युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

20 नवंबर 2014

एसडीएम के सरप्राईज गिफ्ट, बनेंगे पार्किंग स्टेंड बस स्टेंड रोड़ से पीछे हटेगी अड्डा की दीवार


डबवाली (लहू की लौ) एसडीएम सतीश कुमार ने शहर को दो सरप्राईज गिफ्ट की सौगात दी है। बस अड्डा की कार्यशाला में अब कूड़ा घर की जगह पार्किंग स्टेंड दिखाई देगा। पार्किंग स्टेंड के लिये जिला उपायुक्त डॉ. अंशज सिंह ने हरी झंडी दिखा दी है। उपायुक्त ने जल्द परपोजल बनाकर भेजने के निर्देश दिये हैं। साथ में न्यू बस अड्डा की दीवार को भी पीछे हटाने की योजना पर उपायुक्त ने सहमति दे दी है। अगर ऐसा हो गया तो न्यू बस स्टेंड रोड़ पर यातायात व्यवस्था सुधर जायेगी।

अतिक्रमण के विरोध में चल रहे हल्ला बोल अभियान के तहत एसडीएम सतीश कुमार बेहद तंग मार्ग न्यू स्टेंड रोड़ से गुजरे थे। दुकानदारों ने प्रशासन के समक्ष पार्किंग स्टेंड बनाने के साथ-साथ तंग मार्ग होने का मुद्दा उठाया था। दुकानदारों ने कहा था कि आस-पास क्षेत्र के लोगों ने कार्यशाला को कूड़ाघर बना रखा है। जिस पर संज्ञान लेते हुये एसडीएम सतीश कुमार ने कार्यशाला का निरीक्षण कर लोगों द्वारा दीवान फांदकर गिराये गये कूड़ा कर्कट को देखा था। जिस पर उन्होंने बस अड्डा की जगह पर लोगों की सुविधा के लिये पार्किंग स्टेंड बनाने की मुहिम छेड़ी। एसडीएम सतीश कुमार ने दुकानदारों की बात उपायुक्त तक पहुंचाई। बुधवार शाम को जिला उपायुक्त हरियाणा रोड़वेज सिरसा सुरेश कस्वां को साथ लेकर बस अड्डा में पहुंचे।
जिला उपायुक्त ने कार्यशाला में लगी गंदगी पर संज्ञान लेते हुये लोगों की सुविधा के लिये पार्किंग स्टेंड बनाने को स्वीकृति प्रदान कर दी। इसके साथ ही कार्यशाला के नजदीक उजड़े पार्क की जगह पर दूसरा पार्किंग स्टेंड बनाने की भी मंजूरी दे दी। जिससे लोगों को वाहन खड़े करने की जगह मिल जायेगी। वहीं बस अड्डा के वातावरण में सुधार आ जायेगा।
दीवार पीछे हटेगी
एसडीएम सतीश कुमार के प्रयास से ही न्यू बस स्टेंड के दुकानदारों तथा शहर के लोगों को न्यू बस स्टेंड खुला-खुला नजर आने वाला है। बुधवार को एसडीएम ने जिला उपायुक्त के समक्ष बस अड्डा की दीवार का मुद्दा रखते हुये कहा कि यह रोड़ बेहद तंग है। मुश्किल से एक बार में एक वाहन गुजर सकता है। इस रोड़ पर बने चबूतरों को प्रशासन तुड़वा देगा। बस अड्डा की दीवार करीब दो फुट पीछे हटा ली जाये तो यातायात व्यवस्था में सुधार आ जायेगा। जिला उपायुक्त ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। उपरोक्त दोनों प्रस्ताव पर जल्द परपोजल बनाकर भेजने के निर्देश दिये।
एसडीएम सतीश कुमार ने कहा कि पार्किंग स्टेंड नगर परिषद बना सकती है। जिसका कंट्रोल भी वह संभाल सकती है। अगर रोड़वेज यह व्यवस्था संभालनी चाहे तो संभाल सकती है या फिर इंकम का एक टारगेट फिक्स करके नगर परिषद रोड़वेज को दे सकती है। जीएम ने उपरोक्त दोनों प्रस्तावों को स्वीकृति देते हुये कहा कि जनता के हित में होने वाले फैसलों पर एतराज नहीं। जैसा उचित होगा, वैसा रोड़वेज करेगी।
एसडीएम की पीठ थपथपाई
जिला उपायुक्त ने लघु सचिवालय का निरीक्षण करने के साथ-साथ चारदीवारी का निरीक्षण किया। स्वच्छता के मामले में उन्होंने एसडीएम सतीश कुमार की पीठ थपथपाई।

जनहित में पार्किंग स्टेंड तथा दीवार हटाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई है। स्वच्छता लाना तथा अतिक्रमण हटाना अच्छा प्रयास है। अधिकारी आते-जाते रहते हैं, शहर आपका है, इसलिये लोगों को खुद अपने कत्र्तव्य के प्रति जिम्मेवार बनना होगा। 
-डॉ. अंशज सिंह, उपायुक्त, सिरसा

कोई टिप्पणी नहीं: