युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

03 दिसंबर 2014

ट्रेकर से मिली लच्छो की आईडी, पकड़े गये लुटेरे

वारदात में हुआ था चोरी के बाईक का प्रयोग

डबवाली (लहू की लौ) युवती की हिम्मत तथा तकनीक ने दो लुटेरों को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है। लूट की गुत्थी सुलझने पर पुलिस ने खुलासा किया कि वारदात में लुटेरों ने चोरी की बाईक का प्रयोग किया था। मंगलवार को पुलिस ने नाबालिग लुटेरे को यूनाईल कोर्ट में पेश किया। जबकि मोबाइल बरामदगी के लिये बालिग आरोपी का एक दिन का पुलिस रिमांड प्राप्त कर लिया।
यह था घटनाक्रम
आढ़ती फर्म झालरिया ट्रेडिंग कंपनी के मालिक बृजमोहन की पुत्रवधू सारिका पत्नी रोहित अपने पांच वर्षीय बेटे प्रणय के साथ 12 नवंबर 2014 की शाम करीब 6 बजे एक निजी अस्पताल से वापिस घर लौट रही थी। अस्पताल से ही एक युवक ने उसका पीछा करना शुरू कर दिया। इसी दौरान बाईक सवार एक युवक दया अस्पताल वाली गली में स्थित उनके मकान के आगे आकर खड़ा हो गया। गली में युवती को अकेला पाकर पीछे आ रहे युवक ने सारिका से उसका पर्स तथा मोबाइल छीन लिया और बाईक पर जा बैठा। दोनों फरार हो गये थे। मोबाइल करीब 22 हजार रूपये का था।
ट्रेकिंग सिस्टम से पकड़ा
सारिका के मोबाइल पर ट्रेकर लगा हुआ था। जैसे ही मोबाइल में नया सिम कार्ड डाला गया। वैसे ही ट्रेकर के जरिये संबंधित मोबाइल नंबर तथा आईडी सारिका के पास आ गई। सारिका के परिजनों ने अपने स्तर पर जांच शुरू कर दी। वारदात के तार पंजाब के थाना लंबी के गांव तपाखेड़ा में जा भिड़े। सारिका ने पुलिस को पूरे मामले से अवगत करवाया। सोमवार को पुलिस ने गांव तपाखेड़ा निवासी कुलदीप सिंह तथा अबुलखुराना निवासी नाबालिग जश्न (बदला हुआ नाम) को काबू कर लिया। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने अपना गुनाह कबूल लिया। मंगलवार को पुलिस ने कुलदीप को उपमंडल न्यायिक दंडाधिकारी परवेश सिंगला की अदालत में पेश किया। अदालत ने उसे एक दिन के पुलिस रिमांड पर सौंप दिया।
पड़ौसी महिला की आईडी दे रखी थी
वारदात को अंजाम देने के बाद कुलदीप ने मोबाइल को सात हजार रूपये में अपने मौसेरे भाई को बेच दिया था। मौसेरे भाई ने पड़ौस में रहने वाली महिला लच्छो की आईडी के आधार पर सिम खरीदा और उसे मोबाइल में डाल लिया। जैसे ही पुलिस ने आईडी के आधार पर लच्छो के घर का दरवाजा खटखटाया, मामले की पोल खुल गई।
मलोट में पढ़ते हैं दोनों लुटेरे
कुलदीप मलोट के एक निजी स्कूल में 12वीं कक्षा का छात्र है। जबकि जश्न उसी विद्यालय की 10वीं कक्षा में पढ़ता है। वारदात के दिन जश्न बाईक चला रहा था। जबकि कुलदीप ने महिला से पर्स तथा मोबाइल छीना था।
चौकी में इंपाऊंड है बाईक
12 नवंबर को वारदात करने के बावजूद लुटेरों के हौंसले बुंलद थे। 14 नवंबर को एक बार फिर वे शहर में वारदात करने पहुंचे। गोल बाजार चौकी क्षेत्र में पुलिस ने बिना नंबर बाईक देखकर उन्हें रोका। बाईक संबंधी कागजात न दिखाने पर पुलिस ने बाईक इंपाऊंड कर ली। जबकि दोनों मौका से खिसकने में कामयाब हो गये थे।
शहर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर दलीप सिंह तथा जांच अधिकारी एसआई भूप सिंह ने बताया कि जिस बाईक पर लुटेरों ने वारदात को अंजाम दिया था। वह गोल बाजार पुलिस चौकी ने 14 नवंबर को इंपाऊंड किया था। नाबालिग आरोपी ने बाईक को अबोहर से दो माह पूर्व चुराया था। आरोपियों ने खुलासा किया है कि शौंक पूरा करने के लिये उन्होंने वारदात को अंजाम दिया था।

सुरैया मैरिज पैलेस में आग से मचा हड़कंप हलवाई ने जान पर खेलकर बुझाई आग

डबवाली (लहू की लौ) मंगलवार दोपहर को गांव डूमवाली में स्थित सुरैया मैरिज पैलेस में खाना बनाते समय आग लग गई। जिस पर हलवाई ने अपनी जान पर खेल कर आग पर काबू पाया।
पैलेस में थे 500 लोग
फायर ब्रिगेड सूत्रों के अनुसार दोपहर को उनके पास सुरैया मैरिज पैलेस में कुकिंग गैस सिलेंडर को आग लगने की सूचना मिली। उस समय गांव डबवाली के एक परिवार का शादी समारोह चल रहा था। गांव डबवाली निवासी गुरतेज सिंह ने बताया उनके शादी थी और वहां पर भोला ङ्क्षसह नामक हलवाई कार्य कर रहा था। इसी दौरान गैस सिलैंडर में लीकेज के चलते भट्ठी से आग लग गई। इसकी जानकारी मिलते ही हलवाई भोला सिंह ने सिलेंडर को बाहर फेंक दिया। पैलेस में लगे अग्निश्मक यंत्र से आग को बुझा दिया। हालांकि इस दौरान हलवाई का हाथ भी आग से झुलस गया।  मौका पर 500 लोग थे। फायर बिग्रेड के पहुंचने से पूर्व ही आग पर काबू पा लिया।



क्षतिग्रस्त कार के टायर, सिलेंडर उड़ाया

डबवाली (लहू की लौ) सिरसा रोड़ पर डेरा कैंटीन के नजदीक सोमवार रात को हुये हादसे में बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुई कार पर चोरों ने हाथ साफ कर दिया। अज्ञात चोर कार के टायर तथा उसमें पड़ा सिलेंडर चुरा ले गये। यहीं नहीं चोरों ने कार में लगे टेप रिकॉर्डर को भी चुराने का प्रयास किया। गौरतलब है कि कुछ समय पहले गांव सांवतखेड़ा के नजदीक हुये सड़क हादसे में अज्ञात चोर क्षतिग्रस्त वाहनों के टायर तथा अन्य सामान चुरा ले गये थे।
बता दें कि ट्रेक्टर-ट्राली मिस्त्री दर्शन सिंह निवासी गांव डबवाली रात को खेत से वापिस घर लौट रहा था। कैंटीन के नजदीक कार के आगे सांड आ गया। कार की टक्कर लगने से सांड की मौत हो गई। जबकि दर्शन सिंह को गंभीर अवस्था में बठिंडा लेजाया गया है।

सालासर में जैन साध्वी का कार्यक्रम 7 को

डबवाली (लहू की लौ) श्री राम सेवा सदन सालासर में जैन साध्वी रवि रश्मी जी महाराज 7 दिसम्बर को प्रवचन करेंगे। सदन के कोषाध्यक्ष गौतम गोयल ने बताया कि प्रवचनों में भाग लेने के इच्छुक डबवाली निवासियों के लिए एक विशेष बस 6 दिसम्बर दिन शनिवार रात को जायेगी। जिसके लिए 300 रूपये सेवा शुल्क प्रति व्यक्ति रखा गया है। यह बस प्रवचनों के बाद वापिस 7 दिसम्बर की रात को सालासर धाम के दर्शन करने के बाद डबवाली लौटेगी। बस में जाने वाले साधकों के लिए रहने व खाने की व्यवस्था नि:शुल्क रहेगी।

कांटा छीनते आढ़ती की दुकान में घुसा लिपिक, हो गया बवाल

डबवाली (लहू की लौ) एसडीएम सतीश कुमार के तबादले के साथ ही सब्जी/फल रेहड़ी मालिकों तथा नगर परिषद के बीच चूहे-बिल्ली जैसा खेल शुरू हो गया है। मंगलवार को सब्जी मंडी तथा बाजार में रेहडिय़ां पहुंचने की सूचना पाकर मौका पर आये नगर परिषद कर्मचारियों को देखकर रेहड़ी वाले भाग खड़े हुये। कर्मचारियों ने पीछा करके उनके कांटे जब्त कर लिये। विरोध होने पर नप टीम को मौका से खिसकना पड़ा। सुबह करीब 10 बजे नगर परिषद के एमई जयवीर डुडी, लिपिक प्रवीण, नवीन तथा कमल सब्जी मंडी में पहुंचे। चारों कार पर सवार थे। अलग-अलग दिशाओं से कर्मचारियों को आता देख रेहड़ी मालिकों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में रेहड़ी मालिक भाग खड़े हुये। कर्मचारियों ने पीछा करके पंद्रह रेहड़ी मालिकों के कांटे जब्त कर गाड़ी में डाल लिये। जिससे रेहड़ी चालकों में आक्रोश पनप गया।
पीछा करते दुकान में घुसा लिपिक, हो गया बवाल
सब्जी मंडी के भीतर एक आढ़ती के आगे फड़ी लगाकर सब्जी बेच रहा एक व्यक्ति अपना कांटा लेकर आढ़ती की दुकान में घुस गया। लिपिक कमल ने दुकान के भीतर से उसका कांटा पकड़ लिया। जिस पर सब्जी आढ़ती, फड़ी वाले तथा रेहड़ी संचालक भड़क गये। लिपिक तथा लोगों में गाली-गलौज के बाद नौबत हाथापाई तक आ गई। आढ़ती ने लिपिक से दुकान में प्रवेश करके जबरदस्ती करने पर जवाब मांगा। बात बिगड़ती देख मौका नगर परिषद कर्मियों ने माफी मांगकर अपना पिंड छुड़वाया।
सब्जी मंडी में एतराज क्यों?
सब्जी मंडी आढ़तियों ने सब्जी मंडी के भीतर रेहड़ी संचालकों के सब्जी बेचने पर रोक लगाने की निंदा करते हुये एमई जयवीर डुडी से पूछा कि उन्हें क्या एतराज है, सब्जी मंडी सब्जी बेचने के लिये ही तो बनी है। आढ़तियों ने कहा कि सब्जी मंडी के बाहर लगने वाली रेहडिय़ों को नप हटा सकती है। एमई जयवीर डुडी ने दो टूक लफ्जों में कहा कि नप किसी के साथ भेदभाव नहीं करेगी। रेहडिय़ों के लिये जो स्थान निर्धारित किया गया है, सभी रेहडिय़ां उसी स्थान पर ही लगेंगी।

निर्धारित जगह पर ही लगेंगी रेहडिय़ां
करीब पंद्रह कांटे कब्जे में लिये गये थे। जोकि सब्जी विक्रेताओं को वापिस कर दिये गये हैं। चूंकि रेहडिय़ां नप द्वारा निर्धारित की गई जगह पर पहुंच गई हैं। सब्जी मंडी में मार्किट कमेटी की एक ट्रेक्टर-ट्राली खड़ी कर दी गई है। जो भी नियमों की पालना नहीं करेगा, उसकी रेहड़ी उठवा ली जायेगी। कुछ लोगों ने नप लिपिकों के साथ गाली-गलौज करके हाथापाई करने की कोशिश की थी। बाद में मामला सुलझ गया।
-जयवीर डुडी, एमई नगर परिषद, डबवाली

रक्तदान शिविर 23 दिसंबर को

डबवाली। युवा रक्तदान सोसायटी रजि. द्वारा अग्निकांड के शहीदों की स्मृति में  23 दिसंबर को प्रात: 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक स्थानीय अग्रवाल धर्मशाला में रक्तदान शिविर का आयोजन किया जाएगा।  संस्था के संस्थापक सुरेंद्र सिंगला ने बताया कि संस्था द्वारा लगाए जा रहे 96वें रक्तदान शिविर में स्वेच्छा से रक्तदान करने वाले महानुभावों से रक्त प्राप्त करने के लिए महाराजा अग्रसेन मेडिकल कॉलेज आग्रोहा ब्लड बैंक की प्रभारी डा. रिचा नैन के सांनिध्य में 12 सदस्यीय टीम भाग लेगी।

बांसल गौशाला के प्रधान बने

डबवाली (लहू की लौ) गौशाला डबवाली के द्विवार्षिक चुनाव मंगलवार को संपन्न हो गये। गौशाला कार्यालय में कार्यकारिणी सदस्यों ने पवन बांसल को सर्वसम्मति से प्रधान चुना।
बैठक में कच्चा आढ़ती एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रकाश चंद बांसल, पूर्व अध्यक्ष हरबिलास निरंकारी, हेमराज जिंदल, सतपाल जिंदल, रमेश मित्तल, प्रवीण सिंगला, शाम लाल, रामलाल बागड़ी, अजनीश धारणियां, नसीब चंद गार्गी, सोमजीत शर्मा, मदन गर्ग, सुरेंद्र सिंगला बीकेओ ने भाग लिया। सर्वसम्मति से प्रधान चुने जाने के बाद गौशाला के शेष पदों पर भी सर्वसम्मति हो गई। गोवर्धन दास गोयल उपप्रधान, जवाहर कामरा सचिव, रामगोपाल मित्तल कोषाध्यक्ष चुने गये। जबकि उपसचिव पद पर नियुक्ति का अधिकार प्रधान को दिया गया।
शोक व्यक्त किया
चुनाव से पूर्व श्री गौशाला सदस्यों ने पूर्व प्रधान कमलेश गोयल के बेटे यशु गोयल की मृत्यु पर दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी। स्वास्थ्य कारणों के कारण कमलेश गोयल के प्रधान पद से दिये इस्तीफा को मंजूर करने के बाद चुनाव संपन्न करवाये गये।

एसडीई को फोन पर धमकाने पर सरपंच पर केस दर्ज

डबवाली (लहू की लौ) बिजली निगम के एसडीई को फोन पर भद्दे शब्दों का प्रयोग कर धमकाने के आरोप में सदर थाना पुलिस ने गांव आसाखेड़ा के सरपंच रामकुमार पर दफा 294 के तहत केस दर्ज करके आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है।
बिजली कर्मचारियों की चेतावनी के बाद दर्ज हुआ मामला
एसडीई मोहन लाल ने 19 अक्तूबर को सदर पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी। इसके बाद एक्सीयन अशोक भनोट के डीएसपी को लिखे पत्र के बावजूद भी पुलिस हरकत में नहीं आई थी। जिससे बिजली कर्मियों में गुस्सा भड़क रहा था। सोमवार को बिजली निगम के कर्मचारियों ने आसाखेड़ा स्थित बिजलीघर पर धरना देकर हरियाणा पुलिस तथा निगम के उच्च अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की थी। जिसके बाद हरकत में आई पुलिस ने आनन-फानन में आसाखेड़ा के सरपंच पर मामला दर्ज कर लिया है।
सदर थाना के कार्यकारी प्रभारी बलवीर सिंह ने बताया कि एसडीई मोहन लाल की शिकायत पर गांव आसाखेड़ा के सरपंच रामकुमार के खिलाफ मामला दर्ज करके आगामी कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

दो करोड़ के टेंडर में नप ने तोड़े नियम, जांच की मांग

डबवाली (लहू की लौ) पूर्व पार्षद सहित कुछ ठेकेदारों ने नगर परिषद पर भ्रष्टाचार के आरोप जड़े हैं। आरोप है कि दो करोड़ रूपये के कार्यों का टैंडर जारी करते समय नियमों की जमकर धज्जियां उड़ाई गई हैं। कुछ ठेकेदारों के साथ मिलकर सरकार को लाखों रूपये का चूना लगाया है।
पूर्व पार्षद रमेश बागड़ी, गोपाल मित्तल ठेकेदार, राकेश बब्बर, सुखविंद्र सूर्या व सुरेश सोनी के अनुसार नगर परिषद ने शहर की 13 गलियों के निर्माण के लिए 27 अगस्त, 2014 को दो करोड़ रुपये के टैंडर काल किये थे। बाद में योजनाबद्ध तरीके से तिथि 8 सितंबर कर दी। तय तिथि की अपेक्षा बिना धरोहर राशि जमा करवाये टेंडर 9 सितंबर को खोले गये। इतना ही नहीं इन टेंडरों की उपायुक्त से मंजूरी लेने के लिए 10 सितंबर 2014 को पत्र लिखा गया तब तक भी धरोहर राशि जमा नहीं हुई थी। यह राशि 12 सितम्बर 2014 को उपायुक्त कार्यालय से मंजूरी मिलने के बाद ही जमा करवाई गई। जो कि सरासर नियमों की अवहेलना है।
शिकायतकर्ताओं ने खुलासा किया कि अधिकारियों ने ठेकेदारों से मिलीभगत कर नगर परिषद को लाखों रुपये का चूना लगाया है। एक गली को दो भागों में बांट दिया गया है। इसमें एक भाग का टेंडर 15 प्रतिशत कम रेट पर है। दो इसी गली का दूसरा भाग 6 से 7 प्रतिशत अधिक रेट पर दिया गया है। इसकी शिकायत 24 सितंबर को की गई थी। इसके बाद उन्होंने 9 अक्तूबर 2014, 20 अक्तूबर 2014, 20 नवंबर 2014 को चार बार शिकायत की गई। लेकिन इसकी जांच होने की बजाय नगर परिषद ने इस मामले को रफा दफा करने के लिए जल्दबाजी में गलियों का निर्माण करवाना आरंभ कर दिया है।
विवादित टेंडर में इन गलियों का हुआ है निर्माण
इस टेंडर में जिन गलियों का निर्माण करवाया गया है उनमें वार्ड नंबर 18 की गली मक्खन शर्मा वाली, वार्ड 18 में ही केंटर यूनियन, इसी वार्ड की महिंद्र मिस्त्री वाली गली है। इन गलियों को आईपीबी बनाया गया है। नगरपालिका से रामबाग तक की आरसीसी गली का निर्माण कार्य चल रहा है। इनके अलावा 9 गलियों का निर्माण ओर किया जाना है।
आरटीआई के तहत मिली जानकारी : शिकायतकर्ताओं ने बताया कि ठेकेदार गोपाल मित्तल ने आरटीआई के जरिये उपरोक्त मामले का भंड़ाफोड़ किया है। आरटीआई के तहत ही तथ्य सामने आये हैं। जिसकी निष्पक्षता से जांच होनी चाहिये।

आरोप पूरी तरह से निराधार
ई-टेंडरिंग के तहत पूरा कार्य हुआ है। नगर परिषद पर लगाये जा रहे आरोप पूरी तरह से निराधार हैं। नप मामले की जांच को तैयार है। -ऋषिकेश चौधरी, सचिव नगर परिषद, डबवाली

3 Dec. 2014





आप लिखित दें, हम धरना उठा लेंगे


भारूखेड़ा के किसानों के आगे झुका नहरी विभाग, सभी मांगे मानी

डबवाली (लहू की लौ) नहरी पानी के लिये गांव भारूखेड़ा के किसानों का संघर्ष रंग लाया। नहरी विभाग के मंडल अभियंता ने किसानों की सभी मांगें पूरी करने का आश्वासन दिया। माईनर में पानी पूरा होते ही सोमवार को चार घंटा चले धरना, प्रदर्शन के बाद किसान शांत हो गये।
बैठने के लिये किसानों ने दी चारपाई
सुबह करीब 9 बजे किसान प्रहलाद सिंह, बलवंत सिंह, प्रवीण कुमार, कालू राम, लाधू राम, किशोरी, दया राम, बनवारी लाल के नेतृत्व में भारूखेड़ा माईनर की टेल पर एकत्रित हुये। किसान वहीं दरी बिछाकर बैठ गये। किसानों ने नहरी विभाग के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। तय समयानुसार तहसीलदार मातू राम नेहरा मौका पर पहुंच गये। जबकि नहरी विभाग के मंडल अभियंता बीके जग्गा 10.30 बजे पहुंचे। किसानों ने तहसीलदार तथा मंडल अभियंता को चारपाई पर बैठाया। किसानों ने मंडल अभियंता को दो टूक शब्दों में कहा कि पिछले चार हफ्तों से एक बूंद पानी उन्हें नसीब नहीं हुआ है, माईनर में एक फुट एक ईंच पानी हर हाल में चलना चाहिये, अन्यथा वे अपने आंदोलन को तेज कर देंगे। जिसकी जिम्मेवारी आपकी होगी। किसानों ने दूसरी मांग रखते हुये कहा कि टेल की हालत दयनीय है, वर्षों से इसकी मुरम्मत नहीं हुई है। इसकी मुरम्मत की जाये। यहीं नहीं टेल पर गंदगी का आलम है। किसानों ने मंडल अभियंता को साथ में लेते हुये जंडवाला मोगा दिखाया। किसानों ने बताया कि मोगे से टेल तक लेवल सही नहीं है। जिसकी वजह से पानी उन तक नहीं पहुंच पाता। किसानों ने यह भी मांग रखी कि आगामी चार हफ्तों तक उन्हें निरंतर पानी मिलना चाहिये, ताकि उनके नुक्सान की भरपाई हो सके।
लिखित में मांगा आश्वासन
मंडल अभियंता बीके जग्गा ने किसानों की उपरोक्त सभी मांगें पूरी करने का आश्वासन दिया। जिस पर किसानों में उबाल आ गया। किसानों ने कहा कि वे पिछले चार हफ्तों से विभाग के अधिकारियों के आगे नहरी पानी का रोना रो रहे हैं। लेकिन आज तक उनकी सुनवाई नहीं हुई। केवल आश्वासन मिलते रहे। इस बार भी कहीं ऐसा न हो, इसलिये उन्हें लिखित में आश्वासन दें। जिस पर बात बिगड़ गई, मंडल अभियंता ने स्पष्ट किया कि वे लिखित में कुछ नहीं दे सकते, किसान उन पर भरोसा करें। किसानों को भरोसा दिलाने के लिये मंडल अभियंता ने तुरंत टेल पर सफाई कार्य आरंभ करवा दिया।

माईनर में पानी पूरा हो गया
नहरी विभाग ने किसानों की सभी मांगों को मान लिया है। माईनर में पानी पूरा हो गया है। जिसके बाद किसानों ने धरना समाप्त कर दिया।
-मातू राम नेहरा, तहसीलदार, डबवाली


जल्द बनाई जायेगी टेल
माईनर में पानी पूरा करवा दिया गया है। किसानों की शेष सभी मांगे जल्द पूरी कर दी जाएंगी। सफाई का कार्य आरंभ करवा दिया गया है। माईनर में चल रहे पानी की चौबीस घंटे रिपोर्ट करने के लिये बेलदार लगा दिया गया है। माईनर की सही ढंग से लेवलिंग करवाई जायेगी। जल्द ही टेल को नया बना दिया जायेगा। भारूखेड़ा के किसानों को आगामी चार हफ्तों में निरंतर नहरी पानी दिया जायेगा।
-बीके जग्गा, मंडल अभियंता, नहरी विभाग, सिरसा

पानी पूरा करवाने के बाद पहुंचे एक्सीयन
रविवार को धरना प्रदर्शन के दौरान जेई नवीन कुमार, एसडीई अशोक कुमार को किसानों ने बंधक बना लिया था। सोमवार को ऐसी स्थिति से बचने के लिये एक्सीयन बीके जग्गा माईनर में पानी पूरा करवाने के बाद ही किसानों के बीच पहुंचे थे। किसानों ने बताया कि टेल से करीब 1100 एकड़ खेतिहर जमीन जुड़ी हुई है। पानी न पहुंचने के कारण पिछले एक माह से गेहूं की बिजाई प्रभावित हो रही थी।

पुलिस बल रहा मौजूद
जेई तथा एसडीई को बंधक बनाये जाने पर किसानों के गुस्से को देखते हुये सोमवार को मौका पर भारी पुलिस बल मौजूद रहा। किसानों की गतिविधियों पर नजर रखने के लिये गुप्तचर विभाग भी मौका पर डटा रहा। इस दौरान गुप्तचर विभाग के कर्मी वट्स ऐप के जरिये अपने उच्च अधिकारियों को परिस्थितियों से अवगत करवाते दिखे।

बीमार है 102 नंबर वाली एंबुलैंस

डबवाली (लहू की लौ) एक हफ्ते से सिविल अस्पताल की एंबुलैंस बीमार पड़ी है। ऐसे में मरीजों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। खासकर डिलीवरी होने के बाद घर जाने वाली महिलाओं को।
राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत चलने वाली एंबुलैंस में 26 नवंबर को खराबी आई थी। तब से अब तक एंबुलैंस शहर की एक वर्कशॉप में उपचार ले रही है। दूसरी ओर विकल्प के तौर पर एंबुलैंस न होने पर चालक हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं। जिससे मरीजों को परेशानी उठानी पड़ रही है। रोजाना तीन से चार महिलाएं डिलीवरी के लिये अस्पताल पहुंचती हैं। इन महिलाओं को सरकारी एंबुलैंस अस्पताल पहुंचाती है, यहीं नहीं डिलीवरी के बाद भी एंबुलैंस उन्हें वापिस घर पहुंचाने का काम करती है। एक हफ्ते से ऐसा नहीं हो रहा। दुर्घटना होने पर भी निजी एंबुलैंस ही मरीजों को लेकर अस्पताल में पहुंच रही हैं।
अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी एमके भादू ने बताया कि दो दिनों के लिये पीएचसी गोरीवाला की एंबुलैंस को डबवाली लाया गया था। फिर वापिस भेज दिया गया। एंबुलैंस न होने के कारण दिक्कत आ रही है। इधर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत जिला सिरसा में एंबुलैंस सेवा देख रहे चेतन ने बताया कि एंबुलैंस लगभग ठीक हो गई है। जो मंगलवार से सड़कों पर दौडऩी शुरू हो जायेगी।

शहर देखूंगा, फिर कमिटमेंट करूंगा-एसडीएम

डबवाली (लहू की लौ) नये एसडीएम संजय राय ने स्पष्ट किया है कि वे पुराने ढर्रे पर चलने वालों में नहीं हैं। वे पहले शहर देखेंगे, फिर लोगों से कमिटमेंट करेंगे। सोमवार को वे ज्वाईनिंग के बाद पहली बार अपने कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।
नहीं रूकेंगे प्रयास
नये एसडीएम ने कहा कि पुराने वाले एसडीएम सतीश कुमार के साथ फोन पर उनकी लंबी बात हुई है। सतीश कुमार ने उनसे अतिक्रमण के खिलाफ चले अभियान तथा स्वच्छता अभियान की पूरी जानकारी दी है। उन्होंने भी वायदा किया है कि उनके प्रयासों को वे रूकने नहीं देंगे। एक सवाल के जवाब में संजय राय ने कहा कि अलग-अलग शहरों में अलग-अलग तरह की परिस्थितियां होती हैं। जो समस्याएं उभरकर आती हैं, उन्हें हल करने की प्राथमिकता होती है। इस क्षेत्र को समझने के बाद जो भी समस्याएं सामने आएंगी, उन्हें तत्परता के तौर पर हल किया जायेगा।
संजय राय ने कहा कि 1986 में उन्होंने एचसीएस की परीक्षा पास की थी। पहली नियुक्ति कैथल में थी। अब तक वे पलवल, होडल, महेंद्रगढ़, रोहतक, झज्जर, बेरी, भिवानी, कालका, करनाल में बतौर एसडीएम कार्य कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि भिवानी में अवारा पशुओं की समस्या थी। जिसकी वजह से हादसे होते थे। अवारा पशुओं पर नकेल कसने के लिये उन्होंने काफी प्रयास किये थे।

कार दुर्घटना में चालक घायल

डबवाली (लहू की लौ) सोमवार देर शाम को गांव डबवाली के पास डेरा कंटीन के पास कार के आगे अचानक अवारा पशु के आ जाने से अनियंत्रित हुई कार पेड़ से जा टकराई। जिससे कार चालक दर्शन सिंह पुत्र अमर सिंह निवासी गांव डबवाली घायल हो गया। दर्शन सिंह को घायल अवस्था में घनईया जी सेवा सोसायटी की एम्बुलैंस ने अस्पताल पहुंचाया। घायल दर्शन सिंह खेत से वापिस घर लौट रहा था।

रोहतक के बाद सबक नहीं, बस में सवार होती छात्राओं से छेड़छाड़

डबवाली (लहू की लौ) राह चलती युवतियों पर अश्लील फब्ती कसना या फिर उनसे छेड़छाड़ आम बात है। अक्सर वारदात के बाद जागने वाली पुलिस गश्त के नाम पर महज नोटंकी करती नजर आती है। रविवार को रोहतक में बेटियों से छेड़छाड़ की वारदात के बाद भी पुलिस संजीदा नहीं दिखी। हर रोज की तरह मनचले युवक राह चलती युवतियों से छेड़छाड़ करते नजर आये।
शहर थाना के सामने बस अड्डा भी इससे अछूता नहीं रहा।  अड्डा में झुंड बनाकर खड़े युवकों ने बस पकडऩे के लिये शहर के शिक्षण संस्थानों से लौटी युवतियों को देखकर सीटी बजानी शुरू कर दी। कई युवक लड़कियों के पीछे हो गये। उन पर फब्ती कसने के बाद इशारे करते हुये उनके आगे निकल गये। जब युवतियों ने बस में सवार होना चाहा तो युवक उसे घेरकर खड़े हो गये। सरेआम युवकों की इस हरकत पर किसी ने भी किंतु-परंतु नहीं की।
बस में सवार होने पर छेड़छाड़
जैसे ही युवतियां बस में सवार होने लगी युवकों ने उनसे छेड़छाड़ करने लगी। बस परिचालक ने युवकों को ऐसा करने से रोका। युवकों को युवतियों से अलग करते हुये उन्हें बस में सवार नहीं होने दिया।

बिजली निगम के अधिकारियों पर कर्मचारियों का हल्ला बोल, प्रदर्शन

डबवाली (लहू की लौ) एसडीई से गाल गलौज करके जान से मारने की धमकी देने के मामले में आसाखेड़ा के सरपंच पर कार्रवाई न होने से गुस्साये बिजली कर्मचारी निगम अधिकारियों पर ढिलमुल रवैया अपनाने का आरोप लगाते हुये सोमवार को हड़ताल पर चले गये। गांव आसाखेड़ा स्थित 132 केवी सबस्टेशन पर एकत्रित हुये कर्मचारियों ने निगम के उच्च अधिकारियों समेत हरियाणा पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।
एचएसईबी वर्कर यूनियन सबयूनिट चौटाला के अध्यक्ष करनैल सिंह, ऑल हरियाणा पॉवर कार्पोरेशन वर्कर यूनियन सबयूनिट चौटाला के अध्यक्ष मनीराम, यूनिट सचिव सुरेश कड़वासरा, सुभाष चंद्र, हरविंद्र सिंह, हंसराज वर्मा, भाल सिंह, राधेश्याम, रामकुमार के नेतृत्व में बिजली कर्मचारी गांव आसाखेड़ा स्थित 132केवी सबस्टेशन पर एकत्रित हुये। कर्मचारी हड़ताल पर जाने के बाद धरने पर बैठ गये। सबस्टेशन के एसडीई मोहन लाल से हुई बदसलूकी के मामले में कार्रवाई न होने पर निगम के उच्च अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। हरियाणा पुलिस के खिलाफ भी नारेबाजी कर प्रदर्शन किया।
फोन पर एसएचओ बोला, धरना समाप्त कर दो
सूचना पाकर मौका पर पहुंचे सीआईडी जवानों ने प्रदर्शनकारियों की बात फोन पर एसएचओ विनोद कुमार से करवाई। एसएचओ ने सोमवार शाम तक कार्रवाई करने का आश्वासन देकर कर्मचारियों से धरना समाप्त करने के लिये कहा। लेकिन कर्मचारियों ने उनके आश्वासन को दरकिनार करते हुये कहा कि एसडीई से दुव्र्यवहार हुये को करीब दो हफ्ते हो गये हैं। शिकायत के बावजूद पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। केवल आश्वासन दिये। जबकि सरपंच अभी तक धमकियां दे रहा है।
गांव में गये तो बोला, आगे से पूछकर गांव में घुसना
बिजली कर्मचारियों ने सरपंच पर आरोप लगाया कि एसडीई मामले के बाद रिकवरी के लिये निगम की टीम गांव आसाखेड़ा में गई थी। उस दौरान सरपंच ने फिर बदसलूकी की। सरपंच ने कहा कि आगे से गांव में पूछकर घुसना। ऐसे में उनका बिल रिकवरी कार्य प्रभावित हुआ। सरपंच ने सरकारी कार्य में बाधा डाली।
निगम अधिकारियों ने किया अनसुना
कर्मचारियों ने बताया कि निगम के उच्च अधिकारी उपरोक्त मामले से अच्छी तरह से अवगत हैं। न तो उन्होंने एसडीई मोहन लाल के मामले में कोई कदम उठाया। न ही कर्मचारियों को धमकाने के मामले में। दोनों मामलों में उच्च अधिकारियों का रवैया संदेहजनक रहा है। कर्मचारियों ने बताया कि अगर सरपंच के विरूद्ध मामला दर्ज नहीं हुआ तो वे आंदोलन को तेज कर देंगे। जिसकी जिम्मेवारी निगम अधिकारियों तथा पुलिस प्रशासन की होगी।
मीटर उखाडऩे का मामला
गौरतलब है कि एसडीई मोहन लाल कुछ दिन पहले बिल न भरने के कारण गांव आसाखेड़ा के सरपंच का मीटर उखाड़ लाये थे। जिसके बाद सरपंच ने फोन पर एसडीई से बदसलूकी की। अपने साथियों समेत उनका पीछा भी किया था।

सीडी उपलब्ध करवाये निगम
देखिये, हमारे पास शिकायत आई थी। एसडीई तथा सरपंच की फोन पर बातचीत हुई है। बिजली निगम ने बातचीत की सीडी उपलब्ध करवाने की बात कही थी। जो आज तक पुलिस को नहीं मिली है। आसाखेड़ा में धरने पर बैठे कर्मचारियों से मोबाइल पर बात हुई थी। कर्मचारी एफआईआर दर्ज करने की मांग पर अड़े हुये हैं।
-विनोद कुमार, प्रभारी
सदर थाना, डबवाली

पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई
मामला मेरी नोटिस में है। पहले स्थानीय पुलिस अधिकारियों के ध्यान में मामला लाया गया था। हमने पूरी कोशिश की। लेकिन पुलिस ने कार्रवाई नहीं की, जो कि गलत है। सरपंच पर कार्रवाई के लिये एक्सीयन अशोक भनोट तथा शिकायतकर्ता एसडीई आज सिरसा में एसपी से मिले हैं। निगम के उच्च अधिकारियों के खिलाफ कर्मचारियों के आरोप गलत हैं। -आरके वर्मा, एसई
बिजली निगम, सिरसा

नेहरू स्कूल ने निकाली जागरूकता रैली

डबवाली (लहू की लौ) नेहरू सीनियर सैकेंडरी स्कूल के विद्यार्थियोंं ने सोमवार को विश्व एड्स दिवस पर शहर में जागरूकता रैली निकाली। रैली को सामान्य अस्पताल के एसएमओ डॉ. एमके भादू व आईसीटीसी काऊंसलर सीता राम ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
अपने संबोधन में डॉ. भादू ने कहा कि एड्स की बीमारी एचआईवी वायरस से फैलती है। इससे बचाव का उपाय यह है कि केवल लाईसेंस प्राप्त रक्त बैंक से जांच किए रक्त का इस्तेमाल करें। स्कूल प्रिंसीपल हरि प्रकाश शर्मा ने एड्स के बारे में फैली भ्रातियों का निवारण किया। उन्होंने बताया कि एड्स रोगी को छूने से, उसके साथ खाना खाने से अथवा मच्छर आदि के काटने से यह बीमारी नहीं फैलती। इसकी उचित जानकारी से ही इससे बचाव किया जा सकता है।
बाद में रैली में शामिल बच्चेे कॉलोनी रोड़, बस स्टैंड, गोल चौक व जीटी रोड़ से होते हुए वापिस स्कूल में पहुंचे। छात्राओं ने एड्स से बचाव से संबंधित नारे लगाते हुए लोगों को जागरूक किया। मौके पर जीवन कुमार सिंगला, जसविंद्र मनकू, एनएसएस प्रभारी दीपक सेठी, महेंद्र कुमार, अमनदीप कौर, समता जुनेजा, संजीव चंजोत्रा, कुलविंद्र सिंह उपस्थित थे। 

राकेश वधवा ने संभाला कार्यकारी प्रिंसीपल का पद

डबवाली (लहू की लौ) राजकीय कॉलेज के प्रिंसीपल डॉ. पवन गर्ग के सेवानिवृत्त होने पर सोमवार से प्रो. राकेश वधवा ने कार्यकारी प्रिंसीपल का कार्यभार संभाल लिया। कार्यकारी प्रिंसीपल राकेश वधवा ने बताया कि कॉलेज के रूके हुए विकास कार्यों को गति दी जायेगी। चार लाख रूपये की राशि से लैब और 2 लाख रूपये से कॉलेज की लाईब्रेरी को ई-लायब्रेरी बनाया जायेगा। उन्होंने यह भी बताया कि छात्राओं को बस सुविधा उपलब्ध करवाने का प्रयास भी किया जायेगा।

'न्यायालयों से बाहर मामले निपटाने की योजना

डबवाली(लहू की लौ) हरियाणा के बिजली वितरण निगमों ने न्यायालयों में लम्बित सभी तरह के मामले कोर्ट से बाहर निपटाने के लिए तुरंत प्रभाव से एक नई योजना शुरू की है। इसके अंतर्गत सभी मामलों को जिला स्तर पर स्थापित लोक अदालतों के माध्यम से निपटाया जाएगा।
दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के प्रबन्ध निदेशक अरूण कुमार वर्मा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि यह योजना 31 दिसम्बर, 2014 तक जारी रहेगी। इस योजना के तहत 31 मार्च, 2014 तक न्यायालयों, जिला न्यायालयों, उपभोक्ता अदालतों, राज्य कमीशन व विवेचन (आरबिट्रेशन) के सभी लम्बित मामलों को शामिल किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत जुर्माने के सभी मामलों में उपभोक्ता प्रारम्भ में लगाए गए जुर्माने की 50 प्रतिशत राशि 12 प्रतिशत वार्षिक साधारण ब्याज के साथ अदा कर सकते हैं।
वर्मा ने बताया कि जिन मामलों में अनाधिकृत लोड पकड़ा जाने के कारण उपभोक्ता निम्न दबाव उद्योग से उच्च दबाव उद्योग श्रेणी में आ गया हो और सेल ऑफ पावर पर तय 25 प्रतिशत एल.टी.शुल्क लगाया गया हो, जिन मामलों में उपभोक्ता का औसत आधार पर बिल बनाया गया हो, मीटर की कम गति के आधार पर एम.एण्ड पी. विंग द्वारा जुर्माना लगाया गया हो तथा जहां मीटर की मंद गति होने की सही तिथि नहीं ली गई हो, ऐसे मामलों में 'न्यायालयों से बाहर मामले निपटाने की योजनाÓ लागू होगी। इस योजना के तहत विकास शुल्क की लेवी के विवादित मामले भी निपटाए जा सकते हैं।