युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

18 जनवरी 2011

रणजीत से होंगे बड़े खुलासे

डबवाली (लहू की लौ) हरियाणा पुलिस ने पंजाब से पिस्तौल की नोक पर लूटी गई वरना कार की गुत्थी को सुलझाते हुए एक युवक को कार सहित गिरफ्तार करके सोमवार को डबवाली की अदालत में पेश करके एक दिन का पुलिस रिमांड प्राप्त कर लिया है।  पुलिस को उम्मीद है कि जिला सिरसा में घटित दो लूट की वारदातें भी गिरफ्तार किये गये आरोपी से सुलझ सकती हैं।
सीआईए डबवाली को मुखबरी मिली थी कि लूट की एक कार को पंजाब से एक व्यक्ति बेचने के लिए बाया डबवाली सिरसा ले जा रहा है। इसी मुखबरी के आधार पर की गई नाकाबंदी के दौरान पुलिस ने एक सफेद रंग की वरना कार को राऊंडअप कर लिया और कार चालक से गाड़ी के कागजात दिखाने को कहा तो वह कागजात दिखाने में असमर्थ रहा। गहन पूछताछ के बाद युवक ने अपनी पहचान नवदीप सिंह उर्फ बिट्टू (28) पुत्र जसवन्त सिंह निवासी बबानिया थाना गिदड़बाहा के रूप में करवाते हुए बताया कि यह गाड़ी उसके दोस्त रणजीत सिंह ने बेचने के लिए दी है।
डबवाली सीआईए प्रभारी उपनिरीक्षक हवा सिंह ने बताया कि उनके नेतृत्व में डबवाली के बठिंडा चौक पर नाकाबंदी की हुई थी। इस दौरान पंजाब की तरफ से आई इस वरना कार को काबू किया गया तो गहन पूछताछ के दौरान आरोपी ने यह गाड़ी पंजाब के कोटकपूरा क्षेत्र में की गई लूटपाट के दौरान छीनी बताई और यह भी बताया कि उसके साथी रणजीत सिंह निवासी सलैचां थाना शाहकोट ने बेचने के लिए दी थी। रविवार को वह अपने बबानिया गांव से सिरसा के लिए चला था। आरोपी को सोमवार को एसडीजेएम महावीर सिंह की अदालत में पेश करके एक दिन का पुलिस रिमांड ले लिया।
उन्होंने बताया कि पुलिस रिमांड के दौरान औढां थाना क्षेत्र में 5 जनवरी की रात को बठिंडा के एलोपैथिक दवा एजेंट जतिन कीनरा की आई20 गाड़ी की लूट तथा डबवाली थाना के अन्तर्गत 17 दिसम्बर की सुबह एसआर पम्प मित्तल पेट्रो सर्विस शेरगढ़ के करिंदे से 70 हजार रूपये की नकदी लूटने की वारदातें भी सुलझ सकती हैं। पुलिस के अनुसार आरोपी से बरामद की गई वरना कार की सूचना कोटकपूरा पुलिस को दे दी गई है। पुलिस ने आरोपी के अन्य साथियों को गिरफ्तार करने के लिए प्रयास शुरू कर दिये हैं।
औढां और डबवाली थानों के अन्तर्गत लूटपाट की वारदाताओं को सुलझाने के लिए जिला पुलिस कप्तान सतेन्द्र गुप्ता ने छह टीमों का गठन किया हुआ है। जिसमें सीआईए सिरसा के इंस्पेक्टर किशोरी लाल, सीआईए डबवाली के उपनिरीक्षक हवासिंह, थाना शहर डबवाली के इंस्पेक्टर बलवन्त जस्सू, थाना सदर प्रभारी उपनिरीक्षक रतन सिंह, थाना औढां के इंस्पेक्टर हीरा सिंह, थाना कालांवाली के उपनिरीक्षक विक्रम नेहरा पर आधारित टीमें शामिल हैं।
पिस्तौल की नोक पर लूटी थी नकदी व वरना
9 जनवरी शाम 7 बजे थाना सदर कोटकपूरा के अन्तर्गत आने वाले गांव बरझराका के पास मुक्तसर के शराब ठेकेदार गौरव कुमार की कार को अज्ञात युवकों ने हथियारों के बल पर उस समय लूट लिया था जब कार चालक जगजीत सिंह निवासी मुक्तसर ठेके के करिंदों जगदीश, सोनू, बलविन्द्र के साथ कोटईसेखां के ठेका से साढ़े चार लाख रूपये की नकदी लेकर आ रहे थे।  थाना सदर पुलिस कोटकपूरा ने कार चालक के ब्यान पर साढ़े चार लाख रूपये की नकदी और कार लूटने व हवाई फायर करने के आरोप में अज्ञात युवकों के खिलाफ मामला दर्ज करके जांच का काम एसआई रूप चन्द को सौंप दिया था।

खाद के भरे ट्रकों का मामला उलझा : पुलिस ने नहीं किया सूचित

डबवाली (लहू की लौ) गांव जोगेवाला में गत रात किसानों द्वारा कालाबाजारी के आरोप में घेरे गए यूरिया खाद के भरे ट्रक को पुलिस के सुपुर्द करने के बावजूद भी कोई कार्रवाई न किए जाने से क्षुब्ध पैक्स सदस्य ने मामले की जांच करवाए जाने की मांग करते हुए इस मामले को उपमण्डलाधीश डबवाली के समक्ष उठाया है।
11 जनवरी 2011 को करीब 10 बजे दो ट्रक गांव जोगेवाला स्थित को-ऑपरेटिव सोसाईटी में आकर रूके थे। दोनों ट्रकों में यूरिया खाद के 600 बैग भरे हुए थे। खाद के ट्रकों की सूचना पाकर सोसाईटी के सेल्जमैन बिकर सिंह भी मौके पर पहुंचे थे। इसकी भनक पाकर सोसाईटी के सदस्य जग्गा सिंह किसानों के साथ मौका पर पहुंच गए थे। इस दौरान एक ट्रक मौका से फरार हो गया था। जबकि एक ट्रक को किसानों ने काबू करके थाना शहर पुलिस के इंस्पेक्टर बलवंत जस्सू को सौंप दिया था। लेकिन 12 जनवरी की सुबह पुलिस ने इस ट्रक को यह कहते हुए छोड़ दिया था कि ट्रक गलती से गांव जोगेवाला में पहुंच गया था। जबकि ये डबवाली की फर्म हंसराज हमेश कुमार का था।
उपमण्डलाधीश डबवाली को सोमवार को जगजीत सिंह उर्फ जग्गा सिंह पुत्र विचित्र सिंह निवासी गांव जोगेवाला ने एक शिकायत पत्र देकर कहा है कि यूरिया खाद की कालाबाजारी की जांच की जाए। पत्र में शिकायतकर्ता ने लिखा है कि गांव में 11-1-2011 की रात्रि को करीब 7 बजे दो ट्राले यूरिया खाद के 600 थैले उनकी समिति के गोदाम में आए। सभी लोग इक्ट्ठे हो गए। समिति कर्मचारी को खाद उतरवाने के लिए फोन पर बुलाया गया। जब समिति कर्मचारी ने ट्रक ड्राईवरों से आकर खाद की बिल्टी देखने-दिखाने के लिए कहा, तो खाद की बिल्टी प्राईवेट फर्म सुरेन्द्र कुमार अमरनाथ व भोला राम अमरनाथ बिल्टी नं. 2620, 2621 था।
शिकायतकर्ता ने शिकायत में यह भी लिखा है कि उसी समय बिल्टी नं. व नाम उसने नोट कर लिया और ट्रक रोकने के लिए कहा। एक ड्राईवर ट्रक लेकर भाग गया। एक को किसानों ने रोककर थाना शहर डबवाली के इंचार्ज के हवाले कर दिया। शिकायतकर्ता के अनुसार जिस फर्म के नाम यह बिल्टी थी, उसके पास खाद बेचने का लाईसेंस/ऑथोरिटी नहीं है। पैक्स सदस्य ने आरोप लगाया कि ये यूरिया खाद के छह सौ थैले पंजाब में ब्लैक में बेचने के लिए ले जाए जा रहे थे। शिकायतकर्ता के अनुसार थाना शहर के इंचार्ज ने दूसरे दिन सुबह बिना किसी जांच के दोनों ट्रक छोड़ दिए। जब उन्हें इसकी जानकारी मिली तो वे शहर डबवाली थाना में गए, खाद ट्रक के बारे में पूछताछ की, तो पता चला कि उक्त दोनों ट्रकों का रातों-रात गलत बिल्टी बनाकर मामला रफा-दफा कर दिया गया है। उपरोक्त घटना के संबंध में कृषि विभाग ने भी कोई कार्रवाई नहीं की।
उपमण्डलाधीश डॉ. मुनीश नागपाल ने बताया कि उन्हें जगजीत सिंह उर्फ जग्गा सिंह की उपरोक्त शिकायत मिली है। उन्होंने जांच के लिए इस शिकायत को उपमण्डल कृषि अधिकारी डबवाली के पास भेज दिया है।
उपमण्डल कृषि अधिकारी डॉ. बिजेन्द्र पाल ने बताया कि उपमण्डलाधीश से उन्हें जांच के लिए आदेश मिल गए हैं। लेकिन उन्होंने कृषि विभाग का इसमें किसी प्रकार का दोष होने से इंकार करते हुए कहा कि उनके पास इससे पूर्व इस संबंध में कोई शिकायत ही नहीं आई, जबकि पुलिस 12 जनवरी को 11 बजे उनके कार्यालय में बिल्टी लेकर आई थी और पुलिस ने बिल्टी पर लिखी फर्म हंसराज हमेश कुमार के लाईसंसी और रजिस्टर्ड होने संबंधी पूछा था। जिस पर उन्होंने इस फर्म के लाईसंसी होने की बात कही थी और पुलिस तुरंत वहां से चली गई थी। उन्होंने इस बात को स्वीकार किया कि जब पुलिस ने माल को पकड़ा था, तो इसकी सूचना उसी समय उन्हें दी जानी चाहिए थी। लेकिन पुलिस ने इस संबंध में उन्हें सूचित नहीं किया। वे उपमण्डलाधीश के आदेश पर मामले की जांच करेंगे। अगर इसमें कोई दोषी पाया जाता है, तो उसके खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

संत की पुण्यातिथि पर समागम आयोजित

कालांवाली (नरेश सिंगला) गांव तिलोकेवाला में सोमवार को गुरुद्वारा निर्मलसर साहिब में आज सचखंड वासी संत बाबा मोहन ङ्क्षसह मतवाला की 19वीं पुण्यतिथि पर 151 अखंड पाठ व विशाल संत गुरमत समागम का आयोजन किया गया। इस समागम में अनेक श्रद्धालुओं ने दरबार साहिब व संत जी के पवित्र तप स्थान पर माथा टेका और संत समागम में आए हुए संतों-महात्माओं के प्रवचन सुने। इस कार्यक्रम के आयोजक व गद्दीनशीन संत बाबा गुरमीत ङ्क्षसह ने आए हुए श्रद्धालुओं को धन्यवाद किया। इस स्थान पर उन्होंने अपनी पवित्र वाणी से सांसारिक प्राणियों को सतगुरु का संदेश दिया तथा सच्चे संत के रुप में वे हमेशा पूजा योग्य हैं। श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए अवतार ङ्क्षसह मक्कड़ प्रधान एसजीपीसी ने कहा कि हमें संत बाबा मतवाला के जीवन से प्रेरणा लेकर नशा मुक्त व सादा जीवन व्यतीत करना चाहिए। उन्होंने कहा कि शिरोमणी गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी हरियाणा के अंदर भी एकत्रित हुए पैंसों को गुरुद्वारों के विकास और उनके प्रचार तथा मुख्य रूप से शिक्षण संस्थाओं पर खर्च कर रही है। गलत प्रचार करने वाले व्यक्ति गुरुघर के सेवक नहीं हो सकते।
श्री अकाल तख्त से पहुंचे ज्ञानी गुरबचन ङ्क्षसह ने कहा कि सिख धर्म के प्रचार व प्रसार के लिए हम सभी सिखों को और आगे आना चाहिए। इस संबंध में प्रवक्ता मनोज ङ्क्षसह ने बताया कि इस मौके पर रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें रक्तदानियों द्वारा 84 यूनिट रक्त दिया गया। इस समागम में शुभ दीवान सजाए गए, जिसमें इलाके के संत महापुरुष और ज्ञानी रागी व ढाडी जत्थों ने गुरुओं की वाणी का गुणगान किया। इस मौके पर बलङ्क्षवद्र ङ्क्षसह भूंदड़ राज्य सभा सदस्य कालांवाली विधायक चरणजीत ङ्क्षसह रोड़ी, ज्ञानी गुरबचन ङ्क्षसह जत्थेदार श्रीअकाल तख्त साहिब, ज्ञानी बलवंत ङ्क्षसह नंदगढ़ साहिब, संत बाबा अवतार ङ्क्षसह धूड़कोट वाले, संत बाबा मीठा ङ्क्षसह मतुआना साहिब, संत बाबा मान सिंह पेहवा, संत बाबा बूटा ङ्क्षसह गुरथड़ी, संत बाबा सुखचैन ङ्क्षसह धर्मपुरा वाले, संत बाबा प्रीतम ङ्क्षसह मलड़ी, कुलदीप ङ्क्षसह गदराना, हरदम ङ्क्षसह लक्कड़ांवाली, जगतार ङ्क्षसह तारी, जंटा ङ्क्षसह पटवारी, बलकरण ङ्क्षसह तारुआना, गुरर्दशन ङ्क्षसह औलख सहित अनेक लोग व श्रद्धालु उपस्थित थे।

स्मार्ट कार्ड के बदले पेंशन धारकों से पैसे ऐंठने का मामला : ठेकेदार ने मांगी माफी

डबवाली (लहू की लौ) स्मार्ट कार्ड के बदले पेंशन धारक बुजुर्गों से पैसे लेने का पर्दाफाश होने के बाद ठेकेदार कंपनी के लोग बचाव की मुद्रा में आ गए हैं। बुजुर्गों से ऐंठे गए पैसे वापिस लौटाने का भरोसा दिलाकर तथा पार्षदों से माफी मांगकर अपना पिंड छुड़वाने का प्रयास में जुट गए हैं।
फिनो कंपनी के जिला सिरसा में तैनात पाला राम नेहरा सोमवार को डबवाली पहुंचे। उन्होंने वार्ड नं. 2 की पार्षद सरला गुप्ता, वार्ड नं. 3 के पार्षद सुभाष चन्द्र मित्तल को अपना स्पष्टीकरण देते हुए बताया कि स्मार्ट कार्ड के बदले पैसे लेने का आदेश कंपनी ने किसी को जारी नहीं किया है। बल्कि ऑपरेटर मनप्रीत और गुड्डू ने गलती से पैसे इक्ट्ठे किए हैं। सरकार की ओर से पेंशन धारकों को स्मार्ट कार्ड नि:शुल्क वितरित किए जाने हैं।
जिन पेंशन धारकों से स्मार्ट कार्ड के बदले पैसे लिए गए हैं, उन्हें जल्द वापिस लौटा दिए जाएंगे। साथ ही ऑपरेटरों को भी आईंदा से गलती न करने की चेतावनी दी गई है। उल्लेखनीय है कि प्रदेश सरकार की ओर से एक्सीज बैंक और फिनो कंपनी के जरिए पेंशन धारकों के स्मार्ट कार्ड बनाए जा रहे हैं। रविवार को शहर के कम्युनिटी हाल में ठेकेदार कंपनी के करिंदों द्वारा स्मार्ट कार्ड के बदले पैसे वसूलने का मामला सामने आया था।

पन्नीवाला मोरिकां में तनाव

डबवाली (लहू की लौ) गांव पन्नीवाला मोरिका में चोरी और मुंह काला करने के मामले को लेकर तनाव की स्थिति पैदा हो गई है और सोमवार को दोनों पक्षों को नायब तहसीलदार ने अपने कार्यालय में सुना।
गांव के खेत मजदूर मक्खन सिंह (30) पुत्र जग्गा सिंह, जगसीर ङ्क्षसह (40) पुत्र मजनूं सिंह ने बताया कि गांव के कुछ लोगों ने उन पर खेत से कपास के टिंडे चोरी का इल्जाम लगाते हुए मुंह काला किया जबकि उनका कोई कसूर नहीं था।
इधर गांव के सरपंच जगदीप सिंह ने कहा कि 8 जनवरी को किसान बीरबल के खेत से जगसीर सिंह और मक्खन सिंह ने कपास के टिंडे चोरी कर लिये थे और उसने मौका पर दोनों को पकड़ लिया था। यह मामला पंचायत के पास पहुंचा तो उसने दोनों पक्षों को समझा-बुझा कर गांव में ही मामला निपटा दिया। इस मामले को लेकर संबंधित और आरोपी पक्ष में मामूली कहासुनी तो हुई है लेकिन मुंह काला करने की बात सरासर झूठी है। चोरी की शिकायत थाना में भी की गई थी। गांव की पंचायत को नायब तहसीलदार हरि ओम बिश्नोई ने मामले को जानने के लिए आज बुलाया था।
नायब तहसीलदार हरि ओम बिश्नोई ने बताया कि दोनों पक्षों को समझाने-बुझाने के लिए दोनों तरफ से कमेटियां गठित की गई हैं। अभी मामले की जांच चल रही है।
थाना सदर प्रभारी एसआई रतन सिंह ने बताया कि उनके पास नरमा चोरी की शिकायत आई थी। लेकिन मुंह काला किये जाने संबंधी कोई शिकायत नहीं आई है। इस मौके पर मामले को सुलझाने के लिए गोरा सिंह मैम्बर, रामा सिंह, थाना सिंह, मीता सिंह, सुक्खी, पालो मैम्बर, महिन्द्र सिंह नम्बरदार, हरभजन सिंह नम्बरदार, लखबीर सिंह पूर्व सरपंच, मलकीत ङ्क्षसह जत्थेदार, शिवराज सिंह मसीतां, सुरजीत सिंह सरपंच देसूजोधा, जग सिंह सरपंच फूल्लो, रामजी सरपंच लखुआना, दलबीर सिंह सरपंच हैबुआना, नरेन्द्र ङ्क्षसंह बराड़, सुखदेव ङ्क्षसह नम्बरदार सांवतखेड़ा, हरजिन्द्र कौर सरपंच गिदडख़ेड़ा, गुरदीप कौर सरपंच रामपुरा बिश्नोइयां, शिवराज सिंह मसीतां प्रधान सरपंच यूनियन, मेजर सिंह नम्बरदार देसूजोधा, हरदेव सिंह पंच, जगजीत सिंह पंच, जगसीर सिंह पूर्व पंच, नगेन्द्र ङ्क्षसह पूर्व पंच, दर्शन सिंह पूर्व पंच, जोगिन्द्र सिंह पंच उपस्थित हुए।

समाज को बर्बाद कर रही है कांग्रेस-चौटाला

चंडीगढ़। इनेलो ने कांग्रेस सरकार पर जानबूझकर महंगाई बढ़ाने व कालाबाजारी को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए पेट्रोल की बढ़ाई हुई कीमतों को तुरन्त वापिस लिए जाने की मांग की है। इनेलो प्रमुख व हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने कहा कि कांग्रेस सरकार द्वारा निरंतर लिए जा रहे जनविरोधी फैसलों से यह बात पूरी तरह से साफ हो गई है कि कांगे्रस पूंजीपतियों के हितों की रक्षा करने वाली और गरीब व किसान वर्ग को तबाह करने वाली पार्टी है और लगातार ऐसे फैसले लिए जा रहे हैं जिसका फायदा पूंजीपति वर्ग को हो और किसान व गरीब आदमी पूरी तरह से तबाह हो जाए। उन्होंने कहा कि पेट्रोल के दामों में की गई यह बढ़ौतरी न सिर्फ गरीब व आम आदमी को पूरी तरह से तबाह कर देगी बल्कि इससे महंगाई को बढ़ावा मिलेगा और देश पूरी तरह बर्बाद होने के कगार पर पहुंच जाएगा।
चौटाला ने कहा कि यूपीए सरकार ने पिछले साल 25 जून को पेट्रोल की कीमतें तय करने का अधिकार तेल कंपनियों को दिया था और उसके बाद 26 जून से लेकर 15 जनवरी तक अब तक करीब 14 रुपए प्रति लीटर पेट्रोल की कीमत बढ़ाई जा चुकी है। उन्होंने कहा कि महंगाई की मार झेल रहे आम आदमी को पेट्रोल व डीजल के दाम बढ़ते ही भारी खमियाजा भुगतना पड़ता है और सभी प्रकार की चीजों के दामों में एकाएक बढ़ौतरी हो जाती है। उन्होंने कहा कि पिछले सात महीनों के दौरान पेट्रोल के दामों में सात बार बढ़ौतरी की जा चुकी है और अब तो हर महीने पेट्रोल के दाम में ढाई से तीन रुपए प्रति लीटर बढ़ौतरी करने का सिलसिला ही शुरू हो गया है। इनेलो प्रमुख ने कहा कि जहां अन्य देशों में किसानों को डीजल पर भारी सब्सिडी दी जाती है वहीं दूसरी तरफ भारत में न सिर्फ पेट्रोल और डीजल पर सौ फीसदी से ज्यादा विभिन्न मदों के तहत टैक्स व शुल्क वसूले जाते हैं बल्कि आए दिन कीमतों में बढ़ौतरी करके किसान सहित समाज के हर वर्ग को बर्बाद किया जा रहा है। इनेलो प्रमुख ने कहा कि पेट्रोल के दामों से सरकारी नियंत्रण हटाकर दाम तय करने का अधिकार निजी कम्पनियों को सौंप दिए जाने का कांग्रेस सरकार का फैसला पूरी तरह से जनविरोधी व पूंजीपति व्यवस्था को बढ़ावा देने के प्रयासों की ही देन है। उन्होंने कहा कि पहले पेट्रोल के दाम बढ़ाए जाते हैं और फिर पेट्रोल की आड़ में डीजल व रसोई गैस के दामों में भी बढ़ौतरी कर दी जाती है। उन्होंने कहा कि पिछले छह महीनों में डीजल के दाम भी पांच बार बढ़ाए जा चुके हैं और अब छठी बार बढ़ाए जाने की तैयारियां की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में जब कच्चे तेल की कीमत 140 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गई थी उस समय भी देश में पेट्रोल के दाम 45 रुपए लीटर के आसपास थे। उसके बाद जब कच्चे दामों की कीमतें घटकर 45 डॉलर प्रति बैरल के आसपास आ गई तो उस समय आम उपभोक्ता को इन घटी हुई दरों का पूरा लाभ देने के लिए कीमतों में इसी अनुपात से कटौती नहीं की गई। दूसरी तरफ अब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें जब 85 से 90 डॉलर प्रति बैरल के आसपास हैं तो पेट्रोल की कीमतें बढ़ाकर 60 से 65 रुपए प्रति लीटर तक कर दी गई हैं। उन्होंने कहा कि आज 28 रुपए प्रति लीटर वाले उत्पाद को विभिन्न प्रकार के टैक्स व शुल्क लगाकर 60 से 65 रुपए प्रति लीटर तक बेचा जा रहा है।
चौटाला ने कहा कि कांग्रेस को आम आदमी दुख-दर्द व तकलीफ से कोई लेना-देना नहीं है और बड़े-बड़े औद्योगिक घरानों व भू-माफिया को फायदा पहुंचाने के लिए ही कांग्रेस सरकारों द्वारा नीतियां तय की जाती हैं। उन्होंने कहा कि आज पूरा देश महंगाई की मार झेल रहा है और प्याज व टमाटर 60 रुपए किलो और लहसुन 300 रुपए प्रति किलो तक पहुंच गया है। आए दिन चीनी, दाल व सब्जियों के दामों में बढ़ौतरी हो रही है और केंद्र की यूपीए सरकार व प्रदेश की हुड्डा सरकार लोगों को बहकाने के लिए कोरी बयानबाजी करने में लगी हुई है। उन्होंने कहा कि जो सरकार लोगों को महंगाई से राहत नहीं प्रदान कर सकती उसे सत्ता में बने रहने का कोई नैतिक व लोकतांत्रिक अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार लोगों के धैर्य की परीक्षा लेने का काम न करे अन्यथा जब लोगों का धैर्य जवाब दे जाएगा तो देश व प्रदेश में कांग्रेस की सरकारों को जनता उखाड़ फैंकने का काम करेगी। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि आज हुड्डा सरकार दोनों हाथों से प्रदेश को लूटने में लगी हुई है और प्रदेश में पूरी तरह से जंगलराज है। उन्होंने कहा कि हत्या, बलात्कार, अपहरण, फिरौती व डकैती की घटनाओं में आए दिन इजाफा हो रहा है और प्रदेश में हर कोई अपने आपको पूरी तरह से असुरक्षित मान रहा है। उन्होंने कहा कि अगर प्रदेश में जल्दी ही कानून व्यवस्था की स्थिति में सुधार न किया गया तो यह पूरी तरह से बेकाबू हो जाएगी। उन्होंने कहा कि आज हुड्डा सरकार में मुख्यमंत्री से लेकर सभी मंत्री, कांग्रेसी सांसद व विधायक प्रॉपर्टी डीलिंग के धंधे में लगे हुए हैं और प्रदेश की कीमती जमीनें कौडिय़ों के भाव भू-माफिया व बड़े औद्योगिक घरानों को सौंपकर प्रदेश के किसान को पूरी तरह से बर्बाद किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कभी सेज के नाम पर किसानों को लूटा जा रहा है तो कभी भूमि अधिग्रहण व रिलीज के नाम पर अरबों रुपए के घोटाले किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज अफसरशाही पूरी तरह से बेलगाम हो गई है और किसी भी सरकारी दफ्तर में कोई भी सामान्य काम बिना पैसे के नहीं हो रहा। उन्होंने सरकार पर नौकरियां नीलाम करने व भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि दलबदल व खरीदोफरोख्त के बलबूते सत्ता में आई हुड्डा सरकार चंद दिनों की मेहमान है और जल्द ही इसका पतन तय है।

नाबालिगा से बलात्कार

सिरसा। हनुमानगढ़ जिला के अंतर्गत गांव जंडवाला निवासी एक नाबालिगा से गांव फतहपुरिया में सामूहिक बलात्कार किए जाने का मामला प्रकाश में आया है।  फिलहाल बड़ागढ़ा पुलिस ने पीडि़ता की शिकायत पर मामला दर्ज कर हनुमानगढ़ पुलिस के सुपुर्द कर दिया है।
मिली जानकारी के अनुसार भागसर (पंजाब) निवासी कालूराम अपनी रिश्तेदार हनुमानगढ़ के अंतर्गत गांव जंडवाला के अंतर्गत पटवारी राम की 16 वर्षीय पुत्री सोनू को विगत 13 तारीख को बहला-फुसलाकर भगा ले गया। आरोपी पहले किशोरी को पंजाब ले गया। विगत दो दिन पूर्व वह किशोरी को अपने रिश्तेदार फौजीराम व हाकमराम निवासी फतहपुरिया के पास ले आया।
बताया जाता है कि दो दिन तक उक्त तीनों ने किशोरी के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। सूत्रों के मुताबिक गत दिवस किशोरी के परिजनों को पता चला कि कालूराम उसे फतहपुरिया ले गया है। गत सायं परिजन फतहपुरिया पहुंचे और पीडि़ता को बड़ागुढ़ा पुलिस थाना ले गए। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने किशोरी को सामान्य अस्पताल पहुंचाया। सूत्रों के अनुसार सामान्य अस्पताल के चिकित्सकों ने किशोरी राजस्थान से सम्बंधित होने के कारण चिकित्सीय जांच करने से मना कर दिया। चिकित्सकों द्वारा मना किए जाने से क्षुब्ध परिजनों ने सामान्य अस्पताल में हंगामा खड़ा कर दिया। तदोपरांत बड़ागुढ़ा थाना प्रभारी देवेंद्र नैन ने किशोरी को बाल विवाह निषेध एवं सरंक्षण अधिकारी साधना मित्तल के समक्ष पेश किया और बयान दर्ज करवाए।
थाना प्रभारी नैन ने बताया कि पीडि़ता के बयानों के आधार पर उक्त तीनों के विरुद्ध शिकायत दर्ज कर ली गई है। मामला राजस्थान से सम्बंधित होने के कारण हनुमानगढ़ पुलिस को सूचित कर दिया गया है। तीनों ही आरोपी भाट समुदाय से सम्बंधित हैं।

हाथ में आया लुटेरा

सिरसा। जिला की ऐलनाबाद पुलिस ने बीती रात कस्बे में हुई कार लूट की घटना की गुत्थी को त्वरित कार्रवाई करते हुए गुत्थी को सुलझाने में सफलता हासिल की है। पुलिस ने वारदात को अंजाम देने वाले एक आरोपी को काबू कर लिया है जबकि दो की पहचान कर उनके छुपने के संभावित ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है। पुलिस ने लूटी गई कार व वारदात में प्रयुक्त कार भी बरामद कर ली है।
यह जानकारी देते हुए ऐलनाबाद थाना के प्रभारी उपनिरीक्षक महावीर ङ्क्षसह ने बताया  कि रविवार रात्रि को ऐलनाबाद-डबवाली रोड़ पर स्थित लढा पेंट्रोल पंप के संचालक हरीप्रसाद लढा अपनी सफेद रंग की कार एचआर 44 डी-0711 पर सवार होकर वार्ड न. 10 में स्थित अपने आवास पर पहुंचे ही थे। दो नकाबपोश युवक पिस्तौल की नोक पर उनकी कार को छीनकर मौके से भाग निकले।
थाना प्रभारी ने बताया कि कार लूट वारदात की जानकारी मिलते ही पुलिस को अलर्ट कर दिया गया तथा क्षेत्र की नाकेबंदी कर दी गई। थाना प्रभारी ने बताया कि क्षेत्र के गांव कुत्ताबढ व रत्ताखेड़ा के बीच पुलिस पार्टी ने लूटी गई कार व वारदात में प्रयुक्त कार सहित एक आरोपी को धर दबोचा। पकड़े गए आरोपी की पहचान अमरबहादूर सिंह पुत्र बलकार ङ्क्षसह निवासी भावनदीन जिला सिरसा के रूप में हुई है।
थाना प्रभारी ने बताया कि दो युवक अंधेरे का लाभ उठाकर मौके से भाग निकले, जिनकी पहचान देवेंद्र सिंह पुत्र लखविंद्र सिंह निवासी वार्ड न. 5 ऐलनाबाद व सोमदीप उर्फ सोनी पुत्र परमजीत ङ्क्षसह निवासी ढाणी द्योतड के रूप में हुई है। उन्होने बताया कि इस संबंध में हरीप्रसाद पुत्र महावीर प्रसाद निवासी वार्ड न. 10 की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ भादंसं की धारा 392, 34 तथा शस्त्र अधिनियम के तहत ऐलनाबाद थाना में अभियोग दर्ज किया गया है।
सम्मानित होंगे पुलिसकर्मी
जिला पुलिस अधीक्षक सतेंद्र कुमार गुप्ता ने लूट की इस गुत्थी को त्वरित कार्रवाई कर सुलझाने वाले पुलिस कर्मियों की पीठ थपथपाते हुए उनकी मुक्तकंठ से प्रशंसा की है। उन्होने बताया कि लूट की इस गुत्थी को अतिशीघ्र सुलझाने वाले पुलिसकर्मियों को नकद राशि व प्रशंसापत्र देकर सम्मानित किया जाएगा।