युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

28 नवंबर 2010

लड़कियों के स्कूल के बाहर हंगामा

डबवाली (लहू की लौ) शुक्रवार देर शाम को राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के बाहर सड़क पर छात्राओं द्वारा साईकिलें खड़ी करने की मामला इतना तूल पकड़ गया कि विद्यालय के मुख्य अध्यापक और आसपास के परेशान लोग आमने-सामने आ गये।
भड़के लोगों ने प्रिंसीपल को शाम करीब साढ़े छह बजे विद्यालय के पास घेर लिया। उस पर नशे में होने का आरोप लगाते हुए उसे मारने को दौड़े लेकिन उसने भाग कर एक मकान में छुप कर जान बचाई। कांग्रेसी नेता इन्द्र जैन, मुनीष जैन, गुरबचन, सुनील कुमार आदि ने बताया कि स्कूल प्रिंसीपल ने साईकिलों को स्कूल के बाहर खड़े करने की उपमंडलाधीश को शिकायत करने के बाद उनसे दुव्र्यवहार किया और नशे में धुत्त होकर गाली-गलौच किया।
वार्ड नं. 2 के निवासी गुरबचन दास पुत्र प्रभु दयाल ने थाना शहर पुलिस डबवाली में एक दरख्वास्त देकर आरोप लगाया कि वह लोग उपमंडलाधीश डबवाली को स्कूल के सामने सड़क पर खड़ी साईकिलों को हटवाने के लिए मिले, इस पर स्कूल का मुख्य अध्यापक इन्द्रजीत सागवान उनको गाली-गलौच करने लगा तथा शराब पीकर जान से मारने की धमकियों पर उतर आया।
इधर विद्यालय के पिं्रंसीपल इन्द्रजीत सागवान ने इस बात को स्वीकार किया कि साईकिल खड़े करने को लेकर उनका कुछ लोगों से झगड़ा हुआ है लेकिन उन्होंने शराब पीये होने से इंकार किया। उन्होंने बताया कि उपमंडलाधीश डॉ. मुनीश नागपाल ने भी उनसे साईकिलों को खड़े करने संबंधी व्यवस्था करने के लिए कहा है। उन्होंने यह भी बताया कि साईकिलों का मामला आने पर उन्होंने गली में लगे जनरेटरों को भी हटवाने की मांग उपमंडलाधीश के समक्ष रखी थी। इसी मामले को लेकर कुछ लोग उसके पीछे पड़े हुए हैं। उसकी किसी के साथ लड़ाई नहीं है।
विद्यालय की शिक्षा समिति के सदस्य तथा वार्ड नं. 1 के पार्षद जगदीप सूर्या ने बताया कि विद्यालय के बाहर छात्राओं द्वारा साईकिल खड़े करने से यातायात में बाधा आती है और इससे इस क्षेत्र के दुकानदार तथा निवासी परेशान होते हैं। इसको मद्देनजर रखते हुए मंगलवार से साईकिलों को विद्यालय के भीतर खड़े करने की व्यवस्था कर दी जायेगी।
थाना शहर पुलिस प्रभारी इंस्पेक्टर बलवन्त जस्सू ने बताया कि उनके पास शिकायत आई है और दोनों पक्षों को थाना में बुलाया गया है। उसके बाद ही कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।

कोई टिप्पणी नहीं: