युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

30 नवंबर 2014

शहर को एसडीएम सतीश की जरूरत, जांच करवाये सरकार

एनजीओ ने की तबादला रोकने की मांग, ई-मेल के जरिये भेजे पत्र

डबवाली (लहू की लौ) एसडीएम सतीश कुमार के तबादले पर रोक लगाने के लिये एनजीओ सक्रिय हो गये हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री, राज्यपाल सहित देश के प्रधानमंत्री को ई-मेल करके एसडीएम की डबवाली में पुन: बहाली की मांग की है। एनजीओ ने सरकार से सवाल करते हुये कहा है कि पिछले 48 वर्षों में किसी भी सरकार ने डबवाली की सुध नहीं ली। जब एक प्रशासनिक अधिकारी ने अपने कार्यक्षेत्र की सीमाएं लांघते हुये 16 से 17 घंटे जनता के हित में कार्य किया, क्या उनका तबादला जायज है?
शनिवार को एनजीओ की ओर से वियोगी हरि शर्मा, सतीश जग्गा ने एक निजी होटल में पत्रकारों से बातचीत करते हुये कहा कि वे एसडीएम सतीश कुमार का तबादला किये जाने पर सरकार के खिलाफ नहीं है। लेकिन एसडीएम सतीश कुमार शहर डबवाली की जरूरत हैं। पिछले कुछ समय में जिस तरह से उनके प्रयासों से शहर की व्यवस्था बदली है, वह कायम रखने के लिये कुछ समय के लिये उनका डबवाली में बने रहना जरूरी है। सरकार प्रशासनिक स्तर पर इसकी जांच करवाकर पता लगा सकती है।
शो मस्ट गो ऑन
एनजीओ प्रतिनिधियों ने घोषणा की कि शो ऑन रहेगा, पर्दा नहीं गिरने देंगे। उन्होंने कहा कि एनजीओ मिलकर शहर की व्यवस्था को कायम रखने में योगदान देंगे। बस उनकी यही मांग है कि एसडीएम सतीश कुमार शहर की नब्ज को समझ चुके हैं, उनके लिये व्यवस्था को कायम रखना मुश्किल नहीं है। नये वाले एसडीएम को समझने में समय लगेगा, ऐसे में लोगों को वहीं पुरानी आदत हो जायेगी।
बच्चों के भविष्य का ख्याल करे सरकार
एनजीओ ने कहा कि सरकार को किसी भी सरकारी मुलाजिम का तबादला ऐसे समय में नहीं करना चाहिये, जब उनके बच्चों की परीक्षाएं सिर पर हों। मार्च के बाद ही तबादले होने चाहिये। इस मौके पर सतपाल जग्गा, मुकेश कामरा, वेदप्रकाश भारती, नरेश शर्मा, केशव शर्मा, आत्मा राम अरोड़ा उपस्थित थे।

गुड बॉय 'झाडू वाले एसडीएम

संजय राय होंगे डबवाली के 42वें एसडीएम

डबवाली (लहू की लौ) शहर के गली-मोहल्लों में झाडू लगाकर सिटीजन को स्वच्छता का संदेश देने पर 'झाडू वाले एसडीएमÓ के नाम से मशहूर हुये एसडीएम सतीश कुमार का तबादला हो गया है। पूर्व सीएम भूपिंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व वाली सरकार ने एसडीएम सतीश कुमार को भिवानी से बदलकर डबवाली भेजा था। प्रदेश में नई बनी खट्टर सरकार ने शुक्रवार देर रात को उनका तबादला वापिस भिवानी कर दिया है। उनके स्थान पर भिवानी के एसडीएम संजय राय की नियुक्ति की है। इसे भी गनीमत ही कहेंगे जब भिवानी से सतीश कुमार का तबादला हुआ था, उस समय संजय राय ने बतौर एसडीएम भिवानी ज्वाईन किया था। एक बार फिर ऐसा होने जा रहा है। गोहाना से संबंध रखने वाले सतीश कुमार ने वर्ष 2011 में हरियाणा सिविल सर्विसज की परीक्षा पास की थी। एक साल की ट्रेनिंग के बाद उनकी नियुक्ति जीएम सिरसा के तौर पर हुई थी। महज अपने डेढ़ माह के कार्यकाल में सतीश कुमार ने रोड़वेज को पटरी पर लाने का कार्य किया। उस समय सिरसा रोड़वेज 1 करोड़ 27 लाख रूपये के घाटे में थी। उनकी नियुक्ति के बाद रोड़वेज को प्रतिदिन 1 लाख 70 हजार रूपये की कमाई होने लगी। व्यवस्था में सुधार करने के लिये सतीश कुमार ने सात कर्मचारियों को सस्पेंड किया। डेढ़ माह में रोड़वेज का घाटा 37 लाख रूपये रह गया था। इसके बाद उनकी नियुक्ति सिरसा में सीटीएम के तौर पर हुई। इस दौरान उन्होंने सिरसा की बेपटरी हो चुकी सिटी बस सेवा को संजीवनी देने का कार्य किया। 50 हजार रूपये घाटे में चल रही बस सेवा एक लाख रूपये का लाभ देने लगी। इसके साथ ही सिरसा शहर के निवासियों को एक बस की सौगात दी। सीटीएम रहते हुये उन्होंने सिरसा में ट्रेफिक पार्क तथा ड्राईविंग स्किल ट्रेनिंग सेंटर का निर्माण करवाया था। करीब एक साल बाद उनका तबादला बतौर एसडीएम भिवानी कर दिया गया। चार माह तक भिवानी के एसडीएम रहने के बाद उन्हें डबवाली भेज दिया गया। 4 सितंबर 2013 को उन्होंने पदभार ग्रहण किया।

चुनाव व्यवस्था में मिली शाबाशी
डबवाली में एसडीएम रहते हुये सतीश कुमार को लोकसभा तथा विधानसभा चुनाव करवाने का पहली बार मौका मिला। व्यवस्था के लिये चुनाव आयोग ने एसडीएम को शाबासी दी। सिरसा संसदीय क्षेत्र में वे एकमात्र चुनाव अधिकारी थे, जिनके प्रयासों को चुनाव आयोग ने सराहा।
डबवाली में रहकर पढ़ेंगे बच्चे
एसडीएम सतीश कुमार ने इस संवाददाता से बातचीत करते हुये कहा कि बड़ी बीटिया 9वीं में, छोटी 6वीं में तथा बेटा 5वीं में पढ़ता है। पिछले वर्ष तबादलों के कारण तीन स्कूल बदलने पड़े, जिससे बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हुई। इस बार भी तबादला हो गया है। जबकि उनके इग्जाम में कुछ समय शेष है। बच्चों को डबवाली में ही पढ़ाऊंगा।

साथ जायेगी भगत सिंह की फोटो
तबादला करने के बाद सरकार ने सभी अधिकारियों को 30 नवंबर को पद्भार संभालने के लिये कहा है। तबादला होने के बाद एसडीएम डबवाली स्थित कार्यालय में लगी भगत सिंह की फोटो उतारना नहीं भूले। एसडीएम सतीश कुमार ने बताया कि भगत सिंह के विचार उनके दिलों दिमाग पर इस कद्र छाये हुये हैं कि वे उनसे दूर नहीं हो सकते। मेरे पास भगत सिंह की जो फोटो है, वह मेरे साथ ही जाती है। डबवाली कार्यालय में लगी फोटो भिवानी में मेरे साथ ही तबदील हो गई है।


नये वाले मेरे से सीनियर हैं
नये एसडीएम संजय राय मेरे से काफी सीनियर है। डबवाली में अतिक्रमण के खिलाफ अभियान तथा स्वच्छता अभियान की स्थिति से मैं उन्हें वाकिफ करवाऊंगा। ताकि अभियान में कोई अड़चन न आये। स्वच्छता शहर के लोगों की आदत में शुमार होने लगी थी। अतिक्रमण के खिलाफ लोग लामबंद होने लगे थे। दो-चार माह ओर मिल जाते, तो शहर निखर जाता।
-सतीश कुमार, एसडीएम, डबवाली

इंटर स्कूल फेस्टिवल में छाया ईस्टवुड इंटरनेशनल स्कूल

डबवाली (लहू की लौ) शनिवार को ईस्टवुड इंटरनेशनल स्कूल में ब्रेन ओमेनिया के बैनर तले पहला इंटर स्कूल फेस्टिवल आयोजित किया गया। जिसमें चार विद्यालयों के 38 बच्चों ने अपनी प्रतिभा प्रदर्शित की। ओवरऑल ट्राफी मेजबान स्कूल ने अपने नाम की।
अंग्रेजी भाषा में कविता पाठ में किड्स किंगडम स्कूल की सरगम प्रथम, ईस्टवुड इंटरनेशनल स्कूल के आदित्य ने दूसरा स्थान पाया। इसी प्रतियोगिता के द्वितीय वर्ग में ईस्टवुड इंटरनेशनल की अरमन सरां पहले, बाल मंदिर स्कूल की सुरिंद्र कौर दूसरे स्थान पर रही। मौका पर दिये गये टॉपिक को दो मिनट में अपनी बात रखने के लिये बाल मंदिर स्कूल की नैनी बांसल को पहला, जबकि दूसरे ग्रुप में ईस्टवुड इंटरनेशनल स्कूल की प्रभदीप कौर को पहला स्थान मिला। प्रतियोगिता के तीसरे चरण में प्रतिभागी स्कूलों को एक घंटे का समय निर्धारित कर चेहरा उकारने के लिये कहा गया। जिसमें ईस्टवुड इंटरनेशनल स्कूल के कौशल बांसल ने पहला तथा बाल मंदिर स्कूल के मोहित शर्मा ने दूसरा स्थान पाया। कुछ समय के लिये स्टेच्यू की तरह खड़े रहने में मेजबान स्कूल की टीम ने बाजी मारी। इस प्रतियोगिता में किड्स किंगडम स्कूल कॉन्वेंट स्कूल की टीम दूसरे स्थान पर रही।
फेस्टिवल की शुरूआत ज्योति प्रज्जवलित करके की गई। इस मौके पर रामां मंडी स्थित स्टार प्लस स्कूल की प्रधानाचार्या सुधावाणी तथा गांव डूमवाली निवासी भूपिंद्र कौर सिधू ने बतौर मुख्यातिथि के तौर पर शिरकत की। दोनों ने ही प्रतियोगिता का निर्णय सुनाया। फेस्टिवल में संगीत अध्यापक विजय तथा प्रेरणा ने सूफी गीत प्रस्तुत किया। जबकि सन्नी गिरधर तथा लवदीप कौर ने गीत के जरिये फेस्टिवल में रंग भर दिये। सेंट जोसफ हाई स्कूल की हरनीश कौर ने भी स्वागत कविता के जरिये अपनी प्रस्तुति दर्ज करवाई। पंजाबी भांगड़ा ने फेस्टिवल में धमाल मचा दिया। भांगड़ा पर दर्शक नाचने को मजबूर हो गये। मंच का संचालन विद्यालय की हैड गर्ल गुरलीन कौर तथा हैड ब्वॉय गुरप्रीत सिंह ने बखूबी किया। फेस्टिवल के अंत में मेजबान विद्यालय के निदेशक संजम बादल ने विजेता बच्चों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया।

वर्तमान जीवन शैली की देन हैं गैस और तेजाब रोग से पीडि़त

जन सहारा सेवा संस्था ने लगाया कैंप, जांचे 200 मरीज

डबवाली (लहू की लौ) जन सहारा सेवा संस्था डबवाली के सहयोग से मैक्स सुपर स्पेश्यिलिटी अस्पताल, बठिंडा ने डॉ. आजेश बांसल डीएम गेस्ट्रो तथा डॉ. रोहित गोयल एमएस,ईएनटी के सानिध्य में माता कौशल्या देवी नेचर क्योर में पेट, जिगर, कान, नाक एवं गले के रोगों का मुफ्त मैडीकल चैक अप कैम्प लगाया। जिसमें 200 मरीजों का चैक अप किया गया।
मैक्स सुपर स्पैश्यिलटी अस्पताल के सीनियर एक्जीक्यूटिव महेन्द्र ङ्क्षसंह मक्कड़ तथा जन सहारा सेवा संस्था डबवाली के अध्यक्ष आरके नीना ने बताया कि शिविर में 93 रोगी गैस्ट्रो से संबंधित थे। जबकि 107 रोगी ईएनटी से संबंधित थे। गेस्ट्रो विशेषज्ञ डॉ. आजेश बांसल ने बताया कि आज उन्होंने जितने भी मरीज देखें,उनमें अधिकांश मरीज गैस तथा तेजाब से पीडि़त मिले हैं। उनके अनुसार यह रोग वर्तमान जीवन शैली की देन है। जिसमें फॉस्ट फूड का अधिक प्रयोग, समय पर भोजन न करना, भोजन में फाईबर,फ्रूट तथा सलाद का प्रयोग कम करना,मानसिक तनाव महत्वपूर्ण कारक है। उन्होंने यह भी बताया कि शूगर, मोटापा, शराब का अधिक प्रयोग काला पीलिया के कारण लीवर फैटी हो जाता है। इसका इलाज अगर समय रहते हो जाये तो ठीक है, अन्यथा रोग बढ़ जाने पर रोगी को भारी कष्ट उठाना पड़ता है।
देर सायं तक चले इस शिविर में डॉ. बांसल ने कहा कि रोगों के प्रति लोगो को जागरूक किया जाना जरूरी है। ताकि लोग समय समय पर टैस्ट करवाते रहे और बीमारी पता चलने पर उसका ईलाज भी तुरन्त करवा लें। उनके अनुसार लीवर में खराबी के कारण ही अक्सर पेट में पानी भरने की बीमारी होती है।
डॉ. रोहित गोयल ने बताया कि इस मौके पर कान, नाक एवं गले के रोगों के संबंध में जानकारी दी। मैक्स के डाक्टरों के साथ शिविर में उनके साथ 10 अन्य कर्मचारियों का स्टॉफ भी था। उन्होंने बताया कि शीघ्र ही मैक्स सुपर स्पैश्यिलटी अस्पताल की ओर से डबवाली में एक ओर मुफ्त चैकअप शिविर लगाया जायेगा।

मजबूर किसान, मंडी में फेंक रहे नरमा

डबवाली (लहू की लौ) भाव को लेकर चल रही कशमश के बीच एक बार फिर नरमा की आवक ने गति पकड़ ली है। मजबूर किसान सरकारी मूल्य पर ही नरमा बेचने को मजबूर है। अकेले इस सप्ताह का आंकलन किया जाये तो अनाज मंडी में सीजन का सबसे अधिक नरमा बिकने के लिये पहुंचा। हालांकि आवक से अभी तक पिछले वर्ष का रिकॉर्ड नहीं टूटा है।
किसान हुये मजबूर
पिछले सीजन में 28 नवंबर तक 94 हजार 527 क्विंटल नरमा की आवक दर्ज की गई थी। अबकी बार 75 हजार 787 क्विंटल नरमा बिकने के लिये पहुंचा है। 4 से 6 नवंबर 2014 तक सीसीआई ने कंट्रोल रेट 3950 रूपये में करीब 200 गांठ नरमा की खरीद की थी। कम भाव के चलते किसानों ने मंडी से दूरी बना ली। नरमा का भाव न बढ़ता देख मजबूर किसान सफेद सोने को ओने-पोने दाम में बेचने को मजबूर हो गये हैं। पिछले एक हफ्ते में सीसीआई नरमा की खरीद कर रही है। 24 नवंबर को सीजन की सर्वाधिक 5354 क्विंटल नरमा की खरीद की गई। 24 से 28 नवंबर तक 1738 क्विंटल नरमा की खरीद की जा चुकी है। सीसीआई ने गुणवत्ता के आधार पर नरमा के दो भाव तय कर दिये हैं। नरमा 3915 तथा 3950 रूपये प्रति क्विंटल की दर से खरीदा जा रहा है।

तारीख खरीद
5 नवंबर 1092
11 नवंबर 2270
12 नवंबर 1564
13 नवंबर 1815
ृ14 नवंबर 1506
17 नवंबर 2788
19 नवंबर 2675
20 नवंबर 2695
21 नवंबर 2318
22 नवंबर 1936
24 नवंबर 5354
25 नवंबर 3331
26 नवंबर 2714
27 नवंबर 3231
28 नवंबर 2904
    (क्विंटल में)

7 लाख का घाटा
इधर 4 नवंबर से मंडी में धान बिकने के लिये नहीं आ रही है। मार्किट कमेटी सीजन समाप्त मानकर चल रही है। कमेटी रिकॉर्ड पर नजर दौड़ाई जाये तो पिछले वर्ष 1 लाख 54 हजार 919 क्विंटल धान बिकने के लिये डबवाली की अनाज मंडी में पहुंचा था। जिससे मार्किट कमेटी को मार्किट फीस के रूप में 41 लाख 74 हजार 396 रूपये की आय हुई थी। इस वर्ष 1 लाख 21 हजार 847 क्विंटल रह गया है। जिससे मार्किट फीस के रूप में कमेटी को 34 लाख 12 हजार 40 रूपये प्राप्त हुये हैं। 7 लाख रूपये की मार्किट फीस कम हुई है।


यह बोले सचिव
किसान इस बात को समझ गये हैं कि नरमा का रेट बढऩे वाला नहीं। जिसके चलते वे तेजी से नरमा को मंडी में ला रहे हैं। पांच दिनों में करीब साढ़े सत्रह सौ क्विंटल नरमा खरीदा जा चुका है। कंट्रोल रेट पर सीसीआई ही खरीद कर रही है। करीब बीस दिनों से मंडी में धान नहीं पहुंचा है। काम कम पहुंचने के कारण पिछले वर्ष की अपेक्षा इस बार मार्किट कमेटी को घाटा सहना पड़ा है।
-हेतराम, सचिव मार्किट कमेटी, डबवाली

स्कूटी पर माथा टेकने जा रही दो बहनें घायल

डबवाली (लहू की लौ) शनिवार को गांव डूमवाली के नजदीक हादसे में स्कूटी सवार दो बहनें घायल हो गई। जिन्हें उपचार के लिये डबवाली के सरकारी अस्पताल में लेजाया गया।
अस्पताल में पहुंचाया
डबवाली जन सहारा सेवा संस्था के अध्यक्ष आरके नीना ने बताया कि डबवाली निवासी जगजीत सिंह नामधारी की बेटी शुभ तथा कुदरत स्कूटी पर अष्टमी के मौके पर जस्सी बागवाली स्थित मां सिद्धेश्वरी महाकाली माता मंदिर में माथा टेकने के लिये जा रही थीं। इसी दौरान पीछे से आये वाहन ने उनमें टक्कर मार दी। उपचार के लिये दोनों को डबवाली के सरकारी अस्पताल में लेजाया गया।

दुर्घटना में घायल ने दम तोड़ा

डबवाली (लहू की लौ) गांव खुईयांमलकाना के नजदीक हुये सड़क हादसे में घायल पथराला निवासी सुखदेव सिंह ने डीएमसी लुधियाना में दम तोड़ दिया। शनिवार को सदर थाना पुलिस ने डबवाली के सरकारी अस्पताल से शव का पोस्टमार्टम करवाने के बाद उसे उसके वारिसों को सौंप दिया।
बता दें कि 9 नवंबर 2014 को सुखदेव सिंह कार पर अपनी बेटी लखविंद्र कौर तथा अपने तीन दोहते-दोहतियों को छोडऩे के लिये हिसार में अपने दामाद जगजीत सिंह के पास जा रहा था। गांव खुईयांमलकाना के नजदीक एक वाहन को ओवरटेक कर आई तेजगति जीप ने उनमें टक्कर मार दी। जिससे अनियंत्रित हुई कार एक पेड़ से जा टकराई। हादसे में सुखदेव सिंह बुरी तरह से घायल हो गया था। जबकि अन्य बाल-बाल बच गये थे। प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें सिरसा रैफर कर दिया गया था। परिजन बेहतर इलाज के लिये उन्हें डीएमसी लुधियाना ले गये। उपचार के दौरान शनिवार सुबह उन्होंने दम तोड़ दिया।

देवगन ने स्टूडेंटस को बताया कौन थे शेक्सपियर

डबवाली (लहू की लौ) गुरू नानक कॉलेज किलियांवाली के अंग्रेजी विभाग की ओर से आज एक्सटेंशन लैक्चर करवाया गया। जिसमें डॉ. एसएम देवगन ने विद्यार्थियों को महान नाटककार विलियम शेक्सपियर के जीवन, उनके नाटक और रंगमंच के विषय में विस्तृत जानकारी दी। अंग्रेजी विभाग की अध्यक्षा प्रो. सुरेन्द्र कपिता ने मंच संचालन बाखूबी निभाया। प्रिंसीपल डॉ. इन्दिरा अरोड़ा  ने उनका धन्यवाद किया और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर प्रो. अर्चना ग्रोवर, डॉ. भारती, डॉ. प्रियातोष, प्रो. अमित बहल, प्रो. शिल्पा अरोड़ा, प्रो. दीपिका, प्रो. ज्योति उपस्थित थे।

आज नहीं होगी पेयजल आपूर्ति

डबवाली (लहू की लौ) मंडी किलियांवाली स्थित जलघर में मैंटीनैंस के चलते शहर के आधे हिस्से में रविवार को पेयजल की आपूर्ति नहीं होगी। यह जानकारी देते हुये जनस्वास्थ्य विभाग के कनिष्ठ अभियंता सतपाल रोज़ ने बताया कि पुराने जलघर से हर रोज करीबन 33 लाख लीटर पेयजल की आपूर्ति होती है। जिससे करीब सत्ताईस हजार की आबादी की प्यास बुझती है। पेयजल आपूर्ति बढ़ाने के लिये रविवार को जलघर में मैंटीनैंस की जा रही है। जिसके चलते पेयजल आपूर्ति बाधित होगी। सोमवार से रोजमर्रा की तरह आपूर्ति बहाल कर दी जायेगी।

जूनियर क्रिकेट प्रतियोगिता आज से

डबवाली (लहू की लौ) गांव बिज्जूवाली में ग्राम पंचायत के सहयोग से रविवार को अंडर19 जूनियर चार दिवसीय क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है।
सरपंच करेंगे शुभारंभ
जूनियर क्रिकेट क्लब के प्रधान जसपाल कैथ व सदस्य स्वर्ण मान ने बताया कि प्रतियोगिता का शुभारंभ सरपंच राजा राम बिरट करेंगे। उन्होंने बताया कि इस प्रतियोगिता में आसपास के गांवों की युवा टीमें भाग लेंगी। प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली टीम को 2100 और उपविजेता को 1100 रूपए की राशि के अलावा स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया जाएगा। उधर आयोजन समिति के सदस्यों ने प्रतियोगिता की पूर्व तैयारियों को अंतिम रूप दिया।

बनवाला में हजारों की नकदी व सामान पर हाथ साफ किया

औढ़ां (लहू की लौ) गांव बनवाला में एक किरयाना की दुकान से हजारों रुपये की नकदी व सामान पर हाथ साफ होने का समाचार प्राप्त हुआ है।
दुकानदार मनफूल राम के अनुसार उसने रोजमर्रा के अनुसार दुकान बंद कर दी थी और दुकान के पीछे बने घर में सो गया। उसने बताया कि उसके पड़ोस में रहने वाली महिला रोशनी देवी रात्रि करीब 8 बजे जब किसी के घर जाकर वापिस आ रही थी तो उसने देखा कि दुकान का गेट खुला हुआ है। जब उसने शोर मचाया तो एक व्यक्ति दुकान से निकलकर भाग लिया। शोर सुनकर काफी लोग मौके पर पहुंचकर चोर के पीछे दौड़े लेकिन चोर हाथ नहीं आया। दुकानदार के अनुसार चोर दुकान के गल्ले में रखी करीब 4500 रुपये की नकदी, गौशाला के लिए दुकान में लगे दानपात्र से 500 रुपये की नकदी व दुकान के साथ लगते कमरे से बैग में रखी 10 हजार रुपये की नकदी के अलावा दुकान से एक पुराना मोबाइल व अन्य सामान उड़ा ले गया।
शक जाहिर किया
दुकानदार ने इस चोरी का शक एक व्यक्ति पर जाहिर किया है। दुकानदार मनफूल के अनुसार चोर दीवार फांदकर घर के रास्ते दुकान में दाखिल हुआ था। वहीं उक्त व्यक्ति पर गांव के मदनलाल ने पिस्तौल दिखाने का आरोप भी लगाया है तथा ग्राम सरपंच को भी फोन पर गालियां देने का आरोप है। बताया जा रहा है कि उक्त व्यक्ति की गांव में रिश्तेदारी है इसलिए वह अक्सर यहां पर आता जाता रहता है। उधर ग्रामीणों ने दो माह पूर्व चिरंजी लाल नामक व्यक्ति के निर्माणाधीन घर से हुई 40 हजार रुपये की नकदी व 5 तोला सोने की चोरी होने का शक भी उक्त व्यक्ति पर जाहिर किया जा रहा है।

फास्ट फूड तथा प्रदूषण दे रहा बीमारियों को न्यौता

शिविर में 80 फीसदी रोग सीने में दर्द के मिले

डबवाली (लहू की लौ) फास्ट फूड से युवाओं के सीने में दर्द तथा प्रदूषण की वजह से सांस रोग बढ़ रहा है। शनिवार को अग्रवाल धर्मशाला में लायंस क्ल्ब डबवाली सुप्रीम की ओर से लगे नि:शुल्क हृदय जांच शिविर में करीब 80 फीसदी लोग ऐसे मिले। शिविर में 317 मरीजों की जांच की गई। जांच का कार्य दिल्ली हार्ट इंस्टीच्यूट से डॉ. राजीव गर्ग के नेतृत्व में 16 सदस्यीय टीम ने किया।
शिविर में हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. नीरज ग्रोवर ने दिल के रोगों से बचाव के उपाय बताए। उन्होंने कहा कि सभी को वसायुक्त भोजन खाने से बचना चाहिए। जंकफूड का प्रचलन बढऩे के कारण ही दिल की रोगियों की संख्या में बढोतरी हो रही है। क्लब के रीजन चेयरमैन इंद्र गोयल ने लायंस क्लब सुप्रीम द्वारा सामाजिक क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा की। शिविर में 234 मरीजों की ईसीजी, 80 मरीजों का पीएफटी टैस्ट व 163 मरीजों की शूगर जांच की गई। जांच के उपरांत ऑरजिया दवा कंपनी के एमडी राजीव सिंगला के सहयोग से मरीजों को दवाएं निशुल्क दी गई। इससे पूर्व शिविर का शुभारंभ व्यापार मंडल के प्रधान इंद्र जैन ने किया। जबकि अध्यक्षता वरूण सिंगला व अग्रवाल वैश्य समाज संस्था के राज्य कार्यकारिणी मैंबर राजेंद्र गर्ग ने की। क्लब सदस्य सुमन कामरा, प्रवीण गुप्ता व नूर तनेजा ने ईश वंदना से समारोह का शुभारंभ किया। पूर्व जोन चेयरमैन गुरदीप कामरा ने अतिथियों का स्वागत किया। उन्होंने लायंस क्लब संगठन के उद्देश्य व सामाजिक प्रकल्पों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। क्लब प्रधान नरेश गुप्ता ने कहा कि क्लब द्वारा भविष्य में भी इस प्रकार स्वास्थ्य शिविर आयोजित किए जाएंगे। इस मौके पर संजीव गर्ग, भूपिंद्र पाहूजा, दीपक सिंगला, संजय कटारिया, सुभाष कसवां, सतीश जग्गा, विपिन अरोड़ा, संजय कटारिया, अनु कटारिया, एमएल ग्रोवर, हरविंद्र सिंह तनेजा, इंदु पाहूजा, सुधा कामरा, मुकेश कामरा उपस्थित थे। 

एचपीएस में खेल मुकाबलों के दूसरे दिन 214 तमगों के लिए विद्यार्थियों ने दिखाया दमखम

डबवाली (लहू की लौ) स्थानीय एचपीएस सीनियर सैकेंडरी स्कूल में एचपीएस स्टडी ग्रुप के तीन दिवसिय खेल मुकाबलों के दूसरे दिन कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व मैंबर पंचायत
गुरपाल सिंह भाटी व सोहन सिंह भाटी ने की।
खेलों के दूसरे दिन 214 तमगो के लिए विद्यार्थियों ने अपना दम-खम लगाया और अपने-अपने इवेंट्स में मैडल जीते। विद्यार्थियों ने एक दूसरे का उत्साह वद्र्धन किया और खिलाडिय़ों ने कहते है हमको प्यार से इण्डिया वाले गीत पर नाच गाकर मनोरंजन किया और दिन भर की थकान को भी दूर किया। खेल परिसर को स्वच्छ रखने में भी विद्यार्थियों व समूचे स्टाफ  ने विशेष रूचि दिखाई।
इस अवसर पर आठवीं की लड़कों की 200 मीटर दौड़ में लोकिन्द्र ने सोने का, सतविन्द्र सिंह ने चांदी का तथा रोबिन ने तांबे का तमगा जीता। एलकेजी की लड़कों की फ्रॉग रेस में आरूष, वीर गुप्ता तथा निखिल ने सोने, चांदी व तांबे के तमगे जीते व लड़कियों में लक्ष्मी, साक्षी तथा वर्षा ने सोने, चांदी व तांबे के तमगे जीते। यूकेजी लड़कियों की फॉग रेस में सोफिया  ने सोने,  यशदीप कौर ने चांदी व सरमीत ने तांबे के मैडल जीते वहीं लड़कों में अभिजीत सिंह ने सोने, अरमान सिंह ने चांदी व विक्रम सिंह ग्रेवाल ने तांबे के तमगे जीते। प्रथम कक्षा की फ्रॉग रेस में लड़कियों में अवंतिका ने सोने का, उर्षिता ने चांदी  तथा नवजोत कौर ने तांबे के तमगे जीते व लड़को में धीरज पवार ने सोने, शौर्य बिश्नोई ने चांदी तथा पुष्कर सिंह ने तांबे के तमगे जीते। 
दूसरी कक्षा की लड़कों की फ्रॉग रेस में तक्षक, विशेष तथा अनमोल ने क्रमश सोने, चांदी व तांबे के तमगों को जीत का खुशी मनाई तथा लड़कियों में गुंजन, तनिशा व प्राची ने मैडल जीते व विक्टरी स्टैंड पर अपनी धाक जमाई। नौवीं व दसवीं कक्षा की लड़कियों की 200 मीटर दौड़ में किरन ने सोने का, कशिश ने चांदी का तथा अंजू ने तांबे का तमगा जीता। ग्याहरवीं तथा बाहरवीं की लड़कों की 200 मीटर दौड़ में अमृतपाल सिंह ने सोने का, प्रवेश ने चांदी का तथा अमरिन्द्र ने तांबे का तमगा जीता वहीं लड़कियों की 200 मीटर दौड़ में शिवानी ने सोने का, प्रभजोत ने चांदी का व मुस्कान ने तांबे का तमगा जीता।
 एलकेजी, यूकेजी, प्रथम तथा द्वितीय कक्षा तक की कक्षाओं की बाधा दौड़ में एलकेजी से लड़कों में निखिल, आरूष व साहेबदिल तथा लड़कियों में साक्षी, प्रणवी रानी तथा दिव्या ने सोने, चाँदी तथा ताँबें के तमगे जीते। वहीं यूकेजी से लड़कों में हरमोहिन्द्र सिंह, अंशुल गुगनानी व जनि कुमार तथा लड़कियों में रिधिमा सिंगला, मेक्षा तथा चाहत ने सोने, चाँदी तथा ताँबें के तमगे जीते। प्रथम कक्षा से लड़कों में से हेमंत भण्डारी, पुष्कर सिंह व धीरज पवार व राजन, खुशवीर सिंह व मंजीत सिंह ने तथा लड़कियों में से जाहनवीं, उर्षिटा व गीतिका ने सोने, चांदी तथा तांबे के तमगे जीते। द्वितीय कक्षा से लड़कों में से विशेष सबलानिया, तक्षक व हर्षित ने तथा लड़कियों में से रीतिका, गगनदीप व शिवानी ने सोने, चांदी तथा तांबे के तमगे जीते। द्वितीय कक्षा की 200 मीटर दौड़ में लड़कों में से अजय कुमार, अर्शदीप सिंह तथा अरमानदीप सिंह ने तथा लड़कियों में से रिंकल कम्बोज, महकप्रीत तथा नोमल ने सोने, चांदी तथा तांबें के तमगे जीते। 
तृतीय कक्षा की बाधा दौड़ में लड़कियों में रीटा, टीशा व चाहत तथा लड़कों में संयम, वंश सेठी तथा पीयूष शर्मा ने क्रमश: सोने, चांदी व तांबे के तमगे जीते। चतुर्थ कक्षा की बाधा दौड़ में शबनव प्रीत ने सोने का, विश्वदीप कौर ग्रेवाल ने चांदी का तथा जीनू कुमारी ने तांबे का तमगा जीता। पांचवीं कक्षा की शाट-पुट में लड़कों में से तुषार ने सोने का, तृप्त सचदेवा ने चांदी का तथा रजत ने तांबे का तमगा जीता। 
लम्बी कूद में छटी कक्षा से लड़कियों में से जयश्री, रिया तथा कुदरत ने सोने, चांदी तथा तांबे के तमगे जीते तथा इसी कक्षा की रिले दौड़ में से दीक्षांत, अंकुश, कौशल व साजन की टोली ने सोने का तथा आशीष वर्मा, खुशप्रीत, एकांत सुथार तथा ब्रिजेश कुमार ने चांदी का तथा नवदीप सारन, अमृतपाल सिंह, रूपिन्द्र सिंह व राहुल सिंह ने तांबे का तमगा हासिल किया। आठवीं कक्षा के गोला फेंक प्रतियोगिता में हर्ष रूपल, हर्ष कुमार तथा सोयब ने सोने, चांदी तथा तांबे के तमगे जीते। 
नौवीं व दसवीं कक्षा लम्बी कूद में संजीव कुमार, गुरप्रीत सिंह व कुलदीप सिंह ने सोने, चांदी तथा तांबे के तमगे जीते। नौवीं दसवीं शॉटपुट इवेंट में कौशल, अखिल कुमार तथा शेरू ने सोने, चांदी तथा तांबे के तमगे जीते। ग्याहरवीं व बाहरवीं कक्षा की 400 मीटा दौड़ में अमरिन्द्र सिंह ने सोने का, प्रवेश ने चांदी का तथा राहुल ने तांबे का तमगा जीता। इसी कक्षा की बाधा दौड़ में लड़कियों में सुमन देवी ने सोने का काजल ने चांदी का तथा पल्लवी रानी ने तांबे का तमगा जीता। 
इस अवसर पर ताकत सिंह, नीरज कुमार, श्रबनम, सिकन्दर सिंह ने भी बच्चों को तमगे पहना कर सम्मानित किया।

30 Nov. 2014