युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

15 सितंबर 2009

अपराधों के खिलाफ तीन राज्यों की पुलिस एकजुट

डबवाली (लहू की लौ) पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के सीमावर्ती जिलों में अपराध पर रोक लगाने, पुलिस का आपसी सहयोग तथा तालमेल बढ़ाने और हरियाणा में हो रहे विधानसभा चुनाव में अपराधी किसी वारदात को अंजाम न दे सकें। इन सब मुद्दों को लेकर डबवाली के थाना शहर में तीनों राज्यों की अन्तर जिला पुलिस बैठक का आयोजन किया गया। जिसकी अध्यक्षता डबवाली के डीएसपी बलवीर सिंह ने की। इस बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए डीएसपी डबवाली बलवीर सिंह ने बताया कि अन्तर जिला पुलिस अधिकारियों की इस बैठक में पुलिस के आपसी तालमेल सम्बन्धी कई मामले उठे और हरियाणा में हो रहे विधानसभा चुनाव में मद्देनजर शान्ति बनाये रखने के लिए जिला सिरसा के साथ लगते पंजाब एवं राजस्थान क्षेत्र के उन अपराधियों की सूची तैयार करना जो इन दिनों सक्रिय हैं या चुनाव के समय सक्रिय हो सकते हैं। उन्होंने यह भी बताया कि चुनाव में गड़बड़ी के लिए बदमाश साथ लगते पंजाब के बठिण्डा या फिर राजस्थान के संगरिया व हनुमानगढ़ के होटलों को अपने अड्डे न बना सकें, इसके लिए कुछ स्थानों को संदेह के घेरे में लिया गया है और वहां पर सम्बन्धित पुलिस निगह रखे और उनकी योजनाओं की जानकारी का आदान-प्रदान करे। इस मौके पर पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि अक्तसर चुनावों के दौरान पोस्त और शराब जैसे नशों की तस्करी बढ़ जाती है, इन पर लगाम कसने के लिए बैठक में विचार-विमर्श हुआ और साथ में यह भी चिन्हित किया गया कि तस्कर कहां से सामान लाते हैं और उसकी आपूर्ति करते हैं। बैठक के दौरान संगरिया के डीएसपी रामजी लाल चंदेल ने प्रश्न उठाया कि अवैध रूप से शराब बनती हरियाणा में है और बिकती राजस्थान में है। यह शराब मिलावटी होती है और इससे कोई भी बड़ा कांड हो सकता है। इसे भी रोका जाना चाहिए। बैठक का उद्देश्य बताते हुए डीएसपी बलवीर सिंह ने बताया कि सिपाही से लेकर थाना प्रभारी तक को अपराधियों और अपराधियों द्वारा अपराध करने के ढंग तथा साथ लगते जिलों के क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति का ज्ञान हो, इस सम्बन्धी बैठक में चर्चा की गई। उनके अनुसार बैठक में संवेदनशील क्षेत्रों की पहचान कर ली गई है और वहां पर नाके भी स्थापित किये जा रहे हैं। बैठक में पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के सीमावर्ती जिलों के पुलिस अधिकारियों के साथ अपराधिक मामलों के सम्बन्ध में सूचनाओं का आदान प्रदान करने के लिए गठित कोर्डिनेशन कमेटी के सदस्यों ने भी भाग लिया। इस कोर्डिनेशन कमेटी के तहत तीनों राज्यों के 11 जिले आते हैं। जिनमें हरियाणा के सिरसा, फतेहाबाद और हिसार, राजस्थान के हनुमानगढ़, गंगानगर, पंजाब के बठिण्डा, मानसा, मोगा, मुक्तसर, फिरोजपुर आदि जिले आते हैं। इस बैठक में पंजाब पुलिस के प्रतिनिधि के रूप में बठिण्डा के डीएसपी एच.एस. रंधावा, राजस्थान पुलिस के प्रतिनिधि के रूप में संगरिया के डीएसपी रामजी लाल चंदेल और हरियाणा पुलिस के प्रतिनिधि के रूप में डबवाली के डीएसपी बलवीर सिंह उपस्थित थे। इसके अतिरिक्त सीआईए सिरसा से इंस्पेक्टर किशोरी लाल, थाना शहर डबवाली के प्रभारी वीरेन्द्र सिंह, थाना सदर डबवाली के प्रभारी भगवान दास, डिंग, सिरसा, ऐलनाबाद, कालांवाली के थाना प्रभारी भी उपस्थित थे।

गरीब परिवारों को बादल ने दिये मुफ्त मकान

डबवाली (लहू की लौ) पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कहा कि राज्य सरकार पंजाब के विकास के लिए सिर तोड़ प्रयत्न कर रही है और केन्द्रीय सरकार से भी हर संभव सहायता लेने के लिए कोशिश कर रही हैं। वे सोमवार को गांव घग्घड़ में अनुसूचित जातियों और पिछड़े वर्गो के बेघर गरीब लोगों के लिए 7 एकड़ जमीन पर अम्बुजा सीमेंट फाऊंडैशन के सहयोग से निर्मित आधुनिक सुविधायुक्त गुरू नानक देव नगर के उद्घाटन के समय उपस्थित लोगो को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार भविष्य में भी अन्य गांवों में ऐसी कालोनियों का निर्माण करवायेगी। बादल ने कहा कि यह प्रौजेक्ट केवल पंजाब में ही नहीं भारत में पहला प्रौजैक्ट है जिस के अन्तर्गत गांव घग्घड़ में 129 गरीब परिवारों को आवश्यक सभी सुविधाओं वाले मकान बनाकर मुफ्त प्रदान किये गये हैं। मुख्यमंत्री के अनुसार इन 129 मकानों पर अम्बुजा सीमेंट ने लगभग 2 करोड़ 20 लाख रूपये खर्च किये हैं। जबकि गांव की पंचायत ने 7 एकड़ भूमि मुफ्त उपलब्ध करवाई है। पंजाब सरकार के मंडी बोर्ड, बिजली बोर्ड, वन विभाग, जल आपूर्ति और सेनिटेशन विभाग ने आवश्यक सुविधाओं का प्रबंध किया है। मकानों में शौचालयों का निर्माण सुलभ इंटरनेशनल द्वारा किया गया है। बादल ने कहा कि 108 वर्ग गज के प्रति मकान जिसकी कीमत कुल मिलाकर करीब 5 लाख रूपये बनती है, गरीबों को मुफ्त देना अपने आप में एक मिसाल है। उन्होंने कहा कि उन्हें खुशी है कि गरीबों की इस कलोनी में 9 पार्क, बिजली, पानी, सीवरेज, सेनिटेशन, सड़कें तथा हरियाली और छांव के लिए वृक्ष सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई हैं और ये कलोनी किसी भी शहरी व आधुनिक विकसित कलोनी से कम नहीं है। इस मौके पर अम्बुजा सीमेंट फाऊंडेशन के चेयरमैन सुरेश नयोटिया, पूर्व सांसद गुरदास सिंह बादल, विधायक गुरतेज सिंह, जिला प्रधान शिरोमणि अकालीदल मनजीत सिंह बरकंदी, इकबाल सिंह तरमाला, अवतार सिंह बनवाला, डॉ. ओमप्रकाश शर्मा के अतिरिक्त उपायुक्त रजत अग्रवाल, बठिण्डा के पुलिस अधीक्षक राहुल तिवारी, डीआईजी फिरोजपुर रेंज आर.पी. मित्तल, जिला पुलिस मुक्तसर के कप्तान गुरप्रीत सिंह, जिला पुलिस प्रमुख आशीष चौधरी उपस्थित थे।

कोच के घर से चोरों ने उड़ाये हजारों रूपये

डबवाली (लहू की लौ) यहां के बठिंडा रोड़ पर स्थित गली नं. 3 मेें एक कोच के घर पर दिन-दिहाड़े अज्ञात चोर हजारों रूपये की नकदी चुरा कर फरार हो गये। खेल स्टेडियम सिरसा में कार्यरत कोच सुखजीत सिंह ने बताया कि वह किसी कारणवश सोमवार को घर पर था और सुबह 10 बजे कुछ घरेलू सामान लेने के लिए बाजार में चला गया। जबकि उसकी अध्यापिका पत्नी स्कूल में पढ़ाने के लिए गई हुई थी। इसी दौरान जब वह आधे घंटे बाद घर वापिस लौटा तो उसने देखा कि बैडरूम का दरवाजे का कुंडा उखड़ा हुआ है और सामान बिखरा पड़ा है तथा अलमारी खुली हुई है। उसमें रखी 11,500 रूपये की नकदी गायब है। चोरों ने इस मौके पर रेफ्रीजरेटर में पड़े सेबों में से दो सेब भी निकाल कर खाये हुए थे। इससे अनुमान लगता है कि चोरों की संख्या दो हो सकती है। इसकी सूचना पाकर मौका पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण किया।

लाखों रूपये के गहने और नकदी चोरी

डबवाली (लहू की लौ) यहां की एकता नगरी में दिन-दिहाड़े अज्ञात चोर इनेलो नेता ओंकार मल गोयल के भाई पवन गोयल के घर का कुंडा तोड़कर और कमरे से अलमारी की चाबियां लेकर अलमारी में पड़े सोने के जेवरात आदि चुरा ले गये। बताया जाता है कि सोमवार सुबह सवा 8 बजे पवन गोयल गांव चैटाला में आ गये थे और उनकी पत्नी सुमन गोयल दोपहर को बाजार चली गई थी। शाम को जब करीब 5 बजे सुमन घर वापिस लौटी तो वह दरवाजे खुले और अलमारी से सामान आदि गायब देखकर वहीं बेहोष हो गई। इसकी जानकारी पाकर पड़ौसी मौका पर पहुंचे और उन्होंने इसकी सूचना गांव चैटाला में पवन गोयल को दी। वे मौका पर पहुंचे तो उन्होंने देखा कि घर का दरवाजा खुला हुआ है और कमरे के भीतर में पड़ी अलमारी से गहने गायब हैं और उनकी पत्नी बेहोष पड़ी है। पवन गोयल के अनुसार उनकी पत्नी की बेहोषी टूटने के बाद ही नुक्सान का पता चल पाएगा। लेकिन अनुमान है कि चोर लाखों रूपये के गहने व नकदी चुरा ले गये। इसकी सूचना पाकर थाना षहर प्रभारी वीरेन्द्र सिंह दल-बल के साथ मौका पर पहुंचे और उन्होंने घटना स्थल का निरीक्षण किया। नगर में सोमवार को घटित चोरी की दो और छीनाझपटी की एक घटना को लेकर जब थाना षहर प्रभारी वीरेन्द्र सिंह से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि पुलिस दोशियों को ढूंढ़ने के लिए प्रयासरत है और चारों तरफ नाकाबंदी कर दी गई है। इन घटनाओं की सूचना अन्य थानों को भी दे दी गई है।

जलने से बचा मीना बाजार

डबवाली (लहू की लौ) यहां के मीना बाजार में रात को करीब 11 बजे अचानक बिजली की तारों में स्पार्किंग होने से हड़कम्प मच गया। लेकिन मौका पर पहुंचे इलेक्ट्रिशियन कुंज बिहारी बांसल ने लोगों के सहयोग से मीना बाजार के ट्रांस्फार्मर का स्विच ऑफ करके एक बड़े हादसे को घटित होने से बचा लिया। मौका पर फायर ब्रिगेड भी पहुंच गई। मीना बाजार के दुकानदार बॉम्बे फैशन हाऊस के मालिक अनिल सिंगला ने बताया कि रात को अचानक लम्बे कट के बाद 8.30 बजे लाईट आई तो बिजली की तारों पर एकदम लोड बढ़ जाने से तारों में स्पार्क हुआ। उनके अनुसार उनकी दुकान की छत पर पड़े गत्ते को स्पार्क से आग लग गई और गत्ता सुलगने लगा। दुकान के पीछे स्थित मकान मालिक बृज महेन्द्रू के परिवार को इसकी जानकारी मिली और उन्होंने इसकी सूचना फायर ब्रिगेड को दी। आग की सूचना जैसे ही मीना बाजार के दुकानदारों को लगी तो दुकानदारों में हड़कम्प मच गया और वह मौका पर पहुंंच कर अपनी दुकानें संभालने लगे। विशेषकर उल्लेखनीय है कि यह घटना उस समय घटित हुई जब दुकानदार अपनी दुकानें बन्द करके घरों में जा चुके थे।

अध्यापिका का पर्स छीनकर मोटरसाईकिल सवार फरार

डबवाली (लहू की लौ) यहां के न्यू बस स्टैंड रोड़ पर दोपहर को रिक्शा पर जा रही दो महिलाओं से अज्ञात मोटरसाईकिल सवार पर्स छीन कर फ रार हो गये। पंजाब के गांव फतूहीवाला के सरकारी प्राईमरी स्कूल में कार्यरत अध्यापिका सुखपाल कौर पत्नी बलजीत सिंह निवासी वार्ड नं. 1, डबवाली ने बताया कि वह स्कूल की मुख्य शिक्षिका मनप्रीत कौर के आदेश पर डबवाली की अमृतसरियों की हट्टी पर स्कूली बच्चों की वर्दियों के लिए कपड़े खरीदने के लिए आई थी और उसके साथ गांव फतूहीवाला से एक महिला अमर कौर पत्नी पठानी सिंह भी थी। वह दोनों ही बस अड्डा से रिक्शा पर न्यू बस स्टैंड की ओर आई थीं कि इस रोड़ पर पहुंंचते ही अचानक पीछे से आये दो मोटरसाईकिल सवारों ने झपटा मारा और उसकी गोद में रखा पर्स उड़ा ले गये। पीडि़ता के अनुसार 15 हजार रूपये की नकदी और एक मोबाइल था जिसकी कीमत 13 हजार रूपये थी। इसकी सूचना पुलिस को दे दी है।

हत्या प्रकरण में नया मोड़

औढ़ां (जितेन्द्र गर्ग) खंड के गांव चोरमार में एक कलयुगी मां द्वारा अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने युवा पुत्र की हत्या करने के मामले ने एक नया मोड ले लिया है क्योंकि सुक्खा सिंह की हत्या करने में उसका सगा भाई जसमीत सिंह भी शामिल था। यह जानकारी देते हुए थाना प्रभारी हीरा सिंह ने बताया कि हत्यारिन मां मलकीत कौर व उसके प्रेमी चरणजीत ने अपना अपराध स्वीकार करने के साथ साथ यह भी बताया कि सुक्खा सिंह को मारने के लिए घास को नष्ट करने वाली स्प्रे जसमीत सिंह लाया था और वो भी इस साजिश में शामिल था। थाना प्रभारी ने बताया कि इन तीनों अभियुक्तों ने बैठकर योजना बनाई कि सुक्खा सिंह को रास्ते से कैसे हटाया जाए और जसमीत सिंह ने सुझाव दिया कि शराब में स्प्रे मिलाकर देने से उसे मारा जा सकता है। योजना के अनुसार शुक्रवार की रात को उन लोगों ने सुक्खा सिंह को शराब में स्प्रे मिलाकर पिला दी लेकिन फिर भी उसके प्राण न निकले तो जसमीत सिंह ने उसकी टांगे पकड़ी और मां ने हाथ तथा चरणजीत ने उसका गला घोंट दिया। ओढ़ां पुलिस ने आज जसमीत सिंह को गिरफ्तार कर लिया और मलकीत कौर व चरणजीत को डबवाली की अदालत में पेश करके पूछताछ के लिए एक दिन के रिमांड पर ले लिया है।