युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

21 सितंबर 2009

कम्प्यूटर शिक्षकों पर ज्यादतियों के खिलाफ प्रदर्शन


डबवाली (लहू की लौ) कम्प्यूटर एजूकेशन एण्ड सोशल वैल्फेयर सोसायटी के सभी प्रशिक्षित व डिग्री धारकों व अन्य डिप्लोमा धारकों ने रविवार को अनाज मण्डी रोड़ पर कम्प्यूटर शिक्षकों के साथ हो रही ज्यादतियों के विरोध में हरियाणा सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की। इस मौके पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए सोसायटी के प्रधान भजन मैहता ने कहा कि एक तरफ तो प्रदेश सरकार हरियाणा को नम्बर एक राज्य घोषित कर रही है, दूसरी तरफ हरियाणा में सबसे ज्यादा कम्प्यूटर शिक्षक ही हैं जो सबसे बेरोजगार हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि वर्तमान में कम्प्यूटर एक आवश्यक विषय है, जिसे हरियाणा सरकार अनदेखा कर रही है। मैहता ने यह भी कहा कि सरकार राज्य के प्रत्येक सरकारी विद्यालय में कम्प्यूटर लैब तो प्रदान कर रही है, लेकिन लैब में छात्र-छात्राओं को शिक्षा देने के लिए एक भी कम्प्यूटर डिग्री धारक नहीं है। बल्कि इन विद्यालयों में विद्यार्थियों को शिक्षा देने के लिए निजी बेसिक कोर्स किये गये शिक्षक लगाये जा रहे हैं। उन्होंने मांग की कि कम्प्यूटर शिक्षकों को प्रोत्साहित करके रिक्त पड़े पदों को भरा जाये ताकि कम्प्यूटर शिक्षक भी अपना भविष्य सुरक्षित कर सकें। इस अवसर पर सोसायटी के तरूण बिश्नोई, अनिल शर्मा, सुनील सेठी, मकुश शेखावत, पवन मैहता, अंशुल ग्रोवर, विपिन ग्रोवर व अन्य सोसायटी के सदस्य उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: