से प्यारे लाल कटारिया ने निर्दलीय तथा सोहना विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से साहिदा खान ने इनेलो की ओर से, राम निवास ने लोक जनशक्ति पार्टी की ओर से एवं निकाल सिंह ने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में अपने-अपने नामांकन पत्र दाखिल किये। पलवल जिला की हथीन विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से आल इंडिया रक्षक पार्टी की ओर से विजय पाल और महिपाल ने नामाकंन पत्र भरा, जबकि फरीदाबाद जिला की बडख़ल विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से प्रताप सिंह ने निर्दलीय, बल्लभगढ़ विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से अनीता एवं के जी गोस्वामी ने इनेलो की ओर से अपने-अपने नामांकन पत्र भरे।

21 सितंबर 2009

ब्रिटेन में सबसे छोटा संदिग्घ अपराधी


लंदन : पुलिस की जांच के बाद ब्रिटेन में तीन साल का एक बच्चा संदिग्घ अपराघी माना गया है। पुलिस की जांच में इस बच्चो को अव्यवस्था और जानबूझकर संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की प्रवृत्ति का पाया गया है। यह बालक पांच वर्ष और उससे कम उम्र के उन 10 बच्चों में शामिल है, जिनके खिलाफ मई के बाद यौन अपराघों सहित विभिन्न आपराघिक मामलों की जांच की गई थी।
"द संडे टाइम्स" ने आघिकारक आंकडों के हवाले से रविवार को यह रिपोर्ट प्रकाशित की है। इसमें बताया गया है कि स्ट्राथक्लाइड में गर्मी के दौरान एक घर की संपत्ति को नुकसान पहुंचाए जाने की शिकायत पर पुलिस अघिकारी इस बालक के घर जांच के लिए गए थे। आंकडो से यह भी पता चला है कि जून में बेडफोर्डशायर से गिरफ्तार छह साल का बच्चा सबसे कम उम्र का अपराघी है। इसे जून में चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।
सबसे चौकाने वाली बात यह है कि ब्रिटेन में पिछले 10 साल से कम उम्र के बच्चों द्वारा 6000 से ज्यादा अपराघ किए गए। इनमें नौ साल के एक बच्चें को दुष्कर्म का दोषी पाया गया था। बच्चों में तजी से बढती आपराघिक प्रवृत्ति ने अपराघ और सामाजिक कार्यकर्ताओं की चिंता बढा दी है। ये बच्चे इतनी कम उम्र के है कि इन पर न तो अपराघ की जवाबदेही तय की जा सकती है, न मुकदमा चलाया जा सकता और न ही इन्हे गिरफ्तार किया जा सकता है।

अबोध बालिका से बलात्कार

डबवाली (लहू की लौ) गांव लोहगढ़ में एक नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार का मामला थाना सदर पुलिस के पास आया है। प्राप्त जानकारी अनुसार गांव लोहगढ़ निवासी श्रीचन्द ने अपने एक पड़ौसी के बेटे छिन्दा पुत्र प्रेम चन्द पर आरोप लगाया है कि उसने उसके घर में घुस कर उसकी 13 वर्षीय बेटी के साथ मुंह काला किया और उसकी चीख-पुकार सुन कर गांव के लोगों ने लड़की को लड़के की चंगुल से मुक्त करवाया। शिकायतकर्ता के अनुसार वे शनिवार को खेत में काम करने के लिए गये हुए थे और घर पर उसकी 13 वर्षीय लड़की तथा पांच वर्षीय बेटा राजेन्द्र था। दोपहर को करीब 2 बजे उनके पड़ौसी प्रेम चन्द का लड़का छिन्दा घर में घुसा और बर्तन साफ कर रही उसकी बेटी के मुंह पर हाथ लगाकर उसे अपने घर पर ले गया और वहां जाकर उससे मुंह काला किया। पुलिस सूत्रों के अनुसार थाना सदर पुलिस ने लड़की के ब्यान पर आरोपी के खिलाफ धारा 376 आईपीसी के तहत केस दर्ज करके आगामी कार्यवाही शुरू कर दी है।

रक्तदान शिविर आयोजित


डबवाली (लहू की लौ) यहां के लायंस क्लब सुप्रीम की ओर से शिव शक्ति ब्लड बैंक सिरसा के सहयोग से तनसुखदास बिहारी लाल धर्मशाला में रविवार को रक्तदान शिविर लगाया गया। डॉ. आर.एम. अरोड़ा की टीम ने रक्त संग्रह किया। शिविर की शुरूआत सचिव राजकुमार मिढ़ा ने अपनी धर्मपतनी सुमन मिढ़ा के साथ रक्तदान करके की। एक अन्य महिला दर्शना ग्रोवर ने भी रक्तदान किया। शिविर में क्लब के प्रधान डॉ. विनय सेठी के साथ-साथ बी.एस. अरोड़ा, गुरदीप कामरा, संजय कटारिया, विपिन अरोड़ा, संदीप जिन्दल एवं राजेन्द्र जैन ने भी रक्तदान किया। रक्तदानियों को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर मुकेश कामरा, सुधा कामरा, प्रेम सिंह सेठी, सिम्पा जैन, सुरेन्द्र चावला, मनोहर लाल ग्रोवर, राकेश वधवा, सुदेश वर्मा एवं सीमा वर्मा उपस्थित थे

कम्प्यूटर शिक्षकों पर ज्यादतियों के खिलाफ प्रदर्शन


डबवाली (लहू की लौ) कम्प्यूटर एजूकेशन एण्ड सोशल वैल्फेयर सोसायटी के सभी प्रशिक्षित व डिग्री धारकों व अन्य डिप्लोमा धारकों ने रविवार को अनाज मण्डी रोड़ पर कम्प्यूटर शिक्षकों के साथ हो रही ज्यादतियों के विरोध में हरियाणा सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की। इस मौके पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए सोसायटी के प्रधान भजन मैहता ने कहा कि एक तरफ तो प्रदेश सरकार हरियाणा को नम्बर एक राज्य घोषित कर रही है, दूसरी तरफ हरियाणा में सबसे ज्यादा कम्प्यूटर शिक्षक ही हैं जो सबसे बेरोजगार हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि वर्तमान में कम्प्यूटर एक आवश्यक विषय है, जिसे हरियाणा सरकार अनदेखा कर रही है। मैहता ने यह भी कहा कि सरकार राज्य के प्रत्येक सरकारी विद्यालय में कम्प्यूटर लैब तो प्रदान कर रही है, लेकिन लैब में छात्र-छात्राओं को शिक्षा देने के लिए एक भी कम्प्यूटर डिग्री धारक नहीं है। बल्कि इन विद्यालयों में विद्यार्थियों को शिक्षा देने के लिए निजी बेसिक कोर्स किये गये शिक्षक लगाये जा रहे हैं। उन्होंने मांग की कि कम्प्यूटर शिक्षकों को प्रोत्साहित करके रिक्त पड़े पदों को भरा जाये ताकि कम्प्यूटर शिक्षक भी अपना भविष्य सुरक्षित कर सकें। इस अवसर पर सोसायटी के तरूण बिश्नोई, अनिल शर्मा, सुनील सेठी, मकुश शेखावत, पवन मैहता, अंशुल ग्रोवर, विपिन ग्रोवर व अन्य सोसायटी के सदस्य उपस्थित थे।

204 महानुभावों ने किया रक्तदान

डबवाली (लहू की लौ) सन्त निरंकारी मण्डल शाखा डबवाली की ओर से निरंकारी भवन में विशाल रक्तदान शिविर के दौरान एम्स दिल्ली से आई डॉक्टरों की टीम ने 204 यूनिट रक्त एकत्रित किया। यह जानकारी देते हुए सन्त निरंकारी मण्डल शाखा डबवाली के प्रमुख राजकुमार मैहता ने बताया कि इस शिविर का उद्घाटन मण्डल के जोनल इंचार्ज गोविन्द राम टोहाना वालों ने किया। इस रक्तदान शिविर का आयोजन बाबा गुरबचन सिंह की याद में 1980 से लगातार निरंकारी भवन में लगाया जा रहा है। उनके अनुसार बाबा के अन्तिम वचनों के अनुसार मनुष्य का रक्त इंसान की नाडिय़ों की बहना चाहिए, नालियों में नहीं, की पालना करते आयोजित किया जाता है। इस शिविर में सबसे पहले रवि कुमार ने रक्तदान किया। स्थानीय प्रमुख राजकुमार मैहता ने 29वीं बार रक्तदान किया। रक्त एकत्रित करने के लिए एम्स दिल्ली से डॉ. प्रेमचन्द, डॉ. मुकेश, डॉ. बीएस राणा के नेतृत्व में टीम डबवाली पहुंची। रक्तदान शिविर में श्रद्धालुओं के बढ़ चढ़कर भाग लेने से रक्तदानियों ने 204 यूनिट रक्तदान करके मानवता की सेवा में सफलतापूर्वक कदम रखा। इस मौके पर शहर के गणमान्य व्यक्तियों में से डॉ. सीता राम पूर्व विधायक डबवाली, संदीप चौधरी, सिम्पा जैन, रमेश बागड़ी, राजेन्द्र जैन, हरबिलास निरंकारी उपस्थित थे। शिविर के अन्त में शाखा प्रमुख राजकुमार मैहता ने अरदास की कि यह रक्त जिस भी मनुष्य की नाड़ी में जाये वह कल्याण का ही स्वरूप बने।

20 सितंबर 2009

ग्रामीणों को दी नरेगा की जानकारी


डबवाली (लहू की लौ) पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के निर्देश पर गांव मिठड़ी के सरकारी स्कूल में उपमण्डलीय कानूनी सेवा विधिक प्राधिकरण द्वारा नरेगा पर सेमिनार आयोजित किया गया। जिसकी अध्यक्षता उपमण्डल न्यायिक दण्डाधिकारी महावीर सिंह तथा न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी अमरजीत सिंह ने की। इस मौके पर उपस्थित ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए उपमण्डलीय कानूनी सेवा प्राधिकरण के प्रधान महावीर सिंह ने कहा कि नरेगा योजना के तहत प्रत्येक परिवार के एक सदस्य को 100 दिन का रोजगार दिया जाता है। जिसमें उसे 148 रूपये प्रति दिन के हिसाब से मजदूरी दी जाती है। 100 दिन के उसे 14 हजार 800 रूपये दिये जाते हैं। कोई भी जरूरतमंद रोजगार के लिए सरपंच को निवेदन पत्र दे सकता है। अगर वहां उसकी बात नहीं सुनी जाती तो बीडीपीओ के पास, अगर वहां भी बात नहीं सुनी जाती तो लीगल सर्विस अथोरिटी के पास निवेदन कर सकता है। उन्होंने यह भी बताया कि नरेगा के तहत नरेगा का सारा रिकॉर्ड सरपंच ने रखना होता है और नरेगा के तहत काम करने वाला मजदूर अपने रिकॉर्ड को कभी भी सरपंच के पास से देखने का अधिकारी है। इस अवसर पर न्यायिक लोक अदालत का भी आयोजन किया गया। जिसमें डबवाली की दोनों अदालतों के कुल 57 केस प्रस्तुत हुए। जिसमें से 19 का मौका पर निपटारा कर दिया गया। इसके अतिरिक्त 37 इंतकाल भी प्रस्तुत हुए, जिसका मौका पर उपस्थित नायब तहसीलदार हरि ओम बिश्नोई ने निपटारा किया। इस अवसर पर बार एसोसिएशन के प्रधान कुलवन्त सिधू, एडवोकेट एस.के. गर्ग, के.एल. पासी, भूपिन्द्र सिंह सूर्या, राजेश यादव, गुरप्रीत सिंह बराड़, सुखबीर सिंह बराड़, जितेन्द्र खैरा, कुलदीप सिंह, ओमप्रकाश गांधी, जितेन्द्र सिंह दंदीवाल, पटवार यूनियन के प्रधान अमीलाल, सरपंच के पति हरदेव सिंह आदि उपस्थित थे। इस मौके पर मंच का संचालन वाई.के. शर्मा ने किया।

सच्चा सौदा प्रमुख अदालत में पेश

सिरसा (लहू की लौ) डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह आज एक बार फिर अदालत में पेशी भुगतने के लिए पहुंचे। उनकी पेशी कुरूक्षेत्र के रणजीत हत्याकांड व गुमनाम साध्वी द्वारा अदालत को भेजी गई चिट्ठी को लेकर थी। सुबह साढ़े 10 बजे डेरा प्रमुख का काफिला हुडा बाईपास से अदालत परिसर में दाखिल हुआ। कड़ी सुरक्षा के बीच डेरा प्रमुख को अदालत परिसर में स्थापित किए गए विशेष कक्ष में ले जाया गया। डेरा प्रमुख अपने ऊपर चल रहे पत्रकार रामचन्द्र छत्रपति हत्याकांड, साध्वी यौन शोषण प्रकरण के मामले में भी इसी कक्ष में पेशी भुगतने आते हैं। विशेष कक्ष में वीडियो कांर्फेसिंग के जरिए डेरा प्रमुख को सीबीआई की अंबाला स्थित विशेष न्यायालय के न्यायधीश एएस नारंग के समक्ष पेश करवाया गया। पौने 3 घंटे अदालत की कार्रवाई चली और दोपहर सवा एक बजे डेरा प्रमुख विशेष कक्ष से बाहर निकल आए। अदालत ने मामले की आगामी सुनवाई के लिए 26 सितंबर की तिथि मुकर्रर की है। पेशी भुगतने के बाद हुडा बाईपास से ही उनका काफिला डेरे के लिए रवाना हो गया। अदालत परिसर व उसके बाहर डेरा प्रमुख की पेशी के चलते कड़े सुरक्षा बंदोबस्त किए गए थे।

ऐलनाबाद से भी चुनाव लड़ेंगे चौटाला

डबवाली (लहू की लौ) इनेलो ने आज 32 उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी कर दी है जिसके साथ ही इनेलो के अब तक 74 प्रत्याशी घोषित किए जा चुके हैं। इनेलो ने 42 प्रत्याशियों की पहली सूची 4 सितम्बर को जारी कर दी थी। इसके अलावा इनेलो ने चुनाव घोषित होते ही 2 सितम्बर को पार्टी का चुनाव घोषणा पत्र भी जारी कर दिया था। दूसरी सूची जारी करते हुए इनेलो के प्रधान महासचिव व राज्यसभा सांसद अजय सिंह चौटाला ने बताया कि इनेलो प्रमुख व पूर्व मुख्यमन्त्री चौधरी ओमप्रकाश चौटाला उचानाकलां के साथ-साथ ऐलनाबाद से भी चुनाव लड़ेंगे। अजय सिंह चौटाला ने बताया कि पूर्व क्रिकेटर योगराज सिंह को पंचकूला से, पूर्व विधायक बलवंत सिंह को सढौरा से और पूर्व मन्त्री रिसाल सिंह के बेटे राजबीर सिंह को मुलाना से पार्टी प्रत्याशी बनाया गया है। अजय सिंह चौटाला ने बताया कि पूर्व मुख्य संसदीय सचिव रामपाल माजरा को कलायत से, पार्टी के जिलाध्यक्ष कैलाश भगत कैथल से, राजीव गुप्ता जगाधरी से व पार्टी प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य सज्जन सिंह ढुल पूण्डरी से इनेलो प्रत्याशी बनाए गए हैं। पूर्व मन्त्री मो. इलियास को पुन्हाना से, कृष्ण कम्बोज को रानियां, राजेश गोदारा आदमपुर, हिसार नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष हनुमान ऐरन हिसार और पार्टी जिला महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्ष सरोज मोर नारनांैद से प्रत्याशी बनाई गई हैं। इनेलो सांसद ने बताया कि पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष राव अजीत सिंह अटेली, राजदीप फौगाट दादरी और रमेश पालड़ी महेंद्रगढ़ से पार्टी प्रत्याशी होंगे। इसके अलावा पार्टी कर्मचारी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष धारा सिंह हांसी, सतीश खौला कोसली और बदरूदीन नूंह से इनेलो उम्मीदवार होंगे। इसके अलावा पूर्व मेयर अनीता गोस्वामी बल्लबगढ़, सुभाष चौधरी पलवल से, प्रकाश डागर फरीदाबाद एनआईटी और सुशील जोगी सोनीपत से पार्टी प्रत्याशी बनाए गए हैं। इनेलो ने पूर्व विधायक ओमप्रकाश बेरी को बेरी से, मनोज जोरासी को समालखा से, पे्रम रोड़ असन्ध, डॉ. हरिचंद मिढा जीन्द, राजेंद्र ऐहरी बादली, कलीराम सफीदों, जितेंद्र बाल्मीकि शाहबाद और रामेश्वर दास बावल से पार्टी प्रत्याशी बनाए गए हैं।

18 सितंबर 2009

युवक द्वारा आत्महत्या का प्रयास

सिरसा (लहू की लौ) कर्ज से परेशान एक युवक ने आज जहरीली वस्तु का सेवन कर आत्महत्या का प्रयास किया। युवक को सामान्य अस्पताल में दाखिल करवाया गया है। चिकित्सकों के अनुसार युवक की हालत स्थिर बनी हुई है। मिली जानकारी के अनुसार बेगूरोड निवासी गौरव पुत्र प्रेम कुमार ने शहर के ही कुछ लोगों से कर्ज ले रखा है। कर्ज न चुका पाने की परेशानी के चलते गौरव ने आज भादरा तालाब के निकट जहरीली वस्तु का सेवन कर लिया। राहगीरों ने उसे सामान्य अस्पताल दाखिल करवाया गया।

केबल चोरी का आरोपी गिरफ्तार

सिरसा (लहू की लौ) रघुआना क्षेत्र में टयूब्वैल से तार चोरी करने के आरोप में पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार किया है। आरोपी को कब्जे से चोरी की गई केबल बरामद कर ली गई है। पुलिस प्रवक्ता सुरजीत सहारण ने बताया कि पन्नीवाला मोटा निवासी कुलवंत सिंह पुत्र धर्मसिंह के खेत से केबल चोरी हो गई थी। कुलवंत के अनुसार केबल की अनुमानित कीमत 20 हजार रुपये थी। बड़ागुढ़ा थाना पुलिस ने कुलवंत की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए गांव के ही कालूराम पुत्र अमरचंद को गिरफ्तार किया। पुलिस ने कालूराम से टयूब्वैल से चुराई गई केबल बरामद कर ली है।

युवती के अपहरण का प्रयास

सिरसा (लहू की लौ) नई हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में मोटरसाइकिल सवार युवकों ने एक युवती के अपहरण का प्रयास किया। युवती के शोर मचाने पर आरोपी फरार हो गए। तत्पश्चात युवक युवती के घर जा धमके और मारपीट की। युवती को सामान्य अस्तपाल में दाखिल करवाया गया है। मिली जानकारी के अनुसार प्रेम नगर निवासी पिंकी पुत्री अशोक कुमार आज प्रात: किसी कार्यवश न्यू हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी गई हुई थी। बीच रास्ते मोटरसाइकिल पर सवार भीम व सोनू ने पिंकी के अपहरण का प्रयास किया। अस्पताल में उपचाराधीन पिंकी ने आरोप लगाया कि उक्त लोग प्रतिदिन उससे छेड़छाड़ करते हैं। आज दोनों ने उसे जबरन मोटरसाइकिल पर ले जाना चाहा। शोर मचाने पर अन्य लोग एकत्रित हो गए। तत्पश्चात आरोपी मौके से फरार हो गए। पिंकी का आरोप है कि अपहरण करने में असफल रहे भीम व सोनू उसके घर आ धमके। आरोपियों ने उसके साथ जबरदस्ती करने का प्रयास किया। आरोप है कि उक्त दोनों ने उससे मारपीट की। परिजनों ने पिंकी को सामान्य अस्पताल में दाखिल करवाया। परिजनों का आरोप है कि आरोपियों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई गई है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। क्षेत्र में हुई इस वारदात से दहशत का माहौल है।

प्रशासन ने विवाद को जड़ से किया खत्म

सिरसा (लहू की लौ) अग्रवाल समुदाय व शहीद राधेश्याम भाकर समिति द्वारा मूर्ति स्थापना को लेकर उपजे विवाद को प्रशासन ने जड़ से ही खत्म कर दिया। जहां मूर्ति स्थापित की जानी थी वहां बने चौक को प्रशासन ने रातो-रात साफ कर दिया। ज्ञातव्य हो कि विगत दो माह से दोनों समुदायों में पंचमुखी चौक पर मूर्ति स्थापना को लेकर विवाद चल रहा था। गत दिवस शहीद राधेश्याम भाकर समिति द्वारा जबरन चौक पर मूर्ति स्थापित कर दी। अग्रवाल समुदाय के विरोध के चलते प्रशासन हरकत में आया। भाकर समिति के सदस्यों ने प्रशासन की खिलाफत की। आखिरकार प्रशासन ने समिति के सदस्यों पर हल्का बल प्रयोग किया। पुलिस ने इस संदर्भ में 14 लोगों को दंगा फैलाने के आरोप में नामजद किया। उपायुक्त युद्धवीर सिंह ख्यालिया ने विवाद को निपटाते हुए चौक साफ करवा दिया।

चौक विवाद को लेकर शहरभर में तनाव, बाजार बंद

ऐलनाबाद : प्रदेश के शांतिप्रिय क्षेत्रों में से एक ऐलनाबाद में पिछले कई वर्षों से जारी पंचमुखी चौक विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। चौक का निर्माण कब २ समुदायों के साख का प्रश्र बन गया पता ही लगा? एक ओर जहां शहीद राधेश्याम भाकर यादगार समिति के समर्थक शहीद भाकर की प्रतिमा इस चौक के स्थान पर लगाने के पक्ष में हैं, वहीं दूसरी ओर अग्रवाल समुदाय महाराजा अग्रसैन की मूॢत स्थापना यहां करवाए जाने हेतु अपना संघर्ष जारी किए हुआ है। यह विवाद पिछले कई वर्षों से जारी है, परंतु प्रशासन की लाख कोशिशों के बावजूद भी इस मामले का हल नहीं हो पाया है। वहीं दोनो में से कोई भी पक्ष झुकने को तैयार नहीं। दोनों ही पक्ष अपने-अपने चौक के निर्माण को लेकर डटे हुए हैं। आज फिर से उगले इस विवाद में दोनों पक्ष एक-दूसरे के आमने-सामने नहीं थे, बल्कि सीधा मुकाबला पुलिस प्रशासन व शहीद राधेश्याम चौक समर्थकों के बीच था। उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान से कारगिल मोर्चे पर लोहा लेते हुए १७ दिस6बर १९९९ को ज6मू-कश्मीर के कुपवाड़ा क्षेत्र में शहीद हुए राधेश्याम भाकर उपमंडल ऐलनाबाद के एकमात्र शहीद हंै। देश की शहादत के लिए तत्कालीन हरियाणा सरकार ने पंचमुखी चौक के स्थान पर शहीद राधेश्याम भाकर चौक बनाने की घोषणा की थी, तभी से लेकर आज तक शहीद राधेश्याम भाकर यादगार समिति यहां शहीद भाकर चौक निर्माण के लिए संघर्ष कर रही थी, वहीं दूसरी ओर इस चौक के स्थान पर महाराजा अग्रसैन चौक स्थापना हेतु अग्रवाल समुदाय के पास भी मंजूरी थी, ऐसे में यह चौक २ समुदायों के विवाद का पर्याय बनकर रह गया। नगरपालिका की मामूली लापरवाही के कारण इस मामले ने इतना तूल पकड़ लिया कि यह मामला वर्षों से खींचा चला आ रहा है और समय-समय पर इसकी आग यहां उठती रहती है, जिससे एक ओर शहर की शांति प्रभावित होती है, वहीं दूसरी ओर यहां तनाव की स्थिति भी पैदा होती है। समिति ने की खारीसुरेरां में बैठक शहीद राधेश्याम चौक निर्माण संघर्ष समिति द्वारा पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार यहां ५ हजार समर्थकों की मौजूदगी में चौक पर शहीद की मूॢत स्थापित की जानी थी, जिसे लेकर आज प्रात: ७ बजे ही शहर में चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात कर दी गई, ताकि किसी भी तनावपूर्ण स्थिति से काबू पाया जा सके। इससे पूर्व आज शहीद समर्थकों ने गांव खारी सुरेरां में एक जनसभा भी आयोजित की। जनसभा के आयोजन की सूचना मिलते ही मामले को शहर से बाहर ही शांत करने के उद्देश्य से एस.डी.एम. मनजीत ङ्क्षसह व तहसीलदार परमजीत ङ्क्षसह चहल मौके पर पहुंचे तथा शहीद समर्थकों द्वारा गठित ५ सदस्यीय कमेटी से बातचीत कर मामला सुलझाने का प्रयास किया। अधिकारियों ने शहीद समर्थकों को आचार संहिता लगी होने का हवाला देते हुए कहा कि चुनावी माहौल में किसी भी प्रकार का बवाल पैदा करना खतरनाक हो सकता है, लेकिन शहीद समर्थक अपनी मांग पर अड़े रहे, जिससे वार्ता विफल हो गई तथा ग्रामीण प्रशासनिक आह्वान को दरकिनार करते हुए चौक में शहीद की प्रतिमा स्थापित करने के लिए शहर की ओर कूच कर गए। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने किशनपुरा पुल के पास नाकेबंदी करते हुए ग्रामीणों को रोकने का प्रयास किया, लेकिन ग्रामीण नहीं माने। नाकेबंदी का नेतृत्व कर रहे पुलिस उपाधीक्षक बलवीर ङ्क्षसह, पुलिस उपाधीक्षक मु2यालय एस.एस. श्योराण, पुलिस थाना प्रभारी रमेश चंद्र, सिरसा के यातायात पुलिस प्रभारी जोगेंद्र ङ्क्षसह के समझाने पर जब शहीद समर्थक नहीं माने तो मौके पर जिला उपायुक्त युद्धवीर ङ्क्षसह 2यालिया तथा पुलिस अधीक्षक सुभाष यादव पहुंच गए तथा शहीद समर्थकों को समझाने का प्रयास किया। इसी बीच शहीद के कुछ समर्थक किसी ओर रास्ते से होते हुए शहीद की प्रतिमा को लाकर पंचमुखी चौक में स्थापित कर दिया, जिसे चौक में तैनात पुलिस ने तुरंत ही हटा दिया तथा प्रतिमा को थाने में भिजवा दिया गया। इस पर शहीद समर्थक भड़क उठे तथा स्थिति तनावपूर्ण हो गई।

17 सितंबर 2009

हरियाणा के मुख्यमंत्री के पूर्व ओएसडी केवी सिंह पर फर्जीवाडा तैयार कर चेहतों को 1 करोड़ 20 लाख दिलवाने का आरोप

डबवाली (लहू की लौ) डबवाली हल्का से कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में टिकट के प्रबल दावेदार डॉ. केवी सिंह के लिए उनके विरोधियों ने कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्षा सोनिया गांधी को एक ताजा पत्र लिखकर आरोप लगाया है कि केवी सिंह ने अपने नजदीकियों को मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा का ओएसडी रहते हुए गलत ढंग से लोन दिलवाया और इसके लिए फर्जीवाडा भी तैयार किया। जबकि डॉ. केवी सिंह ने इस मामले को अपने से अलग रखते हुए कहा है कि उन्हें इसकी जानकारी तक नहीं है। अखिल भारतीय कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्षा सोनिया गांधी को डॉ. केवी सिंह के धुर विरोधी भोला राम शर्मा डबवाली ने भेजे एक पत्र में कहा है कि मुख्यमंत्री हरियाणा के पूर्व ओएसडी डॉ. केवी सिंह ने मण्डी डबवाली में अपने भतीजे के पेट्रोल पम्प पर लगे मुलाजिमों के नाम नाबार्ड की स्कीम के तहत भूमिहीन गरीब मजदूरों को भूमि खरीदने के लिए जो स्कीम भारत सरकार की है, उसके अन्तर्गत अपने ही कर्मचारियों व चेहतों के नाम से छछरौली जिला यमुनानगर हरियाणा से हरियाणा स्टेट को-ऑपरेटिव एग्रीकल्चर एवं रूरल डिवेलप्मेंट बैंक लि. से 1 करोड़ 20 लाख रूपये के लोन प्राप्त करवाये हैं। आरोप में शिकायतकर्ता ने यह भी लिखा है कि यह करोड़ों रूपये का फर्जी लोन डॉ. केवी सिंह के कहने से मैनेजर ने किया है। शिकायतकर्ता के अनुसार जिन 12 व्यक्तियों के नाम पर लोन लिया गया है, उनके नाम मनवीर सिंह पुत्र परमजीत सिंह, महेन्द्र कुमार पुत्र कृष्ण कुमार, मुरारी लाल पुत्र विश्व पाल, जैल कुमार पुत्र जवाहर लाल, देवा राम पुत्र कान्हा राम, शिव कुमार पुत्र मोहन राम, राजवीर सिंह पुत्र परमजीत सिंह, पंकज कुमार पुत्र जैन कुमार, मूलचन्द पुत्र दौलत राम, प्रेम कुमार पुत्र देवीलाल, बनवारी लाल पुत्र सेाहन लाल हैं। शिकायतकर्ता के अनुसार इनमें से 10 मण्डी डबवाली में स्थित इसके भतीजे के पेट्रोल पम्प पर मुलाजिम हैं। जबकि इनमें से मनवीर सिंह पुत्र परमजीत सिंह, राजवीर सिंह पुत्र परमजीत सिंह गांव मौजगढ़, तहसील मण्डी डबवाली (जिला सिरसा) के निवासी हैं और इनके पास सैंकड़ों एकड़ कृषि भूमि है। डॉ. केवी सिंह के भतीजे के साथ ठेकेदारी व अन्य कार्यो में भागीदार भी हैं। भोला राम शर्मा के अनुसार बैंक की स्कीम की शर्तो के मुताबिक यह पैसा भूमि खरीदने के लिए उन्हीं व्यक्तियों को मिलना था, जो गांव बेलगढ़ तह. छछरौली (जिला यमुनानगर) के स्थाई रूप से रहने वाले हों। जिनके पास पूरे हरियाणा में कहीं भी कृषि भूमि न हो। जबकि मनवीर सिंह और राजवीर सिंह पुत्रान परमजीत सिंह के पास गांव मौजगढ़ में कृषि भूमि है। शर्मा ने कांग्रेस अध्यक्षा को भेजे पत्र में यह भी कहा है कि इसके अलावा इस स्कीम में यह भी नियम है कि पैसा बोर्ड ऑफ डायरेक्टर, हरियाणा एग्रीकल्चर एवं रूरल डिवेलप्मेंट बैंक लि. से मंजूरी लेकर ही लोन दिया जाये। लेकिन सभी नियमों को ताक पर रखकर डॉ. केवी सिंह ने अपने ओएसडी मुख्यमंत्री हरियाणा के पद का दुरूपयोग करते हुए ये लोन का पैसा गलत आदमियों को प्राप्त करवाया है। शिकायतकर्ता ने इस पूरे मामले की जांच करवाने का अनुरोध किया है और साथ में यह भी मांग की है कि इस फर्जीवाड़ा में जो भी अधिकारी या अन्य लोग शामिल हैं, उन पर भी उचित कार्यवाही करवाई जाये। इस संदर्भ में जब मोबाइल पर डॉ. केवी सिंह से सम्पर्क स्थापित किया गया तो उन्होंने कहा कि विरोधियों ने तो उनके खिलाफ वाबेला मचाना ही है। उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें इस मामले की कोई जानकारी नहीं है। अगर किसी ने भी ऐसा किया है तो वह स्वयं भुगतेगा।

नवोदय की संभाग स्तरीय खेलों का शुभारंभ

औढ़ां (जितेन्द्र गर्ग) जवाहर नवोदय विद्यालय ओढ़ां के खेल प्रांगण में नवोदय विद्यालय समिति जयपुर संभाग द्वारा आयोजित संभागीय बास्केट बाल प्रतियोगिता का बुधवार को शुभारंभ हो गया। इस प्रतियोगिता में जयपुर संभाग में आने वाले, हरियाणा, राजस्थान व दिल्ली के 54 जवाहर नवोदय विद्यालयों से चयनित छात्र छात्रा दोनों के अंडर 19 व अंडर 17 वर्ग टीमों के कुल 129 प्रतिभागी भाग ले रहे हैं। कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए प्राचार्य डा. आरपी शर्मा ने खेल के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि खेलकूद प्रतियोगिताएं हमें जीवन को सफलतापूर्वक जीने की कला सिखाती हैं। आज प्रतियोगिता के शुभारंभ के अवसर पर बुधवार को हुए मैचों में लड़कों के अंडर 19 वर्ग में एपीजे अब्दुल कलाम कलस्टर ने एचजे भाभा कलस्टर को 35 के मुकाबले 50 अंक से, लड़कियों के अंडर 19 वर्ग में डीएस कोठारी कलस्टर ने होमी जहांगीर भाभा कलस्टर को 07 के मुकाबले 26 अंक से शिकस्त देकर जीत दर्ज कर ली है। इसी प्रकार लड़कों के अंडर 17 वर्ग में होमी जहांगीर भाभा कलस्टर ने डीएस कोठारी कलस्टर को 25 के मुकाबले 31 अंक से तथा लड़कियों के अंडर 17 वर्ग में डीएस कोठारी कलस्टर ने एचजे भाभा कलस्टर को 06 के मुकाबले 24 अंक से हराया।

आदेश के बावजूद भी नहीं रोका निर्माण कार्य

डबवाली (लहू की लौ) यहां की सब्जी मण्डी के दुकानदारों ने नगर सुधार मण्डल के प्रशासक एवं उपमण्डलाधीश सुभाष चन्द्र गाबा को एक शिकायत पत्र देकर मण्डी में स्थित पार्क में वाटर कूलर के लिए किये जा रहे निर्माण को रूकवाने की मांग की। शिकायतकर्ता दुकानदार केवल कृष्ण, हनी, जगदीश, रमेश, सुरेन्द्र, राजेन्द्र, पवन, विजय कुमार, पवन कुमार ने लिखित रूप में नगर सुधार मण्डल के प्रशासक को दी शिकायत में लिखा है कि नगर सुधार मण्डल ने जब उनकी दुकानें काटी थी तो दुकानदारों व ग्राहकों के लिए पार्क का निर्माण किया गया था। लेकिन अब इस पार्क में वृक्षों को काटकर यहां पर अवैध रूप से वाटर कूलर लगाया जा रहा है। जिसके भवन को बहुत ऊंचा उठाया जा रहा है। जिससे उनकी दुकानें दिखाई नहीं देंगी और इससे ग्राहकों को उन तक पहुंचने में परेशानी होगी। इस वाटर कूलर के भवन के निर्माण को रूकवाया जाये। उनकी इस शिकायत पर कार्यवाही करते हुए नगर सुधार मण्डल के एमई को प्रशासक ने तुरन्त काम बन्द करवाने के आदेश दिये। लेकिन इसके बावजूद भी मिस्त्री अपने काम पर लगे रहे। जब इस संदर्भ में दुकानदारों ने मिस्त्री से बात की तो उसने कहा कि जो उसे दिहाड़ी देगा, वह तो काम उसी का करेगा। उसे तो यह कहा गया है कि वह 5 बजे तक काम करे।

छात्रों ने लगाया जाम

बनवाला (जसवंत जाखड़) गांव रिसालियाखेड़ा में बस स्टेंड के निकट बुधवार को सैकड़ों छात्रों ने बस की मांग पूरी न होने को लेकर कालूआना सिरसा मार्ग जाम कर दिया और अढ़ाई घंटे तक जाम लगाए रखा। जाम लगने की सूचना पाकर मौके पर पहुंची गोरीवाला पुलिस द्वारा जीएम की ओर से दो दिन में बस सेवा शुरू करवा देने का आश्वासन मिलने पर छात्रों ने जाम खोल दिया। गांव रिसालियाखेड़ा, गोदिकां, दारेवाला, कालूआना, बिज्जूवाली, रामगढ़, चकजालू व गोरीवाला के छात्रों मुकेश, मलकीत, रवींद्र, कालूराम, जगतपाल, परमजीत, सीताराम, मनोज कुमार, ओमप्रकाश, राधेश्याम, अरविंद, राकेश, सुरेंद्र, दीपक, बाबू लाल, गगन व सुमित एवं छात्राएं सुनीता, चित्रा, सुमन, पूनम, रेखा, कांता, माया, अनीता, सुशीला, पूजा, ममता, प्रियंका व शैलजा आदि ने बताया कि गत 10 सितंबर को छात्रों ने बनवाला में जाम लगाया था उस समय जीएम सिरसा जोगेंद्र सिंह द्वारा छात्रों के लिए दो बसें दो दिन में लगा देने की बात कही थी लेकिन एक ही बस लगाई गई है जो बनवाला से डबवाली जाती है जबकि दूसरी कालूआना से सिरसा बस सेवा अभी तक शुरू नहीं की गई जिसके कारण पढऩे हेतु सिरसा जाने वाले सैकड़ों छात्र छात्राओं को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। जाम लगने की सूचना पाकर गोरीवाला पुलिस चौकी इंचार्ज कृष्ण कुमार एसआई दल बल सहित मौके पर पहुंचे और छात्रों से बात की। छात्रों की बात सुनने के बाद उन्होंने हरियाणा रोडवेज सिरसा के जीएम जोगेंद्र सिंह से बात करने के बाद छात्रों को बताया कि किंही कारणों से बस सेवा शुरू नहीं की जा सकी है। उन्होंने छात्रों को आश्वासन दिया कि उनकी मांग पर कालूआना से सिरसा के लिए सुबह साढ़े 7 बजे बस सेवा दो-तीन दिन में शुरू कर दी जाएगी। यह आश्वासन पाकर छात्रों ने जाम खोल दिया।

अवैध रूप से चीनी रखने के आरोपी गिरफ्तार

औढ़ां (जितेन्द्र गर्ग) औढ़ां पुलिस ने आवश्यक वस्तु अधिनियम एवं अनुचित ढंग से खाद्य पदार्थों का भंडारण करने के जुर्म में आज कालांवाली निवासी चीनी व्यापारी केसरी सिंगला व घुक्कांवाली निवासी गुरजंट सिंह दुकानदार को गिरफ्तार करके डबवाली की अदालत में पेश कर दिया है। यह जानकारी देते हुए थाना प्रभारी हीरा सिंह ने बताया कि गत 4 सितंबर को गांव घुक्कांवाली में अवैध ढंग से रखी चीनी को बरामद करके उक्त दोनों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया था। उल्लेखनीय है कि गांव घुक्कांवाली में एक दुकानदार के यहां ब्लैक करने के इरादे से चीनी का स्टॉक किया गया था जिसे तीन पिकअप गाडिय़ों में भरकर बेचने हेतु कालांवाली ले जाया जा रहा था कि ओढ़ां पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर एक टीम ने थाना इंचार्ज राजबीर सिंह दहिया व खाद्य आपूर्ति विभाग कालांवाली के इंस्पैक्टर राजदीप सिंह व कृष्णचंद्र के नेतृत्व में छापा मारा तो मौके पर मौजूद तीन में से दो गाडिय़ों में 26—26 बोरी व एक गाड़ी में एक बोरी चीनी भरी जा चुकी थी जबकि 60 बोरी चीनी गाड़ी में भरी जानी बाकी थी। पुलिस को देखकर दुकानदार गुरजंट सिंह व मजदूर अंधेरे का लाभ उठाकर भागने में सफल हो गए। पुलिस ने 53 बोरी चीनी सहित तीनो गाडिय़ों को अपने कब्जे में लेकर मुकदमा दर्ज कर लिया था।

16 सितंबर 2009

सत्ता में आने पर किसी के आगे हाथ फैलाने की जरूरत नहीं होगी- अजय चौटाला

ऐलनाबाद (लहू की लौ) अगर आपने गैरों व अपनों के बीच पहचान कर ली तो इस बार प्रदेश में सत्ता की चाबी आपके हाथ में होगी और किसी और के आगे हाथ फैलान की जरूरत नहीं होगी और दिल खोल कर आपके काम किए जाएंगे। यह बात इनेलो के प्रधान महासचिव व राज्यसभा सांसद अजय सिंह चौटाला ने कही। वे बुधवार को ऐलनाबाद हलके के गांवों में आयोजित जनसभाओं को संबोधित कर रहे थे। गांवों में पहुंचने पर अजय सिंह चौटाला अन्य नेताओं का फूलामालाओं से भव्य स्वगात किया गया और सैंकड़ों स्थानों पर उनके सम्मान में जलपान कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस दौरान अनेक गांवों में दर्जनों परिवारों ने कांग्रेस छोड़ कर इनेलो में शामिल हानेे की घोषणा की। सांसद अजय सिंह चौटाला ने ग्रामीण जनसभाओं में कहा कि भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने अपनेपौने पांच वर्षों के दौरान सिरसा क्षेत्र के साथ पूर्ण रूप से सौतला व्यवहार किया है जिसका खामियाजा यहां की जनता को भुगतना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि पिछली बार वोट मांगते हुए कांग्रेसी नेताओं ने इस क्षेत्र के लोगों को विकास की सुनहरी तस्वीर दिखाई थी और युवकों को रोजगार का झांसा दिया था। पर मुख्यमंत्री की क्षेत्रवाद फैलाने की नीति के चलते ये सारे वायदे धरे के धरे रह गए और यह क्षेत्र लगातार पिछड़ता चला गया। किसान सिंचाई के पानी के लिए तरसते रहे और बिजली के लिए मारा-मारा रही। रोजगार की दृष्टि से जिले के युवकों को धोखे के सिवाय कुछ नहीं मिला। अजय चौटाला ने विश्वास दिलवाया कि इनेलो सरकार बनने पर इस क्षेत्र का न केवल समग्र विकास करवाया जाएगा बल्कि बेरोजागारों को अधिक से अधिक रोजगार उपलब्ध करवाए जाएंगे। रोजगार न मिलने तक उन्हें प्रति माह 3000 रूपये बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा। इतना ही नहीं जनता के बीच बैठकर उनकी हर मांगों को पूरा किया जाएगा ताकि लोगों को किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े। इसके लिए उन्होंने 13 अक्टूबर को इनेलो प्रत्याशियों को अधिक से अधिक मतों से विजयी बनाने की अपील की। आज दौरों के दौरान नहराना गांव में कामरेड कांसीराम, लीलूराम, रामकिशन बिजारणा, साहुवाला में कृष्ण कुमार, इंद्राज, घड़सीराम,बंसीलाल, डींग में भूपसिंह, मोचीवाली में नत्थुराम, कांसीराम, कृष्ण कुमार, हवासिंह, परसराम, गांव नारायण खेड़ा में कालुराम, ओमप्रकाश, राममूर्ति सहित दर्जनों परिवारों ने कांग्रेस छोड़कर इनेलो में शामिल होने की घोषणा की। आज अजय सिंह चौटाला ने गांव अरनियांवाली, निरवाण, रंधावा, रूपाणा, दड़बाकलां, शुक्करमंदोरी, चाहरवाला, रामपुरा सहित डेढ़ दर्जन गांवों का दौरा किया। इस दौरे में उनके साथ पूर्व विधायिका विद्या बैनिवाल, अभय सिंह खोड़, पवन बैनिवालख् महावीर बागड़ी, धर्मवीर नैन, नंदलाल बैनिवाल, महेंद्र बाना, विनोद बैनिवाल, विजय कागदाना, कृष्णा फोगाट, योगेश शर्मा सहित अन्य इनेलो नेता उपस्थित थे।

डबवाली विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी


केवी या गदराना
डबवाली (लहू की लौ) चुनावी मौसम की बरसात लगभग अब जाने वाली है और बरसाती मेंढकों का टर्र-टर्राना भी लगभग बन्द हो चुका है। कांग्रेस टिकट का यहां सवाल है मामला बताते हैं कि सोनिया के दरबार में जा पहुंचा है। टिकट की दौड़ में भले ही एक दर्जन के करीब पार्टी के कार्यकर्ता सक्रिय थे। लेकिन फिलहाल यह दौड़ केवल डॉ. के.वी. सिंह और कुलदीप गदराना एडवोकेट के बीच में सिमट गई लगती है। दिल्ली से मिली जानकारी अनुसार कुलदीप गदराना टिकट के लिए राहुल के दरबार में भी हाजरी लगा चुके हैं। इधर डॉ.केवी सिंह के लिए मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा प्रयासरत हैं। लेकिन सोनिया के दरबार में डॉ. केवी सिंह का विरोधी गुट अपनी पूरी ताकत झोंककर इस प्रयास में है कि किसी भी सूरत में केवी सिंह को टिकट न मिले। जानकार सूत्रों के अनुसार इधर इनेलो में पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के परिवार का कोई भी सदस्य डबवाली से चुनाव लडऩे में रूचि नहीं दिखा रहा। इनेलो भी चाहती है कि डॉ. केवी सिंह को टिकट न मिले, ताकि इनेलो का मुकाबला कांग्रेस के ऐसे प्रत्याशी से हो जिसकी डबवाली हल्का के लोगों से कोई विशेष जान-पहचान न हो। बताया जाता है कि पिछले दिनों जब अजय सिंह चौटाला के बेटे दुष्यंत सिंह चौटाला ने डबवाली नगर का दौरा किया तो कार्यकर्ताओं ने उन्हें दो टूक शब्दों में कहा कि डबवाली से चौटाला परिवार का ही कोई सदस्य चुनाव मैदान में उतारा जाये, ताकि यहां से जीत सुनिश्चित हो सकें। कार्यकर्ताओं ने अपनी इच्छा से अवगत करवाते हुए कहा कि डबवाली से ओमप्रकाश चौटाला स्वयं चुनाव लडें।