युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

14 दिसंबर 2010

मुख्यमंत्री का पुतला फूंका

डबवाली (लहू की लौ) जल सप्लाई एण्ड सेनीटेशन मस्ट्रोल इम्पलाइज यूनियन के गांव बादल जाकर मुख्यमंत्री का पुतला फूंकने की योजना को पंजाब पुलिस ने नाकाम बना दिया। जिसके चलते यूनियन को लम्बी में ही यह पुतला फूंकना पड़ा।
मस्ट्रोल कर्मचारियों का आमरन अनशन सोमवार को 8वें दिन में प्रवेश कर गया है। 13 दिसम्बर को यूनियन ने लम्बी में ऐतिहासिक रैली करने की घोषणा के साथ-साथ गांव बादल में पहुंच कर मुख्यमंत्री पंजाब प्रकाश सिंह बादल का पुतला फूंकने का निर्णय लिया था। जिसके चलते पंजाब पुलिस ने बादल गांव को जाने वाले सभी रास्तों पर नाकाबंदी करके इस क्षेत्र को पुलिस छावनी में बदल दिया था। 13 दिसम्बर को अपनी घोषणा के अनुरूप यूनियन ने मस्ट्रोल कर्मचारियों की रैली लम्बी में की। रैली के बाद कर्मचारी बादल की ओर कूच करते हुए, पुलिस के दो नाकों को तोड़ते हुए अभी कुछ दूरी पर ही गये थे कि पंजाब पुलिस के जवानों ने उन्हें घेर लिया और आगे जाने से लम्बी में ही खेल स्टेडियम के पास रोक लिया। बादल पहुंचने में असफल रहने पर मस्ट्रोल कर्मचारियों ने प्रकाश सिंह बादल के पुतले को स्टेडियम के पास भारी पुलिस बल के सामने फूंक दिया। इस मौके पर कर्मचारियों ने बादल सरकार के खिलाफ रोष भरी नारेबाजी की। इसके बाद इन कर्मचारियों ने खेल स्टेडियम में ही अपना जमावड़ा लगा लिया।
इस मौके पर सम्बोधित करते हुए जल सप्लाई एण्ड सेनीटेशन मस्ट्रोल इम्पलाईज यूनियन पंजाब के प्रधान सुखनन्दन सिंह मैहनिया ने कहा कि उनका आज का कार्यक्रम केवल टे्रलर था। अगर 24 दिसम्बर तक भी पंजाब सरकार नहीं जागी तो इस आंदोलन को और तेज करते हुए 25 दिसम्बर को मस्ट्रोल कर्मचारियों अपने परिवारों के साथ बादल की ओर कूच करेंगे और वहां पर हर हालत में मुख्यमंत्री बादल का पूतला फूकेंगे। उन्होंने कहा कि मांग न माने जाने तक आमरन अनशन भी जारी रहेगा। इस मौके पर उन्होंने अपने साथियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि पंजाब सरकार उनके साथ भेदभाव बरत रही है। तीन साल पहले एडहॉक पर चल रहे 14 हजार अध्यापकोंं को पंजाब सरकार ने नियमित कर दिया। जबकि पिछले 20 वर्षों से मस्ट्रोल कर्मचारियों के रूप में संताप जेल रहे 3511 कर्मचारियों को आज तक सरकार ने नियमित नहीं किया और न ही उनकी सुध ली है।
इस मौके पर यूनियन नेताओं में से मुकेश कुमार संयुक्त सचिव, मोती लाल चेयरमैन, चन्द सिंह मलेरकोटला, पवन कुमार पम्मा, हरजीत सिंह मोगा, चरणजीत सिंह मोगा, बिट्टू मलोट, गुरजन्ट सिंह होलांवाली, राजकुमार फिरोजपुर, स्वर्ण सिंह पठानकोट, तेजवन्त सिंह फरीदकोट, जुगराज सिंह फरीदकोट, राकेश कुमार जैतीपुर, शमपाल सिंह, रूप सिंह कराईवाला, विजय कुमार, दर्शन सिंह, हरदीप सिंह बाबा, सूबा सिंह मलेछा, भजन सिंह मरखाई, सुखबीर बोगेवाला, करनैल सिंह, महिन्द्र सिंह, मुख्तियार सिंह, रामगोपाल, राकेश बातिश, जसविन्द्र सिंह, लाल चन्द, साधु सिंह, दर्शन सिंह, जितेन्द्र कुमार, लक्खा सिंह, गुरदर्शन सिंह पटियाला, सुरेन्द्र शर्मा, सर्वजीत, राकेश कुमार आदि ने सम्बोधित किया।
सुरक्षा व्यवस्था को चाक-चौकत बनाये रखने के लिए मौका पर एसएसपी मुक्तसर इन्द्रमोहन सिंह, एसपी (एच) आशुतोष कौशल, एसडीएम मलोट प्रवीन थिंद, थाना लम्बी प्रभारी हरिन्द्र सिंह चमेली अपने दल बल के साथ उपस्थित थे।

गरीबी, भूखमरी, अनपढ़ता और भ्रष्टाचार भारत के दुश्मन-मनप्रीत सिंह बादल

डबवाली (लहू की लौ) पंजाब के पूर्व वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने कहा कि भारत का दुश्मन न तो पाकिस्तान है और न ही चीन। अगर कोई दुश्मन है तो वह है गरीबी, भूखमरी, अनपढ़ता और भ्रष्टाचार।
वह रविवार देर रात को सम्पन्न हुए ईस्टवुड इंटरनैशनल स्कूल डूमवाली के वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह के अवसर पर उपस्थित लोगों, विद्यालय अध्यापकों एवं विद्यार्थियों को बतौर मुख्य अतिथि सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि हम सब मिल कर गरीबी, भूखमरी, अनपढ़ता और भ्रष्टाचार के खिलाफ संघर्ष करें। उन्होंने कहा कि वर्तमान युग में युवाओं की नौकरी में जाने की प्राथमिकता बदल गई है। पहले युवक देश की रक्षा के लिए फौज में भर्ती होना गौरव समझते थे। लेकिन आज उनका लक्ष्य पैसा कमाना और बहुराष्ट्रीय कम्पनियों में सर्विस पाकर अपने सपनों को पूरा करना है। 
उन्होंने कहा कि उन्होंने कपूरथला के सैनिक स्कूल के कमांडेंट से बातचीत की तो उन्हें बताया गया कि पंजाब का युवक अब फौज में भर्ती होने से कतरा रहा है। जिसके चलते सैनिक स्कूल में पंजाब से बहुत कम बच्चे शिक्षा पाने के लिए आते हैं। उन्होंने उपस्थित अभिभावकों से सवाल किया कि क्या हमारा उद्देश्य पैसा कमाना रह गया है। यदि हमारे युवक बॉर्डर पर पहुंच कर देश की रक्षा नहीं करेंगे तो क्या हम अपने उद्देश्य में सफल हो सकेंगे। उन्होंने स्वयं ही इसका उत्तर दिया और कहा कि पैसा कमाओ लेकिन कुछ समय भारत माता की सेवा में भी लगाओ। ताकि रिश्वत, अनपढ़ता और वतन दुश्मनों के खिलाफ लड़ सकें। उन्होंने यह भी कहा कि अगर हमारी वर्तमान प्रवृत्ति न बदली तो हमें मदर टेरेसा जैसे समाज सेवक और भगत सिंह जैसे देश भक्त कहां से मिलेंगे। 
उन्होंने स्कूल प्रबंधक समिति से अनुरोध किया कि विद्यालय प्रति वर्ष कम से कम 10 बच्चे नैशनल डिफेंस अकैडमी के लिए तैयार करे। इस मौके पर स्कूल प्रबंधक समिति की ओर से शिक्षा, सांस्कृतिक कार्यक्रमों और खेलों में मेधावी रहने वाले विद्यार्थियों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। इससे पूर्व विद्यालय के बच्चों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया। बच्चों ने वेस्टर्न डांस दिखाया। वहीं माई फेयर लेडी, कबालिया नृत्य, चंद जदों रोटी लगदा है, ओम, बंदे में था दम आदि प्रस्तुति देकर दर्शकों का मन मोह लिया। वहीं पंजाबी भांगडा ने लोगों को नचा डाला।
स्कूल प्रबंधक समिति के चेयरमैन बलराज सिंह ढिल्लों तथा सचिव संजम बादल ने मुख्य अतिथि मनप्रीत सिंह बादल का स्वागत किया। विद्यालय की प्रिंसीपल सुषमा एंथनी ने विद्यालय की वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत की और आये हुए मेहमानों का धन्यवाद किया। इस मौके पर विशेष अतिथि के रूप में कर्नल रशनील चहल, कर्नल जगदीप धालीवाल उपस्थित हुए।









पशु चोर गिरोह पकड़ा

डबवाली (लहू की लौ) ग्रामीणों की नाक में दम करने वाले अन्तर्राज्यीय पशु चोर गिरोह के तीन सदस्यों को चौटाला पुलिस ने नाटकीय ढंग से गिरफ्तार कर लिया। जबकि गिरोह का सरगना अभी पुलिस गिरफ्त से बाहर है।
18-19 नवंबर 2010 की रात को कुछ लोगों ने गांव सकताखेड़ा की मिट्ठू सिंह की ढाणी में प्रवेश करके उसके घर में बंधी भैंस को चुरा लिया था। आरोपी भैंस को सड़क पर खड़े टाटा-207 में लादकर फरार होने वाले थे। लेकिन इस दौरान ढाणी मालिक मिट्ठू सिंह की आंख खुल गई। मिट्ठू सिंह के शोर मचाने पर आरोपी भैंस लदी गाड़ी वहीं छोड़कर फरार हो गए थे।
ढाणी मालिक मिट्ठू सिंह ने इसकी सूचना चौटाला पुलिस चौकी को दी और मौका पर पहुंची पुलिस ने टाटा-207 को अपने कब्जे में ले लिया। जिस पर पीबी 30एफ/9137 नम्बर अंकित था। पुलिस ने मामला दर्ज करके आरोपियों की तालाश शुरू कर दी। तफ्तीश चल रही थी और चौटाला पुलिस चौकी प्रभारी एसआई जीत सिंह को रविवार को सूचना मिली कि आरोपी गांव जोतांवाली के बस अड्डा पर खड़े हुए हैं। वे मुद्दई को साथ लेकर मौका पर पहुंचे और मुद्दई की पहचान पर भैंस चोर गिरोह के तीन सदस्यों को काबू कर लिया।
चौटाला चौकी प्रभारी एसआई जीत सिंह ने उपरोक्त पुष्टि करते हुए बताया कि पकड़े गए आरोपियों ने अपनी पहचान बलजीत उर्फ बब्बू (24) पुत्र प्रेम सिंह निवासी अलियाना थाना अरनिवाला जिला फिरोजपुर, राजू (20) पुत्र दौलत राम निवासी हाकूवाला थाना लम्बी जिला मुक्तसर, भीम (27) पुत्र देसराज निवासी लोहगढ़ जिला सिरसा के रूप में करवाई। इन लोगों ने पुलिस के समक्ष स्वीकार किया कि उनका सरगना सुक्खा (35) पुत्र रूलदू उर्फ रेशम सिंह निवासी गांव साहबचन्द थाना गिदड़बाहा जिला मुक्तसर है।
आरोपियों को सोमवार को उपमण्डल न्यायिक दण्डाधिकारी महावीर सिंह की अदालत में पेश करके पुलिस ने पूछताछ के लिए एक दिन का पुलिस रिमांड ले लिया।

रोड़वेज की बस का शीशा तोड़ा

डबवाली (लहू की लौ) शराब के नशे में धुत्त दो युवाओं ने शराब की खाली बोतल पंजाब रोड़वेज की बस पर फेंक कर उसका शीशा तोड़ डाला। पूछताछ के लिए पुलिस ने दोनों युवकों को हिरासत में ले लिया। सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार डबवाली की इन्दिरा नगरी के रवि और मिथुन नामक दो युवक हरियाणा रोड़वेज की एक बस में सिरसा के लिए डबवाली से रवाना हुए थे और इन युवकों ने बस में ही शराब पीकर बोतल खाली कर ली। युवकों ने नशे में चोरमार के पास खाली बोतल को बस से बाहर फेंक दिया। यह बोतल सिरसा साईड से आ रही पंजाब रोड़वेज की बस के शीशे पर जा लगी। जिससे शीशा टूट गया। बताया जाता है कि पंजाब रोड़वेज बस के चालक गुरप्रीत सिंह ने सवारियों के सहयोग से हरियाणा रोड़वेज की बस में सवार उक्त शरारती युवकों को दबोच लिया और डबवाली लाकर पुलिस के हवाले कर दिया।

गायब पांच लाख दो दिन बाद मिले

डबवाली (लहू की लौ) यहां की एक आढ़तिया की दुकान से शनिवार को रहस्यमय ढंग से गायब हुई पांच लाख रूपए की राशि सोमवार को नाटकीय ढंग से वापिस मिल गई।
प्राप्त जानकारी अनुसार नई अनाज मण्डी में स्थित आढ़ती फर्म रहेजा ट्रेडिंग कंपनी पर शनिवार को एक किसान दो लाख रूपए की राशि लेने के लिए आया और उसने फर्म के मालिक जयचन्द रहेजा को फोन किया कि उसे दो लाख रूपए की राशि चाहिए। जिस पर तुरंत राशि दुकान पर पांच लाख रूपए की राशि पहुंच गई। जिसमें से दो लाख रूपए किसान को दे दिए गए और तीन लाख रूपए वापिस फर्म मालिक के पास पहुंच गए। लेकिन इससे पूर्व भी पांच लाख रूपए की राशि दुकान पर आई थी। जो रहस्यमय ढंग से फर्म मालिक को रोकड़ मिलान के दौरान गायब मिली।
फर्म मालिक जयचन्द रहेजा ने बताया कि शनिवार को ही उसे राशि गायब करने वाले पर संदेह हो गया था। लेकिन रविवार को घर पर रिश्तेदार आने के कारण फिलहाल मामला टल गया। लेकिन सोमवार को संबंधित व्यक्ति गायब की गई राशि लौटा गया। रहेजा ने इस व्यक्ति का नाम बताने से इंकार कर दिया। सिर्फ इतना ही कहा कि राशि मिल गई है। यहीं गनीमत है।

टैंकर ने कुचला

डबवाली (लहू की लौ) राष्ट्रीय राजमार्ग नं. 10 पर स्थित बूस्टिंग स्टेशन के सामने रविवार रात को एक तेजगति तेल टैंकर ने साईकिल सवार को कुचल दिया। बाद में बिजली के खम्बे को तोड़ता हुआ डिवाईडर पर जा चढ़ा। थाना शहर पुलिस डबवाली ने टैंकर चालक के खिलाफ मामला दर्ज करके उसकी तालाश शुरू कर दी है।
भारत संचार निगम लि. उपमण्डल डबवाली के एसडीई मनमोहन शर्मा (55) निवासी वार्ड नं. 18, डबवाली ने पुलिस को दिए ब्यान में कहा है कि वह रविवार रात को अपने एक मित्र के घर से वापिस अपने घर आ रहा था। जब वह मनसा दास डेरा के पास पहुंचा तो उसने देखा कि उसका भाई जयराम (40) निवासी वार्ड नं.18, डबवाली सिरसा साईड से अपनी साईकिल पर आ रहा है। अचानक पीछे से आए एक तेजगति तेल टैंकर ने उसमें टक्कर मार दी। उसके भाई को कुचलने के बाद यह तेल टैंकर बिजली के खम्बे को तोड़ता हुआ डिवाईडर पर जा चढ़ा। जयराम ने मौका पर ही दम तोड़ दिया। जयराम बिजली विभाग में एएलएम के पद पर कार्यरत था।
मामले की जांच कर रहे थाना शहर पुलिस के एएसआई सूबे सिंह यादव ने बताया कि दुर्घटना के बाद आरोपी तेल टैंकर चालक टैंकर को मौका पर छोड़कर फरार हो गया। पुलिस ने मृतक एएलएम जयराम (40) के भाई मनमोहन शर्मा निवासी वार्ड नं. 18, डबवाली के उपरोक्त ब्यान पर तेल कैंटर चालक के खिलाफ मामला दर्ज करके उसकी तालाश शुरू कर दी है। सोमवार को डबवाली के सरकारी अस्पताल से शव का पोस्टमार्टम करवाने के बाद उसे उसके वारिसों को सौंप दिया।