युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

29 दिसंबर 2014

मैं मारती रही, जब तक वह मर नहीं गया

रणजीत मर्डर केस में पत्नी का कबूलनामा
डबवाली (लहू की लौ) गांव गंगा में अपने पति को मौत के घाट उतारने वाली महिला का कबूलनामा सुन पुलिस के रोंगटे खड़े हो गये। आरोपी ने पुलिस के समक्ष अपना जुर्म कबूलते हुये कहा कि साहब, मैंने ही अपने पति का कत्ल किया है। अगर मैं उसे न मारती तो उस दिन वह मुझे जान से मार देता। दोनों में से किसी एक ने मरना था। मुझे अपने किये पर पछतावा नहीं।
यूं शुरू हुआ विवाद
अपने पति रणजीत सिंह की हत्या के आरोप में पकड़ी गई हरदीप कौर ने पुलिस के समक्ष खुलासा किया कि करीब एक वर्ष पूर्व उसके बेटे काला ने जहरीला पदार्थ गटकर अपनी जान दे दी थी। जिसके बाद उसका पति शराबी हो गया। शराब के नशे में वह उससे लड़ाई-झगड़ा करने लगा। उसके एतराज करने पर वह उसे पीटता था। लेकिन वह अपनी पंद्रह वर्षीय निशक्त बेटी अमन के खातिर सबकुछ सह रही थी।
शराब के नशे में आकर पीटना शुरू किया
हरदीप कौर ने बताया कि 25/26 दिसंबर की रात को करीब 11 बजे रणजीत सिंह घर आया। उसने शराब पी रखी थी। नशे में वह उससे गाली-गलौज करने लगा। नशे में उसने लकड़ी का घोटा उठा लिया। उसकी बाजू पर दे मारा। बाद में उसकी पीठ पर मारा। वह बोला आज मैं तुझे मार दूंगा।
तब तक मारती रही, जब तक वह मर नहीं गया
आरोपी महिला ने पुलिस को बताया कि जान से मारने की धमकी सुनकर उसने रणजीत सिंह से घोटा छीन लिया। रोजाना के विवाद से तंग आकर उसने अपने पति के सिर पर घोटा दे मारा। वह वहीं गिर गया। उसे डर था कि अगर उसने रणजीत सिंह को छोड़ दिया तो वह उसे जान से मार देगा। वह तब तक उसके गले पर घोटा से वार करती रही, जब तक वह मर नहीं गया। उसके मरने के बाद खून से सन चुके कपड़ों को उतारकर संदूक में रख दिया। साथ में वारदात में प्रयुक्त घोटा भी रख दिया। कपड़े बदलने के बाद वह उसे खींचकर चारपाई तक ले आई। अपने पति के शव को बिस्तर में छुपा दिया। सुबह होते उसकी मौत की सूचना दे दी।
पुलिस ने बरामद किये कपड़े तथा घोटा
हरदीप कौर की निशानदेही पर सदर थाना पुलिस ने घर में रखे संदूक से वारदात में प्रयुक्त किया गया घोटा तथा मृतक रणजीत सिंह के खून से सने कपड़े बरामद किये। आरोपी महिला को डयूटी मजिस्ट्रेट परवेश सिंगला की अदालत में पेश किया गया। अदालत ने महिला से कबूलनामा के संबंध में प्रश्न किये। जिस पर महिला ने अपना उपरोक्त ब्यान दोहाराया।

क्या था मामला
25/26 दिसंबर 2014 की रात को गांव गंगा निवासी हरदीप कौर ने अपने पति रणजीत सिंह की हत्या कर दी थी। अपने जुर्म को छुपाने के लिये उसने सबूत गायब करने का प्रयास किया। मृतक के बड़े भाई जगजीत सिंह ने हत्या का संदेह होने पर शिकायत पुलिस में दी थी। अंतिम संस्कार की तैयारी के दौरान पुलिस शव को उठा ले आई थी। पुलिस ने हरदीप कौर के खिलाफ दफा 302 के तहत मामला दर्ज किया था।

अदालत ने न्यायिक हिरासत में भेजा
हरदीप कौर ने अपने पति की हत्या का जुर्म कबूला है। हरदीप कौर ने स्वीकारा है कि उसने लकड़ी के घोटा से अपने पति की हत्या की। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने घोटा बरामद कर लिया है। महिला को अदालत में पेश किया गया। अदालत ने 14 दिनों के लिये उसे न्यायिक हिरासत में भेजने के आदेश दिये।
-बलवीर सिंह, कार्यकारी प्रभारी, थाना सदर, डबवाली

जनस्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से टूट रहा हाईवे

नेशनल हाईवे ने दी एफआईआर दर्ज करवाने की चेतावनी

डबवाली (लहू की लौ) जनस्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते नेशनल हाईवे नं. 9 टूटकर आधी रह गई है। जिससे हाईवे से गुजरने वाले वाहन चालकों को परेशानी हो रही हैं। नेशनल हाईवे ने पब्लिक प्रॉपर्टी के नुक्सान के मामले में जनस्वास्थ्य विभाग के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाने की चेतावनी दी है। डबवाली-सिरसा रोड़ (नेशनल हाईवे नं. 9) पर चौहान नगर के नजदीक जनस्वास्थ्य विभाग का बूस्टिंग स्टेशन बना हुआ है। बूस्टिंग के मुख्य द्वार के ठीक सामने पाईप लीकेज के कारण नेशनल हाईवे आधे से भी कम रह गई है। सड़क की चौड़ाई कम होने के कारण यह जगह हादसों का भी कारण बन रही है। रोजाना तीन से चार हादसे हो रहे हैं। मुख्य गेट के सामने होने के बावजूद भी जनस्वास्थ्य विभाग लीकेज को ठीक करने में लापरवाही बरत रहा है। जबकि हाईवे लगातार टूट रही है। अब राष्ट्रीय राजमार्ग विभाग ने ही जनस्वास्थ्य विभाग के खिलाफ सख्त रूख अपनाने का फैसला लिया है।

ठीक करवाएंगे लीकेज
मैं मानता हूं कि पाईप लीकेज हो रही है। कई बार इसे ठीक करवाया जा चुका है। बूस्टिंग के नजदीक अनलोडिंग प्वाईंट बना हुआ है। भारी वाहनों की वजह से यह समस्या पुन: पैदा हो जाती है। इसे ठीक करवा दिया जायेगा। नई पाईप डालने की भी योजना है।
-संकेत शर्मा, एसडीई, जनस्वास्थ्य विभाग, डबवाली

नोटिस जारी करेंगे
जनस्वास्थ्य विभाग की पाईप लीकेज की वजह से नेशनल हाईवे टूटना गंभीर मसला है। सीधा पब्लिक प्रॉपर्टी का नुक्सान हो रहा है। संबंधित विभाग को लीकेज बंद करने के लिये लिखा जायेगा। अगर विभाग न माना तो एफआईआर दर्ज करवाई जायेगी।
-रवि मोंगा,एसडीई,
नेशनल हाईवे, सिरसा

दो राज्य, 31 किलोमीटर एरिया, हाईवे पर बेखौफ दौड़ती पोस्तियों की बारात

डबवाली (लहू की लौ) हरियाणा और पंजाब के तीन थाने। 31 किलोमीटर क्षेत्र। फिर भी राजस्थान से पोस्त की स्मगलिंग। बसों के जरिये नेशनल हाईवे नं. 54 पर वर्षों से यहीं चल रहा है। ऐसा साल में एक आध बार नहीं होता। बल्कि के 365 दिन ऐसा चलता है। ऊपर से आदेशों का डंडा चलने पर पोस्तियों की बारात को पकडऩे के लिये दोनों राज्यों की पुलिस दौड़ लगाती है। साल भर में महज एक कार्रवाई करके अपने कत्र्तव्य की इतिश्री कर लेती है। सवाल है कि क्या ऐसा ही चलता रहेगा?, क्या राजस्थान से पंजाब, हरियाणा में यूं ही पोस्त तस्करी होती रहेगी।
यूं शुरू होता है तस्करी का सफर
डबवाली से हनुमानगढ़ के लिये करीब 10 से 12 निजी बसें चलती हैं। इसके अतिरिक्त पीआरटीसी, राजस्थान रोड़वेज तथा हरियाणा रोड़वेज की बसें चलती हैं। इन बसों में अस्सी से नब्बे प्रतिशत पोस्त तस्कर सफर करते हैं। बसों में सुबह से ही लोगों की भीड़ जमा हो जाती है। जोकि संगरिया में खुले पोस्त के ठेकों पर कतार में जमा हो जाती है। बारी-बारी से इन्हें पोस्त मिलता है। आराम से बस में बैठकर ये लोग डबवाली तक पहुंच जाते हैं और फिर डबवाली से आसानी से अपने गंतव्य की ओर। हालांकि गांव चौटाला सीमा से आरंभ होकर डबवाली से गोल चौक तक की दूरी 31.52 किलोमीटर है। इसमें सदर थाना डबवाली के अंतर्गत राजस्थान सीमा से सटे गांव चौटाला में बनी चौकी का करीब 20 किलोमीटर एरिया आता है। गांव सकताखेड़ा के नजदीक स्थित पंजाब के गांव वडिंगखेड़ा का ढाई किलोमीटर क्षेत्र मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के गृहक्षेत्र लंबी में स्थित थाना के अधीन है। शेष एरिया शहर थाना डबवाली में आता है। सवाल है कि दो राज्यों के तीन थानों की पुलिस आज तक इस बीमारी का इलाज नहीं ढूंढ़ पाई है। यहां तक की इंटर स्टेट बैठकों में भी यह मुद्दा नहीं बना है। इस मामले में पुलिस के उदासीन रवैये के चलते दिन-ब-दिन पोस्तियों की बारात लंबी हो रही है। अब तो इस धंधे में महिलाओं ने भी बढ़चढ़कर भाग लेना शुरू कर दिया है।
पंजाब, राजस्थान के लोग तस्करी से जुड़े
पिछले दिनों शहर थाना डबवाली पुलिस ने गांव शेरगढ़ के पास नाका लगाकर एक निजी बस को पकड़ा। जिसमें सभी यात्रियों के पास चूरा पोस्त थी। सबसे खास बात कि हरियाणा के एक पोस्ती को छोड़कर सभी पंजाब तथा राजस्थान से संबंधित थे। पकड़े गये आरोपियों में पंजाब के थाना मोड मंडी, बठिंडा, संगत, लंबी, जैतो, गोनियाना, रामामंडी, भुच्चो मंडी, बल्लुआना, नथाना, नईयांवाली, बालियांवाली, कोटफता, मानसा, गिदड़बाहा, कोटभाई, मोड कलां के साथ-साथ राजस्थान के संगरिया, हनुमानगढ़ तथा झुंझनू थाना क्षेत्र के लोग थे। आरोपियों में चार महिलाएं शामिल थीं।
सवारियों को उतार रहे बस वाले
बस सर्विस से जुड़े एक व्यक्ति ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि डबवाली-संगरिया-हनुमानगढ़ के लिये चलने वाली बसों में अस्सी से नब्बे फीसदी पोस्ती होते हैं। प्रतिदिन करीबन दो हजार पोस्ती राजस्थान के ठेकों से पोस्त लेकर डबवाली पहुंचते हैं। अपने धंधे को बढ़ाने के लिये निशक्त लोगों को हथियार बनाना शुरू कर दिया है। शहर थाना पुलिस की एक कार्रवाई से पिछले दस दिनों में सवारियों की संख्या प्रति बस मात्र 15 से 20 रह गई है। कई बस ऑपरेटरों का धंधा मंदा हो गया है। जिसके चलते वे कम सवारियों का बहाना करके सवारियों को नीचे उतार रहे हैं।
संयुक्त कार्रवाई की जरूरत
उपरोक्त मामले में हरियाणा-पंजाब पुलिस के साथ-साथ जीआरपी पुलिस की संयुक्त कार्रवाई की जरूरत है। चूंकि सड़क मार्ग पर कार्रवाई होने के बाद पोस्त तस्कर बठिंडा-हनुमानगढ़ रेलवे ट्रेक पर दौडऩे वाली ट्रेनों में सवार हो जाते हैं। बिना संयुक्त कार्रवाई के इस बीमारी का इलाज संभव नहीं है।
क्या है सजा का प्रावधान
शहर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर दलीप सिंह ने बताया कि एक किलोग्राम से कम चूरा पोस्त पकडऩे पर छह माह की कैद या 10 हजार रूपये जुर्माना का प्रावधान है। एक किलोग्राम से 49 किलोग्राम चूरा पोस्त पकड़े जाने पर 10 साल तक की सजा तथा एक लाख रूपये तक के जुर्माना हो सकता है। यहीं नहीं इससे ज्यादा पोस्त की मात्रा होने पर 10 साल की सजा तथा एक लाख रूपये जुर्माना या दोनों सजाएं एक साथ हो सकती हैं।
ट्रेनों में स्पैशल चैकिंग
ट्रेनों में पोस्त तस्करों पर लगाम लगाने के लिये हर रोज चैकिंग की जाती है। इसके लिये स्पैशल चैकिंग टीम बनाई गई है।
-रणवीर सिंह, प्रभारी, जीआरपी, डबवाली


चौटाला में नाका लगाएगी पुलिस, बनेगी संयुक्त ऑपरेशन की योजना
मैं मानता हूं कि गांव चौटाला से डबवाली के गोल चौक तक की सीमा लगभग 31 किलोमीटर है। गांव चौटाला राजस्थान के संगरिया से सटा हुआ है। अब तक चौटाला में स्थाई नाका नहीं था, जिसकी वजह से पोस्ती बस में सवार होकर आराम से डबवाली पहुंच जाते और निकल जाते। चौटाला में स्थाई नाका लगाया जायेगा। राजस्थान से आने वाली प्रत्येक बस की चैकिंग की जायेगी। अगर कोई बस चालक या परिचालक इसमें संलिप्त पाया गया, उसके खिलाफ भी पुलिस कार्रवाई की जायेगी। तस्करी पर लगाम लगाने के लिये हरियाणा, पंजाब पुलिस तथा जीआरपी के संयुक्त ऑपरेशन की जरूरत है। संयुक्त ऑपरेशन चलाने की योजना बनाई जायेगी।
-सत्यपाल यादव, डीएसपी, डबवाली

ठंड पर भारी आस्था धूमधाम से मना गुरूपर्व

डबवाली (लहू की लौ) कंपकंपाती ठंड पर आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा। रविवार को गुरूद्वारा श्री कलगीधर सिंह सभा में सिखों के 10वें गुरू गुरूगोबिंद सिंह का प्रकाशोत्सव बड़ी धूमधाम से मनाया गया। लुधियाना तथा सिरसा से आये सिख इतिहास के विद्वानों ने संगतों को गुरू गोबिंद सिंह के जीवन परिचय से अवगत करवाते हुये त्याग का मार्ग अपनाने के लिये प्रेरित किया।
प्रकाशोत्सव के मौके पर गुरूद्वारा श्री कलगीधर सिंह सभा को फूलों से सजाया गया था। श्री अखंड पाठ के भोग के बाद धार्मिक दीवान सजाये गये। जिसमें सिख मिशनरी कॉलेज लुधियाना से आये प्रचारक हरजिंद्र सिंह जम्मू ने सिख इतिहास से संगतों को परिचित करवाया। सिरसा से आये रणजीत सिंह के रागी जत्थे ने भी सिख इतिहास सांझा किया।
इस मौके पर गुरू का लंगर अटूट बरता। इस अवसर पर गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी के पूर्व अध्यक्ष जगरूप सिंह, बघेल सिंह, उपप्रधान ज्ञानी गुरबचन सिंह, जगदेव सिंह मटदादू, एसजीपीसी सदस्य जगसीर सिंह मांगेआना, एडवोकेट रणजीत सिंह, एडवोकेट सुखबीर सिंह बराड़ उपस्थित थे।

थानों में नजर नहीं आयेगा वाहनों, असलों का कबाड़

डबवाली (लहू की लौ) सालों बाद हिसार रेंज से संबंधित थानों में स्वच्छता अभियान चलने जा रहा है। जिसके तहत अब थानों में कबाड़ के रूप में असला तथा वाहन नजर नहीं आएंगे। पुलिस संबंधित मालिकों को नोटिस जारी करके सामान लेजाने के लिये बाध्य कर रही है। इसके लिये सात दिनों का समय दिया गया है। निश्चित अवधि में कोई नहीं आया तो उपरोक्त सामान को नीलामी के लिये भेज दिया जायेगा।
हिसार रेंज के आईजी की पहल
हिसार रेंज के तहत जिला सिरसा, भिवानी, फतेहाबाद, हिसार तथा जींद के पुलिस थाने तथा चौकियां आती हैं। सभी जगहों पर करीब पच्चीस वर्षों से कबाड़ के रूप में वाहन तथा मृत लोगों का असला पड़ा है। पुलिस की लाख कोशिशों के बावजूद भी उपरोक्त वस्तुओं को लेने के लिये कोई नहीं आया। जिसके चलते थाने कबाड़ घर नजर आने लगे हैं। लेकिन अब पुलिस ने इस कबाड़ को नीलाम करने का मन बनाया है। हिसार रेंज के आईजी अनिल राव ने इसे स्वच्छता अभियान का नाम देते हुये पहल की है। जिसके चलते हिसार में एक सप्ताह में दो बार बैठकें हो चुकी हैं। बैठकों के बाद पुलिस इस नतीजे पर पहुंची है कि आखिर एक बार लोगों को अपना असला या फिर वाहन लेजाने का मौका दिया जायेगा। निर्णय के फलस्वरूप पुलिस ने लोगों को एक सप्ताह का समय दिया है।
कैसे चलेगी कार्रवाई
अकेले सदर थाना डबवाली की बात की जाये तो इसमें 42 असला ऐसे पड़े हैं, जिनके मालिक अब इस दुनिया में नहीं हैं। उनके परिजनों ने भी इसकी सुध नहीं ली। वर्षों से जंग खा रहा असला कबाड़ बन गया है। इस असला को अंबाला स्थित सैंटर मालाखाना में नीलामी के लिये भेजा जायेगा। इसी तरह वर्ष 1990 से ऐसे वाहन खड़े हैं, जो बिल्कुल ही खस्ता हो चुके हैं। अदालतों में मामले खत्म होने के बावजूद भी इन वाहनों को लेने कोई नहीं आया। मामलों में हो रही तीव्र गति के कारण वाहनों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ रही है। इन्हें रखने के लिये जगह छोटी पड़ रही है। पुलिस नोटिस जारी करके वाहन मालिकों को अपना वाहन लेजाने के लिये मैसेज दे रही है। अगर कोई मालिक वाहन लेने थाना नहीं पहुंचा तो वाहनों को नीलामी के लिये सिरसा भेज दिया जायेगा।

आदेशों के बाद नोटिस की प्रक्रिया शुरू
आईजी हिसार ने थानों की स्वच्छता के लिये रेंज में आने वाले सभी थानों के लिये आदेश दिये है। उनके आदेश पर वाहन तथा असला मालिकों को नोटिस जारी किये गये हैं। एक सप्ताह के भीतर संबंधित व्यक्ति अपना वाहन लेजा सकता है। अन्यथा उपरोक्त सामान को नीलाम कर दिया जायेगा।
-बलवीर सिंह, कार्यकारी प्रभारी, सदर थाना, डबवाली

सीवरेज डाले जाने की मांग

डबवाली (लहू की लो) इन्दिरा नगरी के लोगों ने मुख्यमंत्री हरियाणा से सीवरेज डाले जाने की मांग की है।
इन्दिरा नगरी निवासी भोले राम ठेकेदार ने कहा कि नगरी के लोगों ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से अनुरोध किया है कि उनकी नगरी में अधिकांश गरीब लोग रहते हैं और उनसे समय समय पर बनने वाली सरकारें भेदभाव करती आ रही हैं। जनस्वास्थ्य विभाग ने उनकी नगरी में सीवरेज डालने के लिए एस्टीमेंट बनाकर भेजा हुआ है। जो मंजूर भी हो चुका है। केवल ग्रांट आने की कमी है।
उन्होंने सरकार से मांग की कि उनके जहां सीवरेज डालने के लिए तीन करोड़ रूपये की ग्रांट भोजी जाये। ताकि लोगों को खुले में शौच से मुक्ति मिल सके।

घर में बल्ब एक बिल 10,000 रूपये

डबवाली (लहू की लौ) वार्ड नं. 15 निवासी पिंकी रानी पुत्री दाताराम ने बिजली निगम के उपमण्डल बिजली अधिकारी को एक पत्र भेजकर मीटर तेज चलने और 10 हजार 191 रूपये बिल आने की शिकायत की है।
पिंकी रानी ने बताया कि उसके घर पर  खाता नं. 2869111111 के अन्तर्गत मीटर नं. एसडी-56/5555 लगा हुआ है। उसके घर में न तो फ्रिज है और न ही बिजली पर चलने पर कोई अन्य उपकरण है। केवल एक बल्ब है। इसके बावजूद उसका बिल 10 हजार रूपये से ऊपर आया है।
शिकायतकात्री के अनुसार उसके मीटर की जांच करवाकर तथा घर में लाईट चैक करके उसे न्याय दिलाया जाये तथा  तेज चल रहा मीटर बदल कर नया मीटर लगवाया जाये।

गली में पड़ी ईंटों को हटवाने की मांग

डबवाली (लहू की लो) वार्ड नं. 15 की गली नन्द लाल जमांदार वाली के निवासी जगराज, पप्पू, कमल, रविकुमार ने सचिव नगरपालिका को एक पत्र देकर गली में पड़ी ईंटों को हटवाने की मांग की है।
गली वासियों ने बताया कि उनकी गली सिर्फ 6-7 फुट चौड़ी है लेकिन वहां पर एक व्यक्ति ने करीब 4 साल से ईंटें लगा रखी है। जिससे आने जाने वालो को तो कठिनाई होती ही है लेकिन साथ में इससे वहां बनी बाल्मीकि धर्मशाला को भी नुक्सान पहुंच रहा है।

मित्तल युवा रक्तदान सोसायटी के कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त

डबवाली (लहू की लौ) युवा रक्तदान सोसायटी की एक आवश्यक बैठक संस्था के अध्यक्ष राकेश गर्ग भीटीवाला की अध्यक्षता में एक निजी होटल में हुई। जिसमें आगामी वर्ष में आयोजित किए जाने वाले रक्तदान शिविरों में 97वां विशाल रक्तदान शिविर शहीद-ए-आजम भगत सिंह, राजगुरू के शहीदी दिवस पर 23 मार्च को आयोजित करने का निर्णय लिया गया।  सामान्य अस्पताल में चल रहे ब्लड स्टोरेज सेंटर को संपूर्ण ब्लड बैंक चलाने के लिए हो रही देरी के संदर्भ में हरियाणा सरकार के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज एवं स्वास्थय विभाग के उच्च अधिकारियों को पत्र लिखने का फैसला लिया गया।
बैठक में आगामी दो वर्ष के लिए संस्था की नईं कार्यकारिणी का गठन किया गया। अध्यक्ष राकेश गर्ग भीटीवाला द्वारा कार्यकारिणी भंग करने उपरांत संस्था के संस्थापक सुरेंद्र सिंगला ने सुभाष मित्तल कार्यकारी अध्यक्ष, तरसेम गर्ग वरिष्ठ उपाध्यक्ष, हरदेव गर्ग उपाध्यक्ष चरणकमल गोयल सचिव, केवल कृष्ण चलाना उपसचिव, सुनीत ग्रोवर संगठन सचिव, राम गोपाल मित्तल कार्यालय सचिव एवं पंकज गोयल को कोषाध्यक्ष नियुक्त किया गया। सलाहकार समिति में पूर्व अध्यक्ष राकेश गर्ग भीटीवाला, मदन लाल गुप्ता, दविंद्र मित्तल, विशेष आमंत्रित सदस्यों मे संतोष शर्मा, मुरारी लाल शर्मा, वरूण सिंगला के अलावा कार्यसमिति सदस्यों में नवीन नागपाल, गौतम गोयल, रूपिंद्र गोयल किंगरा, सतीश बांसल गोगी, हरीश सचदेवा, जितेंद्र गुप्ता लवली एवं मनीष सचदेवा को शामिल किया।

ढाबे की आड़ में बेच रहा था चूरापोस्त, धरा

डबवाली (लहू की लौ)ओढां पुलिस ने सालमखेड़ा नहर पर स्थित एक ढाबे पर छापामारी करते हुए एक व्यक्ति को चूरा पोस्त सहित काबू किया है। पुलिस को सूचना मिली थी कि नहर पुल पर बने एक ढाबे की आड़ में चूरा पोस्त का धंधा हो रहा है। जिस पर एएसआई खुर्शीद आलम ने ढाबे पर छापेमारी कर वहां पर काम कर रहे एक युवक से डेढ़ किलोग्राम चूरापोस्त बरामद किया है। आरोपी युवक की पहचान अशोक उर्फ गोपी पुत्र कश्मीरी लाल निवासी मलोट के रूप में हुई है। पुलिस ने बताया कि आरोपी को सोमवार को अदालत में पेश किया जाएगा।

सात दिवसीय एनएसएस शिविर शुरू

डबवाली (लहू की लौ) राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय ओढां  में एनएसएस प्रभारी रामस्वरूप की देखरेख एवं प्राचार्य सुभाष फुटेला की अध्यक्षता में आयोजित सात दिवसीय राष्ट्रीय सेवा योजना शिविर का शुभारंभ एसएमसी प्रधान पम्मी कौर ने रविवार को किया।
 एनएसएस प्रभारी रामस्वरूप ने बताया कि शिविर के सभी सातों दिनों के लिए अलग-अलग रूपरेखा बनाई है जिसमें प्रथम दिन स्कूल के कमरों, बरामदों और सड़क की सफाई करना, पेड़ पौधों को सफेदी करना, दूसरे दिन विद्यालय प्रांगण की सफाई व लॉन को समतल करना, तीसरे दिन पेड़ पौधों की कटाई छंटाई कर उन्हें खाद देना, चौथे दिन खेल मैदान की सफाई व पर्यावरण संरक्षण के बारे में जागरूकता रैली निकालना, पांचवें दिन खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय में पेड़ पौधों की देखभाल करना, छठे दिन बीईओ कार्यालय के आसपास स्लम बस्ती की सफाई करना तथा वहां के लोगों को स्वच्छता का महत्व बताकर उन्हें इस विषय में जागृति प्रदान करना व शिविर के अंतिम दिन संस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। 

प्रधानाचार्या ने योग साधना पर दिया बल

डबवाली (लहू की लौ) सीएमडीएवी पब्लिक स्कूल के प्रांगण में चल रहे एनएसएस शिविर के छठे दिन की शुरूआत योग साधना से हुई। स्वयंसेवकों  ने प्रधानाचार्या सरिता गोयल  के दिशा निर्देश में विभिन्न योग  क्रियाएं सीखी।
प्रधानाचार्या सरिता गोयल ने स्वयंसेवियों से कहा कि योग साधना को अपनी दिनचर्या में शामिल करना चाहिए। कार्य करते समय मुद्राओं को किया जा सकता है। उन्होंने बताया की मुद्राओं से माईग्रेन, हाईपर टेंशन और डिप्रेशन जैसी बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है।  इस मौके पर उन्होंने आंवला के गुण भी स्वयंसेवियों को बताये।
एनएसएस प्रभारी शकुंतला चुघ ने बताया कि स्वयंसेवियों ने योगा के बाद खेल मैदान की सफाई की। इसके बाद बेटी बचाओं पर सुन्दर-सुन्दर स्लोगन लिखे। जिसमें उन्होंने कन्या भ्रूण हत्य पर कटाक्ष करते हुए अपनी भावनाएं व्यक्त की। 

29 Dec. 2014





28 Dec. 2014







27 Dec. 2014





26 Dec. 2014





25 Dec. 2014