युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

29 नवंबर 2010

गुंडों का निशाना बना व्यापारी

किडनैप करके 1 लाख 10 हजार रूपए की राशि लूटी, लूट के बाद नहर में फेंकने का प्रयास
डबवाली (लहू की लौ) एक गाड़ी पर सवार होकर आए चार गुंडों ने चौटाला रोड़ से एक व्यापारी को उसकी गाड़ी सहित किडनैप कर लिया। गांव अबूबशहर के पास 1 लाख 10 हजार रूपए लूटने के बाद व्यापारी को नहर में फेंकने की कोशिश की। घटना शनिवार रात करीब 12 बजे की बताई जाती है।
डबवाली के वार्ड नं. 11 के निवासी कृष्ण अंगी (38) पुत्र दीवान चन्द अंगी अपने सहायक गुरजंट सिंह (30) पुत्र बनवारी लाल निवासी वाटर वक्र्स एरिया, मण्डी किलियांवाली (पंजाब) के साथ शनिवार सुबह करीब 11 बजे अपनी गाड़ी पर साबुन की 450 पेटी लादकर राजस्थान के पीलीबंगा तथा सूरतगढ़ गया था। वहां इन साबुन की पेटियों को व्यापारियों को बेचकर एक लाख तीन हजार रूपए की राशि लेकर हनुमानगढ़ आ गया। हनुमानगढ़ से उसने मूंगफली भरी और रात को करीब 10.30 बजे डबवाली के लिए रवाना हो गया।
व्यापारी कृष्ण अंगी ने बताया कि वह हनुमानगढ़ से डबवाली के लिए अपने कर्मचारी गुरजंट उर्फ जंटा के साथ रवाना हो गया। उनकी गाड़ी ने जैसे ही संगरिया बैरियर को क्रॉस किया तो वहां पर पहले से खड़ी टाटा सूमो उनके पीछे हो ली। उसने समझा कि टैक्स बैरियर की गाड़ी होगी। लेकिन कुछ समय बाद उसे ज्ञात हुआ कि गाड़ी में सवार लोग संदिग्ध हैं। उसने अपनी गाड़ी को चौटाला में पुलिस चौकी की ओर मोड़ लिया। लेकिन चौकी के दरवाजें बंद होने के कारण वह गाड़ी को डबवाली की ओर ले आया।
कृष्ण के अनुसार उसकी गाड़ी जैसे ही डबवाली में चौटाला रोड़ पर स्थित अग्निकांड स्थल के नजदीक बदमाशों ने टाटा सूमो उनकी गाड़ी के आगे लगा ली और एक बदमाश ने उसके साथ बैठे गुरजंट को नीचे फेंक दिया। गुरजंट मौका से भाग खड़ा हुआ। बदमाशों ने उस पर पत्थर भी बरसाए। इतने में एक बदमाश ने उसकी गाड़ी के शीशे पर हॉकी दे मारी और उससे मारपीट शुरू कर दी। उसे अद्र्धबेहोशी की अवस्था में बदमाशों ने अपनी गाड़ी में डाल लिया और उसकी गाड़ी को भी एक बदमाश ने थाम कर साथ ले लिया।
बदमाश उसे अबूबशहर में नहर के किनारे ले गए। वहां पर बदमाशों ने उससे एक लाख तीन हजार रूपए की नकदी और जेब में पड़ी करीब सात हजार रूपए की नकदी भी निकाल ली। इसके बाद बदमाशों ने उसे नहर में फेंकने की योजना बनाई। इस योजना को लेकर बदमाशों में आपस में विचार नहीं मिले। इतने में मौका पाकर वह उनकी गाड़ी से कूद गया। इसी दौरान वहां पर एक ट्रेक्टर-ट्राली आ गई। जिसे देखकर बदमाश भाग खड़े हुए। वह अपनी गाड़ी में सवार होकर वापिस डबवाली पहुंचा। कृष्ण के अनुसार बदमाश की संख्या चार थी जोकि मुंह पर रूमाल लिए हुए थे। वे हिन्दी में बातचीत कर रहे थे। एक-दूसरे को भईया कहकर पुकार रहे थे।
कृष्ण अंगी ने बताया कि वह पिछले करीब आठ सालों से कमीशन पर राजस्थान और पंजाब में सामान लाने और लेजाने का काम कर रहा है। राजस्थान में वह पंजाब की बनी साबुन और राजस्थान से मूंगफली, दालें आदि लाकर पंजाब में सप्लाई करता आ रहा है। करीब पंद्रह दिन पूर्व उसका हनुमानगढ़ टाऊन में एक व्यापारी के साथ साबुन की चार पेटियों को लेकर मनमुटाव हो गया था। व्यापारी ने उसे देख लेने की धमकी दी थी और कई बार उसका पीछा भी किया। उसने एक बार उसकी गाड़ी को भी टैक्स अधिकारियों को पकड़वा दिया था। उसे संदेह है कि इसके पीछे भी उसी का हाथ होगा। उसके अनुसार बदमाश नकदी के साथ उसका मोबाइल भी छीन ले गए।
थाना शहर प्रभारी इंस्पेक्टर बलवंत जस्सू ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी हे।

कार पलटी, मियां-बीबी घायल

डबवाली (लहू की लौ) घायल पिता का पता लेने के लिए दिल्ली से अबोहर जा रहे नेटवर्क इंजीनियर अपनी पत्नी सहित अनियंत्रित हुई कार के रविवार सुबह करीब 7 बजे पलट जाने से घायल हो गये।
घायल अमित सक्सेना (26) ने बताया कि उसे पता चला कि उसका 60 वर्षीय पिता अरूण सक्सेना अबोहर शनिवार को एक दुर्घटना में घायल हो गया है। इस पर वह अपनी पत्नी रूपाली सक्सेना (25) के साथ शनिवार रात को लगभग 11 बजे दिल्ली से अबोहर के लिए अपनी जिन्न कार में रवाना हुआ। वह टाटा कम्युनिकेशन में नेटवर्क इंजीनियर के पद पर कार्यरत है।
घायल के अनुसार उनकी कार जैसे ही डबवाली के नजदीक गांव सांवतखेड़ा के पास पहुंची तो अचानक उसे नींद की झपकी आ जाने से कार अनियंत्रित होकर खेतों में जाकर पलट गई। जिससे उसे तथा उसकी पत्नी को चोटें आयीं। घायलों को डबवाली जन सहारा सेवा संस्था की एम्बुलैंस के चालक कुलवन्त सिंह ने डबवाली के सिविल अस्पताल में उपचार के लिए पहुंचाया। प्राथमिक उपचार के बाद दम्पत्ति अस्पताल से छुट्टी लेकर अबोहर के लिए रवाना हो गये।

चोरों की गतिविधियां जारी, दो दुकानों के ताले चटकाए

डबवाली (लहू की लौ)  मलोट रोड़ पर स्थित देवीलाल स्मारक के सामने की मार्किट से शनिवार रात को अज्ञात चोरों ने दो दुकानों में चोरी को अंजाम दिया और स्मारक से भी टूटी चुरा ले गये।
ग्रोवर मेडीकल स्टोर के मालिक रूपिन्द्र ्र्रग्रोवर पुत्र डॉ. अमरजीत ग्रोवर ने बताया कि वह रविवार सुबह सैर के लिए मलोट रोड़ पर जा रहा था उसने देखा कि उसकी दुकान का शैटर उठा हुआ है। उसका माथा ठनका और वह जैसे ही दुकान के पास गया तो देखा कि दुकान के ताले टूटे हुए हैं और शैटर खुला पड़ा है। दुकान के भीतर काऊंटर में पड़ी 1500 रूपये की नकदी गायब है।
इसी दुकान के साथ स्थित बैल्डिंग वर्कशाप के मालिक देसराज ने बताया कि अज्ञात व्यक्ति इसी रात को उसके बाहर पड़े लॉक किये बैल्डिंग सैट का हैंडल चुरा ले गये। जिसकी कीमत करीब 300 रूपये है। जबकि अज्ञात चोर देवीलाल स्मारक में लगी पानी की टूटी भी अज्ञात व्यक्ति चुरा ले गये।

शिविर में 36 यूनिट रक्त एकत्रित

डबवाली। वरच्युस क्लब इण्डिया रजि., डबवाली द्वारा नव प्रगति सीनियर सैकेण्डरी स्कूल के प्रांगण में क्लब के उपप्रधान मंगत राय बंसल ठेकेदार के स्व. पिताश्री कौर चंद बंसल की प्रथम पुण्यतिथि पर हरियाणा रेडक्रॉस सोसायटी के सोजन्य से रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया।
शिविर का उद्घाटन क्लब के मुख्य सलाहकार आत्मा अरोड़ा ने किया। इस अवसर पर मंगत राय बंसल के परिवार के सदस्यों, मां जगदम्बा वैल्फेयर क्लब के प्रधान रविंदर छाबड़ा, बाबा टहल दास स्पोर्ट्स क्लब के उपप्रधान मलकीत सिंह मीका, वरच्युस परिवार के सदस्यों ने रक्तदान करके स्व. कौर चंद बंसल को 36 यूनिट रक्तदान करके श्रद्धांजलि दी।
इस मौके पर नरेश बंसल ने 16 वी बार, उनकी धर्मपत्नी सुमन बंसल ने 13वीं बार रक्तदान करके रक्तदान के अभियान को नया आयाम दिया।
इस अवसर पर मार्किट कमेटी के पूर्व चेयरमैन मलकीत सिंह गंगा, डॉ. श्रवण कुमार के अतिरिक्त जिला कार्यक्रम अधिकारी अश्विनी शर्मा, डॉ. करनैल सिंह, डॉ. अश्विनी बत्तरा, प्रिंसिपल चंद्रकांता भारती, निर्देशक वेद भारती, प्रबंधक समिति के सदस्य परमजीत कोचर, जितेंद्र शर्मा, तरसेम गर्ग, वेद कालड़ा, राजेश हाकू, एडवोकेट जितेंद्र खैरा, सुमित भारती, ज्ञानी ज्ञान सिंह व संस्थापक केशव शर्मा, युवा रक्तदान सोसाइटी के संस्थापक सुरिंद्र सिंगला, शिविर के प्रोजेक्ट चेयरमैन डॉ. मथरा दास चलाना उपस्थित थे। जबकि मंच का संचालन संजीव शाद ने किया।

डरा धमका कर राज करने वालों का समय खत्म-केवी सिंह

डबवाली (लहू की लौ) मुख्यमंत्री चौधरी भूपिन्द्र सिंह हुड्डा ने हरियाणा के विकास में कोई कौर कसर नहीं छोड़ी है तथा कांग्रेस पार्टी ने कार्यकत्र्ताओं तथा आम जनता को पूरा मान-सम्मान दिया है।
यह बात शनिवार रात को मुख्यमंत्री हरियाणा के पूर्व विशेष कार्यकारी अधिकारी डा. के.वी. सिंह ने आज वार्ड 16 में मास्टर जगदीश के घर में कायकत्र्ताओं को सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि यह चौधरी भूपिन्द्र सिंह हुड्डा व कांग्रेस पार्टी की जन हितेषी नीतियों का ही नतीजा है कि हरियाणा में विकास की हवा चल रही है तथा समाज के हर वर्ग को इन नीतियों का फायदा पहुंच रहा है। अब डरा-धमका कर वोट लेने वाले लोगों को जनता ने सबक सिखाना शुरु कर दिया है तथा लोग जात-पात से ऊपर उठकर विकास व शान्ति को तवज्जो देने लगे हैं। हम सभी को जागरुक होना होगा जिससे भ्रष्टाचार पर अंकुश लगे और काम करने वाले लोग ही आगे आ सके।
डा. सिंह ने कहा कि एक मजबूत टीम हर वार्ड में बनानी होगी ताकि हम जनता में इनेलो पार्टी द्वारा बनाये गये डर के माहौल को खत्म कर सके और हरियाणा सरकार द्वारा चलाई जा रही जनहितेषी नीतियों का प्रचार प्रचार किया जा सके। उन्होंने कहा कि इनेलो पार्टी के राज में लोग डर के हालात में जीते थे जबकि कांगे्रस के राज में ऐसे हालात नहीं है। चौधरी भूपिन्द्र सिंह हुड्डा की जनहितेषी नीतियों जैसे गरीब बच्चों को निशुल्क शिक्षा के साथ वजीफा व कापी, किताबें, वर्दी व दोपहर का खाना देना और बुढ़ापा पैंशन में वृद्धि, गरीबों का निशुल्क इलाज, 100-100 गज के प्लाट, निशुल्क 200 लीटर की पानी की टंकी व निशुल्क कनेक्शन भी दिए गये। मुख्यमंत्री की दूरगामी सोच के कारण ही आज बिजली की समस्या पर काफी हद तक काबू पा लिया है।
उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार ने नई खेल नीति लागू की जिससे कॉमनवैल्थ खेलों में सबसे ज्यादा पदक देश के लिए हरियाणा के खिलाडिय़ों ने जीते हैं और अभी चीन में चल रहे एशियाई खेलों में भी हरियाणा के खिलाडिय़ों ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है।
इस अवसर पर बलदेव राज शर्मा, केशव शर्मा, शहरी प्रधान पवन गर्ग, विनोद बांसल, सुरेन्द्र सिंह ठेकेदार, संदीप चौधरी, अमरजीत सिंह हवलदार, मास्टर जगदीश शर्मा, मलकीत सिंह मिस्त्री, गुरदयाल मिस्त्री, बलवीर मिस्त्री, सुनील जिन्दल, रविन्द्र बिन्दू, जगजीत सिंह, जसविन्द्र सिंह, मलकीत शर्मा, कमलजीत, शहरी युवा प्रधान अमन भारद्वाज, जितेन्द्र कुमार आदि कांग्रेस कार्यकत्र्ता उपस्थित थे।

बैठक में मृत्यु भोज का किया विरोध

डबवाली (लहू की लौ) मेघवाल महासभा की एक बैठक रविवार को बाबा रामदेव मंदिर धर्मशाला में हुई। जिसकी अध्यक्षता हल्का मलोट के पूर्व एमएलए नत्थू राम ने की।
बैठक को मेघवाल सभा श्री गंगानगर के अध्यक्ष अभय सिंह, पूर्व अध्यक्ष कांशी राम चौहान, मेघवाल महासभा हरियाणा के धन्ना दास ऋषि, लीलू राम मेघवाल सदस्य अखिल भारतीय मेघवाल महासभा, बुध राम जिला परिषद सदस्य, मास्टर किशन चन्द्र गंगा, आत्मा राम सुढा चौटाला, चानन सिंह ब्लाक अध्यक्ष औढ़ां, राजेन्द्र राठी ब्लाक अध्यक्ष डबवाली, इन्द्राज सिंह मेघवाल, बलकौर सिंह, राजा राम आदि ने संबोधित किया। वक्ताओं ने अपने संबोधन में मेघवाल समाज के सदस्यों को संगठित होने का आह्वान किया। समाज में फैली कन्या भ्रूण हत्या, दहेज प्रथा, नशा खोरी तथा मृत्यु भोज जैसी बुराई को खत्म करने की शपथ दिलाई।
कौन हैं मेघवाल
इन्द्राज सिंह मेघवाल ने मेघवालों के संदर्भ में बताया कि मेघवालों के वंशज मेघ ऋषि हैं। जिन्होंने सर्वप्रथम कपड़ा तैयार किया। कुछ समय पूर्व इन्हें चमार (चमड़ा प्रयोग करने वाले) कहकर पुकारा जाता था। लेकिन मेघवालों का कार्य चमड़े का न होकर कपड़ा बनाना है। माननीय सुप्रीम कोर्ट ने भी चमार को अपमानित शब्द की संज्ञा दी है। इस प्रकार अब उनके जाति प्रमाण पत्रों में चमार की अपेक्षा मेघवाल शब्द का प्रयोग होने लगा है। मेघवाल अनुसूचित जाति से संबंध रखते हैं। पूरे भारत में इनकी संख्या तकरीबन 10 करोड़ है। जिनमें से करीब 15 लाख मेघवाल हरियाणा राज्य में रहते हैं।

28 नवंबर 2010

रोमिंग फ्री हो सकते हैं बॉर्डर पर पडऩे वाले क्षेत्र!

डबवाली (लहू की लौ) बीएसएनल हिसार मण्डल महाप्रबंधक एमएम अग्निहोत्री ने कहा कि बीएसएनएल की मोबाइल सेवा को ओर लोकप्रिय बनाने के लिए हिसार मण्डल में पंजाब तथा राजस्थान के साथ पडऩे वाले क्षेत्रों को रोमिंग फ्री करने की योजना तैयार की जा रही है। जो शीघ्र ही कार्यरूप लेने की आशा है।
वे डबवाली टेलीफोन एक्सचैंज में आयोजित खुला दरबार के बाद शनिवार को पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भारतीय दूरसंचार निगम का डाकघर से बिल वितरण के लिए हुआ टाईअप सफल होता हुआ दिखाई नहीं दे रहा, जिसके चलते दूरसंचार निगम शीघ्र ही अपने स्तर पर बिल वितरण करेगा। कुछ क्षेत्रों में यह सेवा शुरू भी हो चुकी है। उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि डाकघरों में उपभोक्ताओं को बिल अदा करते समय मुश्किल का सामना करना पड़ता है। इस मुश्किल को दूर करने के लिए निगम अपने स्तर पर ही बिल भरवाने के साथ-साथ बिल भरने का समय भी तीन बजे तक रखने पर विचार कर रही है। उन्होंने डबवाली में बिल भरवाने वाले कार्यालय का समय तीन बजे करने के आदेश भी जारी कर दिए।
उनसे यह पूछने पर की बीएसएनएल से सरकारी विभागों का मोहभंग हो रहा है और ये विभाग मोबाइल सेवा प्रदान करने वाली प्राईवेट कम्पनियों की ओर आकर्षित हो रहे हैं। उन्होंने इसके जवाब में कहा कि बिजली निगम ने टैण्डर इनवाईट किए थे। लेकिन बीएसएनएल का रेट अन्य प्राईवेट कंपनियों से ज्यादा होने के कारण उन्हें यह टैण्डर नहीं मिल पाया। भविष्य में इसका ख्याल रखा जाएगा। लेकिन पुलिस विभाग द्वारा बीएसएनएल के मोबाइल फोन छोड़कर एयरटेल के प्रश्न को वे यह कहकर टाल गए कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है।
एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि बिना आईडी के बाजार में जो बीएनएलएल के मोबाइल कनेक्शन मिल रहे हैं, उन पर शिकंजा कसा जा रहा है। साथ में उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि निगम के कानून इसके संबंध में काफी ढीले होने के कारण इन पर नकेल कसने में मुश्किल आ रही है।

रोमिंग फ्री हो सकते हैं बॉर्डर पर पडऩे वाले क्षेत्र!

डबवाली (लहू की लौ) बीएसएनल हिसार मण्डल महाप्रबंधक एमएम अग्निहोत्री ने कहा कि बीएसएनएल की मोबाइल सेवा को ओर लोकप्रिय बनाने के लिए हिसार मण्डल में पंजाब तथा राजस्थान के साथ पडऩे वाले क्षेत्रों को रोमिंग फ्री करने की योजना तैयार की जा रही है। जो शीघ्र ही कार्यरूप लेने की आशा है।
वे डबवाली टेलीफोन एक्सचैंज में आयोजित खुला दरबार के बाद शनिवार को पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भारतीय दूरसंचार निगम का डाकघर से बिल वितरण के लिए हुआ टाईअप सफल होता हुआ दिखाई नहीं दे रहा, जिसके चलते दूरसंचार निगम शीघ्र ही अपने स्तर पर बिल वितरण करेगा। कुछ क्षेत्रों में यह सेवा शुरू भी हो चुकी है। उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि डाकघरों में उपभोक्ताओं को बिल अदा करते समय मुश्किल का सामना करना पड़ता है। इस मुश्किल को दूर करने के लिए निगम अपने स्तर पर ही बिल भरवाने के साथ-साथ बिल भरने का समय भी तीन बजे तक रखने पर विचार कर रही है। उन्होंने डबवाली में बिल भरवाने वाले कार्यालय का समय तीन बजे करने के आदेश भी जारी कर दिए।
उनसे यह पूछने पर की बीएसएनएल से सरकारी विभागों का मोहभंग हो रहा है और ये विभाग मोबाइल सेवा प्रदान करने वाली प्राईवेट कम्पनियों की ओर आकर्षित हो रहे हैं। उन्होंने इसके जवाब में कहा कि बिजली निगम ने टैण्डर इनवाईट किए थे। लेकिन बीएसएनएल का रेट अन्य प्राईवेट कंपनियों से ज्यादा होने के कारण उन्हें यह टैण्डर नहीं मिल पाया। भविष्य में इसका ख्याल रखा जाएगा। लेकिन पुलिस विभाग द्वारा बीएसएनएल के मोबाइल फोन छोड़कर एयरटेल के प्रश्न को वे यह कहकर टाल गए कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है।
एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि बिना आईडी के बाजार में जो बीएनएलएल के मोबाइल कनेक्शन मिल रहे हैं, उन पर शिकंजा कसा जा रहा है। साथ में उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि निगम के कानून इसके संबंध में काफी ढीले होने के कारण इन पर नकेल कसने में मुश्किल आ रही है।

लोगों की समस्याओं के आगे महाप्रबंधक मजबूर

डबवाली (लहू की लौ) भारत संचार निगम लि. द्वारा दूरभाष केन्द्र डबवाली में शनिवार को खुला दरबार आयोजित किया गया। शिकायतें सुनाने आए उपभोक्ताओं ने दरबार को 'निगम का खेलÓ करार देते हुए निगम के महाप्रबंधक को खूब खरी-खोटी सुनाई। बाद में निगम के महाप्रबंधक ने इसे अपनी 'मजबूरीÓ करार दिया।
शनिवार को बीएसएनएल की ओर से डबवाली टेलीफोन एक्सचैंज में उपभोक्ताओं की शिकायतों का निवारण करने के लिए खुला दरबार सजाया गया। लेकिन दरबार में शिकायती कम और दरबारी ज्यादा पहुंचे। लोगों की अधिकतर शिकायत बिल, एक्सचैंज के टेलीफोन कनेक्शन, मोबाईल सेवा, लैंडलाईन सेवा से संबंधित थी। आचार्य रमेश सचदेवा ने शिकायत की कि निगम द्वारा जब भी खुला दरबार आयोजित किया जाता है, वे अपनी शिकायत लेकर पहुंचते हैं। लेकिन आज तक उनकी एक भी शिकायत का निपटान 'निगम के इस खेलÓ में नहीं हुआ। सचदेवा ने अपनी शिकायत में यह भी कहा कि स्थानीय टेलीफोन एक्सचैंज में न तो कम्प्यूटर टेक्निकल है और न ही चैक के जरिए बिल पेमेंट करने का कोई प्रोसिजर बताया जाता। बीएसएनएल की कस्टमर केयर से फोन पर करीब पांच मिनट तक माथापच्ची करने के बाद बात होती है, ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को उपलब्ध करवाए जा रहे कम्प्यूटरों की कंफिरगेशन तक नहीं बताई जाती। यहां तक की निगम योजनाएं बनाता है, लेकिन डबवाली एक्सचैंज के अधिकारियों की इसकी जानकारी योजनाओं की समयावधि खत्म होने के बाद ही मिलती है। जिससे लोगों को काफी दिक्कतें उठानी पड़ती हैं।
कोच दीदार सिंह, मनीष कुमार ने अपनी शिकायत में कहा कि उन्होंने लैंडलाईन फोन के लिए अप्लाई किया हुआ है। लेकिन निगम के कर्मचारी बार-बार उन्हें टरका रहे हैं। इसी प्रकार मुकन्द लाल सेठी ने भी बिल की शिकायत दर्ज करवाई। गुरमेल सिंह लखेसर ने हरियाणा में रहते हुए रोमिंग पडऩे की शिकायत महाप्रबंधक एमएम अग्निहोत्री से की।
उपभोक्ताओं की शिकायतें और खरी-खोटी सुनने के बाद महाप्रबंधक एमएम अग्निहोत्री ने कहा कि बीएसएनएल सरकारी डिपार्टमेंट है। निगम में स्टॉफ की कमी चल रही है। हिसार मण्डल की काफी प्रोपजलें उन्होंने उच्च अधिकारियों को मंजूरी के लिए भेजी हुई हैं। लेकिन पिछले तीन सालों से एक भी टैण्डर क्लीयर नहीं हुआ है। 15-20 टावर लगाए जा चुके हैं और सरकार पर उनका किराया भी पड़ गया है। लेकिन मंजूरी आज तक नहीं मिली। उन्होंने बताया कि डिपार्टमेंट द्वारा उन पर टारगेट थोपा जाता है, इस टारगेट को पूरा करना उनके लिए आवश्यक होता है। जीएम अग्निहोत्री ने मजबूरी बताते हुए कहा कि बीएसएनएल वन मैन शो नहीं है। हर कार्य एक सिस्टम के तहत होता है। फाईलें कई टेबलों पर पहुंचकर पास की जाती हैं। हर कार्य उनकी खुद की पावर में नहीं है, ऑल इंडिया लेवल पर योजनाएं बनती हैं और लागू होती हैं। उन्होंने अपने स्तर की हर समस्या के समाधान का आश्वासन दिया। इस अवसर पर उपमहाप्रबंधक हिसार ओपी जांगिड़, एलसी सहारण एजीएम मार्केटिंग हिसार, मण्डल अभियंता सिरसा अमर सिंह, एसडीई मनमोहन सिंह, एसडीई भारत भूषण वधवा, जेई राकेश बांसल, पवन कुमार आदि उपस्थित थे।

16 साल की लड़की से बलात्कार

डबवाली (लहू की लौ) थाना सदर पुलिस ने एक नाबालिग लड़की की शिकायत पर गांव चौटाला के एक युवक के खिलाफ अपहरण करके बलात्कार करने के आरोप में केस दर्ज किया है।
गांव चौटाला निवासी रेणू देवी (16) पुत्री बलराम सोनी ने चौटाला पुलिस चौकी में दिये ब्यान में कहा है कि 24-25 नवम्बर की रात को उनके गांव का अमित पुत्र मंगतू राम उसके घर से उसका अपहरण करके अपने खेत में बने एक कोठे में ले गया और वहां पर आरोपी ने उसके साथ मुुंह काला किया और भाग गया। 25 नवम्बर को सुबह उसका ताऊ वीरू राम अमित के खेत में उसे ढूंढ़ता हुआ पहुंचा और उसे अपने साथ घर ले आया।
पीडि़ता के अनुसार उसने अपनी आपबीती अपने घर आकर अपने अभिभावकों को बताई। इसके बाद दोनों पक्षों की पंचायत हुई तथा मामला सुलझ गया। लेकिन इसके बाद 26 नवम्बर की रात को लगभग साढ़े बजे अमित अपने भाई विनोद व अन्य राजकुमार, बबलू बगैरा उनके घर आ धमके और परिवार के लोगों के साथ मारपीट की। चौटाला चौकी प्रभारी एसआई जीत सिंह कुंडू ने बताया कि लड़की के उपरोक्त ब्यान के आधार पर आरोपियों के खिलाफ धारा 363/366ए/376/342/147/149/323/452  आईपीसी के तहत केस दर्ज करके पीडि़ता का चौटाला के सिविल अस्पताल से डॉक्टरी जांच करवाई। सिविल अस्पताल चौटाला की डॉ. कुलविन्द्र कौर ने बताया कि लड़की का स्वैब लेकर जांच के लिए प्रयोगशाला में भेज दिया।

लड़कियों के स्कूल के बाहर हंगामा

डबवाली (लहू की लौ) शुक्रवार देर शाम को राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के बाहर सड़क पर छात्राओं द्वारा साईकिलें खड़ी करने की मामला इतना तूल पकड़ गया कि विद्यालय के मुख्य अध्यापक और आसपास के परेशान लोग आमने-सामने आ गये।
भड़के लोगों ने प्रिंसीपल को शाम करीब साढ़े छह बजे विद्यालय के पास घेर लिया। उस पर नशे में होने का आरोप लगाते हुए उसे मारने को दौड़े लेकिन उसने भाग कर एक मकान में छुप कर जान बचाई। कांग्रेसी नेता इन्द्र जैन, मुनीष जैन, गुरबचन, सुनील कुमार आदि ने बताया कि स्कूल प्रिंसीपल ने साईकिलों को स्कूल के बाहर खड़े करने की उपमंडलाधीश को शिकायत करने के बाद उनसे दुव्र्यवहार किया और नशे में धुत्त होकर गाली-गलौच किया।
वार्ड नं. 2 के निवासी गुरबचन दास पुत्र प्रभु दयाल ने थाना शहर पुलिस डबवाली में एक दरख्वास्त देकर आरोप लगाया कि वह लोग उपमंडलाधीश डबवाली को स्कूल के सामने सड़क पर खड़ी साईकिलों को हटवाने के लिए मिले, इस पर स्कूल का मुख्य अध्यापक इन्द्रजीत सागवान उनको गाली-गलौच करने लगा तथा शराब पीकर जान से मारने की धमकियों पर उतर आया।
इधर विद्यालय के पिं्रंसीपल इन्द्रजीत सागवान ने इस बात को स्वीकार किया कि साईकिल खड़े करने को लेकर उनका कुछ लोगों से झगड़ा हुआ है लेकिन उन्होंने शराब पीये होने से इंकार किया। उन्होंने बताया कि उपमंडलाधीश डॉ. मुनीश नागपाल ने भी उनसे साईकिलों को खड़े करने संबंधी व्यवस्था करने के लिए कहा है। उन्होंने यह भी बताया कि साईकिलों का मामला आने पर उन्होंने गली में लगे जनरेटरों को भी हटवाने की मांग उपमंडलाधीश के समक्ष रखी थी। इसी मामले को लेकर कुछ लोग उसके पीछे पड़े हुए हैं। उसकी किसी के साथ लड़ाई नहीं है।
विद्यालय की शिक्षा समिति के सदस्य तथा वार्ड नं. 1 के पार्षद जगदीप सूर्या ने बताया कि विद्यालय के बाहर छात्राओं द्वारा साईकिल खड़े करने से यातायात में बाधा आती है और इससे इस क्षेत्र के दुकानदार तथा निवासी परेशान होते हैं। इसको मद्देनजर रखते हुए मंगलवार से साईकिलों को विद्यालय के भीतर खड़े करने की व्यवस्था कर दी जायेगी।
थाना शहर पुलिस प्रभारी इंस्पेक्टर बलवन्त जस्सू ने बताया कि उनके पास शिकायत आई है और दोनों पक्षों को थाना में बुलाया गया है। उसके बाद ही कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।

27 नवंबर 2010

तीन दिनों में डबवाली बनी क्राईम सिटी

डबवाली (लहू की लौ) बदमाशों की बढ़ रही गतिविधियों ने आमजन को दहशत में डालते हुए पिछले तीन दिनों से डबवाली शहर को क्राईम सिटी बना डाला है। कभी चोरी, तो कभी सीनाजोरी, तो कभी सरे बाजार तेजधार हथियारों से हत्या। एक ही रात में नगर में अज्ञात चोरों ने तीन वारदातों को अंजाम दिया। कलोनी रोड़ पर स्थित श्री गणेश जूस बार से चोर हजारों रूपए के विद्युत उपकरण चुरा ले गए। न्यू बस स्टैण्ड रोड़ पर एक बाईक और साईकिल को उड़ा ले गए।
श्री गणेश जूस बार के मालिक अमर लाल ने बताया कि शुक्रवार सुबह 6 बजे जब वह अपनी दुकान पर आया तो देखा कि दुकान का शट्टर उठा था और ताले गायब थे। दुकान के भीतर पडी दो बैटरी और एक इन्वर्टर गायब मिला। जिसकी कीमत करीब बीस हजार रूपए है। इसकी सूचना थाना शहर पुलिस को दी गई।
डबवाली के आदर्श नगर निवासी भारत भूषण वधवा (40) ने बताया कि वह न्यू बस स्टैण्ड पर एकाऊंटैंट लवली सिंगला के पास एकाऊंट सीखने के लिए गुरूवार रात को गया था। करीब 9 बजे बैच समाप्त होने के बाद वह बाहर निकला तो देखा कि उसका ब्लैक रंग का स्पलेण्डर प्लस बाईक (नं. एचआर21बी/1125) गायब है। इसी रोड़ पर स्थित ब्रादर्ज टेलर के मालिक कुलविन्द्र सिंह का बाहर खड़ा साईकिल कोई अज्ञात व्यक्ति उठा ले गया।थाना शहर प्रभारी इंस्पेक्टर बलवंत जस्सू ने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है।

बदमाशों ने किया व्यापारियों पर कापों से हमला

डबवाली (लहू की लौ) वीरवार की रात को लगभग 9.30 बजे कुएं वाली गली में चार अज्ञात मोंकी कैपधारी युवकों ने कापों से दो व्यापारियों पर हमला करके उन्हें घायल कर दिया और फरार हो गये।
डबवाली के गुरूद्वारा श्री कलगीधर सिंह सभा के सामने स्थित करियाना विक्रेता मै. बिशम्बर दास रूलदू राम फर्म के पार्टनर संजय बागड़ी (40) पुत्र श्री चन्द ने बताया कि उनके पास दिल्ली से हल्दी, मिर्च, मसाला का व्यापारी जीवन राम (55) पुत्र सूरज भान भुगतान लेने के लिए वीरवार दोपहर को आया हुआ था। रात को उसने जीवन राम को वार्ड नं. 2 की अमृतरियों वाली गली में स्थित अपने घर पर खाना खिलाया और बस स्टैंड छोडऩे के लिए अपनी बाईक पर रवाना हो गया। वह अभी घर से निकल कर कुएं वाली गली में गया ही था कि मास्टर लभू राम गोयल के घर के पास पहले से चार युवक खड़े थे। इन युवकों ने मोंकीकैप से अपने चेहरे ढांपे हुए थे।
बागड़ी के अनुसार इन चार युवकों में से दो मोटरसाईकिल को स्टार्ट किये हुए थे जबकि दो युवक खड़े थे। जैसे ही उनकी वाईक खड़े हुए युवकों के पास से गुजरने लगी तो इन युवकों ने तेजधार हथियारों से उन पर हमला कर दिया। वह और उसके साथ जा रहा व्यापारी वहीं गिर गये। उनका शोर सुन कर इक्_े हुए गली वासियों को देख कर युवक वहां से फरार हो गये। लेकिन एक युवक से भागते समय हथियार वहीं गिर गया। घायल अवस्था में गली वासियों ने उन्हें सरकारी अस्पताल पहुंचाया।
इसकी सूचना तत्काल गोल बाजार पुलिस चौकी को दी गई। सूचना पाकर मौका पर पुलिस चौकी प्रभारी एएसआई कृष्ण कुमार दल बल के साथ पहुंचे और घटनास्थल का निरीक्षण किया। कृष्ण कुमार ने बताया कि घायल संजय कुमार तथा जीवन राम ने कार्यवाही करवाने से इंकार करते हुए अस्पताल से एमएलआर भी नहीं कटवाई है। लेकिन पुलिस ने इस एरिया में लॉ एण्ड ऑर्डर की स्थिति को बनाये रखने के लिए गश्त बढ़ा दी है।
ज्ञातव्य रहे बुधवार शाम से लगातार गोल बाजार पुलिस चौकी क्षेत्र में वारदातें हो रही हैं। जिससे पूरे नगर में दहशत का माहौल है।

जस्सी के हत्यारे गिरफ्तार

डबवाली (लहू की लौ) शहर डबवाली पुलिस ने जसवीर हत्या प्रकरण की गुत्थी को सुलझाते हुए हत्या के चारों आरोपियों को नाटकीय ढंग से गिरफ्तार कर लिया है।
बुधवार शाम को जसवीर उर्फ जस्सी निवासी मण्डी किलियांवाली अपने साथी रवि कम्बोज निवासी अबूबशहर के साथ पुराना कोर्ट रोड़ पर रिक्शा में जा रहा था। उस समय एक बाईक पर सवार होकर आए चार युवकों ने कापों से हमला करके जसवीर उर्फ जस्सी की हत्या कर दी थी। इस हत्या की गुत्थी सुलझाते हुए पुलिस ने आरोपी चार युवकों को गिरफ्तार कर लिया।
थाना शहर प्रभारी इंस्पेक्टर बलवंत जस्सू के अनुसार गिरफ्तार किये गये युवकों ने अपनी पहचान विनोद उर्फ तारू पुत्र अमरजीत निवासी रविदास नगर डबवाली, रोहित उर्फ मोनू पुत्र जगसीर निवासी दीवानखेड़ा हाल प्रेमनगर, डबवाली, प्रकाश उर्फ भोला पुत्र जवाहर लाल निवासी प्रताप नगर बठिंडा हाल प्रेमनगर डबवाली तथा मुकेश उर्फ विक्की पुत्र कृष्ण लाल निवासी इंदिरा कालोनी, मंडी डबवाली के रूप में हुई है।
थाना प्रभारी ने आगे बताया कि स्कूल के समय की किसी पुरानी रंजिश को लेकर चार युवकों ने डंडों व कापों से वार कर जसवीर पुत्र बलदेव सिंह निवासी किलियांवाली पंजाब की मंडी डबवाली स्थित अग्निहोत्री हॉस्पिटल के पास हत्या कर दी थी। थाना प्रभारी ने बताया कि इस घटना में मृतक जसवीर के मामा दर्शन पुत्र बहादुर सिंह निवासी किलियांवाली के बयान पर हत्या का अभियोग दर्ज कर जांच शुरू की। उन्होंने बताया कि हत्या की इस वारदात को सुलझाने के लिए पुलिस अधीक्षक सतेन्द्र कुमार गुप्ता ने शहर डबवाली समेत कई पुलिस टीमों का गठन किया। पुलिस अधीक्षक द्वारा गठित टीमों ने महत्वपूर्ण सुराग जुटाए तथा विभिन्न कोनों से इस हत्या की गुत्थी को सुलझाने के प्रयास किये। अंत: पुलिस को सफलता मिली। थाना प्रभारी ने बताया कि चारों हत्यारोपियों को बठिंडा चौक मंडी डबवाली क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया है।

गोल्ड स्मिथ पिता-पुत्र को लाठियों से पीटा

डबवाली (लहू की लौ) किलियांवाली के गोल्डन पैलेस के पास एक मोटरसाईकिल को कार से टक्कर मार कर मोटरसाईकिल सवारों को अज्ञात लोगों ने सड़क पर गिरा दिया। बाद में लाठियों से बुरी तरह से पीट-पीट कर घायल कर दिया। डबवाली के गुरूद्वारा श्री कलगीधर सिंह सभा के सामने स्थित भीटीवाला ज्वैलर्स के मालिक गुरबचन सिंह (45) पुत्र हरनेक सिंह अपने 22 वर्षीय बेटे कुलबीर सिंह उर्फ लाली के साथ वीरवार शाम को करीब 6 बजे अपनी दुकान मंगल करके अपने गांव भीटीवाला वाईक पर वापिस लौट रहा था। उनकी वाईक जैसे ही किलियांवाली में अबोहर रोड़ पर स्थित गोल्डन मैरिज पैलेस के पास पहुंची तो पीछे से तेजगति से आई कार ने मोटरसाईकिल में टक्कर मारी। दोनों बाप-बेटा नीचे सड़क पर गिर गये। जब उन्होंने उठ कर इस बात का उलाहना कार सवारों को दिया तो उन चार लोगों ने कार में रखी लाठियां निकाल कर उनकी बुरी तरह से धुनाई कर दी। घायल अवस्था में उन्हें डबवाली के सिविल अस्पताल में उपचार के लिए लाया गया। गुरबचन सिंह के सिर पर और कुलबीर के टांग में फ्रेक्चरर होने के कारण प्राथमिक चिकित्सा के बाद उन्हें बठिंडा रैफर कर दिया गया। किलियांवाली पुलिस चौकी प्रभारी एएसआई कश्मीरी लाल ने बताया कि उन्हें शिकायत मिल गई है। अभी घायलों के ब्यान होने बाकी हैं। ब्यानों के बाद ही आगामी कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।

बढ़ते क्राईम पर चिंतित इनेलो ने उपमंडलाधीश को ज्ञापन सौंपा

डबवाली (लहू की लौ) डबवाली नगर में बढ़ रहे क्राईम पर चिन्ता प्रकट करते हुए इनेलो ने शुक्रवार को उपमंडलाधीश डॉ. मुनीश नागपाल को एक ज्ञापन सौंपा तथा क्राईम पर अंकुश लगा कर लोगों में काननू व्यवस्था के प्रति विश्वास प्रकट करने का अनुरोध किया।
ज्ञापन देने वाले शिष्टमंडल में इनेलो के डॉ. गिरधारी लाल गर्ग, राधे राम गोदारा, केशो राम गुप्ता, काला जापानी, बलदेव गर्ग भीटीवाला, दर्शन मोंगा, महिन्द्र डूडी, गुरचरण सिंह नम्बरदार,  बिल्लू जुनेजा, संदीप गर्ग, पार्षद टेक चन्द छाबड़ा, सुरेन्द्र छिन्दा, लवली मैहता, सुभाष मित्तल शामिल थे। उपमंडलाधीश डॉ. मुनीश नागपाल ने शिष्टमंडल को विश्वास दिलाया कि उनकी आवाज को वह उपायुक्त सिरसा तथा एसपी सिरसा के पास पहुुंचा देंगे।
इस सन्दर्भ में उपमंडलाधीश डॉ. मुनीश नागपाल ने बताया कि ज्ञापन को तुरन्त सूचनार्थ एवं आगामी आवश्यक कार्यवाही के लिए उपायुक्त सिरसा तथा एसपी सिरसा को भेज दिया गया।

सहकारी समिति पर ताला जड़ा

डबवाली (लहू की लौ) सहकारी समिति के सदस्य को फोन पर अपशब्द बोलने को लेकर गुस्साए समिति सदस्यों ने शुक्रवार को सहकारी समिति पर ताला जड़कर रोष जताया।
दि डबवाली प्राथमिक कृषि सहकारी समिति लि., गांव डबवाली के सदस्य सुखेदव सिंह ने बताया कि गुरूवार को समिति का चौकीदार बचन सिंह उनके घर आया और उसे समिति में आए दो मेहमानों के लिए खाना बनाने के लिए कह कहकर साथ में सब्जी में आलू-मटर भी देता गया। लेकिन उसके घर में साग बना हुआ था। उसने समिति के लैंडलाईन फोन पर संपर्क किया। लेकिन वहां मौजूद कर्मचारी उसके गले पड़ गया और अपशब्द बोलने लगा।
सुखदेव सिंह को समिति के कर्मचारी द्वारा अपशब्द बोलने की सूचना पाकर शुक्रवार सुबह समिति के सदस्य भड़क उठे। समिति सदस्य बलदेव सेठी, सुखदेव सिंह, अमरजीत सिंह, गुरजंट सिंह, गुरमेल सिंह गुरजंट सिंह, जगतार सिंह, नत्था सिंह, इकबाल सिंह, गुरमेल सिंह, तरसेम सिंह आदि समिति के बाहर इक्ट्ठे हो गए और उन्होंने समिति के मुख्यद्वार को ताला जड़ दिया। सदस्य आरोपी कर्मचारी को उनके समक्ष पेश करके माफी मंगाने पर जोर देने लगे।
दि डबवाली प्राथमिक कृषि सहकारी समिति लि., गांव डबवाली के मैनेजर श्रवण कुमार ने बताया कि वह गुरूवार शाम को पांच बजे अपनी डयूटी समाप्त करने के बाद घर चला गया था। बाद में क्या हुआ है, उसे जानकारी नहीं है।
समिति सदस्य बलदेव सेठी ने बताया कि समिति सदस्यों के रोष को देखते हुए समिति के साथ ही स्थित बैंक के डीईओ राजेन्द्र बागड़ी ने सुखदेव सिंह का फोन उसने रिसीव किया था। उसने फोन पर ही समिति सदस्य से दुव्र्यवहार पर खेद प्रकट किया।

वाहन चोर गिरोह के दो सदस्य पुलिस गिरफ्त में

रानियां। पुलिस ने वाहन चोर गिरोह के दो और सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है।
गिरफ्तार किए गए व्यक्तियों की पहचान रणजीत उर्फ राणा पुत्र प्रीतम ङ्क्षसह निवासी वार्ड न. 9 रानियां व काका पुत्र रमेश कुमार निवासी वार्ड न. 15 रानियां के रूप में हुई है। रानियां थाना प्रभारी उपनिरीक्षक जगदीश जोशी ने बताया कि रानियां पुलिस ने गत दिवस एक वाहन चोर गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया था तथा उनकी निशानदेही पर जिला के विभिन्न स्थानों से चुराए गए सात मोटरसाइकिल बरामद किए थे। इस मामले में पुलिस ने आरोपियों से पुछताछ के दौरान उनके कईसाथियों की पहचान कर ली, जिनमें से रणजीत व काका को गिरफ्तार कर लिया है।
थाना प्रभारी ने बताया कि  पकड़े गए युवकों से वाहन चोरी की कई घटनाओं से पर्दा उठने से इंकार नही किया जा सकता। उन्होने बताया कि वाहन चोर गिरोह के अब तक पांच सदस्य गिरफ्तार किए जा चुके है तथा इस गिरोह के दो अन्य सदस्यों की भी आरोपियों से पुछताछ के दौरान पहचान कर ली गई है,  जिन्हे भी शीध्र गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

नशे और फैशन के लिए करते थे चोरी

सिरसा। जिला की एंटी थेफ्ट सैल पुलिस ने एक वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश करते हुए गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने 6 मोटरसाइकिल बरामद किए है।
जानकारी देते हुए एंटी थेफ्ट सैल के प्रभारी उपनिरीक्षक औमप्रकाश ने बताया कि आज सुबह जब वह अपने स्टाफ के सहायक उपनिरीक्षक कर्मवीर, निहालङ्क्षसह, मदनलाल, धर्मवीर, मुख्य सिपाही तेजेंद्र व अजीत ङ्क्षसह के साथ गश्त पर थे इसी दौरान शहर के बेगू रोड़ पर स्थित गोल डिग्गी चौक के निकट मोटरसाइकिल सवार दो युवक आए। पुलिस ने शक के आधार पर उन्हे रोककर पुछताछ की तो वे कोई संतोषजनक जबाब नही दे पाए। पुलिस द्वारा गहनता से पुछताछ करने पर दोनो युवकों ने उक्त मोटरसाइकिल को शहर सिरसा क्षेत्र से चुराना स्वीकार किया। सैल के प्रभारी ने बताया कि दोनो युवकों को मोटरसाइकिल सहित काबू कर लिया गया। पकड़े गए युवकों की पहचान अटवर पुत्र सतवीर निवासी बेगू रोड़ व सोनू पुत्र सत्यनारायण निवासी भादरा तालाब क्षेत्र के रूप में हुई है।
पुछताछ के दौरान उन्होने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर शहर के भादरा बाजार, कचहरी परिसर, जनता भवन रोड़ व एमसी मार्किट से छह मोटरसाइकिल चुराने स्वीकार किए, जो उनकी निशानदेही पर पुलिस ने बरामद कर लिए है। पुलिस पुछताछ के दौरान दोनो पकड़े गए युवकों ने अपने अन्य साथियों भोला पुत्र सुभाष निवासी उत्तम गेट हांसी और तन्नू उर्फ तरूण शर्मा पुत्र घनश्याम निवासी गौशाल मोहल्ला सिरसा के नाम बतलाए है। पुलिस ने भोला को भी काबू कर लिया है। जबकि चौथे आरोपी तन्नू उर्फ तरूण को भी शीध्र गिरफ्तार किया जाएगा।
उपरोक्त गिरफ्तार किए गए तीनों युवक विभिन्न प्रकार के नशा करने के आदि है और नशे की पूर्ति और फैशन के लिए ही चोरी की वारदातों को अंजाम देते है।
कुछ समय पहले एंटी थेफ्ट सैल पुलिस ने ही उपरोक्त युवकों को गिरफ्तार कर उनकी निशानदेही पर चोरीशुदा पांच मोटरसाइकिल व 20 मोबाइल बरामद किए थे। सैल के प्रभारी ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों से पुछताछ के दौरान वाहन चोरी व चोरी की अन्य वारदातों के खुलासा होने की संभावना से भी इंकार नही किया जा सकता है।

26 नवंबर 2010

चार घण्टे बाद उठाया शव, गवाह को सुरक्षा की मांग

डबवाली। पुराना कचहरी रोड़ पर बुधवार शाम को बाईक सवार युवकों के कापों का शिकार होकर दम तोड़ गए मण्डी किलियांवाली के 18 साल के युवक जसवीर सिंह उर्फ जस्सी के शव का गुरूवार को डबवाली के सरकारी अस्पताल में पोस्टमार्टम हुआ। लेकिन आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग को लेकर जसवीर के परिजनों ने शव उठाने से इंकार कर दिया। स्थिति तनावपूर्ण होती देख मौका पर पहुंचे डबवाली के डीएसपी के समझाने-बुझाने पर शव उठाने को अभिभावक सहमत हो गए।
मण्डी किलियांवाली निवासी जसवीर प्रजापत उर्फ जस्सी की बुधवार शाम को बाईक सवार चार युवकों ने कापों से वार करके हत्या कर दी थी। जबकि जसवीर के साथ रिक्शा पर जा रहे उसके मित्र रवि कम्बोज निवासी अबूबशहर ने भागकर अपनी जान बचाई थी। गुरूवार को सरकारी अस्पताल के डॉ. एमके भादू तथा डॉ. सुखवंत पर आधारित टीम ने जसवीर के शव का पोस्टमार्टम किया। लेकिन पोस्टमार्टम के बाद अभिभावकों ने शव को उठाने से इंकार कर दिया। पोस्टमार्टम के बाद शव करीब चार घण्टे तक मोर्चरी में पड़ा रहा।
जस्सी के अभिभावक दर्शन सिंह, चरणजीत सिंह तथा पूर्व पार्षद दाना राम, अमरनाथ बागड़ी, दर्शन कुमार, खुम्भा राम सेठी, गणपत राम ने कहा कि घटना बुधवार शाम की है। लेकिन अभी तक जस्सी के हत्यारोपी पुलिस गिरफ्त से बाहर चल रहे हैं। जब तक पुलिस जस्सी के हत्यारोपियों को गिरफ्तार नहीं करती तब तक वे शव को नहीं उठाएंगे। आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद ही शव का संस्कार किया जाएगा।
अस्पताल में स्थिति गंभीर होने की सूचना पाकर डीएसपी बाबू लाल अपने दलबल सहित मौका पर पहुंचे। उन्होंने शव न उठाने पर अड़े लोगों को समझाया-बुझाया। उन्होंने बताया कि जसवीर उर्फ जस्सी निवासी मण्डी किलियांवाली की हत्या करने के आरोप में जस्सी के मामा दर्शन सिंह निवासी मण्डी किलियांवाली के ब्यान पर विनोद निवासी रविदास नगर तथा मोनू निवासी प्रेम नगर, डबवाली व अन्य दो नामालूम के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है। आरोपी दो दिनों के भीतर पुलिस की गिरफ्त में होंगे। डीएसपी से आश्वासन मिलने के बाद लोग शांत हुए और शव को उठाने पर सहमत हुए।
गवाह को पुलिस सुरक्षा की मांग
इस मौके पर लोगों ने जस्सी हत्या प्रकरण में मुख्य गवाह रवि कम्बोज निवासी अबूबशहर पर भी आरोपियों के हमले की आशंका जताई और पुलिस सुरक्षा दिए जाने की मांग की। डीएसपी बाबू लाल ने रवि को पुलिस सुरक्षा मुहैया करवाने का आश्वासन दिया। उन्होंने बताया कि विनोद बगैरा की धरपकड़ के लिए पुलिस ने तीन टीमों का गठन किया है। साथ में साईबर क्राईम की मदद भी ली जा रही है। 48 घण्टों के अंदर आरोपी पुलिस गिरफ्त में होंगे।

बदमाश ने मैडम का सिर फोड़ा

डबवाली। नगर में लगातार असामाजिक तत्वों के हौसले बढ़ रहे हैं। दिन-दिहाड़े बदमाश वारदात करके फरार हो जाते हैं। गुरूवार दोपहर को रिक्शा से घर लौट रही अध्यापिका के सिर पर प्रहार करके एक बदमाश ने उसे घायल कर दिया। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी मौका से फरार हो गया।
बुधवार शाम को युवक जसवीर उर्फ जस्सी की हत्या की स्याही अभी सूखी ही नहीं थी कि वीरवार शाम को पुराना कचहरी रोड़ पर राजकीय प्राथमिक पाठशाला नं. 1 की अध्यापिका के सिर पर अज्ञात युवक तेजधार हथियार से चोट मार कर फरार हो गया।
घायल अध्यापिका तेजपाल कौर (36) पत्नी अमरप्रीत निवासी बठिंडा ने बताया कि वह राजकीय प्राथमिक पाठशाला नं. 1 में बतौर जेबीटी अध्यापिका कार्यरत है। आज स्कूल से छुट्टी के बाद 3 बजे रिक्शा से बस स्टेंड के लिए सवार हुई थी। उसकी रिक्शा जैसे ही स्कूल से 100 गज की दूरी पर स्थित मोंगा टाईप कॉलेज के पास पहुंची तो  अचानक उस पर एक युवक ने लोहे की हत्थी से हमला कर दिया। पहला वार तो उसके नहीं लगा लेकिन दूसरा वार सिर पर लगते ही वह वहीं गिर गई। इतनी देर में विद्यालय की अन्य अध्यापिकाएं भी वहां पहुंच गईं और उसे घायल अवस्था में एक प्राईवेट अस्पताल में उपचार के लिए पहुंचाया।
लोगों में भय
पुराना कचहरी रोड़ पर दो दिनों में लगातार दो वारदातें होने से लोगों में भय व्याप्त है। बुधवार शाम को एक बाईक पर सवार होकर आए चार युवकों द्वारा कापा मारकर रिक्शा पर जा रहे मण्डी किलियांवाली निवासी जसवीर उर्फ जस्सी को मौत के घाट उतार दिया था। गुरूवार को दिनदिहाड़े रिक्शा पर जा रही एक अध्यापिका के सिर पर नल्के की हत्थी से वार करके उसे घायल करने से क्षेत्र में डर का माहौल है।
घटना की सूचना पाकर गोल बाजार पुलिस चौकी के एएसआई राजेन्द्र सिंह मौका पर पहुंंचे और उन्होंने वारदात के संंबंध में पीडि़त अध्यापिका से जानकारी प्राप्त की।
पुलिस गश्त बढ़ाई गई
नगर में बढ़ती असामाजिक तत्वों की वारदातों के संबंध में जब जिला पुलिस कप्तान सत्येंद्र गुप्ता से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि असामाजिक तत्वों पर नकेल कसने के लिए पुलिस गश्त बढ़ा दी गई है। शीघ्र ही आरोपी सलाखों के पीछे होंगे।

यूं खत्म हो जाएगी दोस्ती, मालूम ना था...

डबवाली। लोग उन दोनों की दोस्ती की दाद दिया करते थे। अढ़ाई साल पूर्व हुई दोस्ती यूं खत्म हो जाएगी यह किसी को मालूम ना था। लेकिन स्कूल समय की दुश्मनी ने दोनों को जुदा कर दिया।
गांव अबूबशहर के रहने वाले रवि कम्बोज (18) और मण्डी किलियांवाली की महाशा मोहल्ला के रहने वाले जसवीर उर्फ जस्सी (18) दोनों गहरे मित्र थे। उनकी मित्रता प्लस वन में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय डबवाली में हुई। दोनों प्लस वन पास करके 12वीं में हुए। जसवीर प्रजापत उर्फ जस्सी आर्टस ग्रुप का छात्र था। जबकि रवि कॉमर्स ग्रुप का। दोस्ती की खातिर रवि ने कॉमर्स ग्रुप को अलविदा कह 12वीं में आर्टस ग्रुप ज्वाईन किया। रवि 12वीं में फेल हो गया और जस्सी पास। लेकिन दोस्त द्वारा दी गई कुर्बानी जस्सी ने व्यर्थ न जाने दी। 12वीं के बाद उसने पढ़ाई छोड़ दी। दोनों ने फैशन डिजाईनिंग कोर्स करने का मन बनाया।
रवि कम्बोज के अनुसार फैशन डिजाईनिंग में जस्सी की गहरी रूचि थी। इसी के कारण वे लोग बुधवार सुबह बठिंडा गए। फैशन डिजाईनिंग कोर्स की जानकारी जुटाने के बाद उन्होंने वहां शॉपिंग की। शाम को करीब 5.30 बजे वे लोग डबवाली के बठिंडा चौक में पहुंचे। यहां वे लोग रिक्शा से जस्सी के घर के लिए रवाना हुए। लेकिन उसकी रंजिश उसके दोस्त जसवीर उर्फ जस्सी पर भारी पड़ी। बाईक पर सवार होकर आए 4 युवकों ने उसकी डबवाली में भनक पाकर उन्हें पुराना कचहरी रोड़ पर घेर लिया और कापों तथा डंडों से ताबड़तोड़ हमला बोल दिया। वह जान बचाकर भाग निकला। लेकिन उसकी रंजिश का शिकार उसका मित्र जस्सी हो गया।
रवि कम्बोज ने यह भी बताया कि हमलावरों की अगुवाई विनोद निवासी रविदास नगर तथा मोनू निवासी प्रेमनगर निवासी डबवाली कर रहे थे। विनोद से उसकी स्कूल समय की रंजिश है। विनोद बगैरा स्कूल में दादागिरी किया करते थे। लेकिन उसे रौब सहना पसंद नहीं था। उसकी दुश्मनी का सिला जस्सी को उठाना पड़ेगा, यह उसने कभी सपने में भी नहीं सोचा था।
मृतक जसवीर उर्फ जस्सी के परिवार में उसका एक बड़ा भाई सुखबीर सिंह तथा माता हरपाल कौर (40) निवासी मण्डी किलियांवाली (पंजाब) हैं। हरपाल कौर पंजाब के गांव पथराला में बतौर क्लर्क के पद पर तैनात हैं। जबकि जस्सी का भाई सुखबीर सिंह जालंधर में जेबीटी कर रहा है। हरपाल कौर (40) के अनुसार जब उसका बेटा जस्सी गर्भ में था तो उसके पति बलदेव की मृत्यु हो गई थी। बलदेव सिंह मानसा (पंजाब) के एक गुरूद्वारा में सेवादार थे। पिता का साया बच्चों के सिर से उठने के बाद उसने बड़े लाड़-प्यार से दोनों को पाला पोसा।
जबकि रवि कम्बोज पुत्र झींडा राम कम्बोज का परिवार गांव अबूबशहर में किसानी करता है। वह अपने मां-बाप का इकलौता पुत्र है।

स्कूली रंजिश में युवक की हत्या

डबवाली। बुधवार शाम को पुरानी रंजिश के चलते कुछ युवकों ने घर लौट रहे दो युवकों पर हमला कर दिया। हमले में एक युवक घायल हो गया। जबकि एक भागने में सफल रहा। घायल की अस्पताल पहुंचने से पहले ही मौत हो गई। मृतक की पहचान जसवीर सिंह (18) निवासी मण्डी किलियांवाली के रूप में हुई है।
उपमंडल डबवाली के गांव अबूबशहर निवासी रवि (19) ने बताया कि बुधवार को वह अपने मित्र जसवीर उर्फ जस्सी के साथ बठिंडा में शॉपिंग करने केे लिए गया था। जस्सी ने फैशन टेक्नोलॉजी का कोर्स करने संंबंधी जानकारी भी लेनी थी। वे लोग शाम को लगभग 5.30 बजे डबवाली के बठिंडा चौक में उतरे और एक रिक्शा पर सवार होकर जसवीर के घर की ओर जा रहे थे कि पुराना कचहरी रोड़ पर अग्निहोत्री अस्पताल के पुराना भवन के पास नीले रंग के बाईक पर सवार होकर आए चार युवकों ने उन पर डंडों, तेजधार हथियारों से हमला कर दिया। वह तो जैसे-तैसे अपनी जान बचा कर भाग खड़ा हुआ लेकिन उसका दोस्त उनके हत्थे चढ़ गया।
रवि ने यह भी बताया कि हमला करने वाले युवकों का नेतृत्व विनोद निवासी रविदास नगर तथा मोनू निवासी प्रेम नगर डबवाली कर रहे थे। वे उससे स्कूल समय की रंजिश रखते हैं। रंजिश का कारण वे लोग स्कूल में दादागिरी करते थे और वह उनका विरोध करता था। इसी बात को लेकर उनमें कई बार हाथापाई भी हो चुकी थी। इसी के चलते इन युवकों ने उन पर हमला किया।
सुनील (22) निवासी पब्लिक क्लब क्षेत्र, डबवाली ने बताया कि उसे सूचना मिली कि उनकी गली का एक युवक डॉ. अग्निहोत्री अस्पताल के पुराना भवन के पास खून से लथपथ पड़ा है। वह मौका पर पहुंचा और जसवीर को घायल अवस्था में डबवाली के सरकारी अस्पताल में पहुंचाया। यहां जसवीर को डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। सुनील ने बताया कि जस्सी 20 मिनट तक मौका पर पड़ा तडफ़ता रहा लेकिन किसी ने भी इसको उठा कर अस्पताल पहुंचाने की जहमत नहीं की।
इस घटना की सूचना पाकर एसपी सिरसा सत्येन्द्र गुप्ता, डीएसपी डबवाली बाबू लाल अस्पताल पहुंचे और रवि से घटना की पूरी जानकारी ली। इस मौके पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए डीएसपी डबवाली बाबू लाल ने बताया कि रवि के ब्यान पर हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है और इस मामले की जांच थाना शहर पुलिस के कार्यकारी प्रभारी एसआई मंदरूप सिंह कर रहे हैं।
डॉ. एमके भादू ने बताया कि युवक जसवीर उर्फ जस्सी मौत कनपटी पर कापा लगने के कारण हुई है। अस्पताल आने से पूर्व ही युवक की मौत हो चुकी थी।

14 नवंबर 2010

चलती कार में बच्चा जन्मा

डबवाली (लहू की लौ) लाखों दर्शकों के दिलों पर राज करने वाली हिन्दी मूवी 'थ्री इडियट्सÓ  में अमीर खान के 'ऑल इज वेलÓ का जादू लोगों के सिर चढ़कर बोला था। एकबारगी फिर शनिवार अल सुबह करीब दो बजे डबवाली के सरकारी अस्पताल में 'ऑल इज वेलÓ की गूंज सुनाई दी। चूंकि एक महिला ने नन्हीं जान को कार में जन्म दिया था। जन्म के समय बच्चा रोया नहीं था। लेकिन जब उसकी पीठ को सहलाया गया तो बच्चे की किलकारी गूंज उठी।
साथ लगते पंजाब के गांव किलियांवाली के किसान नछत्तर सिंह के खेत में नरमा चुगने के लिए राजस्थान की तहसील विजयनगर के गांव गोमांवाली से आए दिहाड़ी मजदूर सतनाम (35) की पत्नी मनप्रीत कौर (32) को शनिवार सुबह करीब दो बजे प्रसव पीड़ा हुई। वह जमींदार की मदद से अपनी पत्नी को कार से डबवाली के सरकारी अस्पताल ला रहा था। डबवाली की नई अनाज मण्डी के पास कार में ही मनप्रीत ने एक बेटे को जन्म दिया। लेकिन बच्चे की किलकारी नहीं गूंजी। जिस पर सतनाम के होश उड़ गए। डबवाली के सरकारी अस्पताल में पहुंचकर सतनाम ने नन्हीं जान को अपने हाथों में लिया और उसकी पीठ थपथपाई, तो डबवाली का सरकारी अस्पताल किलकारियों से गूंज उठा। ऐसा होता देख अस्पताल में मौजूद लोगों से 'ऑल इज वेलÓ बोले बिना रहा नहीं गया।
सतनाम (35) निवासी गोमांवाली हाल किलियांवाली ने इस संवाददाता से बातचीत करते हुए कहा कि शनिवार सुबह करीब दो बजे उसकी पत्नी मनप्रीत को प्रसव पीड़ा हुई थी। अस्पताल लेजाते समय कार में मनप्रीत ने चांद से बेटे को जन्म दिया। जन्म लेने के बाद उसका बेटा रोया नहीं। जिससे वह चिंता में पड़ गया था।  उसकी सांसें थम गईं। लेकिन जब उसने बच्चे की पीठ थपथपाई तो वह रोने लगा। बच्चे के रोने से उसके प्राण वापिस लौट आए। सतनाम के अनुसार यह उसका पांचवां बच्चा है। उसके तीन बेटियां पूजा (8), अंजू (6) पवनदीप कौर (4) और एक बेटा ब्रह्मदेव (2) हैं।
इस संदर्भ में डॉ. अमरदीप जस्सी से बातचीत की गई तो उन्होंने भी 'ऑल इज वेलÓ कहा। उन्होंने कहा कि नॉर्मल डिलीवरी हुई है। जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं।

विद्यालयों में रही बाल दिवस की धूम

डबवाली (लहू की लौ) केअरवेल इंटरनेशनल स्कूल ख्योवाली (लम्बी) में बाल दिवस के अवसर पर भव्य समारोह का आयोजन किया गया। बच्चों के अंतर्मन को निखारने के लिए बच्चों की वर्कशॉप का आयोजन किया गया। जिसमें बच्चों को दीयों, मोमबत्तियों, छोटी-छोटी मटकियों को सजाने संवारने के लिए रंगी चमकीले पाऊडर, फैन्सी टैपस, विभिन्न रंगों व फूलों की निराली छटा प्रदान करना सिखाया गया। नन्हें हाथों ने बु्रशों से इन्द्रधनुष को स्कूल प्रांगण में उतार दिया।
वर्कशॉप का संचालन परमवीर कौर ने सुमन व कर्मजीत कौर के सहयोग से किया। बाद में बच्चों ने सामाजिक जागरूकता लाने हेतू विश्व शांति मार्च निकाला। मार्च के दौरान बच्चे भ्रूण हत्या बंद करो, पानी और ऊर्जा की बचत करो, परमाणु युद्ध नहीं, महकता बचपन चहकता समाज, चहकता स्कूल, अच्छी शिक्षा अच्छा भविष्य लिखे बैनर उठाए हुए थे। इस अवसर पर विद्यालय के प्रिंसीपल जगजीत सिंह, डॉ. गुरमेल सिंह भी उपस्थित थे।
क्राईस्ट मिशन सीनियर सैकेण्डरी स्कूल में बाल दिवस को खेल दिवस के रूप में मनाया गया। विद्यालय के प्रधानाचार्या पीवी बरेटो ने जवाहर लाल नेहरू के जीवन पर प्रकाश डाला। मंच का संचालन प्राध्यापिका हर्ष मैहता ने किया।
नवप्रगति सीनियर सैकेण्डरी स्कूल में बाल दिवस के अवसर पर दो दिवसीय खेलों का आयोजन किया गया। खेलों का उद्घाटन प्रथम कक्षा के छात्र जोवनप्रीत तथा 9वीं की वंदना ने मशाल प्रज्जवलित करके किया। इस मौके पर विद्यालय प्रबंधक समिति की ओर से नर्सरी से पिंकी व दीक्षा, केजी से खुशमीन व अमनप्रीत कौर, कक्षा प्रथम से जोवनप्रीत सिंह, रिशिका ग्रोवर, सिमरनजीत कौर को एक्टिव, इंटेलिजेंट एण्ड स्मार्ट घोषित कर उन्हें पुष्पमाला पहनाई गई। इसी प्रकार कक्षा 8वीं से वंदना, रजनी, अंजना, अमनदीप, सिमरनजीत, कमलप्रीत व कश्मा चित्रा मैरिटोरियस छात्राओं को इस अवसर पर सम्मानित किया गया। इस मौके पर रिया सेठी (11वीं), जाक्शी, प्रेरणा व प्रीत भगरिया ने जवाहर लाल नेहरू के जीवन पर प्रकाश डाला। विद्यालय निदेशक वेद भारती, प्राचार्या चन्द्रकान्ता ने जवाहर लाल नेहरू के जीवन पर प्रकाश डाला। नेहरू ग्रुप ऑफ इंस्टीच्यूट में बाल दिवस के उपलक्ष्य में चल रहे खेल व सांस्कृतिक कार्यक्रमों की श्रृंख्ला की आगामी कड़ी में नेहरू कॉन्वेंट स्कूल, गांव अलीकां के प्रांगण में 510 विद्यार्थियों ने भाग लिया। कार्यक्रम का शुभारंभ प्राचार्य हरिप्रकाश शर्मा, विजयंत शर्मा ने नेहरू कॉन्वेंट स्कूल, गांव अलीकां के प्रांगण में झण्डा फहराकर किया। इस मौके पर बच्चों ने हरियाणवी नृत्य, राजस्थानी नृत्य, डांडिया नृत्य प्रस्तुत किया। खेल प्रतियोगिता के लिए विद्यालय के छात्रों को चार वर्गों में बांटा गया। प्रथम वर्ग की साधारण दौड़ में तरनजीत यूकेजी प्रथम, द्वितीय वर्ग की शू दौड़ में द्वितीय कक्षा का मनहरप्रीत प्रथम, चम्मच दौड़ में दूसरी का अभिषेक प्रथम, तृतीय वर्ग में एक टांग दौड़ में चौथी का अनमोलदीप, साधारण दौड़ में चौथी का रमन, सुई दौड़ में 6वीं का नवदीप प्रथम, चतुर्थ वर्ग की तीन टांग दौड़ में पांचवी का कुलविन्द्र, साधारण दौड़ में 6वीं का गगनदीप, सैक दौड़ में चौथी का रणजीत प्रथम रहा। नेहरू सीनियर सैकेण्डरी स्कूल में 9वीं से 12वीं तक की छात्राओं की रस्सी कूद प्रतियोगिता में दीपिका प्रथम, साधारण दौड़ में 9वीं की ज्योति व राजवीर प्रथम, संगीतमय कुर्सी प्रतियोगिता में 11वीं की रचना, क्रिकेट प्रतियोगिता में इलेक्ट्रिशियन की टीम, लम्बी कूद में विनोद कुमार प्रथम रहे। विजेता बच्चों को विद्यालय प्रधानाचार्य हरिप्रकाश शर्मा, विजयंत शर्मा, सुषमा शर्मा, सोना शर्मा ने विजयी छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया। इस अवसर पर जीवन सिंगला, जसविंद्र मंकू, किरण सिंगला, राज सिंगला, जसवीर बराड़, मानविन्द्र सिंह उपस्थित थे।
सतलुज पब्लिक स्कूल में बाल दिवस मनाया गया। यह जानकारी देते हुए विद्यालय के प्रिंसीपल राम नरेश शर्मा ने बताया कि संगीत प्रतियोगिता में 9वीं का नीलकंठ (ब्यास हाऊस), भाषण प्रतियोगिता में 7वीं का अमित (झेलम हाऊस), नृत्य प्रतियोगिता में नीलकंठ (ब्यास हाऊस), चित्रकला में 9वीं का बलतेज (झेलम हाऊस), मेहंदी प्रतियोगिता में 8वीं की मनीषा (झेलम हाऊस), प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में 9वीं के दीपिका, रोहित, मनोज, गगनदीप (रावी हाऊस) ने प्रथम स्थान पाया। इस अवसर पर स्कूल प्रबंधक सत्यप्रकाश यादव भी उपस्थित थे।
बाल वाटिका मॉडल स्कूल किलियांवाली में खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। यह जानकारी देते हुए विद्यालय की प्रिंसीपल वंदना मैहता ने दी।
अरोड़वंश आदर्श उच्च विद्यालय में  एलकेजी से पांचवी कक्षा तक के बच्चों की खेल प्रतियोगिताएं आयोजित करके बाल दिवस   मनाया गया। यह जानकारी देते हुए विद्यालय की मुख्य अध्यापिका विजय मोंगा ने बताया कि प्रतियोगिता के एलकेजी में गणेश प्रथम, मोहित द्वितीय, रैक्सट तृतीय, यूकेजीमें राहूल, गगन, रिशभ प्रथम, नेहा, रजत द्वितीय और अर्शदीप तृतीय रहे। जबकि पहली कक्षा से स्नेह, अनमोल प्रथम, जय प्रकाश द्वितीय, अणु तृतीय, दूसरी कक्षा से रोशन प्रथम, विशाल द्वितीय और अमन व दिनेश तृतीय, तीसरी कक्षा से रवि प्रथम, आरती द्वितीय और महक तथा नमन तृतीय रहे। इसी प्रकार चौथी कक्षा से अर्शदीप प्रथम, बलजिन्द्र द्वितीय, नवनी तृतीय, पांचवी कक्षा से मुकेश, सोनू प्रथम, स्नेहा,कुशी द्वितीय, सागर, जुगनू तृतीय रहे। इस मौके पर प्रस्तुत गुजराती लोक नृत्य गरवा श्रेष्ठ रहा। निर्णायक  की भूमिका निर्मल ग्रोवर और ऊषा काठपाल ने निभाई। जबकि मंच का संचालन अध्यापिका राजिन्द्र कौर तथा प्रतियोगिता का कार्यभार सुशील कुमार ने संभाला।
अनुपम मिडिल स्कूल में बाल दिवस पर नर्सर से दसवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों ने खेल व सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लिया। यह जानकारी देते हुए विद्यालय की प्रधानाचार्या शिमला सिंगला ने बताया कि प्रथम वर्ग की जलेबी दौड़ में नर्सरी का प्रिल प्रथम, अनुज द्वितीय, एलकेजी में मेंढक दौड़ में राहुल प्रथम, आकाश द्वितीय रहे।
द्वितीय वर्ग से प्रथम कक्षा 100 मीटर दौड़ में शिवानी प्रथम, अरूण द्वितीय, दूसरी और तीसरी कक्षा गुब्बारा दौड़ में प्रियंका,दीक्षा,मनप्रीत, अमन, सपना प्रथम रहें। चौथी कक्षा आलू दौड़ में वरूण प्रथम, सोनिया द्वितीय, शोभा ने तीसरा स्थान पाया। जबकि खो-खो में अशोका टीम प्रथम रही। वैडमिन्टन और खो खो में शिवाजी  टीम की हर्षदीप ने प्रथम स्थान पाया। इस मौके पर प्रबंधक समिति के अध्यक्ष देवराज सिंगला ने बच्चों को खेलों में महत्व की जानकारी दी।
राजाराम कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में प्राईमरी और मिडल दो वर्गों में बाल कविता प्रतियोगिताएं आयोजित करके बाल दिवस मनाया। यह जानकारी देते हुए विद्यालय की प्रिंसीपल निर्मल गर्ग ने बताया कि प्राइमरी वर्ग में हरबीर प्रथम, सिमरन द्वितीय और रीचा तृतीय रही। जबकि मिडल वर्ग में अंकुश प्रथम, कुदरत द्वितीय और प्रदीप तृतीय रहा। उन्होने यह भी बताया कि इस मौके पर उर्जा संरक्षण पर निबंध लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें विद्यालय के 21 विद्यार्थियों ने भाग लिया।
बिज्जूवाली से हेेमराज बिरट : राजकीय प्राथमिक पाठशाला अहमदपुर दारेवाला में बालदिवस धूम-धाम से मनाया गया। मुख्यशिक्षक प्रभुदयाल ने बच्चों को संम्बोधित करते हुए कहा बालदिवस पं. जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिवस पर मनाया जाता हैं। इस अवसर बोलते हुए उन्होंने कहा कि बच्चों को पढ़ाई के साथ-साथ नैतिकता पर भी ध्यान देना चाहिए बच्चों अपने घर में मां-बाप, भाई-बहन व अतिथियों का सम्मान करना चाहिए। इस अवसर पर बच्चों ने खेलकूद प्रतियोगिता का भी आयोजन किया जिसमें बोरी दौड़ में प्रथम स्थान रवि कक्षा पंाचवी, द्वितीय संदीप कक्षा पांचवी व तृतीय अश्वनी कक्षा चौथी ने, चम्मच दौड में प्रथम स्थान गुरदीप कक्षा चौथी, द्वितीय रवि कक्षा चौथी, तृतीय रिन्कू कक्षा तीसरी ने, मोमबती दौड़ प्रथम सुखविन्दर कक्षा तीसरी, द्वितीय रविन्द्र कक्षा पांचवी, तृतीय मुकेश कक्षा चौथी ने व एक टांग दौड़ में प्रथम स्थान रवि कक्षा पांचवी, द्वितीय स्थान महावीर कक्षा चौथी, तृतीय स्थान विक्रम कक्षा चौथी ने प्राप्त किया। अन्त में स्कूल स्टाफ की एक प्रतियोगिता हुई जिसमें एक टब पानी में गुब्बारे फुलाकर पानी में डाल दिए गए व बिना हाथ लगाए गुब्बारों को टब में से निकालना था जिसमें 16 गुब्बारे निकाल कर प्रथम स्थान नरेश कुमार जे.बी.टी. व सतपाल सिंह जे.बी.टी. ने प्राप्त किया। इस अवसर पर विजेताओं को सम्मानित किया गया। इस मौके पर तीन साल से नि:शुल्क स्कूल में सेवा कर रहें जीवन दास तनेजा, सतपाल जे.बी.टी., आंगनवाड़ी कार्यकर्ता हरमन्दर कौर व हैल्पर सुमन रानी सहित अनेक ग्रामीण उपस्थित थे।
स्वामी विवेकानंद वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय गोरीवाला में बाल दिवस के पर विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया। विद्यार्थियों ने इस मौके पर सांस्कृतिक कार्यक्रम व फैंसी ड्रैस का आयोजन किया। विद्यालय के प्राचार्य बनवारी लाल डोडा ने विद्यार्थियों को पं. जवाहर लाल नेहरू के जीवन के बारे में बताया कि जवाहर लाल नेहरू 1947 में भारत के प्रथम प्रधानमंत्री थे, नेहरू बच्चों से बहुत प्यार करते थे। इसलिए उनके जन्म दिवस 14 नवम्बर को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता हैं। विजेता प्रतिभागियों को समांनित किया गया। इस मौके पर उपप्रचार्य मनोज कुमार सुथार, विनोद शर्मा, रामजी लाल, प्रशांत बैरड़ व अनिल कुमार नंदन सहित समस्त स्कूल स्टाफ व अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे।

सुबह का मजाक शाम को सच हुआ

डबवाली (लहू की लौ) गांव चौटाला के एमएलए मोहल्ले में रहने वाली मजदूर दम्पति की हादसे में मौत के बाद शनिवार को माहौल गमगीन रहा। शोक स्वरूप किसी भी घर में चूल्हा नहीं जला। दु:ख की इस घड़ी में मजदूर साथी दम्पति के पारिवारिक सदस्यों को ढांढस बंधाते दिखे।
गांव चौटाला के मनरेगा मजदूर मंगतू राम (50) तथा उसकी पत्नी सुक्खी देवी (48) की शुक्रवार शाम को मृत्यु हो गई थी। दोनों काम करने के बाद घर लौट रहे थे। संगरिया की ओर जा रही एक पिकअप गाड़ी ने उनमें टक्कर मार दी। दम्पति ने मौका पर ही दम तोड़ दिया था। शनिवार को पुलिस ने शवों का डबवाली के सरकारी अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाने के बाद उन्हें उसके वारिसों को सौंप दिया। गांव चौटाला के रामबाग में दोनों का अंतिम संस्कार किया गया। इस मौके पर गांव के प्रत्येक व्यक्ति की आंख नम थी।
मंगतू राम (50), सुक्खी देवी (48) अन्य 123 मनरेगा मजदूरों के साथ पिछले तीन दिनों से चौटाला माईनर टेल की सफाई में लगे हुए थे। शुक्रवार दोपहर को चाय के समय अपने साथी मजदूरों के साथ हंसी-मजाक कर रहे थे। मनरेगा मजदूर पाना देवी (55), मंजू (35), सुमन (27) ने आंसू बहाते हुए बताया कि चाय के समय उनमें खूब मजाक चल रहा था। बातों ही बातों में सुक्खी उनसे कह रही थी कि वह अपने पति मंगतू राम के साथ आती-जाती है। घर में कोई चीज की कमी है या फिर मजदूरी करने जाना है, तो वे साथ-साथ जाते हैं। दोनों एक साथ जीएं हैं और एक साथ मरेंगे। इन लफ्जों को सुक्खी ने कई दफा दोहराया। लेकिन उन्हें क्या मालूम था कि जो वह सुबह कह रही है, सूरज ढलते-ढलते वह सत्य हो जाएगा।
मनरेगा के सहायक रामप्रताप ने बताया कि उसकी देखरेख में चौटाला माईनर की टेल पर माईनर की सफाई का कार्य चल रहा है। पिछले तीन दिनों से 125 मनरेगा मजदूर इस कार्य में लगे हुए थे। यह कार्य दस दिन तक चलना है। लेकिन इस हृदयविदारक घटना ने मजदूरों के हौंसले पस्त कर दिए। मनरेगा मजदूर शोक स्वरूप दो दिन तक कार्य नहीं करेंगे।
गांव के सरपंच आत्मा राम ने बताया कि मनरेगा मजदूर मंगतू राम-सुक्खी देवी का व्यवहार बड़ा शालीन था। व्यवहार की वजह से वे लोग दूसरे का दिल जीत लेते थे। मंगतू के तीन बेटे इन्द्राज उर्फ राजू (32), भजन लाल (30), लक्ष्मण (28) हैं। वे तीनों विवाहित हैं। जोकि मजदूरी करके अपना तथा अपने परिवार का पेट पालते हैं।

13 नवंबर 2010

ग्रंथ जलाने का प्रयास,भड़के दलित

मंदिर में सेवा करेगा आरोपी का परिवार
डबवाली (लहू की लौ) गांव गंगा में दलित समाज के धार्मिक स्थल में एक व्यक्ति द्वारा शराब फेंकने और समाज के आद धार्मिक ग्रंथ को मिट्टी तेल से जलाने का प्रयास करने का मामला सामने आने के बाद दलित भड़क उठे। आरोपियों के विरूद्ध कार्रवाई न करने पर दलितों ने हरियाणा सरकार और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। गांव में तनाव की स्थिति पैदा हो गई।
गांव गंगा के वाल्मीकि मोहल्ले में बने भगवान वाल्मीकि मंदिर में पिछले तीन सालों से दलित समाज ने आदिवासी कौम श्री ज्ञान प्रकाश ग्रंथ साहिब का प्रकाश किया हुआ है। मंदिर में प्रतिदिन वाल्मीकि समाज के लोग ग्रंथ साहिब के समक्ष शीश झुकाते हैं। गुरूवार सुबह करीब 6 बजे मंदिर के ग्रंथी कुलविंद्र सिंह को सूचना मिली कि मंदिर में किसी व्यक्ति ने शराब फेंक रखी है। सूचना पाकर अखिल वाल्मीकि समाज न्याय मंच के जिला अध्यक्ष दविन्द्र सिंह डिम्पल, मंदिर प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष सेवक सिंह, सेवादार राजवीर, रवि आदि मौका पर पहुंचे। मंदिर प्रांगण में शराब बिखरी हुई थी। मंदिर के भीतर बने कमरे का ताला टूटा हुआ था। कमरे में प्रकाश किए गए आदिवासी कौम श्री ज्ञान प्रकाश ग्रंथ साहिब पर मिट्टी तेल डाला हुआ था। इसके अतिरिक्त कमरे में अंडे, शराब की बोतलें पड़ी थीं।
भगवान वाल्मीकि मंदिर गंगा की प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष सेवक सिंह तथा अखिल वाल्मीकि समाज न्याय मंच के जिला अध्यक्ष दविन्द्र सिंह डिम्पल ने बताया कि मंदिर के पड़ौसी राजवीर ने गुरूवार सुबह मंदिर के ग्रंथी कुलविन्द्र सिंह को सूचना दी कि मंदिर में शराब बिखरी हुई है। सूचना पाकर वे भी मौका पर पहुंचे। मौका पर पहुंचकर उन्होंने देखा कि मंदिर में बने कमरे में पड़ी गोलक टूटी हुई है। कमरे में अण्डे और शराब फेंक रखी है। समाज के धार्मिक ग्रंथ को भी मिट्टी का तेल डालकर जलाने का प्रयास किया।
उन्होनें यह भी बताया कि मंदिर के निकट ठेका शराब की ब्रांच खुली हुई है। जिससे श्रद्धालुओं की भावनाएं आहत होती हैं। ब्रांच को हटाने के लिए वे कई मर्तबा प्रशासनिक अधिकारियों से गुहार लगा चुके हैं। यहां तक की रोड़ भी जाम कर चुके हैं। लेकिन आश्वासन के सिवाए उन्हें कुछ हासिल नहीं हुआ। दो दिन पूर्व भी उन्होंने पुलिस से उपरोक्त ब्रांच को हटाए जाने की मांग की थी। इसी रंजिश के चलते ब्रांच मालिक  गुरदित्त सिंह तथा तथा उसके बेटे ने उपरोक्त कार्य किया। पूरे मामले की जानकारी पुलिस को दी गई है।
पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई न किए जाने के चलते शुक्रवार को दलित उग्र हो उठे। मंदिर में एकत्रित दलितों ने हरियाणा सरकार और पुलिस के विरूद्ध नारेबाजी की।
गांव में बढ़ते तनाव की सूचना पाकर पुलिस ने दोनों पक्षों को गोरीवाला पुलिस चौकी में तलब किया। पुलिस चौकी में दोनों पक्षों में काफी नोक-झोंक भी हुई। बाद में ब्रांच मालिक गुरदित्त सिंह के बेटे राजू उर्फ लम्बू ने पंचायत के समक्ष लिखित रूप में कबूल किया कि शराब के नशे में धुत्त होकर उसने इस कार्य को अंजाम दिया। मंदिर में शुद्धिकरण व ग्रंथ का पुन: पाठ करवाएगा तथा लंगर लगवाएगा।  जिसका खर्च उसका परिवार वहन करेगा। जब तक वह ऐसा नहीं करत, तब तक उसका परिवार मंदिर में सेवा करेगा। इसके अतिरिक्त उसने पंचायत को मंदिर के निकट शराब न बेचने का भी आश्वासन दिलाया। इस अवसर पर अखिल वाल्मीकि समाज न्याय मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुरेश गोगा, प्रदेश उपाध्यक्ष ओमप्रकाश धारीवाल, राष्ट्रीय सचिव गोपाल बिट्टू, राजकुमार चावरिया, गोरीवाला पुलिस चौकी प्रभारी एसआई रमेश कुमार, गांव गंगा के सरपंच गुरदित्ता सिंह उपस्थित थे।
गोरीवाला पुलिस चौकी के प्रभारी एसआई रमेश कुमार ने बताया कि राजू (25) पुत्र गुरदित्त सिंह निवासी गंगा ने शराब के नशे में धुत्त होकर उपरोक्त कार्य को अंजाम दिया था। पंचायत के समक्ष राजू ने अपना अपराध कबूल कर लिया। दोनों पक्षों की आपसी सहमति से मामला निबट गया।

गंगा में बह रही है दारू की गंगा

डबवाली (लहू की लौ) शराब के नशे में धुत्त होकर मंदिर में अण्डे, शराब फेंकने और मिट्टी का तेल डालकर धार्मिक ग्रंथ को जलाने का प्रयास करने वाले के परिवार को मंदिर में सेवा करने की सजा मिली है। यह सजा समझौता करवाने बैठी पंचायत ने सुनाई। सजा तब तक जारी रहेगी जब तक आरोपी मंदिर में शुद्धिकरण के लिए पूजा-पाठ, लंगर नहीं लगाता।
गांव गंगा में बने भगवान वाल्मीकि मंदिर में शराब, अण्डे फेंकने तथा मिट्टी का तेल डालकर धार्मिक ग्रंथ को जलाने का प्रयास करने से दलित समाज उठ खड़ा हुआ था। जिसके चलते गांव में तनाव की स्थिति पैदा हुई। इस घिनौने कार्य के पीछे एकमात्र कारण शराब था। शराब के नशे में चूर हाकर राजू उर्फ लम्बू (25) पुत्र गुरदित्त सिंह ने इस कार्य को अंजाम दिया था। वह अपने पिता के साथ मंदिर के सामने अपने घर में शराब का अड्डा जमाए हुए था। पंचायत के निर्णय के बाद उसने अपना अड्डा उठाने का आश्वासन दिया।
छोटे से गांव में शराब ठेका होने के साथ 13-14 ब्रांचे हैं। इसके अतिरिक्त प्रत्येक गली में शराब का कारोबार चलता है। कुछेक ने तो घर पर ही दारू का अड्डा जमा लिया है। गांव में चल रहे इस गोरखधंधे की परतें शुक्रवार को गोरीवाला पुलिस चौकी में खुलती गईं। यह सुनकर हाथ पर हाथ धरे बैठी पुलिस के भी कान खड़े हो गए।
गांव के सरपंच गुरदित्ता सिंह ने स्वीकार किया कि गांव में शराब ठेका होने के साथ तेरह-चौदह ब्रांचे कार्यरत हैं। ग्रामीणों के एतराज करने पर पुलिस को इस संबंधी लिखकर दे दिया है। नजायज शराब बेचने वाले के खिलाफ पंचायत कानूनी कार्रवाई कराएगी।
गांव गंगा में शराब ठेका के मालिक कालू राम ने बताया कि उन्होंने गांव में ठेका खोलने के अतिरिक्त ब्रांचे खोली हुई हैं। यदि ग्रामीणों को एतराज है, वे ब्रांच उठा लेंगे।
गोरीवाला पुलिस चौकी के प्रभारी एसआई रमेश कुमार ने बताया कि आज ही उन्हें गांव में शराब की अवैध बिक्री की जानकारी मिली है। पंचायत ने भी अवैध शराब बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। नजायज तरीके से शराब बेचने वालों के खिलाफ जल्द कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

पिकअप ने मनरेगा मजदूर कुचले

डबवाली (लहू की लौ) शुक्रवार शाम को चौटाला-रतनपुरा रोड़ पर एक तेजगति पिकअप ने दो मनरेगा मजदूरों को कुचल कर मौत के घाट उतार दिया।
ग्राम पंचायत चौटाला ने चौटाला-रतनपुरा रोड़ पर खाल की सफाई का कार्य चला रखा है। इसी खाल की सफाई का काम करके शाम को लगभग 4 बजे मनरेगा मजदूर मंगतू राम (50) पुत्र मोडू राम, सुक्खी देवी (48) पत्नी मंगतू राम  वापिस गांव चौटाला पैदल लौट रहे थे कि गांव चौटाला साईड से एक तेजगति से आई पिकअप ने उनमें टक्कर मारी और उन्हें कुचलती हुई फरार हो गई।
थाना सदर के कार्यकारी प्रभारी एसआई रतन सिंह ने बताया कि मनरेगा मजदूर मोहन लाल (20) पुत्र अर्जुन दास निवासी चौटाला की शिकायत पर अज्ञात पिकअप चालक के खिलाफ लापरवाही से पिकअप चला कर दो मजदूरों की मौत के लिए जिम्मेवारी के आरोप में केस दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस के अनुसार शिकायकर्ता मोहन लाल घटना के समय इन मजदूरों के पीछे आ रहा था। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए डबवाली अस्पताल के डैड हाऊस में पहुंचा दिया है।

महिला और उसका प्रेमी दोषी करार

सिरसा। शराब में जहरीली वस्तु मिलाकर व गला घोंट कर पुत्र की हत्या करने के आरोप में जिला एवं सत्र न्यायालय ने मां तथा उसके प्रेमी को दोषी करार दिया है। न्यायालय ने फैसला सुरक्षित रख लिया है।
मामले के अनुसार 12 सितम्बर 2009 को गांव चोरमार निवासी दर्शन सिंह के पुत्र सुक्खा सिंह की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। सुक्खा सिंह की दादी सुजान कौर पत्नी शेर सिंह ने अपने पौत्र की हत्या का आरोप उसकी मां व प्रेमी पर लगाया था। पुलिस को दी शिकायत में सुजान कौर ने बताया था कि उक्त तिथि को वह अपनी पुत्री के घर गई हुई थी। इसी दौरान उसे परिजनों ने सूचना दी कि सुक्खा सिंह की मौत हो गई। घर पहुंची और मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। पुलिस ने शव सामान्य अस्पताल पहुंचाया। चिकित्सीय जांच में सुक्खा सिंह की मौत जहरीली वस्तु व गला घोंटने से दर्शाई गई।
सुजान कौर का कहना था कि सुक्खा सिंह की मां मलकीत कौर पत्नी दर्शन सिंह का नौरंग निवासी चरणजीत पुत्र दयाल सिंह के साथ अवैध सम्बंध थे। सुक्खा सिंह को अपनी मां पर संदेह था। सुक्खा सिंह को रास्ते से हटाने के लिए सुक्खा के बड़े भाई जगमीत, मां मलकीत तथा चरणजीत ने उसे शराब में जहरीली वस्तु दे दी। तदोपरांत उसका गला घोंट दिया। पुलिस ने तीनों के विरुद्ध मामला दर्ज किया और चालान न्यायालय में पेश किया।
आज जिला एवं सत्र न्यायाधीश डा. शिवा शर्मा की अदालत ने  मलकीत कौर व चरणजीत सिंह को हत्या का दोषी करार दिया। साक्ष्यों के अभाव जगमीत सिंह को बरी कर दिया गया।

अदालत के समक्ष पेश हुए डेरा प्रमुख

सिरसा। साध्वियों से बलात्कार तथा दो-दो हत्याओं में आरोपी डेरा सच्चा सौदा प्रमुख संत गुरमीत राम रहीम सिंह इन्सां शुक्रवार को फिर सीबीआई की विशेष अदालत के समक्ष पेश हुए। करीब सात घंटे तक कार्रवाई जारी रही। अदालत के विशेष जज एएस नारंग ने आगामी कार्रवाई हेतु 6-7 तथा 11 दिसम्बर तारीख मुकर्रर की है। डेरा सच्चा सौदा मुखी संत गुरमीत राम रहीम सिंह इन्सां ने आज पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड तथा रणजीत मर्डर केस में पेशी भुगती।
पत्रकार छत्रपति हत्याकांड में दिल्ली स्थित अपोलो अस्पताल के चिकित्सक एसके जैन ने अपनी गवाही दी। पूर्व की भांति डा. जैन ने बताया कि छत्रपति का ईलाज उनकी देखरेख में हुआ था। डा. जैन द्वारा दी गई गवाही के उपरांत क्रॉस पूरा कर लिया गया। छत्रपति हत्याकांड में सीबीआई की विशेष अदालत ने 11 दिसम्बर तारीख मुकर्रर की है।
वहीं कुरुक्षेत्र के अंतर्गत खानपुर कोलियां निवासी रणजीत सिंह की हत्या के मामले में भी जिरह हुई। रणजीत मर्डर मामले में मृतक के पिता जोगेंद्र सिंह ने अपनी गवाही दर्ज करवाई। इस मामले में जिरह पूरी नहीं हो पाई। सीबीआई अदालत के विशेष जज एएस नारंग द्वारा आगामी कार्रवाई हेतु 6 व 7 दिसम्बर तारीख निर्धारित की है। उधर, सीबीआई अदालत द्वारा डेरामुखी की जमानत रद्द किए जाने सम्बंधी याचिका पर आज फिर सुनवाई नहीं हो पाई। अदालत द्वारा सुनवाई हेतु 6 व 7 दिसम्बर तारीख निर्धारित की।  साध्वियों से बलात्कार के मामले में डेरामुखी गुरमीत सिंह को 4 दिसम्बर को अदालत में पेशी भुगतनी होगी। 11 दिसम्बर तक डेरामुखी को 4 पेशियां भुगतनी पड़ेंगी।

ट्रेफिक डबवाली की सबसे बड़ी समस्या

डबवाली। रेल लाईन पर ट्रेफिक की अधिकता के चलते अक्सर रेलवे फाटक बंद रहता है। जिससे जाम की स्थिति पैदा हो जाती है। यातायात पर नियंत्रण के अभाव के चलते वाहन आपस में टकराते हैं, झगड़े होते हैं।
जानकारी अनुसार बठिंडा-डबवाली-हनुमानगढ़ रेल ट्रेक पर रोजाना 12 सवारी गाडिय़ां और 35 माल गाडिय़ां डबवाली रेलवे स्टेशन से होकर जाती हैं। जिसके कारण हर बीस मिनट बाद रेलवे फाटक बंद हो जाते हैं। इस बीच रेलवे फाटकों के दोनों ओर वाहनों की लम्बी कतारें लग जाती हैं। गाड़ी निकलने के बावजूद अवरोध खत्म होने में घंटो लग जाते हैं। जिससे पब्लिक को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। जीटी रोड़ रेलवे फाटक पर स्थिति तनावपूर्ण हो जाती है। ऐसे कई मौके आए हैं जब सिर फुटेल हुई और मामला अस्पताल से थाना में भी पहुंचा। पुलिस ने पहुंचकर स्थिति को नियंत्रण में किया। इसके बावजूद प्रशासन ने ट्रेफिक कंट्रोल के लिए कोई कदम नहीं उठाया है। जबकि जीटी रोड़ रेलवे फाटक तथा कलोनी रोड़ रेलवे फाटक ट्रेफिक के लहजे से रेलवे की ए श्रेणी में आते हैं।
इस संदर्भ में रेलवे के जूनियर इंजीनियर एसके पासवान से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि डबवाली के जीटी रोड़ तथा कलोनी रोड़ रेलवे फाटक ए श्रेणी में आते हैं। इन दोनों फाटकों पर सप्ताह भर का ट्रेफिक व्हीकल यूनिट 70 हजार से भी ऊपर का है। एक सप्ताह में जीटी रोड़ रेलवे फाटक से करीब अढ़ाई लाख वाहन क्रॉस करते हैं, जबकि कलोनी रोड़ रेलवे फाटक से दो लाख वाहन क्रॉस करते हैं। इन दोनों रेलवे फाटकों पर ट्रेफिक एक गंभीर समस्या है। लेकिन ट्रेफिक को कंट्रोल करने की जिम्मेवारी रेलवे की नहीं है। यह जिम्मेवारी सिविल पुलिस और प्रशासन की है।
इस मामले को लेकर जिला सिरसा यातायात प्रभारी कृष्णा यादव से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि डबवाली में ट्रेफिक बड़ी प्रॉब्लम बन गया है। इस संबंधी उन्हें काफी शिकायतें मिली हैं। डबवाली रेलवे फाटक पर ट्रेफिक को कंट्रोल करने के लिए एसपी सिरसा सतिन्द्र गुप्ता के आदेश पर डबवाली पुलिस को दो जवान उपलब्ध करवा दिए गए हैं। आने वाले दिनों में डबवाली में ट्रेफिक व्यवस्था सुधर जाएगी।
आम नागरिकों के अनुसार जीटी रोड़ रेलवे फाटक पर यातायात कंट्रोल का हल केवल रेलवे ओवरब्रिज से ही संभव है। इस ओवरब्रिज के निर्माण के लिए करीब पिछले 40 वर्षों से राजनीतिक डबवाली की जनता को लॉलीपाप थमाते आ रहे हैं। इस संबंध में तत्कालीन सांसद कुमारी सैलजा, डॉ. सुशील इंदौरा ने भी प्रयास किए। वर्तमान सांसद अशोक तंवर का कहना है कि वे पुल के लिए प्रयासरत हैं। इस संबंध में उन्होंने फाईल बनाकर उत्तर पश्चिम रेलवे बीकानेर डिविजन को भेज दी है। रेलवे मंत्रालय से इस संबंध में बातचीत चल रही है।

10 नवंबर 2010

सुषमा के हौसले ने छुड़ाए बदमाशों के पसीने

डबवाली। सिरसा जिले के चौटाला गांव की एक महिला ने सोमवार को अपने हौसले और बहादुरी से दो बदमाशों के पसीने छुड़ा दिए। ये बदमाश महिला का पर्स छीनकर भाग रहे थे, लेकिन सड़क पर गिरने के बावजूद महिला ने अपना पर्स नहीं छोड़ा और उनसे भिड़ गई। आखिरकार बदमाश उसका पर्स छोड़कर फरार हो गए। बाजार में महिला की बहादुरी के चर्चे हैं। जब तक पुलिस मौके पर पहुंची महिला अपने गांव जा चुकी थी, जिससे बदमाशों के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं हो सका।
गांव चौटाला निवासी सुषमा (38) ने बताया कि वह डबवाली से सामान खरीदने के बाद एटीएम से एक हजार रुपये निकलवाने गई थी, लेकिन एटीएम से पैसे नहीं निकले। इसी दौरान उसके पीछे आए दो युवकों ने उससे पूछा कि एटीएम से पैसे निकल रहे हैं या नहीं, जिस पर उसने मना कर दिया। इसके बाद वह रिक्शा में बैठकर बस स्टैंड की ओर चल दी। उसने बताया कि कालोनी रोड पर पीछे से मोटरसाइकिल पर आए युवकों ने लपक कर उसका पर्स छीनना चाहा, लेकिन उसने पर्स को दोनों हाथों से पकड़ लिया। इससे वह रिक्शे से रोड पर गिर गई। युवक उसे घसीटते हुए करीब 20 फुट दूर तक ले गए। उसने चिल्लाना शुरू कर दिया। शोर सुनकर आसपास के लोग वहां एकत्र हो गए। लोगों को देख दोनों युवक पर्स उसके हाथ में ही छोड़कर फरार हो गए।
मौके पर मौजूद दुकानदार राजेश ने बताया कि उसने अपने साथियों के साथ बदमाशों का पीछा किया, लेकिन वे डूमवाली बैरियर क्रास करने के बाद फरार हो गए। दुकानदारों ने महिला को सहारा दिया और कुछ देर आराम करने के बाद महिला अपने गांव चली गई। थाना शहर प्रभारी बलवंत जस्सू ने बताया कि लोगों का फोन आने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन तब तक महिला जा चुकी थी।

09 नवंबर 2010

शराब ने मारा दिहाड़ीदार मजदूर

डबवाली (लहू की लौ) शराब की आदत गांव पन्नीवाला मोरिकां के गुरदेव सिंह की मौत का कारण बन गई। नशे में गंदे पानी के जोहड़ में गिरने के 17 घंटो के बाद उसके शव को बाहर निकाला गया।
गांव पन्नीवाला मोरिकां निवासी गुरदेव सिंह (60) दिहाड़ीदार मजदूर था। रविवार शाम करीब 7 बजे वह डबवाली में दिहाड़ी करके घर वापिस आया। उसकी पत्नी बलवीर कौर (58) ने उसे खाना खाने को कहा। लेकिन उसने गांव में बने शराब के ठेके पर जाने की जिद पकड़ ली और चल दिया। शराब ठेका पर उसने शराब पी। शराब का अत्यधिक सेवन करने के बाद वह खुद पर नियंत्रण नहीं रख सका और गांव के बस अड्डा पर आकर गिरने लगा।
गांव के सोनी खान (23), चेला राम (40), पिरथी (30) ने बताया कि रविवार रात को वे गांव के बस अड्डा पर बैठे थे। इसी दौरान गुरदेव की भेंट उनसे हुई। उस समय गुरदेव सिंह शराब पीए हुए था। उन्होंने उसे संभाला। कुछ देर बाद गुरदेव वहां से चला गया। निकट स्थित गंदे पानी के जोहड़ में कोई वस्तु गिरने की आवाज हुई। गुरदेव सिंह भी कहीं दिखाई नहीं दिया। वे लोग मौका पर पहुंचे, कोई व्यक्ति जोहड़ से बाहर निकलने के लिए छटपटा रहा था। शोर मचाने पर काफी लोग मौका पर जमा हो गए। जोहड़ में डूबते व्यक्ति को बचाने के लिए गांव के जगजीत सिंह, कैंची, भोला नामक तीन युवक जोहड़ में उतर गए। गांव के गुरूद्वारा में इस घटना की सूचना दी गई। गुरदेव को बचाने के लिए ग्रामीणों का हजूम उमड़ पड़ा। रात करीब अढ़ाई बजे तक प्रयास चलते रहे। लेकिन ग्रामीणों की तमाम कोशिशें धरी की धरी रह गई।
सोमवार सुबह पुन: तीन फीटर लगाकर 15 फुट गहरे जोहड़ का पानी निकाला गया। ग्रामीणों को 17 घण्टों के अथक प्रयास के बाद उस समय सफलता हाथ लगी, जब ग्रामीणों की दृष्टि गुरदेव के शव पर पड़ी। उसे बाहर निकाला गया। गांव के सरपंच जगदीप सिंह, ग्रामीण जगजीत सिंह, राजा सिंह, जोगिन्द्र सिंह, लक्ष्मण सिंह, मक्खन सिंह, राजू सिंह, बंसी सिंह, हरप्रीत सिंह, दीपा सिंह, परमेश्वर सिंह, राजेन्द्र सिंह आदि ने बताया कि उन्होंने कभी भी गुरदेव सिंह को लड़ते-झगड़ते नहीं देखा। लेकिन वह शराब पीने का आदि था। शराब ही उसकी मौत की वजह बन गई।
गुरदेव के तीन बेटे गोपाल, इकबाल और विजय सिंह हैं। वे भी दिहाड़ी मजदूरी करके अपना पेट पालते हैं। मृतक गुरदेव की पत्नी बलवीर कौर ने भी स्वीकारा कि उसका पति शराब पीने का आदि था।

16 साल की लड़की को भगा ले गया

डबवाली (लहू की लौ) गांव डबवाली से एक 16 वर्षीय लड़की को एक युवक भगा ले गया। पुलिस ने लड़की के पिता की शिकायत पर मामला दर्ज करके लड़की तथा आरोपी की तालाश में छापामारी शुरू कर दी है।
गांव डबवाली के महिन्द्र सिंह (47) ने बताया कि उसकी 16 वर्षीय लड़की सर्वजीत कौर गांव के ही सरकारी हाई स्कूल की 9वीं कक्षा की छात्रा है। 3 नवम्बर को सुबह 7 बजे स्कूल के घर से गई थी लेकिन शाम तक जब घर नहीं लौटी तो उन्होंने रिश्तेदारी में तालाश शुरू कर दी। वह कहीं नहीं मिली।
शिकायतकर्ता के अनुसार इसी दिन से उसके चाचा निहाल सिंह के सांडू जोगिन्द्र सिंह का 19 वर्षीय लड़़का जसवीर सिंह उर्फ वीर सिंह निवासी गुरूसर माडी जिला मोगा भी गायब है जो कि गांव डबवाली में आया हुआ था।
थाना शहर पुलिस डबवाली के प्रभारी इंस्पेक्टर बलवन्त जस्सू ने बताया कि महिन्द्र सिंह के ब्यान पर आरोपी युवक के खिलाफ लड़की को भगा ले जाने के आरोप में धारा 363/366ए आईपीसी के तहत केस दर्ज करके जिला मुक्तसर और मोगा में संदिग्ध स्थानों पर छापामारी शुरू कर दी है। फिलहाल दोनों का पता नहीं चल पाया है।

मां-बेटा घायल

डबवाली (लहू की लौ) पड़ौसियों को लड़ाई में हस्तक्षेप करना उस समय महंगा पड़ा जब हमला करने आई पार्टी ने मां-बेटे को घायल कर दिया।
घायल सर्वजीत कौर (45) पत्नी सुखमन्दर सिंह निवासी गांव डबवाली ने बताया कि उनके पड़ौसी नाहर सिंह के साथ कुछ लोग हाथापाई कर रहे थे। जिस पर वह और उसका बेटा सुखजीत सिंह (25) छुड़ाने के लिए चले गये तो हमलावरों ने उनके चोटें मारीं और घायल कर दिया।
मौका पर उपस्थित नाहर ङ्क्षसह (30) पुत्र भगत सिंह ने बताया कि उसने गांव के ही शालू से 2800 रूपये कीमत का रस्सा लेना है और उसके 500 रूपये देने हैं। इसी बात को लेकर शालू के साथ उसका झगड़ा हो गया। शालू ने अपने साथियों की मदद से उस पर हमला बोल दिया लेकिन उसे छुड़ाने आये उनके पड़ौसी इस हमले में घायल हो गये।
थाना शहर प्रभारी इंस्पेक्टर बलवन्त जस्सू ने बताया कि अभी दोनों पक्षों के ब्यान होने बाकी हैं। उसके बाद ही कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।

पांच ट्राली पराली जली

डबवाली (लहू की लौ) गांव लखुआना में शनिवार रात को एक गाय के नौहरे में आग लग जाने से करीब पांच ट्राली धान की पराली जल कर राख हो गई। जिस पर मौका पर पहुंची फायर ब्रिगेड ने चार घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद काबू पाया।
गांव लखुआना में गौ पाल गोबिन्द पुत्र लेखराज शर्मा ने बताया कि शनिवार रात को पटाखों से उनकी गौशाला में पड़ी धान की पराली में आग लग गई। जिससे पांच ट्राली पराली जल कर राख हो गई। गांव वालों की सहायता से गायों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।
मौका पर पहुंची फायर ब्रिगेड के एएफएसओ धर्मपाल, फायरमैन रविकान्त, नन्द राम, चालक इन्द्रजीत ने बताया कि उन्हें आग पर काबू पाने में 4 घंटे लगे। इस आग से 20 हजार रूपये कीमत की धान की पराली जल गई।
उन्होंने यह भी बताया कि इसी दिन डबवाली के बस अड्डा की वर्कशाप में पड़े कूड़े-कचरे में आग लग गई। जिस पर काबू पाने में उन्हें आधा घंटा तक कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।

कालूआना में झगड़ा, 7 घायल

डबवाली (लहू की लौ) गांव कालूआना में घर में तांक झांक को लेकर हुए झगड़े में दोनों पक्षों के 7 लोगों को चोटें आयी हैं।  जिन्हें उपचार के लिए डबवाली के सरकारी अस्पताल में लाया गया है। घायल कपिल देव (27) पुत्र पिरथी राम निवासी कालूआना ने बताया कि वह दिहाड़ीदार मजदूर है। 5 नवम्बर को उसका छोटा भाई रवि (14) नरमा की ट्राली भरने के बाद घर वापिस लौट रहा था कि गांव की गली में कीचड़ होने के कारण राजेन्द्र बगैरा के घर के आगे बनी नाली के ऊपर से गुजरने लगा तो राजेन्द्र ने पकड़ कर उसे पीट दिया। लेकिन उस समय दोनों पक्षों में समझौता हो गया। रविवार रात को वह (कपिल देव), उसका पिता पिरथी राम (55), उसका भाई रवि (14) तथा ममेरा भाई सुनील (22) निवासी खारियां जब अपने पुराने घर जा रहे थे तो मार्ग में राजू, रोहताश, सुन्दरपाल, राकेश, संदीप, मांगेराम व 7-8 अन्य ने उन पर तेजघार हथियारों से हमला करके उन्हें चोटें मारीं।
इधर दूसरे पक्ष के घायल सुन्दरपाल (30) पुत्र दयाल राम निवासी कालूआना ने बताया कि रवि अक्सर उनकी गली से गुजरते समय गली में से न गुजर कर उनकी नाली के ऊपर से गुजरता है और घर की दीवार छोटी का लाभ उठा कर उनके घर में तांक झांक करता है। कई बार उसे समझाया-बुझाया भी लेकिन वह नहीं माना। रविवार रात को रवि बगैर उनके घर के आगे आकर उन्हें गालियां निकालने लगे। इस पर उन्होंने ऐतराज किया तो तैश में आये उपरोक्त आरोपियों ने तेजधार हथियारों से उन पर हमला कर दिया। जिसमें वह (सुन्दरपाल), उसका भाई राजेन्द्र (36),  रोहताश (25) घायल हो गये।
गोरीवाला पुलिस चौकी प्रभारी एसआई रमेश कुमार ने बताया कि अभी दोनों पक्षों के ब्यान होने बाकी हैं। इसके बाद ही कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।

एचपीएस में मानसिक विकास एवं योग्यता विषय पर सेमिनार

डबवाली (लहू की लौ) हरियाणा पब्लिक स्कूल में मानसिक विकास एवं योग्यता विषय पर रविवार शाम को सेमिनार आयोजित किया गया। सेमिनार में वैदिक गणित के माध्यम से सैकण्डों में अनेकों जोड़, गुणा, भाग, वर्ग तथा क्यूब के सवालों को हल करके दिखाया गया।
सेमिनार में मैमोरी एन एम  जयपुर के मेंटर सूरज मैहता ने बताया कि भारत में लार्ड मैकाले की शिक्षा पद्धति से पूर्व गुरूकुल पद्धति में सारी शिक्षा मौखिम रूप में दी जाती थी। यहां तक की वेद की ऋचाएं भी गुरूजन कंठस्थ करवा देते थे। उन्होंने कहा कि युग बदल रहा है। भारत फिर से विश्व में नैतिक और शिक्षा के रूप में सिरमौर शक्ति बनने जा रहा है। ऐसे में बच्चों की मानसिक क्षमता के सदुपयोग करने वाली विधाओं का विकास किया जाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि वर्तमान शिक्षा पद्धति में हम अपने मस्तक का केवल 0.01 प्रतिशत भाग ही प्रयोग कर पाते हैं और शेष को कैसे प्रयोग करना है, इसके लिए उचित मार्गदर्शन की आवश्यकता है।
उन्होंने कहा कि मैमोरी बढ़ाने के लिए 16 घण्टे के प्रशिक्षण से जादू जैसे परिणाम सामने आ सकते हैं। इस मौके पर उन्होंने दो घंटे के सेमिनार में इसके अचूक नमूने प्रस्तुत किए। जिसमें 10वीं के विद्यार्थी नीतिश तथा मनोज ने 100 शब्दों को केवल मात्र सुनकर उनसे संबंधित सभी सवालों का सही उत्तर दिया। यहां तक की 10वीं कक्षा के विज्ञान के प्रथम 100 पृष्ठों से पूछे गए सवालों का भी सही उत्तर देकर उपस्थित अभिभावकों एवं विद्यार्थियों को दांतों तले अंगुली दबाने को मजबूर कर दिया। इस सेमिनार का शुभारंभ डॉ. योगेश गुप्ता ने मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित करके किया। इस मौके पर मैमोरी एन एम टीम के विशाल वत्स, नरेश शर्मा, महेश शास्त्री उपस्थित थे। विद्यालय के आचार्य निदेशक रमेश सचदेवा ने आए हुए मेहमानों का धन्यवाद किया। डॉ. प्रेमचन्द सचदेवा मैमोरियल समिति की ओर से महेन्द्र सचदेवा, डॉ. योगेश गुप्ता, एमएल ग्रोवर, सुल्तान सिंह वर्मा को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

08 नवंबर 2010

हेडमास्टर सस्पेंड, टीचर डेपूटेशन पर

डबवाली (लहू की लौ) उपमण्डल डबवाली के गांव लम्बी में स्थित सरकारी मिडिल स्कूल के छात्रा छेड़छाड़ प्रकरण में आरोपी मुख्य अध्यापक को शिक्षा विभाग हरियाणा ने निलंबित करने के आदेश दिए हैं। जबकि एक अन्य अध्यापक को डेपूटेशन पर वहां से बाहर भेज दिया गया है।
गांव लम्बी के सरकारी माध्यमिक विद्यालय में 8वीं की छात्रा मनजीत कौर पुत्री डूंगर सिंह से छेड़छाड़ करने के आरोपी विद्यालय के मुख्याध्यापक मामराज को निलंबित करने और विद्यालय को स्टाफ के तबादले को लेकर ग्रामीण 29 अक्तूबर से ही स्कूल को ताला जड़े हुए थे। इस प्रकरण को लेकर आज ग्रामीण गांव के सरपंच ओमप्रकाश, पंच पाल सिंह, रामप्रताप, देवीलाल, बलदेव सिंह, डूंगर सिंह, रतन सिंह, रामकिशन, गोपीराम के नेतृत्व में धरना पर बैठे हुए थे। इसकी सूचना पाकर मंगलवार को मौका पर डीईओ आशा किरण, डिप्टी डीईओ यज्ञदत्त पहुंचे। उन्होंने पीडि़त लड़की, ग्रामीणों तथा अध्यापकों के ब्यान कलमबद्ध किए।
डीईओ आशा किरण ने जांच के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि इस मामले की जांच खण्ड शिक्षा अधिकारी डबवाली मंजू जैसवाल ने की थी और उस जांच रिपोर्ट के आधार पर ही हरियाणा शिक्षा निदेशालय चण्डीगढ़ ने आरोपी मुख्याध्यापक मामराज को निलंबित कर दिया है। उन्होंने बताया कि इसी जांच को आगे बढ़ाते हुए आज उन्होंने जांच की तो जांच के दौरान लड़की को सौंपे गए प्रेम पत्र की लिखावट आरोपी मुख्याध्यापक की लिखावट से मेल खाती हुई लग रही है। फिर भी जांच विशेषज्ञ से करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि ग्रामीणों की मांग पर विज्ञान अध्यापक भिन्द्र सिंह को डेपूटेशन पर लम्बी से बाहर भेज दिया गया है। ग्रामीणों को संतुष्ट करवाने का प्रयास करते हुए डीईओ ने ग्रामीणों को बताया कि मामराज के खिलाफ सख्त कार्रवाई कार्रवाई करते हुए 29 अक्तूबर से लेकर आज तक का उसका वेतन रोक दिया गया है और आगे भी विभागीय कार्रवाई जारी रहेगी। डीईओ के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने नरम होते हुए मंगलवार को स्कूल पर लगे ताले को खोल दिया। इस मौके पर पंचायत की शिकायत पर डीईओ ने स्कूल में कार्यरत कुक पर भी कार्रवाई करने का आश्वासन दिलाया।

आईआरबी जवान ने ट्रक चालक को जड़ा थप्पड़

डबवाली (लहू की लौ) डबवाली नगर के साथ लगते जिला बठिंडा के डूमवाली बैरियर में आईआरबी के एक कांस्टेबल की तरफ से ट्रक ड्राईवर को थप्पड़ जडऩे से विवाद खड़ा हो गया। इसके बाद लाईन में खड़े ड्राईवरों ने जमकर हंगामा बरपाया। सड़क पर चार घंटे जाम लगाकर रोष जताया। जिससे लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। एनएच 64 पर तीन किलोमीटर लम्बी वाहनों की कतार लग गई।
जानकारी अनुसार कोटगुरू निवासी ट्रक ड्राईवर सुखदीप सिंह (28) पुत्र बन्ता सिंह अपने ट्रक पर दिल्ली से अनाज लोड़ करके जगराओं (पंजाब) के लिए चला था। सोमवार रात करीब सवा आठ बजे वह डबवाली-बठिंडा रोड़ पर स्थित डूमवाली बैरियर पर पहुंचा। फार्म जमा करवाने के लिए लाईन में लगा हुआ था। वहां पर एक कार चालक की कार बैरियर की दीवार से टकरा गई। इस पर लाईन में लगे सुखदीप ने उस पर कमेंट कर दिया। आरबीआई के कंस्टेबल जसपाल सिंह ने ट्रक ड्राईवर सुखदीप सिंह के थप्पड़ जड़ दिया। सुखदीप कुछ कह पाता जसपाल सिंह व उसके साथी हवलदार संजीव कुमार ने उसकी डंडों से पिटाई कर दी। सुखदीप की जेब में पड़े 32 हजार रूपए व मोबाइल फोन भी मौका पर गिर गया। इस घटना को देख रहे लाईन में लगे अन्य ट्रक ड्राईवर सुखदीप के समर्थन में उतर आए। उन्होंने आरबीआई कर्मी की इस कार्रवाई के खिलाफ सड़क पर धरना लगाकर चक्का जाम कर दिया। जिससे डबवाली-बठिंडा के दोनों तरफ करीब 4 घण्टे तक जाम लगा रहा। मामला गंभीर होता देख बठिंडा थाना सदर पुलिस के प्रभारी एसआई परमजीत सिंह डोड, थाना रामा मंडी के प्रभारी एसआई हरबन्स सिंह पुलिस बल के साथ मौका पर पहुंच गये। बुलाया गया। पुलिस की तरफ से आरोपी कर्मचारी पर कार्रवाई के आश्वासन पर धरना उठाया गया। बैरियर पर तैनात आईआरबी के कांस्टेबल जसपाल सिंह ने बताया कि ईटीओ आरएन शर्मा अपनी मारूति गाड़ी को बैक कर रहे थे और गाड़ी दीवार के साथ लगने पर ट्रक ड्राईवर ने उन पर अश्लील कमेंट कसा। उसे समझाने पर ट्रक ड्राईवर हाथापाई पर उतर आया और उसकी वर्दी फाड़ दी। उसे छुड़ाने के लिए आये मौका पर तैनात इंस्पेक्टर रणधीर सिंह तथा आईआरबी के हवलदार संजीव कुमार को भला-बुरा कहा। मौका पर पहुंचे थाना सदर बठिंडा के प्रभारी एसआई परमजीत सिंह डोड ने बताया कि दोनों पक्षों को समझा-बुझा कर समझौता करवा दिया गया है।

सरपंचों और पंचों को परोसा निम्न स्तर का भोजन, बीडीपीओ को घेरा

डबवाली (लहू की लौ) निम्न स्तर का खाना परोसने को लेकर खण्ड विकास एवं पंचायत कार्यालय में प्रशिक्षण के लिए आये पंच-सरपंचों ने बीडीपीओ को खूब खरी-खोटी सुनाई और उनकी बात सुने बिना भाग रहे बीडीपीओ को घेर लिया।
मंगलवार को बीडीपीओ कार्यालय में पंच-सरपंचों का दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम हरियाणा ग्रामीण विकास संस्थान नीलोखेड़ी के तत्वावधान में आयोजित किया गया था। इस दौरान पंचायत विभाग द्वारा जारी मीनू के अनुसार प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल हुए पंच-सरपंचों को खाना दिया जाना था। बीडीपीओ कार्यालय द्वारा दिया खाना मीनू अनुसार न होने और निम्न स्तर का होने का आरोप लगाते हुए दोपहर खाने के दौरान पंच-सरपंच भड़क उठे और उन्होंने खाना खाने से इंकार कर दिया।
इस प्रशिक्षण शिविर में चौटाला, आसाखेड़ा, भारूखेड़ा, अबूबशहर गांवों के पंच सरंपच हिस्सा ले रहे थे। गांव चौटाला के सरपंच आत्मा राम, पंच रणवीर सिंह, श्रीराम, रामचन्द्र, ओमप्रकाश, रामप्रताप, रामकुमार, शान्ति देवी, सन्तरो देवी, चन्दो, आसाखेड़ा से सरपंच रामकुमार, पंच प्रभु राम, भारूखेड़ा से सरपंच मनोज कुमार, पंच महिन्द्र, बंसीलाल, अबूबशहर से सरपंच अमानती देवी, पंच इन्द्रपाल, राजेन्द्र ङ्क्षसह, वीरपाल ने बताया कि दोपहर को जो भोजन उन्हें बीडीपीओ कार्यालय द्वारा परोसा गया उसमें गाजर-मटर की सब्जी, 4 चपाती के साथ-साथ स्वीडिश के नाम पर दो लड्डू और आचार के नाम पर तली हुई मिर्च, सलाद में 4-4 फाड़ी मूली और खीरा थे। परोसी गई चपाती सूखी, तली हुई मिर्च में कीट चल रहे थे।  दो कप चाय की बजाय एक कप चाय दिया गया। उन्होंने इस प्रकार का खाना परोसे जाने का विरोध किया और बीडीपीओ राम सिंह से जब शिकायत की तो वह कार्यालय छोड़ कर भागने की कोशिश करने लगे तो उन्हें घेर लिया और उनसे जवाब मांगा।
मौका पर बीडीपीओ राम सिंह ने बताया कि भोजन के संबंध में उसकी कोई जिम्मेवारी न थी। बल्कि इसकी जिम्मेवारी सीपीओ रामप्रकाश को सौंपी गई थी। उन्होंने इस बात को स्वीकार किया कि भोजन में कमी थी। लेकिन बुधवार के भोजन के लिए वह चाहें तो कमेटी गठित कर लें।
सीपीओ रामप्रकाश ने बताया कि उसे केवल यह बताया गया था कि भोजन पर केवल 45 रूपये खर्च होने हैं। उसी अनुसार उसने भोजन की व्यवस्था की। उन्होंने कहा कि परीक्षाणार्थियों को भोजन के साथ-साथ दो कप चाय, बिस्कुट और लड्डू दिये गये हैं। उसने कहा कि उन्होंने भोजन व्यवस्था में पूरा ध्यान रखा है लेकिन फिर भी कोई न कोई रह सकती है। मौका पर उपस्थित प्रशिक्षण कार्यक्रम के समन्वयक मेनपाल सिहाग ने बताया कि सरकार की ओर से प्रति प्रशिक्षणार्थी 75 रूपये प्रतिदिन के हिसाब से पंचायत विभाग को दिये जाते हैं। भोजन की व्यवस्था करवाने की जिम्मेवारी बीडीपीओ कार्यालय की है। मीनू के अनुसार भोजन में पहले दिन सफेद चने, चपाती, मिक्स सब्जी, चावल, रायता, सलाद, स्वीटडिश, दो बार चाय व बिस्कुट शामिल हैं।

जीजा-साला दो दिन के रिमांड पर

डबवाली। शराब ठेका के करिंदे के हत्यारोपी जीजा-साला को पुलिस ने रविवार को अदालत में पेश किया। अदालत ने दोनों आरोपियों को दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेजने के आदेश दिए। उल्लेखनीय है कि 30 सितंबर को अज्ञात व्यक्तियों ने शेरगढ शराब ठेका ब्रांच के सेल्जमेन कृष्ण पुत्र राममूर्ति निवासी धारनिया जिला फतेहाबाद की सिर में ईंटे मार कर हत्या कर दी थी। थाना शहर पुलिस डबवाली ने मृतक के पिता राममूर्ति के ब्यान पर 1 अक्तूबर 2010 को भादंसं की धारा 302,379 के तहत अभियोग दर्ज कर घटना की जांच शुरू की। थाना शहर प्रभारी इंस्पेक्टर बलवंत सिंह जस्सू ने बताया कि पुलिस को मुखबरी मिली थी कि 30 सितंबर की रात को शेरगढ़ रकबा में देसी शराब ठेका के करिंदे कृष्ण कुमार पुत्र राममूर्ति निवासी धारणियां की हत्या करने वाले डबवाली क्षेत्र में घूम रहे हैं। मुखबरी के आधार पर पुलिस ने दो युवकों को हिरासत में ले लिया और पूछताछ के दौरान हिरासत में लिए गए युवकों ने इस बात को स्वीकार किया कि उन्होंने करिंदा की सिर में ईंट मारकर हत्या की है। हत्या आरोपियों ने अपनी पहचान स्वराज उर्फ सागा (19) पुत्र नछत्तर सिंह निवासी बडिंगखेड़ा और बलकरण सिंह उर्फ बग्गी (25) पुत्र जगराज सिंह उर्फ गोलू निवासी गांव मलवाला थाना रामां मण्डी के रूप में करवाई। थाना प्रभारी के अनुसार स्वराज उर्फ सागा ने स्वीकार किया कि उसने कृष्ण की ईंट मारकर हत्या की थी। इससे पूर्व उन्होंने ठेका से एक पौवा शराब खरीदी थी और इसे पीने के बाद शराब की ओर मांग की। लेकिन करिंदे ने यह कहकर शराब देने से इंकार कर दिया कि उसे नींद आ रही है। वह सुबह आएं। इसी तैश में आकर उन्होंने सोये हुए करिंदा की हत्या कर दी तथा उसकी जेब में रखी ठेका की चाबी निकालकर ठेका का ताला खोलकर गल्ले में पड़ी नकदी चुरा ली और फरार हो गए। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार करके गहन-पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस को संदेह है कि इन हत्यारों से इस संबंध में और भी सुराग मिल सकता है। पुलिस ने यह भी बताया कि बलकरण सिंह स्वराज का बहनोई है। दोनों आरोपियों को डबवाली पुलिस ने रविवार को अदालत के सम्मुख पेश किया। अदालत ने दोनों आरोपियों को दो दिन के रिमांड पर भेजने के आदेश दिए।

सरकार के खिलाफ मूवमेंट शुरू करेगी इनेलो

डबवाली (लहू की लौ) इनेलो के प्रधान महासचिव तथा हल्का डबवाली से विधायक अजय सिंह चौटाला ने कहा कि हरियाणा सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ पार्टी शीघ्र ही एक राज्य स्तरीय मूवमेंट शुरू करने जा रही है। वे रविवार को नई अनाज मण्डी स्थित इनेलो कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार हर तरफ से असफल साबित हुई है। रैलियों द्वारा इनेलो सरकार को बार-बार चेता चुकी है। लेकिन सरकार ने जन हितैषी नीतियों की ओर कोई ध्यान नहीं दिया। अब इनेलो शीघ्र ही एक आंदोलन चलाकर लोगों को सरकार के खिलाफ जागरूक करेगी। एक सवाल के जवाब में अजय चौटाला ने कहा कि पंजाब में बादल परिवार के बीच में इन दिनों चल रहा मामला पारिवारिक मामला है। इनेलो प्रयासरत है कि पारिवारिक मामला राजनीतिक रंगत न लें। इसलिए वे मध्यस्ता करके मनप्रीत सिंह बादल और प्रकाश सिंह बादल के बीच में जो दूरियां पैदा हुई हैँ, उन्हें समाप्त करवाने का प्रयास कर रही है।
उन्होंने केन्द्र सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि केन्द्र सरकार अमेरिकन राष्ट्रपति बराक ओबामा के स्वागत तथा कॉमनवेल्थ गेम्स पर हजारों करोड़ रूपए खर्च कर सकती है। लेकिन देश के गरीब और भूखे बच्चों के लिए एक पाई भी खर्च नहीं कर रही। उनके अनुसार कॉमनवेल्थ गेम्स में हुए भ्रष्टाचार में कांग्रेस के चार मुख्यमंत्रियों पर अंगुलियां उठ रही हैं। इस अवसर पर राधेराम गोदारा, मनिन्द्र पाल सिंह मीनू, विनोद अरोड़ा, एडवोकेट कुलदीप सिधू, टेकचन्द छाबड़ा, ओम बाबा, प्रहलाद राय, दर्शन मोंगा, गुरजीत सिंह, सुखजिन्द्र सिंह जापानी, गुरचरण नम्बरदार, शैलेन्द्र जौड़ा आदि उपस्थित थे।