युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

29 नवंबर 2014

जुर्माना तीस को, भरने आये दो

जुर्माना न भरने वालों के खिलाफ अदालत में जायेगी नगर परिषद

डबवाली (लहू की लौ) अतिक्रमण के खिलाफ चल रहे हल्ला बोल अभियान के तहत प्रशासन का रवैया लगातार तीखा होता जा रहा है। बृहस्पतिवार को एसडीएम को चैलेंज करके रेहड़ी लगाने का प्रयास कर रहे रेहड़ी मालिकों का प्रयास धरा का धरा रह गया।
प्रशासन सतर्क रहा
बुधवार शाम को नगर परिषद कार्यालय में हुये हंगामे के बाद प्रशासन सतर्क रहा। वीरवार सुबह करीब साढ़े 7 बजे सीनेटरी इंस्पेक्टर अविनाश सिंगला ट्रेक्टर-ट्राली को लेकर सब्जी मंडी में पहुंच गये। जिसे देखते ही रेहड़ी मालिक फरार हो गये। सब्जी मंडी के भीतर रेहड़ी लगाने का प्रयास कर रहे लोग भी खदेड़ दिये गये। बृहस्पतिवार देर शाम तक सब्जी मंडी क्षेत्र खुला-खुला नजर आया। उधर हल्ला बोल अभियान के तहत नगर परिषद के एमई जयवीर डुडी ने चौटाला रोड़ तथा न्यू बस स्टैंड रोड़ पर पांच अतिक्रमणकारियों के चालान काटे। दुकानदारों को तीन दिन के भीतर जुर्माना भरने का समय दिया गया है।
शहर में लगाई जा रही सफेद पट्टी : अतिक्रमण के साथ-साथ प्रशासन बाजार में आड़े-तिरछे लगने वाले वाहनों पर भी नकेल कसने जा रहा है। इसी कड़ी में मुख्य बाजार में सफेद पट्टी लगाई गई है। दुकानों के आगे वाहन खड़ा करने के लिये छह फुट जगह छोड़ी गई है। पट्टी से बाहर वाहन मिलने पर कार्रवाई अमल में लाई जायेगी। वहीं सब्जी मंडी क्षेत्र से हटाई गई रेहडिय़ों की जगह पर मुख्य बाजार के बीचों-बीच करीब तीन फुट चौड़ा तथा 1000 फुट लंबा डिवाईडर तैयार किया जा रहा है। डिवाईडर में प्रत्येक 200 फुट पर एक स्ट्रीट लाईट लगाई जायेगी।
रिकवरी वैन की योजना
नगर परिषद के एमई जयवीर डुडी ने बताया कि सफेद पट्टी के बाद रिकवरी वैन लाने की योजना पर कार्य चल रहा है। ताकि पट्टी से बाहर मिलने वाले वाहन को उठाकर चालान किया जा सके। डुडी ने बताया कि सफेद पट्टी कलोनी रोड़ तथा न्यू बस स्टेंड रोड़ पर लगाने की भी योजना है। बृहस्पतिवार को अतिक्रमण के खिलाफ अभियान के दौरान पांच दुकानदारों के चालान काटे गये हैं।

इंतजार में बीते दो हफ्ते
हल्ला बोल अभियान के तहत नगर परिषद पिछले दो हफ्तों में 30 अतिक्रमणकारियों के चालान काट चुकी है। जुर्माना भरने के लिये महज तीन दिन का समय था। चेतावनी के बावजूद महज दो दुकानदार ही जुर्माना भरने के लिये नगर परिषद कार्यालय में पहुंचे हैं। जिनसे नगर परिषद ने जुर्माने के तौर पर 1000 रूपये तथा 1200 रूपये वसूल किये हैं।
कोर्ट में जाएगी नप
नगर परिषद सचिव ऋषिकेश चौधरी ने बताया कि जुर्माना भरने वाले अतिक्रमणकारियों को तीन दिन का समय दिया गया था। करीब दो हफ्ते हो चले हैं। ऐसे अतिक्रमणकारियों के खिलाफ नप अदालत का दरवाजा खटखटाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं: