युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

24 मार्च 2011

मानसिक परेशानी में गाड़ी के आगे कूदा


डबवाली (लहू की लौ) कबीर बस्ती (पंजाब) के नजदीक गाड़ी के आगे कूदकर एक युवक ने जान दे दी। जिसकी पहचान गांव पन्नीवाला मोटा निवासी सतबीर उर्फ जगजीत (40) के रूप में हुई है।
मंगलवार सुबह करीब 5 बजे रेलवे में की-मैन के पद पर तैनात कन्हैया लाल रोजमर्रा की तरह लाईनों की चैकिंग कर रहा था। कबीर बस्ती के निकट लाईनों में उसे एक शव पड़ा दिखाई दिया। उसने तुरंत इसकी जानकारी स्टेशन मास्टर को दी। स्टेशन मास्टर की सूचना डबवाली जन सहारा सेवा संस्था के सदस्य मौका पर पहुंचे। इधर इसकी सूचना पाकर जीआरपी बठिंडा को दी गई।
जीआरपी बठिंडा के एएसआई गुरमेल सिंह ने मौका पर पहुंचकर युवक के शव को कब्जे में लिया और उसकी जेब तालाशी के दौरान पर्स से मिले मतदाता पहचान पत्र और लाईसेंस के आधार पर उसकी पहचान सतबीर उर्फ जगजीत पुत्र अमर सिंह निवासी पन्नीवाला मोटा के रूप में हुई। एएसआई की सूचना पाकर मृतक का भाई सुभाष मौका पर पहुंचा।
सुभाष (44) ने बताया कि बीती 22 तारीख को गांव के एक युवक लाधू राम की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत हो गई थी। जिसमें उसके भाई सतबीर का नाम घसीटा जा रहा था। पुलिस द्वारा मामले की जांच चल रही है। इसकी को लेकर उसका भाई मानसिक रूप से परेशान था। इसी परेशानी के चलते सोमवार शाम को अचानक घर से गायब हो गया और कबीर बस्ती (पंजाब) के पास गाड़ी के नीचे आकर जान दे दी।
मामले की जांच कर रहे जीआरपी बठिंडा के एएसआई गुरमेल सिंह ने बताया कि पुलिस को मृतक सतबीर के भाई सुभाष निवासी पन्नीवाला मोटा ने ब्यान दिया है कि मानसिक परेशानी के चलते उसके भाई ने गाड़ी के आगे आकर जान दी है। पुलिस ने इस आधार पर दफा 174 सीआरपीसी के तहत कार्रवाई करते हुए शव का बठिंडा के सरकारी अस्पताल से पोस्टमार्टम करवाने के बाद शव को उसके वारिसों को सौंप दिया।

कोई टिप्पणी नहीं: