युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

23 जुलाई 2010

लूट की वारदात का चौथा आरोपी गिरफ्तार

सिरसा। जिला की सीआईए सिरसा पुलिस ने 31 जनवरी 2010 को शहर के पालिका बाजार में हुई लूट की घटना के चौथे आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया है।
गिरफ्तार किये गये आरोपी की पहचान तरसेम पुत्र सतीश कुमार निवासी गली नंबर 7 पटेल नगर मलोट पंजाब के रूप में हुई है। इस संबंध में जानकारी देते हुए सीआईए सिरसा के प्रभारी निरीक्षक किशोरी लाल ने बताया कि शहर के पालिका बाजार में स्थित बूट हाऊस के संचालक सुरेन्द्र पुत्र जगदीश के साथ बीती 31 जनवरी को लूट की वारदात हुई, जिसमें आरोपियों ने सुरेन्द्र से 40 हजार रुपये की नकदी व मोबाईल लूट लिया। उन्होंने बताया कि इस संबंध में शहर थाना सिरसा में अभियोग दर्ज कर जांच का जिम्मा सीआईए स्टाफ सिरसा को सौंपा गया। प्रभारी ने बताया कि गुत्थी को सुलझाने के लिए स्टाफ की कई टीमों का गठन किया गया। सहायक उपनिरीक्षक रणसिंह पर आधारित पुलिस टीम ने महत्वपूर्ण सुराग जुटाते हुए 31 मई व 1 जून को घटना के तीन आरोपियों बलविन्द्र निवासी शमशाबाद पट्टी, हरजिन्द्र निवासी भंभूर, नानक सिंह निवासी झोरडऩाली को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने पूछताछ कर उनकी निशानदेही पर लूटी गई 12 हजार रुपये की राशि व एक मोबाईल फोन बरामद किया था।
उन्होंने बताया कि कल सीआईए के सहायक उपनिरीक्षक रणसिंह ने घटना के चौथे आरोपी तरसेम को शहर सिरसा क्षेत्र से काबू कर लिया तथा पूछताछ कर उसकी निशानदेही पर लूटी गई 6 हजार रुपये की राशि बरामद कर ली है। प्रभारी ने बताया कि इस घटना के पांचवें आरोपी की भी पहचान कर ली गई है।

फरार हुआ कैदी गिरफ्तार

डबवाली। जिला की बडागुढ़ पुलिस ने पैरोल छुट्टी बीत जाने के बाद फरार हुए कैदी को पुन: गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किये गये कैदी जग्गी उर्फ करतार सिंह पुत्र गुरदीप सिंह गांव रघुआना का निवासी है। आरोपी को आज सिरसा अदालत में पेश किया जाएगा।
इस संबंध में जानकारी देते हुए बडागुढ़ा के थाना प्रभारी उपनिरीक्षक रामकिशन ने बताया कि जग्गी उर्फ अवतार सिंह निवासी रघुआना के विरुद्ध 20 मई 1996 को सदर डबवाली थाना में मादक पदार्थ अधिनियम के तहत अभियोग दर्ज हुआ था तथा आरोपी को सन 2005 में 15 साल की कैद की सजा सुनाई गई। उन्होंने बताया कि अवतार सिंह 18 मई 2010 को सिरसा जेल से 6 सप्ताह की पैरोल छुट्टी पर गांव रघुआना में आया तथा उसको 30 जून 2010 को सिरसा जेल वापिस जाना था।  परंतु वह जेल न जाकर फरार हो गया।
थाना प्रभारी ने बताया कि जेल अधीक्षक सिरसा ने इस संबंध में अवतार सिंह के खिलाफ जेल न पहुंचने के संबंध में शिकायत दर्ज करवाई, जिस पर अवतार सिंह के विरुद्ध थाना बडागुढ़ा में अभियोग दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी गई। बडागुढ़ा थाना प्रभारी ने बताया कि अभियोग दर्ज करने के बाद अवतार सिंह की लगातार तलाश की जा रही थी तथा उसके छुपने के संभावित ठिकानों पर दबिश दी जा रही थी।
उन्होंने बताया कि कल उन्हें सूचना मिली कि जग्गी उर्फ अवतार सिंह गांव झोरडऱोही में विवाहित अपनी बेटी सुरजीत कौर के घर आया हुआ है। सूचना को पाकर उन्होंने पुलिस पार्टी के साथ गांव झोरडऱोही में दबिश देकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपी को आज सिरसा अदालत में पेश कर पुन: जेल भेजा जाएगा।

आज से शुरू होगा बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का सर्वे

सिरसा। जिला प्रशासन द्वारा कल से जिला के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के नुकसान का सर्वे करवाया जाएगा। सभी अधिकारी अपने-अपने विभागों से संबंधित नुकसान व कृषि क्षेत्र व मकानों में हुए नुकसान की रिपोर्ट आगामी 31 जुलाई तक उपायुक्त कार्यालय में सौंप देंगे। इस संबंध में अधिकारियों की बैठक आयोजित कर जिला उपायुक्त सी.जी रजिनीकांथन ने निर्देश दिए कि वे ईमानदारी व निष्पक्षता से बाढ़ से हुए नुकसान का सर्वे करे और प्रतिदिन सर्वे की रिपोर्ट संबंधित उपमंडल अधिकारी नागरिक और उनके कार्यालय में भिजवाएं ताकि सर्वे किए गए क्षेत्रों में अगले दिन वरिष्ठ अधिकारी सर्वे कर निरीक्षण कर सके। उन्होंने बताया कि जिला में हजारों की संख्या में मकान बाढ़ से क्षतिग्रस्त हुए है। प्रत्येक गांव में मकानों का सर्वे करने के लिए छह सदस्यीय टीम बनाई गई है। इस टीम में एक जूनियर इंजीनियर, ग्राम सचिव, सरपंच, सामान्य जाति का नंबरदार, पिछड़ा वर्ग का नंबरदार और अनुसूचित जाति का नंबरदार शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारियों को सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार सर्वे करने के भी निर्देश दिए गए है। सभी गांवों में किए गए सर्वे का प्रतिदिन संबंधित बीडीपीओ, उपमंडल अधिकारी नागरिक द्वारा निरीक्षण भी किया जाएगा। उन्होंने बताया कि स्पैशल गिरदावरी करने का कार्य भी कल से शुरु कर दिया जाएगा। कृषि, खेती में हुए नुकसान के सर्वे के लिए पटवारी अपने साथ सरपंच, नंबरदार व जमीन के मालिकों को साथ रखेंगे ताकि सर्वे का काम पूरी तरह पारदर्शिता से किया जा सके। उन्होंने बताया कि सभी खंडों में सर्वे का निरीक्षण करने के लिए नायब तहसीलदारों को इंचार्ज बनाया गया है।

गृह मंत्री ने जाना बाढ़ पीडि़तों का दर्द

सिरसा। गृह राज्यमंत्री गोपाल कांडा ने आज जिले के बाढ़ प्रभावित गांवों का दौरा किया और बाढ़ पीडि़तों का दर्द सुना। स्थानीय लोक निर्माण विश्राम गृह से अधिकारियों के दल के साथ गृह राज्यमंत्री गोपाल कांडा सबसे पहले डिंग मंडी के लिए रवाना हुए। डिंग मंडी में पिछले दो दिनों में हुई बरसात से सबसे अधिक नुकसान हुआ। इस क्षेत्र में अनेक मकान क्षतिग्रस्त हो गए और पूरा कसबा पानी से लबालब भर गया। श्री कांडा ने यहां पहुंचते ही बाढ़ पीडि़त लोगों को एक-एक करके सुना और उनकी हर संभव मदद के लिए अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए। इस मौके पर गृह राज्यमंत्री श्री कांडा ने स्वयं निजी कोष से 10 लाख रुपए की सहायता देने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि यह धन उन लोगों पर खर्च किया जाए जिनके मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं। श्री कांडा ने अधिकारियों से कहा कि पूरे क्षेत्र का सर्वे करवाया जाए और जिन लोगों के मकान गिरे हैं उन्हें मरम्मत के लिए इस राशि में से धन उपलब्ध करवाया जाए। लोगों ने श्री कांडा को अपनी शिकायतें बताते हुए कहा कि बरसात से आई बाढ़ के कारण लोगों के घर डूब गए। कारोबार ठप हो गए और खेती-बाड़ी नष्ट हो गई। लोगों ने जिला प्रशासन की भी शिकायत की और कहा कि उन्हें मदद देने के लिए कोई अधिकारी नहीं आया। इस पर श्री कांडा ने अधिकारियों को आड़े हाथों लिया। डिंग के अलावा गृह राज्यमंत्री ने जोधकां, कुक्कड़थाना, बाजेकां, नेजाडेलां और झोंपड़ा में भी बाढ़ ग्रस्त इलाकों का जायजा लिया। कुक्कड़ थाना में श्री कांडा ने बाढ़ पीडि़तों की मदद के लिए 2.5 लाख व जोधकां में 5 लाख की राशि दी। इससे पहले गृह राज्यमंत्री ने मुख्यमंत्री के साथ भी यहां के हालात का जायजा लिया था और मुख्यमंत्री को यहां के लोगों को मदद देने की अपील की थी। श्री कांडा ने बताया कि राज्य सरकार ने विशेष गिरदावरी के आदेश दे रखें है जिस पर कार्रवाई की जा रही है और केंद्र सरकार की ओर से गठित कमेटी भी अपना सर्वे पूरा कर चुकी है। उन्होंने बताया कि जल्द ही केंद्र की ओर से भी बाढ़ पीडि़तों को पूरी मदद दी जाएगी।  उनके साथ इस दौरे में अतिरिक्त उपायुक्त पंकज चौधरी, उपमंडल अधिकारी नागरिक एस.के जैन, कांग्रेस नेता गोबिंद कांडा, कांग्रेस नेत्री श्रीमती कृष्णा पूनियां, सूरत सैनी, हेतराम, राजेंद्र मकानी सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उनके साथ थे।

सर्वे पूरी पारदर्शिता से करें अधिकारी-तंवर

सिरसा। सिरसा के सांसद श्री अशोक तंवर ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे बाढ़ से प्रभावित मकानों और फसलों का सर्वे पूरी पारदर्शिता से करे ताकि कोई भी  व्यक्ति बाढ़ के नुकसान के मुआवजे से वंचित न रहे। श्री तंवर आज वार्ड नंबर-19 में खालसा स्कूल के निकट ट्यूबवैल का उद्घाटन करने के पश्चात लोगों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सिरसा जिला में कल बाढ़ से हुए नुकसान का सर्वे शुरु किया जा रहा है। इसलिए जिस भी व्यक्ति की फसल, मकान, ट्यूबवैल व अन्य संपत्ति बाढ़ से नष्ट हुई है वे सर्वे टीम के अधिकारियों से मिलकर अपनी रिपोर्ट दर्ज करवाए। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से भी कहा है कि वे इस सर्वे के दौरान प्रशासनिक अधिकारियों का सहयोग करे। उन्होंने पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधियों का भी आह़वान किया कि वे स्वयं सर्वे टीम के साथ जाकर सर्वे करवाए ताकि प्रत्येक जरुरतमंद व्यक्ति को बाढ़ से हुए नुकसान का मुआवजा मिल सके और प्रशासन द्वारा राहत भी जुटाई जा सके।
उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों को ये भी निर्देश दिए कि जो गांव बाढ़ से प्रभावित हुए है उनमें गलियां, सड़कों व अन्य रास्तों की मरम्मत प्राथमिकता के आधार पर करवाए ताकि बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लोगों को किसी प्रकार की कठिनाई न हो। उन्होंने यह भी कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्यो में और ज्यादा तीव्रता लाई जाएगी। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा शहरी क्षेत्रों में 110 लीटर प्रतिदिन प्रति व्यक्ति शुद्व पेयजल मुहैया करवाया जा रहा है और ग्रामीणों व शहरी क्षेत्रों में किसी भी प्रकार की पेयजल संबंधी कठिनाई नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को सभी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पेयजल स्त्रोतों में क्लोरीनेशन अवश्य करना चाहिए। इसके साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी यह भी सुनिश्चित करे कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में किसी प्रकार की महामारी न फैले। उन्होंने इस अवसर पर शहरवासियोंकी विभिन्न विभागों से संबंधित शिकायतें सुनी और उन्हें दूर करने का आश्वासन दिया। इस मौके पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष होशियारी लाल शर्मा, ब्लॉक प्रधान भूपेश मेहता, कांग्रेस के प्रदेश महासचिव नवीन केडिय़ा, कांग्रेस नेता आनंद बियानी, राजकुमार शर्मा, तिलक राज चंदेल व अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

गन्दे पेयजल की आपूर्ति से उल्टी-दस्त रोग फैला

डबवाली (लहू की लौ) वार्ड नं. 13 की गली विक्रमादित्य अस्पताल वाली के लोग पिछले छह माह से सीवरेजयुक्त पानी की आपूर्ति को लेकर उल्टी दस्त रोग का शिकार हो रहे हैं।
यह जानकारी देते हुए गली निवासी राजेश जिन्दल ने बताया कि उनकी गली में पिछले छह माह से गन्दे पेयजल की आपूर्ति को लेकर वह लोग जनस्वास्थ्य विभाग के पास अपनी शिकायत दर्ज करवाते आ रहे हैं लेकिन कोई ध्यान न दिये जाने से अब हालत यह हो गई है कि उनके गली के लोग उल्टी दस्त रोग के शिकार हो गये हैं।  उनके अनुसार गन्दे पेयजल के कारण उनकी गली के निवासी आशू धींगड़ा, बन्नू बतरा के साथ-साथ उसका पिता हरबिलास निरंकारी, भाई दीपक जिन्दल पिछले एक सप्ताह से उल्टी-दस्त का शिकार हैं। प्राईवेट अस्पतालों से उनका इलाज चल रहा है। इस संबंध में जनस्वास्थ्य विभाग डबवाली के जेई सतपाल से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि बरसात के दिनों में अक्सर ऐसी समस्याएं आ जाती हैं। इस समस्या को हल करवा दिया जायेगा।
इधर दर्पण सिनेमा के पीछे भी पिछले तीन दिनों से गन्दे पेयजल की आपूर्ति हो रही है। यह जानकारी एडवोकेट जगदीप सिंह ने दी।

विक्रम नेहरा डबवाली के थाना प्रभारी नियुक्त

डबवाली (लहू की लौ) पुलिस प्रशासन को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए पुलिस अधीक्षक सतिन्द्र गुप्ता द्वारा आज  अधिकारियों को इधर-उधर किया गया है। अधिकारियों के किए गए तबादले की पुष्टि पुलिस प्रवक्ता ने की।
मिली जानकारी के अनुसार  नाथूसरी चौपटा थाना प्रभारी विक्रम नेहरा का तबादला कर दिया गया है। उन्हें शहर थाना डबवाली का कार्यभारी सौंपा गया है। वहां तैनात इंस्पेक्टर विरेंद्र सिंह को डिटैक्टिव ब्रांच का कार्यभार दिया गया। इस ब्रांच में  कार्यरत धर्मवीर को नाथूसरी चौपटा  थाना में भेजा गया है। वे यहां थाना प्रभारी की कमान संभालेेंगे।
इसी प्रकार कुछ और अधिकारियों के तबादले किए गए हैं। पुलिस अधीक्षक सतींद्र गुप्ता द्वारा किए गए इन तबादलों की पुष्टि करते हुए पुलिस प्रवक्ता सुरजीत सहारण ने बताया कि गौरीवाला चौकी प्रभारी सहायक उपनिरीक्षक कृष्ण कुमार को डबवाली मंडी स्थित गोल बाजार चौकी का प्रभारी नियुक्त किया गया है। यहां तैनात रमेश चंद्र को कृष्ण कुमार के स्थान पर गौरीवाला चौकी प्रभारी बनाया गया है।
इसके अतिरिक्त मुख्य सिपाही व सिपाही पदों पर तैनात कर्मचारियों को भी जिला में इधर-उधर किया गया है। प्रवक्ता ने बताया कि प्रशासन को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए फेरबदल किया जाना अति आवश्यक है। इसी के तहत उक्त कार्रवाई को अंजाम दिया गया है।

करंट से चार झुलसे

डबवाली (लहू की लौ) यहां की कबीर बस्ती में करंट लगने से एक मासूम बच्ची सहित चार जनें झुलस गए। जिन्हें उपचार के लिए डबवाली के राजकीय अस्पताल में लाया गया। गुरूवार सुबह कबीर बस्ती निवासी दीवान चन्द की पत्नी कस्तूरी देवी (62) घर में झाडू लगा रही थी। इसी दौरान अचानक टेबल फैन उसके ऊपर आ गिरा और उसे करंट लग गया। शोर सुनकर कस्तूरी देवी की बेटियां रेखा (32) तथा सोनू (27) दौड़ीं। अपनी माता को करंट से बचाने की कोशिश की। इसी बीच उन्हें भी करंट ने अपने आगोश में ले लिया। वहीं खेल रही मानसी (5) को भी करंट लग गया। मां-बेटियों का शोर सुनकर आस-पड़ौस के लोग इक्ट्ठे हो गए। पड़ौसी ओमबती, कृष्णा रानी, ओमप्रकाश, महेशी आदि ने बस्ती को जाती लाईट कट करके करंट से झुलस रही मां-बेटियों को निकाला। घायलों को  तत्काल उपचार के लिए डबवाली के राजकीय अस्पताल में पहुंचाया।

बैंक और पाठशाला में चोरों की दस्तक

डबवाली (लहू की लौ) बुधवार रात को अज्ञात चोरों ने भारतीय स्टेट बैंक में लगी एटीएम मशीन में तोडफ़ोड़ की। वहीं एक राजकीय प्राथमिक पाठशाला से बैंक की कापियों सहित हजारों रूपए कीमत का सामान चुरा ले गए। गुरूवार सुबह पुलिस ने दोनों जगहों का निरीक्षण करके अपनी कार्रवाई शुरू कर दी है।
चौटाला रोड़ पर स्थित भारतीय स्टेट बैंक की शाखा में लगी एटीएम मशीन में बुधवार रात को अज्ञात व्यक्तियों ने तोडफ़ोड़ की। मशीन में लगे कैश काऊंटर का कवरिंग गेट तोडऩे का प्रयास किया। लेकिन चोरों के हाथ कैश काऊंटर तक नहीं पहुंच सके। शाखा के मुख्य प्रबंधक बीएस सरपाल ने बताया कि गुरूवार सुबह उन्हें सूचना मिली कि एटीएम मशीन के कैश काऊंटर का कवरिंग गेट टूटा हुआ है। वे तुरन्त मौका पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया। सरपाल के अनुसार लगता है कि अज्ञात चोरों ने कैश काऊंटर तक पहुंचने के प्रयास में कवरिंग गेट को तोड़ा। सूचना पाकर थाना शहर पुलिस भी मौका पर पहुंची और एटीएम रूम का निरीक्षण किया। जांच अधिकारी थाना शहर पुलिस के एसआई कैलाश चन्द्र ने बताया कि मौका का निरीक्षण करके आगामी कार्रवाई शुरू कर दी गई है।
इधर राजकीय प्राथमिक पाठशाला नं. 2 में भी चोरों ने जमकर उत्पात मचाया। चोर पाठशाला से हजारों रूपए कीमत का सामान चुरा ले गए। पाठशाला की मुख्याध्यापिका सुखदेव कौर ने बताया कि गुरूवार सुबह वह चोरी की सूचना पाकर मौका पर पहुंची। चोरों ने पाठशाला के ऑफिस में प्रवेश कर कमरें में पड़ी तीन गोदरेज की अलमारी के ताले तोड़ दिए और पाठशाला का रिकॉर्ड बिखेर दिया। चोर अलमारी में पड़ी स्टील की सौ प्लेट, दो जग, दो दरी तथा एक भारत्तोलक मशीन चुरा ले गए। जिसकी कुल कीमत करीब दस हजार रूपए है। चोर स्कूल के नाम बनी दो ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स तथा एक एसबीआई की पास बुक भी चुरा ले गए।
पाठशाला में चोरी की सूचना पाकर गोल बाजार पुलिस चौकी के कर्मचारियों ने घटना का निरीक्षण किया।