युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

25 फ़रवरी 2011

जुआ राशि सहित चार दबोचे


डबवाली (लहू की लौ) गांव रिसालियाखेड़ा में बड़े पैमाने पर ताश पर खेले जा रहे जुए की राशि सहित पुलिस ने चार युवकों को दबोच लिया।
गोरीवाला पुलिस चौकी प्रभारी रमेश कुमार को मुखबरी मिली थी कि गांव रिसालियाखेड़ा के सुभाष के खेत में बने कोठे में ताश पर जुआ चल रहा है। दांव पर हजारों रूपये लगाये जा रहे हैं। मौका पर भारी राशि सहित जुआ खेलने वालों को काबू किया जा सकता है।
पुलिस ने दल बल के साथ मुखबरी के आधार पर बताये गये स्थान पर छापामारी की और मौका से चार युवकों को भारी राशि सहित दबोच लिया। चौकी प्रभारी एसआई रमेश कुमार ने बताया कि मौका से पुलिस को 36 हजार 820 रूपये की राशि और ताश बरामद हुई है। पकड़े गये युवकों ने अपनी पहचान सुभाष (29) पुत्र सही राम, विनोद (25) पुत्र प्रभु राम, राजेन्द्र (23) पुत्र लेखराम निवासीगण रिसालियाखेड़ा तथा संदीप (27) पुत्र विश्वामित्र निवासी बनवाला के रूप में करवाई है।

अधिकारियों की मौजूदगी में निपटाई लोगों की शिकायतें


डबवाली (लहू की लौ) एसडीएम कार्यालय में गुरूवार को खुला दरबार आयोजित किया गया। जिसकी अध्यक्षता एसडीएम डॉ. मुनीश नागपाल ने की। दरबार में 25 शिकायतें आई। जिनका मौके पर निपटारा कर दिया गया।
खुले दरबार में उपमण्डल डबवाली के विभिन्न सरकारी विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। उपमण्डलाधीश डॉ. मुनीश नागपाल ने इन विभागों के अधिकारियों की बैठक ली और अन्तरविभागीय निर्देश दिए। इस मौके पर उन्होंने विभागीय कार्यप्रणाली की समीक्षा की और इस संदर्भ में लंबित पड़ी समस्याओं को समय पर निपटान के निर्देश दिए। विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि विभाग में जो भी कोई शिकायत लोगों की ओर से आए, उसका समय पर निपटारा किया जाए और लोगों को किसी प्रकार की असुविधा नहीं होनी चाहिए।
उपमण्डलाधीश डॉ. मुनीश नागपाल ने बताया कि खुले दरबार में कुल 25 शिकायतें प्रस्तुत हुई। जिनमें सर्वाधिक शिकायतें नगरपालिका से संबंधित थी। जिनकी संख्या 8 थी। नपा से संबंधित ये समस्याएं सफाई और स्ट्रीट लाईट को लेकर थी। खाद्य एवं आपूर्ति विभाग से संबंधित दो शिकायतें आई, जोकि विवाह समारोह में गैस सिलेंडर न मिलने संबंधी थी। कुछ शिकायतें पीले कार्ड को लेकर थी। उन्होंने बताया कि सभी समस्याओं का मौका पर निपटारा कर दिया गया।
खुले दरबार में तहसीलदार राजेन्द्र कुमार, जनस्वास्थ्य विभाग के एसडीई कंवर लाल, जेई सतपाल, स्वास्थ्य विभाग से डॉ. एमके भादू, दक्षिण हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम से एक्सीयन वीके रंजन, एसडीई गुलशन वधवा, एसडीई एग्रीकल्चर विजेन्द्र पाल, जगदीश चन्द्र, रामनिवास शर्मा सचिव नपा, भीम सिंह एसएस हरियाणा रोड़वेज, विजय कुमार इंस्पेक्टर हरियाणा रोड़वेज, डॉ. दर्शना सिंह सीडीपीओ डबवाली, मंदरूप सिंह एसआई थाना शहर डबवाली, अरविंद पूनियां इंस्पेक्टर फूड एण्ड सप्लाई ऑफिस, राज रानी क्लर्क एआर डबवाली, सुरिंद्र पाल कौर सुपरवाईजर औढ़ां, सुमित ढांडा बीआई डबवाली, अमरीक सिंह बीडीपीओ ऑफिस डबवाली, राजवीर सिंह जेई हुड्डा सिरसा, डॉ. लोकेश्वर दत्त, वीरेन्द्र कुमार कार्यकारी सचिव मार्किट कमेटी, दीदार सिंह कोच, रघुवीर सिंह एचडीओ डबवाली, शीशकरण बिनोई एसडीओ पंचायती राज डबवाली, सुशील कुमार एईटीओ सिरसा, राजेन्द्र कुमार ईटी सिरसा आदि उपस्थित थे।

पैसे दोगुणा करने के आरोपी जेल गए


डबवाली (लहू की लौ) ऑनलाईन बिजनेस के तहत रूपए दोगुणे करने का झांसा देकर लाखों रूपए की धोखाधड़ी करने के आरोप में गिरफ्तार डबवाली निवासी बलविंद्र सिंह तथा माखा निवासी अंग्रेज सिंह को दो दिन के पुलिस रिमांड के बाद थाना शहर पुलिस ने गुरूवार को उपमंडल न्यायिक दण्डाधिकारी महावीर सिंह की अदालत में पेश किया और अदालत ने उन्हें 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेजने के आदेश दिए।
मामले की जांच कर रहे थाना शहर के एएसआई सतबीर सिंह ने बताया कि रिमांड के दौरान आरोपी बलविंद्र सिंह ने स्वीकार किया है कि उसने डबवाली निवासी जसविंद्र सिंह राणा से मिलकर एक योजना के तहत गुरनाम सिंह से नगद और चैक द्वारा मैक्स फोरेक्स कंपनी में पैसा लगाने के नाम पर राशि ली थी। जोकि गुरनाम सिंह ने नकद और चैक द्वारा दी। उसने बीस प्रतिशत के हिसाब से अपना कमीशन काटकर बाकी राशि कंपनी को दे दी।
आरोपी ने यह भी बताया कि मैक्स फोरेक्स कंपनी के सीनियर एजेंट मास्टर बलविंद्र सिंह पुत्र तेजा सिंह निवासी गांव डबवाली, अविनाश खालसा पुत्र अजमेर सिंह निवासी गांव डबवाली तथा कुलदीप सिंह निवासी गंगानगर है।
दूसरी ओर अंग्रेज सिंह ने पुलिस को बताया कि मास्टर गुरनाम सिंह से उसकी मुलाकात जसविंद्र सिंह राणा ने करवाई थी। उसने फोरेक्स मैजिक कंपनी के लिए दो लाख रूपए गुरनाम सिंह से लिए थे। 20 प्रतिशत कमीशन काटकर यह राशि अपने सीनियर एजेंट मुकेश कुमार पुत्र शाम लाल निवासी कालांवाली के पास जमा करवा दी।
जांच अधिकारी ने बताया कि मामले की तह तक पहुंचने के लिए इंवेस्टीगेशन जारी है। जिनके नाम लिए गए हैं, उन्हें पुलिस पूछताछ के लिए बुलाएगी। उन्होंने यह भी बताया कि कमीशन की काटी गई राशि में से बलविंद्र सिंह से छह हजार रूपए और अंग्रेज सिंह से चार हजार रूपए की नकदी बरामद हुई है।

।संदीप मिस्टर, सोनम मिस एनपीएस चुने गए



डबवाली (लहू की लौ) नव प्रगति सीनियर सैकेण्डरी स्कूल स्कूल में दस जमा दो के विद्यार्थियों को जूनियर द्धारा रंगारंग कार्यक्रम पेश कर विदाई दी गई। जिसमें एनपीएस के निदेशक वेद भारती ने मुख्यातिथि के तौर पर शिरकत की। मुख्यातिथि ने विद्यार्थियों को आशीर्वाद देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।
कार्यक्रम का आगाज विद्यालय की प्राचार्या चन्द्रकांता भारती तथा मुख्यातिथि वेदप्रकाश भारती ने मां सरस्वती के समक्ष ज्योति प्रज्जवलित करके किया। कार्यक्रम की शुरूआत में भारतीय संस्कृति से रूबरू करवाते हुए दस जमा एक के विद्यार्थियों ने सीनियर्स व अध्यापकों को तिलक लगाए। ये जंग नहीं आसां के टाईटल पर दस जमा दो के विद्यार्थियों ने मॉडलिंग की। मॉडलिंग के आधार पर कॉमर्स ग्रुप के संदीप मिस्टर एनपीएस व सोनम मिस एनपीएस का खिताब से नवाजे गए। जबकि कॉमर्स की जश्नदीप कौर, आर्टस की संदीप कौर एनपीएस सर्वश्रेष्ठ छात्रा, सुषमा बेस्ट सोशल वर्कर, दीक्षा सिम्पलीसिटी अवार्ड, राजवीर  बेस्ट डांसर, अमनदीप कौर बैस्ट ओबीडिएंट स्टूडेंट चुने गए।
इस मौके पर राजनीतिक शास्त्र प्रवक्ता बलजिन्द्र कौर व हिन्दी प्रवक्ता नवनीत कौर ने निर्णायक की भूमिका निभाई। प्राचार्या चन्द्रकांता ने विदा हो रहे विद्यार्थियों को नसीहत देते हुए कहा कि सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता, कड़े परिश्रम से सफलता का मार्ग खुलता है। उन्होंने बच्चों को देश और समाज के प्रति अपने दायित्व व कर्तव्यों का निर्वाहन करने के लिए प्रेरित किया। मंच का संचालन कक्षा दस जमा एक की हरप्रीत, मनप्रीत कौर तथा कंप्यूटर इंस्ट्रक्टर रविन्द्र सिंह ने बखूबी किया

युवती ने लगाया मारपीट का आरोप


डबवाली (लहू की लौ) अढ़ाई साल पूर्व सामूहिक शादी कार्यक्रम में वैवाहिक बंधन में बंधे जोड़े में मामूली बात को लेकर तकरार पैदा होने से परिवार टूटने की नौबत आ गई है।
यहां की इंदिरा कलोनी में रहने वाले सुखदेव सिंह की 20 वर्षीय बेटी गुरमीत कौर की शादी ढाई साल पूर्व डबवाली में सामूहिक शादियां कार्यक्रम के दौरान गांव तिगड़ी निवासी बलवीर सिंह के बेटे तरसेम सिंह से हुई थी। दोनों का एक साल का बेटा भी है। बुधवार रात को दोनों पति-पत्नी में किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया। जिसमें गुरमीत घायल हो गई। उपचार के लिए उसके माता-पिता उसे डबवाली ले आए और यहां के सरकारी अस्पताल में दाखिल करवाया।
गुरमीत कौर (20) ने बताया कि उसका पति तरसेम सिंह (22) निवासी तिगड़ी उसे मायके जाने से रोकता है। बुधवार रात को पहले तरसेम ने उससे मारपीट कर घर से बाहर निकाल दिया। बाद में बस अड्डा से जबर्दस्ती उसे घसीटते हुए घर ले आया। घर में उससे मारपीट की। जिसमें तरसेम का सहयोग उसके पिता बलवीर सिंह तथा माता निकम्मी देवी ने किया। यहीं नहीं उसकी शादी में संस्था द्वारा दिया गया सामान भी तोड़ दिया।
इधर तरसेम के पिता बलवीर सिंह ने बताया कि गुरमीत कौर तीन-चार दिनों बाद ही अपना बैग उठाकर डबवाली की ओर मुंह कर लेती है। जब उसे समझाया जाता है, तो वह झगड़े पर उतारू हो जाती है। बुधवार रात को भी कुछ ऐसा ही हुआ। तैश में आई गुरमीत कौर ने शादी में मिला सामान तोड़ दिया।

छीनने पड़ते हैं अधिकार


गुरूनानक कॉलेज किलियांवाली में राष्ट्रीय स्तरीय सेमिनार आयोजित, वक्ता बोले
डबवाली (लहू की लौ) गुरूनानक कॉलेज किलियांवाली में बुधवार को राष्ट्रीय स्तरीय सेमिनार आयोजित किया गया। जिसका विषय था मानव अधिकारों की परिभाषा : परिप्रेक्ष्य, चुनौतियां और मौके। इस अवसर पर वक्ताओं ने मानव अधिकारों पर विस्तार से प्रकाश डाला और उपस्थित लोगों को इसके प्रति जागरूक किया। वहीं श्रोताओं द्वारा पूछे प्रश्नों के उत्तर दिए।
हम कमजोर राष्ट्र हैं?
सेमिनार के मुख्यातिथि पंजाब विश्वविद्यालय चण्डीगढ़ के एसोसिएट रीडर (कानूनी विभाग) डॉ. दविंद्र सिंह ने कहा कि हमें प्रारंभ से ही यह पढ़ाया जाता है कि हम कमजोर राष्ट्र हैं। हमारी जनता कमजोर, लाचार और गरीब है। जबकि यह बात कहने वाले स्वयं कमजोर नहीं है। इससे मानवाधिकारों की बात बेमानी हो जाती है। कागजों में मानवाधिकारों की बात तो की जाती है, लेकिन वास्तविकता में उन्हें लागू नहीं किया जाता। जिसके चलते मानव को किसी भी क्षेत्र में समानता के अवसर नहीं मिल पा रहे। जोकि मानव अधिकार का उद्देश्य है। उन्होंने बताया कि एक मजदूर आठ घंटे काम करता है और उसे सौ रूपए दिहाड़ी मिलती है। जबकि एक व्यक्ति को उसके ही विपरीत इतने ही समय की नौकरी करने पर डेढ़ लाख रूपए मिलता है। मानवाधिकारों के होते हुए यह असमानता क्यों? इसी प्रकार अध्यापक को पठन पाठन का कार्य शिक्षा के अधिकार के तहत सौंपा गया। लेकिन उसे जनगणना, चुनाव करवाने जैसे कार्य भी सौंप दिए गए। इसके चलते अध्यापक बच्चों के साथ शिक्षा के क्षेत्र में न्याय नहीं कर पाता। चूंकि उसे शिक्षा देने का समय ही कहां बचता है।
मांगो मत छीनो
सेमिनार के गेस्ट ऑफ ऑनर डॉ. मुकेश अरोड़ा सीनेटर पंजाब यूनिवर्सिटी चण्डीगढ़ ने कहा कि अधिकार मांगने से नहीं, छीनने से मिलते है। हम मानव अधिकारों की बात तो करते हैं, लेकिन ये अधिकार हमें मिले कब हैं। उन्होंने उदाहरण देते हुए बताया कि उसका मोबाइल पांच व्यक्ति छीनकर ले गए। इसकी रिपोर्ट दर्ज करवाने के लिए जब वे थाने में गए तो पुलिस ने उससे कहा कि आप से बात तभी की जाएगी, जब आप रिपोर्ट मोबाइल छीनने की नहीं, गुम होने की दर्ज करवाओगे। उनके अनुसार पुलिस कर्मी ने यह भी कहा कि अगर हम छीनने की रिपोर्ट दर्ज करते हैं, तो कागजों में क्राईम बढ़ा हुआ आएगा। जिससे उनकी प्रमोशन रूक सकती है। उन्होंने कहा कि एफआईआर दर्ज करवाने का अधिकार तो हमें मिल गया है, लेकिन सच्चाई दर्ज करवाने का अधिकार हमारे पास नहीं है।
कंट्रोलर ऑफ इग्जामिनेशन पंजाबी विश्वविद्यालय, पटियाला डॉ. पवन कुमार सिंगला ने कहा कि हमारे देश की संस्कृति और व्यवस्था ही ऐसी रही है कि हमने समूह मानव की खुशहाली की बात कही है। हमारी सभ्यता में हमेशा ही मानवाधिकारों की बात होती रही है। लेकिन जब हम गुलाम हुए तब हमारी आजादी छिन गई, हमारे अधिकार छिन गए और जब हमने अधिकार मांगे तो हमें लाठी और गोली मिली। उन्होंने कहा कि आज जो देश (इंग्लैंड) मानवाधिकारों का अपने आपको सबसे बड़ा अलंबरदार कहता है, इसी देश ने हमें डेढ़ सौ वर्ष तक गुलाम बनाकर हमारे अधिकार छीने और जब हमने अधिकार मांगे तो हमें दबाया गया। उन्होंने कहा कि आज हम ब्रिटिश साम्राज्य से धरोहर के रूप में मिली शिक्षा और कानून को लागू किए हुए हैं। जिसके चलते हमें आज मानवाधिकारों की बात करनी पड़ रही है। आज अपने आपको बदलने की जरूरत है, विद्यार्थियों का भविष्य और चरित्र बनाकर उसे मानव बनाने की जरूरत है। व्यवस्था बदलने की आवश्यकता है।
सीनियर सीनेटर पंजाब विश्वविद्यालय चण्डीगढ़ डॉ. जगपाल सिंह ने कहा कि इस समय मानव अधिकारों की बात कब हुई यह कहने की बात नहीं है। बल्कि आम आदमी को उसी की भाषा में उसके के अधिकारों और कत्र्तव्यों की बात समझाने की जरूरत है। उनके अनुसार मानव अधिकार हमारे जन्मसिद्ध अधिकार हैं। जोकि समय के अनुसार बदलते रहे हैं। आज हमें उपभोक्ता कानून और आरटीए के अधिकार मिले हैं, जो कारगर साबित हो रहे हैं।
नवांशहर से आए डॉ. विनय सोफत ने कहा कि जब तक मानव के पास अपने विशेषाधिकार हैं और वह दूसरों के अधिकारों को नहीं समझता, तब तक मानव अधिकारों की बात नहीं की जा सकती। चूंकि एक अधिकार पाने के लिए दूसरों के अधिकार को कुचलता आया है। उन्होंने इस मौके पर स्वामी विवेकानंद के शब्दों को उदृत करते हुए कहा कि महिलाओं को किसी से अधिकार मांगने की जरूरत नहीं। अगर महिलाओं को पढ़ा-लिखाकर अपने फैसले खुद लेने के काबिल बना दिया जाए, तो महिलाएं अपना अधिकार स्वयं ले लेंगी।
मीडिया भी ध्यान दे
हिसार से आए डॉ. दिनेश चहल ने महिला अधिकारों पर सटीक बात कहकर खूब तालियां बटोरी। उन्होंने व्यंग्यत्मक शैली में कहा कि शीला और मुन्नी को ही बदनाम किया जाता है, लेकिन इसके लिए राम और शाम लाल को दोषी नहीं ठहराया जाता। मीडिया पर हम दोष देते हैं लेकिन जो समाज चाहता है, मीडिया वही परोसता है। यदि मानव अधिकारों की बात करनी है, तो समाज को अपना नजरिया बदलना होगा और मीडिया को अपनी सोच बदलनी होगी। इस अवसर पर डॉ. प्रितपाल कौर आरएनएनयूएल पटियाला, डॉ. आदिती शर्मा पीयूआरसी लुधियाना, डॉ. आशुतोष शर्मा एडवोकेट पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट चण्डीगढ़, डॉ. संजीव, डॉ. प्रमोद, डॉ. सुखजीत, डॉ. जसपाल सिंह होशियारपुर, डॉ. संजीव डाबर नवांशहर ने भी मानव अधिकारों पर अपने विचार रखे। मंच का संचालन प्रियतोष ने बखूबी निभाया। इस मौके पर मेजर भूपिंद्र सिंह ढिल्लों ओएसडी सीएम पंजाब, कॉलेज प्राचार्या डॉ. इंदिरा अरोड़ा, डॉ. आशा गर्ग प्रिंसीपल एमपी कॉलेज, प्रिंसिपल एसएम देवगुण, आयोजक डॉ. भारत भूषण, प्रेम गुप्ता शाखा प्रबंधक स्टेट बैंक ऑफ पटियाला किलियांवाली, मास्टर दीदार सिंह, केशव शर्मा, पवन गर्ग, हरीश सेठी रिंका आदि उपस्थित थे।

नाके पर तैनात कर्मियों पर उठी अंगुली!



डबवाली (लहू की लौ) मलोट रोड़ नाका के पास बुधवार सुबह करीब 4 बजे एक ट्रक की टक्कर से डिवाईडर पर लगा खंबा टूट गया। खंबा क्या टूटा नाके पर तैनात पुलिस कर्मियों की बांछे खिल गई। कर्मियों ने झट से ट्रक ड्राईवर से ट्रक के कागज जब्त कर लिए और ट्रक को पास ही बनी एक मार्किट में लगा दिया।
ट्रक चालक बहादुरगढ़ निवासी दलीप कुमार (28) ने बताया कि वह साईट कटिंग लेकर ट्रक क्लीनर अखिलेश निवासी बहादुरगढ़ के साथ मुक्तसर (पंजाब) के लिए रवाना हुआ था। बुधवार सुबह करीब 4 बजे वह मलोट रोड़ पर नाका के पास पहुंचा। बैरियर समझकर वह जब ट्रक को साईड में लगाने लगा तो उसका ट्रक डिवाईडर पर लगे बिजली के खम्बे से टकरा गया। नाका पर तैनात कर्मचारियों उससे ट्रक के कागज छीन लिए और ट्रक को एक तरफ लगवा दिया।
हैरानी जनक तथ्य तो यह है कि घटना को करीब छह घंटे बीतने के बावजूद वहां तैनात कर्मियों ने इसकी सूचना किसी को नहीं दी। बल्कि यह बताते रहे कि एक अज्ञात ट्रक खम्बा में टक्कर मारकर सिरसा की ओर फरार हो गया है।
सूचना पाकर मौका पर पहुंचे पत्रकारों को नाका पर तैनात एएसआई सागर राम तथा हवलदार राजेन्द्र कुमार ने बताया कि मलोट साईड से आया एक ट्रक खम्बे में टक्कर मारकर फरार हो गया है। उन्होंने पीछा भी किया लेकिन फाटक खुला होने का लाभ पाकर चालक ट्रक को भगा ले गया। पत्रकारों ने पास की मार्किट में खड़े एक ट्रक के बारे में जब उपरोक्त पुलिस कर्मियों से पूछा तो पुलिसकर्मी हड़बड़ा गए। ब्यान पलटते हुए बोले कि ट्रक वही है। उन्होनें स्वीकार किया कि ट्रक के कागज कब्जे में लिए गए हैं।
सूत्रों की माने तो ट्रक को साईड में लगा पुलिस कर्मचारी पैसे बनाने के चक्कर में थे। लेकिन ट्रक चालक के साथ उनका सौदा पट नहीं रहा था।
वार्ड नं. 1 के पार्षद जगदीप सूर्या ने बताया कि ट्रक चालक से नगरपालिका ने नुक्सान के 1700 रूपए भरवा लिए गए हैं।
संदेह में खाकी!
ट्रक को एक साईड में खड़ा करके मीडिया कर्मियों से झूठ क्यों बोल रहे थे पुलिस कर्मचारी? घटना को हुए छह घंटे बाद भी किसी को सूचना क्यों नहीं दी? पत्रकारों के पहुंचने पर ही पुलिस कर्मियों ने नगरपालिका में सूचना क्यों दी, उससे पूर्व सूचना क्यों नहीं दी?

बदहाल सीवरेज व्यवस्था डीसी को घेरेंगे प्रेमनगर वासी


डबवाली (लहू की लौ) पिछले एक माह से बदहाल सीवरेज व्यवस्था का सामना कर रहे प्रेमनगर के लोगों ने 24 फरवरी को खुला दरबार आयोजित करने आ रहे डीसी के घेराव की चेतावनी दी है।
शहर के वार्ड नं. 7 के अंतर्गत आने वाले इस इलाके में सीवरेज चॉक पड़े हुए हैं। गंदा पानी गलियों में बह रहा है। हालात इतने बदत्तर हो गए हैं कि सीवरेज का पानी लोगों के घरों में घुस रहा है। इलाके के लोग कई दफा जनस्वास्थ्य विभाग कार्यालय के चक्कर लगाकर समस्या का हल करवाने का अनुरोध कर चुके हैं। प्रेमनगर के रहने वाले एडवोकेट शविंद्र सिंह, जगतार सिंह मास्टर, कुलजीत सिंह, हरिराम, बलजीत कौर, रामलाल, आशा रानी, बिकर सिंह फौजी, सुखदेव सिंह आदि ने बताया कि वे एक माह से बदहाल सीवरेज व्यवस्था के बीच अपना जीवन व्यतीत कर रहे हैं। विभाग के कार्यालय के रजिस्टर में कई बार शिकायत दर्ज करवा चुके हैं। लेकिन समस्या ज्यों की त्यों बरकरार है। अब सीवरेज का गंदा पानी उनके घरों में प्रवेश करने लगा है।
कर्मचारियों के चक्कर में कॉलेज से ली छुट्टी
प्रेमनगर में रह रहा कुलदीप एमएससी (आईटी) का स्टूडेंट है। इसने भी उपरोक्त समस्या को लेकर विभाग कार्यालय में शिकायत दर्ज कराई थी। शायद शिकायत पर कार्रवाई हो जाए इसी चक्कर में इसने मंगलवार को कॉलेज से छुट्टी लेकर पूरा दिन विभाग के कर्मचारियों की इंतजार में बिता दिया। लेकिन कर्मचारी नहीं आए।
घेराव की चेतावनी
इलाके के लोगों ने चेतावनी दी कि अगर 24 फरवरी को खुला दरबार लगने से पूर्व इलाके की सीवरेज व्यवस्था ठीक नहीं हुई तो वे डीसी युद्धवीर सिंह ख्यालिया का घेराव करेंगे।
जल्द होगा समाधान
इधर जब इस संबंध में जनस्वास्थ्य विभाग के जेई सुभाष से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि वार्ड नं. 7 के अंतर्गत आने वाले प्रेमनगर की मेन सीवरेज पाईप बंद पड़ी हुई है। जिसे खोलने के प्रयास किए जा रहे हैं। जल्द ही इलाके में सीवरेज व्यवस्था दुरूस्त कर दी जाएगी।

एसडीएम की पहल से टिप-टॉप होगा शहर


डबवाली (लहू की लौ) नगर की सफाई व्यवस्था को सुधारने के लिए नगरपालिका ने इसके लिए आवश्यक सामान खरीदने का निर्णय लिया है।
बुधवार को सिटी मैजिस्ट्रेट सिरसा कार्यालय में डबवाली के उपमंडलाधीश तथा प्रचेज कमेटी के चेयरमैन डॉ. मुनीश नागपाल की अध्यक्षता में प्रचेज कमेटी सदस्यों की एक बैठक हुई। जिसमें एक रिफ्यूज कम्पेक्टर, 2 ट्रेक्टर-ट्राली, एक ट्रेक्टर माऊंटेड जेसीवी, 150 नग डस्टबीन एक क्यूबिक क्षमता वाले खरीदने का प्रस्ताव पारित किया गया।
उपमंडलाधीश डॉ. मुनीश नागपाल ने बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि इस सामान सरकार की मंजूरशुदा एजेंसी की मार्फत और टैंडर मांग कर खरीदा जायेगा। उनके अनुसार इस सामान के नगरपालिका डबवाली में आने से डबवाली नगर की सफाई व्यवस्था में बड़े पैमाने पर सुधार होगा। नगर के सौंदर्यकरण में प्रशासन को मदद मिलेगी। पालिका के पास विकास कार्यों के लिए 69.71 लाख रूपये की राशि आई हुई है। इसी में से उपरोक्त सामान खरीदा जाना है।
इस बैठक में प्रचेज कमेटी सदस्य मनोज शर्मा वर्क मैनेजर हरियाणा रोड़वेज सिरसा, एनके गोयल महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र सिरसा, कुलदीप मलिक सचिव नगरपालिका डबवाली, एमई रमेश कम्बोज नगर सुधार मंडल डबवाली उपस्थित थे।

कालूआना में बनेगा ईबीबी मॉडल स्कूल


डबवाली (लहू की लौ) केन्द्र सरकार की योजना के अधीन 11वीं पंचवर्षीय योजना के प्रथम चरण में माध्यमिक शिक्षा को उच्चतम स्तर व गुणवत्ता से परिपूर्ण बनाने के लिए देशभर में 2500 मॉडल स्कूल ईबीबी (एजूकेशनली बैकवर्ड ब्लॉकस) में खोले जा रहे हैं जिसमें गांव कालूआना में भी एक विद्यालय खोला जाना है।
यह जानकारी देते हुए राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कालूआना के प्रिंसीपल सन्त कुमार ने बताया कि विद्यालय में इस सन्दर्भ में आज उनकी अध्यक्षता में एक बैठक हुई जिसमें गांव गंगा, मुन्नांवाली, दारेवाला, गोदीकां, बिज्जूवाली के प्रधानाचार्य व उच्च विद्यालय तथा ग्राम कालूआना विद्यालय प्रबंधन समिति और अध्यापक-अभिभावक संघ के पदाधिकारियों ने भाग लिया। बैठक में केन्द्रीय विद्यालय संगठन की पद्धति पर अंग्रेजी माध्यम सहशिक्षा के ईबीबी मॉडल स्कूल सीनियर सैकेंडरी स्तर के खोले जाने संबंधी जानकारी देते हुए बताया गया कि इन विद्यालयों में ग्रामीण बच्चे जो शहरों के अच्छे स्कूलों में महंगी शिक्षा प्राप्त नहीं कर सकते, दाखिला ले सकेंगे। लड़कियों के आधुनिक सुविधायुक्त 100 सीट का हॉस्टल, आधुनिक कंप्यूटर लैब, इंटरनेट सुविधा, विशाल सभागार, आवागमन सुविधा, पुस्तकालय, कला व संगीत शिक्षक, भाषा लैब, स्वास्थ्य परीक्षण सुविधा और बेहतर स्तर की खेल सुविधाएं उपलब्ध होंगी। उनके अनुसार विद्यालय के बच्चों के लिए शैक्षणिक भ्रमण, शिक्षाप्रद मेलों, प्रदर्शनियों में भ्रमण का भी प्रावधान होगा। शिक्षा का मुख्य जोर लड़कियों, एससी तथा एसटी वर्ग के लड़कों की विज्ञान, वाणिज्य व व्यवसायिक शिक्षा पर होगा। विज्ञान, गणित व अंग्रेजी पर विशेष ध्यान दिया जायेगा।
विद्यालय प्राचार्य ने बताया कि इस विद्यालय के लिए राज्य सरकार द्वारा केन्द्र सरकार की सहायता से ग्राम कालूआना में लगभग तीन करोड़ 2 लाख रूपये की राशि से उच्च स्तरीय भवन का निर्माण करने की प्रक्रिया जारी है। इस विद्यालय की प्रबंधन समिति के चेयरमैन जिला उपायुक्त होंगे। लेकिन विद्यालय हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड भिवानी से संबंंधित होगा और इसी अप्रैल माह से राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कालूआना में इसकी कक्षाएं भी शुरू हो जायेंगी।