युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

08 जनवरी 2011

महिला खेलकूद : रूकमा ने जीती मटका दौड़

डबवाली (लहू की लौ) डबवाली के दलबीर ङ्क्षसह खेल स्टेडियम में शुक्रवार को बाल विकास विभाग की ओर से एक दिवसीय खण्ड स्तरीय महिला खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमे 200 महिलाओं ने भाग लिया।
18 से 30 वर्ष आयु वर्ग की 400 मीटर दौड़ में रेणू पुत्री ओमप्रकाश लखुआना प्रथम, नीतू पुत्री मदन लाल राजपुरा माजरा द्वितीय रही जबकि कमलदीप पुत्री हरि सिंह अबूबशहर ने तृतीय स्थान पाया। 5 किलोमीटर साईकिल रेस में सुलोचना पुत्री रामकुमार गोरीवाला प्रथम, कर्मजीत कौर पुत्री ठाकुर सिंह देसूजोधा द्वितीय, अनिता रानी पुत्री सुखदेव सिंह गांव डबवाली ने तृतीय स्थान पाया। 300 मीटर दौड़ में गगनदीप पुत्री गुरतेज सिंह निलियांवाली प्रथम, सुमन पुत्री जीत राम मटदादू द्वितीय, निर्मला पुत्री गुरदेव सिंह अबूबशहर तृतीय रही। 30 वर्ष से अधिक आयु वर्ग की 100 मीटर दौड़ में शिमला पत्नी जसवीर सिंह गोदीकां प्रथम, बाला रानी पत्नी इन्द्रपाल मटदादू द्वितीय, रचना पत्नी कमलजीत लखुआना ने तृतीय स्थान पाया। मटका दौड़ में रूकमा पत्नी पिरथी सिंह अबूबशहर प्रथम, सुखप्रीत कौर पत्नी जगसीर सिंह अलीकां द्वितीय, सरस्वती पत्नी भाला राम चौटाला तृतीय स्थान पर रही। आलू-चम्मच दौड़ में कैलाश पत्नी कपूर सिंह चौटाला प्रथम, जसप्रीत पत्नी राजा सिंह गंगा द्वितीय, सुनीता पत्नी सुखबीर सिंह गोदीकां तृतीय स्थान पर रही। उपरोक्त प्रतियोगिताएं दीदार सिंह कोच तथा खालसा सीनियर सैकेंडरी स्कूल के पीटीआई राजन, हरप्रीत, गुरप्रीत की देखरेख में करवाई गई। मेधावी महिलाओं को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। डबवाली खण्ड बाल विकास अधिकारी डॉ. दर्शना सिंह ने कहा कि खेलों से मनोरंजन के साथ-साथ मानसिक व शारीरिक विकास भी होता है।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ. सुखवन्त सिंह ने कहा कि इस प्रकार के कार्यक्रमों से ग्रामीण महिलाओं को आगे आने का मौका मिलता है और मंच पर अपनी प्रतिभा को निखारने का अवसर। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के कार्यक्रम समय-समय पर होते रहने चाहिएं ताकि ग्रामीण महिलाओं को भी लगे कि उनका भी समाज में कोई अस्तित्व है।

पत्थरों में से बरामद हुए 1 लाख 67 हजार

सिरसा। शहर थाना पुलिस ने हस्ताक्षरयुक्त खाली चैक चुराकर बैंक से दो लाख रूपए निकलवाने मामले में एक आरोपी को काबू किया है। पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर  रेलवे कालोनी क्षेत्र से 1 लाख 67 हजार रूपए बरामद कर लिए है।
यह जानकारी देते हुए शहर थाना पुलिस के सहायक उपनिरीक्षक एवं जांच अधिकारी बच्चू सिंह ने बताया कि हाउसिंग एलआईसी एजेंट विजय कुमार पुत्र रामगोपाल गांधी कालोनी निवासी ने बीते दिवस शहर थाना में शिकायत दर्ज करवाई थी कि उसकी पत्नी स्नेहलता के नाम से राजस्थान बैंक में खाता है। उसने बताया कि घर में स्नेहलता के हस्ताक्षर युक्त खाली चैक रखे हुए थे। शिकायतकर्ता ने बताया कि घर में काम करने वाले नौकर फिरोज वर्मा पुत्र विश्वानाथ निवासी हाउस न.280, एमसी कालोनी सिरसा ने हस्ताक्षरयुक्त चैक चुरा लिया। इसके पश्चात आरोपी ने उक्त चैक पर दो लाख रूपए की राशि भरकर बैंक से निकलवा ली। शिकायतकर्ता ने बताया कि आरोपी ने एक हजार रूपए वापिस खाते में जमा करवा दिए तथा 1 लाख 99 हजार रूपए लेकर चंपत हो गया।
इस मामले में विजय कुमार की शिकायत पर त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी फिरोज वर्मा को सिरसा के बस स्टैंड क्षेत्र से उस समय काबू कर लिया जब वह भागने की फिराक था। पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर रेलवे कालोनी क्षेत्र से पत्थरों के नीचे छुपाकर रखे गए 1 लाख 67 हजार रूपए बरामद कर लिए।

मुख्तियार सिंह नंबरदार वरिष्ठ उपप्रधान बने

डबवाली (लहू की लौ) इनेलो के बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ हल्का डबवाली के अध्यक्ष साहब राम बिश्नोई ने अपनी नवगठित कार्यकारिणी घोषित की है।
यह जानकारी देते हुए पार्टी के हल्का डबवाली प्रैस प्रवक्ता लवली मैहता, कार्यालय प्रभारी महेन्द्र डुडी तथा टेकचंद छाबड़ा ने संयुक्त रूप से बताया कि मुख्तियार नंबरदार घुकांवाली वरिष्ठ उपप्रधान, दरियाई लाल मैहता खुईयांमलकाना प्रधान महासचिव, श्योकरण थापन जण्डवाला बिश्नोईयां, रणवीर भादू कालूआना, रामस्वरूप शर्मा टप्पी, रामकिशन मैहता बिज्जूवाली, राज सिंह अलीकां, मोहन लाल सहू रिसालियाखेड़ा, रूपराम रोहिल लखुआना को उपप्रधान तथा छोटू राम जलंधरा आसाखेड़ा, देवकरण डुडी बनवाला, किशोरी लाल बिश्नोई गंगा, भजन लाल खिचड़ सकताखेड़ा, दयाला राम पूनियां अहमदपुर दारेवाला, बलदेव नंबरदार किंगरे, भजन लाल सहारण नुहियांवाली को महासचिव नियुक्त किया गया है।
इसके साथ राजेन्द्र बेरड मुन्नांवाली, जगजीत सिंह मांगेआना, हंसराज भादू अबूबशहर, प्रेम सिहाग चौटाला, सुरेन्द्र पूर्व सरपंच जण्डवाला बिश्नोईयां, सुखदर्शन सिंह औढ़ां को सचिव तथा रामस्वरूप सरपंच सुकेराखेड़ा, नछत्तर सिंह पन्नीवाला मोरिकां, निरंजन सिंह माखा, ओमप्रकाश पंच लखुआना, सज्जन गोदारा ढाणी सिक्खा, लोकनाथ नंबरदार मोडी, लक्ष्मण सिंह नौरंग को सह सचिव नियुक्त किया गया है।
इसी तरह ओमप्रकाश तरड़ गंगा को संगठन सचिव, कुलदीप शर्मा पिपली को प्रचार सचिव, प्रहलाद सहारण चौटाला को कोषाध्यक्ष चुना गया। जबकि जयराम प्रजापत गांव डबवाली, सूरजाराम भांभू मलिकपुरा, देवीलाल बिरट बिज्जूवाली, राजू सेरडिया चक फरीदपुर, हरमंदर सिंह फुल्लो, जवाहर मैहता लंबी, विजय जाखड़ भारूखेड़ा को कार्यकारिणी सदस्य नियुक्त किया है। उधर सुरेन्द्र सिंह हल्का प्रधान अल्पसंख्यक डबवाली ने परमजीत सिंह माखा, नसीब सिंह नौरंग को सह सचिव नियुक्त किया है।

चोरी करके सामान लेजाते रंगे हाथों काबू

डबवाली (लहू की लौ) यहां के न्यू बस स्टैंड रोड़ के पहरेदार ने एक युवक को चोरी करके सामान ले जाते रंगे हाथों काबू कर लिया। मौका पर पहुंचे दुकानदारों ने उसकी अच्छी खातिरदारी की।
पहरेदार जग्गा सिंह ने बताया कि वह न्यू बस स्टैंड रोड़ पर पहरे पर था और उसने देखा कि एक नशेड़ी युवक टावर वाली गली से निकल कर आ रहा है और उसके पास एक प्लास्टिक का गट्टा भी है। उस युवक को रोका तो उसने कहा कि वह तो वैसे ही घूम रहा है। लेकिन जब उसकी तालाशी ली गई तो उसके पास काफी सामान था। उसने इसकी सूचना आसपास के दुकानदारों को दे दी।
पकड़े गये युवक की जब अच्छी खातिरदारी की गई तो उसने अपना नाम अरूण कुमार निवासी एकता नगरी बताते हुए कहा कि उसने न्यू बस स्टेंड रोड़ पर स्थित बन्द गली से सीवरेज के ढक्कन व टावर वाली गली में खड़े थ्री व्हीलरों में सामान चुराया है। अरूण के पास से तीन थ्री व्हीलर के टूल सैट मिले जो उसने मुकेश और राजकुमार के थ्री व्हीलरों से चुराये थे। इसके अलावा मुन्ना पतंग वाले के चुराये तीन सीवरेज हौज ढक्कन बरामद हुए।

शिवराज सिंह सरपंच यूनियन के अध्यक्ष बने

डबवाली (लहू की लौ) ब्लाक डबवाली के विभिन्न गांवों के सरपंचों की एक बैठक स्टेडियम में संपन्न हुई। जिसमें सर्वसम्मति से गांव मसीतां के सरपंच शिवराज सिंह को सरपंच यूनियन का प्रधान चुना गया।
इस मौके पर ब्लाक डबवाली के 48 गांवों में से 31 गांवों के सरपंच एवं सरपंच प्रतिनिधि उपस्थित हुए। जिनमें सतिन्द्र कुमार जूतांवाली, हंसराज दीवानखेड़ा, जग सिंह फुल्लो, ओमप्रकाश लम्बी, हरचरण सिंह गिदडख़ेड़ा, जगदीप सिंह पन्नीवाला मोरिकां, सुरजीत सिंह देसूजोधा, शिवराज सिंह मसीतां, हरबंस सिंह जोगेवाला, रामसरूप सुकेराखेड़ा, गुरादित्ता सिंह गंगा, रामकुमार मुन्नांवाली, राजा राम बिज्जूवाली, भरत सिंह बनवाला, देवीलाल चकजालू, जगजीत सिंह गांव डबवाली, जगसीर सिंह मांगेआना, दलवीर सिंह हैबूआना, सुरजीत सिंह पाना, ओमप्रकाश मौजगढ़, गुरदीप कौर रामपुरा बिश्नोईयां, रामेश्वरी रामगढ़, लालचन्द राजपुरा माजरा, अमानती देवी अबूबशहर, सुखदेव सिंह खुईयांमलकाना, कश्मीर सिंह मोढ़ी, सहजिन्द्र सिंह रामपुरा, मानक चन्द रत्ताखेड़ा, बलविंद्र सिंह अहमदपुर दारेवाला, रामजी लाल लखुआना, बलकरण सिंह मटदादू शामिल थे।
सरपंच यूनियन के सर्वसम्मति से नवनिर्वाचित प्रधान शिवराज सिंह को सभी उपस्थित सरपंचों ने अन्य पदाधिकारी बनाने के अधिकार भी सौंपे। इस अवसर पर जूतांवाली के सरपंच सतिन्द्र सिंह को यूनियन का सचिव मनोनित किया गया।
इस मौके पर पांच सदस्यीय कार्यकारिणी का गठन भी किया गया। जिसमें हंसराज दीवानखेड़ा, जग सिंह फुल्लो, हरचरण सिंह गिदडख़ेड़ा, जगरूप सिंह सकताखेड़ा, बलकरण सिंह मटदादू के नाम शामिल हैं। सरपंच यूनियन के प्रधान शिवराज सिंह ने बताया कि कार्यकारिणी का शीघ्र ही विस्तार किया जाएगा और उनकी प्राथमिकता गांवों के पंच और सरपंच का सम्मान बढ़ाना होगा। अगर कोई अधिकारी अनावश्यक रूप से किसी पंचायत प्रतिनिधि को परेशान करेगा तो उसके खिलाफ संयुक्त रूप से संघर्ष किया जाएगा।

कार्य करो, वरना दर्ज होगा मामला-एसडीएम

डबवाली (लहू की लौ) उपमण्डलाधीश डॉ. मुनीश नागपाल ने जनगणना के कार्य में लगे प्रगणकों से अपील की है कि वे आगामी 9 से 28 फरवरी तक चलने वाले जनगणना के दूसरे दौर में अपने अंतर्गत आने वाले क्षेत्रों में शत प्रतिशत जनगणना का कार्य संपन्न करें। डबवाली उपमंडल में 529 प्रगणकों व सुपरवाईजरों की डयूटी लगाई गई है।
उन्होंने बताया कि जनगणना के कार्य के लिए सभी प्रगणकों को प्रशिक्षण देने का कार्य शुरू किया गया है जो आगामी 5 फरवरी तक पूरा किया जाएगा। जनगणना के लिए हाउस लिस्टिंग का कार्य प्रथम चरण में पूरा किया जा चुका है। इसी सूची के आधार पर प्रगणक प्रत्येक घर में जाकर परिवार अनुसूची  का फार्म भरे। उन्होंने बताया कि प्रगणकों अद्र्धसैनिक बलों और पुलिस बलों के क्षेत्रों को भी जनगणना के लिए कवर करेंगे। इसके साथ-साथ रेलवे, बिजली बोर्ड, रिफाइनरी कॉलोनी, विश्वविद्यालय, एजूकेशनल रिसर्चिंग इंस्टीट्यूट जो पब्लिक व प्राइवेट सैक्टर के अंतर्गत आते है, के परिसरों को भी कवर किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि शहरी क्षेत्रों में प्रगणक सभी अधिकृत व अनाधिकृत कलोनियों को जनगणना के लिए कवर करेंगे। कई बार अनाधिकृत कलोनियों को गिरा दिया जाता है, फिर भी इन कलोनियों में जनसंख्या होने की संभावना बनी रहती है। इस स्थिति में प्रगणकों को चाहिए कि वे कॉलोनियों में जाकर जनगणना का कार्य सुचारु रुप से करे। उन्होंने बताया कि प्रवासी जन जो मौसम की वजह से या अन्य किसी प्रकार का कार्य करने की वजह से क्षेत्र में आते है, उनकी कार्य साईट पर जाकर या उनके रिहायशी स्थानों पर जाकर उनकी जनगणना का कार्य शत् प्रतिशत करे।  इसके साथ-साथ प्रगणक होटल, धर्मशाला, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड परिसरों में भी जाकर जनगणना के लिए उन्हें कवर करने का विशेष प्रयास करे।
उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण शिविरों में कोई प्रगणक एवं सुपरवाईजर अनुपस्थित न रहे। यदि कोई प्रगणक या सुपरवाईजर अनुपस्थित रहेगा तो उनके खिलाफ प्रभावी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी और उनके खिलाफ अपराधिक मामला दर्ज किया जाएगा। उन्होंने कहा कि दूसरे दौर की जनगणना के इस कार्यक्रम में प्रगणकों को जनगणना अनुसूची का फार्म दिया जाएगा। जो वे 9 फरवरी से 28 फरवरी तक घर-घर जाकर फार्म को भरेंगे। इस फार्म में कुल 29 बिंदु दिए गए है, जिनमें परिवार व परिवार के व्यवसाय से संबंधित सभी तरह की जानकारी दर्शाई जाएगी।
उन्होंने प्रगणकों से कहा कि वे बिना किसी व्यक्ति को छोड़े अथवा बिना दोहराव के सभी भवनों, जनगणना मकानों, परिवारों और उनमें रहने वाले व्यक्तियों को शत् प्रतिशत कवर करे। उन्होंने कहा कि 28 फरवरी 2011 की रात्रि को बेघर जनसंख्या की गणना की जाएगी। इसके बाद 1 मार्च से 5 मार्च तक जनगणना का रिवीजन राउंड होगा जिसमें इस अवधि के दौरान नए जन्में बच्चों को सम्मिलत किया जाएगा और मृत्यु को प्राप्त हुए व्यक्तियों के नामों को निकाला जाएगा।

सिलेंडर में आग

डबवाली (लहू की लौ) श्री दुर्गा मंदिर के समीप रह रहे आर्किटेकट हरिप्रकाश शर्मा के निवास पर गैस सिलेण्डर बदलते समय अचानक आग भड़क जाने से शर्मा का परिवार बाल-बाल बच गया। सिलेण्डर में गैस के साथ मिट्टी का तेल मिले होने की बात कही जा रही है। आर्किटेकट हरिप्रकाश शर्मा ने बताया कि शुक्रवार को उसकी पत्नी दिव्या घर की रसोई में खाना बना रही थी। अचानक सिलेण्डर खत्म हो गया। शर्मा के अनुसार उसने अपने असिस्टेंट भूपिन्द्र कुमार को साथ लेकर भारत गैस कंपनी का भरा सिलेण्डर लगा दिया। जब रेगुलेटर को ऑन किया तो अचानक आग धधक गई। इसी दौरान गैस सिलेण्डर में से निकला मिट्टी का तेल उसके चेहरे व कपड़ों पर पड़ गया। उन्होंने बड़ी मुश्किल से आग पर काबू पाया।
खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के निरीक्षक अरविंद पूनियां ने बताया कि उन्होंने शिकायत मिलने पर मौका पर जाकर सिलेण्डर की चैकिंग की। सिलेण्डर सही पाया गया है। सिलेण्डर में मिट्टी तेल नहीं है। कई बार गैस ठोस रूप ले लेती है।

ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स में आग, लाखों का नुक्सान


डबवाली (लहू की लौ) ओरियन्टल बैंक ऑफ कॉमर्स में शुक्रवार अल सुबह अचानक आग लग गई। आग से लाखों रूपए के बिजली उपकरण जलकर राख हो गए। आग लगने का कारण शार्ट सर्किट माना जा रहा है। अग्निश्मक दस्तों ने करीब दो घंटे के कड़े संघर्ष के बाद आग पर काबू पाया।
यूं लगा पता
बैंक के बाहर स्थित एटीएम के गार्ड कमलेश ने सुबह करीब 4 बजे बैंक के भीतर धुआं उठता देखा। उसने इसकी सूचना तुरंत फायर ब्रिगेड को दी। सूचना पाकर मौका पर फायर ब्रिगेड के एफएसओ हरमिंद्र सिंह, लिडिंग फायरमैन श्याम सुंदर, चालक रामप्रताप, फायरमैन विक्रम दास तथा नन्द राम पहुंचे।
शोरूम के शीशे तोड़ आग पर पाया काबू
बैंक के भीतर से धुंआ उठ रहा था। फायर ब्रिगेड कर्मचारी भी धुएं और घुटन के चलते भीतर जाने में मुश्किल अनुभव कर रहे थे। आग कहां लगी है, इसका पता नहीं चल पा रहा था।  करीब आधा घण्टा तक यह मालूम नहीं हो पाया कि आग बैंक के किस हिस्से में लगी है। फायर ऑफिसर हरमिंद्र सिंह के अनुसार आधा घंटा बाद बैंक के पीछे स्थित वोडाफोन के शोरूम के शीशे तोड़कर आग का पता लगाया गया और वहां से पानी फेंककर आग पर काबू पाने का प्रयास शुरू हुआ। मौका पर पहुंची नगरपालिका की दोनों फायर ब्रिगेड ने करीब ढ़ाई घण्टे के कड़े संघर्ष के बाद आग पर काबू पाया।
पांच लाख का नुक्सान
सूचना पाकर मौका पर पहुंचे बैंक के शाखा प्रबंधक प्रेम भूषण गर्ग ने बताया कि आग लगने का कारण शार्ट-सर्किट हो सकता है। उनके अनुसार आग से एटीएम का पांच किलोवाट का यूपीएस, एक अन्य तीन किलोवाट का यूपीएस, यूपीएस की बैटरियां, इसी रूम में पड़ी बैंक की स्टेशनरी, बैंक में लगे चार एसी तथा अन्य इलेक्ट्रोनिक सामान जलकर राख हो गया। करीब पांच लाख रूपए का नुक्सान हुआ है। लेकिन स्ट्रॉंग रूम बाल-बाल बच गया। उन्होंने बताया कि इस आग के कारण हाल ही में करवाई गई पीओपी भी नष्ट हो गई। आग से छत को भी नुक्सान पहुंचा।
यूपीएस रहते हैं ऑन
बैंक के मैनेजर प्रेम भूषण गर्ग के अनुसार बैंक के स्टेशनरी रूम में दो यूपीएस लगे हुए हैं। जिनमें से पांच किलोवाट का यूपीएस एटीएम तथा तीन किलोवाट का यूपीएस बैंक के कार्य के लिए लगा हुआ है। ये दोनों यूपीएस हमेशा ऑन रहते हैं। इन्हीं में से किसी में शार्ट सर्किट हुआ होगा, जो आग लगने का कारण बना।
भवन मालिक केके सेठी के अनुसार अगर समय रहते आग पर काबू न पाया जाता तो उनके ऊपर स्थित निवास को भी नुक्सान पहुंचता। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस भी फोन करने के ढाई घण्टे के बाद घटनास्थल पर पहुंची। जबकि उपमण्डलाधीश को फोन किए जाने के बावजूद भी प्रशासनिक अधिकारी मौका पर नहीं पहुंचे और न ही उन्होंने उनका फोन रिसीव किया।
कोई केजूअलटी नहीं हुई
ढाई घण्टे विलम्ब से पहुंचे थाना शहर प्रभारी बलवंत जस्सू से जब केके सेठी ने कहा कि वह कई बार थाना में फोन कर चुका है। लेकिन किसी ने उठाया नहीं। अगर उठाया तो पहुंचा नहीं। इसके जवाब में थाना शहर प्रभारी ने बताया कि वह बाहर गश्त पर थे। उन्हें जैसे ही आग की सूचना मिली, वे मौका पर पहुंच गए। उन्होंने कहा कि भगवान का शुक्र है कि कोई केजूअलटी नहीं हुई।
आग से पुराना नाता
ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स का आग से पुराना नाता है। बैंक में पिछले साल की 3 जुलाई को भी अचानक आग लग गई थी। उस समय इलेक्ट्रोनिक रूम में लगा बिजली का मीटर जलकर राख हो गया था। आग का कारण शार्ट सर्किट ही माना गया था।