युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

07 दिसंबर 2014

सवालों के जवाब न देने पर बेटी पर बरसे डंडे

गांव गंगा की प्राथमिक पाठशाला में जेबीटी प्रशिक्षु ने की हरकत

डबवाली(लहू की लौ) गांव गंगा की राजकीय कन्या प्राथमिक पाठशाला में एक जेबीटी प्रशिक्षु ने गणित के सवाल हल न करने पर बालिकाओं पर डंडे बरसा दिये। एक बच्ची को बारह डंडे खाने पड़े। जिससे उसके बांयें हाथ का अंगूठा बुरी तरह से चोटिल हुआ है। शनिवार को उपचार के लिये उसे डबवाली के सरकारी अस्पताल में लेजाया गया।
चौथी कक्षा में पढऩे वाली 12 वर्षीय सोमा ने बताया कि शुक्रवार को गणित अध्यापक अमन ने भाग के पांच सवाल हल करने के लिये दिये थे। उसके पांचों सवाल गलत थे। जिस पर मास्टर जी को गुस्सा आ गया। उन्होंने उसके हाथों पर जोर-जोर से 12 डंडे लगाये। कक्षा में अन्य बच्चों को भी डंडों से बुरी तरह से पीटा। जिसके बाद से उसके बाएं हाथ के अंगूठे में दर्द हो रहा है। अंगूठा में सोजिश आ गई है। छात्रा के अनुसार अध्यापक उन्हें हिंदी विषय भी पढ़ाते हैं। वीरवार को हिंदी के प्रश्नों का गलत उत्तर देने पर उसके दो डंडे मारे थे।
स्कूल में छुट्टी के बाद शुक्रवार शाम को सोमा घर लौटकर रोने लगी। उसने अपनी मां बाईली देवी को उपरोक्त बात बताते हुये हाथ पर लगी चोट दिखाई। मार्ग में मिले अमन को देखकर बाईली देवी उससे भिड़ गई। अमन ने जैसे ही सुबह उपचार करवाने की बात कही तो मां को गुस्सा आ गया। आनन-फानन में अमन सोमा को लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गोरीवाला में पहुंचा। मरहम पट्टी करवाने के बाद सोमा को वापिस घर छोड़ दिया।
सोमा के पिता शंकर लाल ने बताया कि उसकी बेटी के अंगूठे में सोजिश आई हुई है। शनिवार को सोजिश ज्यादा बढ़ गई। अमन उनके गांव में रहता है। सुबह करीब साढ़े 6 बजे वह अपने किये पर माफी मांगने के लिये उनके घर पहुंचा गया। हाथ जोड़कर माफी मांगने लगा। जब उन्होंने सोमा का हाथ दिखाया तो मौका से भाग खड़ा हुआ।

हाथ पर है गंभीर चोट, एक्सरे करवाएंगे
बच्ची के हाथ पर गंभीर चोट है। अंगूठे में सोजिश है। फ्रेक्चर का पता करने के लिये सोमवार को एक्स-रे करवाया जायेगा।
-बलेश बांसल, चिकित्सक सिविल अस्तपाल, डबवाली

मैंने समझाया था, लेकिन नहीं माना
सितंबर माह में छह जेबीटी प्रशिक्षुओं ने पाठशाला में ज्वाईन किया है। पढऩे में कमजोर बच्चों का जिम्मा इन प्रशिक्षुओं को दिया गया है। जिम्मा सौंपते समय प्रशिक्षुओं को बच्चों को पीटने के संबंध में मना किया गया था। लेकिन उन्होंने बात नहीं मानी। बच्चों को पीटना गलत है। संबंधित प्रशिक्षु अमन पर कार्रवाई की जायेगी।
-राजविंद्र कौर, इंचार्ज
राजकीय कन्या प्राथमिक पाठशाला, गंगा

मामले की जांच करेंगे
स्कूलों में बच्चों को पीटने में सख्त मनाही है। जेबीटी प्रशिक्षु ने जो किया वो सरासर गलत है। मामले की जांच की जायेगी। जिसके बाद आगामी कार्रवाई की जायेगी।
-संत कुमार बिश्नोई, बीईओ, डबवाली

शिकायत आते ही करेंगे कार्रवाई
फिलहाल शिकायत नहीं आई है। शिकायत आते ही आगामी कार्रवाई अमल में लाई जायेगी।
-भाना राम, प्रभारी पुलिस चौकी, गोरीवाला

सिग्नल सिस्टम से जुड़ा कलोनी रोड़ रेलवे फाटक

डबवाली (लहू की लौ) करीब साढ़े पांच माह से आधुनिक होने की इंतजार में पड़ा कलोनी रोड़ रेलवे फाटक शनिवार को सिग्नल सिस्टम से जुड़ गया। रेलवे के सीनियर सेक्शन इंजीनियर इंद्राज मीणा ने बताया कि अब तक रेलवे फाटक पर लगी लाल बत्ती तथा सफेद बत्ती को मिट्टी तेल से जलाना पड़ता था। अब कलोनी रोड़ रेलवे फाटक पर ऐसा नहीं होगा। यहीं नहीं फाटक की चौड़ाई बढ़ा दी गई है। 8 मीटर से 10 मीटर कर दी गई है।

लोक अदालत में साढ़े 24 लाख रूपये की रिकवरी

डबवाली (लहू की लौ) शनिवार को राष्ट्रीय लोक अदालत बैंकों के लिये वरदान साबित हुई। बैंकों के कुल 88 मामले प्रस्तुत हुये। जिसमें 18 मामलों का निपटारा हुआ। जिससे 23 लाख 34 हजार 017 रूपये की वसूली हुई। कोर्ट परिसर में उपमंडल न्यायिक दंडाधिकारी परवेश सिंगला की अध्यक्षता में लोक अदालत आयोजित हुई। जिसमें न्यायिक दंडाधिकारी (प्रथम श्रेणी) कपिल राठी तथा देवेंद्र सिंह ने भी मामलों पर सुनवाई की। तीनों जस्टिस के सामने कुल 844 मामले प्रस्तुत हुये। जिनमें से 504 का निपटारा हो गया। हल हुये केसों से 24 लाख 63 हजार 491 रूपये की रिकवरी हुई।

उन्नीस सालों में गाडिय़ां बढ़ीं आग बुझाने वाले हाथ नहीं

डबवाली (लहू की लौ) अग्निकांड के उन्नीस वर्षों बाद भले ही केंद्र तथा प्रदेश में सरकारें बदलती रही हों। लेकिन व्यवस्था में परिवर्तन नहीं हुआ। आज भी डबवाली के दमकल केंद्र में हालात वैसे ही हैं, जैसे वर्ष 1995 में थे। बेशक गाडिय़ों की संख्या बढ़ गई। किंतु आग बुझाने वाले हाथ नहीं बढ़े। आज भी त्रिवेणी शहर के लिये सरकार के वहीं नियम हैं, जो 23 दिसंबर 1995 में थे। नप के दमकल केंद्र में सरकार ने जो पद स्वीकृत किये हैं, वे एक गाड़ी के लिये भी पूरे नहीं बैठते। ऐसे में किराये के फायरमैन से गाड़ी चलाई जा रही है।
हरियाणा फायर सर्विस रूल के अनुसार एक गाड़ी पर एक कमांडर, एक चालक तथा चार फायरमैन होने चाहिये। वर्तमान समय में नप के दमकल केंद्र में रेगुलर स्टॉफ के साथ-साथ चार फायरमैन तथा तीन चालक डीसी रेट पर भर्ती हैं। इसके बावजूद भी तीन गाडिय़ों पर स्टॉफ पूरा नहीं होता। आग लगने की स्थिति में एक गाड़ी के साथ एक फायरमैन ही जा पाता है। ऐसे में पक्के तथा कच्चे कर्मचारियों को अतिरिक्त डयूटी देनी पड़ रही है। वहीं दो गाडिय़ों की स्थिति अच्छी नहीं है। दमकल केंद्र में जो गाडिय़ां हैं, उनमें से एक गाड़ी 13 साल पुरानी यानी 2001 मॉडल है। जबकि शेष दो गाडिय़ां 2007 तथा 2012 मॉडल हैं।
एक गाड़ी पर चाहिये छह लोग
हां यह सही है कि सर्विस रूल के अनुसार एक गाड़ी पर छह लोगों का स्टॉफ जरूरी है। सरकार ने एक गाड़ी का स्टॉफ स्वीकृत हुआ है। कई बार मांग करने के बाद अस्थाई नियुक्तियां की गई। इसके बावजूद भी कर्मचारी पूरे नहीं है। हर माह कर्मचारियों की डिमांड की जाती है। डबवाली में तंग बाजार तथा तंग गलियां हैं। आग लगने की स्थिति में वहां तक पहुंचने का कोई साधन नहीं है। दो छोटी गाडिय़ों की डिमांड की गई है।
-अमर सिंह, प्रभारी
दमकल केंद्र, डबवाली
अग्निश्मन विभाग के एकीकरण के प्रयास
दमकल केंद्र नगर परिषद से जुड़ा हुआ है। इसके एकीकरण के प्रयास चल रहे हैं। जिसको लेकर भर्ती का मामला खटाई में है। हर माह कर्मचारियों की रिपोर्ट सरकार के पास भेजी जाती है।
-ऋषिकेश चौधरी, सचिव
नगर परिषद, डबवाली

राजकीय स्कूल में हर रोज लगेगा 20 मिनट का ट्रेफिक पीरियड

डबवाली (लहू की लौ) आपको जीवन अनमोल है। खून इंसान को चाहिये, न की सड़क को। सुरक्षा उतरी जरूरी है, जितनी एबीसी। इसलिये आप ट्रेफिक नियमों का पालन कीजिये, दूसरों को भी नियमों की पालना करने की हिदायत दीजिये। ये शब्द शहर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर दलीप सिंह यातायात नियमों के प्रति जागरूकता अभियान की शुरूआत करते हुये शनिवार को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में कहे। इस मौके पर थाना प्रभारी के कहने पर  प्रिंसीपल ने प्रतिदिन 20 मिनट का ट्रेफिक पीरियड लगाने की भी घोषणा की।
विद्यार्थियों से सीधा संवाद किया
थाना प्रभारी ने यातायात नियमों को लेकर विद्यार्थियों से सीधा संवाद किया। उन्होंने कहा कि एक छोटी सी लापरवाही से बड़ा हादसा हो जाता है। अगर यातायात नियमों के बारे में ज्ञान हो तो लापरवाही से बचा जा सकता है। देश में दिन ब दिन हादसों में लगातार बढ़ौतरी हो रही हैं। असंख्या जानें जा रही हैं। उन्होंने विद्यार्थियों से सवाल पूछे। थाना प्रभारी ने कहा कि 16 से 18 वर्ष की आयु के बच्चे गियर बगैर स्कूटी चलाने के हकदार हैं। 18 वर्ष का युवा लाईसेंस लेकर ही गियर वाला वाहन चला सकता है। थाना प्रभारी ने वाहन चलाते समय हमेशा हेलमेट का प्रयोग करने की नसीहत दी। उन्होंने कहा कि दुर्घटना के दौरान हेलमेट जान बचा सकता है। उन्होंने कार या चार पहिया वाहन चलाते समय सीट बेल्ट की आदत डालने का आह्वान किया। इसके बाद थाना प्रभारी ने एचपीएस सीनियर सैकेंडरी स्कूल में भी बच्चों को ट्रेफिक नियमों की जानकारी दी।
मुझे हेलमेट ने बचाया
विद्यार्थियों को संबोधित करते हुये राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के प्रिंसीपल सुरजीत सिंह ने कहा कि मेरा बाईक कार के साथ भिड़ा था। करीब 12 फुट ऊंचाई से उछलने के बाद मैं जमीन पर गिरा था। बेशक उस दौरान मैं बेहोश हो गया। लेकिन मेरे पहने हेलमेट ने मेरी जान बचाई। उन्होंने बच्चों को हेलमेट पहने की आदत डालने की सलाह दी।
हर रोज लगेगा ट्रेफिक पीरियड
अपने अलग अंदाज में क्रियाकलाप करने के लिये अग्रणी रहने वाला राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय इस बार भी बाजी मार गया। स्कूल प्रिंसीपल ने कहा कि मोर्निंग असेंबली में हर रोज 20 मिनट का ट्रेफिक पीरियड होगा। जिसमें बच्चों को ट्रेफिक नियमों के बारे में परिचित करवाया जायेगा।

दुर्घटनाएं रोकने के लिये दौड़े महकमें


इंस्पेक्टर दलीप सिंह ने
बच्चों को पढ़ाया यातायात नियमों का पाठ


डबवाली (लहू की लौ) सड़क हादसों में हो रही तीव्र वृद्धि ने सोचने पर मजबूर कर दिया है। प्रत्येक विभाग के आगे सवाल खड़ा हुआ है कि आखिर क्या किया जाये? सड़क पर यातायात सुचारू करने के कुछ नियम कायदे होते हैं। ऐसे नियमों तथा कायदों को सरकारी महकमों को धरातल पर लाना होता है। सड़क सुरक्षा में बरती जा रही लापरवाही को दूर करने के लिये राष्ट्रीय राजमार्ग, बीएंडआर, मार्किंटिंग बोर्ड सहित नगर परिषद के अधिकारी सड़क सुरक्षा के लिये दौड़ पड़े हैं।
विभागों का प्लान
नेशनल हाईवे
नेशनल हाईवे हिसार से डबवाली तक 170 किलोमीटर सड़क पर ऐसी जगहों का चयन कर रहा है, यहां सबसे ज्यादा हादसे होते हैं। करीब 70 लाख रूपये की लागत से उपरोक्त क्षेत्र में सफेद पट्टी के साथ-साथ यातायात सूचक तथा चेतावनी बोर्ड लगाये जाने की योजना है। ताकि वाहन चालक इन्हें समझकर ड्राईव कर सकें। कालांवाली टी प्वाईंट तथा बिजलीघर के नजदीक सड़क को ठीक करवाकर दुर्घटनाएं रोकने के प्रबंध किये जाएंगे।
-रवि मोंगा, एसडीई, नेशनल हाईवे, सिरसा
हाईवे जुडने वाली सड़कों पर बनेंगे स्पीड़ ब्रेकर
डबवाली क्षेत्र में करीब 106 किलोमीटर एरिया में सड़कें हैं। मार्किटिंग बोर्ड की जो सड़कें सीधा हाईवे पर जा मिलती हैं, उनका निरीक्षण किया गया है। हाईवे पर मिलने से 100 फुट पहले स्पीड ब्रेकर बनाये जाएंगे। इससे वाहन की गति धीमी हो जाएगी, चालक अच्छी तरह से दायें-बांयें देखकर अपनी गाड़ी हाईवे पर ले जा सकेगा।
-ओमप्रकाश गाट, एसडीई
मार्किटिंग बोर्ड, सिरसा
36 जगहों पर लगवाई सफेद टाईल
डबवाली क्षेत्र में 275 किलोमीटर क्षेत्र में हमारी सड़कें हैं। दुर्घटना संभावित 36 जगहों पर स्पीड ब्रेकर बनवाने के बाद उस पर सफेद टाईल लगा दी गई हैं। इसके अतिरिक्त सड़कों के किनारे सूचक संकेत तथा चेतावनी बोर्ड भी लगाये गये हैं। लेकिन नशेड़ी इन्हें गिरा देते हैं। इस बार पुन: मुरम्मत करवाई जायेगी। डबवाली-ऐलनाबाद रोड़ का अस्टीमेट मंजूरी के लिये सरकार के पास गया हुआ है।
-अनिल भारद्वाज, एसडीई बीएंडआर, डबवाली
बाजारों में बंद होगी हैवी वाहनों की एंट्री
हैवी वाहनों की शहर के भीतर एंट्री न देने के लिये कलोनी रोड़ पर गेट तैयार करवा जा रहा है। वहीं कलोनी रोड़ रेलवे फाटक के नजदीक भी गेट लगवाया जायेगा। जिससे हैवी वाहनों के कारण जाम जैसी समस्या से छुटकारा मिलेगा। वहीं हादसों से बचाव रहेगा। शहर के चौराहों पर हाई मास्क लाईट लगनी प्रस्तावित हैं।
-जयवीर डुडी, एमई,
नगर परिषद, डबवाली

रामबाग कमेटी के प्रधान का इस्तीफा, तनेजा को कमान

डबवाली (लहू की लौ) शनिवार को रामबाग के कार्यालय में रामबाग सरप्रस्तों की बैठक हुई। जिसमें सर्वसम्मति से रामबाग प्रबंधक कमेटी के प्रधान मदन लाल के इस्तीफे को स्वीकार करते हुए कार्यकारी प्रधान बख्शी राम तनेजा को अध्यक्ष पद का कार्यभार संभाला दिया गया।
मदन लाल ने यह कहते हुए रामबाग प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था कि वे स्वास्थ्य कारणों से यह पद संभालने में सक्षम नहीं है। उनके इस्तीफे पर विचार करने के लिए सरप्रस्तों की बैठक आज आयोजित की गई। जिसमें सर्वसम्मति से इस्तीफा स्वीकार करते हुए पहले से चुने गये कार्यकारी प्रधान बख्शी राम तनेजा को प्रधान पद का कार्य संभालते हुए उन्हें पूर्व प्रधान मदन लाल के कार्यकाल के समय की सभी गतिविधियों की समीक्षा करने का अधिकार दिया गया। साथ में रामबाग प्रबंधक कमेटी की ओर किसकी कितनी राशि देय है और किससे कितनी राशि बकाया ली जानी है का पता लगाने का अधिकार देते हुए इसके लिए प्रधान के साथ सरप्रस्त बलदेव राज शर्मा, पूर्व नगरपालिका प्रधान टेक चन्द छाबड़ा, कामरेड गणपत राम की नियुक्ति भी की गई।
इस मौके पर राम बाग में कार्यरत कर्मचारियों के वेतन की बढ़ौतरी का प्रस्ताव भी पारित करते हुए बढ़ा हुआ वेतन नये वर्ष जनवरी 2015 से लागू करने  का प्रावधान किया गया। 

अरोड़वंश सभा की बैठक में विभिन्न मुद्दों पर चर्चा

डबवाली (लहू की लौ) अरोड़वंश सभा की एक बैठक नई अनाज मंडी रोड़ पर स्थित अरोड़वंश स्कूल में प्रधान प्रेम सिंह सेठी की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई। 
सभा के कार्यकारिणी सदस्य एवं प्रवक्ता रविकांत मोंगा ने बताया कि उपस्थित सदस्यों ने मार्च माह में होने वाले सभा के चुनावों को लेकर विचार विमर्श किया। इसके अलावा सदस्यों ने 4 जनवरी को गुरूपर्व मनाने का फैसला लिया। अरोड़वंश गुरूद्वारा में 2 जनवरी को श्री अखंड़ पाठ का प्रकाश किया जाएगा व 4 जनवरी को इसका भोग डाला जाएगा। अरोड़वंश स्कूल का वार्षिक पुरस्कार वितरण समारोह भी जल्द आयोजित करने का निर्णय लिया गया। चौटाला रोड़ पर बन रहे केआर अरोड़वंश विद्यालय के भवन के निर्माण कार्य को लेकर भी विचार विमर्श हुआ। बैठक में सुभाष अरोड़ा, विजय सेठी, नरेंद्र सेठी, राकेश सचदेवा, दविंद्र सेठी, रजनीश मोंगा उपस्थित थे। 

रामपाल मात्र एक ट्रेलर, असली फिल्म अभी बाकी-चौटाला

डबवाली (लहू की लौ) इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा कि पहले 10 साल कांग्रेस व अब बीजेपी की किसान विरोधी सोच के कारण प्रदेश का धरती पुत्र भूखे मरने के कगार पर है। कपास व धान का भाव अपने न्यूनतम मूल्य पर पहुंच गया है लेकिन बीज व खाद की कीमतें आसमान छू रही हैं। दिग्विजय ने कहा कि बीजेपी कभी भी किसान, दलित, कमेरे व पिछड़े वर्ग का भला नहीं कर सकती। संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर के 49वें महापरिनिर्माण दिवस पर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि महापुरूषों के कारण ही आज हमारा समाज उन्नति के रास्ते पर अग्रसर है। दिग्विजय चौटाला ने कहा कि लोकसभा हो या विधानसभा, इनेलो नेता ही किसानों की आवाज उठा रहें हैं। उन्होंने सांसद दुष्यंत चौटाला के द्वारा लोकसभा में प्रदेश को सूखाग्रस्त घोषित करने की मांग को सही ठहराते हुए प्रदेश के किसानों को जल्द से जल्द मुआवजा देने की बात कही। बीजेपी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि केवल डेढ़ महीने के कार्यकाल ने ही मौजूदा सरकार की पोल खोल दी है। उन्होंने संतों व धर्म गुरूओं द्वारा राजनीति में हिस्सा लेने पर सवाल उठाया। रामपाल मामले को केवल एक ट्रेलर बताते हुए उन्होंने कहा कि पूरी फिल्म आनी अभी बाकी है।
उन्होंने शनिवार को डबवाली हल्के के गांव बनवाला, रिसालिया खेड़ा, चकजालू, बिज्जूवाली, गोदीकां, चक फरीदपुर, कालूआना, अहमदपुर दारेवाला व मोडी आदि गांवों का दौरा कर नैना सिंह चौटाला को विजयी बनाने पर ग्रामीणों का धन्यवाद किया। इस दौरान उन्होंने हल्के के लोगों को परिवार का सदस्य बताते हुए कहा कि संघर्ष की कोई सीमा नहीं होती, अंधेरे के बाद उजाला होता है। इनेलो जनता के हितों के लिए हमेशा संघर्ष करता रहेगा।  इससे पहले इनसो नेता ने लिछाराम माली कालूआना, बख्तावर राम गोदारा के बहनोई, श्योपत राम के बहनोई के निधन पर शोक व्यक्त किया। इससे पहले गांवों में पहुंचने पर इनसो नेता का जोरदार स्वागत किया गया। दिग्विजय सिंह ने मौके पर ही गांव वासियों की समस्याओं का समाधान किया व बाकी समस्याओं को जल्द से जल्द निदान करने की बात कही। इस मौके पर उनके साथ राधेराम गोदारा, महेन्द्र डूडी, संदीप गंगा, सर्वजीत मसीतां, कुलदीप जम्मू, जगसीर मांगेआना, मंदर सिंह सरां, सरपंच सत्यनारायण सुथार, हरमीत सरां, कृष्ण बिश्नाई व जसपाल आदि मौजूद थे।

होम गार्डस का स्थापना दिवस मनाया

डबवाली(लहू की लौ) खेल स्टेडियम में होम गार्डस हरियाणा का स्थापना दिवस मनाया गया।  होमगार्ड 43 शहरी कम्पनी डबवाली ने जवानों को मिठाइयां बांट कर देश सेवा में लगे रहने के लिए प्रेरित किया। जवानों को सम्बोधित करते हुए प्लाटून कमाण्डर भूपेन्द्र सिंह ने होमगार्ड के नियमों व कत्र्तव्यों का बड़े साहस के साथ पालन करने का जवानों से आह्वान किया। रमेश कुमार हवलदार ने भी जवानों को सम्बोधित किया। कार्यक्रम के दौरान जवानों ने रागनी, चुटकलों व अच्छी-अच्छी बातें बताकर सभी का मनोरंजन किया। इस मौके पर जवानों की जायज मांगों को मुख्यमंत्री हरियाणा व महानिदेशक से मिलकर अवगत करवाने का निर्णय लिया। कार्यक्रम में हवलदार तरसेम सिंह, राय सिंह,सुनील कुमार, मोहन लाल, विनोद कुमार, अजमेर सिंह, हरबंस लाल भी शामिल थे।

खूब झूमे विशेष बच्चे, कैंप संपन्न

डबवाली (लहू की लौ) राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय डबवाली में विशेष आवश्यकता वाले बच्चों के लिए चल रहे कैंप के तीसरे दिन सांस्कृतिक गतिविधियां करवाई गईं। जिसमें भाषण प्रतियोगिता, गीत गायन प्रतियोगिता और नृत्य प्रतियोगिता करवाई गई।
भाषण प्रतियोगिता में सर्वजीत कौर प्रथम रही। सुनील कुमार द्वितीय तथा मनप्रीत तृतीय रही। गीत गायन में प्रथम राजगुरू, दूसरे स्थान पर पूजा और नवप्रीत, तीसरे स्थान पर अमनदीप रहे। नृत्य प्रतियोगिता में प्रथम गुरप्रीत, दूसरे स्थान पर सुनीता और तीसरे स्थान पर गोलू रहे। खंड स्तरीय कैंप प्रिंसीपल सुरजीत सिंह मान के नेतृत्व में कुशलतापूर्वक संपन्न हुआ। उपरोक्त गतिविधियां विशेष अध्यापक स्माइली, कुलदीप और नव्य सुखीजा ने करवाई। इस मौके पर रिसोर्स पर्सन सुमित वर्मा, शिवानी सचदेवा, तमन्ना, सारिका और मोनिका दुरेजा उपस्थित थे।
10 को जिला स्तरीय प्रतियोगिता
तीन दिवसीय कैंप के दौरान हुई गतिविधियों में अव्वल आने वाले बच्चे 10 दिसंबर को जिला स्तरीय कैंप में भाग लेकर अपनी प्रतिभा प्रदर्शित करेंगे।

7 Dec. 2014