युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

24 मार्च 2011

एटीएम बदलकर पुलिस कर्मी के खाता से हजारों उड़ाए


डबवाली (लहू की लौ) थाना रोड़ी के पुलिस कर्मचारी का एक नटवर लाल ने केवल एटीएम बदल कर उसकी राशि ही नहीं उड़ाई बल्कि उसके खाते में किसी ओर की राशि डालकर उसे धोखादेही के आरोप में भी ऐसा फंसाया कि वह अब न्याय के लिए दर दर की ठोकरे खा रहा है।
थाना रोड़ी के ईएचसी लीलू राम ने पुलिस अधीक्षक सिरसा को भेजे पत्र में कहा है कि  उसके खाता संख्या नं. 10587031763 स्टेट बैंक ऑफ इण्डिया, सिरसा में है। जिसमें विभाग द्वारा उसका वेतन जमा होता है। वह अपने बच्चों सहित थाना शहर डबवाली में बने सरकारी क्वार्टर में रहता है और थाना रोड़ी में नियुक्त है। 15/11/2010 को अपने एटीएम कार्ड से अपने खाते से 2000 रूपये निकलवाने के लिए भारतीय स्टेट बैंक में गया तो वहां का एटीएम खराब था। पैसे की जरूरत के चलते डबवाली के साथ लगते किलियांवाली के स्टेट बैंक ऑफ पटियाला के एटीएम में गया तो भीतर पहले से ही एक जवान लड़का उम्र 24-25 साल का खड़ा था। उसने एटीएम मशीन में राशि निकालने के लिए अपना एटीएम कार्ड नं. 622018 प्रयोग किया तो सहीं नहीं लगा। इस पर वहां खड़े युवक ने उसका एटीएम कार्ड लिया और मशीन में लगाने के बाद बटन दबाने के लिए कहने लगा। उसके कोड लगाते ही 2000 रूपये की राशि निकल गई और वह कार्ड लेकर घर आ गया। लेकिन उसने अपना खाता चैक नहीं किया।
इंसाफ मांग रहे इस पुलिस कर्मी ने बताया कि 25/11/2010 को वह थाना रोड़ी में डयूटी कर रहा था तो उसे आनन्द कुमार एएसआई थाना शहर सोनीपत का फोन आया और बताया कि उसके खाता में दो लाख रूपये उसने डाले हैं और उसने धोखाधड़ी की है। इस पर उसने अपने घर पर फोन करके पूछा तो वहां से पता चला कि उसका एटीएम कार्ड उस युवक ने बदल दिया है और जो कार्ड युवक ने उसे लौटाया है वे एटीएम कार्ड स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एवं जयपुर का किसी बनवारी लाल नामालूम का है। उसके अनुसार वह उसी समय रोड़ी भारतीय स्टेट बैंक की रोड़ी शाखा में गया और उसी समय कॉल करके अपना एटीएम बंद करने के लिए कहा और खाता चैक करवाया तो उसमें मिला कि उसके बाकी रूपये 69,635 को उस व्यक्ति ने एटीएम तबदील करके निकलवा लिये। यहीं नहीं युवक ने धोखाधड़ी करके किसी ओर के खाता से दो लाख रूपये उसके खाते में सोनीपत से डाल दिए थे। जिससे उसने बैंक के माध्यम से संबंधित खाता धारक शमशेर सिंह फौजी को वापिस किये।
उसके अनुसार इसके बाद उसके पास इकबाल सिंह थानेदार थाना कोतवाली फरीदकोट (पंजाब) का फोन आया कि उसके खाता नं. 10587031763 के संबंध में मुकद्दमा नं. 332 दिनांक 25/11/2010 को अण्डर सैक्शन 420/379 आईपीसी तहत दर्ज किया गया है। शिकायतकर्ता कुलदीप सिंह ने 40,000 रूपये की राशि अपने खाते से उसके (लीलू राम) खाता में जमा होने संबध्ंाी दर्ज करवाई है। इसकी जानकारी मिलने पर वह छुट्टी लेकर वह जांच अधिकारी इकबाल सिंह को मिला और वहां उपस्थित कुलदीप सिंह मुद्दई से भी बात की और दोनों को संतुष्ट करवाया।
वह 1 दिसम्बर 2010 को अपनी शिकायत लेकर पुलिस चौकी किलियांवाली के पास गया और 2 दिसम्बर को पुलिस चौकी में रपट नं. 10 के अंतर्गत उसकी शिकायत दर्ज हुई। लेकिन इसके बावजूद उसे बार-बार थाना कोतवाली  फरीदकोट बुलाया जा रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं: