युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

20 नवंबर 2014

दो साल से बिल नहीं भर रहा था सरपंच मीटर उखाडऩे पर एसडीई को दी धमकी

डबवाली (लहू की लौ) पिछले दो साल से बिजली का बिल न भरने वाले गांव आसाखेड़ा के सरपंच का मीटर बुधवार को बिजली निगम ने उखाड़ लिया। निगम की इस कार्रवाई से बौखलाए सरपंच ने एसडीई को फोन पर गालियां देकर जान से मारने की धमकी दे डाली। एसडीई ने सरपंच के खिलाफ सदर थाना पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है।
50 हजार का बिल बकाया
दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम आसाखेड़ा के एसडीई मोहन लाल ने बताया कि गांव आसाखेड़ा का सरपंच रामकुमार पिछले दो वर्षों से बिजली का बिल अदा नहीं कर रहा था। बिल अदा न करने पर वह निगम की डिफाल्टर सूची में शामिल हो गया। सरपंच की ओर करीब 50 हजार रूपये बिजली बिल बकाया है। डिफाल्टरों पर कार्रवाई के लिये एमडी के आदेश पर उन्होंने बुधवार को सरपंच के घर पर लगा मीटर उखाड़ लिया।
फोन पर आई धमकी
मीटर उखाड़ते ही सरपंच का फोन उसके पास आया। सरपंच गालियां देने लगा। जब उसने इसका विरोध किया तो सरपंच ने उसे जान से मारने की धमकी दी। बाद में उसकी लोकेशन जानने के बाद अपने साथियों के साथ दो जीप भरकर उसका पीछा करने लगा। गांव कालूआना के पास इसका पता चलने पर उसने अलग रास्ता अपनाया। डबवाली पहुंचकर मंडल अभियंता अशोक भनोट को पूरे घटनाक्रम से अवगत करवाया। सरपंच के विरूद्ध सदर थाना पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है।

यह बोला सरपंच
मेरे पर लगाये जा रहे आरोप निराधार हैं। मैंने किसी से बदतमीजी नहीं की है। न ही एसडीई को जान से मारने की धमकी दी। मेरा कोई बिजली बिल बकाया नहीं है।
-रामकुमार, सरपंच, गांव आसाखेड़ा

मामले की जांच करेंगे
सरपंच रामकुमार के विरूद्ध एसडीई मोहन लाल की शिकायत आई है। फोन पर गाली-गलौज करने का आरोप है। मामले की जांच की जायेगी। शिकायत को चौटाला पुलिस चौकी को फॉरवर्ड कर दिया गया है।
-बलवीर सिंह,
कार्यकारी प्रभारी,

सदर थाना, डबवाली


कोई टिप्पणी नहीं: