युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

24 अगस्त 2010

नशा देकर पशु व्यापारियों को लूटा

डबवाली (लहू की लौ) दिल्ली से डबवाली आ रहे तीन पशु व्यापारियों को कुछ लोगों ने मार्ग में लूट लिया। बेहोशी की हालत में पशु व्यापारी डबवाली के गोल चौक के पास मिले। जिन्हें इलाज के लिए सरकारी अस्पताल में लेजाया गया।
डबवाली से सटी पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के विधानसभा हल्का की मण्डी किलियांवाली में हर रविवार को पशु मेला भरता है। दूर-दराज से लोग यहां पशु खरीदने के लिए आते हैं। इसी मेले से पशु खरीदने के लिए शनिवार रात्रि करीब 10 बजे उत्तर प्रदेश के जिला बुलंदशहर के कस्बा औरंगाबाद के तीन पशु व्यापारी दिल्ली के अन्तर्राष्ट्रीय बस अड्डा से हरियाणा रोड़वेज की बस में सवार हुए। तीनों के पास हजारों रूपए की नकदी थी। लेकिन तीनों को ही बीच रास्ते में लूट लिया गया। बस रविवार सुबह करीब 4.40 बजे डबवाली के गोल चौक पर पहुंची। बेहोशी की हालत में इन पशु व्यापारियों को बस के परिचालक ने डबवाली के गोल चौक पर उतार दिया। तीनों को उपचार के लिए डबवाली के सरकारी अस्पताल में लेजाया गया। रविवार दोपहर बाद करीब दो बजे पशु व्यापारियों में से दो को होश आया। तब जाकर उन्होंने अपनी पहचान बताई। पत्रकारों से बातचीत करते हुए ईशाक (35) पुत्र नजीर अहमद निवासी औरंगाबाद जिला बुलंदशहर (उत्तर प्रदेश) ने बताया कि वह अपने बड़े भाई इश्फाक (37)  निवासी औरंगाबाद जिला बुलंदशहर (उत्तर प्रदेश) तथा औरंगाबाद निवासी फिरोज  (36) पुत्र अल्लाह मेहर के साथ शनिवार रात करीब 10 बजे डबवाली के लिए हरियाणा रोड़वेज की बस में सवार हुआ था। उन लोगों ने डबवाली के साथ लगती मण्डी किलियांवाली में भरने वाले पशु मेले में से पशु खरीदने थे। उसी समय बस में तीन अन्य व्यक्ति भी सवार हुए। जो अपने आपको मेरठ और मुजफ्फरनगर के निवासी बताते थे। ईशाक ने आगे बताया कि बस में बैठने के करीब दो-तीन घंटे बाद बस एक ढाबा पर रूकी। उनके साथ बैठे तीनों व्यक्तियों में से एक ने उन्हें चाय पीने के लिए कहा। दबाव देने पर वे चाय पीने के लिए मान गए और साथ में खाने के लिए बिस्कुट भी दिए। जोकि कड़वे थे। बिस्कुट खाते ही उन्हें चक्कर आने लगे और वे बेहोश हो गए। उसके बाद उन्हें नहीं मालूम उनके साथ क्या हुआ। होश में आने के बाद जब उन्होंने अपनी जेबें टटोली तो उसमें रखी राशि गायब थी। तीनों पशु व्यापारियों ने नकदी को अपनी-अपनी पेंट की अंदरूनी जेब में छिपा रखा था। फिरोज के पास 42 हजार, ईशाक के पास 35 हजार तथा इश्फाक के पास 45 हजार रूपए की नकदी थी। लुटेरे अपने साथ फिरोज और ईशाक को मोबाइल सैट भी ले गए। इधर उक्त बस के परिचालक धमेंद्र ने बताया कि दिल्ली से सवार होते समय इन लोगों की संख्या छह थी। इनमें से एक ने डबवाली के लिए छह टिकट लिए थे। ये सभी 47 से 52 नं. सीट पर बैठे हुए थे। बस में भीड़ अधिक थी। डबवाली में उसे आकर मालूम हुआ कि तीन लोग बेहोश पड़े हैं। जबकि इनके साथ सफर करने वाले तीन जनें गायब थे। थाना शहर प्रभारी विक्रम नेहरा ने बताया कि पशु व्यापारियों के ब्यान कलमबद्ध करने के बाद घटना स्थल का पता चलेगा, उसी के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी।

सुखबीर बादल ने युवाओं को नशे की दलदल में धकेला-बिट्टू

बठिंडा (सिंगला/शर्मा) अकाली-भाजपा सरकार हर बार पैसे की दुहाई देते हुए कहती है कि केन्द्र सरकार मदद नहीं कर रही जबकि केन्द्र सरकार से सबसे ज्यादा पैसा प्रकाश सिंह बादल लेकर आये हैं। बादल विकास कार्य न होने के लिए जिम्मेवार केन्द्र सरकार को ठहरा कर स्वयं बचने की कोशिश करते हैं।
उपरोक्त शब्द यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद रवनीत बिट्टू तथा आल इंडिया कांग्रेस कमेटी के महासचिव व पंजाब प्रभारी विकास उपाध्याय ने यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहे। उन्होंने कहा कि पंजाब के उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने युवाओं से झूठे वायदे करके युवा वर्ग को नशे की दलदल में धकेल दिया है। रोजगार से रोजगार छीन कर उसे बेरोजगार बना दिया है। जमीनों पर कब्जे किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सबसे पहले यूथ कांग्रेस नशे में फंसी नौजवान पीढ़ी को नशे से बाहर निकालने का काम करेगा।
विकास उपाध्याय ने कहा कि यूथ कांग्रेस एक शक्तिशाली संगठन है जो हर अत्याचारी से लडऩे की ताकत रखता है। उन्होंने कहा कि अगर नशे का कहर इसी प्रकार जारी रहा तो पंजाब की जवानी ही समाप्त हो जायेगी। इस मौके पर आशू ठाकुर, कोमल सरीन, लक्खा सिंह, रघुवीर सिंह, रूपिन्द्र बिन्द्रा व अन्य जिलों के युवा कांग्रेस नेता भी मौजूद थे।