युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

08 नवंबर 2010

जीजा-साला दो दिन के रिमांड पर

डबवाली। शराब ठेका के करिंदे के हत्यारोपी जीजा-साला को पुलिस ने रविवार को अदालत में पेश किया। अदालत ने दोनों आरोपियों को दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेजने के आदेश दिए। उल्लेखनीय है कि 30 सितंबर को अज्ञात व्यक्तियों ने शेरगढ शराब ठेका ब्रांच के सेल्जमेन कृष्ण पुत्र राममूर्ति निवासी धारनिया जिला फतेहाबाद की सिर में ईंटे मार कर हत्या कर दी थी। थाना शहर पुलिस डबवाली ने मृतक के पिता राममूर्ति के ब्यान पर 1 अक्तूबर 2010 को भादंसं की धारा 302,379 के तहत अभियोग दर्ज कर घटना की जांच शुरू की। थाना शहर प्रभारी इंस्पेक्टर बलवंत सिंह जस्सू ने बताया कि पुलिस को मुखबरी मिली थी कि 30 सितंबर की रात को शेरगढ़ रकबा में देसी शराब ठेका के करिंदे कृष्ण कुमार पुत्र राममूर्ति निवासी धारणियां की हत्या करने वाले डबवाली क्षेत्र में घूम रहे हैं। मुखबरी के आधार पर पुलिस ने दो युवकों को हिरासत में ले लिया और पूछताछ के दौरान हिरासत में लिए गए युवकों ने इस बात को स्वीकार किया कि उन्होंने करिंदा की सिर में ईंट मारकर हत्या की है। हत्या आरोपियों ने अपनी पहचान स्वराज उर्फ सागा (19) पुत्र नछत्तर सिंह निवासी बडिंगखेड़ा और बलकरण सिंह उर्फ बग्गी (25) पुत्र जगराज सिंह उर्फ गोलू निवासी गांव मलवाला थाना रामां मण्डी के रूप में करवाई। थाना प्रभारी के अनुसार स्वराज उर्फ सागा ने स्वीकार किया कि उसने कृष्ण की ईंट मारकर हत्या की थी। इससे पूर्व उन्होंने ठेका से एक पौवा शराब खरीदी थी और इसे पीने के बाद शराब की ओर मांग की। लेकिन करिंदे ने यह कहकर शराब देने से इंकार कर दिया कि उसे नींद आ रही है। वह सुबह आएं। इसी तैश में आकर उन्होंने सोये हुए करिंदा की हत्या कर दी तथा उसकी जेब में रखी ठेका की चाबी निकालकर ठेका का ताला खोलकर गल्ले में पड़ी नकदी चुरा ली और फरार हो गए। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार करके गहन-पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस को संदेह है कि इन हत्यारों से इस संबंध में और भी सुराग मिल सकता है। पुलिस ने यह भी बताया कि बलकरण सिंह स्वराज का बहनोई है। दोनों आरोपियों को डबवाली पुलिस ने रविवार को अदालत के सम्मुख पेश किया। अदालत ने दोनों आरोपियों को दो दिन के रिमांड पर भेजने के आदेश दिए।

कोई टिप्पणी नहीं: