युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

15 अप्रैल 2011

नशे की हालत में गुरूद्वारा में घुसा, मामला दर्ज


डबवाली (लहू की लौ) शराब के नशे में धुत्त होकर एक युवक दीवार फांदकर गुरूद्वारा में जा घुसा। गुरूद्वारा के ग्रंथी तथा ग्रामीणों ने युवक को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। घटना गांव मौजगढ़ में सोमवार रात करीब 1.30 बजे घटित हुई।
गांव के गुरूद्वारा साहिब में दो दिन पूर्व कोई अज्ञात व्यक्ति घुस आया था। इस व्यक्ति ने मुख्य गेट का ताला तोड़कर गुरूद्वारा में प्रवेश किया। बाद में दरबार साहिब का ताला तोड़कर गोलक तक जा पहुंचा। अज्ञात व्यक्ति गोलक का एक ताला तोडऩे में भी कामयाब हो गया। इसके बावजूद वह चोरी की वारदात को अंजाम नहीं दे सका। गुरूद्वारा में इस प्रकार की घटना से प्रबंधक कमेटी गंभीर थी। कमेटी सदस्यों ने उक्त व्यक्ति गुरूद्वारा के ग्रंथी को निगाह रखने के लिए कहा।
दो दिन से ग्रंथी नत्था सिंह गुरूद्वारा में होने वाली किसी भी हलचल पर नजर बनाए हुए थे। गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष गुरमीत सिंह (50) निवासी मौजगढ़ ने बताया कि सोमवार रात करीब 1.30 बजे एक युवक दीवार फांदकर गुरूद्वारा में घुस आया और दरबार साहिब की ओर बढऩे लगा। अचानक ग्रंथी नत्था सिंह की आंख खुल गई। नत्था सिंह ने दरबार साहिब की ओर देखा तो एक युवक आगे बढ़ रहा था। युवक को देखकर उसने शोर मचा दिया। बाद में हिम्मत जुटाते हुए युवक को दबोच लिया। युवक नशे में था। सूचना पाकर वह भी मौके पर पहुंचा। गुरूद्वारा में चोर घुसने की सूचना पाकर काफी संख्या में ग्रामीण मौका पर जमा हो गए। ग्रामीणों के समक्ष युवक ने अपनी पहचान बलवंत उर्फ बंटी (22) निवासी मौजगढ़ के रूप में करवाई। आरोपी को सूचना पाकर मौका पर पहुंची पुलिस के हवाले कर दिया गया।
मामले की जांच कर रहे थाना सदर के एसआई सीता राम ने बताया कि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष गुरमीत सिंह निवासी मौजगढ़ के ब्यान पर शराब के नशे में धुत्त होकर बदनियति से गुरूद्वारा में घुसने के आरोप में पुलिस ने बलवंत उर्फ बंटी (22) निवासी मौजगढ़ के खिलाफ मामला दर्ज करके आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है।
इधर बंटी (22) निवासी मौजगढ़ ने बताया कि सोमवार रात को उसने गांव के टिल्लू, कश्मीरी, बलवीरा के साथ बैठकर शराब पी थी। उसके बाद वह गुरूद्वारा में कैसे पहुंचा, उसे मालूम नहीं।

कोई टिप्पणी नहीं: