युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

24 मार्च 2011

बहुचर्चित चंद सिंह बराड़ हत्याकांड के केस की पैरवी के लिए सिरसा जा रहे कांग्रेस नेता पर फायरिंग


डबवाली (लहू की लौ) बहुचर्चित युवा कांग्रेस नेता चंद सिंह बराड़ हत्याकांड के संबंध में सिरसा की अदालत में चल रहे केस की पैरवी करने के लिए सफारी गाड़ी पर जा रहे बराड़ के भाई जग्गा सिंह बराड़ पर औढ़ां और गांव पन्नीवाला मोटा के बीच कुछ लोगों ने अंधाधुंध फायरिंग की। जिसमें बराड़ का एक साथी घायल हो गया।
29 अप्रैल 2006 को गंगा-मुन्नांवाली रोड़ पर तत्कालीन ब्लाक युवा कांग्रेस प्रधान चंद सिंह बराड़ की गोली मारकर कुछ लोगों ने हत्या कर दी थी। हत्यारे बराड़ को घर से जमीन दिखाने का बहाना लगाकर कार में ले गए थे। उन लोगों ने बराड़ से ताप बिजली घर लगाने के लिए जमीन खरीदने की बात की थी। उस समय चंद सिंह बराड़ के भाई जग्गा सिंह बराड़ के ब्यान पर थाना सदर पुलिस डबवाली ने विनोद अरोड़ा, प्रदीप गोदारा, राकेश कुमार, बिमल गोयल, सुशील सैनी सिरसा, शाह आलम और नेपाली बगैरा के खिलाफ चंद सिंह बराड़ की हत्या के आरोप में केस दर्ज किया था।  शाह आलम और नेपाली यूपी पुलिस से मुठभेड़ में मारे जा चुके हैं। यह केस अब जिला सिरसा की सैशन अदालत में चल रहा है। गुरूवार को इसी केस की पैरवी करने के लिए जग्गा सिंह बराड़ अपनी सफारी गाड़ी पर अपने साथियों के साथ सिरसा जा रहा था। जग्गा सिंह बराड़ ने औढ़ां पुलिस को दिए ब्यान में बताया कि इस दौरान उनके साथ एक अन्य जेन कार में उसके साथी सवार थे। जब वे औढ़ां-पन्नीवाला मोटा बिजलीघर के समीप पहुंचे तो पीछे से आ रही एक बोलेरो गाड़ी ने ओवरटेक कर उसकी गाड़ी को रूकवा लिया। बोलेरो सवार हथियारबंद लोगों ने उस पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। जोकि उसकी सफारी गाड़ी में लगी। साथ में उसके साथ जा रही जेन कार में लगी।
जग्गा के अनुसार इस दौरान उसके बचाव के लिए आए उसके भानजे जसवीर सिंह के दोस्त लखवीर सिंह (27) पुत्र सुखदेव सिंह के पैर में गोलियां लगी। जिसे उपचार के लिए डबवाली के सरकारी अस्पताल में लेजाया गया।
घायल लखवीर सिंह ने बताया कि वह जग्गा सिंह बराड़ की सफारी गाड़ी के पीछे जेन कार में था। उसने देखा कि बराड़ की सफारी गाड़ी पर एक बोलेरो गाड़ी से उतरे लोग अंधाधुंध फायरिंग कर रहे हैं। वह जैसे ही बराड़ को बचाने के लिए दौड़ा तो उसके पैर की दो अंगुलियों में गोलियां लगी। जिससे उसकी दो अंगुलियां क्रेश हो गई। लखवीर सिंह ने बताया कि आरोपी करीब आधा घंटा तक गोलियां चलाते रहे।
सूचना पाकर घटना स्थल पर जिला पुलिस अधीक्षक सतिन्द्र गुप्ता, डबवाली के उपपुलिस अधीक्षक बाबू लाल भी मौका पर पहुंचे और उन्होंने घटना स्थल का निरीक्षण किया।
थाना औढ़ां पुलिस के प्रभारी हीरा सिंह ने बताया कि पुलिस ने घटना स्थल से एक बोलेरो गाड़ी व गोलियों के खाली खोल बरामद किए हैं। फायरिंग में घायल लखवीर पुत्र सुखदेव निवासी डबवाली को डबवाली अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती करवाया है। जग्गा सिंह बराड़ के ब्यान पर चौटाला निवासी छोटू राम पुत्र संत लाल, नवनीत पुत्र रामकुमार नुहियांवाली, कर्मजीत सिंह पुत्र जमीत सिंह, हरपाल पुत्र बलदेव निवासी मटदादू के खिलाफ जानलेवा हमला करने के आरोप में भादंसं की दफा 307/148/149 व आम्र्ज एक्ट की विभिन्न दफाओं के तहत मामला दर्ज करके उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों से 315 बोर की दो राईफल व दो रिवॉल्वर भी बरामद किए गए हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: