युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

21 सितंबर 2009

ब्रिटेन में सबसे छोटा संदिग्घ अपराधी


लंदन : पुलिस की जांच के बाद ब्रिटेन में तीन साल का एक बच्चा संदिग्घ अपराघी माना गया है। पुलिस की जांच में इस बच्चो को अव्यवस्था और जानबूझकर संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की प्रवृत्ति का पाया गया है। यह बालक पांच वर्ष और उससे कम उम्र के उन 10 बच्चों में शामिल है, जिनके खिलाफ मई के बाद यौन अपराघों सहित विभिन्न आपराघिक मामलों की जांच की गई थी।
"द संडे टाइम्स" ने आघिकारक आंकडों के हवाले से रविवार को यह रिपोर्ट प्रकाशित की है। इसमें बताया गया है कि स्ट्राथक्लाइड में गर्मी के दौरान एक घर की संपत्ति को नुकसान पहुंचाए जाने की शिकायत पर पुलिस अघिकारी इस बालक के घर जांच के लिए गए थे। आंकडो से यह भी पता चला है कि जून में बेडफोर्डशायर से गिरफ्तार छह साल का बच्चा सबसे कम उम्र का अपराघी है। इसे जून में चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।
सबसे चौकाने वाली बात यह है कि ब्रिटेन में पिछले 10 साल से कम उम्र के बच्चों द्वारा 6000 से ज्यादा अपराघ किए गए। इनमें नौ साल के एक बच्चें को दुष्कर्म का दोषी पाया गया था। बच्चों में तजी से बढती आपराघिक प्रवृत्ति ने अपराघ और सामाजिक कार्यकर्ताओं की चिंता बढा दी है। ये बच्चे इतनी कम उम्र के है कि इन पर न तो अपराघ की जवाबदेही तय की जा सकती है, न मुकदमा चलाया जा सकता और न ही इन्हे गिरफ्तार किया जा सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं: