युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

12 जुलाई 2011

'लाशों पर बना दो डिस्पोजलÓ

आबादी में डिस्पोजल के विरोध में उतरे नरसिंह कलोनी वासी, टीम बैरंग लौटाई
डबवाली (लहू की लौ) मालवा बाईपास पर जिला बठिंडा के गांव नरसिंह कलोनी में डिस्पोजल का निर्माण करने आए पंजाब सरकार के वाटर सप्लाई एवं सेनीटेशन विभाग के अधिकारियों को ग्रामीणों ने खदेड़ दिया।
 जिला श्री मुक्तसर साहिब की मण्डी किलियांवाली तथा जिला बठिंडा के गांव नरसिंह कलोनी के गंदे पानी की निकासी के लिए पिछले दो सालों से डिस्पोजल बनाने का प्रयास सरकार द्वारा किया जा रहा है। लेकिन इस डिस्पोजल का क्षेत्र आबादी में आ जाने पर ग्रामीण इस स्थान पर डिस्पोजल बनाए जाने के खिलाफ हैं। ग्रामीणों के अनुसार डिस्पोजल आबादी से दूर बनाए जाने पर उन्हें कोई एतराज नहीं है।
डिस्पोजल बनाने के लिए सोमवार को नायब तहसीलदार लम्बी लखविंद्र सिंह, वाटर सप्लाई एण्ड सेनीटेशन विभाग के एसडीई सुखदर्शन सिंह, जेई गंगा राम गोयल गिदड़बाहा तथा ठेकेदार फर्म हरदेव सिंह एण्ड कंपनी गोनियाना के पार्टनर रमन सिंह मौका पर पहुंचे। इसकी भनक पाकर ग्रामीण आनन-फानन में वहां जमा हो गए। उन्होंने डिस्पोजल बनाए जाने का विरोध शुरू कर दिया। नायब तहसीलदार लखविंद्र सिंह ने लोगों को समझा-बुझाकर मन बदलने की पुरजोर की। लेकिन ग्रामीणों ने दो टूक शब्दों में कहा कि डिस्पोजल उनकी लाशों पर ही बन पाएगा। वे किसी भी सूरत में डिस्पोजल नहीं बनने देंगे। ग्रामीणों के भारी विरोध को देखते हुए सरकार की उपरोक्त टीम बैरंग लौट गई।
मौका पर उपस्थित पंजाब खेत मजदूर यूनियन जिला श्री मुक्तसर साहिब के अध्यक्ष नानक चन्द सिंघेवाला, पंजाब किसान सभा के जिलाध्यक्ष चरणजीत सिंह बनवाला, गांव नरसिंह कलोनी निवासी सुरेंद्र कुमार, बलवंत सिंह, रिछपाल, मिट्ठू, मुख्तियार सिंह, चानन सिंह, जंगीर कौर, वीरपाल कौर, बलवीर कौर, किरणा, हरजीत कौर, अमृतपाल कौर, तविंद्र कौर, सुदेश कुमारी, माया देवी ने बताया कि डिस्पोजल आबादी में आता है। आबादी में डिस्पोजल को बनाए जाने से गंदे पानी की बदबू के चलते वहां उन्हें रहना मुश्किल हो जाएगा। इसके अतिरिक्त गंदे पानी के कारण बीमारियां भी फैलेंगी। उनकी मांग है कि डिस्पोजल को आबादी से बाहर बनाया जाए। लेकिन सरकार और प्रशासन जिद्द पकड़कर आबादी में ही डिस्पोजल बनाने पर अड़े हुए हैं। हालांकि रात को भी प्रशासनिक अधिकारियों ने डिस्पोजल बनाने का प्रयास किया। लेकिन ग्रामीण महिलाओं के रोष को देखकर अधिकारियों को वहां से भागना पड़ा।
नायब तहसीलदार लखविंद्र सिंह ने बताया कि डिस्पोजल के लिए उन्होंने लोगों का रोष देखा है। वे लोगों की आवाज को अपने उच्च अधिकारियों तक पहुंचा देंगे।
ठेकेदार फर्म हरदेव सिंह एण्ड कंपनी गोनियाना के पार्टनर रमन सिंह ने बताया कि दो माह पूर्व ही उन्हें डिस्पोजल का ठेका अलॉट हुआ है। विभाग जब भी उन्हें जमीन उपलब्ध करवा देगा, वे काम शुरू कर देंगे। लेकिन लोगों के विरोध के चलते उन्हें डिस्पोजल का काम करने में मुश्किल आ रही है।

दबंगों के डर से दलित परिवार ने छोड़ा शहर

डबवाली (लहू की लौ) पड़ौस में रहने वाले दबंग युवकों से तंग आया वार्ड नं. 13 का एक दलित परिवार हरियाणा से पलायन करके पंजाब में चला गया है। इस परिवार का आरोप है कि शिकायत के बावजूद पुलिस ने आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं की है। इधर राज्य से परिवार के पलायन की खबर मिलते ही पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए एक युवक को हिरासत में ले लिया।
वाल्मीकि मोहल्ले में रह रहे 58 वर्षीय रामदेव के घर पर पड़ौस में रहने वाले कुछ दबंग युवकों ने 29 जून 2011 को हमला कर दिया था। जिससे उसके बेटे अजय तथा पुत्रवधू सरोज पत्नी बिट्टू के चोटें आई थी। पीडि़त परिवार इस मामले को पुलिस में ले गया। लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। 58 वर्षीय रामदेव के अनुसार वह पिछले 28 सालों से अपनी पत्नी राज रानी के साथ यहां रह रहा है। यहीं अपने दो बेटों बिट्टू, अजय तथा बेटी रचना की परवरिश की। बेटों की शादियां की। लेकिन उसके पड़ौस में रहने वाले कुछ दबंग युवक उसके घर पर कब्जा करने का प्रयास कर रहे हैं। बीती 24 जून को उसके छोटे बेटे अजय की शादी में उन्होंने रूकावट डालने का प्रयास किया। 29 जून को उसके घर पर हमला करके अजय तथा गर्भवती पुत्रवधू सरोज के चोटें मारी। सरोज बठिंडा के एक निजी अस्पताल में उपचाराधीन है। उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस में भी की। लेकिन पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है। रामदेव के अनुसार पुलिस द्वारा कार्रवाई न किए जाने के कारण दबंगों के हौसला इतना बढ़ गया कि वे लोग उन पर कार्रवाई न होने देने की फब्तियां कसने लगे हैं। पुलिस द्वारा कार्रवाई न किए जाने तथा दबंगों के हौसले को देखते हुए वे पंजाब में किराए के मकान में शिफ्ट हो गए हैं।
सिटी थाना प्रभारी महा सिंह ने बताया कि उपरोक्त शिकायत के आधार पर पुलिस अपनी कार्रवाई कर रही है। इस मामले में सोमवार को पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। जिससे पूछताछ की जा रही है।

बलेरो सवारों ने ट्रक के शीशे तोड़े, लूट का प्रयास

डबवाली (लहू की लौ) गांव जगमालवाली के पास साईकलों के भरे एक ट्रक को बलेरो सवार लोगों ने लूटने का प्रयास किया।  इस दौरान ट्रक पर बरसायी गई ईंटों से ट्रक का परिचालक घायल हो गया।
ट्रक चालक जगसीर सिंह (26) पुत्र तेजा सिंह निवासी डोड ने बताया कि वह पंजाब के लुधियाना से शनिवार शाम को साईकिल भर कर अहमदाबाद के लिए रवाना हुआ था। लेकिन रविवार को अपने गांव डोड से रात्रि 9.30 बजे रवाना होने से पूर्व ट्रक परिचालक कुलविन्द्र सिंह पुत्र जरनैल सिंह निवासी सेमां को साथ लिया। वह लोग तलबंडी साबो होकर बाया कालांवाली से डबवाली की ओर आ रहे थे। उनका ट्रक जैसे ही कालांवाली क्रॉस करके जगमालवाली के पास पहुंचा तो उसने देखा कि एक बलेरो गाड़ी उनका पीछा कर रही है, इतनी देर में ही तेजगति से उनके ट्रक को क्रॉस करके बलेरो गाड़ी आगे आकर खड़ी हो गई। लेकिन उन्होंने ट्रक को नहीं रोका। थोड़ी ही दूरी पर इन लोगों ने पम्प के निकट उन पर पथराव शुरू कर दिया। जिससे ट्रक का शीश टूट कर परिचालक के पेट में जा लगा। इसके बावजूद भी वह अपने ट्रक को बचाता हुआ गांव डबवाली के नाका तक ले आया और वहां तैनात पुलिस को घटना की जानकारी दी।
थाना कालांवाली के प्रभारी विक्रम नेहरा ने बताया कि घटना की सूचना उन्हें मिली है और अभी तक ट्रक चालक और परिचालक के ब्यान होने हैं। इसके बाद ही कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। लेकिन फिर भी अपने स्तर पर इस मामले की पुलिस जांच कर रही है।

तीन ट्रांसफार्मर से कॉपर चोरी

डबवाली (लहू की लौ) गांव डबवाली रकबा से अज्ञात चोर तीन किसानों के खेतों में लगे तीन बिजली के ट्रांसफार्मर चुरा ले गये। जिसकी सूचना संबंधित किसानों ने बिजली विभाग तथा पुलिस को दी है।
डबवाली के आढ़तिया हरबिलास निरंकारी ने बताया कि उसके बेटे कपिल जिन्दल के नाम गांव डबवाली में कालांवाली रोड़ पर कृषि भूमि है और इसमें बिजली विभाग का ट्रांस्फार्मर लगा हुआ था। जिसमें से अज्ञात व्यक्ति सारा सामान निकाल ले गये। उन्होंने यह भी बताया कि नजदीक  के जगजीत सिंह पुत्र बाबू सिंह तथा नदान सिंह पुत्र मल सिंह के खेतों से भी अज्ञात चोर ट्रांस्फार्मर उतार कर उसमें से सामान चुरा ले गये। इसकी सूचना बिजली निगम के जेई गुरबख्श सिंह तथा थाना शहर में दी।
दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के जेई गुरबख्श सिंह ने बताया कि तीनों किसानों की शिकायत मिलने पर मौका का निरीक्षण किया। इस वारदात से निगम को प्रति ट्रांस्फार्मर 60 हजार रूपये का नुक्सान हुआ। अज्ञात चोर ट्रांस्फार्मर से तांबे की तार और तेल आदि निकाल ले गये। उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दे दी है। थाना शहर प्रभारी इंस्पेक्टर महा सिंह ने बताया कि जांच के लिए एफएसएल टीम को मौका पर भेजा गया, जांच की जा रही है।

गंगा में विवाहिता ने चूहे मार दवा निगली

डबवाली (लहू की लौ) सोमवार सुबह गांव गंगा में एक विवाहिता ने चूहे मार दवा निगल कर अपनी जान देने की कोशिश की। जिसे गंभीर हालत में इलाज के लिए अस्पताल लाया गया।
गंभीर हालत में सरकारी अस्पताल में दाखिल सर्वजीत कौर (25) पत्नी बबला  निवासी गंगा ने बताया कि उसने गुस्से में आज सुबह दवाई के भ्रम में चूहे मार दवा खा ली और गंभीर हालत में शोर मचाने पर उसका पति उसे इलाज के लिए पहले गोरीवाला के सरकारी अस्पताल में ले गया। वहां से रैफर होने पर उसे डबवाली लाया गया। मौका पर अस्पताल में उपस्थित सर्वजीत कौर की मां अमरजीत कौर निवासी गुरूसर सैहनेवाला जिला बठिंडा ने बताया कि उसकी बेटी के तीन बच्चे हैं। उसकी गंभीर हालत की सूचना पाकर वह यहां पहुंची है। लेकिन डाक्टर ने उसे फिलहाल खतरे से बाहर घोषित कर दिया है।

पेंशन न मिलने पर वृद्ध ने जल त्यागा

डबवाली (लहू की लौ) हरियाणा सरकार की लापरवाही के चलते पेंशन धारकों को पिछले चार माह से पेंशन न मिलने से आ रही परेशानी से आहत इनेलो पेंशनधारकों के साथ सोमवार को सड़कों पर उतर आई और कलोनी रोड़ पर साढ़े तीन घंटे तक सड़क पर धरना देकर रोष प्रकट किया।  एक वृद्ध पेेंशनधारक अनजल त्याग कर अनशन पर लेट गया।
सोमवार को निर्धारित स्थानों पर हरियाणा सरकार द्वारा फिेनो कम्पनी की मार्फत बुढ़ापा, विधवा और विकलांग पेंशन धारकों को पेंशन का वितरण करना था। लेकिन फिनो कम्पनी के कर्मचारी निर्धारित स्थानों पर नहीं पहुंचे। जबकि पेंशन धारक निर्धारित स्थानों पर पहुंच गये। करीब डेढ़ घंटे तक पेंशन धारकों ने कम्पनी कर्मचारियों का इंंतजार किया। पेंशन धारक पिछले दो दिनों से कम्पनी के कर्मचारियों द्वारा पेंशन के लिए उन्हें बुला कर पेंशन न देने से खफा थे और स्वयं को अपमानित महसूस कर रहे थे। आज फिर इंतजार के बावजूद भी पेंशन का वितरण न होने से पेंशन धारक रोषस्वरूप सड़कों पर उतर आये। इसकी सूचना पाकर इनेलो नेता रणवीर सिंह राणा, पार्षद टेक चन्द छाबड़ा, पार्षद सुभाष मित्तल, पार्षद नीलकांत मैहता के नेतृत्व में इनेलो कार्यकर्ता दीपक बागड़ी, लभू सेठी, दर्शन मोंगा, काली मिढ़ा, भगवान दास आरेवाला, अमन चुघ, विपिन मोंगा, मुनीश शर्मा, रामकिशन ग्रोवर, अमरनाथ बागड़ी, अमनदीप, सुनील बांसल, शलेन्द्र जौड़ा भी मौका पर पहुंचे और पेंशनधारकों के समर्थन सड़क पर ही धरने पर बैठ गये। इसी के साथ ही पेंशन लेने पहुंचा वृद्ध ओमप्रकाश डांग अनजल त्याग कर तपती धूप में सड़क पर लेट गया।
पेंशनधारकों तथा इनेलो कार्यकर्ताओं ने हुड्डा सरकार तथा जिला प्रशासन के खिलाफ जम कर नारेबाजी की।  इसकी भनक पाकर प्रशासन के हाथ-पैर फूल गये। समाधान के लिए नायब तहसीलदार हरिओम बिश्नोई धरनास्थल पर पहुंचे। लेकिन उसकी बातचीत से धरनाकारी संतुष्ट नहीं हुए। इसके बाद उपायुक्त सिरसा से बातचीत करके उपमंडलाधीश डॉ. मुनीश नागपाल वहां पहुंचे और उन्होंने धरनाकारियों को शुक्रवार से पेंशन वितरण का आश्वासन दिया। जिससे पेंशनधारक सहमत हो गये। इसके बाद उपमंडलाधीश ने वृद्ध ओमप्रकाश को जल पिला कर उसका अनशन तोड़ा।
इनेलो के जिला प्रधान महासचिव रणवीर सिंह राणा ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि अगर प्रशासन शुक्रवार के पेंशन वितरण के आश्वासन पर खरा नहीं उतरा तो सोमवार से इनेलो लोकतांत्रिक तरीके से पेंशनधारकों के साथ आंदोलन छेड़ देगी।

स्कूटर की टक्कर से छात्र घायल

डबवाली (लहू की लौ) यहां के एफसीआई गोदाम के पास स्थित एक निजी शिक्षण संस्थान का दूसरी कक्षा का छात्र स्कूटर की टक्कर से घायल हो गया। जिसे उपचार के लिए सरकारी अस्पताल में लाया गया।
वार्ड नं. 6 के कबीर नगर निवासी सोमनाथ ने बताया कि उसका पांच वर्षीय बेटा दर्शन सोमवार को पढऩे के लिए कबीर नगर के पास स्थित आनंद मॉडल स्कूल में गया था। उसके अध्यापक ने फीस के लिए उसकी माता को बुलाया। दर्शन घर से अपनी माता सावित्री देवी को बुलाकर वापिस स्कूल जा रहा था। पीछे से आया एक स्कूटर दर्शन के बीच टक्कर मारकर फरार हो गया।

विश्व जनसंख्या दिवस पर प्रतियोगिताएं आयोजित

डबवाली (लहू की लौ) राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में स्वास्थ्य सेवाएं हरियाणा द्वारा विश्व जनसख्या दिवस पर पेंटिंग तथा भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।
यह जानकारी देते हुए विद्यालय के प्रिंसीपल इन्द्रजीत सांगवान ने बताया कि प्रतियोगिता का विषय छोटा परिवार, सुखी परिवार था। पेंटिंग प्रतियोगिता में 10वीं की नेहा प्रथम, 7वीं की बरखा द्वितीय और 10वीं की अनु ने तृतीय स्थान पाया। जबकि भाषण प्रतियोगिता में 12वीं की मीनू प्रथम, 9वीं की वैशाली द्वितीय, 10वीं की वंदना तृतीय रही।
इस मौके पर सरकारी अस्पताल के कार्यकारी एसएमओ एमके भादू तथा दंत चिकित्सक मीना जिन्दल ने अपने विचार रखे और विद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना की अधिकारी परमजीत कौर ने छात्राओं को बढ़ती जनसंख्या के दुष्परिणामों की जानकारी दी। विजेताओं को प्रधानाचार्य ने पुरस्कार वितरित किए।
इससे पूर्व सरकारी अस्पताल में कार्यकारी एसएमओ एमके भादू, डॉ. मीना जिन्दल, डॉ. राहुल ने छोटा परिवार संपूर्ण विकास, छोटी लड़की खुशहाल परिवार विषय पर जानकारी देते हुए जनसंख्या स्थिरता पर बल दिया। इस मौके पर लगाए गए काऊंटर पर राज वर्मा ने लोगों को नलबंदी, नसबंदी और परिवार कल्याण के संबंध में जानकारी दी। इसके साथ ही मच्छरों के प्रति भी लोगों को जागरूक किया।

टीचर पर मामला दर्ज

डबवाली (लहू की लौ) टयूशन पढऩे गई छात्रा से छेड़छाड़ करने के आरोपी अध्यापक के खिलाफ थाना शहर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।
थाना शहर प्रभारी महा सिंह ने बताया कि किलियांवाली के अजीत नगर में रहने वाले शाम लाल गोयल की बारह वर्षीय बेटी की शिकायत पर आरोपी अध्यापक नरेश गोयल निवासी खूह वाली गली, वार्ड नं. 1, डबवाली के खिलाफ दफा 354/506 आईपीसी के तहत मामला दर्ज करके आरोपी की तालाश शुरू कर दी है।

सड़क में बने खड्डे ने ली युवक की जान

डबवाली (लहू की लौ) गांव मांगेआना के पास खड्डे में बाईक गिरने से बाईक चालक की मौत हो गई। जबकि उसके साथ बेटा उसका चचेरा भाई घायल हो गया।गांव देसूजोधा का 22 वर्षीय बेअंत सिंह पुत्र गुरचरण सिंह रविवार रात करीब 9.30 बजे अपने चचेरे भाई राजा सिंह (23) पुत्र गुलजार सिंह के साथ बाईक पर उसकी गांव मौजगढ़ में स्थित परचून की दुकान से वापिस गांव लौट रहा था। बाईक को बेअंत सिंह चला रहा था। गांव मांगेआना रोड़ पर बाईक की लाईट अचानक बंद हो गई। जिससे बाईक सड़क में बने एक खड्डे में जा गिरा। बाईक का हैंडल बेअंत सिंह की छाती में जा लगा। घटना की सूचना घायल राजा ने अपने परिजनों को दी। मौका पर आए परिजनों ने दोनों को अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल में चिकित्सक ने बेअंत सिंह को मृत घोषित कर दिया।
मामले की जांच कर रहे थाना सदर पुलिस के एएसआई छबील दास ने बताया कि राजा सिंह के उपरोक्त ब्यान पर पुलिस ने दफा 174 सीआरपीसी के तहत कार्रवाई करते हुए शव का डबवाली के सरकारी अस्पताल से पोस्टमार्टम करवाने के बाद उसे उसके वारिसों को सौंप दिया।