युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

04 दिसंबर 2014

ड्राईविंग लाईसेंस की ऑनलाईन परीक्षा में

90 फीसदी युवा फेल

युवाओं को नहीं यातायात नियमों का ज्ञान, 10 में से एक हो रहा पास
डबवाली (लहू की लौ) यातायात नियमों के मामले में युवा फिसड्डी हैं। नियमों का ज्ञान न होने से 90 फीसदी युवा ड्राईविंग लाईसेंस से पूर्व होने वाली ऑनलाईन परीक्षा में फेल हो रहे हैं। एक फीसदी जो पास हो रहे हैं, वे भी केवल पास माक्र्स लेकर। हर रोज ई-दिशा केंद्र में लाईसेंस के लिये आवेदन करने के लिये तीस युवा पहुंच रहे हैं। जिसमें से मात्र तीन युवा ही लाईसेंस प्राप्त करने योग्य निकलते हैं।
मोटर वाहन अधिनियम 1988 की धारा 3 (1) के अनुसार सार्वजनिक सड़कों पर कोई भी मोटर वाहन चलाने के लिये प्रभावी ड्राईविंग लाईसेंस का होना आवश्यक है। किसी भी व्यक्ति को किसी सार्वजनिक स्थान पर तब तक वाहन चलाने की अनुमति नहीं होती, जब तक उसके पास उस श्रेणी के वाहन चलाने के लिये प्राधिकृत करने वाले वैद्य ड्राईविंग लाईसेंस न हों। लाईसेंस स्थानीय लाईसेंस अधिकारी द्वारा जारी किया जाता है।
यूं चलती है प्रक्रिया
ठीक से भरा हुआ आवेदन प्रपत्र, निर्धारित शुल्क, निवास का प्रमाण, आयु का प्रमाण, हाल ही खींचे गये पासपोर्ट आकार के तीन फोटो, आत्म घोषणा, चिकित्सा प्रमाण पत्र, आवेदक के नाबालिग होने की दशा में माता-पिता की सहमति। आवेदक द्वारा उपरोक्त दस्तावेज प्रस्तुत करने के बाद उसका एक ज्ञान परीक्षण होता है। जिसमें आवेदक को यातायात संकेतों, सूचकों और सड़क के नियमों, चालक के कत्र्तव्य, एक मानव रहित रेलवे फाटक से गुजरते समय रखने वाली सावधानियां, वाहन चलाते समय होने वाले दस्तावेजों संबंधी ऑनलाईन परीक्षा देनी होती है। जिसमें 10 सवाल पूछे जाते हैं। एक सवाल का जवाब देने के लिये 30 सैकेंड होते हैं। 60 प्रतिशत यानी 10 में से 6 सवालों का सही जवाब देने वाले को लाईसेंस योग्य माना जाता है। फेल होने आवेदन की पुन: परीक्षा सात दिनों बाद होती है। ऐसे तीन मौके संबंधित व्यक्ति को दिये जाते हैं। अगर वे तीन मौकों पर पास नहीं होता तो आगामी परीक्षा 60 दिनों के बाद होती है।


आयु संबंधी योग्यता : नियमानुसार किसी भी व्यक्ति को तब तक ड्राईविंग लाईसेंस जारी नहीं किया जा सकता, जब तक वह उस वाहन की श्रेणी हेतू निर्धारित आयु मापदंड को पूरा नहीं कर लेता। भारत में मोटर वाहन ड्राईविंग के लिये आयु मापदंड की सीमा निर्धारित है।
16 साल : 50सीसी तक की इंजन क्षमता के मोटर साईकिल।
18 साल : अन्य कोई वाहन।
20 साल : परिवहन वाहन (सार्वजनिक सेवा वाहन, माल ढोने वाले वाहन, शैक्षणिक संस्थानों की बस या निजी सेवा वाहन)
इसके अलावा, वाहन के मालिक की जिम्मेदारी है कि वह किसी भी ऐसे व्यक्ति को, जिसके पास वैध लाईसेंस न हो या जो आयु संबंधी योग्यता पूरी नहीं करता हो, वाहन चलाने की अनुमति नहीं दे सकता।

एक नजर इधर भी
डबवाली में 1 अप्रैल 2010 से 30 नवंबर 2014 तक के आंकड़ों पर नजर दौड़ाई जाये तो अब तक कुल 25 हजार 077 लोगों ने लर्निंग तथा ड्राईविंग लाईसेंस प्राप्त किये हैं। जिनमें 6541 महिलाओं के पास लर्निंग लाईसेंस तथा 405 के पास ड्राईविंग लाईसेंस है।
लर्निंग लाईसेंस
की स्थिति
पुरूष : 6869
महिला : 6541
कुल : 14410
ड्राईविंग
लाईसेंस
पुरूष : 11262
महिला : 405
कुल : 11667


ड्राईविंग लाईसेंस के प्रकार
1. प्रशिक्षु लाईसेंस (लर्निंग) : प्रत्येक नये चालक को जिस वर्ग के वाहन के लिये यह लाईसेंस लेना चाहता है, उसे चलाना सीखने हेतू पहले प्रशिक्षु लाईसेंस प्राप्त करना होता है। जो एक प्राथमिक परीक्षण से गुजरने के बाद जारी किया जाता है। जारी करने की तारीख से छह माह के लिये यह मान्य होता है।
2. ड्राईविंग लाईसेंस : यह लाईसेंस भारत में मोटर वाहन चलाने की अनुमति देता है। यह लाईसेंस भारत के हर भाग में वैध होता है। आवेदक प्रशिक्षु लाईसेंस जारी होने की तारीख से तीस दिनों के बाद से लेकर प्रशिक्षु लाईसेंस की अवधि समाप्ति से पहले ड्राईविंग लाईसेंस के लिये आवेदन कर सकता है।
3. इंटरनेशनल ड्राईविंग परमिट : लाईसेंस प्राधिकारी भारतीय नागरिकों को भारत के अलावा अन्य देशों में भी वाहन चलाने के लिये अंतर्राष्ट्रीय ड्राईविंग परमिट जारी करने हेतू समक्ष है। बशर्ते लाईसेंस होल्डर को संबंधित देश के कानूनों तथा नियमों की पालना अवश्य करनी होती है।


विद्यालयों में दिया जायेगा यातायात नियमों का ज्ञान
युवाओं को यातायात नियमों के बारे में बहुत कम ज्ञान है। इसलिये नियमों संबंधी पुस्तिकाओं को खंड शिक्षा अधिकारी की मार्फत विद्यालयों में पहुंचाया जायेगा।
-दलीप सिंह, प्रभारी, शहर थाना डबवाली

युवाओं को नहीं है जानकारी
लर्निंग लाईसेंस से पहले ऑनलाईन परीक्षा होती है। जिसका रिजल्ट भी तुरंत मिल जाता है। पास होने के लिये 60 प्रतिशत अंक लेने जरूरी होते हैं। युवाओं को यातायात नियमों के बारे में जानकारी नहीं है।
-मातू राम नेहरा तहसीलदार, डबवाली

छुट्टी पर एसडीएम अब 2015 में मिलेंगे

डबवाली (लहू की लौ) एसडीएम सतीश कुमार के भिवानी ट्रांसफर होने के बाद डबवाली वासियों के लिये एक ओर बुरी खबर है। नवनियुक्त एसडीएम संजय राय वर्ष 2015 से पहले नहीं मिलेंगे। स्वास्थ्य कारणों के चलते वे छुट्टी पर चले गये हैं। उपमंडलाधीश कार्यालय में चर्चाएं जोरों पर हैं कि नये वर्ष के पहले हफ्ते में ही वे कार्यालय लौट सकते हैं।
पिछले दिनों हरियाणा सरकार ने एसडीएम सतीश कुमार का तबादला भिवानी कर दिया था। उनके स्थान पर भिवानी के एसडीएम संजय राय की नियुक्ति डबवाली की थी। 30 नवंबर को डैड लाईन घोषित करते हुये सरकार ने एचसीएस को नये स्थलों पर ज्वाईनिंग के आदेश दिये थे। आनन-फानन में एसडीएम संजय राय ने ज्वाईनिंग कर ली। स्वास्थ्य ठीक न होने के बावजूद 1 दिसंबर को वे कार्यालय में पहुंचे। कार्य न होने की वजह से वे छुट्टी पर चले गये हैं।
कौन संभालेगा शहर
करीब सवा माह तक उपमंडलाधीश कार्यालय विरान रहने वाला है। ऐसे में दफ्तरी कार्य तो प्रभावित होंगे ही साथ में शहर की स्थिति बिगड़ेगी। वहीं ब्यूटीफुल सिटी बनने जा रहे शहर में फिर से गंदगी दिखाई देने लगी है। साथ में अतिक्रमण पांव पसारने लगा है। उपमंडलाधीश के छुट्टी पर होने के कारण एक बार फिर लोगों को परेशानी उठानी पड़ेगी।

फोन से भी टूटा रिश्ता

छुट्टी पर जाने के साथ-साथ एसडीएम डबवाली से मोबाइल पर भी रिश्ता टूट गया है। डीसी के सख्त आदेशों के बावजूद एसडीएम डबवाली का सरकारी मोबाइल नं. 98123-00903 स्विच ऑफ है।

21 दिनों में दूसरी हड़ताल

डबवाली शहर में 14 बैंक रहे पूर्णतय बंद, ढाई सौ करोड़ का नुक्सान



डबवाली (लहू की लौ) वेतन वृद्धि की मांग को लेकर राष्ट्रीयकृत बैंकों के कर्मचारी बुधवार को हड़ताल पर रहे। जिससे करीब ढाई सौ करोड़ रूपये का लेनदेन प्रभावित हुआ। लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ी। एटीएम प्रयोग के लिये लोग एक-दूसरे को आगे-पीछे करते नजर आये।
डबवाली में बंद रहे 14 बैंक
भारतीय स्टेट बैंक, पंजाब नेशनल, ओबीसी, स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर, पंजाब एवं सिंध बैंक सहित शहर डबवाली के सभी 14 राष्ट्रीयकृत बैंक बंद रहे। इसके अतिरिक्त इन बैंकों की ग्रामीण क्षेत्र में खुली सभी शाखाओं में कामकाज ठप रहा। हड़ताल के चलते सुबह बैंक कर्मचारी बैंकों के मुख्य द्वारों पर इक्ट्ठे हुये और मांगों को पूरा न करने पर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कर्मचारियों ने अपने-अपने बैंकों के मुख्य द्वार पर आज हड़ताल है के पोस्टर चस्पा कर दिये।
वेतन में 23 प्रतिशत वृद्धि की मांग
कर्मचारी यूनियन की डबवाली शाखा के अध्यक्ष जसविंद्र बहल तथा सचिव प्रेम सिंगला ने बताया कि वर्ष 2007 में सरकार ने वेतन वृद्धि की थी। प्रत्येक पांच वर्ष बाद वेतन में वृद्धि की पॉलिसी है। वर्ष 2012 में सरकार ने वेतन में बढ़ौतरी करनी थी, लेकिन सरकार 11 प्रतिशत वेतन वृद्धि पर अड़ गई। जबकि यूनियन दिन-ब-दिन काम के बढ़ रहे बोझ को देखते हुये 23 प्रतिशत वेतन बढ़ौतरी की मांग कर रही है। लेकिन सरकार अपनी जिद्द नहीं छोड़ रही। जिसके चलते मजबूरन कर्मचारियों को संघर्ष का रास्ता अपनाना पड़ रहा है।
12 नवंबर को भी हुई थी हड़ताल
उपरोक्त मांग को लेकर राष्ट्रीयकृत बैंकों के कर्मचारियों ने 12 नवंबर 2014 को हड़ताल की थी। 21 दिनों में कर्मचारियों के दूसरी बार हड़ताल पर जाने से करीब 500 करोड़ रूपये का लेनदेन प्रभावित हुआ है। जसविंद्र बहल के अनुसार डबवाली पंजाब सीमा से सटा हुआ है। जिसके चलते शहर की शाखाओं में प्रतिदिन करीब ढाई सौ करोड़ रूपये का लेनदेन होता है।

तारीख याद, महीना भूल गये
हड़ताल के दौरान एक मजेदार पहलू नजर आया। कर्मचारियों को हड़ताल की तारीख याद रही। लेकिन महीना याद नहीं रहा। एसबीआई के मुख्य द्वार पर चस्पा पोस्टर में कर्मचारियों ने 3 दिसंबर की अपेक्षा, आज हड़ताल है लिखते हुये नीचे 3 नवंबर 2014 लिखा।

खरीद केंद्र में सड़ रहा मुच्छल

भाजपा को कोस रहे हैं किसान
डबवाली (लहू की लौ) पिछले तीन माह से किसान अच्छे दिनों की आस लिये गांव अबूबशहर में बने खरीद केंद्र में मुच्छल धान लिये बैठे हैं। मजबूर किसानों का धान औने-पौने दाम में खरीदने के लिये पंजाब, हरियाणा तथा राजस्थान के व्यापारी डोरे डाल रहे हैं। जिससे खरीद केंद्र में पड़ा हजारों क्विंटल धान सडऩे की कगार पर पहुंच गया है। जबकि मार्किट कमेटी 
कम लगा रहे भाव
किसान राजेंद्र कुमार, सिद्धार्थ, बिट्टू, छोटू राम, सोहन लाल, ओमप्रकाश ने बताया कि नहरी पानी तथा बिजली की कमी के चलते उन्होंने महंगा डीजल फूंककर अपनी फसल को बचाया। फसल बचाने के बाद जब वे उसे लेकर मंडी में आये हैं, तो उन्हें भाव नहीं मिल रहा। व्यापारी मात्र 1700 रूपये क्विंटल की दर से उनका मुच्छल धान खरीदने पर आमदा हैं। जोकि गलत है। पिछले करीब तीन माह से वे अपना घर छोड़कर मंडी में बैठे अपनी फसल संभाल रहे हैं।
सरकार को कोस रहे किसान
अबूबशहर स्थित खरीद केंद्र में करीब तीन हजार क्विंटल मुच्छल धान पड़ा है। किसान भाजपा सरकार को कोस रहे हैं। किसानों का कहना है कि अच्छे दिनों के सपने दिखाने वाली भाजपा सरकार ने उनके बुरे दिन ला दिये हैं। फसल न बिकने के कारण वे चारों ओर से कर्जदार हो गये हैं। किसानों ने बताया कि व्यापारी पहले उनकी फसल का 2000 रूपये प्रति क्विंटल का भाव लगा रहे थे। अब 1700 रूपये पर पहुंच गये हैं। जबकि दूसरी ओर मार्किट कमेटी अधिकारी उनकी समस्या को गंभीरता से नहीं ले रहे। किसानों ने कहा कि वे अगली बार मुच्छल धान की बिजाई हरगिज नहीं करेंगे। उन्होंने सवाल किया कि इन हालातों में आखिर वे कहां जायें?

यह बोले सचिव
गांव अबूबशहर खरीद केंद्र चालू नहीं है। लेकिन किसानों ने वहां मुच्छल धान ढेरी किया हुआ है। मैंने मौका देखा है। लेकिन जो भाव व्यापारी लगा रहे हैं, किसान उसके अनुसार अपनी फसल बेचने को तैयार नहीं। हां, यह सही है कि मंडी में धान आने पर बोली हमें करवानी होती है। किसानों की समस्या को दूर करने के प्रयास जारी हैं।
-हेतराम, सचिव,
मार्किट कमेटी, डबवाली

लाखों रूपये की सरसों सहित लूटा गया ट्रेक्टर बरामद

डबवाली (लहू की लौ) 17 नवम्बर को गांव शेरगढ़ के पास गन प्वाईंट पर ट्रेक्टर-ट्राली सहित लूटी गई लाखों रूपये की सरसों लूट में पुलिस ने ट्रेक्टर को बरामद कर लिया है।
थाना प्रभारी इंस्पेक्टर दलीप सिंह ने बताया कि हनुमानगढ़ जंक्शन की मंडी में लावारिस हालत में ट्रेक्टर खड़ा था। जिसकी सूचना हनुमानगढ़ पुलिस को ट्रेक्टर मंडी वालों ने दी और हनुमानगढ़ पुलिस से इसकी जानकारी पाकर डबवाली पुलिस ट्रेक्टर को डबवाली ले आयी।

खंड स्तरीय खेल 8-9 को

डबवाली (लहू की लौ) दो दिवसीय खंड स्तरीय राजीव गांधी खेल प्रतियोगिता 8-9 दिसंबर को सिरसा रोड़ स्थित गुरू गोबिंद सिंह खेल स्टेडियम में होगी। यह जानकारी देते हुये खंड खेल अधिकारी सुखजीत सिंह ने बताया कि प्रतियोगिता में 16 वर्ष की आयु के लड़के-लड़कियां भाग ले सकेंगे। 8 दिसंबर को लड़कियां तथा 9 दिसंबर को लड़के अपना दमखम दिखाएंगे। कोच के अनुसार प्रतियोगिता में एथलीट, कबड्डी, बालीबॉल, बास्केटबॉल, फुटबाल शामिल है। पहले तीन स्थान पाने वाले खिलाडिय़ों के खाते में ईनामी राशि पहुंचेगी।

लावारिस खड़ी है गाड़ी, पुलिस को सूचना देने पर कार्रवाई नहीं

डबवाली (लहू की लौ) हद हो गई, लावारिस वस्तु मिलने या दिखाई देने पर तुरंत कॉल करने के कसीदे पढऩे वाली पुलिस सूचना देने पर किस कद्र कार्य करती है, इसकी पोल खुल गई है।
कलोनी रोड़ रेलवे फाटक के नजदीक गली में पिछले पंद्रह दिनों से एक नीले रंग की नैनों कार लावारिस हालत में खड़ी है। गली वासियों ने इसकी शिकायत गोल बाजार पुलिस चौकी में की। कार को संभालने के लिये चौकी का मुलाजिम मनी राम मौका पर आया। लेकिन गाड़ी को खड़ी देखने को बाद कोई कार्रवाई नहीं की।
सूचना मिली है
गोल बाजार पुलिस चौकी प्रभारी देसराज ने बताया कि गाड़ी खड़ी होने की सूचना मिली है। गाड़ी को पुलिस अपने कब्जे में लेगी।

संस्थान से गायब हुआ बच्चा, प्रबंधक पर लापरवाही का आरोप

डबवाली (लहू की लौ) जीटी रोड़ रेलवे फाटक स्थित श्री महावीर जैन विकास संस्थान में पढऩे वाला एक बच्चा बुधवार को संस्थान से गायब हो गया। जिससे संस्था सदस्यों के हाथ पांव फूल गये। आनन-फानन में संस्थान प्रबंधक ने इसकी जानकारी पुलिस को दी।
पंजाब में मिला बच्चा
गायब हुआ बच्चा शाम को गांव ख्योवाली में लावारिस हालत में घूमता हुआ मिला। सूचना मिलते ही भाई घनईया जी सेवा सोसायटी की एंबुलैंस उसे डबवाली ले आई। संस्था के सदस्य दरिया सिंह नामधारी ने बताया कि कई बार सूचना देने के बावजूद संस्थान प्रबंधक ने बात तक नहीं सुनी। जब उसे बच्चा मिलने के बारे में कहा गया तो उसके कानों में जूं रेंगी। नामधारी ने आरोप लगाया कि प्रबंधक की लापरवाही से बच्चा गांव ख्योवाली तक पहुंचा। इससे पहले भी प्रबंधक की लापरवाही के कई मामले सामने आ चुके हैं।
इधर गोल बाजार चौकी प्रभारी देसराज ने बताया कि प्रबंधक सुमति जैन ने संस्थान से बच्चे के गायब होने की शिकायत की थी। शाम को जैन बच्चा मिलने का संदेश लेकर चौकी में आ गया।

जेल गया मोबाइल छीनने का आरोपी

डबवाली (लहू की लौ) युवती से मोबाइल तथा पर्स छीनने के आरोपी कुलदीप निवासी तपाखेड़ा को पुलिस ने बुधवार को उपमंडल न्यायिक दंडाधिकारी परवेश सिंगला की अदालत में पेश किया गया। अदालत ने आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया।
शहर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर दलीप सिंह तथा मामले की जांच कर रहे एसआई भूप सिंह ने बताया कि रिमांड अवधि के दौरान पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर उसके घर से मोबाइल तथा पांच सौ रूपये बरामद कर लिये।

केवी 4 को डबवाली में

डबवाली (लहू की लौ) पूर्व ओएसडी डॉ. केवी सिंह वीरवार, शुक्रवार व  शनिवार को डबवाली मिलेंगे व कार्यकर्ताओं से रूबरू होगे। यह जानकारी डॉ. सिंह के निजी सचिव बजरंग थालोड़ ने दी।

एचडीएफसी बैंक में ब्लड कैंप 5 दिसंबर को

डबवाली (लहू की लौ) स्थानीय एचडीएफसी बैंक द्वारा आगामी 5 दिसम्बर को प्रात: 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक बैंक के प्रांगण में रक्तदान शिविर का आयोजन किया जाएगा।
यह जानकारी देते हुए ऑपरेशन टीम के प्रभारी कुलविन्द्र सिंह एवं करण कुमार ने बताया कि रक्तदान शिविर में स्वेच्छा से रक्तदान करने वाले महानुभावों से रक्त प्राप्त करने के लिए पंडित भगवत दयाल शर्मा पीजीआई रोहतक के ब्लॅड बैंक से 12 सदस्यीय टीम भाग लेगी। 

भाजपा का कांग्रेस मुक्त-लोकदल लुप्त कार्यक्रम

विकास कार्यों में हुई धांधलेबाजी की करवाई जाएगी उच्च स्तरीय जांच: देव कुमार शर्मा

डबवाली (लहू की लौ) भाजपा कार्यकर्ताओं की एक  बैठक वैद्य रामदयाल मार्केट में स्थित भाजपा कार्यालय में बुधवार को रामलाल बागड़ी की अध्यक्षता में हुई। बैठक में 18 वर्ष से अधिक आयु के युवाओं के नए वोट बनवाने व फर्जी वोटों की पहचान कर उन्हें कटवाने के लिए कार्यकर्ताओं की ड्यूटियां लगाई। इसके साथ-साथ पार्टी के सदस्यता अभियान को भी तेज करने का निर्णय लिया गया।
इस अवसर पर वरिष्ठ भाजपा नेता देव कुमार शर्मा ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस मुक्त-लोकदल लुप्त कार्यक्रम के तहत पार्टी के नए सदस्य बनाने के लिए सदस्यता अभियान शुरू कर दिया है। भाजपा के समर्पित कार्यकर्ता घर-घर पहुंचकर जन-जन को पार्टी व भाजपा सरकार की जनहितैषी नीतियों के बारे में बताएंगे और उन्हें सदस्यता ग्रहण करवाएंगे। अभियान के अंतर्गत प्रदेश भर में भाजपा के इतने अधिक सदस्य बनाए जाएंगे कि कांग्रेस व लोकदल का कोई नामलेवा नहीं रहेगा। 
देवकुमार शर्मा ने कहा कि डबवाली में विकास कार्यों के दौरान हुई गड़बडिय़ों व धांधलेबाजी की उच्च स्तरीय जांच करवाई जाएगी व जिसने भी पैसा खाया है उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। इसके अलावा भविष्य में विकास के जो भी काम होंगे उनमें किसी को भी गुणवत्ता से समझौता नहीं करने दिया जाएगा। शर्मा ने कहा कि अब प्रदेश में भाजपा की सरकार है और अब लोगों को भ्रष्टाचार मुक्त शासन मिलेगा। उन्होंने कहा कि सभी कार्यकर्ता वोट बनाने व पार्टी के सदस्यता अभियान कार्य में समर्पित भाव से कार्य करते हुए जिम्मेदारी के साथ अपनी ड्यूटियां निभाएं।   
बैठक में भाजपा नेता विजय वधवा, कौर चंद मोंगा, मनोज शर्मा, मुकंद सेठी, सुनील जिंदल, डा. आरके वर्मा, कृष्ण कीनिया, नरेश बागड़ी, राकेश बब्बर, सुरेंद्र बर्तन वाले, शिव कुमार, मोहनी धमीजा, ऋषि सिंगला, मा. जसवंत, रवि सेठी एडवोकेट, श्याम सुंदर, रजनीश मोंगा, प्यारे लाल, तारा चंद लदड़, अशोक शर्मा, आशीष सिंह, ललित बांसल, विजय पटवारी, विकास, अश्विनी, मुनीष मोंगा, नवनीत, मा. मेघराज, पलविंद्र जींतला, प्रवेश घई, रोहित सेठी, सोनू व अन्य उपस्थित थे।

एमएसडी स्कूल ने ठाकर दास वधवा की चौथी पुण्यतिथि मनाई

डबवाली (लहू की लौ) एमएसडी हाई स्कूल में बुधवार को स्कूल के संस्थापक ठाकर दास वधवा की चौथी पुण्य: तिथि मनाई गई। जिसमें वधवा के बेटे जगदीश राय श्री गंगानगर, ओम प्रकाश और सुरेश कुमार सेवानिवृत्त मुख्य प्रबंधक एसबीबीजे जयपुर ने भाग लिया।
इस मौके पर ठाकुर दास वधवा को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई। इस मौके पर स्कूल प्रबंधक समिति के सचिव सुरेश मित्तल, सहसचिव महेन्द्र मित्तल, कोषाध्यक्ष विजय बागड़ी, गोवर्धन दास गोयल, राजेन्द्र बागड़ी, राजेन्द्र बणी वाले तथा स्कूल स्टॉफ उपस्थित थे।

स्कूल प्रबंधकों ने लाला राजा राम को याद किया

डबवाली (लहू की लौ) मंगलवार को राजा राम कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में लाला राजा राम की पुण्य तिथि मनाई गई। इस अवसर पर स्कूल प्रबंधक समिति के प्रधान सुरेन्द्र गुप्ता ने लाला
राजा राम की मूर्ति के समक्ष ज्योति प्रज्जवलित करके कार्यक्रम की शुरूआत की।
इस मौके पर प्रधान सुरेन्द्र गुप्ता ने लाला राजा राम को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि अगर एक लड़की शिक्षित होती है तो वो दो परिवारों को शिक्षित करती है। इसलिए लाला राजा राम ने इस इलाके में लड़कियों के लिए स्कूल खोला। प्रधानाचार्य प्रवीण कुमार गौड़ ने श्रद्धांजलि दी और बच्चों को गीता का महत्व बताया और कहा कि हमें बिना इच्छा किये अपने कर्म करने चाहिए। कार्यक्रम के समापन पर प्रधान ने संस्था के चतुर्थ श्रेणी  कर्मचारियों को सम्मानित किया।

क्षमा भाव से क्रोध पर विजय पाई जा सकती है-साध्वी अर्पिता

डबवाली (लहू की लौ) जैन साध्वी अर्पिता ने कहा कि समस्त झगड़ों की जड़ क्रोध है। क्षमाभाव  से क्रोध पर नियंत्रण पाया जा सकता है।
वे मंगलवार को जैन स्थानिक में उपस्थित श्रद्धालुओं को क्रोध पर नियंत्रण पाने की कला बता रहे थे। उन्होंने कहा कि आज हर व्यक्ति गृहस्थ जीवन में दु:खी है। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण व्यक्ति का छोटी-छोटी बातों पर शीघ्र क्रोधित हो जाना है। उनके अनुसार क्रोध का प्रभाव हमारे शरीर और आत्मा दोनों पर होता है। यहीं कारण है कि आज बीपी और ब्रेन हेमरेज जैसी बीमारियों से लोग ग्रस्त हैं।
जैन साध्वी ने कहा कि क्रोध प्रीति का नाश करने वाला है। जैन आगमों में क्रोध पर बड़े विस्तार से चर्चा की गई है। क्रोध व्यक्ति के जन्मों की परम्परा को बढ़ाने वाला है। क्रोध पर विजय पानी है तो क्षमाभाव को अपनाना होगा।

फाईन आर्ट्स वर्कशाप आयोजित

डबवाली (लहू की लौ) भगवान श्री कृष्ण कॉलेज ऑफ एजूकेशन में बुधवार को फाईन आर्ट्स  वर्कशाप का आयोजन किया गया। जिसमें राजकीय वरिष्ठ मााध्यमिक विद्यालय कलावन जीन्द की आर्ट एण्ड क्राफ्ट अध्यापिका रेहा ग्रोवर बत्तरा ने छात्राओं को विभिन्न प्रकार की ड्राईंग एवं पेन्टिग से जु
ड़ी जानकारी दी।
वर्कशाप का उद्घाटन कॉलेज प्राचार्या डॉ. पूनम गुप्ता ने किया और कहा कि इस प्रकार के कौशल से हमारे विचार, अभिव्यक्ति में कलात्मक एवं सौन्दर्यात्मक निखार आता है। जिसकी जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में अहम् भूमिका होती है।

अधिकारी जनता के सेवक, लोगों की समस्याओं का समाधान करें-उपायुक्त

सिरसा ( लहू की लौ)सभी अधिकारी जनता के सेवक होते हैं इसलिए लोगों की समस्याओं का समाधान प्राथमिकता के आधार पर करें।
यह निर्देश नवनियुक्त उपायुक्त निखिल गजराज ने बुधवार को लघु सचिवालय के बैठक कक्ष में जिला अधिकारियों की प्रथम बैठक को सम्बोधित करते हुए अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी अपने कार्यालयों में समय पर पहुंचना सुनिश्चित करें तथा अपने अधीनस्थ कर्मचारियों को भी कार्यालयों में समय पर पहुंचने के लिए निर्देश दें। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी अपने-अपने विभागों की योजनाओं को सही  ढंग से लागू करें ताकि इन योजनाओं का लाभ आम आदमी तक पहुंच सके। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी एक दूसरे विभागों से आपसी तालमेल बना कर कार्याे का प्र्राथमिकता के आधार पर करें। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे अपने फोन को स्वीच ऑफ न करें तथा अपने अधीनस्थ कर्मचारियों को भी निर्देश दें कि वे भी अपने फोन स्वीच ऑफ न करें।
 गजराज ने जिला ग्रामीण विकास एवं प्राधिकरण से संबंधित कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि मनरेगा योजना के तहत अधूरे पड़े कार्यों को पूरा करें, लोगों का जॉब कार्ड बनाए तथा आधार कार्ड के कार्यों को पूरा करें। कोई भी व्यक्ति आधार कार्ड से वंचित न रहे।

4 Dec. 2014