युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

15 अप्रैल 2011

डबवाली से साजिश कर रही सरकार-अजय


सिरसा। इंडियन नैशनल लोकदल के राष्ट्रीय महासचिव एवं डबवाली के विधायक डा. अजय ङ्क्षसह चौटाला ने कांग्रेस सरकार पर तीखे आरोपों की बौछार करते हुए कांग्रेस को भ्रष्टाचार की जननी बताया। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के मामले में ए. राजा को बलि का बकरा बनाया गया जबकि इतना बड़ा घोटाला दस जनपथ से आए आदेशों के बिना संभव नहीं है। अजय चौटाला ने तो कांग्रेस की मुखिया सोनिया गांधी के दामाद पर हरियाणा में जमीन खरीद के मामले घोटालों में संलिप्त बताया।
चौटाला जननायक चौधरी देवीलाल विद्यापीठ में पत्रकारों से बातचीत करते हुए अजय चौटाला ने कहा कि भ्रष्टाचार जैसे संवदेनशील मुद्दे को लेकर दो माह तक संसद में विपक्ष ने आवाज बुलंद की। लम्बे समय तक संसद की कार्रवाई ठप्प रही लेकिन कांग्रेस इस मसले पर चुप्पी साधे रही। अब अचानक महज पांच दिन में भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने की बात कर रही है। ऐसे में कांग्रेस पर संशय होना लाजिमी है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को ईमानदार व्यक्ति की संज्ञा देना मूर्खतापूर्ण है। प्रधानमंत्री की चाहत के बिना कोई भी व्यक्ति या एजैंसी भ्रष्टाचार में संलिप्त नहीं हो सकती। अगर प्रधानमंत्री के रहते हुए देश में अब तक के सबसे बड़े घोटाले हुए है तो उससे जाहिर होता है कि प्रधानमंत्री ने सब कुछ जानते हुए इसे नजरांदाज किया या फिर इसमें उनकी भागीदारी रही।
उन्होंने कहा कि आज पूरे देश की जनता चाहती है कि विदेशों में जमा काले धन की सूची सामने आए। पर इस मसले पर देश के वित्त मंत्री बेतुका एवं तर्कहीन बयान देते हैं कि यह सूची उजागर नहीं की जा सकती कानून आड़े आते है। अजय चौटाला ने कहा कि कानून देश और जनता से बड़ा नहीं हो सकता। पहले भी कानूनों में संशोधन होता रहा है और इस मसले पर भी संशोधन किया जा सकता है। अजय चौटाला ने कहा कि जननायक चौधरी देवीलाल ने तो बहुत समय पहले भ्रष्टाचार बंद, बिजली-पानी का प्रबंध नारा देते हुए भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने की वकालत की थी। साथ ही देवीलाल ने सबसे पहले कर्जमाफी की योजना की वकालत की और वृद्धावस्था पैंशन को लागू किया।
उस समय स्वार्थी किस्म के राजनेताओं ने देवीलाल के इस कदम की आलोचना की थी जबकि आज देवीलाल की ही नीतियों का न केवल अनुसरण किया जा रहा है बल्कि उन नीतियों को आगे बढ़ाने का काम किया जा रहा है। एक प्रश्र के जवाब में अजय चौटाला ने कहा कि इनैलो ने हमेशा जनता के हितों की आवाज को बुलंद किया है। उन्होंने तो बकायदा विधानसभा में इस बात का जिक्र किया कि एक-दूसरे पर आरोप लगाने के बहुत से मंच हैं, लेकिन विधानसभा पटल को ऐसा मंच न बनाया जाए। अजय चौटाला ने कहा कि वह चाहते हैं कि विधानसभा में जनहित से संबंधित योजनाओं पर, उनके क्रियान्वयन पर एवं अन्य संवेदनशील मुद्दों पर मंथन हो। उन्होंने कांग्रेस सरकार पर भेदभाव का भी आरोप लगाया।
उन्होंने कहा कि जानबूझ कर एवं एक साजिश के तहत उनके हलके डबवाली की अनदेखी हो रही है। तीन मर्तबा विधानसभा में डबवाली-संगरिया रोड बाबत प्रश्र पूछा गया एक ही आश्वास मिला कि सड़क के निर्माण के लिए बजट पास हो गया है। अजय चौटाला ने अचम्भा जताया कि इतने लम्बे अरसे बाद सड़क निर्माण के लिए 25 करोड़ आए और अब वे किसी दूसरी परियोजना में समायोजित कर दिए गए हैं। इससे जाहिर होता है कि सरकार निश्चित रूप से सिरसा के साथ सौतला व्यवहार कर रही है।

कोई टिप्पणी नहीं: