युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

10 दिसंबर 2014

इनेलो के सवाल, सचिव ने पूर्व चेयरमैन को घसीटा


नगर परिषद कार्यालय के अतिक्रमण पर उठाई अंगुली


डबवाली (लहू की लौ) मंगलवार को इनेलो कार्यकर्ताओं ने नगर परिषद कार्यालय के आगे धरना देकर हरियाणा सरकार तथा नगर परिषद के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुये प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि स्वच्छता अभियान की आड़ में नगर परिषद अधिकारी तथा कर्मचारी अपनी कारगुजारियों पर पर्दा डालने में लगे हैं। लोगों की मर्जी के बगैर ऐसी गलियों को तोड़ा जा रहा है, जो एकदम सही हैं। अनाप-शनाप नियम थोपकर उनका पुन: निर्माण नहीं करवाया जा रहा। नप सचिव ने इनेलो समर्थित पूर्व चेयरमैन को घसीटते हुये आरोपों को निराधार करार दिया।
सुबह करीब 11 बजे इनेलो कार्यकर्ता रणवीर राणा, मदन गुप्ता, दर्शन मोंगा, दीपक बागड़ी के नेतृत्व में नगर परिषद कार्यालय के समक्ष एकत्रित हुये। कार्यकर्ताओं ने धरना देकर नप तथा हरियाणा सरकार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। धरनारत कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुये इनेलो नेता रणवीर राणा ने कहा कि वार्ड नं. 3 की पुन्नू लाल वाली गली की हालत बिल्कुल ठीक थी। गली वासियों की मर्जी के बगैर नगर परिषद ने जेसीबी चला दी। जिसका निर्माण आज तक नहीं हुआ है। दूसरी ओर शिव चौक के नजदीक स्थित काली माता मंदिर वाली गली को बनाने के लिये लोग पिछले ढाई वर्षों से संघर्षरत है, कई बार शपथपत्र दे चुके हैं। लेकिन आज तक सुनवाई नहीं हुई। अब स्वच्छता अभियान की आड़ में अधिकारी तथा कर्मचारी मनमर्जी से कार्यालय पहुंच रहे हैं। लोग शिकायत लेकर आते हैं, उनसे दुव्यर्वहार किया जाता है।
नप ने खुद कर रखा अतिक्रमण
इनेलो कार्यकर्ताओं ने सवाल खड़ा किया कि पूरे शहर में अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चल रहा है, जोकि अच्छी बात है। लेकिन नप खुद अतिक्रमण करने पर लगी है। कार्यालय के आगे 11 से 12 फुट लंबी-चौड़ी थेहड़ी बनी साफ दिख रही है। यहीं नहीं कार्यालय का बोर्ड भी सड़क पर है। यह अतिक्रमण किसी को दिखाई नहीं दे रहा। धरनारत कार्यकर्ताओं को समझाने के लिये पहुंचे एमई जयवीर डुडी को खूब खरी-खोटी सुननी पड़ी। इनेलो कार्यकर्ताओं ने चेतावनी भरे शब्दों में एमई को कहा कि अगर समस्याओं का जल्द समाधान नहीं किया गया तो वे अगला धरना गांधी चौक में देंगे। जिसकी जिम्मेवारी नप की होगी। दोपहर बाद करीब दो बजे इनेलो कार्यकर्ताओं ने धरना उठा लिया।
इनेलो के सवालों पर नप सचिव ऋषिकेश से सीधी बात
सवाल : आरोप है कि शपथपत्र देने के बावजूद काली माता मंदिर की गली को नहीं बनाया गया, ऐसा क्यों?
सचिव : गली को पक्की करने का प्रस्ताव हाऊस की बैठक में लाया गया था। उस समय चेयरमैन इनेलो के ही टेकचंद छाबड़ा थे। टैंडर के बाद गली बननी है।
सवाल : सफाई अभियान की आड़ में शाम 4.30 बजे ऑफिस पहुंचने का आरोप है?
सचिव : सफाई अभियान चल रहा है। इसमें शक नहीं। लेकिन पब्लिक की कोई शिकायत पेंडिंग नहीं। एक भी काम न हुआ हो, तो मैं जिम्मेवार हूं।
सवाल : कुछ समय पहले किराया वसूलने के नाम पर 50 रूपये प्रतिदिन के हिसाब से जुर्माना वूसला गया था, उसका क्या बना?
सचिव : हां, ऐसा हुआ था। लेकिन वह किरायेदारों के किराये में एडजस्ट कर दिया गया है।
सवाल : सब्जी मंडी में डिवाईडर का निर्माण किया जा रहा है, कुछ समय पहले ऐसा हुआ था, क्या वह टिक पायेगा?
सचिव : जो डिवाईडर पहले बना था, उसमें कुछ खराबी रही होगी, जिसके चलते उसे समाप्त करना पड़ा। अब जो डिवाईडर बन रहा है, वह लोगों की आकांक्षाओं के अनुरूप बनाया जा रहा है। जोकि सही है।
सवाल : वार्ड नं. 3 की एक गली को खोदे करीब डेढ़ माह हो चुका है, कब बनेगी?
सचिव : देखिये, तत्कालीन उपमंडलाधीश सतीश कुमार ने बैठक में प्रस्ताव पारित किया था कि बिना थहड़े तोड़े गली का निर्माण न किया जाये। इस मामले में भी गली के लोगों ने थहड़े नहीं हटाये हैं, जिसके चलते गली का निर्माण नहीं शुरू हुआ। जब तक थहड़े नहीं हटाये जाते तब तक ऐसा ही रहेगा।
सवाल : नप कार्यालय के आगे अतिक्रमण है?
सचिव : लोगों को एतराज है तो थेहड़ी हटवा दी जायेगी। बोर्ड भी हटवा दिया जायेगा।

कोई टिप्पणी नहीं: