युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

26 नवंबर 2014

कंपनी छोड़ बना बाईक चोर,गैंग सहित पुलिस के हत्थे चढ़ा

डबवाली (लहू की लौ) फाईनैंस कंपनी में अच्छे दिन चल रहे थे। बार-बार हो रहे तबादलों ने नींद हराम कर दी। अच्छी-भली नौकरी छोड़कर मधुमक्खी पालन का व्यवसाय करने की ठानी। नया काम शुरू करने से पहले ही बाईक चोर गिरोह का सदस्य बन बैठा। यह अनाड़ी चोर पहली दफा ही पकड़ा गया। बठिंडा की जेल में बंद इस चोर का प्रॉडक्शन वारंट हासिल करके गोल बाजार पुलिस ने आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है।
दो दिन के रिमांड पर गया आरोपी
डबवाली में कपड़े का काम करने वाले डिप्टी सरूप जैन का बाईक 22 सितंबर 2014 को राजा राम स्कूल के नजदीक स्थित जैन संस्थान के आगे खड़ा था। जैन ने जब अपना बाईक संभाला तो गायब मिला। कपड़ा विक्रेता की शिकायत पर शहर थाना पुलिस बाईक चोरी का मामला दर्ज करके आगामी कार्रवाई शुरू कर दी। इसी दौरान पंजाब की बठिंडा पुलिस ने 14 नवम्बर 2014 को बाईक चोर गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए कुछ युवकों को काबू किया। एक आरोपी ने बठिंडा पुलिस के समक्ष डबवाली से बाईक चोरी करने की बात कबूली। जिसकी सूचना सांझा करते हुए बठिंडा पुलिस ने डबवाली पुलिस को दी। गोल बाजार पुलिस ने मंगलवार को प्रोडक्शन वारंट पर आरोपी को बठिंडा पुलिस से प्राप्त कर लिया। जिसे उपमंडल न्यायिक दंडाधिकारी परवेश सिंगला की अदालत में पेश करके दो दिन का पुलिस रिमांड हासिल कर लिया।
गुनाह कबूला
पुलिस रिमांड पर लिये गये 24 वर्षीय लखवीर सिंह पुत्र जगदेव सिंह ने बताया कि वह जिला बठिंडा के गांव पिसीयाना का रहने वाला है लेकिन अब हनुमानगढ़ में किराये पर रह रहा है। वह एक फाईनैंस कम्पनी में कार्यरत था। उसकी पहली पोस्टिंग अमृतसर में, इसके बाद उसे संगरूर, फिर हिमाचल और अब जयपुर भेजने के आदेश हुए थे। बार-बार के तबादले से परेशान होकर वह मधु मक्खी पालन का काम करने की सोच रहा था कि इसी दौरान उसकी दोस्ती गोनियाना निवासी राहूल से हुई, जो बाईक चोर गिरोह का सरगना था। उस पर संगति का रंग चढ़ा और उसने भी अमीर बनने का शॉर्टकट रास्ता चुनते हुए डबवाली से 22 सितम्बर को बाईक चुरा लिया और इस बाईक को अपने दोस्त राहूल को दे आया। इसी दौरान उनका गैंग बठिंडा पुलिस के हाथ चढ़ गया और वह भी पकड़ा गया। लखबीर के अनुसार उसकी यह पहली चोरी थी।
यूं मिला था बाईक
गोल बाजार पुलिस चौकी के एसआई भूप सिंह ने बताया कि बाईक चोरी करने के बाद आरोपी बाईक को बठिंडा ले गया। बठिंडा स्थित पूर्ण ऑटो वक्र्स पर बाईक को खड़ा करने के बाद वापिस नहीं लौटा। ऑटो वक्र्स के मालिक पूर्ण ने बाईक में मिले कागजात पर लिखे एक मोबाइल नंबर पर डॉयल किया। डॉयल नं. बाईक मालिक डिप्टी जैन का था। ऑटो वक्र्स मालिक से बाईक खड़े होने की सूचना पाकर जैन ने तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने 5 अक्तूबर 2014 को बाईक बरामद कर लिया। एसआई के अनुसार रिमांड अवधि के दौरान लखबीर सिंह की निशानदेही पर बाईक के कागजात व अन्य चोरियों का सुराग लगाने का प्रयास किया जायेगा।

गरीब के लुटने के बाद नगर परिषद ने जलाई लाईट

डबवाली (लहू की लौ) रामबाग के नजदीक करीब दो हफ्तों से बंद पड़ी स्ट्रीट लाईट एक गरीब के लुटने के बाद मंगलवार को जल गई। हालांकि लोग कई दफा नगर परिषद में शिकायत दर्ज करवा चुके थे।
सोमवार रात करीब साढ़े नौ बजे भाटी कलोनी में रहने वाला नंदू दूध लेकर पैदल ही वापिस घर लौट रहा था। रामबाग के नजदीक बाईक लिये खड़े तीन युवकों ने उसे रोककर पीटना शुरू कर दिया। उसकी जेब से 500 रूपये निकाल लिये। युवकों से बचने के चक्कर में उसका दूध वहीं बिखर गया। शोर मचाने पर युवक बाईक लेकर चौटाला रोड़ की ओर फरार हो गये। नंदू के अनुसार उस समय क्षेत्र में अंधकार छाया हुआ था। एक भी स्ट्रीट लाईट नहीं जल रही थी।
इधर विजय खनगवाल, किशोरी डाबला, शीतल कुमार ने बताया कि महक हत्याकांड के बाद प्रशासन ने स्ट्रीट लाईट लगवाई थी। लगने के बाद अधिकांश समय बंद रहती हैं। अब भी पिछले पंद्रह दिनों से बंद थी। उन्होंने कई बार इसकी शिकायत नगर परिषद कार्यालय में की। व्यक्तिगत तौर पर भी भवन निरीक्षक सुमित ढांडा से लाईट जलाने के लिये कहा। लेकिन कोई सुनवाई नहीं। आखिरकार सोमवार रात को एक गरीब से वारदात होने के बाद शिकायत एसडीएम कार्यालय में की। जिसके बाद नगर परिषद ने मंगलवार शाम को मौका पर पहुंचकर बंद पड़ी लाईट ठीक की।
भवन निरीक्षक सुमित ढांडा ने बताया कि रामबाग के नजदीक करीब 18 पोल लगे हुये हैं। नशेड़ी युवक स्ट्रीट लाईट की केबल काट देते हैं। जिसकी वजह से लाईट बंद हो जाती है। मंगलवार को मौका का निरीक्षण करने पर दो जगह से केबल कटी हुई मिली। जिसे जोडऩे के बाद स्ट्रीट लाईट जल गई।

अज्ञात का शव मिला, हाथ पर लिखा है सुनील

डबवाली (लहू की लौ) मंगलवार को गोरीवाला पुलिस चौकी को गांव बिज्जूवाली क्षेत्र में दौलत राम के खेत से एक गली सड़ी हालत में अज्ञात व्यक्ति की लाश मिली है। 
पुलिस चौकी के एएसआई रामफल ने बताया कि पुलिस को गांव बिज्जूवाली के सरपंच राजा राम बिरट ने सूचना दी थी कि उनके गांव में किसान दौलत राम के खेत में एक गली सड़ी हालत में लाश पड़ी है। जोकि राजपुरा माईनर में बह कर खेत में पानी लगाते समय आई है।
एएसआई रामफल के अनुसार लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए डबवाली के सरकारी अस्पताल में लाया गया।  आयु करीब 35-40 साल मानी जा रही है। उसके बायें हाथ पर अंग्रेजी में सुनील लिखा हुआ है। जबकि इसी हाथ पर नीला और लाल रंग का धागा तथा बायें पैर पर काला धागा बंधा हुआ है।
शव को पोस्टमार्टम के लिए अग्रोहा मैडीकल कॉलेज रैफर कर दिया गया है। शव की शिनाख्त के लिए उसे 72 घंटे के लिए रखा जायेगा।

हाईवे पर डेंटर को कुचलने का आरोपी गिरफ्तार

डबवाली (लहू की लौ) सड़क हादसे में डेंटर की मौत के आरोपी बस चालक इकबाल सिंह पुत्र बसंत सिंह निवासी माखा को पुलिस ने गिरफ्तार करके एसडीजेएम परवेश सिंगला की अदालत में पेश किया। अदालत ने आरोपी को जमानत दे दी।
सिरसा रोड़ पर साईकिल सवार को कुचला था
थाना शहर पुलिस के एसआई कैलाश चन्द्र ने बताया कि 21 नवम्बर की शाम को डेरा मनसा दास के पास एक बस ने सिरसा रोड़ पर डेंटिंग की दुकान चलाने वाले मदन लाल पुत्र रामलाल को कुचल दिया था। पुलिस ने मदन के भाई जगदीश राए की शिकायत पर बस चालक के खिलाफ लापरवाही से बस चलाकर मदन लाल को कुचलने के आरोप में मामला दर्ज कर लिया था।

केंद्रीय टीम ने जुटाये आंकड़े, हर साल बादल के हलके से आते हैं 50 टीबी रोगी



टीबी तथा एचआईवी रोगियों की एक साथ जांच पर जताई आपत्ति

डबवाली (लहू की लौ) पिछले दस वर्षों से चल रहे टीबी रोग नियंत्रण कार्यक्रम का फीडबैक लेने के लिये केंद्रीय टीम मंगलवार को डबवाली पहुंची। टीम ने सरकारी अस्पताल में चल रहे टीबी केंद्र के रिकॉर्ड की जांच की। जिसके बाद कर्मचारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किये।
सुबह करीब 10.30 बजे केंद्रीय टीम के चार सदस्य अस्पताल में पहुंचे। आते ही कार्य शुरू कर दिया। टीम की एक महिला सदस्य अस्पताल की लैब में पहुंची। लैब में मौजूद कर्मचारी से महिला सदस्य ने अपनी पहचान शिखा के रूप में करवाते हुये कहा कि हम केंद्र से आये हैं। टीबी कार्यक्रम के तहत जिला सिरसा की सीआईडी की जा रही है। आप मुझे मरीज समझकर बताईये जरा, मेरी बलगम जांच कैसे करोगे। कर्मचारी के जवाब पर संतोष जाहिर किया। महिला सदस्य ने एक के बाद एक कई सवाल दागे। डॉ. शिखा ने कर्मचारी से पूछा आप बलगम जांच के लिये नई स्लाईड प्रयोग करते हो, जवाब मिला हां। फिर सवाल किया कि वेस्ट कहां जाता है, जवाब मिला एक निजी कंपनी लेजाती है। डॉ. शिखा ने लैब में प्रयोग किये जा रहे डस्टबिन पर आपत्ति जाहिर करते हुये कहा कि मैटल या स्टील वाले डस्टबिन प्रयोग किये जायें।
सामाजिक कार्यक्रम बनाने से चूकें
टीम ने समाज में एक भी टीबी रोगी न रहने देने की सलाह देते हुये कहा कि टीबी कार्यक्रम से जुड़े लोग बाजार या कम्युनिटी में किसी भी व्यक्ति या बच्चे को खांसते देखें, उसे तत्काल अपनी बलगम जांच करवाने की सलाह दें। जिस पर टीबी यूनिट डबवाली के प्रभारी डॉ. सुखवंत सिंह ने लोगों के विचार सांझे किये। केंद्रीय टीम के सदस्य ने कहा कि हम इसे सामाजिक कार्यक्रम बनाने से चूक गये हैं। कम्युनिटी में एक मरीज भी मिस न होने दें। टीम ने मरीजों से रिलेशनशिप बनाने की सलाह दी। ताकि उनके पूरे परिवार का फीडबैक मिल सकें।
मुझे तो सैल दिखाई नहीं दे रहे
रिकॉर्ड की जांच करते हुये केंद्रीय टीम ने स्लाईड नं. 1824/ए तथा 1835/बी तथा ए को दिखाने के लिये कहा। टीम सदस्य ने माईक्रोस्कोपी से खुद स्लाईड की जांच करते हुये कहा कि मुझे तो इसमें से सैल ही दिखाई नहीं दे रहे। आप ऐसा कैसे करते तो, इसमें लैंस बदलने वाले हैं। जिस पर डॉ. सुखवंत सिंह ने कहा कि माईक्रोस्कोपी करीब 9 वर्ष पुरानी है। इसके लैंस बदल दिये जाएंगे।
दो रोगों की एक साथ जांच पर उठाई अंगुली
केंद्रीय टीम ने सिविल अस्पताल की लैब में एचआईवी तथा टीबी रोगियों की एक साथ जांच पर सवाल उठाये। केंद्रीय टीम ने कहा कि एचआईवी पीडि़त को टीबी होने का सबसे अधिक खतरा रहता है। यह बहुत बड़ा इश्यू है। इसे टीम सदस्य डिस्कस करेंगे।
पंजाब से आ रहे हैं रोगी
केंद्रीय टीम ने हरियाणा से सटे पंजाब एरिया से रोगियों के बारे में पूछा। डॉ. सुखवंत सिंह ने बताया कि प्रति वर्ष करीब 50 टीबी रोगी पंजाब के सीएम प्रकाश सिंह बादल के गृहक्षेत्र से निकलते हैं। जिस पर टीम ने सवाल दागने शुरू कर दिये। टीम के सवालों का जवाब देते हुये डॉ. सुखवंत तथा कार्यक्रम कर्मचारी विजय कुमार ने कहा कि पंजाब से आने वाले मरीजों को रैफर कर दिया जाता है। इसकी रिपोर्ट जिला स्तर पर लगे रैफरल रजिस्टर में दर्ज की जाती है। टीम ने इस मुद्दे को टीबी कार्यक्रम पर होने वाली बैठकों में उठाने के लिये कहा। टीम ने कहा कि रैफरल रजिस्टर में दर्ज होने के बाद संबंधित मरीज संबंधी चिट्ठी संबंधित टीबी केंद्र में चली जाती है। इससे मरीज को सुविधा रहती है। फीडबैक में मिल जाता है। इस मामले पर केंद्रीय टीम अवश्य विचार करेगी।
चार सदस्यीय टीम शाम तक डबवाली में रही। गांव चौटाला स्थित अस्पताल का भी निरीक्षण किया। जांच के बाद टीम ने संबंधित कर्मचारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। रिपोर्ट बनाकर टीम निकल गई।

पेयजल पाईप टूटी, हाईवे पर बह रहा पानी

डबवाली (लहू की लौ) जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी इतने जिद्दी हो गये हैं कि उन्हें बार बार शिकायत करने पर भी लोगों को न्याय नहीं मिल रहा है।
10 दिनों से बह रहा पानी
यह शब्द गोल चौक के नजदीक के दुकानदार अशोक कुमार, यशपाल तथा सूरज ने कहते हुए बताया कि पिछले 10 दिन से गोल चौक के साथ जा रही जनस्वास्थ्य विभाग की मेन पाईप टूटी हुई है और उससे पानी बाहर निकल कर सड़क पर आ रहा है। इस संबध में तीन बार विभाग के जेई सतपाल को शिकायत की जा चुकी है और व्यक्तिगत रूप से फोन पर भी इस संदर्भ में अवगत करवाया जा चुका है। लेकिन विभाग अधिकारियों के कान पर जूं तक नहीं रेंगी है। समस्या ज्यों की त्यों बरकरार है।
शिकायत आई, होगा हल
जनस्वास्थ्य विभाग के जेई सतपाल ने बताया कि शनिवार को दुकानदारों की शिकायत आई थी लेकिन बीएड कॉलेज तथा पार्क के पास मेन पाईप लीक होने के कारण कर्मचारियों को वहां पर समय लगा। बुधवार को गोल चौक के दुकानदारों की समस्या का हल कर दिया जायेगा।

गांवों में हटेंगे नजायज कब्जे-एसडीएम

डबवाली (लहू की लौ) गांव में सफाई के लिए विशेष मुहिम चलाई जा रही है। सभी गांवों के नाजायज कब्जे हटाए जाएंगे। यह बात डबवाली के एसडीएम सतीश कुमार ने आज गांव पन्नीवाला रूलदू के सरकारी हाई स्कूल में गांव की पंचायत और ग्रामीणों की बैठक को संबोधन करते हुए कही।
इससे पहले एसडीएम सतीश कुमार ने गांव का दौरा करके नाजायज कब्जोंं बारे में जानकारी ली और गांव में सफाई प्रबंध करने और नाजायज कब्जे हटाने संबंधित अधिकारियों और कर्मचारियों को आदेश दिए। उन्होंने कहा कि नाजायज कब्जे करने वाले अब कानून से नहीं बच सकते और यदि उन्होंने सरकारी अधिकारियों की हिदायत पर ख़ुद नाजायज कब्जे न हटाए तो उन को कब्जे हटाने ऊपर आने वाला खर्च भी देना पड़ेगा।  इस मौके पर बीडीपीओ राजेश शर्मा, प्रिंसीपल सुरजीत मान, सरपंच हरमंदर सिंह, एसडीओ पंचायती राज सतीश मेहता, पंचायत अधिकारी राम प्रकाश, जे.ई. हरजिन्दर सिंह, पंचायत सचिव नवीन कुमार, मा. सुरजीत सिंह, दर्शन सिंह नंबरदार, गुरांदित्ता सिंह नंबरदार, मुकन्द सिंह सूबेदार, सतपाल चालाना, गमदूर सिंह, पूर्व सरपंच जसवीर सिंह समेत ओर गांव वासी मौजूद थे।

स्कूली बच्चों पर तनख्वाह लुटा देता है यह पुलिसवाला

डबवाली (लहू की लौ) यह पुलिसवाला अपनी तनख्वाह स्कूली बच्चों पर लूटा रहा है। यह कार्य कल से नहीं, पिछले करीब सत्ताईस वर्षों से कर रहा है। प्रदेश के स्कूली बच्चों में राष्ट्र के प्रति भावना को जागृत करने निकला हरियाणा पुलिस का जवान एक वर्ष में करीब 30 कार्यक्रमों का आयोजन करता है। पहली बार जिला सिरसा के खंड डबवाली के गांव मसीतां में कार्यक्रम करने जा रहा है।
जिला सोनीपत के गांव भदाना निवासी ऋषिपाल भदाना की नियुक्ति मधुबन में है। हरियाणा पुलिस में शराबंदी जैसे विषयों पर प्रदर्शनी लगाकर अपने साथियों को शराब की लत छोडऩे का संदेश देने वाले इस जवान ने अपने गांव भदाना से राष्ट्र भ्रातृ यज्ञ समारोह की शुरूआत की थी। 1987-88 में पहली बार आयोजन करने वाले इस जवान ने पिछले पंद्रह वर्षों में छुट्टी के दौरान प्रदेश के अलग-अलग जिलों में अपने खर्च विभिन्न कार्यक्रम किये।
प्रत्येक कार्यक्रम में 25 बच्चों का सम्मान
अपनी जीवन संगिनी सविता रानी के साथ राष्ट्र एकता का संदेश देने निकला यह पुलिसवाला प्रत्येक कार्यक्रम में 25 बच्चों को सम्मानित करता है। जिसका खर्च करीब तीन से चार हजार रूपये बैठता है। एक साल में तीस स्कूलों में कार्यक्रम करता है।

कार्यक्रम आज
यह पुलिसवाला बुधवार को पहली बार जिला सिरसा के खंड डबवाली के गांव मसीतां में राष्ट्र भ्रातृ समारोह आयोजित करने जा रहा है। इसके तहत सामाजिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये जाएंगे।


यूं चला अभियान
मैं बतौर कांस्टेबल भर्ती हुआ था। लेकिन राष्ट्र के प्रति लोगों की भावना न होने पर दु:ख हुआ। इसलिये उपरोक्त अभियान की शुरूआत की। छुट्टी लेकर अपने अभियान को आगे बढ़ा रहा हूं।
-ऋषिपाल भदाना
एएसआई, मधुबन

नशे को खत्म करना चाहती है चौदह साल की कोमलप्रीत

23 नवंबर को पटियाला में खेलकर नेशनल लेबल पर क्वालिफाई किया


डबवाली (लहू की लौ) पंजाब च नशा बहोत बिकदा है। मेरे पिंड दा वी हाल चंगा नी। नशे दे खातमे लई मैं पंजाब दी पहली महिला डीजीपी बनना चाहुंदी आ। यह कहना है सीबीएसई कलस्टर गेम्स में प्रदेश स्तरीय मुकाबलों में सिल्वर मेडल जितकर नेशनल मुकाबलों के लिये क्वालिफाई करने वाली चौदह वर्षीय कोमलप्रीत कौर का।

पटियाला में हुई प्रतियोगिता
बाल मंदिर सीनियर सैकेंडरी स्कूल की 9वीं कक्षा की इस छात्रा ने 23 नवंबर को पटियाला के बुड्ढा दल पब्लिक स्कूल में संपन्न हुई प्रतियोगिता में जोरदार प्रदर्शन किया। 15.3 सैकेंड में 100 मी. दौड़ पूरी की। दौड़ में दूसरा स्थान प्राप्त करने पर कोमलप्रीत कौर गुजरात में होने वाली राष्ट्रीय स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेगी। मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के गृहक्षेत्र लंबी के तहत आने वाले गांव कखांवाली की रहने वाली कोमप्रीत के पिता दलजीत सिंह भारतीय सेना से लॉस नायक के पद से सेवानिवृत्त हैं। जो अपनी बेटी को बेटों से कम नहीं आंकते। 
पिता की डांट ने पहुंचाया राष्ट्रीय स्तर पर
पिता के कहने पर कोमलप्रीत ने दो माह पहले ही दौड़ शुरू की है। सुबह साढ़े चार बजे से लगातार साढ़े छह बजे तक गांव में दौड़ लगाने लगी। आरंभ में सांस फूलने पर जब पांव डगमगाने लगे तो पिता सहारा बने। कोमलप्रीत के अनुसार ऐसा होने पर पिता ने डांटते, कहते दौड़ो, जल्द दौड़ो। उस समय पापा की डांट पर गुस्सा आता था। आज जब सिल्वर मैडल मिला तो डांट का मतलब समझ में आया। नेशनल क्वालिफाई करने के बाद वे लगातार मेहनत करेगी। सुबह प्रेक्टिस के बाद स्कूल टाईम में प्रेक्टिस। इसके बाद रात को साढ़े 8 से साढ़े 9 बजे तक गांव में प्रेक्टिस करूंगी।
11 सैकेंड में पूरी करूंगी 100 मीटर
छात्रा ने बताया कि दो माह में वह 13 से 14 सैकेंड में 100 मीटर दौड़ लगा लेती है। लेकिन प्रदेश स्तरीय गेम्स में वह सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर पाई। पहले नंबर पर आने वाली लड़की ने 14.7 सैकेंड में 100 मीटर दौड़ पूरी की। उसका लक्ष्य 11 सैकेंड में दौड़ पूरी करने का है। जिसके लिये वह विद्यालय के डीपीई सुखविंद्र सिंह की देखरेख में लगातार मेहनत करेगी और अपनी कमियां दूर करेगी।


अनुशासन को लागू करने का प्रयास
भारतीय सेना में सर्विस के दौरान मिले अनुशासन को अपने बच्चों पर लागू कर रहा हूं। जिसका परिणाम कोमलप्रीत की सफलता के रूप में सामने है। उम्मीद है कि बेटी नेशनल पर अच्छा खेलकर अपने क्षेत्र का नाम रोशन करेगी। अपनी उम्मीदों को पंख लगायेगी।
-दलजीत सिंह (कोमलप्रीत कौर के पिता)

विशेष सुविधाएं देने का प्रयास
स्कूल की बेटी ने पहली बार नेशनल में जगह बनाई है। जिससे स्कूल का नाम रोशन हुआ है। कोमलप्रीत को स्कूल में विशेष सुविधाएं देने के प्रयास किये जाएंगे। ताकि अन्य बच्चे कोमलप्रीत को देखकर बेहतर कर सकें।
-एसके कौशिक प्रिंसीपल

कमियां दूर करने का प्रयास
स्टेट लेबल कंपीटीशन में जो कमियां सामने आई, उसे दूर करने का प्रयास किया जायेगा। नेशनल लेबल के लिये तैयारी शुरू कर दी गई है।
-सुखविंद्र सिंह, डीपीई

उपायुक्त ने संभाला कार्यभार

सिरसा (लहू की लौ) नवनियुक्त उपायुक्त निखिल गजराज ने आज कार्यभार संभाल लिया है। वे जिले के 37वें उपायुक्त हैं तथा 2008 बैंच के आईएएस अधिकारी हैं। वे इससे पहले कुरूक्षेत्र में नियुक्त थे। इसके अलावा वे हिसार में अतिरिक्त उपायुक्त के पद पर तथा रोहतक में प्रशासक हुड्डा के पद पर भी कार्यरत रहे हैं। उनके कार्यभार सम्भालने के अवसर पर नगराधीश निर्मल नागर, जिला राजस्व अधिकारी यतिन्द्र कुमार छोकर तथा जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी दलीप सिंह सहित उपायुक्त कार्यालय के स्टाफ सदस्य भी उपस्थित थे। 

नॉन टीचिंग स्टॉफ और प्रिंसीपल ने सफाई बनाये रखने का प्रण लिया

डबवाली (लहू की लौ) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छता अभियान में अपना योगदान देने के लिए मंगलवार को गुरूनानक कॉलेज किलियांवाली के नॉन टीचिंग स्टॉफ ने कॉलेज प्रांगण की सफाई की। इस अभियान में कॉलेज दफ्तर के सभी कर्मचारियों और प्रिंसीपल डॉ. इन्दिरा अरोड़ा ने भाग लिया। 
सफाई अभियान के तहत  कॉलेज कैम्पस के अन्दर के  सारे मार्ग,बरामदे और मेन गेट के साथ लगती सारी जमीन साफ की। प्रिंसीपल और सभी कर्मचारियों ने स्वच्छता के इस वातावरण को सदैव कायम रखने का प्रण लिया।

मिट्ठू सिंह बराड़ को दी भावभीनी श्रद्धांजलि

डबवाली (लहू की लौ) इनेलो प्रवक्ता एवं पार्टी के मीडिया प्रभारी राम सिंह बराड़ के पिता मिट्ठू सिंह बराड़ को मंगलवार को डबवाली में आयोजित एक समारोह में विभिन्न प्रमुख नेताओं ने भावभीनी श्रद्धांजलि दी। उनकी आत्मिक शंाति के लिए प्रार्थना की। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला, इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला, विधानसभा में उपनेता एवं पूर्व कृषि मंत्री जसविंद्र सिंह संधू, फतेहाबाद के विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया, जिला परिषद चेयरमैन डॉ. सीता राम, भाजपा प्रशिक्षण प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष जगदीश चौपड़ा, वरिष्ठ पत्रकार बलजीत बल्ली, खुशहाल लाली, अमरजीत सिंह सहित अनेक सामाजिक, धार्मिक, शैक्षणिक व राजनीतिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने स्व. मिट्ठू सिंह बराड़ को श्रद्धासुमन अर्पित किए।

अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन का परिवार मिलन समारोह 12 को

डबवाली (लहू की लौ) अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन की एक आवश्यक बैठक शाखाध्यक्ष प्रीतम बांसल की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसमें लोहड़ी पर्व के अवसर पर 12 जनवरी को परिवार मिलन समारोह का आयोजन करने का फैसला लिया गया। इस अवसर पर कार्यकारी अध्यक्ष दविंद्र मित्तल, सभापति कुलदीप गुप्ता, राजकुमार गुप्ता, राकेश गर्ग भीटीवाला, मदन लाल गुप्ता, दिनेश गुप्ता, चरण कमल गोयल, धर्मपाल कालझरानी, प्रो. विजय गर्ग, तरसेम गर्ग सहित सभी पदाधिकारी व सदस्यगण उपस्थित थे। 

सद्भावना दिवस के रूप में मनाया झंडा दिवस



डबवाली (लहू की लौ) राजा राम कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के विद्यार्थियों व एनसीसी एयरविंग कैडेट्स ने मंगलवार को नं. 1 हरियाणा एयर स्कवाड्रन एनसीसी हिसार के तत्वावधान में साम्प्रदायिक सद्भावना सप्ताह के अंतिम कार्य दिवस को झंडा दिवस के रूप में मनाया। 
 इस अवसर पर कैडेट्स ने स्कूल प्रबंधक समिति के प्रधान सुरेंद्र गुप्ता, रामनिवास पटवारी, विद्यालय प्रिंसीपल प्रवीण कुमार गौड, एयरविंग अधिकारी सत्यपाल जोशी ने सम्बोधित किया। इस मौके पर राम निवास अहलावत नहरी पटवारी को भाईचारा बढ़ाने, समाजसेवा करने तथा साईकिल चलाने के लिए प्रेरित करने की मुहिम चलाने पर सम्मानित किया। 

26 Nov. 2014